विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

उत्तर प्रदेश में कोरोना के 15 नए मरीज मिले, तीन हुए ठीक, 96 पहुंची कुल संख्या

नोवेल कोराना वायरस के प्रकोप के बीच सोमवार को एक अच्छी खबर आई। पहले से अस्पतालों में भर्ती तीन पॉजिटिव मरीज पूरी तरह से स्वस्थ होने के कारण डिस्चार्ज कर दिए गए। इनमें से दो नोएडा और एक आगरा का मरीज है।

31 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

संभल

मंगलवार, 31 मार्च 2020

जुमे की नमाज पर जामा मस्जिद में नहीं होगी भीड़

संभल। जामा मस्जिद में जुमे की नमाज पर अबकी बार भीड़ भाड़ नहीं रहेगी। शाही जामा मस्जिद के इमाम मौलाना आफताब हुसैन वारसी ने गुरुवार को अपील जारी की। इसमें उन्होंने कहा है कि शुक्रवार को अपने घरों में रहें। कोरोना का खतरा है।
इसलिए गली मोहल्लों में भीड़ न लगाएं। नमाज के लिए जामा मस्जिद का रूख न करें। जो दो चार लोग जामा मस्जिद में हैं वो अजान के बाद वहीं पर नमाज पढ़ सकते हैं लेकिन बड़ी संख्या में मस्जिदों में नहीं जाना है। सरकार के निर्देश पर लॉक डाउन का पालन करना है। जरूरी एहतियात भी बरतनी है। अपनी हिफाजत के लिए मॉस्क लगाएं। घर के आसपास साफ सफाई का विशेष ख्याल रखना भी जरूरी है।
... और पढ़ें

मजदूर बोले- बड़े शहरों में भूख और प्यास से मौत होने से बेहतर पैदल ही अपने गांव चला जाए

संभल। लॉकडाउन का असर दूसरे दिन भी दिखाई दिया। लेकिन इस दौरान जो कुछ सामने आया वह हैरान कर देने वाला था। कई मजदूर ऐसे मिले जो दूसरे प्रदेशों के बड़े शहरों से 200 या उससेे अधिक किलोमीटर पैदल चलकर संभल तक पहुंचे। हैरानी की बात यह रही कि उन्हें संभल से भी काफी लंबा सफर तय करना था। भूख और प्यास से परेशान थे। पुलिस ने पूछताछ के लिए रोका तो उनका दर्द झलक गया। सभी मजदूर रो पड़े।
भूखे होने की बात बताई। गुरुवार को दोपहर बदायूं के बजीरगंज निवासी पांच लोग हरियाणा के रोहतक से संभल पहुंचे। उन्होंने बताया कि वह 48 घंटों से पैदल चल रहे हैं। खाने को कुछ नहीं मिला है और रोहतक से गजरौला तक रेलवे लाइन पर चलकर सफर किया है। गजरौला से असमोली होकर संभल आए हैं। बताया कि वह सभी लोग एक जूता कंपनी में काम करते हैं लेकिन लॉकडाउन होते ही ठेकेदार चला गया। रोहतक में रहने के लिए जगह थी लेकिन खाने की कोई व्यवस्था नहीं थी। कहा कि बड़े शहरों में भूख और प्यास से मौत होने से बेहतर गांव के लिए पैदल चला जाए।
इसलिए गांव के लिए पैदल ही चल दिए। भूखे होने की बात बताई तो एक मीडिया कर्मी ने केले लाकर दिए। जिससे वह पांचों लोग भूख खत्म कर सके। वहीं दूसरी ओर चार लोग बहजोई निवासी ऋषिकेश से पैदल चलकर संभल पहुंचे हैं। बहजोई के गांव आलपुर निवासी सोमपाल ने बताया कि वे लोग ऋषिकेश में एक पीडब्ल्यूडी ठेकेदार के साथ काम करते हैं। लॉकडाउन होते ही ठेकेदार बिहार अपने घर निकल गया और मजदूरों को छोड़ गया। वहां न खाने को भोजन था और न रहने को कोई ठिकाना। मजदूरों ने बताया कि ठेकेदार जाते समय रुपये भी नहीं देकर गया। परेशान हो गए इसलिए गांव के लिए पैदल ही चल दिए।
... और पढ़ें

