विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus Lockdown in UP Live Updates: 15 जिलों के हॉटस्पॉट आज रात 12 बजे से होंगे सील, जानिए उनके नाम

यूपी में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने की अटकलों के बीच प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रदेश के 15 जिलों को रात 12 बजे से सील करने का निर्णय लिया है।

8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

रायबरेली

बुधवार, 8 अप्रैल 2020

लॉकडाउन का कड़ाई से कराएं पालन, संदिग्धों को पकड़े: डीएम

रायबरेली। कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए शुक्रवार को डीएम शुभ्रा सक्सेना ने बचत भवन में अधिकारियों की क्लास ली। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देश दिए क्वारंटीन स्थलों पर विशेष निगरानी रखें। कोरोना के संक्रमण को खत्म करने के लिए लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराया जाए। संदिग्धों को पकड़ा जाए। डीएम ने कहा कि गरीबों को भोजन मुहैया कराने के लिए जिले में 138 सरकारी कम्युनिटी किचन बनाए गए हैं।
जिसमें नगर में नौ व ग्रामीण क्षेत्रों में 129 संचालित है। गैर सरकारी/स्वैच्छिक संस्थाओं की ओर से भी 160 किचन संचालित है। गरीबों को कोटे की दुकानों पर राशन दिया जा रहा है। 15 अप्रैल से गरीबों को पांच-पांच किलो मुफ्त चावल दिया जाएगा। लोगों के घरों तक रोजमर्रा की वस्तुएं व दवाएं पहुंचाने के लिए व्यवस्था की गई। संबंधित अधिकारी व्यवस्था पर नजर रखें।
बैठक में सीडीओ अभिषेक गोयल, सीएमओ संजय कुमार शर्मा, एडीएम (प्रशासन) राम अभिलाष आदि अधिकारी मौजूद रहे। डीएम शुभ्रा सक्सेना ने लॉकडाउन के दृषिगत कृषि कार्यों के तहत फल व सब्जी की खेती करने वाले किसानों को अपने उत्पाद को बाजार तथा शीतगृह में भंडारण के लिए ले जाने के लिए छूट दी गई है। इस कार्य में लगे हुए वाहन चालक व श्रमिकों के आवागमन के लिए पास की व्यवस्था की गई है।
उच्च न्यायालय के आदेश पर 14 अप्रैल तक वादों के निस्तारण पर लगी रोक को 23 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है। जनपद न्यायाधीश अनूप कुमार गोयल ने बताया कि 25 मार्च के वाद 27 अप्रैल, 26 मार्च के वाद 28 अप्रैल, 27 मार्च के वाद 29 अप्रैल, 30 मार्च के वाद 30 अप्रैल, 31 मार्च के वाद 01 मई, 01 अप्रैल के वाद 02 मई, 03 अप्रैल के वाद 04 मई, 04 अप्रैल के वाद 05 मई, 06 अप्रैल के वाद 06 मई, 07 अप्रैल के वाद 07 मई, 08 अप्रैल के वाद 08 मई, 09 अप्रैल के वाद 11 मई, 10 अप्रैल के वाद 12 मई, 13 अप्रैल के वाद 13 मई, 14 अप्रैल के वाद की जरनल डेट 14 मई नियत की गई है।
... और पढ़ें

