विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

जानें कौन हैं श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास

राम मंदिर आंदोलन के अहम किरदार रहे अयोध्या के श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास को राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए गए 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाया गया है। जानें, उनके बारे में:

19 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रतापगढ़

बुधवार, 19 फरवरी 2020

ताजमहल घुमाएंगी प्रतापगढ़ डिपो की एसी बस

मंगलवार से आगरा के लिए चलेगी एसी बस
जिले के लोगों के लिए खुशखबरी है। अब आगरा स्थित ताजमहल की सैर करने के लिए उन्हें खटारा बसों की यात्रा नहीं करनी पड़ेगी। प्रतापगढ़ डिपो से मंगलवार से आगरा के लिए एसी बस का संचालन शुरू हो जाएगा। इससे लोगों को काफी सहूलियत मिलेगी।
आगरा स्थित ताजमहल देखने के लिए जिले से भारी संख्या में लोग जाते हैं। स्कूलों में छुट्टियां होने पर अभिभावक भी बच्चों को ताजमहल लेकर जाते हैं। अब तक यहां के लोगों को आगरा जाने के लिए खटारा बसों का सहारा लेना पड़ता है। आगरा पहुंचने के लिए कई जगह बसों की अदला-बदली करनी पड़ती है। इससे एक ओर परेशानी का सामना करना पड़ता है तो दूसरी ओर किराए का अतिरिक्त भार भी उठाना पड़ता है। एसी बस न मिलने के कारण लोगों को गर्मी के दिनों में पसीना बहाना पड़ता था। मगर अब ऐसा नहीं करना होगा। शासन की ओर से प्रतापगढ़ डिपो को दो एसी बसें मिली हैं। एआरएम ने बताया कि दोनों बसों का संचालन मंगलवार से शुरू हो जाएगा। मंगलवार सुबह आठ बजे प्रतापगढ़ डिपो से बस छूटेगी और शाम सात बजे के करीब आगरा पहुंचेगी। उधर, दूसरी बस सुबह आठ बजे आगरा से चलकर रात सात बजे तक प्रतापगढ़ डिपो पहुंचेगी।
... और पढ़ें

पृथ्वीगंज में गरजी जेसीबी, हटाया अतिक्रमण

पृथ्वीगंज में गरजी जेसीबी, हटाया अतिक्रमण
नवसृजित नगर पंचायत पृथ्वीगंज में रविवार को हाईवे के दोनों ओर अतिक्रमण हटाते ही बाजार में खलबली मच गई। दुकानदार अपना सामान लेकर भागने लगे। जानकारी के बाद पहुंचे रानीगंज विधायक ने अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई रुकवा दी। बाजार में अफरा-तफरी का माहौल कायम रहा।
लखनऊ-वाराणसी राजमार्ग पर नवसृजित नगर पंचायत पृथ्वीगंज बाजार में रविवार को पीएनसी कंपनी द्वारा जेसीबी लगाकर अतिक्रमण हटाया जाने लगा। जिससे बाजार में अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया। लोग अपना टीनशेड व सामान हटाने लगे। लोगों ने हाईवे के नालों तक अपना कब्जा कर रखा था। अतिक्रमण हटाने की जानकारी रानीगंज विधायक धीरज ओझा को हुई। खबर मिलते ही वह बाजार पहुंचकर जेसीबी से हटाया जा रहे अतिक्रमण को बंद कराया। पीएनसी के अफसरों से बातचीत करते हुए कहा कि यदि कहीं अतिक्रमण था तो कंपनी को नोटिस देनी चाहिए। इस मौके पर नीरज ओझा, सूरज पांडेय, विनय वैश्य, सुभाष मिश्रा, भोलानाथ ऊमरवैश्य, हरिओम ऊमरवैश्य समेत अन्य लोग मौजूद रहे।
... और पढ़ें

आनर किलिंग: गरीबी बनी राहुल-प्रीती की मोहब्बत में रोड़ा

आनर किलिंग: गरीबी बनी राहुल-प्रीती की मोहब्बत में रोड़ा
प्रीती से एकतरफा प्यार करने वाले अजय पासी द्वारा कैबिनेट मंत्री के रिश्तेदार सर्वेश पर हुए जानलेवा हमले का खुलासा कोई पचा नहीं पा रहा है। पुलिस की कहानी पर लोगों को भरोसा नहीं हो रहा है। वहीं गरीबी के कारण राहुल की प्रीती नहीं हो सकी। प्रीती के परिवार के लोग राहुल को फूटी आंख देखना पसंद नहीं करते थे।
अंतू थाना क्षेत्र के राजापुर रैनिया निवासी राजू वर्मा अपने परिवार के साथ गुजरात में रहता था। साल दो साल में वह अपने परिवार के साथ घर आया करता था। कुछ दिनों पहले प्रीती की हत्या का खुलासा करते हुए एसटीएफ लखनऊ व अंतू पुलिस ने उसके पिता राजू वर्मा समेत उसके भाइयों को जेल भेज दिया। राजू के एक भाई की पुलिस की अभी तलाश चल रही है। शुक्रवार को प्रीती से प्रेम करने वाला राहुल उर्फ दीपक निवासी सिंगाही थाना अंतू पुलिस हिरासत से छूटकर घर पहुंचा। राहुल के अनुसार प्रीती उससे मोहब्बत करती थी। वह भी उसे प्यार करता था। चूंकि वह गरीब परिवार से था, इसलिए प्रीती के परिजन उसे देखना भी पसंद नहीं करते थे। राजू की समाज में हैसियत है।
राहुल न तो अजय को जानता है और न ही सर्वेश को। प्रीती ने भी कभी अजय व सर्वेश का जिक्र की थी। पुलिस ने अपने खुलासे में बताया है कि अजय पासी कुछ दिनों से प्रीती से एकतरफा प्यार करता था। उसे शक था कि सर्वेश ने ही प्रीती को गायब करा दिया हो। इसके चलते अजय पासी ने कैबिनेट मंत्री के रिश्तेदार सर्वेश सिंह को गोली मार दी थी। पुलिस ने भले ही खुलासा कर दिया लेकिन आज भी इलाके के लोग घटना की हकीकत जानना चाहते हैं। लोगों का कहना है कि सर्वेश के ऊपर जानलेवा हमले की वजह पुलिस की कहानी नहीं हो सकती। इलाके में सर्वेश का रुतबा है। सर्वेश भी अजय को नहीं जानता है। न तो उनके बीच कभी कोई बातचीत ही हुई है। फिलहाल पुलिस ने भले ही प्रीती की हत्या और सर्वेश पर जानलेवा हमले का खुलासा कर दिया, लेकिन यह किसी के गले नहीं उतर रही।
... और पढ़ें

