विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

जानें कौन हैं श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास

राम मंदिर आंदोलन के अहम किरदार रहे अयोध्या के श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास को राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए गए 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाया गया है। जानें, उनके बारे में:

19 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

रामपुर

बुधवार, 19 फरवरी 2020

रामपुर में नवाबों ने बनवाया था पहला शिव मंदिर, विरोध होने पर नवाब कल्बे ने किया था ये काम

आज रामपुर आएंगी राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल, कोसी के संरक्षण पर भी होगी बात

प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल आज रामपुर आएंगी। वह यहां विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत करने के बाद रात्रि विश्राम करेंगी। इसके बाद मंगलवार को सुबह मुरादाबाद के रवाना हो जाएंगी। इस दौरान शहर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहेंगे। चप्पे-चप्पे पर पुलिस फोर्स तैनात रहेगी।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का आगमन सोमवार को होगा। इस बाबत पुलिस प्रशासन की ओर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। वहीं, राज्यपाल का मिनट टू मिनट कार्यक्रम भी आ गया है। राज्यपाल का हेलीकॉप्टर सुबह 10:50 बजे पुलिस लाइन में बने हेलीपैड पर उतरेगा।

इसके बाद वह कार में सवार होकर रजा लाइब्रेरी जाएंगी, जहां पुरस्कार वितरण, विज्ञान प्रदर्शनी आदि में शिरकत करेंगी। दोपहर 12:50 बजे वह दोपहर के भोजन के लिए जाएंगी। दोपहर डेढ़ बजे पढ़े रामपुर बढ़े रामपुर कार्यक्रम में शामिल होंगी।

दोपहर एक बजकर 50 मिनट पर वह विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ बैठक करेंगी। इसके बाद दोपहर 02:10 बजे पर राज्यपाल के समक्ष केंद्र सरकार की योजनाओं को लेकर प्रजेंटेशन पेश करेंगे। दोपहर 02:55 बजे शिशु सदन के लिए रवाना होंगी, इसके बाद दोपहर 03:25 बजे बेनजीर फार्म पर जाकर प्रगतिशील किसान वीरेंद्र सिंह से मुलाकात करेंगी। इसके बाद किसानों के साथ बैठक करेंगी।

दोपहर साढ़े चार बजे आगापुर स्थित कोसी नदी पर पहुंचेंगी, जहां ग्रामीणों से कोसी संरक्षण अभियान के तहत बातचीत करेंगी। इसके बाद शाम को 04:45 बजे ग्राम पटवाई पहुंचेंगी। शाम को पांच बजकर 20 मिनट पर ग्राम पंचायत मनकरा जाएंगी, जहां तालाब का निरीक्षण करेंगी। 05:35 बजे गांधी समाधि स्थित हस्तकला केंद्र पहुंचेंगी, जहां हस्तशिल्पियों से भी मुलाकात करेंगी।

वह शाम को साढ़े छह बजे डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम वीआईपी गेस्ट हाउस के लिए रवाना होंगी, जहां रात्रि विश्राम करेंगी। इसके बाद अगले दिन मंगलवार को कार द्वारा मुरादाबाद के लिए रवाना हो जाएंगी। इस दौरान रामपुर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहेंगे। पुलिस फोर्स तैनात रहेगी।
... और पढ़ें