जिले भर में चला अभियान, 48 जमाती पकड़े

रायबरेली। दक्षिण दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी मरकज जमात में शामिल होकर लौटने के बाद अपने-अपने ठिकानों में छुपे जमातियों को पकड़ने के लिए शुक्रवार को जिले भर में अभियान चलाया गया। टीमों ने अलग-अलग ठिकानों से 48 जमातियों को पकड़ा है। सभी को जिला अस्पताल के क्वारंटीन सेंटर में रखा गया है। कोरोना वायरस की आशंका को देखते हुए सभी के सैंपल जांच के लिए केजीएमयू लखनऊ भेजे गए हैं। जिले में और जमातियों के होने की आशंका पर अभियान जारी है।
दिल्ली में तब्लीगी मरकज जमात में जिले के लोग भी शामिल होने के लिए गए थे। सूचना के बाद पुलिस और प्रशासन हरकत में आ गया। पहले तो जमातियों से खुलकर बाहर आने और जांच कराने की बात कही गई। सामने नहीं आने पर जमातियों को पकड़ने के लिए अभियान शुरू किया बया। अपने-अपने ठिकानों में छुपे जमातियों का पता लगाने के बाद शुक्रवार को अलग-अलग टीमें बनाकर अभियान चलाया गया।
शहर के कई मोहल्लों के अलावा सलोन, ऊंचाहार, परशदेपुर, लालगंज, शिवगढ़ सहित जमातियों के अन्य ठिकानों पर छापा मारा गया। इसमें 48 जमातियों को पकड़ा गया। सभी को एंबुलेंस से जिला अस्पताल के क्वारंटीन सेंटर में लाकर भर्ती कराया गया। कोरोना वायरस की आशंका को देखते हुए सभी के सैंपल जांच के लिए केजीएमयू भेजा गया है। इसके अलावा जिले में छुपे और जमातियों को भी ढूंढ निकालने के लिए अभियान जारी है।
जिले में 48 जमातियों के पकड़ में आने के बाद पहरा बढ़ा दिया गया है। डिग्री कॉलेज चौराहे से शहर के अंदर आने वाले यातायात को शुक्रवार को पूरी तरह से बंद कर दिया गया। शहर के अन्य मार्गों पर भी पुलिस की चौकसी बढ़ा दी गई है। शुक्रवार को जुमे की नमाज को लेकर मस्जिदों के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किया गया। हालांकि पुलिस की मौजूदगी के कारण कोई भी मस्जिद में नमाज अदा करने के लिए पहुंचने की हिम्मत नहीं जुटा सका। लोगों की तलाशी भी बढ़ा दी गई है।
रोक के बाद भी दिल्ली निजामुद्दीन दरगाह के जलसे में शामिल होकर लौटे शहर के किला बाजार के एक जमाती को पहले से ही भर्ती कराया गया है। उसके सैंपल को जांच के लिए भेजा गया है। हालांकि शुक्रवार को उसकी जांच रिपोर्ट नहीं आई। जिला अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. बीरबल का कहना है कि भर्ती कराए गए व्यक्ति में लक्षण नहीं मिले हैं। वह स्वस्थ है। एहतियातन सैंपल जांच के लिए भेजा गया है।
डीएम शुभ्रा सक्सेना ने बताया कि जिले भर में अभियान चलाकर 48 जमातियों को पकड़कर जिला अस्पताल के क्वारंटीन सेंटर में रखा गया है। एक जमाती को पहले से ही रखा गया है। सभी का सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में जलसे में शामिल होने के बाद जो भी लोग वापस आए हैं, वे अस्पताल आकर अपनी जांच करवा लें, अन्यथा पकड़ में आए तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जिले में बचे और जमातियों का पता लगाया जा रहा है। इसके लिए टीमें अभियान चला रही हैं।
... और पढ़ें

क्वारंटीन में हालत बिगड़ी, 45 और भागने वाले परदेशियों पर एफआईआर

रायबरेली। क्वारंटीन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ जिला प्रशासन का डंडा चल गया है। दिल्ली, हरियाणा, लुधियाना से वापस आने के बाद क्वारंटीन में रखे गए 45 और भागने वाले परदेसियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। अब इनकी संख्या बढ़कर 87 पहुंच गई है। इसके अलावा शुक्रवार को महराजगंज क्षेत्र के मुरैनी गांव में क्वारंटीन के दौरान एक की हालत बिगड़ गई। उसे सीएचसी पहुंचाया गया। जहां से उसे जिला अस्पताल भेजा गया है।
डीह क्षेत्र में दिल्ली, हरियाणा, लुधियाना से आए परदेसियों को क्वारंटीन सेंटरों में रखा गया है। टीम ने गुरुवार रात निरीक्षण किया तो एसआई कृण्णचंद को प्राथमिक विद्यालय गड़वा में 17 लोग नहीं मिले। पता लगाया तो सभी लोग घरों में दुबके मिले। एसआई ने सभी के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज करवा दिया। एसआई संतोष कुमार ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय मऊ सेंटर मऊ में गायब मिले 18 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।
एसआई अशोक कुमार ने प्राथमिक विद्यालय सरायमानिक का निरीक्षण किया तो यहां 10 लोग गायब मिले। इन लोगों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है। थानेदार जेपी यादव ने बताया कि क्वारंटीन सेंटरों में न मिलने वाले लोगों पर मुकदमा किया गया है। सभी को क्वारंटीन में रखा गया है। उधर महराजगंज क्षेत्र के मुरैनी गांव में बनाए गए क्वारंटीन सेंटर में दिल्ली से आए युवक को रखा गया था।
शुक्रवार को अचानक उसकी हालत खराब हो गई। सूचना पर उसे सीएचसी पहुंचाया गया। बताते हैं कि उसे खांसी, बुखार, बदन दर्द के अलावा खून की उल्टियां आने की समस्या हुई। हालत गंभीर होने के कारण सीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद युवक को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। सीएचसी अधीक्षक डॉ. राधा कृष्णन का कहना है कि मरीज को जिला अस्पताल भेजा गया है।
जांच रिपोर्ट आने के बाद ही बीमार होने का कारण स्पष्ट हो सकेगा। हालांकि प्रथम दृष्टया उसमें क्षय रोग के लक्षण प्रतीत हो रहे हैं। हरचंदपुर क्षेत्र के पूरे बख्तावर गांव में लखनऊ से लौटे युवक के संक्रमित होने की अफवाह से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। सूचना पर मौके पर पहुंची जिला स्तरीय टीम तथा सीएचसी केंद्र की कार्यक्रम प्रबंधक आरती सिंह की टीम ने पूरे गांव को सैनिटाइज करने के साथ ही युवक को अस्पताल पहुंचाया। बीपीएम आरती सिंह ने बताया कि गांव के सभी लोगों को एहतियात बरतने के निर्देश दिए गए हैं।
... और पढ़ें