परेशानी: लोड घटाने के लिए लेना होगा नया कनेक्शन

प्रतापगढ़। विद्युत कनेक्शन का लोड अब आसानी से नहीं घटेगा। विद्युत विभाग ने पुराने कनेक्शन का लोड घटाने के लिए नई व्यवस्था लागू कर दी है। कनेक्शन का लोड घटाने के लिए विद्युत उपभोक्ताओं को नया कनेक्शन लेना होगा। बकाया बिल जमा करने के बाद ही लोड घटेगा। इससे उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ गई है।
जिले में चार विद्युत पारेषण खंड हैं। रानीगंज, कुंडा, लालगंज, सदर। इसके अंतर्गत जिले में 6 लाख से अधिक विद्युत उपभोक्ता हैं। विद्युत उपभोग के अनुसार ही उपभोक्ताओं ने कनेक्शन लिया है। कनेक्शन के दौरान विभाग उपकरणों एवं खपत का आकलन भी करता है। हालांकि कनेक्शन क्षमता से कम अथवा अधिक खपत होने की दशा में उपभोक्ताओं की शिकायत पर विद्युत विभाग की टीम लोड घटाने व बढ़ाने का काम करती है। मगर अब ऐसा नहीं होगा। इसके लिए विभाग ने नए नियम लागू कर दिए हैं। शिकायत पर पुराने कनेक्शन पर सिर्फ लोड बढ़ाया जा सकेगा। लोड घटाया नहीं जा सकेगा। लोड घटाने की प्रक्रिया पुराने कनेक्शन पर लागू नहीं होगी। विभाग का कहना है कि पुराने कनेक्शन पर लोड घटाने के लिए अब उपभोक्ताओं को नया कनेक्शन लेना होगा। मजे की बात यह है कि यदि पुराने कनेक्शन पर बकाया बिल है तो उसे भी जमा करना होगा। बिल जमा करने के बाद ही लोड घटाने की प्रक्रिया पूरी हो सकेगी। लोड घटाने के इस नए नियम के पेच से उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ गई है। लोड कम कराने के लिए वह उपकेंद्र व कार्यालयों का चक्कर लगा रहे हैं। पुराना बकाया बिल जमा करने के लिए काउंटर पर पहुंच रहे हैं। उपभोक्ताओं का कहना है कि इस नए नियम से काफी परेशान होना पड़ रहा है। कनेक्शन होने के बाद भी अब नया कनेक्शन लेना पड़ रहा है। इस बारे में एसडीओ बाबागंज अजीत कुमार यादव ने बताया कि लोड घटाने के लिए नया कनेक्शन लेना होगा। इसके बारे में उपभोक्ताओं को जानकारी दी जा रही है।
... और पढ़ें

पुलिसकर्मियों को नई बैरकों की सौगात

प्रतापगढ़। प्रदेश सरकार का बजट पुलिसकर्मियों के लिए भी राहत भरा रहा। पुलिसकर्मियों के लिए पुलिस लाइन परिसर में नई बैरकों का निर्माण होगा। ट्रांजिस्ट हास्टल भी बनेंगे। इसके लिए पहले से शासन को प्रपोजल भेजा जा चुका है।
प्रदेश की योगी सरकार ने मंगलवार को बजट पेश किया। जिसमें पुलिसकर्मियों के लिए भी राहतों का पिटारा था। पुलिस लाइन परिसर में पुलिसकर्मियों को भले ही आवासीय सुविधा मिली है, लेकिन अब यह कम पडने लगी थी। पुलिसकर्मियों के अधिक संख्या में आने के बाद आवास की किल्लत से वह परेशान हैं। पुलिस लाइन में नई बैरकों के साथ ही ट्रांजिस्ट हास्टल के निर्माण का प्रपोजल भेजा गया था। जिसके लिए शासन ने बजट में प्रावधान किया है। अब पुलिस लाइन में नई बैरक बनेगी। जर्जर आवासों की मरम्मत के लिए भी बजट मिला है।
... और पढ़ें

एकतरफा मुकाबले में संयुक्त अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष बने अनिल तिवारी

