विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

उत्तर प्रदेश में कोरोना के 15 नए मरीज मिले, तीन हुए ठीक, 96 पहुंची कुल संख्या

नोवेल कोराना वायरस के प्रकोप के बीच सोमवार को एक अच्छी खबर आई। पहले से अस्पतालों में भर्ती तीन पॉजिटिव मरीज पूरी तरह से स्वस्थ होने के कारण डिस्चार्ज कर दिए गए। इनमें से दो नोएडा और एक आगरा का मरीज है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

रामपुर

मंगलवार, 31 मार्च 2020

कोरोना से जंग में जरुरतमंदों की मदद को बढ़ रहे तमाम हाथ

रामपुर। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को लेकर जहां लोग घरों में बंद हैं तो वहीं तमाम समाजसेवी संगठन और युवा इन दिनों पैदल ही घरों की ओर निकले लोगों को भोजन, नाश्ता घर जाने के लिए वाहन की व्यवस्था से लेकर सड़कों पर मौजूद अन्य लोगों की मदद कर रहे हैं।
वीर खालसा सेवा समिति द्वारा विभिन्न हिस्सों में पहुंचकर जरूरतमंदों को खाना उपलब्ध कराया जा रहा है। समिति के अध्यक्ष अवतार सिंह ने कहा कि समिति लॉकडाउन लागू होने के बाद से ही अलग-अलग क्षेत्रों में आवश्यकतानुसार लोगों को भोजन, नाश्ता और अन्य सामग्री उपलब्ध कराकर मदद कर रही है। इसके साथ ही राष्ट्रीय युवा क्रांति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष इंजीनियर नलिन सिंह और पुष्पेंद्र चौधरी ने घरों को पैदल जा रहे लोगों को पिछले दो दिन से खाना, नाश्ता खिलवाया। नलिन सिंह अपने कुछ साथियों के साथ हाईवे पर पहुंचे और घरों को पैदल जा रहे लोगों को भोजन-नाश्ता करवा रहे हैं। नलिन सिंह और उनके साथियों द्वारा भी लॉकडाउन के लागू होने के बाद से ही जरुरतमंदों की सहायता का काम जारी है।
स्वामी विवेकानंद सेवा ट्रस्ट के सदस्य भी संगठन के चेयरमैन विनोद सिंह यादव के साथ जरुरतमंदों को भोजन व राशन की आपूर्ति की। पुलिस कर्मियों को मास्क और सैनिटाइजर भी उपलब्ध कराए गए।
इसके साथ ही सिंघ सेवक जत्था समिति व गुरुद्वारा संत भाई जी बाबा प्रबंधक कमेटी के सदस्यों द्वारा भी बाहर से आ रहे लोगों व स्थानीय जरुरतमंदों की मदद की जा रही है। इसके साथ ही अन्य तमाम संगठन भी जरुरतमंदों की सेवा में लगे हुए हैं।
... और पढ़ें

