विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

जानें कौन हैं श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास

राम मंदिर आंदोलन के अहम किरदार रहे अयोध्या के श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास को राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए गए 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाया गया है। जानें, उनके बारे में:

19 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

श्रावस्ती

बुधवार, 19 फरवरी 2020

क्षेत्र विकास निधि नहीं खर्च कर रहे भिनगा विधायक

श्रावस्ती। भिनगा विधायक विकास कार्यों में रुचि नहीं ले रहे हैं। इसके चलते वर्ष 2017-18 से लेकर अब तक विधायक क्षेत्र विकास निधि का तीन करोड़ छब्बीस लाख चौबीस हजार रुपये डीआरडीएम में पड़ा हुआ है। यही नहीं परियोजना का प्रस्ताव न देने के कारण वर्ष 2018-19 में जीएसटी के लिए आवंटित चालीस लाख रुपये भी लैप्स हो चुके हैं। निधि के तहत कार्य कराने के लिए सीडीओ की ओर से अब तक विधायक को करीब 15 रिमाइंडर भी भेजे जा चुके हैं। इसके बाद भी विधायक ने विकास कार्य के लिए एक भी प्रस्ताव नहीं भेजा है।
जिला भौगोलिक दृष्टिकोण से अल्प विकसित है। इसीलिए नीति आयोग ने इस जिले को अति पिछड़े जिले की सूची में शामिल कर यहां स्वास्थ्य, शिक्षा, कुपोषण के क्षेत्र में विशेष कार्य करने का निर्देश दिया था। शासन स्तर पर जिले में इन मामलों पर काम हो रहा है, लेकिन यहां की जनता की ओर से चुने गए भिनगा विधायक मोहम्मद असलम रायनी को लोगों की तकलीफों से शायद कोई लेना देना नहीं है।
इसीलिए जब से वह विधायक चुने गए हैं, उसी वर्ष से उनके क्षेत्र विकास निधि का पैसा खर्च ही नहीं हुआ। ऐसा नहीं है कि आम लोगों को उनसे उम्मीदें नहीं है। प्रतिदिन क्षेत्र के लोग कहीं गांव को संपर्क मार्ग से जोड़ने के लिए आरसीसी रोड़ तो कहीं जल निकासी के लिए नाली निर्माण तथा अपनी अन्य समस्याओं के समाधान के लिए फरियाद लेकर उनके दरवाजे पर आते हैं। यहां हर आने वाले को वह निधि का पैसा आते ही कार्य कराने का आश्वासन तो दे देते हैं, लेकिन तीन वित्तीय वर्ष के अवशेष तीन करोड़ छब्बीस लाख चौबीस हजार रुपये का प्रस्ताव उन्होंने कभी भी नहीं दिया। यहां तक कि प्रस्ताव न देने के कारण मुख्य विकास अधिकारी ने उन्हें अब तक लगभग 15 रिमाइंडर भी भेजे हैं, ताकि यह पैसा जिले के विकास पर खर्च हो सके। इसके बावजूद विधायक विकास कार्यों के इस पैसे को दबाए बैठे हैं।
यह धनराशि प्रस्ताव का कर रही इंतजार
वर्ष अवशेष धन
2017-18 छह लाख बावन हजार चार सौ रुपये
2018-19 एक करोड़ उन्नीस लाख बहत्तर हजार रुपये
2019-20 दो करोड़
जीएसटी के चालीस लाख का हुआ नुकसान
विधायक क्षेत्र विकास निधि के अंतर्गत आवंटित धन से अलग जीएसटी प्रतिपूर्ति देने का प्राविधान है। ऐसे में जिन योजनाओं का प्रस्ताव विधायक की ओर से दिया जाता है, उसकी जीएसटी प्रतिपूर्ति के लिए वर्ष 2018-19 में भिनगा विधानसभा को चालीस लाख आवंटित हुए थे। विधायक की ओर से प्रस्ताव नहीं दिए जाने के कारण 19-20 लगते ही यह धन लैप्स हो गया। अब जब भी 18-19 के अवशेष धन के लिए प्रस्ताव होगा तो जीएसटी क्षेत्र विकास निधि से ही काटी जाएगी। ऐसे में भिनगा विधानसभा क्षेत्र को लगभग चालीस लाख रुपये वार्षिक का नुकसान हुआ।
इन योजनाओं पर हो सकता था खर्च
विधायक क्षेत्र विकास निधि के अंतर्गत अब तक माननीयों की ओर से उन परियोजनाओं को लिया जाता रहा है, जो किसी अन्य योजना से आच्छादित न हो व जिसका उपयोग ज्यादा से ज्यादा लोग करते हों। क्षेत्र में अक्सर पेयजल, सिंचाई, संपर्क मार्ग व शिक्षा उन्नयन के लिए आम लोगों की ओर से प्रस्ताव विधायक को भेजे जाते हैं, ताकि क्षेत्र में आम लोगों को इसका लाभ मिले। लेकिन विधायक की ओर से अभी तक किसी के प्रस्ताव पर कोई विचार नहीं किया गया।
भिनगा विधान सभा क्षेत्र विकास निधि का पैसा अभी बहुत बचा हुआ है। इस पर प्रस्ताव देने के लिए कई बार रिमाइंडर भी भेजा गया है, लेकिन अभी तक कोई भी प्रस्ताव नहीं प्राप्त हुआ है। प्रस्ताव मिले तभी यह पैसा खर्च हो पाएगा। वहीं वित्तीय वर्ष 2018-19 में आवंटित जीएसटी मद का चालीस लाख रुपये वित्तीय वर्ष पूरा हो जाने के कारण वापस कर दिया गया है। - अवनीश राय, सीडीओ
हरिहरपुररानी व सिरसिया विकास खंड क्षेत्र के लिए छह माह पूर्व प्रस्ताव भेजा गया था। इसका टेंडर हो चुका है। वहीं वित्तीय वर्ष 19-20 का अवशेष दो करोड़ रुपये 31 मार्च तक प्रस्ताव देकर खर्च कर दिया जाएगा। - मोहम्मद असलम रायनी, भिनगा विधायक
... और पढ़ें