लालगंज। तहसील में संयुक्त अधिवक्ता संघ के चुनाव में अध्यक्ष पद के एकतरफा मुकाबले में अनिल तिवारी महेश ने जीत दर्ज की है। महामंत्री व उपाध्यक्ष पद के लिए कांटे का संघर्ष दिखने को मिला। मतगणना के बाद देर शाम सभी पदों के परिणाम की घोषणा होते ही जीत दर्ज करने वाले प्रत्याशी व समर्थक खुशी से झूम उठे। समर्थकों ने पटाखे फोड़े और निर्वाचित होने वाले पदाधिकारियों को फूल-मालाओं से लाद दिया।
लालगंज तहसील में मंगलवार को गहमागहमी के बीच संयुक्त अधिवक्ता संघ का चुनाव संपन्न हुआ। सुबह नौ बजे से तीन बजे तक हुए मतदान में 377 मतदाताओं में से 374 ने अध्यक्ष समेत सात पदों के लिए वोट डाला। मतदान संपन्न होने के बाद अपराह्न चार बजे बाद चुनाव समिति की देखरेख में मतगणना कराई गई। देर शाम तक एक एक परिणामों की घोषणा भी होने लगी। संयुक्त अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष पद पर अनिल त्रिपाठी महेश ने 238 मत हासिल कर एकतरफा जीत दर्ज की है। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी 87 मत पाने वाले हरिकेश बहादुर पटेल को 151 मतों के भारी अंतर से पराजित किया। वहीं हरिशंकर द्विवेद्वी को 43 व राम सिंह सरोज को सिर्फ 03 मत ही मिले। तीन मत अवैध घोषित किया गया। उपाध्यक्ष (सिविल) पद के लिए कांटे का मुकाबला देखने को मिला। इस पद पर दिनेश बहादुर सिंह ने 137 मत लेकर निकटतम प्रतिद्वंद्वी 136 मत पाने वाले शहजाद अंसारी को सिर्फ एक मतों के अंतर से शिकस्त दी। संजय कुमार ओझा को 99 मत मिला, जबकि दो मत अवैध निकला।
वहीं दूसरे उपाध्यक्ष पद के लिए हुए चुनाव में विनय कुमार शुक्ल ने 138 मत हासिल कर 110 मत पाने वाले विजय कुमार यादव को 28 वोटों से हरा दिया। अबरार अहमद को 98 व विजय कुमार को 24 मतों पर संतोष करना पड़ा। चार मत अवैध घोषित किया गया। उधर, महामंत्री पद पर कड़ी टक्कर देखने को मिली। जिसमें रामकुमार पांडेय 149 मत ने प्रवीण कुमार यादव 141 को महज आठ वोटों से हरा दिया। इसी पद पर धीरेंद्र कुमार शुक्ल को 64 व अखिलेश कुमार को 17 मत मिले। तीन मत अवैध घोषित कर दिया गया। इसी क्रम में कोषाध्यक्ष पद पर शशिकांत शुक्ल 234 मत लेकर 131 मत पाने वाले धर्मवीर गौतम को 103 वोटों से हरा दिया। इस पद पर नौ मत अवैध निकला। सहमंत्री पद पर शिवेंद्र तिवारी 219 मत ने जयप्रकाश यादव 148 मत को 71 वोटों से पराजित कर दिया। जबकि प्रचार मंत्री पर के लिए हुई मतगणना में राजेश कुमार द्विवेद्वी 199 मत ने 162 मत पाने वाले कमलेश कुमार द्विवेद्वी 37 मतों से हरा दिया। उधर, आय-व्यय निरीक्षक व कार्यकारिणी सदस्य के लिए निर्विरोध निर्वाचन पहले ही हो चुका था। नतीजों की घोषणा के पश्चात जीत दर्ज करने प्रत्याशियों को चुनाव समिति के अध्यक्ष कमलेश कुमार तिवारी ने प्रमाण पत्र प्रदान किया। प्रमाण पत्र मिलते ही जीत दर्ज करने वाले प्रत्याशियों के समर्थकों ने उन्हे फूल मालाओं से लाद दिया और पटाखे फोडक़र अपनी प्रसन्नता जताई। मतगणना के दौरान चुनाव समिति के महामंत्री विनोद मिश्र, मीडिया प्रभारी दीपेंद्र तिवारी, ज्ञान प्रकाश शुक्ल, संजय सिंह आदि मौजूद रहे। नतीजों के ऐलान के बाद तहसील परिसर स्थित पार्क में हुई सभा पदाधिकारियों ने इसे अधिवक्ताओं की जीत करार दिया।
कड़ी सुरक्षा के बीच संपन्न हुआ चुनाव
लालगंज। संयुक्त अधिवक्ता संघ के चुनाव को लेकर गहमागहमी को देखते हुए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। सीओ जगमोहन समेत चार थानों की फोर्स व पीएसी को तैनात किया गया था। गेट से लेकर परिसर तक पुलिस ही पुलिस दिखाई दे रही थी। चुनाव प्रक्रिया के दौरान जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने भी मतदान कक्ष पहुंचकर जायजा लिया। उन्होने अधिवक्ताओं से शांतिपूर्ण चुनाव के लिए अपील की। देर शाम मतगणना समाप्त हुई तो पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली।
ढोल नगाड़े संग निकाला विजय जुलूस
लालगंज। मतगणना के बाद जैसे ही परिणाम की घोषणा हुई तो समर्थकों को जोश आसमान पर पहुंच गया। नवनिर्वाचित अध्यक्ष अनिल तिवारी की अगुवाई में समर्थकों ने ढोल नगाड़े के साथ लखनऊ-वाराणसी राजमार्ग पर जुलूस लेकर निकल पड़े। इंदिरा चौक तक अधिवक्ता नारेबाजी करते हुए पहुंचे। इसके बाद जुलूस बाबा घुइसरनाथ धाम रवाना हुआ तो हाईवे पर यातायात बहाल हो सका।
... और पढ़ें

