विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in UP Live Updates: संक्रमितों की संख्या 100 से ज्यादा, दौरे स्थगित कर लखनऊ रवाना हुए मुख्यमंत्री योगी

देश भर में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों से अच्छी और कहीं से बुरी खबरें आ रही हैं। मंगलवार सुबह बरेली में पांच नए मरीज मिले हैं जिनके बाद सूबे में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 102 हो गई है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

सहारनपुर

मंगलवार, 31 मार्च 2020

लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर कान पकड़वाकर माफी मंगवाई

कॉल कर घर ही पर पाएं भोजन का पैकेट

सहारनपुर। लॉक डाउन के दौरान नगर निगम ने असहायों व गरीबों को भोजन वितरण का अभियान जारी रखते हुए रविवार को करीब चार हजार लोगों को पैकेट वितरित कराए। उधर मेयर संजीव वालिया व नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह के आह्वान पर भोजन पैकेट देने वाले हाथ भी बढ़ रहे हैं। जरूरतमंद मोबाइल नंबर डॅायल कर भोजन का पैकेट पा सकते हैं।
नगर निगम शिकायत प्रकोष्ठ के नंबर 8477008027 पर भोजन पैकेट की मांग बढ़ती जा रही है तो दूसरी तरफ महापौर संजीव वालिया व नगरायुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह के आह्वान पर अनेक समाजसेवी तथा समाजसेवी संस्थाएं भोजन पैकेट देने के लिए आगे आ रही हैं। भोजन देने के लिए अनेक समाजसेवियों ने रविवार को जनमंच स्थित भोजन वितरण कंट्रोल रुम पहुंच कर व्यक्तिगत रुप से महापौर व नगरायुक्त से संपर्क कर मदद का हाथ आगे बढ़ाया। जो लोग राशन व पैकेट के रुप में मदद देना चाहते हैं, उनके लिए निगम की ओर से अधिशासी अभियंता निर्माण आलोक श्रीवास्तव का मोबाइल नंबर 8477008010 जारी किया गया है। नगरायुक्त ने जरूरतमंदों से 8477008027 नंबर पर कॉल करने अपील की। दिल्ली रोड क्षेत्र के लोग आईआईए के मनीष अरोड़ा के मोबाइल नंबर 9917036000, कामधेनुक्षेत्र के लोग मंजीत सिंह अरोड़ा के मोबाइल नंबर 7988865899, नौगजापीर देहरादून रोड क्षेत्र के लोग हरजीत सिंह के मोबाइल नंबर 9897676000 से संपर्क कर भोजन प्राप्त कर सकते हैं। इनके अलावा सीनियर सिटीजन एसोसिएशन की ओर से एक हजार, प्रभुजी की रसोई से एक हजार, राधा स्वामी सत्संग की ओर से 800, उद्यमीमुकुंद मनोहर गोयल की ओर से एक सौ, शिवधामकी ओर से 250, गुरुद्धारा गुरुसिंह सभा की ओर से 400 व संदीप मित्तल की ओर से 55 पैकेट भोजन के उपलब्ध कराए गए।
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते पंजाब हरियाणा से आये मजदूरो को भोजन प्रदान करते लोग
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते पंजाब हरियाणा से आये मजदूरो को भोजन प्रदान करते लोग- फोटो : SAHARANPUR
... और पढ़ें