विशेष जांच अभियान में परखी सुरक्षा

श्रावस्ती। अपराधों की रोकथाम व अपराधियों पर प्रभावी कार्रवाई के लिए शुक्रवार को जिला पुलिस ने विशेष अभियान चलाया। एसपी के निर्देश पर चलाए गए इस अभियान के दौरान स्थानीय पुलिस ने थाना क्षेत्र के प्रमुख मार्गों पर वाहनों की जांच की। इसके साथ ही पुलिस ने तहसील व न्यायालय परिसर सहित बैंक व बाजारों में सुरक्षा व्यवस्था जांची।
लखनऊ के जिला एवं सत्र न्यायालय में गुरुवार को हुई घटना के बाद श्रावस्ती पुलिस पूरी तरह अलर्ट हो गई है। शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक अनूप सिंह के निर्देश पर जिला पुलिस ने पूरे जिले में विशेष जांच अभियान चलाया। इस दौरान एएसपी बीसी दुबे, सीओ भिनगा डॉ. जंग बहादुर यादव, सीओ तारकेश्वर पांडेय ने थाना व चौकी प्रभारियों के साथ सुरक्षा व्यवस्था जांची। भिनगा पुलिस ने दीवानी न्यायालय परिसर भिनगा सहित सदर तहसील व तहसील में स्थापित बंदी लॉकअप की सुरक्षा व्यवस्था देखी।
इस दौरान लाकअप व न्यायालय परिसर में तैनात पुलिस कर्मियों से आवश्यक जानकारी ली। इसके साथ ही न्यायालय परिसर में भ्रमणशील रहकर अनाधिकृत रूप से आने जाने वालों का प्रवेश रोकने का निर्देश दिया। वहीं पुलिस कर्मियों को लाकअप में बंद विचाराधीन बंदियों को बाहर से कोई सामान न लेने देने, परिवारीजनों को दूर से ही बात करवाने, खाने पीने आदि के सामानों की बिना जांच किए बंदियों तक न पहुंचने देने की सलाह दी। इसके साथ ही पुलिस कर्मियों ने बाजार व मुख्य मार्ग का भ्रमण कर पटरियों पर अनाधिकृत रूप से वाहन न खड़ा होे देने तथा अतिक्रमण को हटाने को कहा।
वहीं जिले के अन्य थाना क्षेत्रों के उपनिरीक्षकों ने तहसील सहित बैंकों में जाकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। पुलिस ने बैंक शाखाओं में सुरक्षा उपकरणों को देखा, साथ ही वहां तैनात सुरक्षा कर्मियों को पूरी तरह मुस्तैद रहने को कहा। इस दौरान कस्बा सहित ग्रामीण क्षेत्र में बाइकर्स गैंग की ओर से की जाने वाली घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए दो पहिया व चौपहिया वाहनों की चेकिंग की। पुलिस ने क्षेत्र के भीड़भाड़ वाले स्थानों, बाजार, माल, सर्राफा बाजार, बैंक, एटीएम, बस स्टैंड, सिनेमा हाल आदि पर संदिग्ध वाहनों की जांच की। इस दौरान 128 वाहनों का ई चालान कर 158600 रुपये शमन शुल्क वसूला। वहीं बिना नंबर प्लेट के चार दो पहिया वाहनों को सीज भी किया।
... और पढ़ें