सवा माह बाद भी नहीं पकड़े जा सके बवाल के कई आरोपी

रामपुर। सवा माह बीत जाने के बाद भी पुलिस बवाल के कई आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल नहीं भेज सकी है। एनआरसी और सीएए को लेकर रामपुर में 21 दिसंबर को बंद और विरोध प्रदर्शन का एलान किया गया था। इसके बाद विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा हो गई थी। जिसमें पुलिस जीप समेत छह वाहन फूंक दिए गए थे और पथराव-आगजनी में कई पुलिस कर्मी भी घायल हुए थे। मामले में पुलिस ने करीब डेढ़ सौ लोगों को नामजद करते हुए हजारों अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी।
21 दिसंबर 2019 को सीएए-एनआरसी के विरोध में रामपुर में बंद और विरोध प्रदर्शन का एलान किया गया था। इसके बाद हजारों की संख्या में लोग अलग-अलग मार्गों से ईदगाह पर पहुंचने की कोशिश कर रहे थे। इस दौरान पुलिस-प्रशासन ने कई स्थानों पर बैरिकेंडिग कर लोगों को रोकने के इंतजाम किए थे लेकिन, हाथीखाना चौराहे के निकट भीड़ हिंसक हो गई और भीड़ ने पुलिस पर पथराव करते हुए आगजनी शुरू कर दी थी। जिसमें पुलिस जीप समेत करीब छह वाहन फूंक दिए गए थे तो कई पुलिस कर्मी घायल हुए थे और एक युवक की भी मौत हो गई थी। मामले में पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर विवेचना शुरू की और आरोपियों की गिरफ्तारी की। पुलिस ने 34 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसके बाद कई लोगों के परिजनों ने पकड़े गए लोगों को बेगुनाह बताते हुए रिहाई की मांग करनी शुरू कर दी। उलमा ने भी पुलिस-प्रशासन से मुलाकात कर बेगुनाहों की रिहाई की मांग उठाई। करीब एक माह तक कुछ न होने पर महिलाओं ने जामा मस्जिद पर प्रदर्शन शुरू कर दिए तो उलमा ने भी प्रशासन को शीघ्र इस मामले में कार्रवाई की बात कही। इस पर पुलिस जांच में 26 आरोपियों से आईपीसी की धारा 302, 307 और 395 हटा दी गई थीं। इसके बाद 26 आरोपियों की जमानत हो चुकी है, जिनमें से 17 लोगों को शनिवार रात जमानत पर रिहा कर दिया गया है। मामले में पुलिस अभी तक सिर्फ 34 लोगों को ही गिरफ्तार कर सकी है, जबकि इसमें करीब डेढ़ सौ लोग नामजद हैं तो हजारों अज्ञात शामिल हैं। पिछले करीब एक माह से न तो किसी अज्ञात आरोपी की शिनाख्त हो सकी है और न ही किसी की गिरफ्तारी हो सकी है।
... और पढ़ें

गांधी समाधि पर पूर्व के स्थान पर ही स्थापित होगी महात्मा गांधी की प्रतिमा

रामपुर। गांधी समाधि पर लगी महात्मा गांधी प्रतिमा अब फिर पुराने स्थान पर आएगी। इसको लेकर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने अफसरों को निर्देश दे दिए हैं। यह प्रतिमा 2016 में सपा सरकार के दौरान हटाई गई थी। प्रतिमा हटाने के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आंदोलन भी किया था, जिसके बाद भी प्रतिमा नये स्थान पर शिफ्ट की गई थी।
दिल्ली में राजघाट के बाद रामपुर में बापू की दूसरी समाधि है। यहां पर बापू की अस्थियां अष्टधातु के कलश में दफन हैं। गांधी समाधि के रख-रखाव की जिम्मेदारी नगर पालिका के पास है। यहां पर स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस व गांधी जयंती के मौके पर ध्वजारोहण होता है। पहले गांधी समाधि पर ही महात्मा गांधी की प्रतिमा लगी थी, 2016 में सपा सरकार के दौरान गांधी समाधि का सौंदर्यीकरण कराया गया था। उस वक्त प्रतिमा को दूसरे स्थान पर शिफ्ट किया गया था। तब से प्रतिमा वहीं स्थापित है। उस वक्त सांसद आजम खां तत्कालीन सरकार में नगर विकास विभाग समेत आठ विभागों के मंत्री थे। प्रतिमा हटाने एवं सौंदर्यीकरण का काम सीएंडडीएस की ओर से कराया गया था। लेकिन, मंगलवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने गांधी समाधि पर पुष्प अर्पित किए। इस दौरान गांधी समाधि स्थल के निरीक्षण के दौरान उनकी जानकारी में यह मामला आया था, जिसके बाद राज्यपाल ने महात्मा गांधी की प्रतिमा पुराने स्थान पर स्थापित कराने के लिए अफसरों को निर्देश दिए हैं।
... और पढ़ें