70 वार्ड में होम डिलीवरी से ग्राहकों को मिली राहत

70 वार्डों में होम डिलीवरी से ग्राहकों को मिली राहत
सहारनपुर। लॉकडाउन के बीच महानगर में 70 वार्डों में खाद्य सामग्री की होम डिलीवरी होने पर ग्राहकों तो राहत मिल गई, लेकिन व्यापारियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। थोक की दुकान से सरकारी दामों पर सामान नहीं मिलने की वजह से व्यापारियों को परेशानी झेलनी पड़ रही है।
जिला प्रशासन ने नगर निगम क्षेत्र के 70 वार्डों में 702 दुकानदार निर्धारित किए हैं, जो फोन या व्हाटसएप के माध्यम से आर्डर लेकर लोगों के घरों तक खाद्य सामग्री पहुंचा रहे हैं। रविवार को अमर उजाला ने खाद्य सामग्री की सप्लाई की व्यवस्था देखी। कोर्ट रोड निवासी विक्रम शर्मा ने बताया कि घर पर ही सामान उपलब्ध होने पर राहत मिली है। रामनगर निवासी विक्की मल्होत्रा का कहना है कि प्रशासन ने अच्छी व्यवस्था की है, लेकिन हर वार्ड में दस से अधिक दुकानदार निर्धारित किए जाने चाहिए थे क्योंकि किसी-किसी वार्ड में जनसंख्या ज्यादा है, जिस कारण सामान समय पर उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। पठानपुरा निवासी बोधराज ने बताया कि घरों पर उचित दामों पर ही सामान मिलने से नागरिकों की परेशानी दूर हुई है।
उधर, नीलकंठ विहार निवासी व्यापारी दीपक गुुप्ता का कहना है कि सरकार ने जो दाम निर्धारित किए हैं, उससे अधिक दामों में थोक की दुकानों से उन्हें सामान मिल रहा है। ऐसे में होम डिलीवरी करते हुए व्यापारी को अपनी जेब से पैसा खर्च करना पड़ रहा है। पुलिस भी व्यापारियों के साथ अभद्र व्यवहार कर रही है।
रेलवे कॉलोनी निवासी व्यापारी सुरेश भारती और चंद्रनगर निवासी व्यापारी सुभाष सलूजा ने बताया कि उनके द्वारा अपने वार्ड में ग्राहकों को सामान उपलब्ध कराया जा रहा है, लेकिन बाजार से माल पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रहा है, जिस कारण दिक्कत आ रही है। हकीकतनगर निवासी व्यापारी संजीव शर्मा और मोरगंज बाजार व्यापारी गौरव जैन ने बताया कि होम डिलीवरी के लिए व्यापारियों के साथ सरकारी कर्मचारी भी नियुक्त किए जाएं। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाभ मिल सके।
व्यापारी दीपक गुप्ता
व्यापारी दीपक गुप्ता- फोटो : SAHARANPUR
ग्राहक विक्रम शर्मा।
ग्राहक विक्रम शर्मा।- फोटो : SAHARANPUR
व्यापारी सुरेश भारती
व्यापारी सुरेश भारती- फोटो : SAHARANPUR
ग्राहक विक्की मल्होत्रा
ग्राहक विक्की मल्होत्रा- फोटो : SAHARANPUR
ग्राहक बोधराज
ग्राहक बोधराज- फोटो : SAHARANPUR
व्यापारी संजीव शर्मा
व्यापारी संजीव शर्मा- फोटो : SAHARANPUR
व्यापारी गौरव जैन
व्यापारी गौरव जैन- फोटो : SAHARANPUR
... और पढ़ें

Lockdown update west up: सातवें दिन मुजफ्फरनगर-बिजनौर में जेल से रिहा हुए सौ से ज्यादा विचाराधीन कैदी, मेरठ में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात

लॉकडाउन मेरठ लॉकडाउन मेरठ

लॉकडाउन: मदद के लिए बढ़े हाथ

गरीब, बेसहारा लोगों की मदद के लिए बढे़ हाथ
रामपुर मनिहारान/छुटमलपुर (सहारनपुर)। रामपुर मनिहारान तहसील क्षेत्र के गांव चेहड़ी निवासी संदीप कुमार ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 10 हजार रुपये का चैक एसडीएम एसएन शर्मा को सौंपा है। छुटमलपुर में अंकित वर्मा, विकास गुप्ता, अर्पित गर्ग, कमलेंद्र गोयल, राशिद अंसारी, रवि पेगवाल, अमित डाबर, राजेश सैनी आदि ने गरीबों को खाद्य सामग्री वितरित की। दुख निवारण गुरु हरकिशन साहिब खालसा सेवा समिति की तरफ से प्रताप सिंह खालसा ने गांव डाडवा में खाद्य सामग्री का वितरण किया। बिहारीगढ़ के थाप्पुल इस्माइलपुर के प्रधान पति राज किशोर सैनी ने गरीब बेसहारा लोगों के घर जा कर उन्हें राशन और आवश्यक सामान देकर उनकी मदद की।
पीएम राहत कोष में दें कन्या पूजन की दक्षिणा
छुटमलपुर। मनकामेश्वर शिव मंदिर समिति ने नवरात्र की अष्टमी और रामनवमी पर लाक डाउन के चलते कन्याओं को घर पर न बुलाकर प्रति कन्या 11 रुपये के हिसाब से 11 कन्याओं के 121 रुपये की धनराशि को प्रधानमंत्री राहत कोष में कोरोना से लड़ाई के लिए जमा कराने का अनुरोध प्रति परिवार किया है। साथ ही भोजन बना कर उसके पैकेट पुलिस या किसी स्वयंसेवक के माध्यम से वंचितों तक पहुंचाने का अनुरोध किया है।
सफाई क र्मचारियों को बांटी राहत सामग्री
देवबंद। लॉकडाउन के दौरान नगर की सफाई व्यवस्था को दुरुस्त रख रहे पालिका के सफाई कर्मचारियों को नगर सेवकों ने पानी की बोतलें, चाय, फल और बिस्कुट आदि का वितरण किया। नगरसेवकों की टीम क्षेत्र में लगातार सेवा कार्य में जुटी हुई है। सोमवार को उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल के प्रदेश मंत्री हरिओम सिंघल, अंतरराष्ट्रीय वैश्य समाज के तहसील अध्यक्ष विशाल गर्ग, देवी दयाल गर्ग, अमित गर्ग आदि ने हाईवे पर सफाई कार्यों में लगे पालिका के सफाईकर्मियों को पानी की बोतलें, फल, चाय और बिस्कुट आदि खिलाकर राहत पहुंचाई।
कांग्रेस ने की हाईवे टास्क फोर्स गठित
सहारनपुर। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पैदल घर लौट मजदूरों की मदद के लिए हाईवे टास्क फोर्स का गठन किया है। जनपद में इसमें चार सदस्य नामित किए गए हैं। कांग्रेस पूर्व जिला प्रवक्ता गणेश दत्त शर्मा ने बताया कि पार्टी हाईकमान ने सदस्य बनाकर उनको कांग्रेस कमेटी के हेल्पलाइन नंबरों से जोड़ा है। पलायन कर घर लौट रहे मजदूरों की सहायता करने के लिए टास्क फोर्स बनाई गई है। सहारनपुर में गणेश दत्त शर्मा, महानगर अध्यक्ष वरुण शर्मा, वरिष्ठ कांग्रेस नेता उमा भूषण, गौरव वर्मा व हरिओम मिश्रा को सदस्य बनाया गया है।
भूख से बेहाल पूर्वी यूपी के मजदूरों की मदद को बढ़ाया हाथ
छुटमलपुर। हिमाचल और पंजाब गए पूर्वी यूपी के कई जिलों के 11 मजदूर चमारीखेड़ा में पहुंचे। छुटमलपुर निवासी किसान चौ मंसूर ने इन्हें अपने रजापुर स्थित बाग में ठहराते हुए रहने और भोजन की व्यवस्था की। गाजीपुर के चंद्रभान, सरोज राजभर, आजमगढ़ के पृथ्वीपाल यादव, गया बिहार के दीपुदास, बलिया के अच्छेलाल, चतरा के देव कुमार, छपरा के इकमा, मऊ के उमेश कन्नोजिया, देवरिया के राजन यादव, बस्ती के महेंद्र और गोरखपुर के रामवचन शामिल हैं। इनके पैरों तक में छाले पड़े हुए थे। भूख से हाल बेहाल था। इन मजदूरों ने अपने घर भिजवाने की गुहार प्रशासन से लगाई है।
गरीब व असहाय लोगों को भोजन के पैकेट वितरित करते चीनी मिल के अधिकारी
गरीब व असहाय लोगों को भोजन के पैकेट वितरित करते चीनी मिल के अधिकारी- फोटो : DEVBAND
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते घंटाघर पर डियूटी कर पुलिस कर्मी और होमगार्ड को पानी वितरित करते सेव?
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते घंटाघर पर डियूटी कर पुलिस कर्मी और होमगार्ड को पानी वितरित करते सेव?- फोटो : SAHARANPUR
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते रेलवे रोड़ पर फंसे लोगो को भोजन कराते परिवार
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते रेलवे रोड़ पर फंसे लोगो को भोजन कराते परिवार- फोटो : SAHARANPUR
छुटमलपुर में वंचितों को खादय सामग्री देते सामाजिक संगठनों के लोग
छुटमलपुर में वंचितों को खादय सामग्री देते सामाजिक संगठनों के लोग- फोटो : SAHARANPUR
... और पढ़ें