लॉकडाउन के दौरान कोई न रहे भूखाः मंडलायुक्त

संभल/बहजोई। बहजोई स्थित कलेक्ट्रेट सभागार में मंडलायुक्त व आईजी ने जिलेभर के अधिकारियों के साथ बैठक की है। इसमें लॉक डाउन का सही से पालन कराने के लिए कहा है। साथ ही इस दौरान किसी को खाने पीने की समस्या न रहे इसके लिए भी मदद करने की बात कही है। गुरुवार को मंडलायुक्त वीरेंद्र कुमार सिंह व आईजी रमित शर्मा ने बहजोई पहुंचे। उन्होंने जिलाधि कारी अविनाश कृष्ण सिंह व पुलिस अधीक्षक समेत सभी अधिकारियों के साथ बैठक की।
इसमें मंडलायुक्त ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए लॉक डाउन किया गया है। इसलिए इस लॉक डाउन का जनपद में पालन कराएं। उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जाए। अनावश्यक कोई सड़कों पर न घूमे। मंडलायुक्त ने कहा कि लॉक डाउन के दौरान कोई भी व्यक्ति और परिवार भूखा न रहे। इसलिए पूरी व्यवस्था की जाए। जिला अपूर्ति अधिकारी व जिला पंचायत राज अधिकारी से इसकी निगरानी के लिए कहा गया है।
पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने बताया कि पुलिस की पीआरवी वैन में अल्पहार की व्यवस्था रहती है। पुलिस भूखे लोगों को अल्पहार मुहैया करा रही है और आगे भी ध्यान रखा जाएगा। किसी को खाने-पीने की परेशानी नहीं होने दी जाएगी।
... और पढ़ें

कोरोना आशंकित को जिला अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया, नमूने भेजे अलीगढ़

संभल। कोरोना आशंकित युवक को रजपुरा से लाकर संभल के जिला अस्पताल स्थित आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। नाक और गले से नमूने लेकर परीक्षण के लिए अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज भेजे गए हैं। युवक पंद्रह दिन पहले गांव आया था। उसे बुखार है और श्वांस लेने में दिक्कत है। इसीलिए नमूना लिया गया है। अब अलीगढ़ से पता लगेगा कि युवक को कोरोना है या नहीं।
अब तक कुल सात नमूने संभल जिले से भेजे गए हैं और सभी निगेटिव आए हैं। संभल जिले में विदेश से कुल 68 लोग आए जिन्हें स्वास्थ्य विभाग ने अपनी निगरानी में लिया। इसमें 21 लोग निगरानी की अवधि से बाहर हो गए हैं। अब 47 लोगों की निगरानी चल रही है। वहीं दूसरे राज्यों से 8147 लोग आए जिसमें से 7541 की सेहत की सक्रीनिंग हो चुकी है। स्क्रीनिंग का सिलसिला जारी है। इसमें 35 टीमें लगी हुईं हैं।
कैलादेवी बाजार के रास्तों पर तैनात हुई पुलिस, नहीं लगीं दुकानें
संभल। कैलादेवी में साप्ताहिक बाजार सोमवार को लगता है लेकिन इस बार कोरोना के खतरे की वजह से नहीं लगा। सुबह से ही बाजार के रास्तों पर पुलिस तैनात हो गई थी। दुकानदारों को उनके ही गांव वापस कर दिया गया इसलिए कैलादेवी के मैदान में दुकानें नहीं लग सकीं। जिन लोगों को जरूरी सामान खरीदना था उन लोगों ने अपने अपने गांव की दुकानों में खरीदारी की है।
विदेश से आए हैं तो खुद प्रशासन को अवगत कराएं, अन्यथा होगी कार्रवाई
संभल। जिले में 12 मार्च के बाद अगर कोई व्यक्ति विदेश से आया है तो उसे अपने आगमन के बारे में जिला प्रशासन के कंट्रोल रूम 05921-243035 पर खुद ब खुद सूचना देनी है। अगर इस काम में उसके द्वारा कोई लापरवाही की जाती है और कोरोना फैलता है तो शासन विधिक कार्रवाई करेगा। इसके आदेश मुख्यमंत्री के सचिव आलोक कुमार ने जारी किए हैं। जिलाधिकारी को आदेश प्राप्त हो गए हैं।
... और पढ़ें