नवरात्र में पांचवें दिन स्कंदमाता की हुई पूजा-अर्चना

रामपुर/बिलासपुर/केमरी/खजुरिया। नवरात्र में पांचवें दिन मां दुर्गा के स्कंदमाता स्वरूप की पूजा-अर्चना की गई। श्रद्धालुओं ने घरों में पूजन कर माता से शक्ति का वर मांगा।
नवरात्र में पांचवें दिन रविवार को भी श्रद्धालुओं ने घरों पर ही पूजा-अर्चना की। माता का रोली से तिलक कर पुष्प व फल अर्पित कर नवरात्र व्रत कथा का पाठ किया। इसके बाद आरती व दुर्गा चालीसा के पाठ के साथ ही अज्ञारी पूजन किया। अज्ञारी में श्रद्धालुओं ने हवन सामग्री के साथ ही धूप,कपूर, लौंग, सूखे मेवा, मिश्री-मिष्ठान, देशी घी के साथ आहुति देकर पूजन किया। इसके साथ ही कई श्रद्धालुओं ने दुर्गा सप्तशती का पाठ भी किया और इसके साथ कवच, कीलक और अर्गला स्तोत्र का पाठ किया।
पंडित नवनीत शर्मा बताते हैं कि नवरात्रि के पांवें दिन मां दुर्गा के स्कंदमाता स्वरूप की पूजा की जाती है। स्कंदकुमार की माता होने के कारण मां के इस स्वरूप का नाम सं्कदमाता पड़ा। तारकासुर के वध के लिए शिवजी ने पार्वती से विवाह किया और उनकी संतान कार्तिकेय भगवान ने तारकासुर का वध किया था। मां का यह रूप नारी शक्ति का प्रतीक है। वहीं कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते शहर के पुराना गंज स्थित माई का थान मंदिर, श्री हरिहर मंदिर, श्री त्रिपुरेश्वरी शक्ति पीठ, सिविल लाइंस स्थित मां दुर्गा का प्राचीन मंदिर, मनोकामना मंदिर समेत सभी प्रमुख मंदिरों में पुजारियों पूजन किया। यहां श्रद्धालु नहीं पहुंचे।
बिलासपुर क्षेत्र में चैत्र नवरात्र के पांचवे दिन रविवार को श्रद्धालुओं ने मां दुर्गा के पांचवे स्वरुप मां स्कंदमाता देवी की अपने घरों और मंदिरों में पूजा अर्चना की। नगर के मोहल्ला कायस्थान के काली माता मंदिर, श्री सनातन धर्म मंदिर साहूकारा, श्री सनातन धर्म मंदिर पंजाबी कालोनी, मां पीतांबरा मंदिर, दुर्गा भवानी पंचायती मंदिर डैम कालोनी, शिव मंदिर, शिवबाग मंडी का मंदिर, मनोरम मंदिर, लक्ष्मीनारायण मंदिर, श्री कृष्णलीला मंदिर आदि मंदिरों व घरों में महिलाओं ने छंद गए और रात को आरती के के बाद व्रत को विश्राम दिया गया।
... और पढ़ें

फुटकर बिक्री पर लगाएं रोक, सिर्फ दुकानदार को ही दें सामान

रामपुर। जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने मंडी समिति का निरीक्षण किया। इस दौरान आढ़तियों को निर्देश दिए कि सिर्फ दुकानदारों को ही सामान दें। फुटकर बिक्री न करें। ऐसा करेंगे तो भीड़ एकत्र होगी, जिससे व्यवस्था गड़बड़ हो जाएगी। उन्होंने मंडी सचिव को यह भी निर्देश दिए कि दुकानदारों को टोकन के जरिए सामान देने के निर्देश दिए।
लॉकडाउन के बाद से प्रशासनिक अफसर पूरी तरह से मुस्तैद हैं। लिहाजा, रविवार को सुबह के समय जिलाधिकारी अचानक मंडी समिति पहुंच गए। उन्होंने भ्रमण कर आढ़तियों और दुकानदारों से बात की। कहा कि आ़ढ़ती सिर्फ फलों एवं सब्जियों की सप्लाई दुकानदारों को ही करें। किसी को एक किलो या दो किलो सामान न बेंचे। ऐसा इसलिए कि यदि फुटकर बिक्री हुई तो व्यवस्था बाधित हो जाएगी। लॉकडाउन का मतलब ही समाप्त हो जाएगा। उन्होंने आढ़तियों को पूरी सतर्कता बरतने के भी निर्देश दिए। इसके बाद मंडी सचिव को तलब कर लिया। कहा कि यह जिम्मेदारी आपकी है कि दुकानदार के अतिरिक्त कोई और मंडी में अनावश्यक भीड़ न लगाए। सोशल डिस्टेसिंग का ख्याल रखते हुए दुकानदारों को टोकन जारी किए जाएं, जिसके जरिए वे सामान की खरीदारी कर सकें। उन्होंने कहा कि प्रशासन की ओर से घर- घर सामान की सप्लाई का इंतजाम किया गया है। ऐसे में हमें तो लग रहा है कि सबको घर पर सामान मिल रहा है, लेकिन कुछ लोग इधर-उधर से सामान ले रहे हैं। वे हमें बताएं उन्हें सामान लेने के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि व्यवस्था में किसी भी कमी का भी तो तभी पता लगेगा जब लोग बताएंगे।
... और पढ़ें

सीएमओ कार्यालय के सभागार में लगी आग

रामपुर। सीएमओ कार्यालय के सभागार में दोपहर के समय अचानक से आग लग जाने के बाद अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया। आनन फानन में फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंच गई। आग पर काबू पाया गया।
कोतवाली थाना क्षेत्र में सीएमओ ऑफिस बना हुआ है। दूसरी मंजिल पर एक बड़ा का सभागार बना रखा है।जिसमे सीएमओ मीटिंग लेते है। सोमवार दोपहर को उसमें अचानक आग लग गई। आग लगती देखकर कर्मचारी एकदम भाग खड़े हुए। बाद में इस मामले की जानकारी फायर ब्रिगेड को दी। सूचना के बाद दमकल वाहन भी आ गए। आग को बुझाना शुुरु कर दिया। कुछ समय बाद ही आग पर काबू पाया जा सका। इस दौरान काफी समय तक अफरातफरी का माहौल बना रहा। सीएफओ मतलूब अंसारी ने बताया कि सीएमओ के सभागार में आग लग गई थी। तीन वाहनों की मदद से आग पर काबू पाया गया। इस दौरान कुछ कुर्सियां भी जल गई।
... और पढ़ें