यमुना की धार में फंसे एक को पुलिस ने बचाया, दूसरा लापता

सरसावा (सहारनपुर)। रविवार की रात को हरियाणा की तरफ से यूपी में प्रवेश करने के प्रयास में दो युवक यमुना की धारा में फंस गए। इनमें से एक को तो पुलिस ने बचा लिया लेकिन दूसरा युवक अभी भी लापता है।
सरसावा थाने की शाहजहांपुर चौकी के इंचार्ज दिनेश कुमार ने बताया कि रविवार की रात चौकी पर तैनात स्टाफ को सूचना मिली कि दो युवक यमुना के रास्ते यूपी में प्रवेश करते वक्त पानी की धारा में फंसे हुए हैं। मौके पर पुलिस पहुंची तो एक युवक को यमुना नदी के बीच में उगे झाड़ को पकड़े हुए मिला। पुलिस ने मछुआरों को बुलाकर किसी प्रकार युवक को बाहर निकाला। उसने अपना नाम अब्दुल रहमान पुत्र अलीशेर निवासी थाना गागलहेड़ी बताया। कहा कि वह अपने साथी अतीक पुत्र इसरार ग्राम मरवा थाना बेहट के साथ यमुना नदी के रास्ते यूपी में प्रवेश कर रहा था। अतीक का पता नहीं चल सका। अब्दुल ने बताया कि अतीक तैरना जानता है। हो सकता है तैर कर कहीं निकल गया हो। चौकी इंचार्ज ने बताया कि संभवत: अतीक डर के मारे कहीं छिपा हुआ हो। पुलिस मछुआरों के साथ उसकी तलाश लगातार कर रही है।
... और पढ़ें