क्वारंटीन में रहने के आदेश, छह डॉक्टर समेत 25 लोगों के घर जाने से हड़कंप

रायबरेली। रोहनिया सीएचसी में कोरोना पॉजिटिव जमातियों का इलाज करने में लगाए छह चिकित्सकों समेत 25 लोगों के स्टाफ के घर चले जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है।
शासन ने मरीजों को लखनऊ शिफ्ट किए जाने के साथ ही पूरे स्टाफ को 14-14 दिनों के लिए क्वारंटीन में रखने के आदेश दिए हैं, लेकिन शासन के आदेश को ताक पर रख दिया गया है। मामला संज्ञान में आने के बाद चिकित्सक व स्टाफ को तत्काल क्वारंटीन में आने के आदेश दिए गए हैं।
जिले में कोरोना पॉजिटिव पाए गए दो मरीजों को रोहनियां सीएचसी के क्वारंटीन सेंटर में इलाज के लिए रखा गया था। मरीजों के इलाज के लिए यहां छह चिकित्सकों समेत 25 लोगों के स्टाफ को लगाया गया था।
सीएचसी की दूसरी मंजिल पर मरीजों को रखने और ग्राउंड पर स्टाफ के लिए क्वारंटीन की व्यवस्था है। शासन ने गत सोमवार को दोनों मरीजों को लखनऊ शिफ्ट करने के साथ ही इलाज में लगाए गए स्टाफ को 14-14 दिन के लिए क्वारंटीन में भेजने केे आदेश दिए थे।
रात में मरीजों के लखनऊ भेजे जाने के बाद ही पूरा का पूरा स्टाफ बिना किसी सूचना के ही घर चला गया। इससे खतरा बढ़ गया है। सूचना मिलते ही स्वास्थ विभाग और जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया। सभी स्टाफ को तत्काल क्वारंटीन में पहुंचने के आदेश दिए गए हैं।
सीएचसी ऊंचाहार के अधीक्षक डॉ. आरबी यादव ने बताया कि कुछ कर्मचारियों ने बड़ी गड़बड़ी की है। इस बारे में पूरी रिपोर्ट भेजी जा रही है। सभी को क्वारंटीन में रहने के लिए तत्काल लाने के आदेश दिए गए हैं।
... और पढ़ें

मस्जिदों में तलाशे गए जमाती

रायबरेली। कस्बे सहित गांव क्षेत्र की मस्जिदों में मंगलवार को पुलिस ने अभियान चलाकर जमातियों की खोजबीन की। मस्जिदों के साथ स्थानीय मदरसों की भी पड़ताल की गई। इस दौरान सभी स्थानों पर मौलानाओं सहित एक दो लोग ही मौजूद मिले।
मंगलवार को एसएचओ आईपीएस पलाश बंसल मय पुलिस बल के साथ बहाई गांव स्थित मस्जिदों में जाकर तलाशी अभियान की शुरुआत की। बाद में कस्बे के चिक मंडी स्थित मरकज मस्जिद ,अलीनगर की कादरी मस्जिद व मोहम्मदिया मस्जिद रामलीला मैदान स्थित कांचमील मस्जिद घोसियाना मोहल्ला स्थित बड़ी मस्जिद में जाकर तलाशी ली।
इन मस्जिदों के मौलानाओं से पूछताछ की गई। तलाशी के दौरान किसी भी मस्जिद में कोई बाहरी व्यक्ति नहीं मिला। साथ ही पुलिस ने हिदायत दी के किसी बाहरी जमाती को ठहरने की अनुमति नहीं है यदि ऐसी सूचना मिलती है तो कड़ी कार्यवाही की जाएगी। इस दौरान इंस्पेक्टर राजकुमार पांडे, कस्बा इंचार्ज सब इंस्पेक्टर अभय मिश्रा, सब इंस्पेक्टर अरविंद मौर्या सहित पुलिस बल मौजूद रहा।
... और पढ़ें