यूपी बोर्ड परीक्षा : सख्ती से पहले ही दिन दस हजार ने छोड़ा मैदान

मंगलवार से शुरू हुई यूपी बोर्ड परीक्षा में सख्ती के चलते पहले ही दिन हाईस्कूल और इंटर में दस हजार से अधिक परीक्षार्थियों ने मैदान छोड़ दिया। नकल रोकने के लिए तगड़ी किलेबंदी की गई थी।
दिनभर सचल दल भ्रमण करता रहा। परीक्षा के दौरान जेठवारा इलाके के एक विद्यालय में एक परीक्षार्थी को मोबाइल लेकर परीक्षा देते पकड़ा गया। केंद्र व्यवस्थापक ने उसे रस्टीकेट कर दिया। उधर, मानधाता इलाके में दूसरे की जगह परीक्षा दे रहे मुन्नाभाई के दबोच लिया गया। उसके खिलाफ केस दर्ज कराया गया है।
मंगलवार को यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर की हिंदी प्रथम प्रश्रपत्र की परीक्षा थी। हाईस्कूल में कुल 65101 परीक्षार्थी पंजीकृत थे। जिसमें 34972 बालक व 30209 बालिकाएं शामिल थीं।
पाली पाली की परीक्षा सुबह 8 बजे सभी 199 परीक्षा केंद्रों पर शुरू हुई। परीक्षा केंद्रों का जायजा लेने के लिए सुपर जोनल, जोनल मजिस्ट्रेट व सेक्टर मजिस्ट्रट भ्रमण करते रहे। प्रदेशीय सचल दस्ते ने भी परीक्षा केंद्रों की जांच की।
पहली पाली की परीक्षा में साधुरी शिरोमणि इंटर कालेज जेठवारा में परीक्षा रहे राजकीय विद्यालय शीतलपट्टी के छात्र सलीमुद्दीन को मोबाइल के साथ पकड़ा गया। वह परीक्षा कक्ष में वह मोबाइल लेकर बैठा था।
कें द्र व्यवस्थापक केएन त्रिपाठी ने निरीक्षण के दौरान उसे दबोच लिया। वह मोबाइल देने से इनकार कर रहा था। इस पर उसे रस्टीकेट कर दिया गया। पहली पाली की परीक्षा में परीक्षार्थी 65101 परीक्षार्थियों के सापेक्ष 58613 परीक्षार्थी ही परीक्षा में शामिल हुए। 6568 परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी।
दूसरी पाली में इंटर हिंदी प्रथम प्रश्नपत्र की परीक्षा थी। जिसमें कुल 54674 परीक्षार्थी पंजीकृत थे। जिसमें संस्थागत बालक 28418 व बालिकाओं की संख्या 24162 थी। व्यक्तिगत बालकों की संख्या 1624 व बालिकाएं 410 रहीं।
दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर दो बजे से शाम 5.15 तक चली। इंटर की परीक्षा में भी करीब साढ़े तीन हजार परीक्षार्थी शामिल नहीं हुए। परीक्षा केंद्रों की निगरानी में सचलदल व तहसीलवार टीमें भ्रमण करती रहीं। इस दौरान मांधाता के बीडी मिश्रा इंटर कालेज तारा में शांति देवी इंटर कालेज अहिना के छात्र रवि बौद्ध के स्थान पर परीक्षा दे रहे रवि राव को दबोच लिया गया।
केंद्र व्यवस्थापक विनोद शुक्ल ने निरीक्षण के दौरान जब उससे पूछताछ की तो वह जवाब नहीं दे सका। जांच की गई तो उसकी पोल खुल गई। उसके खिलाफ केंद्र व्यवस्थापक ने मुकदमा दर्ज कराया।
अधिकांश परीक्षा केंद्रों की नहीं हो सकी वेबकास्टिंग
यूपी बोर्ड परीक्षा के पहले दिन ही वेबकास्टिंग का दावा फेल हो गया। अधिकांश परीक्षा केंद्रों पर नेटवर्किंग की दिक्कत बनी रही। इससे कंट्रोल रूम के जरिए उनकी निगरानी नहीं हो सकी। कंट्रोल रूम पर टेक्नीशियन की टीम मशक्कत करती रही, मगर परीक्षा केंद्रों की गतिविधियां नहीं देखी जा सकीं।
हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा को नकलविहीन संपादित कराने के लिए बोर्ड ने इस बार वेबकास्टिंग की पहल की थी। जिले के सभी 199 परीक्षा केंद्रों को कंट्रोल रूम से जोड़ा गया था।
टेक्नीशियन की टीम द्वारा इसका ट्रायल भी कराया गया था। परीक्षा के पूर्व विभागीय अफसरों ने शतप्रतिशत वेबकास्टिंग की रिपोर्ट दी थी। मगर परीक्ष के पहले ही दिन ही विभाग का दावा फेल हो गया। दोनों ही पालियों की परीक्षा में नेटवर्किंग की समस्या बनी रही।
अधिकांश केंद्रों पर नहीं पहुंचे माइक्रोआब्जर्वर, कक्ष निरीक्षक रहे गायब
यूपी बोर्ड हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा के दौरान जिले के अधिकांश परीक्षा केंद्रों पर माइक्रोआब्जर्वर व कक्ष निरीक्षक गायब रहे। जबकि दोनों पालियों की परीक्षा माइक्रोआब्जर्वर व कक्ष निरीक्षकों की निगरानी में होनी थी। जिले के सभी परीक्षा केंद्रों पर दो-दो लेखपालों को माइक्रोआब्जर्वर के रूप में तो शिक्षकों को कक्ष निरीक्षकों के रूप में तैनात किया गया था।
मगर दोनों ही पालियों में माइक्रोआब्जर्वर व कक्ष निरीक्षक गायब रहे। ऐसे में रानीगंज के गौरा, शिवगढ़, पटट्ी, लालगंज इलाके के अधिकांश परीक्षा केंद्रों पर अव्यवस्था के बीच परीक्षा हुई। विद्यालय के ही कर्मचारियों की देखरेख में सीलिंग व पैकिंग की गई। तहसील दिवस के चलते लेखापालों की अनुपिस्थति की बात सामने आई है।
कंट्रोल रूम का निरीक्षण करने पहुंचे उप शिक्षा निदेशक माध्यमिक शिक्षा राजेंद्र कुमार ने बताया कि रानीगंज तहसील क्षेत्र के स्वामी करपात्री इंटर कालेज, रामापुर स्थित विंध्यवासिनी बालिका इंटर कालेज, केडी यादव इंटर कालेज, अर्जुनपुर गड़हा कमासिन इंटर कालेज, बोर्रा सुल्तानपुर स्थित गोपाल कृष्ण इंटर कालेज, शिवकुमारी दूबे इंटर कालेज सहित तीन दर्जन परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया गया। अधिकांश परीक्षा केंद्रों पर माइक्रोआब्जर्वर की अनुपस्थिति मिली है।
केपी इंटर कालेज में परीक्षा देने आये छात्रों की तलाशी लेते शिक्षक।
केपी इंटर कालेज में परीक्षा देने आये छात्रों की तलाशी लेते शिक्षक।- फोटो : PRATAPGARH
जीजीआईसी से बोर्ड परीक्षा देकर बाहर निकलती छात्राएं।
जीजीआईसी से बोर्ड परीक्षा देकर बाहर निकलती छात्राएं।- फोटो : PRATAPGARH
भुपियामऊ स्थित इंटर कालेज में यूपी बोर्ड हाई स्कूल की परीक्षा देने आये छात्रों की गेट पर जमा भीड़
भुपियामऊ स्थित इंटर कालेज में यूपी बोर्ड हाई स्कूल की परीक्षा देने आये छात्रों की गेट पर जमा भीड़- फोटो : PRATAPGARH
... और पढ़ें