मिलक में फांसी के फंदे पर लटकी मिली विवाहिता,पति समेत चार पर केस

मिलक (रामपुर)। स्थानीय क्षेत्र में घरेलू कलह के चलते विवाहिता फंदे पर लटकी मिली। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा । परिजनों ने पति समेत चार पर दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है।
पीलीभीत जिले के थाना जहानाबाद के सिरसा निवासी की बेटी शीबा का निकाह करीब दो साल पहले नगर के मुहल्ला रोरा खुर्द निवासी अजीम मलिक से हुआ था। शीबा से अजीम की करीब 10 माह की एक बेटी भी है। इस बीच सुबह शीबा फंदे पर लटकी मिली जिससे परिजनों में हड़कंप मच गया। बकौल प्रत्यक्षदर्शी कमरे का गेट तोड़कर शीबा को बाहर निकाला गया। पुलिस ने तहसीलदार विमल कुमार शुक्ला के सामने शव का पंचनामा भरा। इस मामले में शीबा के मायके वालों ने आरोपी पति अजीम मलिक उर्फ गुड्डू, सास नुसरत बी, ननद चांद बी और नुजहत समेत चार के खिलाफ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है। आरोप है कि दहेज को लेकर आरोपियों ने शारीरिक और मानसिक उत्पीड़न किया तथा फंदे पर लटका दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा है। प्रभारी निरीक्षक अनिल कुमार सिंह ने रिपोर्ट की पुष्टि की है।
... और पढ़ें

वाहनों में खड़े होकर सफर कर रहे लोग

रामपुर।लॉकडाउन के चलते रास्ते में फंसे लोग अपने घरों तक जाने के लिए बडे़ से लेकर छोटे वाहनों तक का सहारा ले रहे है ताकि वह अपने घरों तक जा सके।
कोरोना वायरस के चलते पूरे देश भर में 21 दिन का लॉक डाउन कर दिया गया था।जिससे सभी फैक्टरियों को बंद कर दिया था। इस दौरान यहां पर काम करने वाले भी अपने घरों के लिए रवाना हो गए थे।लेकिन कोई भी वाहन नहीं मिलने पर पैदल ही चल रहे थे लेकिन बाद में शासन की ओर से रास्ते में फंसे लोगों को उनके घर तक पहुँचाने के लिए रोडवेज बसें को चलवाया गया था ताकि किसी भी तरह से यह लोग अपने घर तक जा सके। यह सिलसिला सोमवार को भी जारी रहा। कुछ लोग पैदल ही अपने घरो की ओर जा रहे थे। इसके अलावा कुछ लोग छोटे वाहनों का सहारा लेकर उसमें खड़े होकर अपने घरों तक जा रहे थे। इस दौरान पैदल चलने वाले लोगों को रास्ते में काफी संख्या में स्वयं सेवी संस्थाएं उनको खाना तक खिलाकर रही थी।उसके बाद आगे के लिए रवाना किया जा रहा था।
... और पढ़ें

खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने किराना स्टोर्स पर जांची उपलब्धता

रामपुर। खाद्य सुरक्षा विभाग और विपणन विभाग की टीम ने बिलासपुर और शाहबाद में दुकानों पर खाद्य सामग्रियों और राशन की उपलब्धता की जांच की। टीम ने देखा कि क्षेत्र में किसी भी खाद्य सामग्री की कमी तो नहीं है, जिससे लोगों को परेशानी हो रही है।
इस दौरान टीम ने बिलासपुर में महेश किराना स्टोर, अमित किराना स्टोर, गुप्ता जनरल स्टोर और जी मार्ट पर खाद्य सामग्री की उपलब्धता चेक की। जिसमें अमित किराना स्टोर पर आटे की आपूर्ति मोहित ट्रेडर्स द्वारा की गई पाई गई। इसके साथ ही सभी दुकानों पर आटा, दाल, चावल आदि पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध पाया गया। टीम में विजयनंद सिंह, पुष्पेंद्र कुमार, अजय कुमार वर्म और महेश चंद्र शामिल रहे। वहीं दूसरी ओर शाहबाद में मंडी सचिव सुंदर लाल और क्षेत्रीय विपणन अधिकारी प्रमोद कुमार ने साहिल चक्की, एमजी इंटरप्राइजेज, विजय जनरल स्टोर और विनय किराना स्टोर पर दाल, चावल, आटा, चीनी आदि की उपलब्धता चेक की, जबकि चक्की पर यह देखा गया कि चक्की पर पिसाई का कार्य चल रहा है या नहीं। निरीक्षण में पर्याप्त स्टॉक पाया गया और चक्की भी चलती पाई गईं।
... और पढ़ें