सांसद सोनिया गांधी ने घर-घर भेजवाई राहत सामग्री

रायबरेली। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन में गरीब तबका परेशान है। किसानों, दिहाड़ी मजदूरों, जरूरतमंदों को मदद पहुंचाने के लिए सांसद सोनिया गांधी ने राहत सामग्री भेजी है, जिसका वितरण कार्य तेज गति से चल रहा है। मंगलवार को डलमऊ और महराजगंज क्षेत्र में क्षेत्रीय कांग्रेसियों ने राहत सामग्री की किट बांटी तो लोगों के चेहरे खिल उठे।
महराजगंज क्षेत्र में जिन घरों में चूल्हा नहीं जल रहा है। दो वक्त की रोटी का जुगाड़ नहीं हो पा रहा है। ऐसे घरों और परिवारों की तलाश करके उन्हें राहत सामग्री पहुंचाने का क्रम शुरू हो गया है। युवा कांग्रेसी नेता प्रिंसू वैश्य की अगुवाई में कस्बे के वार्ड नंबर नौ में 30 परिवारों को राहत सामग्री की किट बांटी गई।
प्रिंसू ने घर-घर जाकर पात्र लोगों को किट प्रदान करते हुए भरोसा दिलाया कि सोनिया गांधी उनके इस दुख में साथ खड़ी हैं। किसी भी जरूरतमंद को कोई तकलीफ नहीं होने पाएगी। आगे भी मदद पहुंचाने के लिए हरसंभव कोशिश होगी। इस मौके पर जैनुलाब्दीन उर्फ लाला मनिहार, आशुतोष सिंह आदि उपस्थित रहे।
डलमऊ तहसील क्षेत्र में भी कुछ इसी तरह राहत सामग्री का वितरण किया गया। कांग्रेसी कार्यकर्ता संजय श्रीवास्तव की अगुवाई में डलमऊ कस्बे के विभिन्न वार्डो में गरीब, असहाय परिवारों में राहत सामग्री बांटी गई। मोहल्ला शेखवाड़ा, चौहट्टा, टिकैतगंज, खटिकाना, मियां टोला, शंकर नगर, आदर्श नगर, कृष्णा नगर, शेरंदाजपुर में किट बांटी गई।
राहत सामग्री बांटने वाले लोगों ने सांसद का आभार जताया। इस मौके पर राकेश कुमार त्रिपाठी, अशोक सिंह, अजय सिंह, अजय पांडेय, गजेंद्र प्रताप सिंह आदि मौजूद रहे। उधर, भाजपा नेता संतोष दीक्षित, दिनेश त्रिपाठी, अमित कुमार, सुधीर, विनीत आदि ने विभिन्न वार्डों लंच पैकेट और खाद्यान्न सामग्री बांटी।
... और पढ़ें

क्वारंटीन में भर्ती 14 और लोगों की जांच को सैंपल लखनऊ भेजा

रायबरेली। दिल्ली के तब्लीगी मरकज जमात में शामिल हुए दो जमातियों में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद जिला प्रशासन सतर्क हो गया है। सोमवार को 14 और लोगों के सैंपल भी जांच के लिए केजीएमयू लखनऊ भेजा गया है।
इसमें एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित जमाती के संपर्क में कई दिनों तक रहा है। सभी को अलग-अलग स्थानों पर बने क्वारंटीन सेंटरों में रखा गया है। उधर शहर के 10 मोहल्लों में सोमवार को भी सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध रहे। बैरियरों पर गहन पूछताछ के बाद ही लोगों को आने-जाने दिया गया।
बीती तीन अप्रैल को सर्च अभियान 49 जमातियों को पकड़कर क्वारंटीन सेंटर में रखकर सैंपल जांच के लिए केजीएमयू लखनऊ भेजा गया था। अब तक सैंपलों की आई जांच रिपोर्ट में दो सैंपल पॉजिटिव पाए गए।
बीती 31 मार्च व एक अप्रैल को ही दिल्ली से आकर दोनों खाली सहाट के एक धार्मिल स्थल में रुके थे। केस मिलने के बाद दोबारा लोगों की स्क्रीनिंग करके 14 लोगों को क्वारंटीन में रखा गया। सोमवार को सभी के सैंपल जांच के लिए केजीएमयू भेजा गया।
इसमें एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित जमातियों के संपर्क में कई दिनों तक रहा है। उसके घर के सभी सदस्यों को भी क्वारंटीन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। उधर, शहर के खालीसहाट, कहारो का अड्डा, सुरजूपुर, किला बाजार, अहियारायपुर, कैलाशपुरी, सुरजूपुर सहित 10 मोहल्लों में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध रहे। सीएमएस डॉ. एनके श्रीवास्तव का कहना है कि 14 लोगों के सैंपल भेजवाए गए हैं। केजीएमयू में सैंपलों की उनकी जांच होगी।
सोमवार को चार और जमातियों की जांच रिपोर्ट आ गई है। इसमें दो जमातियों में कोरोना निगेटिव पाया गया है। केजीएमयू ने दो जमातियों के सैंपल दोबारा जांच के लिए भेजने के निर्देश दिए हैं। अब तक जांच के लिए भेजे 49 जमातियों के सैंपल भेजे गए थे।
इसमें 48 की रिपोर्ट आ चुकी है। इसमें 44 निगेटिव, दो पॉजिटिव मिले हैं। किन्हीं कारणोंवश दो जमातियों की जांच के लिए दोबारा सैंपल मांगे गए हैं। नोडल अधिकारी व एसीएमओ डॉ. नागेंद्र प्रसाद का कहना है कि अब तक 48 रिपोर्ट में 44 लोगों में कोरोना निगेटिव पाया गया है। दो व्यक्तियों के सैंपल दोबारा भेजा जाएरगा।
... और पढ़ें