लिखा, 'पापा-मम्मी मुझे माफ करना' और लगा ली फांसी

जीआईसी में यूपी बोर्ड परीक्षा कंट्रोल रूम में नेटवर्क फेल होने से परेशान आपरेटर।
फाइनेंस कंपनी में काम करने वाले कलेक्शनकर्मी ने फांसी लगाकर जान दे दी। जिसकी जानकारी मंगलवार की सुबह साथी के कमरे पर पहुंचने के बाद हो सकी। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने कमरे का ताला तोड़कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। घटना की सूचना मिलने पर मृतक के परिजन बस्ती से रोते-बिलखते अस्पताल पहुंचे।
जनपद बस्ती के अमहुत मझौवामीर के भरतिन्हवा निवासी मनोज कुमार वरुण (32) पुत्र रामकिशुन नगर कोतवाली के भंगवा चुंगी स्थित महिन्द्रा फाइनेंस में कलेक्शन कर्मी था। वह करीब चार साल से नगर कोतवाली के पूर्वी सहोदरपुर में रेलकर्मी पीडब्लूआई अवधेश पाल के मकान में किराए पर रहता था। उसके साथ काम करने वाला विकास सिंह भी अपने परिवार के साथ दूसरे कमरे में रहता था। सोमवार को मनोज काम पर नहीं गया था। लोग फोन लगा रहे थे लेकिन वह काल रिसीव नहीं कर रहा था।
मंगलवार की सुबह विकास उसके कमरे पर पहुंचा। देखा तो दरवाजा भीतर से बंद था। खिड़की खुली हुई थी। जिससे भीतर देखने पर वह दंग रह गया। पंखे के हुक के सहारे मनोज फांसी के फंदे पर लटक रहा था। यह देख उसने शोर मचाया। जिसके बाद आसपास के लोग आ गए। लोगों की सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने मशक्कत के बाद दरवाजा तोड़कर शव को बाहर निकाला। घटना की जानकारी मिलने पर सहयोगी कर्मचारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए।
लोगों ने बड़े भाई को घटना की जानकारी दी। घटनास्थल का जायजा लेने के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। दोपहर बाद रोते बिलखते परिजन अस्पताल पहुंचे। पुलिस व साथियों से घटना की जानकारी ली। नगर कोतवाल ने बताया कि मनोज की खुदकुशी का कारण समझ में नहीं आया। सुसाइड नोट में भी ऐसा कुछ नहीं लिखा गया है। कुछ पारिवारिक कारण के चलते ही उसने खुदकुशी की होगी।
पापा-मम्मी व भैया मुझे क्षमा करना
मृतक फाइनेंस कर्मचारी मनोज ने चार पन्नों का सुसाइड नोट पापा-मम्मी व बड़े भाई के नाम से लिखा था। जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया। मनोज एमबीए अंतिम वर्ष का छात्र था। उसने सुसाइड नोट पापा-मम्मी व भाई के नाम अलग-अलग संदेश लिखा है। खुदकुशी के लिए वह खुद जिम्मेदार है इसमे किसी का कोई दोष नहीं है। वह अपनी जिंदगी से तंग आकर खुदकुशी कर रहा है। सभी से वह क्षमा भी मांग रहा है।
खुदकुशी का कई दिनों से कर रहा था प्रयास, 9 फरवरी को ही बनाई थी वीडियो
मनोज खुदकुशी के लिए कई दिनों से कोशिश कर रहा था। कमरे में कई चादर फटी हुई मिली। मेज व कुर्सी भी गिरी हुई थी। पैर उसका तख्त से काफी ऊपर था। उसने सुसाइड नोट में लिखा था कि उसके मोबाइल में वीडियो क्लिप मौजूद है। जिसमे उसने खुदकुशी की बात बिना किसी के दबाव में रिकार्ड की है। आत्महत्या के लिए किसी को परेशान न करने की बात भी कही थी। दो चादरे भी फाड़ डाली थी। वीडियो बनाने के बाद वह खुदकुशी नहीं कर सका लेकिन सुसाइड नोट में लिखे समय के हिसाब से सोमवार को करीब 11 बजे उसने फांसी लगा ली थी। फिलहाल पुलिस मोबाइल व सुसाइड नोट कब्जे में लेकर छानबीन करती रही।
मृत युवक मनोज कुमार। फाइल फोटो
मृत युवक मनोज कुमार। फाइल फोटो- फोटो : PRATAPGARH
... और पढ़ें