यूपी बोर्ड परीक्षा : पहले दिन 4237 परीक्षार्थी रहे गैरहाजिर

रामपुर। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं में मंगलवार से शुरु हो गईं। इस दौरान दोनों पॉलियों में 4237 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। परीक्षा के दौरान केंद्रों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहे। दोनों पॉलियों में सचल दल भ्रमण पर रहे।
यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 18 फरवरी से शुरु हो गईं। इसके लिए जिले में 66 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। मंगलवार को हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट का हिन्दी का पेपर था। लिहाजा, सुबह से ही छात्र छात्राओं का अपने अपने परीक्षा केंद्रों पर पहुंचने का सिलसिला शुरु हो गया। परीक्षा केंद्रों पर छात्र छात्राओं की तलाशी के बाद प्रवेश दिया गया। पहली पॉली में 25693 छात्र छात्राएं पंजीकृत थे, जिसमें से 23173 परीक्षा में शामिल हुए। 2520 अनुपस्थित रहे। पेपर सुबह आठ बजे शुुरू हुआ, जबकि सुबह सवा ग्यारह बजे तक चला। दूसरी पॉली में भी इंटरमीडिएट का हिन्दी का ही पेपर था, जिसमें 21345 छात्र छात्राएं पंजीकृत थे, जबकि 19628 उपस्थित रहे। 1717 अनुपस्थित रहे। यह परीक्षा दोपहर दो बजे से शुरु हुई शाम को सवा पांच बजे तक चली। इस दौरान मजिस्ट्रेट एवं सचल दल लगातार परीक्षा केंद्रों के भ्रमण पर रहे। जिला विद्यालय निरीक्षक विनोद कुमार ने बताया कि कुछ परीक्षा केंद्रों पर कक्ष निरीक्षकों ने कार्यभार ग्रहण नहीं किया है। यदि इसी प्रकार की लापरवाही रही तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। सुरक्षा व्यवस्था के लिहाज से सभी परीक्षा केंद्रों पर वायस रिकार्डर युक्त सीसीटीवी कैमरे नजर आए और चालू अवस्था में थे। पुलिस कर्मी भी तैनात रहे।
... और पढ़ें

दास्तान ए रियासत : नवाब रजा अली खां ने रियासतकाल से मुख्यमंत्री बनाने का सिलसिला किया शुरू

रामपुर। देश में भले ही आजादी के बाद मुख्यमंत्री बनने का सिलसिला शुरू हुआ हो लेकिन, रामपुर में रियासत के अंतिम शासक नवाब रजा अली खां ने अपनी रियासत में मुख्यमंत्री बनाने का सिलसिला शुरू कर दिया था। हालांकि उस दौर में आज की तरह लोकतांत्रिक तरीके से मुख्यमंत्री नहीं चुना जाता था और नवाब परिवार के करीबी या रिश्तेदार ही मुख्यमंत्री बने।
रामपुर रियासत ने अपने अंतिम समय में हर क्षेत्र में तेजी से तरक्की की। अंतिम शासक नवाब रजा अली खां ने अपने विवेक का प्रयोग कर सामाजिक ताने-बाने को मजबूती से बुनने के साथ ही नए कार्यों को भी अंजाम दिया। उन्होंने जहां एक ओर शिक्षा और उद्योगों को तेजी से विकसित किया तो वहीं रामपुर रियासत में उनके कार्यकाल में ही पहली बार मुख्यमंत्री भी बनाए गए। नवाब रजा अली खां के कार्यकाल से लेकर रियासत के भारतीय संघ में विलयीकरण तक तीन मुख्यमंत्री बने। इसमें अंतिम मुख्यमंत्री की रियासत के विलयीकरण प्रक्रिया में भी सहभागिता रही।
... और पढ़ें