बजार में इकट्ठा होने और क्वारंटीन से भागने पर 2

रायबरेली। शासन के कड़े निर्देशों के बाद भी लोग मनमानी से बाज नहीं आ रहे हैं। लॉकडाउन के दौरान धारा 144 को उल्लंघन करके सरेनी क्षेत्र की बाजार में रोक के बाद भी भीड़ इकट्ठा करने पर 23 लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया गया है। इसके अलावा सरेनी क्षेत्र में क्वारंटीन सेंटर से भागे पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है।
सरेनी क्षेत्र में रविवार की शाम बेनी माधवगंज बाजार में लोगों की भारी भीड़ एकत्र हुई। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने लाउडस्पीकर से लोगों को भीड़ न करने की हिदायत दी, लेकिन लोगों पर असर नहीं पड़ा। मामले में वरिष्ठ उपनिरीक्षक बृजपाल यादव ने बेनी माधवगंज, रालपुर आदि गांवों के 23 लोगों के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया है।
उधर डीह क्षेत्र में सोमवार को क्वारंटीन सेंटर से घर भाग जाने वाले पांच लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया गया है। पूरे नारायण मजरे टेकारीदांदू के लोगों को पुलिस ने इन सभी को बनाए गए क्वारंटीन सेंटर में रखा गया था।
उपनिरीक्षक कृष्णचंद्र ने जब क्वारंटीन सेंटर का निरीक्षण किया तो चार लोग गायब मिले। सभी के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कराया है। थानेदार जेपी यादव ने बताया कि मामला दर्ज करके कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें

सिंचाई विवाद में युवक की लाठी-डंडों से पीट-पीटकर हत्या

रायबरेली। कोतवाली क्षेत्र के दूलमपुर मजरे शेरी गांव में सोमवार को फसलों के सिंचाई विवाद में एक युवक पर पहले कुल्हाड़ी से हमला किया गया और फिर लाठी-डंडों से पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी गई।
यही नहीं दबंग पड़ोसियों ने परिवार के ही अन्य चार लोगों को पीट-पीटकर भी अधमरा कर दिया। इसमें मृतक के माता-पिता, पत्नी और भाई घायल हुए। घटना से सनसनी फैल गई।
वारदात की सूचना पर सीओ महराजगंज राघवेंद्र चतुर्वेदी और कोतवाल पंकज तिवारी ने घटनास्थल का जायजा लिया और पूरे घटनाक्रम की बाबत पूछताछ की। मृतक के भाई ने पड़ोसियों के खिलाफ हत्या की तहरीर दी है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।
दूलमपुर गांव निवासी शशि मिश्रा (30) जगह-जगह होने वाले मेलों में सौंदर्य प्रसाधन की दुकान लगाता था। उसका उसके पड़ोसी संजय वाजपेयी से फसलों की सिंचाई को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा था।
इसी विवाद को लेकर दबंग पड़ोसियों ने दोपहर बाद एक राय होकर कुल्हाड़ी और लाठी-डंडों से लैस होकर शशि मिश्रा के घर पर हमला बोल दिया। दबंगों ने शशि मिश्रा पर पहले कुल्हाड़ी से हमला करके घायल किया और फिर लाठी-डंडों से पीट-पीटकर उसे मार डाला।
साथ ही हमलावरों ने मृतक के पिता शीतला (65), मां अनुपमा (55), पत्नी कल्पना (28), भाई मनीष कुमार मिश्रा (25) को भी पीटकर घायल कर दिया। घटना की जानकारी होने पर पुलिस अफसर मौके पर पहुंचकर पड़ताल की।
घायलों को पुलिस ने सीएचसी बछरावां पहुंचाया, जहां मृतक के पिता शीतला को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। मृतक के घायल भाई मनीष की ओर से घटना की तहरीर कोतवाली में देकर आरोप लगाया गया है कि सिंचाई विवाद में घटना को अंजाम दिया गया है। केतवाल का कहना है कि केस दर्ज करके हमलावरों को गिरफ्तार करके जेल भेजा जाएगा।
दूलमपुर गांव में हुई घटना ने सभी को झकझोर दिया। जिसने भी घटना के बारे में सुना वह दंग रह गया और घटना को लेकर नाराजगी जाहिर की। बताया जाता है कि दोनों पक्षों के बीच लंबे समय से नफरत की आग सुलग रही थी।
हर माह विवाद होता रहता था। बताया जाता है कि दोनों पक्षों के खेत भी आसपास हैं। फसलों की सिंचाई को लेकर अक्सर विवाद होता था। दबंग पड़ोसी छोटी सी बात को लेकर इतनी बड़ी घटना को अंजाम दे देंगे, यह शायद किसी ने सोचा नहीं था।
... और पढ़ें