चार घंटे से ज्यादा खोली दुकान तो होगी कार्रवाई

चार घंटे से ज्यादा खोली दुकान तो होगी कार्रवाई
संभल। किराना की दुकानें दिन में 12 बजे से 4 बजे तक खोली जाएं। इसके बाद अगर कोई दुकान खोलता है तो उस पर लॉकडाउन के उल्लंघन की काईवाई होगी। यह अनाउंसमेंट नगर पंचायत सिरसी की ओर से किया गया है। इसके साथ ही ईओ पृथ्वीराज यादव ने बताया कि पैठ बाजार को कोरोना खतरे को देखते हुए नीलामी स्थगित कर दी गई है।
पेटिंग बनाकर बच्चे दे रहे कोरोना से बचाव का संदेश
संभल। संभल और चंदौसी में कई बच्चे अपने-अपने घरों में हैं और कोरोना से बचाव का संदेश दे रहे हैं। संभल से देवांश कौशिक ने कोरोना से बचाव की जागरूकता को कलाकृति बनाई है। चंदौसी में दस वर्ष के सूर्य ने लॉकडाउन के पहले दिन से ही एक पेटिंग कर जागरूकता का प्रयास किया है।
पी-01
... और पढ़ें

दिल्ली हिंसा के दो आरोपी क्राइम ब्रांच ने संभल से पकड़े

संभल। कोतवाली क्षेत्र के पंजू सराय निवासी दो लोगों को दिल्ली क्राइम ब्रांच गिरफ्तार कर ले गई है। यह दोनों लोग दिल्ली हिंसा में आरोपी बताए जा रहे हैं। क्राइम ब्रांच दिल्ली ले गई है। सोमवार को दिल्ली के रोहणी क्षेत्र की क्राइम ब्रांच संभल कोतवाली पहुंची।
मोबाइल नंबर की लोकेशन के आधार पर कोतवाली पुलिस के साथ पंजू सराय निवासी दो लोगों के घर दबिश दी। फुटेज के आधार पर शिनाख्त कर दोनों लोगों को हिरासत में ले लिया। क्राइम ब्रांच प्रभारी ने बताया कि दिल्ली हिंसा में यह दोनों लोग शामिल थे। मोबाइल नंबर के माध्यम से इनकी जानकारी की गई। अब फुटेज के आधार पर पहचान की गई है। हिंसा के आरोपियों को पुलिस दिल्ली लेकर चली गई है। संवाद
... और पढ़ें

बाबा ने कहा-बेटा देह त्यागने से ही मिलेगी मुक्ति, युवक ने दे दी जान

चंदौसी/गुन्नौर। छह दिन पूर्व राजघाट के पास खाई में मिले गांव मीरमपुर के घेर निवासी जुगेश के शव के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। जुगेश ने बाबा यानी पुजारी के उकसाने पर फंदा लगा लिया था। पुलिस ने खुलासा करते हुए आरोपी बाबा व दो अन्य लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। परिजनों ने पुलिस को जुगेश के घर न लौटने की तहरीर दी थी।
रविवार को कोतवाली गुन्नौर में प्रभारी निरीक्षक प्रवीन सोलंकी ने जुगेश प्रकरण का खुलासा करते हुए बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक जुगेश की मौत फंदा लगने से हुई थी। जबकि उसका शव राजघाट के पास खाई में पड़ा मिला था। जांच में सामने आया था कि जुगेश का मीरमपुर के चामुंडा मंदिर के बाबा हरिओम गिरि के पास आना जाना था। बाबा से पूछताछ की तो उसने सारा राज उगल दिया। बताया कि 23 मार्च की रात जुगेश बाइक से मंदिर पर पहुंचा। उस समय मंदिर पर गांव निवासी संजय, रामवीर थे। चारों ने बैठकर शराब पी। जुगेश ने बाबा से पारिवारिक व आर्थिक समस्या बताई।
नशे में बाबा हरिओम गिरि ने जुगेश को सलाह दी कि बेटा इस समस्या से मुक्ति का एक ही रास्ता है। तुम इस देह को त्याग दो। इसके बाद बाबा, संजय व रामवीर अंदर कमरे में चले गए। जुगेश ने दीवार पर चढ़कर पीपल के पेड़ की डाली से गमछा बांध कर फंदा लगा लिया। बाहर आने पर उन्हें जुगेश फंदे पर लटका मिला। उन्होंने जुगेश के शव को नीचे उतारा और उसकी बाइक से शव राजघाट की ओर ले गए और खाई में डाल दिया। उसकी बाइक भी वही छोड़ आए। इस मामले में तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया।
साथ बैठकर पी थी शराब
बाबा हरिओम गिरि ने बताया कि जुगेश रात को दस बजे मंदिर पहुंचा था। वह साथ में शराब व खाना भी लेकर आया था। सभी ने शराब पी। नशे में ही जुगेश ने बताया कि उसकी पत्नी लड़ती है। बोलेरो की किश्त भी नहीं भरी जा रही है। बेटी शादी लायक हो गई है। बताया कि नशे में ही उसे मरने की सलाह दे दी थी। उन्हें नहीं पता था, कि वह तुरंत ही ऐसा आत्मघाती कदम उठा लेगा।
... और पढ़ें

