विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

IPS बनी गोरखपुर की बेटी एमन, सीएम योगी ने मुस्लिम लड़कियों के लिए बताया रोल मॉडल

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहर की एमन जमाल का भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) में चयन होने पर शुभकामनाएं दीं।

10 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

सहारनपुर

मंगलवार, 10 दिसंबर 2019

खनन सामग्री से लदे ट्रक ने ली बाइक सवार युवक की जान

सरसावा (सहारनपुर)। सरसावा थाना क्षेत्र में खनन वाहनों के कारण दुर्घटनाओं का सिलसिला कम होने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को भी ग्राम कुतुबपुर के निवासी एक युवक को खनिज सामग्री से लदे ट्रक ने अपनी चपेट में ले लिया। इससे युवक की मौत हो गई। हादसे के बाद चालक ट्रक को बीच सड़क पर छोड़कर भाग गया। नाराज लोगों ने एसओ के सामने खनन सामग्री से लदे वाहनों की आवाजाही पर रोक लगाने को लेकर आक्रोश जताया।
ग्राम कुतुबपुर के ग्राम प्रधान के प्रतिनिधि कमल राणा ने बताया कि गांव के सुनील शर्मा का युवा पुत्र सचिन 24 वर्ष यमुनानगर की किसी फैक्ट्री में नौकरी करता था और रोजाना बाइक से आता जाता था। सोमवार को भी सचिन सुबह आठ बजे के करीब घर से यमुनानगर जाने के लिए बाइक लेकर निकला। जैसे ही सचिन गांव से कुछ दूर पहुंचा ईदगाह के पास सामने से आ रहे रेत से भरे 10 टायरा ट्रक ने सचिन को टक्कर मारी तो वो गिर गया और ट्रक का टायर उसके हेलमेट को चकनाचूर कर सिर को कुचलते हुए निकल गया, जबकि उसकी बाइक ट्रक के साथ काफी दूर तक घिसटती रही। घटना में युवक की मौके पर ही मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलने पर एसओ सरसावा प्रमोद कुमार भी मौके पर पहुंचे तो ग्रामीणों ने खनिज सामग्री से लदे ओवरलोड ट्रकों और डंपरों पर रोक लगाने की मांग करते हुए घटना पर आक्रोश जताया। शाहजहांपुर पुलिस चौकी इंचार्ज उपनिरीक्षक राहुल देशवाल ने बताया कि युवक का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा, वहीं ट्रक को कब्जे में ले लिया, जबकि चालक पुलिस के पहुंचे से पहले ही ट्रक को छोड़कर भाग निकला। मामले में तहरीर आने के बाद मुकदमा दर्ज कर दिया जाएगा।
बड़ा हादसा टला, रेत से भरा डंपर, ट्राली से टकराया
सुबह आठ बजे जिस समय पुलिस और ग्रामीण घटनास्थल के पास खड़े थे एक और गंभीर हादसा होने से टल गया। प्रधान के प्रतिनिधि कमल राणा ने बताया कि हादसे के कारण रास्ता बाधित हो गया और सुबह धुंध भी थी और घटनास्थल पर पुलिस के साथ ग्रामीणों की भीड़ जमा थी। इसी बीच अंधाधुंध रफ्तार से दौड़ता हुआ रेत से भरा एक डंपर आया और तंग रास्ते से निकल रही एक ट्रॉली से जा टकराया। गनीमत रही की ट्रॉली को टक्कर मारकर डंपर रुक गया नहीं तो सड़क किनारे खड़े कई लोग उसकी चपेट में आकर जान गंवा बैठते। मौके पर मौजूद पुलिस ने फौरन ही डंपर को कब्जे में लेकर चालक को हिरासत में ले लिया।
... और पढ़ें

कचरा डालना हुआ बंद, डाले गए कचरे को भी मिट्टी से ढकवाया

कचरा डालना हुआ बंद, डाले गए कचरे को भी मिट्टी से ढकवाया
सहारनपुर। ढमोला किनारे डंपिंग ग्राउंड बनाने पर अमर उजाला द्वारा चलाया गया अभियान रंग लाया है। अंतत: नगर निगम के अधिकारियों की नींद टूटी है, जिन्होंने सोमवार को मौके पर पहुंचकर स्थानीय लोगों से मुलाकात की और समस्या के निस्तारण का आश्वासन दिया। इतना ही नहीं, कचरा डालना भी बंद कर दिया है। पूर्व में डाले गए कचरे को मिट्टी से ढकवा दिया गया है।
अमर उजाला ने पांच दिसंबर के अंक में किनारे पर बना दिया डंपिंग ग्राउंड, ढमोला नदी हो रही जहरीली शीर्षक से समाचार प्रमुखता से प्रकाशित किया था। यह अभियान की शुरूआत थी। समाचार प्रकाशित होते ही कमिश्नर संजय कुमार ने नगरायुक्त से आख्या तलब की थी, जिसका समाचार छह दिसंबर को प्रकाशित किया गया। सात दिसंबर को डंपिंग ग्राउंड मामले में शासन को गुमराह करता रहा नगर निगम शीर्षक से समाचार प्रकाशित हुुआ। इस मामले में क्षेत्रवासी कमिश्नर से भी मिलने पहुंचे थे। स्थानीय लोगों ने अमर उजाला के प्रयास को सराहते हुए धन्यवाद पत्र संपादक के नाम लिखा था। आठ दिसंबर के संस्करण में अपनी लापरवाही पर मिट्टी डाल रहा नगर निगम टाइटल से समाचार प्रकाशित किया गया। इस मामले को क्षेत्रीय विधायक मसूद अख्तर ने भी सराहा और 17 दिसंबर से शुरू हो रहे विधान सभा के शीतकालीन सत्र में मुद्दे को उठाने का आश्वासन दिया। इस समाचार को नौ दिसंबर के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित किया गया। लगातार समाचार प्रकाशित करने के बाद से नगर निगम के अधिकारियों में हड़कंप की स्थिति है। नौ दिसंबर यानी सोमवार को नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर गीताराम अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और स्थानीय लोगों से मुलाकात की। उन्होंने बताया कि ढमोला नदी क्षेत्र में कचरा डाला जाना बंद कर दिया गया है। कचरे को ढक दिया गया है। क्षेत्रवासियों की समस्याओं को दूर करने का आश्वासन दिया गया।
ढमोला नदी पर कचरा डालने के मामले में नगर स्वास्थ्य अधिकारी को चेतावनी पत्र दिया गया है। कचरा डालना बंद कराने के साथ ही पूर्व में डाले गए कचरे पर मिट्टी डालकर उसे ढक दिया गया है।- ज्ञानेंद्र सिंह, नगरायुक्त।
डंपिंग ग्राउंड पर कूड़ा डालना बंद करने के बाद मिट्टी डालकर उसे पाटने का काम किया गया।
डंपिंग ग्राउंड पर कूड़ा डालना बंद करने के बाद मिट्टी डालकर उसे पाटने का काम किया गया।- फोटो : SAHARANPUR
... और पढ़ें