सफाई कर्मियों ने प्रदर्शन कर उठाई आवाज

श्रावस्ती। नगर पालिका भिनगा में कार्यरत सफाई कर्मी अपने बकाया वेतन सहित कई अन्य मांगों को लेकर शुक्रवार को आंदोलित हो गए। सफाई कर्मियों ने भिनगा में प्रदर्शन कर एसीपी, सातवां वेतन आयोग का लाभ देने के साथ संविदा कर्मियों के बकाया वेतन भुगतान की मांग उठाई। इस दौरान उन्होंने एडीएम को एक ज्ञापन भी सौंपा।
भिनगा नगर पालिका परिषद के सफाई कर्मचारी एसीपी व सातवें वेतन आयोग का लाभ न मिलने तथा संविदा कर्मियों व सेवानिवृत्त कर्मचारियों बकाया भुगतान न होने से आंदोलित हैं। कर्मचारियों ने शुक्रवार को जिलाधिकारी यशु रुस्तगी को संबोधित एक ज्ञापन अपर जिलाधिकारी योगानंद पांडेय को सौंपा। इसमें कर्मचारियों ने मांग की है कि निकाय कर्मचारियों को शासनादेश के अनुसार राज्य वित्त आयोग से प्राप्त धन से वेतन व पेंशन का भुगतान किया जाए। इसके साथ ही नियमित कर्मचारियों को आज तक एसीपी व सातवां वेतन आयोग का लाभ नहीं मिला है। जिसे तत्काल दिलाया जाए।
भिनगा नगर पालिका में सेवानिवृत्त कर्मचारियों को आज तक अनुमन्य लाभ नहीं दिया गया। इसके चलते सेवानिवृत्त कर्मचारियों के परिवारीजन आर्थिक संकट झेल रहे हैं। यही नहीं विगत छह माह से संविदा सफाई कर्मियों के मानदेय का भुगतान भी नहीं हुआ है। इसे तत्काल दिलाया जाए। कर्मचारियों ने परिवार की आर्थिक समस्या का हवाला देते हुए अपनी मांग पर डीएम से गंभीरता पूर्वक विचार करने की अपील की है। ज्ञापन देने वालों में माया देवी, पूनम, पप्पू, ननकू, रमेश, वृजेश, संतोष, शेरू, राधेश्याम सहित कई अन्य कर्मचारी शामिल रहे।
... और पढ़ें

मंडलायुक्त व डीआईजी ने परखी शिक्षा व्यवस्था

श्रावस्ती। जिले के एक दिवसीय दौरे पर आए मंडलायुक्त व डीआईजी ने मंगलवार को उच्च प्राथमिक विद्यालय पटना व प्राथमिक विद्यालय पटना खास का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने विद्यालय की शिक्षा व्यवस्था का हाल जाना। इसके बाद उन्होंने पटना खरगौरा में बनी गौशाला का भी निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश दिया।
हरिहरपुररानी क्षेत्र के उच्च प्राथमिक विद्यालय पटना पहुंचे मंडलायुक्त महेंद्र कुमार ने कहा कि बच्चे घड़े के समान हैं। जिस प्रकार एक कुम्हार मिट्टी को तराश कर बेहतर आकार देकर उसे घड़ा बना देता है। ठीक उसी प्रकार शिक्षक बच्चों को बेहतर शिक्षा देकर उनका भविष्य उज्ज्वल बनाएं। जिससे बच्चे पढ़ लिखकर आगे बढ़ सके। इस दौरान उन्होंने कक्षा 6, 7 व 8 के बच्चों से गणित के सवाल पूछे। वहीं सामाजिक विज्ञान की पुस्तक भी पढ़ाई।
बच्चों की ओर से सही उत्तर देने पर छात्रों के साथ एकल अध्यापक अशोक कुमार यादव की प्रशंसा की। इसके बाद उन्होंने प्राथमिक विद्यालय पटना खास का भी निरीक्षण किया। जहां उन्होंने बच्चों से पहाड़ा व गिनती सुनी। इस दौरान उन्होंने शिक्षक को और बेहतर कार्य करने का निर्देश दिया। साथ ही बीएसए ओमकार राणा को शिक्षा व्यवस्था में गुणात्मक सुधार लाने को कहा।
इसके बाद मंडलायुक्त ने पुलिस उप महानिरीक्षक डॉ. राकेश सिंह के साथ पटना खरगौरा स्थित गौ आश्रय स्थल का भी निरीक्षण किया। इस दौरान मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने बताया कि यहां कुल 30 गौवंश हैं। ग्राम प्रधान की ओर से गोवंशों की देख भाल, चारा व अन्य व्यवस्थायें की जाती हैं। आयुक्त ने सीवीओ को निर्देश दिया कि गोवंशों का समय समय पर स्वास्थ्य परीक्षण कराएं। इस दौरान जिलाधिकारी यशु रुस्तगी, अपर जिलाधिकारी योगानंद पांडेय, उपजिलाधिकारी भिनगा प्रवेंद्र कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
... और पढ़ें
परिषदीय विद्यालयों में जांच करते आयुक्त। परिषदीय विद्यालयों में जांच करते आयुक्त।