शहर के 500 घरों में कांटेक्ट ट्रेसिंग, पांच और संदिग्ध क्वारंटीन पहुंचे

रायबरेली। कोरोना वायरस के दो पॉजिटिव केस मिलने के बाद जिले में हड़कंप मच गया। शहर के खाली सहाट, कैलाशपुरी, सुरजूपुर सहित अन्य मोहल्लों में सुबह से ही कांटेक्ट ट्रेसिंग (सर्च अभियान) करके घर-घर लोगों की जांच की गई।
स्वास्थ्य विभाग की तीन टीमों ने अलग-अलग करीब 500 घरों में पहुंचकर घर में मिले लोगों की स्क्रीनिंग की। इसमें बुखार के लक्षण मिलने पर पांच लोगों को आइसोलेशन में भेजा गया है। शेष अन्य लोगों को घरों में ही रहने के निर्देश देने के साथ ही कोरोना से बचने के टिप्स दिए गए।
जिला समन्वयक शहरी स्वास्थ्य मिशन विनय पांडेय के पर्यवेक्षण में नगर की टीम में शामिल दिलीप मिश्रा, कौशलेंद्र, अभिषेक, अमित, इंद्रेश आदि की टीम ने घर-घर पहुंचकर लोगों की सेहत की जांच की। इस दौरान टीम व पुलिस के पहुंचने पर कई घरों के लोग बुलाने के बाद भी बाहर नहीं निकले।
पुलिस का दबाव बढ़ने के बाद लोगों ने घरों से बाहर आकर बुखार की जांच कराई। इस दौरान खाली सहाट में चार लोगों में बुखार के लक्षण मिलने के बाद उन्हें अस्पताल इलाज कराने के लिए भेजा गया। इसके अलावा कोरोना के पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आए एक युवक को पकड़ा गया। युवक फातिमा मस्जिद के बगल में ही रहता है और वृद्धों के संपर्क में लगातार रहा है। उसके सैंपल की भी जांच होगी।
लोगों के घरों में सेहत जांचने के लिए पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीमों के सदस्यों ने लोगों को समझाया कि उन्हें बुखार आए तो किसी भी स्तर पर लापरवाही न करें। बुखार आते ही तुरंत अस्पताल आकर जांच कराएं। बाहर से आए लोगों के संपर्क में भी आने से बसें और घरों में ही रहकर अपने आप को कोरोना से बचने का प्रयास करें। कारोनेे से बचने के लिए लॉकडाउन ही अच्छा इलाज है।
... और पढ़ें

क्वारंटीन सेंटरों में गुणवत्तापूर्ण भोजन न मिलने पर परदेशियों का हंगामा, तहरी फेंकी