कितनी हैं अवैध कॉलोनियां और निर्माण, अधिकारी अंजान

सहारनपुर। अवैध कॉलोनियों और निर्माणों पर अंकुश लगाने का जिम्मा जिस विभाग पर है, उसके अधिकारियों को ही मालूम नहीं है कि शहर में कितनी अवैध कॉलोनियां हैं। इससे भी हैरानी वाली बात यह है कि वर्ष 2005 के बाद यानी बीते 14 साल से अवैध कॉलोनियों की कोई सूची तैयार नहीं की गई है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि अवैध कॉलोनियों और निर्माणों को लेकर विकास प्राधिकरण के अधिकारी कितने गंभीर हैं।
विकास प्राधिकरण ने अपने कार्यक्षेत्र को 12 जोन में बांटा हुआ है। प्रत्येक जोन में एक सहायक और एक अवर अभियंता के साथ ही एक लिपिक और मेट भी है। मेट और अभियंताओं की जिम्मेदारी होती है कि वह अपने क्षेत्रों में चल रहे अवैध निर्माणों और अवैध कॉलोनियों पर नजर रखें तथा उनको नियमित कराएं, जिससे प्राधिकरण को राजस्व प्राप्त हो। मगर विकास प्राधिकरण की कहानी कुछ और ही चल रही है। वर्तमान में शहर में कितनी अवैध कॉलोनियां कट रही हैं इस संबंध में जब एक्सईएन एके मिश्रा से बात हुई तो उन्होंने कहा कि संबंधित लिपिक जिले सिंह के पास अवैध कॉलोनियों की पूरी लिस्ट है। जिले सिंह से जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि 2005 के बाद अवैध कॉलोनियों की कोई लिस्ट तैयार नहीं की गई है। यह स्थिति तब है, जबकि शहर के चारों ओर अवैध कॉलोनियां कट रहीं हैं।
इन मार्गों पर हैं अवैध कॉलोनियां
वैसे तो पूरे शहर में अवैध कॉलोनियां काटी जा रहीं हैं, मगर जिन मार्गों पर अधिक कॉलोनियां काटी जा रही हैं। उनमें शकलापुरी मार्ग, बेहट रोड, देहरादून रोड, जनता रोड पर तो कॉलोनियों के साथ ही फ्लैट भी बनाए जा रहे हैं। नवादा रोड, गलीरा रोड, मानकमऊ क्षेत्र, अंबाला रोड, देहरादून रोड, दिल्ली रोड, पेपर मिल रोड और मल्हीपुर रोड शामिल है।
कार्यवाहकों के भरोसे विकास प्राधिकरण
विकास प्राधिकरण प्रमुख विभागों में से एक है, लेकिन प्राधिकरण में स्थाई अधिकारी ही नहीं हैं। नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह के पास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष का अतिरिक्त चार्ज है, जिसमें वह पूरा समय नहीं दे पाते हैं, क्योंकि उन पर नगर निगम के साथ ही स्मार्ट सिटी की भी जिम्मेदारी है। इसके अलावा अपर आयुक्त डीपी सिंह पर प्राधिकरण के सचिव पद का अतिरिक्त कार्यभार है। सचिव पद बीते करीब डेढ़ साल से खाली है। डीपी सिंह से पहले विजय शुक्ला इस पद पर कार्यवाहक के तौर पर रहे।
अवैध कॉलोनियों की सूची बनाने की जिम्मेदारी लिपिक की है। लिपिक ने जो बात कही है कि 2005 के बाद सूची नहीं बनी है वह गलत है। मेरे ख्याल से 2008 के बाद सूची नहीं बनी है। मगर ऐसा नहीं है कि अवैध कॉलोनियों पर हमारी नजर नहीं है। प्रत्येक जोन के अधिकारियों के पास अपने-अपने जोन की सूची रहती है।
एके मिश्रा, एक्सईएन, विकास प्राधिकरण।
अवैध कॉलोनियों की एक सूची होनी चाहिए, जो तैैयार नहीं की गई है। सभी जोन के जिम्मेदार लोगों से सूची लेकर एक फाइनल लिस्ट तैैयार कराई जाएगी, साथ ही अभियान चलाकर अवैध कॉलोनियों पर कार्रवाई भी की जाएगी।
डीपी सिंह, कार्यवाहक सचिव, विकास प्राधिकरण।
रामनगर स्थित अवैध कॉलोनी
रामनगर स्थित अवैध कॉलोनी- फोटो : SAHARANPUR
... और पढ़ें