कचरा खा रहे हैं शहर में भटकने वाला ज्यादातर गोवंश

कचरा खा रहे है शहर में भटकने वाले आवारा गोवंश
सहारनपुर। लॉक डाउन गरीब और अहसायों लोगों पर ही नहीं, बल्कि बेजुबानों पर भी भारी पड़ रहा है। नतीजा यह है कि ज्यादातर गोवंश सड़कों पर पड़ा कचरा खाने को मजबूर है, जिसके चारे की व्यवस्था किए जाने की जरूरत है।
कोर्ट रोड पर रीडर्स पैराडाइज के सामने बड़ी संख्या में गोवंश सड़कों पर रहता था, जिसे लोग घरों से लाकर प्रसाद डालते थे। मगर लॉक डाउन के बाद गोवंश को चारा और प्रसाद मिलना बंद हो गया है, जिससे गोवंश के सामने जीवन बचाने का संकट पैदा हो गया है। अमर उजाला लाइव में चंद्रनगर में गोवंश घरों के बाहर पड़े कचरे और अखबार के टुकड़ों को खाता नजर आया। गिल कॉलोनी में भी गोवंश गलियों में भटकता नजर आया
शहर में हैं तीन गोशालाएं
शहर में अग्रवाल धर्मशाला के पास वर्षों से गोशाला चल रही है, जिसमें सैकड़ों की संख्या मेें गोवंश है। इसके अलावा नगर निगम ने भी नवादा रोड पर गोशाला शुरू की है, जिसका उद़घाटन सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया था। इसमें भी सौ से अधिक गोवंश का भरण-पोषण हो रहा है। इसके अलावा नुमाइश कैंप में विजयकांत चौहान गोशाला चला रहे हैं।
बाजारों में कुत्ते भी हुए लाचार
गली और कॉलोनियों में रहने वाले कुत्तों को लोग भोजन मुहैया करा रहे हैं, मगर बाजारों में कुत्ते इन दिनों लाचार हैं। कोर्ट रोड ओवरब्रिज के ऊपर और बाजारों में कुत्ते खाने के लिए भटक रहे हैं।
गोवंश के लिए गोशालाएं संचालित की जा रही हैं, जिनमें उनके पालन-पोषण की पूरी व्यवस्था है। लॉक डाउन में भी नगर निगम अभियान चलाकर सड़कों पर भटकने वाले गोवंश को पकड़कर गोशाला भेज रहा है। जिससे गोवंश भूखा ना रहे। रविवार को भी पांच गोवंश गोशाला भेजे गए हैं।
अमित तोमर, सीनियर इंस्पेक्टर, नगर निगम।
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते चारा ना मिलने पर कागज खाती गाय
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते चारा ना मिलने पर कागज खाती गाय- फोटो : SAHARANPUR
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते चारा ना मिलने पर लोगो ने सड़क पर छोड़ी गाय
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते चारा ना मिलने पर लोगो ने सड़क पर छोड़ी गाय- फोटो : SAHARANPUR
... और पढ़ें

तीन हजार के रोजाना कट रहे चालान, फिर भी मनमानी

सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते चारा ना मिलने पर पॉलिथीन से रोटी खाती गाय
सहारनपुर। लॉकडाउन का अनुपालन कराने के लिए जिले के 65 बैरियरों पर पुलिस प्रशासन की टीमें मुस्तैद है। शहर से देहात तक पुलिस टीमें रोजाना तीन हजार से अधिक वाहनों के चालान काट रही है और 30 से लेकर 40 हजार रुपये तक का जुर्माना वसूला जा रहा है। अब तक 35200 वाहनों के चालान हो चुके है। 19 लाख से अधिक का जुर्माना वसूला गया है। इन सबके बावजूद जिले के लोग अब तक लॉकडाउन को लेकर गंभीर नहीं हो पाए हैं।
एसएसपी दिनेश कुमार का कहना है कि जो लोग या वाहन चालक मनमानी करेंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी। इसमें कोई छूट नहीं दी जाएगी।
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते च वाहन लेकर घूम रहे लोगो को रोकती पुलिस
सहारनपुर में लॉकडाउन के चलते च वाहन लेकर घूम रहे लोगो को रोकती पुलिस- फोटो : SAHARANPUR
... और पढ़ें