यूपी बोर्ड: पांच जोन, 44 सेक्टर में बंटे 199 परीक्षा केंद्र

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा में नकल रोकने के लिए जिला प्रशासन ने व्यापक प्रबंधक किए हैं। जिले के 199 परीक्षा केंद्रों को पांच सुपर जोनल, जोनल और 44 सेक्टर में बांटा गया है। सभी परीक्षा केंद्रों पर दो-दो लेखपालों की ड्यूटी माइक्रो आब्जर्वर के रूप में लगाई है। जिसमें एक अंदर और एक बाहर से निगरानी करेगा। जिले के 199 परीक्षा केंद्रों पर 1,19,714 परीक्षार्थी शामिल होगें।
इसमें हाईस्कूल में 65,040 और इंटरमीडिएट में 54,674 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं। छह मार्च तक होने वाली परीक्षा कुल 15 दिनों की होगी। जिसमें हाईस्कूल की परीक्षा 12 दिन में समाप्त होगी और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 15 दिन चलेंगी। परीक्षा केंद्रों पर फोर्स की तैनाती के साथ ही सीसीटीवी कैमरे से निगहबानी जाएगी। पहली बार परीक्षा में केंद्रों की वेबकास्टिंग होगी। जिससे प्रयागराज और लखनऊ में बैठे अधिकारी परीक्षा की हकीकत देख सकेंगे।
यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा का आगाज मंगलवार से हो रहा है। पहले दिन हिंदी का पेपर होगा। हाईस्कूल के परीक्षार्थियों के लिए सुबह आठ बजे से 11.15 बजे का समय निर्धारित किया गया है। जबकि इंटरमीडिएट के परीक्षार्थियों को भी पहले दिन हिंदी का पेपर देना होगा। दूसरी पाली की परीक्षा दो से सवा पांच बजे निश्चित किया गया है।
बोर्ड परीक्षा में नकल रोकने के लिए विभागीय अफसरों के साथ ही प्रशासनिक अफसरों को भी उतार दिया गया है। पांच सुपर जोनल, पांच जोनल की तैनाती के साथ ही 44 सेक्टर मजिस्ट्रेटों और संवेदनशील, अतिसंवेदनशील केंद्रों पर स्टेटिक मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई है। डीआईओएस सर्वदानंद ने सभी केंद व्यवस्थापकों से सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में परीक्षा कराने और पेपर कॉपी खोलने और सीलबंद करने के लिए वीडियोग्राफी अनिवार्य किया है। उन्होंने पूरे परीक्षा के दौरान सीसीटीवी कैमरा चलने को कहा है।
अवकाश पर रहने वालों को दी गई जिम्मेदारी
यूपी बोर्ड में नकल रोकने का दावा करने वाले अफसरों ने अवकाश रहने वाले अधिकारियों को बोर्ड परीक्षा में लगा दिया है। सीआरओ श्रीराम यादव अवकाश पर हैं, उन्हें सुपर जोनल बनाया गया है, जबकि खंड शिक्षा अधिकारी कोमल यादव मेडिकल पर चल रहे हैं, मगर उन्हें संडवा चंद्रिका का सेक्टर मजिस्ट्रेट बनाया गया है।
आठ संवेदनशील और छह अतिसंवेदनशील हैं केंद्र
199 परीक्षा केंद्रों में आठ संवेदनशील और छह अतिसंवेदनशील केंद्र हैं। साहबगंज स्थित बाबू संत बख्श सिंह इंटरकालेज संडवा दुबान, इंटरकालेज मानधाता, जयनाथमानव इंटरकालेज बैजलपुर पट्टी, कालू राम इंटरकालेज शीतलागंज, एसपी इंटरकालेज कुंडा, ठा. रामनारायन सिंह शिक्षा संस्थान इंटरकालेज लालगंज, बाबू लाल इंटरकालेज मऊदारा करेटी कुंडा, वेदमाता गायत्री बालिका इंटर कालेज गंगेहटी को संवेदनशील घोषित किया गया है।
जबकि इंटरकालेज पारा हमीदपुर, महावीर सिंह खीरी इंटरकालेज अजगरा, जनता इंटरकालेज गजरिया पटट्ी, चंद्रशेखर मिश्र इंटरकालेज लखनपुरसूर, ठाकुर श्यामसुंदर इंटरकालेज गजरिया, ठा. बलभद्र सिंह इंटरकालेज राहाटीकर लालगंज को अतिसंवेदनशील केंद्र बनाया गया है। इन केद्रों पर स्टेटिक मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई है।
जीआईसी में बना कंट्रोल रूम, 28 कर्मचारियों की हुई तैनाती
नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए डीआईओएस ने जीआईसी में परीक्षा केंद्र बनाकर 28 कर्मचारियों की तैनाती की गई है। जीआईसी हरदोपट्टी के प्रिंसिपल राजेंद्र कुमार को कंट्रोलरूम का प्रभारी नामित किया है। 24 घंटे चलने वाले कंट्रोल रूम में सीसीटीवी की मानीटरिंग होगी।
जीजीआईसी में बोर्ड परीक्षा के लिए सीसीटीवी स्क्रीन पर कक्ष देखती प्रिंसपल।
जीजीआईसी में बोर्ड परीक्षा के लिए सीसीटीवी स्क्रीन पर कक्ष देखती प्रिंसपल।- फोटो : PRATAPGARH
जीआईसी में बोर्ड परीक्षा के लिए रोल नंबर लगाते शिक्षक व कर्मचारी।
जीआईसी में बोर्ड परीक्षा के लिए रोल नंबर लगाते शिक्षक व कर्मचारी।- फोटो : PRATAPGARH
... और पढ़ें

छात्राओं के यौन शोषण में शिक्षकों समेत पांच गए जेल

परीक्षा में अधिक अंक दिलाने का झांसा देकर छात्राओं का यौन शोषण करने के आरोपी दो शिक्षकों समेत पांच लोगों के खिलाफ लिखापढ़ी कर क्राइम ब्रांच ने सभी को जेल भेज दिया। दोनों शिक्षकों के अलावा अश्लील तस्वीरों को वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने वाले तीन आरोपियों पर भी पुलिस ने शिकंजा कसा है। इसमें स्कूल प्रबंधक के परिवार का एक सदस्य भी शामिल है। उनके पास से वायरल करने वाला मोबाइल भी बरामद हुआ है। कड़ी सुरक्षा के बीच सभी को थाने के भीतर से ही वाहन में बैठाकर मुख्यालय ले जाया गया।
फतनपुर थाना क्षेत्र के दो अलग-अलग प्राइवेट स्कूलों व कोचिंग सेंटर में पढ़ाने वाले दो शिक्षकों की गंदी करतूत शुक्रवार को सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद इलाके में हड़कंप मच गया था। दोनों शिक्षकों के साथ छात्राओं की अश्लील तस्वीरें देख हर कोई दंग रह गया। मामला संज्ञान में आने के बाद पुलिस ने छानबीन करने के साथ ही आरोपी शिक्षकों को गिरफ्तार कर लिया।
पूछताछ में यह बात सामने आई कि शिक्षक अनिल चौरसिया के मोबाइल से छात्राओं की अश्लील तस्वीर स्कूल प्रबंधक के परिवार के सदस्य पवन चौरसिया ने अपने मोबाइल में ले ली। इसके बाद अपने करीबियों को भी दे दिया। सीओ रानीगंज डा. अतुल अंजान त्रिपाठी ने बताया कि छात्राओं को पवन समेत अन्य आरोपियों ने ब्लैकमेल करने का प्रयास किया।
बात न मानने पर सभी ने तस्वीरों को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था। पकड़े गए आरोपी शिक्षक सुरेंद्र मौर्य पुत्र लल्लू मौर्य निवासी कोयम, शिक्षक अनिल चौरसिया पुत्र रामनारायण चौरसिया, अमित चौरसिया पुत्र कन्हैयालाल, पवन चौरसिया पुत्र प्रदीप चौरसिया और राजू उर्फ रोहित चौरसिया पुत्र नंदलाल चौरसिया निवासी पटहटिया थाना फतनपुर को क्राइम ब्रांच ने छानबीन के बाद जेल भेज दिया। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त चार मोबाइल बरामद किए हैं। जिसमें छात्राओं व शिक्षकों की अश्लील तस्वीरें थीं।
दो माह से छात्राओं को ब्लैकमेल करने का चल रहा था प्रयास
शिक्षकों के यौन शोषण की शिकार बनी छात्राओं की अश्लील तस्वीर पवन, अमित व राजू उर्फ रोहित ने मोबाइल में लेने के बाद उन्हें ब्लैकमेल करना प्रारंभ कर दिया था। पुलिस के अनुसार पीड़ित छात्राओं से भी क्राइम ब्रांच के निरीक्षक ने पूछताछ की थी। जब छात्राओं ने आरोपियों की बात नहीं मानी तब उनकी शिक्षकों के साथ अश्लील तस्वीरों को वायरल किया गया। छात्राओं को ब्लैकमेल करने की जानकारी दोनों शिक्षकों को भी थी। इसके बाद भी शिक्षक उन युवकों को रोकने का प्रयास नहीं किए।
बीते साल मई माह में खींची गई थीं अश्लील तस्वीरें
सोशल मीडिया पर छात्राओं व शिक्षकों की वायरल अश्लील तस्वीरें गर्मी की हैं। पुलिस के अनुसार बीते साल मई माह में शिक्षकों ने यह तस्वीरें अपने मोबाइल में खींची थीं। उसे अपने मोबाइल सुरक्षित रखा था। हालांकि सुरेंद्र ने अपने मोबाइल से अश्लील तस्वीरों को सप्ताह भर पहले ही उड़ा दिया था। जबकि अन्य आरोपियों के मोबाइल में अश्लील तस्वीरें व वीडियो क्लिप मिली है।
कार्रवाई के बाद सहमे तस्वीरों को वायरल करने वाले लोग
छात्राओं के साथ शिक्षकों की अश्लील तस्वीरों को वायरल होने वाली तस्वीरों को दूसरे व्हटसएप ग्रुपों व फेसबुक पर फारवर्ड करने वाले लोग भी सहम गए हैं। पुलिस ऐसे लोगों की तलाश कर रही है। जिन लोगों ने तस्वीरों को वायरल किया था। पुलिस मुंगराबादशाहपुर के बदनाम होटल में लगे सीसीटीवी के फुटेज भी खंगालने की तैयारी में है।
स्कूल खुला, कम दिखी विद्यार्थियों की संख्या
फतनपुर थाना क्षेत्र में स्थित स्कूल सोमवार को खुला जरूर, लेकिन विद्यार्थियों की संख्या अपेक्षा से कम दिखी। स्कूल पढ़ने के लिए केवल छात्र ही आए थे। छात्राएं भी कम संख्या में स्कूल आई थीं। सोमवार को स्कूल से लेकर बाहर तक शिक्षकों की गंदी करतूत की चर्चा ही होती रही।
... और पढ़ें