किसानों ने किया प्रदर्शन, अधिकारियों को जमीन पर बैठाया

सरसावा (सहारनपुर)। भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने मासिक पंचायत के बाद गन्ना भुगतान तथा गन्ना पर्चियों के अनियमितीकरण और गन्ने की पत्ती तथा पराली जलाने में किसानों पर दर्ज मुकदमों को समाप्त करने को लेकर सहकारी चीनी मिल पर जोरदार प्रदर्शन किया । मिल प्रशासन तथा प्रदेश सरकार के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए भाकियू कार्यकर्ताओं ने मिल के प्रधान प्रबंधक तथा सहकारी समिति के सचिव का घेराव करते हुए अपने साथ जमीन पर बैठा लिया तथा मांगों के संबंध में ठोस आश्वासन मांगा।
सोमवार को नकुड़ रोड स्थित विकास खंड कार्यालय परिसर में भाकियू की मासिक बैठक आयोजित की गई। जिसमें गन्ना पत्ती तथा पराली जलाने पर किसानों का उत्पीड़न, गन्ना भुगतान, सहकारी समिति की गन्ना पर्ची वितरण की खराब व्यवस्था तथा गन्ने के ओवरलोड वाहनों की चर्चा की गई। बैठक के उपरांत दोपहर साढ़े बारह बजे के करीब दर्जनों की संख्या में भाकियू कार्यकर्ता सहकारी चीनी मिल के प्रशासनिक परिसर में पहुंचे तथा प्रदेश सरकार और मिल प्रशासन का विरोध करते हुए नारेबाजी करते हुए धरना देकर बैठ गए। गुस्साए किसानों ने चीनी मिल के प्रधान प्रबंधक सीएस शर्मा तथा सहकारी गन्ना समिति के सचिव ओमवीर सिंह एवं गन्ना अधिकारी राजेश कुमार का घेराव करते हुए अपने बीच बैठा लिया। भाकियू की युवा विंग के जिलाध्यक्ष मेवाराम चौधरी ने कहा कि सरसावा चीनी मिल का पेराई सत्र आरंभ हुए एक माह से भी ज्यादा का समय बीत चुका है, लेकिन अभी तक किसानों को पुराने सत्र का करीब 10 करोड़ तथा वर्तमान सत्र का एक भी रुपया भुगतान नहीं मिला है। ऐसे में किसान अपना गुजारा कैसे करेगा। युवा विंग जिलाध्यक्ष ने कहा कि यदि पराली जलाने को लेकर किसानों पर दर्ज मामले रद्द नहीं हुए तो भाकियू प्रशासनिक कार्यालयों को पराली तथा पत्ती से भर देगी। बबलू चौधरी ने कहा कि सहकारी समिति की ऑन लाइन पर्ची निर्गमन की स्थिति इतनी खराब है कि किसानों का गन्ना खेतों में खड़ा है, जबकि गेहूं की बुवाई का सीजन निकला जा रहा है। सरदार हरी सिंह ने कहा कि मिल से निकलने वाली छाई के कारण जहां घरों में काली परत जम गई है वहीं श्वांस रोगियों की संख्या भी बढ़ रही है। असलम चौधरी ने गन्ने के ओवरलोड ट्रालों पर रोक लगाने की मांग की। ईश्वर चौधरी ने कहा यदि मिल प्रशासन अपने रवैये में सुधार नहीं लाता तो भाकियू कार्यकर्ता धरना देने को मजबूर होंगे। ब्लॉक अध्यक्ष सरदार भूपेंद्र सिंह ने कहा कि 11 दिसंबर को राष्ट्रीय नेतृत्व के आह्वान पर राष्ट्रीय राजमार्ग जाम किए जाएंगे। किसानों के बीच बैठे प्रधान प्रबंधक ने कहा कि 17 दिसंबर को सहकारिता बोर्ड की लखनऊ में बैठक है। जिसमें लिमिट का प्रस्ताव होने के बाद गन्ना भुगतान कर दिया जाएगा। पंचायत की अध्यक्षता डॉ देवी चंद गुप्ता तथा संचालन सरदार हरि सिंह ने किया। तहसील संगठन मंत्री देवेंद्र चौधरी, भीम सिंह चौधरी, उमेश शर्मा, प्रमोद राणा, रूपेंद्र सिंह, प्रताप सिंह, यामीन, कमलजीत सिंह, मलकीत, करनैल, चंदन, सतनाम, मदनपाल, सुरेंद्र आदि दर्जनो भाकियू कार्यकर्ता मौजूद रहे।
... और पढ़ें
सरसावा में सहकारी चीनी मिल में भाकियू कार्यकर्ताओं के बीच बैठे जीएम सीएस शर्मा और सचिव ओमवीर सिं? सरसावा में सहकारी चीनी मिल में भाकियू कार्यकर्ताओं के बीच बैठे जीएम सीएस शर्मा और सचिव ओमवीर सिं?