दिल्ली से 150 किमी साइकिल चलाकर पहुंचे युवक को गांव मे घुसने से रोका

संभल। कोरोना से बचाव के लिए लोग इस तरह सतर्क हो गए हैं कि अगर कोई व्यक्ति गांव आता है तो उसे उसके ही घर में स्वास्थ्य परीक्षण के बिना नहीं जाने दे रहे हैं। ऐसा ही एक मामला सिंहपुर सानी में सामने आया। गांव निवासी सतीश दिल्ली से 150 किलोमीटर साइकिल चलाकर रविवार को दिन में 11 बजे पहुंचा।
गांव के ही लोगों ने उसे गांव में अपने घर जाने से रोक दिया और आंगनबाड़ी केंद्र से आगे नहीं बढ़ने दिया। युवक भूखा था। गांव के लोगों ने उसके घर खबर दी। मां घर से भोजन लेकर आई। उसने आंगनबाड़ी केंद्र में ही भोजन किया।
इसके बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर फोन पर दिया। चिकित्साधीक्षक डा. जुहेब करीम पहुंचे। उन्होंने जांच की तो पता लगा कि युवक ठीक है। इसके बाद युवक को उसके घर जाने दिया गया।
... और पढ़ें

लॉकडाउन में ढील, बाजार में दुकानें बंद, लोगों की चहलकदमी जारी

चंदौसी। कोरोना से जंग को लॉक डाउन का पांचवां दिन है। पुलिस को देखकर लॉक डाउन में ढील दिखाई दे रही है। सुबह शाम बाजार व आबादी वाले क्षेत्रों में खूब चहलकदमी दिखाई दे रही है। इमरजेंसी सेवाओं के अतिरिक्त बाजार की सभी दुकानें बंद हैं। दोपहर में बाजार में खाली नजर आ रहे हैं। चौराहों व बाजार में इक्का दुक्का स्थानों पर होमगार्ड बैठे नजर आ रहा हैं। पुलिस सुबह के समय ही अलाउंसमेंट करती दिखाई दी।
पांचवें दिन भी चंदौसी में लॉक डाउन का पूरी तरह से असर दिखाई नहीं दे रहा है। सुबह के समय लाल मस्जिद गली, ब्रह्म बाजार, जारई गेट, सीकरी गेट, लक्ष्मण गंज, आवास विकास, गौशाला रोड, फव्वारा चौक आदि स्थानों पर लोगों की खूब चहल कदमी रही। कुछ लोग काम से, तो कुछ लोग बिना काम भी घूमते दिखाई दिए। उन्हें रोकने टोकने वाला कोई नहीं था। दोपहर के समय लोग घरों में रहे। इस समय बाजार, गली, मोहल्ले खाली दिखाई दिए। शाम ढलते ही एक बार फिर से लोगों का जमघट लग गया।
चौराहों से पुलिस गायब
लॉक डाउन के पांचवे दिन चौराहे, नुक्कड़, बाजार आदि स्थानों पर पुलिस नजर नहीं आई। इक्का दुक्का स्थानों पर पुलिस होमगार्ड दिखाई दिए। वह भी लॉक डाउन की ड्यूटी के बजाय कुर्सी पर बैठे आराम करते नजर आए। शहर में कुछ स्थानों पर पीआरवी व लैपर्ड की गाड़ी सामान्य दिनों की तरह घूमती नजर आई।
... और पढ़ें