डीएमए में खुला शहर का पहला ओपन जिम

रामपुर। फिट इंडिया की तर्ज पर दयावती मोदी अकादमी में फिट डीएमए का अभियान शुरू किया गया है। यहां विद्यार्थियों और शिक्षकों के लिए फिटनेस जोन तैयार किया गया, जो अपने आप में शहर का पहला ओपन जिम है। मंगलवार को प्रधानाचार्या डॉ. सुमन तोमर ने फीता काटकर इसका उद्घाटन किया।
बेहतर स्वास्थ्य के लिए आजकल दुनिया भर में जागरूकता फैली हुई है। ज्यादातर लोग स्वस्थ रहने को टहलना, योग, व्यायाम आदि करने लगे हैं। शहर में भी हर इलाके में जिम खुल गए हैं, लेकिन अभी तक शहर में ओपन जिम नहीं खुला था। लिहाजा, अब दयावती मोदी अकादमी में शहर का पहला ओपन जिम खोला गया है। स्कूल के मुख्य द्वार के दांए तरफ एक फिटनेस जोन बनाया गया है, जिसमें आठ उपकरण लगाए गए हैं। ये उपकरण शरीर के सभी भागों का व्यायाम कराते हैं। इन उपकरणों को खास तौर पर मेरठ से मंगवाया गया है। इनमें डबल सिट पैडल, एक्युपमेंट आर्म व्हील, एक्सरसाइज साइकिल, डबल शोल्डर, थाई एंड फुट, चेस्ट प्रेस मशीन, ट्विस्टर, राइडर उपकरण हैं। प्रधानाचार्या डॉ. सुमन तोमर ने कहा कि ओपन जिम स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी है। बंद हाल की अपेक्षा खुले वातावरण में ऑक्सीजन की मात्रा अधिक होती है, जो शरीर को भीतर से स्वस्थ बनाती है। इसलिए, ओपन जिम में व्यायाम करना शरीर और मन के लिए काफी लाभकारी है। बताया कि स्कूल का मुख्य उद्देश्य सभी बच्चों का समग्र विकास करना है। इसके लिए पढ़ाई के साथ साथ स्पोर्टस और स्वस्थ भी होना चाहिए। इसके साथ ही स्टाफ को भी फिट बनाने की कवायद शुरू की गई है। शुरूआती तौर पर अभी आठ उपकरण लगाए गए है, आगे और अधिक उपकरण लगाए जाएंगे। उन्होंने बच्चों और स्टाफ से नियमित तौर पर व्यायाम करने को कहा। इस अवसर पर स्टाफ उपस्थित रहा।
... और पढ़ें

जयपुर के डीआईजी ने जताई रजा लाइब्रेरी देखने की इच्छा

रामपुर। राजस्थान के जयपुुर में डीआईजी के पद पर तैनात आईपीएस अधिकारी संदीप सिंह चौहान ने रजा लाइब्रेरी में मौजूद हिंदी और संस्कृत की पांडुलिपियों से प्रभावित होते हुए लाइब्रेरी भ्रमण की इच्छा जताई है।
जयपुर के जय महल पैलेस में आयोजित कार्यक्रम में डीआईजी संदीप सिंह चौहान और उनके परिवार से पूूर्व मंत्री नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां की मुुलाकात हुुई। जिसमें उन्होंने कहा कि नवाबों द्वारा स्थापित रजा लाइब्रेरी विश्व की प्रसिद्ध लाइब्रेरियों में शामिल है। ऐतिहासिक महत्व की पांडुलिपियों, ताड़पत्रों, पत्रिकाओं तथा कई दुर्लभ 30,000 से भी अधिक पुस्तकों और कई भाषाओं की पत्रिकाओं का संग्रह है। हिन्दी, संस्कृत, उर्दू, तमिल, तुर्की और पश्तो साहित्य जैसी दुर्लभ पुस्तकों का खजाना रजा लाइब्रेरी में है, जिससे वो बेहद प्रभावित हैं। इसलिए वह रजा लाइब्रेरी आना चाहते हैं। नवेद मियां के पीआरओ काशिफ खां ने बताया कि इस दौरान नवेद मियां ने भी उन्हें रजा लाइब्रेरी से जुड़ी अन्य जानकारियां दीं।
... और पढ़ें

आजम खां के बेटे के जन्म प्रमाण पत्र व दो पैन कार्ड मामले में अग्रिम जमानत पर सुनवाई आज