भाव नहीं बढाने के विरोध में रालोद ने फूंका गन्ना

सहारनपुर। लगातार दूसरे वर्ष भी गन्ना मूल्य नहीं बढ़ाए जाने से खफा राष्ट्रीय लोकदल कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट तिराहे पर प्रतीकात्मक तौर पर गन्ने की होली जलाई। उन्होंने प्रदर्शन कर राज्यपाल के नाम ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर दीप्ती देव यादव को सौंपा। उन्होंने आरोप लगाया कि देश में बलात्कार की घटनाओं में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। उन्होंने उन्नाव कांड की पीड़िता के परिजनों को दो करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता देने की मांग की।
सोमवार को कलक्ट्रेट परिसर में जिलाध्यक्ष राव कैसर सलीम और प्रदेश महासचिव चौधरी धीर सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा घोषित गन्ना मूल्य नाकाफी है। उन्होंने कहा कि गन्ने की फसल की लागत में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है, लेकिन दो वर्ष में गन्ना मूल्य में एक भी रुपये की भी वृद्धि नहीं हुई है। यह भाजपा सरकार की किसान विरोधी मानसिकता का परिचायक है। उन्होंने बकाया गन्ना मूल्य का ब्याज सहित भुगतान कराने और मौजूदा पेराई सत्र में 450 रुपये प्रति क्विंटल गन्ना मूल्य घोषित करने की मांग की।
उन्नाव कांड पर रोष जताते हुए उन्होंने कहा कि देश में बलात्कार की घटनाओं में बढ़ोत्तरी हो रही है। उन्होंने प्रदेश सरकार पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए कहा कि देश में हर 15 मिनट में बलात्कार की एक घटना हो रही है। उन्होंने उन्नाव कांड के दोषियों को फांसी की सजा दिलाने और पीड़िता के परिजनों को दो करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता देने की मांग की। पूर्व जिलाध्यक्ष चौधरी अयूब हसन, चौधरी अर्जुन सिंह, धनवीर सिंह, सागर चौधरी, रमेश चौहान, नीरज पूनिया, जय भगवान, रामपाल, राजवीर सिंह, विक्रम सिंह गुर्जर, प्रीतम सिंह सैनी, सतपाल कालड़ा, राव इरफान, राव फरमान, राव आरिफ, फुरकान, प्रवेश कश्यप, विशाल कांबोज, महावीर सिंह सैनी, राव शाकिर, श्रवण कांबोज, कुशलपाल सिंह, राव शहजाद, अशफा आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

मेगा ब्लॉक हटा, रेलयात्रियों को बड़ी राहत

आठ घंटे के मेगा ब्लॉक के हटते ही रेलयात्रियों को मिली राहत
सहारनपुर। सरसावा-कलानौर के बीच रविवार के आठ घंटे के मेगा ब्लॉक के हटते ही रेल यात्रियों को बड़ी राहत मिली है। हरियाणा, पंजाब सहित अन्य राज्यों की ओर से आने वाली ट्रेनों का फिर से संचालन शुरू होने के कारण सोमवार को स्टेशन पर फिर से यात्रियों की भीड़ जुट गई। सुबह से शाम तक टिकट विंडों से लेकर प्लेटफार्मों तक यात्री नजर आए।
बता दें कि रविवार को सरसावा-कलानौर के बीच निर्माण के चलते आठ घंटे का ब्लॉक रहा। इस वजह से अंबाला-सहारनपुर पैसेंजर रद्द रही जबकि लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेनें बदले हुए रूट से चलीं। इस कारण यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। ब्लॉक से 64502 अंबाला-सहारनपुर पैसेंजर, 54541 मेरठ-अंबाला पैसेंजर सहारनपुर-अंबाला, 54540 निजामुद्दीन पैसेंजर अंबाला-सहारनपुर, 54304 कालका-दिल्ली पैसेंजर अंबाला-दिल्ली के बीच प्रभावित रहीं।
ब्लॉक खुलने के बाद 15012 चंडीगढ़-लखनऊ एक्सप्रेस, 54539 निजामुद्दीन-अंबाला पैसेंजर सहारनपुर-अंबाला, 64513 सहारनपुर-नंगलडैम पैसेंजर सहारनपुर-अंबाला, 12054 अमृतसर-हरिद्वार जन शताब्दी एक्सप्रेस सहित अन्य आंशिक रूप से निरस्त ट्रेनों का संचालन शुरू हो गया। वहीं, बदले रूटों पर चलीं 14617 बनमनखी-अमृतसर जनसेवा एक्सप्रेस, 14618 अमृतसर-बनमनखी जनसेवा एक्सप्रेस, 12357 कोलकत्ता-अमृतसर, 22552 जालंधर-दरभंगा एक्सप्रेस, 12588 जम्मूतवी-गोरखपुर एक्सप्रेस को भी रूटीन के रूटों पर संचालित कर दिया गया। हालांकि कोहरे के कारण कई ट्रेनें तीन से पांच घंटे देरी से चलीं।
22 दिसंबर को फिर मेगा ब्लॉक के लिए तैयार रहें यात्री
सहारनपुर। इस मेगा ब्लॉक से तो यात्रियों को राहत मिल गई। लेकिन उन्हें 22 दिसंबर को फिर से ऐसे ही ब्लॉक के कारण ट्रेनों के लिए जूझना पड़ेगा। वरिष्ठ स्टेशन अधीक्षक कपिल शर्मा का कहना है कि इसी रेल मार्ग पर पिलखनी के पास फिर से निर्माण कार्य प्रस्तावित है। इसलिए इस दिन भी लगभग इतने ही समय के लिए ट्रेनों का संचालन प्रभावित रहेगा।
... और पढ़ें