संभल में कोई कोरोना पाजिटिव नहीं, जिले की सीमाओं पर बढ़ी सख्ती (लीड)

संभल। लॉक डाउन के पांचवें दिन दिल्ली एनसीआर और दूसरे राज्यों से लोगों के आने का सिलसिला जारी रहा। रविवार को सड़कें सूनी रहीं लेकिन गली-मोहल्लों में भीड़ भाड़ का माहौल रहा। लॉक डाउन का पालन करने के लिए पुलिस और प्रशासन की ओर से सख्ती बरती जा रही है। जिले में 39 स्थानों पर बैरियर लगा दिए गए हैं। आवश्यक सेवाओं को जारी रखा गया है लेकिन अनावश्यक किसी को नहीं निकलने दिया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने लोगों से घरों में रहने का आग्रह किया है।
जिले में आवश्यक वस्तुओं की अभी कहीं कोई कमी नजर नहीं आई। जो जरूरतमंद हैं उनके लिए प्रशासन और सामाजिक लोग सक्रियता दिखा रहे हैं। राजेश सिंघल, सुशील ठाकुर और चंद्रप्रकाश भट्ठे वालों ने सामुदायिक रसोई शुरू कराई है। जिलाधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह ने आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुुनिश्चित करने के लिए दवा, फल, सब्जी दुकानदारों की सूची मय फोन नंबर के जारी कराई है।
निजी अस्पतालों में कोरना से निबटने के लिए वार्ड बनाए जा रहे हैं। अभी तक जिले में एक भी कोरोना पाजिटिव नहीं है। जिन छह लोगों के नमूने कोरोना आशंकित मानकर भेजे गए थे वे सभी नमूने निगेटिव आए हैं। अब जिले में विदेशों से आए 44 लोगों की सेहत की निगरानी स्वास्थ्य विभाग कर रहा है। वैसे अब तक कुल 59 लोग कोरोना आशंकित देशों से आए हैं। इसमें 15 लोग ऐसे हैं जो 28 दिन की अवधि पार कर चुके हैं और पूरी तरह से सेहतमंद हैं।
... और पढ़ें

हाईटेंशन करंट से महिला की मौत

चंदौसी/बनियाठेर। थाना बनियाठेर क्षेत्र के गांव नेहटा में घास काटते समय हाईटेंशन करंट की चपेट में आ गई। हादसे में महिला की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पीएम को भेज दिया है। परिजनों का रो- रोकर बुरा हाल है।
थाना क्षेत्र के गांव निवासी हरप्यारी 50 वर्ष पत्नी हरद्वारी सिंह जंगल से पशुओं के लिए घास लेने गई थी। जंगल में गांव निवासी रामपाल सिंह ने पशुओं से गेहूं की फसल के बचाव के लिए खेत के चारों ओर तार फेसिंग कर रखी है। शनिवार को खेत के ऊपर से गुजर रही हाईटेंशन विद्युत लाइन का तार टूटकर फेसिंग पर गिर गया था। मेढ़ पर घास काटते समय हरप्यारी फेसिंग में आ रहे हाईटेंशन करंट की चपेट में आ रही है।
फेसिंग का तार महिला के सिर व बाजू में बैठ गया। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। करंट से हरप्यारी की आधी बाजू कट गई तथा चेहरे में तार बैठ गया। हाईटेंशन करंट की वजह से शव में आग भी लग गई। खेत पर गए लोगों ने घटना की सूचना परिजनों को दी। मौके पर पहुंचे इंस्पेक्टर सीवी सिंह ने घटना का जायजा लिया और शव कब्जे में लेकर पीएम को भिजवाया। महिला की मौत से परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us