कोरोना के फ्रंट पर अब लड़ेंगे युवा जवान

सहारनपुर। पुलिस उपमहानिरीक्षक ने कोरोना को लेकर ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को लेकर अहम निर्णय लिया है। फ्रंट पर ड्यूटी करने वाले अधिकांश नौजवान, पुलिसकर्मियों की तैनाती के निर्देश दिए है। यह निर्देश डीआईजी ने जनपद के तीनों वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को दिए हैं।
डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल ने बताया कि पुलिस मुस्तैदी से हर मोर्चे पर डटी हुई है। ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को सैनिटाइजेशन, मास्क ग्लब्स आदि की पूरी व्यवस्था की गई है लेकिन पुलिस के जवान और अफसर भी खुद सुरक्षित रहेंगे। तभी जनपद मंडल की सेवा कर सकेंगे। इसलिए फ्रंट स्टाफ के तौर पर युवा जवानों को और अफसरों को अधिकांश संख्या में तैनात किया जाएगा। कुछ पुलिसकर्मी रिजर्व में भी रखे जा रहे हैं कि कहीं कोई बात होने पर उन्हें उनकी जगह पर तैनाती दी जाए। बताया कि ड्यूटी पर तैनात जवानों और अफसरों से उनके सुझाव लिए जा रहे हैं। डी-ब्रीफिंग भी की जा रही है जनपद की सभी सीमाओं को पूरी तरीके से सील कर दिया गया है।
... और पढ़ें

कोरोना इफेक्ट: पॉली हाउस में बर्बाद हो रहे लाखों के फूल

सहारनपुर। कोरोना वायरस के बाद शुरू हुए लॉकडाउन ने लोगों के रोजमर्रा के जीवन के साथ ही खेेती को भी प्रभावित किया है। इसके चलते जनपद के करीब 50 पॉलीहाउस में लाखों के फूल बर्बाद हो रहे हैं। यहां से प्रतिदिन लाखों रूपये के जरबेरा और गुलाब सहित अन्य फूल दिल्ली, चंडीगढ़, देहरादून सहित अन्य मंडियों में बिकने के लिए जाते हैं। कोरोना इफेक्ट के चलते पॉलीहाउस स्वामियों को खासा घाटा उठाना पड रहा है। इससे उन्हें रोजमर्रा के खर्च से लेकर ईएमआई देने की चिंता सता रही है।
ये बोले किसान
गांव मवी खुर्द स्थित एक पॉलीहाउस में जरबेरा की खेती कर रहे किसान राजेश पंवार और मोहित पंवार ने बताया कि वे कोराना संकट के बाद से करीब तीन लाख से अधिक जरबेरा के फूल मंडी में नहीं बेच पाए। दिल्ली की गाजीपुर मंडी में जरबेरा की सप्लाई करने वाले इन किसानों को प्रति फूल तीन रूपये मिलते थे।
गांव नैनसोब स्थित पॉलीहाउस में गुलाब और जरबेरा की खेती करने वाले कार्तिकेय त्यागी ने बताया कि उनके यहां से हर दूसरे दिन पांच हजार फूल गुलाब और इतने ही जरबेरा के फूल तैयार हो जाते हैं। एक व्यापारी पॉलीहाउस से ही औसतन तीन रूपये प्रति जरबेरा और पांच रूपये प्रति गुलाब का फूल खरीदता है।
जनपद में करीब 50 पॉलीहाउस में फूलों की खेती होती है। कोराना वायरस के प्रकोप के बाद शुुरू हुए लॉकडाउन के चलते किसान अपने फूल बेच नहीं पा रहे हैं। तैयार फूलों को तोड़कर उन्हें डंप किया जा रहा है। इससे उनको जहां आमदनी बंद हो गई है, वहीं फूलों केे तोड़कर डंप करने का खर्च भी बढ़ गया है।
- अरुण कुमार, जिला उद्यान अधिकारी।
मवीखुर्द स्थित पोली हाउस में जरबेरा फूल
मवीखुर्द स्थित पोली हाउस में जरबेरा फूल- फोटो : SAHARANPUR
... और पढ़ें