हल होगी सिंचाई की समस्या, स्वास्थ्य व पर्यटन क्षेत्र का होगा विकास

श्रावस्ती। प्रदेश सरकार ने मंगलवार को विधानसभा में बजट पेश किया। इसमें अल्प विकसित तराई के इस जिले के युवा, किसान, अधिवक्ताओं के साथ स्वास्थ्य सेवा व पर्यटन के क्षेत्र में एक नया मुकाम हासिल करने का प्रयास किया गया। भारत नेपाल सीमा पर बसे इस जिले को बीएडीपी कार्यक्रम से नई धार देने की कोशिश की गई है। बंगाल टाइगर के लिए रिजर्व सोहेलदेव वन्य जीव अभ्यरण्य व बौद्ध तपोस्थली के ईको टूरिज्म में परिवर्तित होने से रोजागार के अवसर मिलने की उम्मीद जगी है। कौशल विकास से लोगों को प्रशिक्षित कर रोजगार से जोड़ने की कवायद की गई। जिले में वर्षों से अधूरी पड़ी सरयू नहर परियोजना को गति देते हुए जिले के लगभग ढाई लाख किसानों को सीधे तौर पर फायदा देने की कवायद हुई है। इस परियोजना के पूरा होते ही असिंचित क्षेत्र की धरती लहलहा उठेगी।
तीन लाख लोगों को मिलेगा युवा हब का लाभ
हर जिले को युवा हब बनाने का प्रावधान बजट में पहली बार किया गया है। इस हब के तहत युवाओं को कौशल विकास से प्रशिक्षित किया जाएगा। इसके बाद उन्हें रोजगार की मुख्य धारा से जोड़ा जाएगा। इस प्रशिक्षण में परख योजना से स्वरोजगार की अलख भी जगेगी। तराई के इस जिले के कम पढ़े लिखे लोगों को अच्छे संस्थानों में अप्रेंटिस करने का मौका मिलेगा। इस दौरान सरकार उन्हें ढाई हजार का मानदेय भी देगी। इस योजना में जिले के लगभग तीन लाख लोग सीधे तौर पर लाभान्वित होंगे।
असिंचित क्षेत्रों तक पहुंचेगा पानी
सरयू नहर परियोजना लगभग डेढ़ दशक से निर्माणाधीन है। जिले में यह परियोजना लगभग 300 किलोमीटर क्षेत्र को आच्छादित करती है। यह परियोजना जमुनहा, सिरसिया व हरिहरपुररानी होते हुए गिलौला, इकौना से बलरामपुर को जोड़ती है। जिले में परियोजना अभी अधूरी है। परियोजना को पूरा करने के लिए प्रस्ताव भेजा गया था। इस बजट में पैसा मिला है। श्रावस्ती को लगभग सौ करोड़ रुपये का आवंटन होने की उम्मीद है। इस परियोजना के पूरा होते ही लगभग पांच हजार हेक्टेअर से अधिक भूमि सिंचित हो जाएगी। जिससे जहां आज उत्पादकता कम है वहीं उत्पादकता बढ़ेगी।
- अजय कुमार, अधिशासी अभियंता, सरयू नहर खंड छह
न्याय होगा सुगम
न्याय को सुगम बनाने के लिए पहले ही छह कोर्ट निर्माण को मंजूरी मिल चुकी है। इसके साथ ही कुटुंब न्यायालय अधिवक्ता चेंबर निर्माण का प्रस्ताव शासन में विचाराधीन था। अधिवक्ता चेंबर बनाने के लिए 4800 वर्ग मीटर जमीन भी चिह्नित की जा चुकी है। इसी के साथ ही न्यायालय में सुरक्षा व्यवस्था के लिए विशेष प्रयास हुए थे। नव निर्मित न्यायालय में प्रवेश के लिए तीन गेट बनाए गए हैं। सभी पर सीसीटीवी, स्वागत कक्ष बनाया जाना है। इस सभी मदों में राज्य सरकार ने खुल कर बजट दिया है। इससे लोगों को सुगम न्याय मिलने की उम्मीद है। - विमल पाठक अधिवक्ता
बीएडीपी के साथ पर्यटन को मिलेगी गति
नेपाल बार्डर एरिया डेवलेपमेंट कार्यक्रम के तहत जिले से कार्य योजना शासन को भेजी गई थी। इसमें सोहेलवा वन्य जीव अभ्यरण में ईको टूरिज्म, श्रावस्ती में शिल्प कला ग्राम सहित कई अन्य विषयों को शामिल किया गया था। अभी तक यह प्रस्ताव मंजूरी का इंतजार कर रहा था। इस बजट में बीएडीपी के साथ साथ बौद्ध पर्यटन क्षेत्र के विकास को गति देने का प्रावधान किया गया है। इससे उम्मीद जगी है कि जिले में पर्यटन से उद्योग का रास्ता खुलेगा। आम लोगों को इसका सीधा लाभ मिलेगा। - विनय तिवारी, डीडीओ
बेहतर होगीं चिकित्सीय सुविधाएं
भारत नेपाल सीमा से जिला सटा होने के कारण यहां नेपाल से भी लोग इलाज के लिए आते हैं। अभी तक यहां इलाज के लिए मात्र जिला अस्पताल ही बेहतर विकल्प था, लेकिन इस बजट में सीएचसी को भी आधुनिक चिकित्सा उपकरण मिलने जा रहे हैं। इसके साथ ही पीपीपी माडल के तहत जिले में मेडिकल कॉलेज बनना पहले से प्रस्तावित है। इसी के बाद जिला चिकित्सालयों को उच्चीकृत कर मेडिकल कॉलेज में परिवर्तित करने की योजना का प्रावधान हुआ है। इससे उम्मीद है कि जिले की स्वास्थ्य सेवा से स्थानीय बारह लाख लोग तो लाभान्वित होंगे, साथ ही नेपाल के नागरिकों को भी यहां सुविधाएं मिलेगी। - डॉ. मुकेश मातनहेलिया, एसीएमओ
युवा अधिवक्ताओं के लिए सुनहरा अवसर
जिले में युवा अधिवक्ताओं के रूप में 200 से अधिक लोग कार्यरत हैं। यह पेशा चुनौतियों से भरा हुआ है। शुरुआती दौर में युवाओं के सामने आर्थिक समस्या के साथ ही अपनी क्षमता बढ़ाने की समस्या रहती है। इस बजट में युवा अधिवक्ताओं को अर्थिक सहायता प्रदान करने व किताब एवं पत्रिका के लिए भी फंड का प्रावधान किया गया है। इससे युवा अधिवक्ताओं को कुछ राहत मिलेगी।
- अशोक पाठक, युवा अधिवक्ता
बजट से जिले के लोगों को मिलेगा लाभ
तराई का यह जिला अल्प विकसित है। इसी लिए नीति आयोग ने इस जिले को आकांक्षी जिले के रूप में चिह्नित कर रखा है। यहां के अधिकांश ग्रामीण आबादी के पास अभी अपना पक्का मकान नहीं है। बजट में मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास के लिए किए गए प्रावधान से जिले के लोग लाभान्वित होंगे। - किरन वर्मा
जिले के सिरसिया, जमुनहा व हरिहरपुररानी विकास क्षेत्र में पेयजल दूषित है। यहां जमीन से निकलने वाले पानी में आर्सेनिक व अन्य तत्व पाए जाते हैं। इससे आम लोगों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। बजट में जल जीवन मिशन के प्रावधान से तराई के लोगों को बेहतर पेयजल की सुविधा मिलेगी। - पुतुल जायसवाल
छोटे किसानों के लिए भी मुख्यमंत्री लघु सिंचाई योजना लाभकारी है। इससे निशुल्क बोरिंग कराने व नलकूप सहित कई अन्य लाभ मिलेंगे। इसका लाभ जिले के अधिकांश किसानों को मिलेगा। इसका कारण जिले में अत्यधिक सीमांत किसानों का होना है। किसानों को सिंचाई की समस्या से राहत मिलेगी। - विकास वर्मा, किसान
जिले में सड़कों का जाल तो है। लेकिन ग्रामीण मार्गों की स्थिति जर्जर है। कुछ मार्ग जो दूसरे जिले को जोड़ते हैं, वह काफी संकरे हैं। इस बजट में ग्रामीण मार्गों को विशेष रूप से चिह्नित किया गया है। इसका लाभ तराई वाले इस जिले को मिलेगा। इससे लोगों को आवागमन में राहत मिलेगी। - आराधना त्रिवेदी
जिले में सिरसिया क्षेत्र ऐसा है जहां वर्षा कम होती है। सरकार ने जिन 18 जनपदों को हर खेत को पानी योजना से जोड़ा है उसमें श्रावस्ती भी है। इसलिए उम्मीद है कि इस योजना का लाभ सिरसिया सहित जिले के अन्य विकास खंडों को भी मिलेगा। फसलों को पानी मिलने से पैदावार बेहतर होगी। - गुठनी
आधी आबादी को भी लाभ
कन्या सुमंगला योजना के तहत बेटियों के विकास का सपना प्रदेश सरकार के बजट से पूरा हो रहा है। इसके साथ ही बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के लिए भी बजट में प्रावधान किया गया है। इससे बेटियों के शिक्षा स्तर में सुधार होगा। वह परिवार के अन्य सदस्यों के कंधे से कंधा मिला कर चल सकेंगी। - स्मृति ओझा
सभी क्षेत्रों में होगा विकास
श्रावस्ती जैसे आकांक्षी जनपद के लिए राज्य सरकार का यह बजट नई दिशा देने वाला है। इससे सिंचाई, शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, पर्यटन से रोजगार का अवसर बढ़ेंगे। इसके साथ ही कुपोषण से लड़ने का रास्ता भी साफ होगा। - अवनीश राय, सीडीओ
... और पढ़ें