लाखों वर्ष पुरानी है भारतीय संस्कृति: अवधेशानंद

सहारनपुर। जूना पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर आचार्य अवधेशानंद गिरि महाराज ने कहा कि भारतीय संस्कृति लाखों वर्ष पुरानी है। युवाओं को संस्कृति को बचाए रखना है। मनुष्य की जो भी समस्याएं हैं, वह अज्ञानता के कारण है। सबसे हमें अपनी अज्ञानता को दूर करना होगा।
जनमंच सभागार में भारत का ऐतिहासिक गौरव व सांस्कृतिक पृष्ठभूमि और युवाओं की भूमिका विषय पर प्रांतीय सम्मेलन का आयोजन किया। इसमें मुख्य अतिथि के रूप में जूना पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर आचार्य अवधेशानंद गिरि शामिल हुए। कार्यक्रम का शुभारंभ महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरि महाराज ने दीप जला कर किया। उन्होंने कहा कि मनुष्य की जितनी भी समस्याएं है, उनका मूल कारण अज्ञानता है। ज्ञान के अभाव में मनुष्य को विभिन्न प्रकार की विपत्तियों का सामना करना पड़ता है, जो संस्कृति अपनी आलोचना सहन नहीं कर पाती, वह चिरंजीवी नहीं हो सकती। बिना संस्कृति की समझ के देश नहीं चलाया जा सकता। भारत ही ऐसा देश है, जहां मानवीय सभ्यता का जन्म हुआ है। भारतीय संस्कृति को समय की सीमा में नहीं बांधा जा सकता। हमारी संस्कृति जीवन जीने और भोगने की कला सिखाती है। हमारी संस्कृति एकत्व, विश्व बंधुत्व की बात कहती है। हम सब एक-दूसरे के पूरक है। भारतीय सभ्यता, भारतीय भोजन, भारतीय संस्कृति, भारतीय ज्ञान के कारण ही हम सदैव विश्व गुरू रहे हैं और आगे भी रहेंगें। हमारी सभ्यता विश्व स्तर पर धीरे-धीरे बढ़ रही है। भारत पूरे विश्व के एक परिवार के रूप में मानता है।
उन्होंने कहा संसार का कोई कलेंडर ऐसा नहीं है, जिसने भारत का अनुसरण नहीं किया। हमने ही विश्व को काल का ज्ञान कराया है। संस्कृति एक वृक्ष के जैसी होती है, जिसका कोई भी भाग बेकार नहीं होता। मनुष्य का पहला ध्येेय ज्ञान अर्जन होना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत की सभी क्रांतियों में युवाओं का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उन्होंने धरती की हरियाली को सुरक्षित रखने, जल संरक्षण, नदियों की निर्मलता को बनाए रखने की अपील की। संचालन भाजपा नेता राज कुमार राजू ने किया। इस मौके पर बच्चों द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुति देकर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ हुआ। इस दौरान नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह, अपर जिलाधिकार (प्रशासन) एसबी सिंह, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) विनोद कुमार, नगर मजिस्ट्रेट पंकज वर्मा, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी रामेंद्र कुमार, आशा माडर्न इंटरनेशनल स्कूल के निदेशक भव्य जैन, प्रधानाचार्य रूपाली जैन, अभिषेक कृष्णात्रेय, शीतल टंडन, सरदार अमरीक सिंह, भाजपा महानगर अध्यक्ष राकेश जैन सहित आशा मॉडर्न स्कूल का स्टाफ और कई स्कूलों के बच्चे मौजूद रहे।
बुजुर्गों का सम्मान छोटों को स्नेह देना सिखाती है संस्कृति : संजय
सहारनपुर। मंडलायुक्त संजय कुमार ने कहा कि हमारी संस्कृति हमें अपने बुजुर्गों का सम्मान व छोटों को स्नेह करना सिखाती है, जो भी व्यक्ति हमसे उम्र में बड़ा है चाहे वह किसी भी पद पर हो, उसका सम्मान करना चाहिए। हमें जिंदगी देने के लिए हम अपने माता पिता का धन्यवाद करना चाहिए। इसके साथ ही अच्छा इंसान बनाने के लिए शिक्षकों के ऋण को कभी नहीं भूलना चाहिए। युवाओं से कहा आपका काम मेहनत करने का है, जिसका फल जरूर मिलेगा, जिसने भी जिंदगी में शार्टकट लेना चाहा, उसका फल कुछ समय के लिए ही मीठा प्राप्त हुआ है। इसके बाद उसका खट्टा स्वाद जिंदगी भर चखना पड़ता है। हम सबकी उत्पत्ति प्रकृति से हुई है, हम सबको प्रकृति से प्रेम और नियमों का पालन करना होगा। प्रकृति के विपरीत जा रहे लोगों को रोकना होगा।
हम कौन थे, क्या हो गए, इस पर करें चिंतन : आलोक
सहारनपुर। जिलाधिकारी आलोक कुमार पांडेय ने कहा कि अपनी संस्कृति को न जानने के कारण ही युवा पश्चिम सभ्यता की तरफ दौड़ रहा है। इससे भारत की भावी पीढ़ी का भला नहीं होने वाला है। हम कौन थे?, क्या हो गए है, इस पर गहराई से चिंतन करने की जरूरत है। डीएम ने शिक्षकों से आह्वान किया कि युवा पीढ़ी को वह भारत की महान व गौरवशाली परंपरा के बारे में बताएं। युवा अपने गौरवशाली प्राचीन संस्कृति को जब तक पढ़ेगा नहीं, तब तक जागेगा नहीं। हमारी संस्कृति कभी राज्य नियंत्रण में नहीं रही। हमारी संस्कृति साहित्य रूपी खंभों के ऊपर खड़ी है। हमारी राष्ट्रीय एकता बहुत अच्छी है। संस्कृति व भौगोलिक एकता कभी राज्य नियंत्रण में नहीं रही, इसलिए हमारी संस्कृति हमेशा बढ़ती रही है। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति, हमारे वेद, हमारे मंदिरों में विज्ञान भी छिपा हुआ है।
युवाओं को अपनी संस्कृति के बारे में जानना होगा : दिनेश
सहारनपुर। एसएसपी दिनेश कुमार ने कहा कि सभी संस्कृतियां अच्छी होती है। हमें यह पता होना चाहिए कि संस्कृति क्या है और हमें इसके बारे में क्यों जानना है। हम कौन है, क्यों हैं और किस दिशा में आगे बढ़ना है। इनका सबका जवाब संस्कृति के ज्ञान के बिना मिलना मुश्किल है। कानून के ज्ञान के लिए संस्कृति का ज्ञान आवश्यक है। बिना संस्कृति के ज्ञान के हमारी युवा पीढ़ी आंखें बंद करके चल रही है। युवाओं को अपनी संस्कृति के बारे में जानना जरूरी है।
भारत के सिद्घांत चमकते सूरज और चांद की तरह: नदीम
सहारनपुर। नायब शहर काजी नदीम अख्तर ने कहा कि अपनी सभ्यता, संस्कृति, ऐतिहासिक गौरव को जानकर ही अपने भविष्य को तय किया जा सकता है। हिंदुस्तान में जन्म लेने पर मैं फर्क महसूस करता हूं। भारत में धर्म, धार्मिकता, सद्भाव, मोहब्बत, मार्मिकता, ज्ञान, इल्म उस समय से है, जब न कागज था और न कलम। दुनिया हम से इल्म सिखती है। इस मुल्क पर इतने हमलों के बाद भी यहां की तहजीब को सुई के नोक के बराबर भी नुकसान नहीं पहुंचा पाए। भारत के सिद्धांत दुनिया भर के लिए चमकते सूरज और चांद जैसे हैं।
मंडलायुक्त के आवास पर पहुंचकर महामंडलेश्वर ने दिया आशीर्वाद
सहारनपुर। कार्यक्रम के पश्चात महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरि महाराज दिल्ली रोड स्थित मंडलायुक्त संजय कुमार के आवास पर पहुंचे और उनको आशीर्वाद दिया। इसके साथ ही उपहार के रूप में गमले में लगा पौधा दिया। महामंडलेश्वर ने पर्यावरण को स्वच्छ और सुंदर बनाने का संदेश दिया और अधिक से अधिक पौधरोपण करने की अपील की।
आशा माडर्न इंटर नेशनल स्कूल द्वारा आयोजित प्रान्तीय सम्मेलन में राष्ट्रगान गाते अतिथि
आशा माडर्न इंटर नेशनल स्कूल द्वारा आयोजित प्रान्तीय सम्मेलन में राष्ट्रगान गाते अतिथि- फोटो : SAHARANPUR
आशा माडर्न इंटर नेशनल स्कूल द्वारा आयोजित प्रान्तीय सम्मेलन में भाग लेते शिक्षक व टीचर
आशा माडर्न इंटर नेशनल स्कूल द्वारा आयोजित प्रान्तीय सम्मेलन में भाग लेते शिक्षक व टीचर- फोटो : SAHARANPUR
... और पढ़ें