ुवक की हत्या कर शव फंदे से लटकाया

चार दिन पहले घर से निकले युवक की गला दबाकर हत्या करने के बाद शव को पंपिग सेट के भीतर फंदे से लटका दिया गया। सोमवार को इस बात की जानकारी होने पर इलाके में सनसनी फैल गई। मौके पर पहुुंची पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जिस गांव में लाश मिली है, उसके बगल मृतक के भाई की ससुराल है।
कंधई थाना क्षेत्र के पुरुषोत्तमपुर निवासी शिवशंकर का पंपिगसेट लौवार गांव में सूनसान स्थान पर है। सोमवार की सुबह पंपिगसेट पर शिवशंकर फसल की सिंचाई करने के लिए पहुंचा। देखा तो पंपिगसेट के ताले टूटे हुए थे। भीतर घुसते ही दंग रह गया। वहां एक युवक की लाश फंदे से लटक रही थी। शोरशराबा सुनकर आसपास के लोग दौड़ पड़े।
शव मिलने की खबर पर इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पर दीवानगंज पुलिस चौकी प्रभारी मौके पर पहुंचे। छानबीन के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। इस बीच शव का पहचान पट्टी कोतवाली क्षेत्र के पूरे खिरोधर सरसतपुर निवासी जयचंद (30) पुत्र लालजी के रूप में हुई। जानकारी के बाद मृतक का बड़ा भाई प्रेमचंद कुछ देर बाद पुलिस चौकी पहुंचा। बाद में मर्चरी आया और भाई की लाश देखते ही हत्या की आशंका जताने लगा।
उसने बताया कि 14 फरवरी को वह बाजार जाने की बात कहकर घर से निकला था। उसकी शादी पुरुषोत्तमपुर गांव में ही हुई है। पुलिस सूत्रों के अनुसार मृतक जयचंद की गला दबाकर हत्या करने के बाद शव को फंदे पर लटकाया गया था। सीओ पट्टी रमेशचंद्र ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं मिली है। आत्महत्या व हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए हर पहलुओं पर छानबीन की जा रही है।
... और पढ़ें