कंट्रोल रूम में फोन करके पान की फरमाइश करना पड़ा महंगा, चाचा-भतीजे को करनी पड़ी नाली की सफाई

रामपुर। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हुए लॉकडाउन के दौरान लोगों की सुविधा के लिए बने कंट्रोल रूम में चाचा-भतीजे ने पान मंगवाया। कंट्रोल रूम के कर्मचारियों ने जिलाधिकारी को जानकारी दी, इसके बाद दोनों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। बाद में नगर पालिका ने नाले की साफ सफाई कराई। हालांकि, उसके बाद पुलिस ने माफीनामा लिखवाकर दोनों को छोड़ दिया।
कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर लॉकडाउन चल रहा है। सोमवार को लॉकडाउन का छठा दिन रहा। ऐसे में लोगों को घर बैठे ही जरूरी सामान की आपूर्ति की जा रही है। फिर चाहे दवा की जरूरत हो या फिर फल, सब्जी और दूध की आवश्यकता हो। लोगों को किसी भी तरह की दिक्कत न हो, इसके लिए प्रशासन की ओर से कंट्रोल रूम बनाया गया है, जो पूरी तरह से कॉल सेंटर की तरह काम कर रहा है। वहां तीन शिफ्टों में कर्मचारियों को लगाया गया है। 24 घंटे कर्मचारी अपने कर्तव्य का निर्वहन कर रहे हैं, लेकिन कुछ शरारती लोगों ने कंट्रोल रूम का भी मजाक बना दिया है। सोमवार को दो लोगों ने फोन कर पान मंगवाया, इसके बाद कंट्रोल रूम के कर्मचारियों ने जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह को जानकारी दी। जिलाधिकारी ने कोतवाली पुलिस को दोनों को पकड़वाने के आदेश दिए, पुलिस दोनों को लेकर कोतवाली आ गई। नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी डॉ. इंदुशेखर मिश्रा पहुंच गए, जहां दोनों से नाले- नालियों की सफाई कराई गई। अधिशासी अधिकारी ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश के बाद सफाई कराई गई थी।
... और पढ़ें

गांव एवं वार्ड स्तर पर होगी बाहर से आने वालों की पहचान

रामपुर। बाहर से आने वाले लोगों की पहचान की जाएगी। इसके लिए गांव और वार्ड स्तर पर सर्वे कराया जाएगा। इस बाबत जिलाधिकारी ने निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके तहत ग्राम प्रधानों एवं सभासदों को यह जिम्मेदारी दी गई है। यदि किसी सभी सभासद या ग्राम प्रधान ने सूचना छिपाई तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। इन लोगों को घरों में ही क्वारंटीन किया जाएगा।
लॉकडाउन लागू होने के बाद देशभर से लोगों का अपने घरों को लौटना शुरूहो गया है। तमाम जानकारी देने के बाद भी लोग अपनी जानकारी स्वास्थ्य विभाग और प्रशासनिक अफसरों को नहीं दे रहे हैं। ऐसे में अब वार्ड एवं ग्राम पंचायत स्तर पर सर्वे कराया जाएगा। इस सर्वे की जिम्मेदारी संबंधित ग्राम पंचायत के प्रधान एवं वार्ड के सभासद को दी गई है। जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने कहा है कि अब एक तरफ से बाहर से आने वालों को सूचीबद्ध किया जाएगा। पूरी जानकारियां एकत्र होने के बाद इन लोगों को उनके घरों में ही 14 दिनों के लिए क्वारंटीन किया जाएगा। यदि किसी ने इसका उल्लंघन किया तो उसे घर से उठाकर क्वारंटीन सेंटर में लाया जाएगा, जहां 14 दिन पूरे होने के बाद ही उन्हें छोड़ा जाएगा। इसके साथ ही किसी भी ग्राम प्रधान या सभासद ने बाहर से आने वालों की जानकारियां छिपाई और बाद में पता लगा तो संबंधित प्रधान और सभासद के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। कोरोना संक्रमण को पूरी तरह से रोकने के लिए यह काम किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने सभी लोगों से इसमें सहयोग करने की अपील की है।
... और पढ़ें