फास्ट ट्रैक कोर्ट से मिलेगा त्वरित न्याय

आचार्य महामण्डलेश्वर अवधेशानंद महाराज को कमिश्नर संजय कुमार तुलसी का पौधा सौंपते हुए।
सहारनपुर। कैबिनेट की बैठक में दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के मामलों में फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाए जाने के फैसले की अधिवक्ताओं ने सराहना की। अधिवक्ताओं का कहना है कि फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाए जाने से पीड़ितों को त्वरित न्याय मिलेगा। जनपद में पॉक्सो कोर्ट में लगभग 589 मुकदमे विचाराधीन हैं। इनमें दुष्कर्म के लगभग 150 मामले हैं।
सहारनपुर अधिवक्ता बार संघ एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष और वरिष्ठ अधिवक्ता सिद्धार्थ शंकर त्यागी का कहना है कि वास्तविक मामलों में पीड़िता को त्वरित न्याय मिलना बेहद जरूरी है। फास्ट ट्रैक कोर्ट बनने से रोजाना सुनवाई होगी और जल्द न्याय मिलेगा।
वरिष्ठ अधिवक्ता और पूर्व अध्यक्ष अरविंद शर्मा का कहना है कि फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाने के साथ ही न्यायिक अधिकारियों और कर्मचारियों की कमी को दूर किया जाए। रिक्त पदों को भी भरना जरूरी है। ताकि पीड़ितों को न्याय मिलने में दिक्कत न हो। अधिवक्ता और पूर्व सचिव अनुराग गुप्ता का कहना है कि कुछ मामले संदिग्ध होते हैं, जिनकी वजह से अदालतों में मुकदमों का बोझ बढ़ता है। इससे न्यायालय का कीमती समय नष्ट होता है। फास्ट ट्रैक कोर्ट बनने से मामलों का जल्द निस्तारण होगा और पीड़ितों को न्याय मिलेगा। अधिवक्ता सूर्य प्रकाश शर्मा और नलनीश गर्ग का कहना है कि फास्ट ट्रैक कोर्ट बनने से त्वरित न्याय मिलेगा, लेकिन न्यायिक अधिकारियों के अवकाश और हड़ताल को भी ध्यान में रखने की जरूरत है। सहायक शासकीय अधिवक्ता मेघराज सैनी, विक्रम सिंह वर्मा का कहना है कि सहारनपुर में पॉक्सो एक्ट के 500 से अधिक मुकदमे लंबित हैं, जबकि पॉक्सो एक्ट में 150 मुकदमों पर एक कोर्ट का प्रावधान है। फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाया जाना सराहनीय है, लेकिन अधिवक्ताओं की समस्याओं पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है।
एडवोकेट मेघराज सैनी
एडवोकेट मेघराज सैनी- फोटो : SAHARANPUR
एडवोकेट नलनेश गर्ग
एडवोकेट नलनेश गर्ग- फोटो : SAHARANPUR
एडवोकेट अरविन्द शर्मा
एडवोकेट अरविन्द शर्मा- फोटो : SAHARANPUR
एडवोकेट विक्रम सिंह वर्मा
एडवोकेट विक्रम सिंह वर्मा- फोटो : SAHARANPUR
एडवोकेट अनुराग गुप्ता
एडवोकेट अनुराग गुप्ता- फोटो : SAHARANPUR
सिद्घार्थ शंकर त्यागी
सिद्घार्थ शंकर त्यागी- फोटो : SAHARANPUR
... और पढ़ें