रायबरेली। कोरोना वायरस से लोगों को बचाने के लिए बनाए गए क्वारंटीन सेंटर मजाक बन गए हैं। इन सेंटरों पर गुणवत्तापूर्ण भोजन बाहर से आए लोगों को नहीं दिया जा रहा है। इस पर रविवार को राही और खीरों क्षेत्र के सेंटरों पर लोगों ने हंगामा काटा।
साथ ही गुणवत्तापूर्ण तहरी न होने पर उसे फेंक दिया। यही नहीं इन सेंटरों पर सोशल डिस्टेंस की भी धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। ग्राम प्रधान से लेकर अधिकारी व्यवस्था फिटफाट करने में ध्यान नहीं दे रहे हैं।
राही ब्लॉक क्षेत्र के खागीपुर सड़वा स्थित भारतीय शिक्षा निकेतन इंटर कॉलेज को क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है। यहां पर 18 गांवों के 140 लोगों को क्वारंटीन कराया जा रहा है। बाहर से आए इन लोगों को शनिवार को तहरी दी गई, जो गुणवत्तापूर्ण नहीं थी।
इस पर लोगों ने तहरी को फेंक दी। रविवार को भोजन न मिलने पर हंगामा काटना शुरू कर दिया। हाथ धोने के लिए साबुन या फिर सैनिटाइजर की व्यवस्था नहीं कराई गई। आरोप लगाया कि ग्राम प्रधान से लेकर अधिकारी महज खानापूर्ति कर रहे हैं।
जानकारी होने पर सुलखियापुर के प्रधान गोवर्धन ने पहुंचकर लोगों को शांत कराते हुए खानपान की व्यवस्था कराई। नोडल अधिकारी सुुषमा का कहना है कि खानपान की व्यवस्था कराने का प्रयास कराया जा रहा है।
खीरों ब्लॉक क्षेत्र में श्री दुर्गा इंटर कॉलेज खीरों को क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है। यहां पर ठहरे सातनपुर निवासी राममहेश, अजीतपुर निवासी चंदिका प्रसाद आदि ने डीएम को फोन करके शिकायत की कि गुणवत्तापूर्ण भोजन नहीं दिया जा रहा है।
पानी भी शुद्ध नहीं दिया जा रहा है। कुछ लोगों ने घर फोन करके अपने लिए भोजन मंगाया। इन खामियों पर हंगामा किया। एसडीएम लालगंज जीतलाल सैनी ने बताया कि शनिवार देर रात तक लोगों को सेंटरों में लाने का प्रयास किया जा रहा था, जिससे देर रात तक संख्या बढ़ रही थी। इसके चलते कुछ दिक्कतें हुई थी। भोजन की व्यवस्था कराने के आदेश दिए गए हैं।
क्षेत्र में भी भोजन न मिलने पर लोगों ने हंगामा किया। ऊंचाहार कस्बे के राजकीय डिग्री कॉलेज में 265 लोग सुबह से भूखे थेे। खाना नहीं मिलने पर भूख से बेहाल लोग केंद्र से बाहर निकल आए। कॉलेज के मुख्यद्वार पर भीड़ लगाकर हंगामा किया।
कोटिया चित्रा के प्रधान नरेंद्र यादव, ऊंचाहार कोतवाल धर्मेंद्र दुबे ने मौके पर पहुंचकर भोजन की व्यवस्था कराकर लोगों को शांत कराया। इसी तरह धूता स्थित बनाए गए क्वारंटीन सेंटर इंटर कॉलेज में लोगों ने हंगामा किया। एसडीएम केशवनाथ गुप्ता ने पहुंचकर मामला शांत कराया।
... और पढ़ें

दिल्ली से लौटे दो जमातियों में कोरोना पॉजिटिव, शहर के 10 मोहल्ले सील

रायबरेली। दक्षिणी दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात में शामिल हुए दो लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। सहारनपुर जिले के मिरजापुर थाना क्षेत्र के रहने वाले दोनों बुजुर्ग जलसे के बाद रायबरेली आकर शहर के एक धार्मिक स्थल में रुके थे।
सर्च अभियान में पकड़े गए 49 लोगों में ये दोनों भी शामिल थे। रिपोर्ट आने के बाद दोनों को रोहनियां सीएचसी के आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। साथ ही शहर के करीब 10 मोहल्लों को सील कर दिया गया है। मोहल्लों के बार्डर पर बैरियर लगाकर भारी पुलिस बल तैनात करने के साथ ही लोगों के आने-जाने पर पाबंदी लगा दी गई है। स्वास्थ्य टीम ही आ जा सकेगी।
दिल्ली में तब्लीगी जमात के आयोजन कोरोना का खतरा देश में बढ़ गया। जलसे में शामिल लोग जिस भी जिले में गए, वहां कोरोना के संक्रमण के केस बढ़ गए। शासन की मंशा पर बीती तीन अप्रैल को सर्च अभियान चलाकर 49 जमातियों को पकड़कर क्वारंटीन सेंटर में रखकर सैंपल जांच के लिए केजीएमयू लखनऊ भेजा गया।
अब तक सैंपलों की आई जांच रिपोर्ट में दो सैंपल पॉजिटिव पाए गए हैं। कोरोना से संक्रमित पाए गए एक वृद्ध की उम्र 65 वर्ष व दूसरे की उम्र 70 वर्ष है। दोनों सहारनपुर के रहने वाले हैं। चर्चा है कि बीती 31 मार्च व एक अप्रैल को ही दिल्ली से आकर दोनों खाली सहाट के एक धार्मिल स्थल में छुपे थे।
दोनों को रोहनियां के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करके इलाज शुरू किया गया है। इसी के साथ ही शहर के खालीसहाट, कहारों का अड्डा, सुरजूपुर, किला बाजार, अहियारायपुर, कैलाशपुरी, सुरजूपुर सहित 10 मोहल्लों को सील कर दिया गया है। बैरियर लगाकर भारी पुलिस तैनात करने के साथ ही लोगों के आने-जाने पर रोक लगा दी गई है।
जांच के लिए भेजे गए 49 जमातियों के सैंपल में अब तक 44 सैंपलों की जांच रिपोर्ट आ चुकी है। इसमें 42 जमातियों में कोरोना निगेटिव पाया गया। एफजीआईईटी के क्वारंटीन सेंटर में रखे गए सभी 42 जमातियों की रविवार को चिकित्सकों की टीम ने दोबारा स्क्रीनिंग की। लक्षण मिलने पर सभी की दोबारा जांच भी कराई जा सकती है।
डीएम शुभ्रा सक्सेना और एसपी स्वप्निल ममगाई ने शहर के कई मोहल्लों का निरीक्षण करके पुलिस की सुरक्षा को और चुस्त-दुरुस्त करने के आदेश दिए। बिना पूछताछ के किसी को भी संवेदनशील मोहल्लों में प्रवेश न देने के आदेश दिए।
चौराहों व बैरियरों पर लगाए अधिकारियों व पुलिस कर्मियों को सुरक्षा के कड़े निर्देश दिए गए। जो भी संदिग्ध मिलें, उन्हें तत्काल पकड़कर पूछताछ करने के आदेश दिए। डीएम ने कहा कि किसी भी स्तर पर लापरवाही सामने नहीं आनी चाहिए।
कोरोना का केस पॉजिटिव मिलने के बाद शहर के बस स्टेशन, कहारो का अड्डा, जोशियाना पुल, राजघाट के पास संबंधित मोहल्लों को जाने वाले मार्गों को सील कर दिया गया है। सड़कों पर बैरियर लगाकर पुलिस का पहरा बैठा दिया गया है।
यहां से कड़ी पूछताछ के बाद ही लोगों को आने-जाने दिया जा रहा है। एंबुलेंस, अधिकारियों व पुलिस की गाडिय़ों के अलावा किसी को भी प्रवेश नहीं दिया जा रहा है।
... और पढ़ें