समाधान दिवस में मंडलायुक्त व डीआईजी ने सुनी फरियाद

श्रावस्ती। जिले की तहसीलों में मंगलवार को संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन हुआ। इस दौरान कुल 223 मामले आए, इनमें से 15 का मौके पर निपाटार हुआ। भिनगा में आयोजित जिला स्तरीय संपूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता आयुक्त देवी पाटन मंडल गोंडा ने की।
भिनगा में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में मंडलायुक्त महेंद्र कुमार ने कहा कि जन शिकायतों के निस्तारण में शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। संबंधित विभागीय अधिकारी फरियादियों की समस्याओं व शिकायतों को गंभीरता से ले। जिसका समय सीमा में गुणवत्तापूर्ण ढंग से निपटारा करें। जिससे फरियादियों को अपनी समस्याओं का निपटारा कराने के लिए भटकना न पड़े। उन्होंने निर्देश दिया कि आईजीआरएस, मुख्यमंत्री हेल्पलाइन सहित कार्यालय में प्राप्त शिकायतों का भी समय सीमा के अंदर निपटारा करें।
पुलिस उप महानिरीक्षक डॉ. राकेश सिंह ने कहा कि तहसील व थाना दिवसों में प्राप्त शिकायतों को पंजिका में दर्ज करें। पुलिस क्षेत्राधिकारी एवं थानाध्यक्ष यह सुनिश्चित करें कि थानों में आयोजित समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों को सूचीबद्ध कर प्राथमिकता के आधार निपटारा कराएं। बार्डर क्षेत्रों में विशेष निगरानी भी बरती जाए। इस दौरान कुन्ननपुर निवासी सलीम अहमद ने 10 लाख रुपये विद्युत बिल आने की शिकायत की। जबकि उसका कहना था कि वह समय से अपने विद्युत बिल का भुगतान कर रहा है। इस पर अधिशासी अभियंता पावर कॉर्पोरेशन को विद्युत बिल संशोधित करने का निर्देश दिया।
भिनगा देहात निवासी शिवकुमार ने किसान सम्मान निधि का लाभ दिलाने, पैकौरी निवासी रामगोपाल सिंह ने ढैंचा बीज का अनुदान दिलाने की मांग की। इस दौरान यहां कुल 105 शिकायतें आई। इनमें से पांच मामलों का निपटारा हो सका। इस दौरान डीएम यशु रुस्तगी व एसपी अनूप सिंह सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे। इकौना में 91 के सापेक्ष 08 व जमुनहा में 27 के सापेक्ष 02 शिकायतों का निपटारा किया गया।
... और पढ़ें