भीम आर्मी ने प्रदर्शन कर डिप्टी कलेक्टर को राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा

सहारनपुर। महिलाओं और बहुजन समाज के उत्पीड़न की घटनाओं के विरोध में भीम आर्मी भारत एकता मिशन के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर नारेबाजी की और डिप्टी कलेक्टर दीप्ती देव यादव को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा। उन्होंने उन्नाव कांड के दोषियों को फांसी दिलाने सहित अन्य मांग की।
सोमवार को सौंपे गए ज्ञापन में भीम आर्मी भारत एकता मिशन के कार्यकर्ताओं ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था पूर्णतया ठप हो चुकी है। महिला, अनुसूचित जाति, जनजाति और अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के उत्पीड़न की घटनाओं में लगातार इजाफा हो रहा है। कहा कि उन्नाव कांड की पीड़िता की रिपोर्ट भी कोर्ट के आदेश पर लिखी गई। उन्होंने प्रतापगढ़ और हैदराबाद की घटनाओं पर भी रोष जताते हुए कहा कि कानून व्यवस्था ध्वस्त होने के चलते अपराधी के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती है। जबकि भीम आर्मी के राष्ट्रीय महासचिव कमल सिंह वालिया और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मंजीत सिंह नौटियाल आदि का न्याय दिलाने की मांग करने पर जेल में डाल दिया जाता है। ज्ञापन में उन्होंने उन्नाव कांड के दोषियों को जल्द फांसी दिलाने, प्रतापगढ़ में दो नाबालिग बेटियों की रेपकर हत्या के मामले में संबंधित थानाध्यक्ष सहित तमाम पुलिस कर्मचारियों को तत्काल निलंबित करने की मांग की। उन्होंने भीम आर्मी के राष्ट्रीय महासचिव कमल सिंह वालिया, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मंजीत सिंह नोटियाल और शिवम खेवड़िया आदि को तुरंत रिहा करने एवं बागपत में तैनात सिपाही प्रवीण जाटव की हुई ऑन ड्यूटी गोली मारकर हत्या मामले की जांच सीबीआई से कराने और दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की मांग की। इस दौरान प्रदेश महासचिव विनोद पेगवाल, संजीव प्रधान, बुल्ला शाह, सुधीर बनवाल, सतीश गौतम, सुनील नोटियाल, अवनीश घाटेड़ा, मीडिया प्रभारी अजय गौतम आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

किसान ने गोली मार कर की आत्महत्या

नकुड़ (सहारनपुर)। कोतवाली के गांव बाधी में 50 वर्षीय किसान की खुद कनपटी पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली। परिजनों ने बताया कि किसान किसी बात को लेकर कुछ दिनों से तनाव में था। किसान की मौत से परिजनों में कोहराम मचा है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
कोतवाल सुशील सैनी ने बताया कि सोमवार की दोपहर करीब दो बजे उन्हें गांव बाधी में निवासी किसान हरबीर पुत्र राजसिंह की गोली लगने से मौत की सूचना मिली थी। मौके पर जाकर देखा तो घेर में किसान का शव पड़ा था। उसकी कनपटी पर गोली लगी हुई थी तथा आसपास काफी खून पड़ा हुआ था तथा पास ही एक देशी तमंचा भी पड़ा हुआ था। कोतवाल ने बताया कि मृतक के परिजनों व कुछ ग्रामीणों से की गई पूछताछ में पता चला है कि हरबीर किसी बात को लेकर कुछ दिनों से तनाव में था। संभवत: इसी के चलते उसने देशी तमंचे से खुद की कनपटी में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। कोतवाल ने बताया कि मौके पर की गई जांच पड़ताल में पता चला है कि घटना से कुछ देर पूर्व ही किसान नकुड़ से अपने घर आया था। उस वक्त किसान का अविवाहित पुत्र संदीप खेत में गया हुआ था। किसान की पत्नी ऊपर बने आवास में थी। किसान की मौत से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। कोतवाल ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का प्रतीत हो रहा है। मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी में 78 वर्षीय कलाकार की पेंटिंग चयनित

सहारनपुर। शिमला के मॉल रोड स्थित गेटी थियेटर में चल रही अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी में सहारनपुर के 78 वर्षीय चित्रकार डॉ. डीसी अग्रवाल की दो पेंटिंग का चयन किया। कला प्रेमियों ने उन्हें बधाई दी है।
डॉ. डीसी अग्रवाल जेवी जैन कॉलेज में चित्रकला विभाग के अध्यक्ष रहे हैं, जो 2002 में सेवानिवृत्त हुए थे। दोनों बच्चे बाहर हैं। ऐसे में वह अपना खाली समय कलाकृतियों को बनाने में खर्च करते हैं। सात से दस दिसंबर तक शिमला में अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी चल रही है। इसमें भारत, रोमानिया, फ्रांस और अमेरिका के कलाकारों ने अपनी कलाकृतियां सजाई हैं। डॉ. अग्रवाल ने अपनी दो पेंटिंग प्रदर्शित की। खास बात यह है कि उनकी दोनों पेंटिंग को सराहा है और चयनित किया है। उनकी पेंटिंग महात्मा गांधी के सपनों का भारत और देश की मौजूदा स्थिति पर रही। इसमें उन्होंने गांधी जी के चेहरे पर खून के आंध दर्शाए हैं। चेहरे के चारों ओर मॉबलिचिंग, भीड़ द्वारा हत्या करने, जातीय और सांप्रदायिक हिंसा आदि से जुड़ी खबरों की कटिंग को चस्पा किया है। डॉ. अग्रवाल ने दर्शाया है कि गांधी जी जिस तरह का भारत चाहते थे, आज वह भारत नहीं है। केवल उनकी 150वीं जयंती उत्सव मनाया जा रहा है, जबकि उनके सपनों का भारत कहीं गुम हो गया है। यदि गांधी जी आज जिंदा होते तो वह खून के आंसू रो रहे होते। डॉ. अग्रवाल की पेंटिंग का चयन होने पर कला प्रेमियों न उन्हें बधाई दी है।
... और पढ़ें