टाइनी शाखा संचालक को लूटने वाले बदमाशों को भेजा जेल

टाइनी शाखा संचालक से 2.40 लाख रुपये लूटने वाले तीन बदमाशों को पुलिस ने जेल भेज दिया। उनके पास से लूटे गए 95 हजार रुपये व घटना में प्रयुक्त बाइक बरामद हुई। गैंग का सरगना फरार बताया जा रहा है। जिसकी तलाश में पुलिस लगातार दबिश दे रही है।
पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने बताया कि 13 फरवरी को टाइनी शाखा संचालक के पार्टनर प्रवीण व असफाक से 2.40 लाख रुपये लूटा था। लूट करने वाले तीन बदमाशों को स्वाट टीम और कंधई पुलिस ने ताला मोड़ के पास पुराने आम के बाग में रविवार को दबोच लिया। उनके पास से लूटे गए 95 हजार रुपये, घटना में प्रयुक्त बाइक और तमंचा कारतूस बरामद हुआ।
पकड़े गए विनोद यादव पुत्र रामचंदर यादव निवासी मधुपुर ने बताया कि उसके साथी अजय यादव पुत्र रामकरन यादव निवासी मधुपुर का टाइनी शाखा में खाता है। वह अक्सर रुपये लेनदेन करने के लिए शाखा पर जाता था। संचालक रमेश कुमार वर्मा को बड़ी रकम लेकर आते जाते अजय ने देखा था। अजय ने ही गैंग लीडर सलमान निवासी अज्ञात को रमेश द्वारा रुपये बैंक से लाने की जानकारी दी।
जिसके बाद वह, सलमान गैंग लीडर व सलमान पुत्र जावेद निवासी चकमझानीपुर कंधई के साथ लूट करने के लिए चिलबिला आ गए। यहां रमेश के साथी प्रवीण पर नजर रखे हुए थे। मौका पाकर प्रेम नगर मंदाह के पास प्रवीण को बदमाशों ने रोक लिया। गैंग लीडर सलमान ने पिस्टल दिखाकर प्रवीण को रोक लिया और विनोद ने रुपये से भरा बैग छीन लिया। बरामद रुपये के अलावा शेष पैसा गैंग लीडर सलमान के पास है। जिसकी तलाश में पुलिस टीम लगी हुई है। पुलिस ने तीनों को जेल भेज दिया।
विनोद लगाता था मधुपुर में सब्जी की दुकान
टाइनी शाखा संचालक के पार्टनर प्रवीण वर्मा से लूट करने के मामले में पकड़ा गया विनोद यादव मधुपुर बाजार में ही सब्जी की दुकान लगाता था। पिता व बड़े भाई छोटे यादव भी दुकान पर बैठते थे। विनोद के चचेरे भाई अजय ने मुखबिरी की थी। अजय को मुखबिरी करने के लिए पांच हजार रुपये मिले थे। जबकि विनोद के पास से 40 हजार और सलमान के पास से 50 हजार रुपये बरामद हुए।
युवकों को जाल में फंसाकर सलमान कराता है लूटपाट
नए युवकों को सब्जबाग दिखाकर शातिर बदमाश सलमान लूटपाट कराता है। पुलिस के अनुसार फरार सलमान ही टाइनी शाखा संचालक को लूटने के लिए योजना बनाया है। उसके ऊपर दूसरे जनपदों में मुकदमा दर्ज है। उसकी आम शोहरत भी ठीक नहीं है। नए युवकों को जल्द अमीर बनाने का सब्जबाग दिखाकर उनसे अपराध कराता है।
... और पढ़ें

प्रतापगढ़: प्लाट दिलाने का झांसा देकर कंपनी करोड़ों समेटकर फरार

कुछ माह में लाखों रुपये के फायदे का सब्जबाग दिखाकर दो कंपनियां लोगों का करोड़ों रुपया लेकर फरार हो गईं। कंपनी में रुपये का निवेश कराने वाले कर्मचारी भी भाग निकले। परेशान ग्राहक निवेश कराने वाले एजेंटों की तलाश करने में नाकाम रहे। जिसके बाद कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराने का सिलसिला प्रारंभ हो गया है। शहर में फर्जीवाड़े का यह धंधा आठ साल से चल रहा था, लेकिन अधिकारियों की इस पर निगाह नहीं पड़ी। वहीं पुलिस भी मामले को टरकाती रही, जिससे पीड़ित लोगों को कोर्ट की शरण लेनी पड़ी।
जिले में जमीन और प्लाट दिलाने के नाम पर नगर कोतवाली के स्टेशन रोड स्थित सूर्या कांप्लेक्स में दो संयुक्त कंपनियां खुलीं। कांपलेक्स में 25 मार्च 2012 को एनएच हाउसिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट इंडिया लिमिटेड और आजाद किसान प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड का कार्यालय धूमधाम से खोला गया। कंपनी ने जिले के लोगों को ही अपना एजेंट बनाया। जिनका काम था कि वह कंपनी का प्रचार प्रसार करने के साथ ही लोगों को उसके व्यवसाय के बारे में जानकारी दें।
कंपनी की एजेंट गुड्डा देवी व आशा देवी के अनुसार वह लोगों से रुपये जमा कराकर जमीन का प्लाट देने का वादा कर रही थीं। प्लाट न लेने पर जमा धनराशि दोगुना लौटाने का लालच भी दिया था। आरोप है कि दोनों कंपनियां बिना बताए कार्यालय बंद कर भाग गईं। जिससे अभिकर्ताओं से रुपये जमा करने वाले लोग लौटाने के लिए कहने लगे।
जिससे वह परेशान हो उठीं। दूसरे एजेंट भी कंपनी के जिम्मेदारों की खोजबीन करते रहे, लेकिन कुछ पता नहीं लगा। कोतवाली पुलिस ने फरियाद नहीं सुनी। जिसके बाद पीड़ितों ने कोर्ट की शरण ली। कोर्ट के आदेश पर नगर कोतवाली में अभी तक दोनों कंपनियों के खिलाफ दो मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। जिसमे 12 नामजद व 25 अज्ञात को आरोपी बनाया गया है। नगर कोतवाल ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। प्रकरण की छानबीन की जा रही है।
इन लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ है धोखाधड़ी का मुकदमा
0 निदेशक हरकेवल सिंह निवासी सजुमा जिला संगरूर पंजाब
0 सुखपाल सिंह निवासी सजुमा जिला संगरूर पंजाब
0 प्रीतपाल सिंह निवासी सजुमा जिला संगरूर पंजाब
0 प्रतीन्दर कौर निवासी बक्शी जिला संगरूर पंजाब
0 अंगरेज सिंह निवासी गाजीपुर पटियाला पंजाब
0 गुरजंत सिंह निवासी उपली संगरूर पंजाब
0 वीके सुब्बा निवासी शालीमार काम्पलेक्स निवासी ढकौली चंडीगढ़
0 महेंद्र सिंह उर्फ विक्रम निवासी विक्रम सर्विस सेंटर गोपालापुर नगर कोतवाली प्रतापगढ़
0 खलील अहमद निवासी गौखाड़ी थाना लालगंज प्रतापगढ़
0 संतोष नारायण सिंह निवासी राधीपुर गौरीगंज अमेठी
0 अटल बिहारी मिश्र निवासी लालगंज अझारा प्रतापगढ़
करोड़ों लेकर भागने वाले चिटफंड संचालक भी नहीं लगे हाथ
नगर कोतवाली के पूरे पितई में चिटफंड कंपनी खोली गई थी। कंपनी के लोग सालभर लोगों को धन दोगुना होने का लालच देते रहे। बीच में कंपनी भाग गई। हालांकि लोगों की सक्रियता से पुलिस ने एक आरोपी को दबोच लिया। पुलिस लाख प्रयास के बाद भी उससे साथियों का पता नहीं पूछ सकी। रुपये लेकर फरार आरोपियों तक क्राइम ब्रांच नहीं पहुंची। मामले की जांच कर रही क्राइम ब्रांच भी केवल कागजी कोरम पूरा कर रही है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us