संदिग्ध हालात में युवक की मौत

श्रावस्ती। मल्हीपुर थाना क्षेत्र के ग्राम शिकारी चौड़ा के मजरा रमवापुर निवासी एक युवक की सोमवार रात संदिग्ध हालात में मौत हो गई। युवक की पत्नी ने एक व्यक्ति पर पैसे हड़पने और उसी के सदमे में आकर पति की मौत का आरोप लगाते हुए पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेज दिया है।
मल्हीपुर थाना क्षेत्र के ग्राम शिकारी चौड़ा के मजरा रमवापुर निवासी अमरेंद्र सिंह उर्फ छोटकऊ (40) पुत्र त्रिभुवन सिंह की सोमवार रात संदिग्ध हालात में मौत हो गई। मामले में मृतक की पत्नी ने थाना क्षेत्र के ही वीरगंज पटना निवासी व्यक्ति पर पैसा हड़पने तथा उसके सदमे में पति की मौत होने का आरोप लगाया है। मामले में मृतक की पत्नी ने मल्हीपुर पुलिस को दी तहरीर में कहा है कि कुछ दिन पूर्व उसके पति अमरेंद्र सिंह ने वीरगंज निवासी व्यक्ति से एक एसयूवी खरीदी थी। इसके बदले अमरेंद्र ने उसे 625000 रुपये दिया था।
एसयूवी खराब होने के कारण अमरेंद्र ने उसे वापस कर दिया था। वहीं वीरगंज निवासी ने अमरेंद्र को मात्र तीन लाख रुपये ही वापस किया, शेष तीन लाख पच्चीस हजार रुपये देने से उसने इंकार कर दिया था। इसी सदमे में आकर अमरेंद्र सिंह की मौत हो गई। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस क्षेत्राधिकारी हौसला प्रसाद व थानाध्यक्ष देवेंद्र कुमार पांडेय ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेजा दिया है।
इस बारे में प्रभारी निरीक्षक मल्हीपुर ने बताया कि शव को पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारणों का पता चल सकेगा। उसी के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