बेबसी: गेंदे के फूल की फसल तैयार, कहां बेचे किसान

छुटमलपुर (सहारनपुर)। गांव बेहड़ा खुर्द के किसान कय्यूम ने 14 बीघा जमीन में गेंदे का फूल लगा रखा है। इसमें उसका डेढ़ लाख रुपये का खर्च आया था। महीनों की हाड़तोड़ मेहनत रही अलग। कर्ज पर लेकर पैसे लगाए थे। अब फसल तैयार है। नवरात्र में लॉकडाउन के चलते मंदिर भी बंद हैं। ऐसे में ना तो बाजार में फूल की मांग है ना ही वह उसकी खुले में बिक्री कर पा रहा है। कय्यूम का कहना है कि यदि एक सप्ताह में फूलों की तोड़ नहीं होगी तो फसल खराब हो जाएगी। इसका तोड़ कर वह स्टाक भी नहीं कर सकता है। उसे इस बात का डर सता रहा कि यदि यह रकम डूब गई तो उम्र भर कर्ज से बाहर नहीं निकल सकेगा। कहना है कि ऐसे में उसे प्रशासन से उम्मीद है कि उसकी कुछ मदद की जाए। ... और पढ़ें

लाॅकडाउन के दौरान लापरवाही बरतना सिपाही को पड़ा भारी, गलती की मिली ऐसी सजा, अब पुलिस लाइन में बेचेगा सब्जी

लाॅकडाउन के बीच जहां जनता नियमों का पालन करने में लापरवाही कर रही है। वहीं पुलिस प्रशासन में भी कुछ लोग ड्यूटी को लेकर सर्तक नहीं हैं। सहारनपुर पुलिस लाइन में तैनात एक सिपाही को लापरवाही करना भारी पड़ गया। अब एसएसपी ने आरक्षी को अजीबो गरीब काम सौंप दिया। जी हां एसएसपी के आदेश पर अब यह आरक्षी सजा के तौर पर पुलिस लाइन में सब्जी बेचेगा।

बताया गया कि सहारनपुर पुलिस लाइन में गणना कार्यालय में मुंशी के पद पर तैनात सिपाही द्वारा आरक्षियों की ड्यूटी लगाने को लेकर लापरवाही सामने आई। शिकायत एसएसपी तक पहुंची तो वरिष्ठ पुलिस अधीकक्षण दिनेश कुमार पी. ने उसे अजीबो गरीब काम सौंप दिया।

एसएसपी ने इस पर कार्रवाई करते कहा कि अग्रिम आदेश तक आरोपी सिपाही मंडी से सब्जी लाकर पुलिस लाइन में पुलिस के परिवारों को सब्जी बेचने का काम करेगा। बता दें कि आरोपी पर ड्यूटी लगाने में अनियमितता का आरोप सामने आने पर एसएसपी सहारनपुर ने यह फैसला लिया है।
... और पढ़ें

Lockdown: दूर-दराज से लौटे मजदूरों के लिए बनाए गए क्वारंटीन केंद्र, स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार कर रही निगरानी

देश के विभिन्न राज्यों से लौट रहे दिहाड़ी मजदूरों को पलायन जारी है। हालांकि अब इसे रोकने के लिए प्रशासन ने शेल्टर व्यवस्था लागू करने का फैसला लिया है। सहारनपुर मुजफरनगर मेरठ में प्रशासन ने बंद पड़े काॅलेज और स्कूलों को क्वारंटीन केंद्र बनाया है। जहां इन मजदूरों के ठहरने की व्यवस्था है:-

शामली में बाॅर्डर पर सख्ती बढ़ाने के साथ ही बिना वजह निकले लोगों का पुलिस ने चालान कर दिया। वहीं सहारनपुर में अंबाला हाईवे पर एक डेरे में दूर दराज से आए मजदूरों ने शरण ली। हालांकि डेरे में यात्रियों की निगरानी की जा रही है। मेडिकल टीम मौके पर मौजूद है। डेरे में ठहरे हुए सभी मजदूरों की स्क्रीनिंग की जा रही है। 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us