रामपुर सांसद आजम खां, पत्नी डॉ. तंजीन फात्मा और बेटे अब्दुल्ला आजम खां की अग्रिम जमानत पर आज यानी बुधवार को सुनवाई होगी। तीनों लोगों पर दो अलग-अलग मामलों में अग्रिम जमानत के लिए मंगलवार को सुनवाई होनी थी, लेकिन अब यह सुनवाई आज होगी।

भारतीय जनता पार्टी के नेता आकाश सक्सेना ने अब्दुल्ला आजम खां के दो-दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के मामले में आजम खां, डॉ. तंजीन फात्मा और अब्दुल्ला आजम खां के खिलाफ सिविल लाइंस थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। इस मामले में सपा सांसद आजम खां, अब्दुल्ला आजम और तंजीन फात्मा की ओर से अग्रिम जमानत याचिका दायर की है। 

इसके अलावा पैन कार्ड के मामले में भी सपा सांसद आजम खां और विधायक अब्दुल्ला आजम ने अग्रिम जमानत याचिका दायर की है। इन दोनों मामलों में एमएलए-एमपी स्पेशल कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई मंगलवार को होनी थी। 

सहायक शासकीय अधिवक्ता राम औतार सैनी ने बताया कि मंगलवार को अधिवक्ताओं की हड़ताल के कारण सुनवाई नहीं हो सकी थी। इसके साथ ही पासपोर्ट मामले में भी अग्रिम जमानत पर सुनवाई बुधवार 19 फरवरी को होगी।
... और पढ़ें

राज्यपाल ने किया कोसी किनारे पूजन, तट पर लगाई लैमन ग्रास

रामपुर। राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल ने कोसी संरक्षण अभियान का जायजा लिया। उन्होंने कोसी तट पर पूजन किया, जिसके बाद तट पर लैमनग्रास भी लगाई। कहा कि इसी के जरिए कोसी नदी को संरक्षित किया जा सकता है।
ग्राम पंचायत आगापुर में कोसी नदी जल संरक्षण अभियान के अन्तर्गत राज्यपाल ने कोसी नदी तट का निरीक्षण किया तथा पूजा-अर्चना के साथ ही लैमन ग्रास भी लगाई तथा कहा कि इससे कोसी नदी तट के कटान को भी रोका जा सकेगा। उन्होंने कहा कि नदी के संरक्षण में आमजन की सहभागिता भी सुनिश्चित कराएं। इसके लिए ग्रामीणजनों को प्रोत्साहित करें, तभी नदी संरक्षण को प्रभावी रूप से सफल बनाया जा सकेगा। उन्होंने नदी तट पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए ग्रामीणजनों को अपने बच्चों को बेहतरीन शिक्षा प्रदान करने के साथ ही लैमनग्रास या अन्य पौधों के औषधीय महत्व के बारे में विस्तारपूर्वक बताया। उन्होंने कहा कि देश में मानव गतिविधियों के कारण नदियां प्रदूषित एवं विलुप्त होती जा रही हैं। नदियों के महत्व को समझना होगा तथा उनके संरक्षण में प्रत्येक व्यक्ति की भागीदारी सुनिश्चित करानी होगी। पटवाई स्थित तालाब के निरीक्षण के दौरान उनहोंने माटी कला से जुड़े विभिन्न उत्पादों के स्टॉल का निरीक्षण किया तथा मिट्टी से बने बर्तनों की प्रशांसा की। उन्होंने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि जल संरक्षण वर्तमान की सबसे बड़ी आवश्यकता है। इसके लिए तालाबों में बरसात के पानी का संरक्षण बेहत जरूरी है। तभी भविष्य में जल संकट को रोकने में कामयबी मिल सकेगी। प्लास्टिक एवं पॉलीथिन के उपयोग की बजाय उन्होंने पर्यावरण को नुकसान न पहुंचने वाले उत्पादों के उपयोग को भी प्रोत्साहित किया। साथ ही कुल्हड़ व मिट्टी के अन्य बर्तनों के उपयोग से मानव स्वास्थ्य को होने वाले फैयादे भी गिनाए। इस मौके पर राज्य मंत्री बलदेव सिंह औलख, जिला अधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्रा, एडीएम राजस्व राम भरत तिवारी, एडीएम प्रशासन जेपी गुप्ता, माटी कला बोर्ड के सभापति राजीव लोचन, बीडीओ वरुण चतुर्वेदी, अमित भटनागर, जागेश्वर दयाल दीक्षित, प्रेमपाल यादव, अर्चना गंगवार, प्रेम शंकर पांडे, ऋषि पांडे, राकेश गुप्ता आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