मौत के साये में शिक्षा ग्रहण कर रहे 130 बच्चे

अंबेहटा (सहारनपुर)। घाटमपुर गांव में स्थित प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने वाले 130 बच्चे मौत के साये में शिक्षा ग्रहण करने को मजबूर हैं। विद्यालय के ऊपर से गुजर रही एचटी लाइन कभी भी हादसे का सबब बन सकती है। कई बार शिकायत करने के बाद भी इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। यह हाल तब है जब बिजली के तारों की वजह से एक बार हादसा हो चुका है, जिसमें तीन छात्र गंभीर रूप से झुलस गए थे।
क्षेत्र के घाटमपुर गांव में प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय एक ही परिसर में स्थित है। दोनों स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की संख्या 130 है। विद्यालय प्रांगण से एचटी लाइन जा रही है जिससे स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों की जान को खतरा बना है। ग्राम प्रधान और शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने इसकी कई बार शिकायत की। इसके बाद भी बिजली विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की। इन लाइनों के कारण एक बार हादसा हो चुका है। करीब एक वर्ष पूर्व खेलते समय लोहे की राड लाइन में टच हो जाने से स्कूल में पढ़ने वाले तीन बच्चे बुरी तरह से झुलस गए थे। स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक भी इससे परेशान हैं। प्रधानाचार्य गुलशेर अहमद का कहना है कि विद्यालय के ऊपर से गुजर रही एलटी लाइन के कारण विद्यालय में स्टाफ भी आने से मना कर देता है। बच्चों की सुरक्षा के लिए लाइन का हटना बेहद जरूरी है। इस मामले में अवर अभियंता सूर्यभान प्रजापति का कहना है कि मामला उच्चाधिकारियों के संज्ञान में है। एक बार फिर उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया जाएगा।
एक वर्ष पहले हो चुका है हादसा
अंबेहटा। लाइन की वजह से एक वर्ष पूर्व विद्यालय में घटी घटना से भी बिजली विभाग सबक नही ले रहा है। बता दे कि 25 जनवरी 2019 को आधी छुट्टी मे खेलते समय लोहे की राड लाइन में टकरा जाने से कक्षा सात के छात्र उमेर व गुलशान तथा कक्षा 6 का राकिब बुरी तरह से झुलस गए थे। इन बालकों का कई माह तक हायर सेंटर में उपचार चला था। हादसे के बाद से ही स्कूल के बच्चों व स्टाफ में दहशत व्याप्त है।
... और पढ़ें

पांच सूत्रीय मांगों को भाकियू ने दिया कोतवाली में धरना

गंगोह (सहारनपुर)। क्षेत्र की समस्याओं को लेकर सोमवार को भाकियू ने कोतवाली परिसर में धरना-प्रदर्शन किया। वरिष्ठ उप निरीक्षक के आश्वासन के बाद किसानों ने धरना समाप्त कर दिया।
ब्लाक कार्यालय में आयोजित बैठक में बृजपाल सैनी ने प्रदेश सरकार पर किसानों का उत्पीड़न करने का आरोप लगाया। कहा कि प्रशासन पराली जलाने के नाम पर के नाम पर किसानों को परेशान कर रही है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण प्रदूषण का सही कारण जाने बिना कार्रवाई की जा रही है। 11 दिसंबर को गन्ना मूल्य को लेकर अंबाला हाईवे पर आयोजित आंदोलन व 21 दिसंबर को सहारनपुर में आयोजित हल क्रांति आंदोलन में किसानों से भाग लेने की अपील की। इसके बाद किसान ब्लाक कार्यालय से जुलूस की शक्ल में कोतवाली पहुंचे और पांच सूत्री मांगों के समर्थन में प्रदर्शन कर धरना दे दिया। वरिष्ठ उप निरीक्षक के साथ हुई वार्ता में चार मांगों पर समझौता हो गया। इसके बाद उन्होंने आंदोलन समाप्त कर दिया।
भाकियू के ज्ञापन में स्कूली छात्राओं के साथ होने वाली छेड़छाड़ व पटाखे मारने वाली बाइकों पर अंकुश लगाने, दूधला क्षेत्र में कई माह पूर्व हुई दर्जनों चोरियों के संबंध में शीघ्र कार्रवाई करने, शिव चौक से मेटाडोर स्टैंड-सहारनपुर बस स्टैंड तक अवैध तरीके से चलने वाले मैजिक वाहनों पर तुरंत अंकुश लगाने, किसी भी मामले की जांच के बाद ही रिपोर्ट दर्ज करने, नशे के धंधे पर तुरंत रोक लगाने की मांग की गई। इसमें मेहरबान कुरैशी, जितेंद्र शर्मा, अमित चौधरी, कौसर अली, ओमपाल, मीर हसन, अनवर, रकम सिंह, नौशाद, इनाम, कर्म सिंह, भवर सिंह, सतीश, राशिद, पहल सिंह, इनाम, रमेश, अनवर, तहसीन, शौकत, आरीफ, नौशाद, नाजीम, शिव चरण, इस्लाम, संजय आदि रहे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election