29 केंद्र पर आज परीक्षा देंगे 7261 परीक्षार्थी

श्रावस्ती। यूपी बोर्ड परीक्षा मंगलवार से जिले के 29 केंद्रों पर शुरू होगी। इसमें जिले के 115 विद्यालयों में शिक्षणरत कुल 16742 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसके लिए परीक्षा कक्षों में परीक्षार्थियों के रोल नंबर वाली स्लिप डेस्क पर चिपकाई गई है। इसके साथ ही विद्यालय में सिटिंग प्लान भी लगाया गया है, ताकि परीक्षार्थियों को अपना कक्ष खोजने में समस्या न हो।
परीक्षा को सकुशल नकल विहीन संपन्न कराने के लिए छह सेक्टर मजिस्ट्रेट व 29 स्टेटिक मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई है। वहीं अलक्षेंद्र इंटर कॉलेज भिनगा को उत्तर पुस्तिका संकलन केंद्र बनाया गया है।
यूपी बोर्ड परीक्षा का पहला पेपर मंगलवार से प्रारंभ होगा। पहले दिन प्रथम पाली में हाईस्कूल व द्वितीय पाली में इंटर की हिंदी विषय की परीक्षा होगी। इस दौरान जिले में संचालित 115 विद्यालयों में पढ़ रहे कुल 16742 छात्र 29 परीक्षा केंद्रों पर एग्जाम देंगे। इसमें हाईस्कूल के 9481 तो इंटर के 7261 छात्र शामिल होंगे।
परीक्षाएं सकुशल संपन्न हों, इसके लिए प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। सोमवार को छात्रों ने अपने केंद्रों पर पहुंचकर सीटिंग प्लान देखा, ताकि मंगलवार को विद्यालय पहुंचने पर उन्हें किसी समस्या का सामना न करना पड़े। परीक्षा के दौरान सर्वाधिक छात्रों की संख्या जगतजीत इंटर कॉलेज इकौना में 1334 व सबसे कम संख्या अबू आसिम आजमी इंटर कॉलेज में 255 होगी।
वहीं एक हजार परीक्षार्थी से अधिक की संख्या वाले जिले में मात्र छह स्कूल हैं। जिसमें सीआरबी इंटर कॉलेज में 1183, नेहरू स्मारक में 1189, एलबीएस इंटर कॉलेज वीरगंज में 1056, श्रीअलक्षेंद्र इंटर कॉलेज भिनगा में 1205 व आचार्य चाणक्य इंटर कॉलेज महरौली में 1066 परीक्षार्थी एग्जाम देंगे। बाकी सभी केंद्रों में छात्रों की संख्या एक हजार से कम है।
बोर्ड एग्जाम में पहले दिन की परीक्षा सुबह आठ बजे से 11:15 तक होगी। पहली पाली में हाईस्कूल की हिंदी प्रारंभिक की परीक्षा होगी। इसमें 9481 बच्चे शामिल होंगे। वहीं द्वितीय पाली दोपहर 2 बजे से 5:15 तक होगी। इस पाली में इंटरमीडिएट के 7261 बच्चे हिंदी सामान्य की परीक्षा देंगे।
सीडीओ अवनीश राय ने बताया कि परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षार्थी को बोर्ड की ओर से जारी प्रवेश पत्र, हाईस्कूल के छात्रों के लिए कक्षा-9 का रजिस्ट्रेशन कार्ड तथा इंटरमीडिएट के छात्रों के लिए कक्षा-11 का रजिस्ट्रेशन कार्ड ले जाना अनिवार्य है। इसके साथ ही यदि उपलब्ध हो तो आधारकार्ड या सरकार की ओर से जारी अन्य कोई पहचान पत्र अपने साथ ले जाएं।
वहीं परीक्षार्थी पारदर्शी जामेट्री बाक्स तथा पानी की बोतल भी अपने साथ परीक्षा कक्ष में ला सकते है। परीक्षा केन्द्र पर किसी प्रकार की अध्ययन सामग्री, मोबाइल, हेडफोन, कैलकुलेटर, स्मार्ट वाच, बैग तथा परीक्षा को प्रभावित करने वाले अन्य इलेक्ट्रानिक यंत्र ले जाने पर पाबंदी है। परीक्षार्थी कक्ष में बातचीत न करें, अनुशासित तथा सहज रहें, तनावमुक्त होकर परीक्षा पर फोकस करें एवं किसी प्रकार की असुविधा होने पर अपने कक्ष निरीक्षक को अवगत कराएं।
जगतजीत इंटर कॉलेज इकौना के प्राचार्य डॉ. भूदेश्वर पांडेय ने बताया कि परीक्षा के दौरान बच्चों में तनाव न हो, इसके लिए अभिभावक उनकी मदद करें। अभिभावक अपने बच्चों से अनावश्यक बहुत अधिक अपेक्षाएं न करें, बच्चे को स्वस्थ वातावरण दें। उसके संतुलित आहार का ध्यान रखें। उन्हें तरल पेय दें तथा बच्चों का मनोबल बढ़ाएं और उन्हें प्रोत्साहित करें एवं बच्चों को तनाव मुक्त रखने का प्रयास करें।
... और पढ़ें

बैंक शाखाओं में जांची सुरक्षा व्यवस्था

श्रावस्ती। अपराधियों पर नकेल कसने के लिए जिला पुलिस पूरी तरह गंभीर है। एसपी के निर्देश पर जिला पुलिस ने सोमवार को अधिकारियों के साथ मिलकर बैंकों की सुरक्षा व्यवस्था जांची। इस दौरान मौजूूद लोगों को आवश्यक टिप्स दिए। इसके साथ ही बैंक के आसपास जमावड़ा लगाने वालों को जेल भेजने की चेतावनी भी दी।
पुलिस अधीक्षक अनूप सिंह के निर्देश पर सोमवार को सभी थाना व चौकी प्रभारियों ने बैंक शाखाओं की जांच के लिए विशेष अभियान चलाया। इस दौरान एएसपी बीसी दूबे के नेतृत्व में पुलिस क्षेत्राधिकारी भिनगा डॉ. जंग बहादुर यादव व भिनगा कोतवाली पुलिस ने भिनगा नगर सहित आसपास क्षेत्र के बैंकों की सुरक्षा जांची।
वहीं क्षेत्राधिकारी जमुनहा हौसला प्रसाद के नेतृत्व में मल्हीपुर पुलिस व इकौना व गिलौला पुलिस ने बैंक में लगे सीसीटीवी, सायरन व संदिग्ध व्यक्तियों सहित वाहनों की जांच की। इस दौरान पुलिस कर्मियों ने बैंक में उपस्थित लोगों से वहां आने का कारण पूछा साथ ही उन्हें सुरक्षा की जानकारी देकर जागरूक रहने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान भिनगा, इकौना, सोनवा, गिलौला, सिरसिया व मल्हीपुर पुलिस ने थाना क्षेत्र में पड़ने वाली विभिन्न बैंक शाखाओं में जाकर सुरक्षा उपकरणों की जांच की, साथ ही यहां तैनात सुरक्षा कर्मियों को पूरी तरह मुस्तैद रहने को कहा।
... और पढ़ें