परिषदीय स्कूलों में नामांकन बढ़ाने के लिए शिक्षक निभाएं सक्रिय भूमिका

रामपुर। प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने पढ़े रामपुर बढ़े रामपुर और केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रहीं विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति एवं जनपद में टीबी रोग पर प्रभावी रोकथाम एवं उपचार की दिशा में चलाए जा रहे कार्यक्रम के बारे में विस्तारपूर्वक समीक्षा की।
रामपुर रजा लाइब्रेरी के रंग महल में जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे अत्यन्त महत्वूपर्ण 48 योजनाओं एवं जनकल्याणकारी कार्यक्रमों के बारे में प्रगति की विस्तारपूर्वक प्रस्तुतीकरण किया, जिस पर राज्यपाल ने प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों के नामाकंन की स्थिति में अधिक सुधार लाने के लिए अध्यापकों को और अधिक सक्रियता के साथ अभिभावकों को प्रोत्साहित करने के लिए जरूरी कदम उठाने के लिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ऐश्वर्या लक्ष्मी को निर्देशित किया। साथ ही आंगनवाड़ी केन्द्रों पर पोषण अभियान को साकार रूप प्रदान करने के लिए अधिक सक्रियता के साथ कार्य करने के लिए जिला कार्यक्रम अधिकारी राजेश कुमार को निर्देशित किया। पढ़े रामपुर बढ़े रामपुर के अन्तर्गत बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को राज्यपाल ने सम्मानित किया। साथ ही टीबी रोगियों को उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए पोषण किट प्रदान की। कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा वर्ष 2025 तक देश से टीबी को मिटाने का संकल्प लिया गया है, जिसे साकार रूप देने के लिए अधिकारियों के साथ-साथ आमजन एवं विभिन्न स्वयंसेवी संगठनों की भूमिका अत्यन्त महत्वपूर्ण है। उन्होंने जनपद में टीबी रोगियों को गोद लेने वाले पांच लोगों को भी सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य की देखभाल में कोई कमी न आए, इसके लिए गम्भीर रहें तथा प्रत्येक अधिकारी कम से कम एक टीबी रोगी की देखभाल का भी जिम्मा लें। इससे समाज को एक नई दिशा मिलेगी तथा टीबी उन्मूलन को और अधिक गति मिल सकेगी। राज्यपाल ने शिशु सदन पहुंचकर बच्चों के बीच समय बिताया तथा उनसे बातचीत की। उन्होंने शिशु सदन की विभिन्न व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया तथा बच्चों से प्रार्थना सुनी एवं उन्हें पढ़ाए जाने वाले विभिन्न विषयों के बारे में जाना। तत्पश्चात्, बच्चों को फल एवं सुपोषण किट प्रदान करते हुए बच्चों की देखभाल करने वाले स्टाफ को निर्देशित किया कि वे बच्चों को नियमित रूप से सूखे मेवे एवं फल आहार के रूप में दें, ताकि उनका पोषण स्तर बेहतर बना रहे।
... और पढ़ें