जमाती में नहीं मिले कोरोना के लक्षण, 48 जमातियों की रिपोर्ट का इंतजार

रायबरेली। दक्षिण दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी मरकज जमात में शामिल होकर लौटे एक जमाती की जांच में कोरोना के लक्षण नहीं मिला है। सैंपल निगेटिव पाया गया है। साथ ही अन्य 48 जमातियों के सैंपलों की जांच केजीएमयू लखनऊ में हो रही है। सभी की रिपोर्ट आने का इंतजार है। सभी को क्वारंटीन सेंटर में रखा गया है। सभी लोगों की सेहत ठीक है।
दिल्ली में तब्लीगी मरकज जमात के आयोजन के बाद देश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ गई। जलसे में शामिल होने के बाद लौटे लोगों को सर्च अभियान चलाकर पकड़ा गया। तीन दिन पहले शहर के किलाबाजार के एक व्यक्ति को पकड़कर क्वारंटीन में रखकर सैंपल जांच के लिए भेजा गया था।
जांच में कोरोना के लक्षण उसमें नहीं पाए गए हैं। इसके अलावा सर्च अभियान में पकड़े गए 48 जमातियों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। सभी के सैंपलों की जांच केजीएमयू लखनऊ में हो रही है। उम्मीद है कि कुछ सैंपलों की जांच रिपोर्ट रविवार को आ सकती है।
सर्च अभियान जारी, टीमों को किया सक्रिय
जमातियों को पकड़कर उनकी जांच कराने के लिए शनिवार को भी सर्च अभियान चलाया गया। हालांकि कोई जमाती पकड़ में नहीं आया। पुलिस व प्रशासन की टीम को सक्रिय किया गया है। सूचना मिलते ही टीमें जमाती को सर्च करने के लिए पहुंच रही हैं। एएसपी नित्यानंद का कहना है कि सर्च अभियान जारी रखा गया है। जो भी जमाती मिलेगा उसे पकड़कर क्वारंटीन में रखवाया जाएगा।
दो दिन पहले जमाती के भेजे गए सैंपल की जांच निगेटिव होने की जानकारी मिली है। अन्य 48 लोगों के सैंपल भी जांच के लिए भेजे गए हैं। उनकी रिपोर्ट आनी बाकी है। जमातियों का पता लाने के लिए सर्च अभियान जारी है। कोरोना महामारी से जीतने के लिए जिले के सभी लोगों को साथ देना होगा। लॉकडाउन का शत-प्रतिशत पालन करें।
-शुभ्रा सक्सेना, जिलाधिकारी
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
RAEBARELI (27.10.19)
RAEBARELI (27.10.19)
RAEBARELI (27.10.19)
RAEBARELI (27.10.19)

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us