मजदूरों के ठहरने के लिए बनाए गए शेल्टर होम

मजदूरों के ठहरने के लिए बनाए गए शेल्टर होम
तहसीलों और ब्लॉकों में भी की गई व्यवस्था, लोगों के खाने- पीने का भी इंतजाम
फोटो
संवाद न्यूज एजेंसी
रामपुर। लॉकडाउन के मद्देनजर बाहर से आ रहे मजदूरों और अन्य लोगों के ठहरने के लिए पूरे जनपद में कई शेल्टर होम बनाए गए हैं। आश्रम पद्धति के शेल्टर होम में 92 लोगों को रखा भी गया है। तहसीलों और ब्लॉकों में भी अलग अलग स्थान बनाए जा रहे हैं। लॉक डाउन पूरा होने तक इन सभी को यहीं रखा जाएगा। इस दौरान भोजन और पानी का भी पूरा इंतजाम रहेगा। किसी तरह की परेशानी नहीं होने दी जाएगी।
कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन का एलान किया था। इस लॉकडाउन का मकसद है कि कोरोना वायरस की चेन को तोड़ा जा सके लेकिन, इसके बाद भी दूसरे शहरों और प्रदेशों से लोग बड़े पैमाने पर पलायन कर रहे हैं। पिछले तीन दिनों में ही प्रदेश में हजारों की तादाद में लोग आ चुके हैं। हालांकि, इन लोगों के लिए सरकार की ओर से बसों का इंतजाम किया गया था, जिससे इन लोगों को उनके स्थानों तक पहुंचाया जा सके। ऐसे में भीड़ अधिक होने की वजह से लॉकडाउन का प्रभावी असर नजर नहीं आ रहा था, जिसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने के आदेश दिए। साथ ही प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को निर्देेेश दिए कि जो लोग दूसरे स्थानों से आए हैं उन्हें अब वहीं रोका जाए, जहां वे मौजूदा समय में हैं। उनके रहने, खाने, पीने की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए।
ऐसे में जो बाहर से आए हैं, उन लोगों के लिए जिलाधिकारी ने इंतजाम किया है। रामपुर शहर में रहने के चार स्थान बनाए हैं। इसमें राजकीय आश्रम पद्घति इंटर कालेज, फिजिकल इंस्टीट्यूट, आईटीआई हॉस्टल, मुर्तजा इंटर कालेज में केंद्र बनाए गए हैं। इसमें आश्रम पद्घति में दूसरे स्थानों से आने वाले 92 लोगों को रख भी लिया गया है। यहां इन लोगों के रहने, खाने पीने का भरपूर इंतजाम रहेगा। इसके साथ जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने सभी उप जिलाधिकारियों को यह भी निर्देश दिए हैं कि अपनी अपनी तहसीलों में ऐसे केंद्र बना लें, ताकि लोगों को ठहराया जा सके।
कोट
दिल्ली / एनसीआर सहित दूसरे शहरों से बड़ी संख्या में लोग अपने घर को जा रहे हैं। ऐसे लोगों को ठहरने के लिए जिले में कई शेल्टर होम बनाए गए हैं। ये लोग यहां ठहर सकते हैं। यहां इनके खाने-पीने का भी इंतजाम है। फिलहाल 92 लोग यहां रुके हुए हैं। - आजनेय कुमार सिंह, जिलाधिकारी, रामपुर।
... और पढ़ें