21 दिसंबर हिंसा प्रकरण में नौ लोग जेल से हुए रिहा

रामपुर। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में रामपुर में 21 दिसंबर को हुए बवाल के मामले में गंज थाने में दर्ज हुए मुकदमे में 26 आरोपियों को गुरुवार को सेशन कोर्ट से जमानत मिल गई थी। इससे पहले इसी मामले में कोतवाली में दर्ज मुकदमे में 15 आरोपियों को जमानत मिल गई थी। जिसके बाद 17 आरोपियों को शनिवार रात जेल से जमानत पर रिहा कर दिया गया था बचे नौ आरोपियों को सोमवार शाम को जेल से रिहा कर दिया गया है।
21 दिसंबर को सीएए व एनआरसी के खिलाफ हुए हिंसक प्रदर्शन के मामले में पुलिस अभी तक 34 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। इस मामले में तीन अलग-अलग मुकदमे दर्ज हुए थे। विवेचना के दौरान पुलिस ने 26 आरोपियों पर से गंभीर धाराएं हटा दी थीं। इसके बाद कोतवाली में दर्ज मुकदमे में 15 आरोपियों को कोर्ट से पहले जमानत मिल गई थी।गुरुवार को गंज थाने में दर्ज मुकदमे के 26 आरोपियों की जमानत पर सेशन कोर्ट में सुनवाई हुई थी।जिसके बाद कोर्ट ने सभी की जमानत मंजूर कर ली थी।जिसमे शनिवार को 17 लोगों को जेल से रिहा कर दिया गया था। बचाव पक्ष के अधिवक्ता सैयद आमिर मियां ने बताया कि सोमवार शाम को बचे आरोपी नाजिर, अफरोज,समर, अनस, रईस, फईम, मोहम्मद आबिद ,जाकिर और दानिश को रिहा कर दिया गया है।
... और पढ़ें

द़स्तान ए रियासत : रियासत काल में उद्योग स्थापना ने भरी थी उड़ान..

रामपुर। रियासत काल की शुरुआत में भले ही उस वक्त के पुश्तैनी कारोबार रोजगार का जरिया रहे हों लेकिन, अंतिम शासक नवाब रजा अली खां ने रामपुर को उद्योग नगरी के रूप में विकसित किया। उनके प्रयासों से रामपुर में करीब 33 सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के कारखानों की स्थापना हुई। जिससे रामपुर ने उद्योगों के क्षेत्र में ऊंची उड़ान भरी।
नवाब रजा अली खां ने जब रियासत की बागडोर संभाली तो उस वक्त रोजगार या शहर के लोगों की आर्थिक स्थिति अधिक मजबूत नहीं थी। इस आर्थिक संकट से लोगों को उबारने के लिए नवाब रजा अली खां ने उद्योगों के विकास की योजना बनाई और उन्हें जमीनी हकीकत भी प्रदान की। नवाब रजा अली खां ने घरेलू उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए इंडस्ट्रियल बोर्ड का गठन किया। इसके साथ ही अंग्रेज उद्योगपति ई ग्रांट गोन रेमंड को रामपुर में चीनी मिल लगाने के लिए राजी किया।
रियासतकाल के जानकार एडवोकेट शौकत अली खां की पुस्तक रामपुर का इतिहास में रामपुर के उद्योग नगरी के रूप में विकसित होने की यह तमाम जानकारियां हैं। जिसके मुताबिक ई ग्रांट गोवन रेमंड ने रामपुर में 20 जनवरी 1933 को रजा शुगर फैक्टरी बनाई और यहां के 1039 लोगों को रोजगार दिया। इसके बाद गोवन दूसरी फैक्टरी बुलंदशहर में लगाना चाहते थे लेकिन, नवाब रजा अली खां ने उन्हें यह दूसरी फैक्टरी भी रामपुर में ही लगाने के लिए राजी किया। जिसके बाद रामपुर में 7 फरवरी 1936 को बुलंद शुगर फैक्टरी का उद्घाटन किया गया। इसके बाद लगातार रामपुर में उद्योगों ने तेजी से पैर पसारे। साल 1938 में सर ज्वाला प्रसाद श्रीवास्तव ने बीस हजार तकलों और पांच सौ करघों के साथ रजा टैक्सटाइल की शुरुआत की प्रक्रिया शुरू की, जिसकी नवाब रजा अली खां ने 1939 में आधारशिला रखी। इसके साथ ही रामपुर में हिंदुस्तान प्रोड्क्टस बरेली से फ्रूट फैक्टरी, गोविंदराम सेवा राम कंपनी कोलकाता से तेल मिल की स्थापना का भी करार हुआ।
इन फैक्टरियों की स्थापना के बाद रामपुर में उद्योग लगाने को लेकर होड़ सी मच गई और एक के बाद एक करीब 33 सार्वजनिक व निजी उद्योगों की स्थापना हुई।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us