नवरात्र में सोमवार को मां दुर्गा के कात्यायनी स्वरूप की हुई पूजा

रामपुर। नवरात्र में छठें दिन सोमवार को श्रद्धालुओं ने मां कात्यायनी की पूजा-अर्चना की। श्रद्धालुओं ने घरों में पूजन कर माता से शक्ति का वर मांगा।
श्रद्धालुओं ने घरों पर पूजा करते हुए माता का रोली से तिलक कर पुष्प व फल अर्पित कर नवरात्र व्रत कथा का पाठ किया। इसके बाद आरती और दुर्गा चालीसा के पाठ के साथ ही अज्ञारी पूजन किया। अज्ञारी में श्रद्धालुओं ने हवन सामग्री के साथ ही धूप,कपूर, लौंग, सूखे मेवा, मिश्री-मिष्ठान, देशी घी के साथ आहुति देकर पूजन किया। इसके साथ ही कई श्रद्धालुओं ने दुर्गा सप्तशती का पाठ भी किया और इसके साथ कवच, कीलक और अर्गला स्तोत्र का पाठ किया। पंडित नवनीत शर्मा बताते हैं कि नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है। कात्यायन ऋषि की संतान के रूप में जन्म लेने के कारण माता के इस स्वरूप का नाम कात्यायनी पड़ा। श्रद्धालुओं ने पूजन कर मां कात्यायनी से सभी कष्टों से रक्षा कर विपदाओं को दूर करने की मंगलकामना की।
... और पढ़ें

लॉक डाउन का छठा दिन, सड़कों पर सन्नाटा, पैदल जा रहे मजदूरों की संख्या हुई कम

रामपुर। कोरोना वायरस से जंग को घोषित लॉक डाउन के छठे दिन सोमवार को सुबह से ही सड़कों पर सन्नाटा रहा। जिलाधिकारी के आदेश पर सभी दुकानें बंद करा दी गई हैं, लिहाजा खरीददारी के लिए कोई भी बाहर नहीं निकला। जो निकाला उनका चालान पुलिस ने काटा दिया। जिलाधिकारी ने दुकानों को बंद कराके होम डिलीवरी की सुविधा उपलब्ध करा दी है। उन्होंने तो लोगों को कूड़ा फेंकने के लिए भी घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की है।
कोरोना वायरस से जंग में जिले की व्यवस्था जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह संभाले हुए हैं। उनकी नजर जिले में आने वाले लोगों से लेकर आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित कराने पर है। शासन के आदेश के बाद सोमवार को दिल्ली/एनसीआर की ओर पैदल आ रहे मजदूरों को कई जनपदों में रोक दिया गया। इस वजह से हाईवे पर पैदल जाने वाले मजदूरों की संख्या कम रही। इक्का-दुक्का मजदूर सोमवार को हाईवे पर पैदल जाते नजर आए। कुछ मजदूर किसी तरह से जयपुर और दूसरे शहरों से रामपुर आए थे। उनको स्वार तहसील स्थित अपने गांव जाना था। सवारी नहीं मिलने की स्थिति में वो यहां से पैदल ही निकल पड़े।
इसके अलावा सोमवार को शहर में सन्नाटा रहा है। जिन लोगों को लॉक डाउन का पास जारी था वही नजर आए। इसके अलावा किसी वजह से घर से बाहर आए लोगों का चालान पुलिस ने काटा। जिलाधिकारी ने लोगों से अपील की है कि कोई भी अपने घर से बाहर ना निकले। कंट्रोल रूम पर फोन करके दूध, दवा, सब्जी और आवश्यक वस्तु मंगाई जा सकती है। उन्होंने लोगों से इस महामारी से निपटने से में सहयोग की अपील की है।
... और पढ़ें

जिला कारागार से 42 बंदियों को आठ सप्ताह के लिए रिहा

रामपुर। शासन के आदेश के बाद जिला कारागार में बंद 42 बंदियों को आठ सप्ताह के पैरोल पर रिहा कर दिया गया है। संबंधित थानों की पुलिस उनको उनके घर तक पहुंचा देगी।
कोरोना वायरस के चलते पूूरे देेश भर में 21 दिन का लॉक डाउन कर दिया गया था।सभी जगहों पर पुलिस को तैनात कर दिया गया था।लोगों को घर से नहीं निकलने तक की हिदायत दी थी।ताकि इस बीमारी से बचा जा सके। इसी के चलते शासन ने पूूरे यूपी में जेलो में बंद बंदियों की एक लिस्ट मांगी थी।जिसमें सात साल के कम सजा वालें बंदियों को रिहा किया सके।बाद में लिस्ट तैयार करने के बाद शासन को भेज दी गई थी।बाद में शासन ने सभी को छोड़ने के आदेश कर दिए गए थे। सोमवार शाम को जिला कारागार से 42 बंदियों को आठ सप्ताह के लिए छोड़ दिया।इन बंदियों को पुलिस अपने सरकारी वाहन में लेेकर घरों तक छोड़गी। ताकि जेल के बाहर भीड़ नही लग सके।जेल अधीक्षक पीडी सलोनिया ने बताया कि शासन से आदेश मिलने के बाद 42 बंदियों का आठ सप्ताह के छोड़ दिया गया है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us