संविदा वार्ड बॉय ने मरीज को बेचे सरकारी इंजेक्शन

श्रावस्ती। सेवा प्रदाता द्वारा रखे गए संविदा वार्ड बॉय ने इमरजेंसी की जीवनरक्षक दवा मरीज के हाथों बेच दी। पूरा पैसा न मिलने पर वार्ड बॉय ने मरीज को अपशब्द भी कहे। मरीज द्वारा इसकी शिकायत करने पर एडीएम ने मौके का निरीक्षण कर सीएमएस को कार्रवाई का निर्देश दिया। वहीं, सीएमएस ने नियोक्ता कंपनी को उक्त वार्ड बॉय को हटाने के लिए नोटिस जारी किया है।
सिरसिया के तेंदुआ रतनपुर गांव निवासी श्रीराम यादव का कुछ दिन पूर्व एक्सीडेंट हो गया था। इसमें उनका दाहिना हाथ कई जगह से टूट गया था। बहराइच में हाथ का ऑपरेशन हुआ था। इसके बाद जब हाथ ठीक नहीं हुआ तो बहराइच से उसे लखनऊ स्थित राम मनोहर लोहिया अस्पताल रेफर किया गया। मगर उसके पास पैसा न होने के कारण वह इलाज के लिए वहां नहीं जा सका।
इस बीच श्रीराम के हाथ का जख्म तकलीफदेह होता जा रहा था। इस पर श्रीराम सोमवार को संयुक्त जिला अस्पताल स्थित इमरजेंसी यूनिट में गया था। जहां उसे गेट पर ही सेवा प्रदाता द्वारा रखे गए वार्ड बॉय आज्ञाराम से मुलाकात हो गई। आज्ञाराम ने बताया कि घाव भरने के लिए इमरजेंसी में इंजेक्शन उपलब्ध है। इसकी कीमत 300 रुपये प्रति पीस है मगर वो 500 रुपये में उसे तीन डोज दे देगा।
इस पर श्रीराम ने वार्ड बॉय से तीन इंजेक्शन लेकर उसे 450 रुपये दे दिए। श्रीराम के पास शेष 50 रुपये नहीं थे। इसको लेकर वार्ड बॉय ने उसे अपशब्द कहते हुए फटकारना शुरू कर दिया। सरकारी दवा के एवज में पैसा देने पर भी बेइज्जत किये जाने से क्षुब्ध श्रीराम ने डीएम को फोन करके मामले की शिकायत की।
इस पर डीएम ने एडीएम योगानंद पांडेय को मामले की जांच करने का निर्देश दिया। एडीएम के संयुक्त जिला अस्पताल पहुंचने पर श्रीराम ने उन्हें पूरे मामले की जानकारी दी। इस पर एडीएम ने सीएमएस विजय कुमार को मामले में कार्रवाई करने का निर्देश दिया।
सीएमएस का कहना है कि वार्ड बॉय द्वारा सरकारी दवा मरीज को बेचने की जानकारी मिली। मामले की जांच की जा रही है। सेवा प्रदाता कंपनी अवनीपरी को नोटिस भेजा जा रहा है कि वह तत्काल वार्ड बॉय आज्ञाराम को हटा लें। वहीं, एडीएम योगानंद पांडेय का कहना है कि पीड़ित की शिकायत मिली थी। जिसके निस्तारण का सीएमएस को निर्देश दिया गया है।
... और पढ़ें

जर्जर सड़कों पर आवागमन हुआ दुश्वार

श्रावस्ती। जिले में मुख्य मार्गों को गड्ढा मुक्त बनाने के नाम पर प्रतिवर्ष करोड़ों रुपये खर्च हो रहे हैं, इसके बावजूद समस्या ज्यों की त्यों बनी है। वहीं भिनगा राजपुर मोड़ मार्ग का हाल बदहाल है। भिनगा जंगल के अंटा तिराहे से राजपुर मोड़ तक इस मार्ग पर वाहनों का चलना भी दूभर बना हुआ। क्षतिग्रस्त मार्ग व पटरियां दुर्घटना का कारण बन रही है। सीमा क्षेत्र को जोड़ने वाले इस महत्वपूर्ण मार्ग की मरम्मत कागजों में प्रति वर्ष दो बार हो रही है, जबकि हकीकत एकदम विपरीत होने से क्षेत्र के लोगों में आक्रोश है।
इंडोनेपाल सीमा क्षेत्र से सटे सिरसिया विकास क्षेत्र के गांवों को मुख्यालय भिनगा से जोड़ने वाला राजपुर भिनगा मार्ग करीब बारह किलोमीटर जंगल के मध्य से होकर गुजरा है। भिनगा जंगल के अंटा तिराहे से राजपुर मोड़ तक करीब पंद्रह किलोमीटर यह मार्ग बदहाल है। बरसात के दिनों में कई कई दिन तक यह मार्ग केन नाले में आने वाली बाढ़ के कारण डूबा रहता है। इससे बरसात के मौसम में इस मार्ग पर आवागमन भी बाधित होता रहता है।
एसएसबी के सुइया बीओपी, गुज्जरगौरीह सहित अन्य बीओपी व अनुसूचित जनजाति थारु बाहुल्य गांव को जोड़ने वाले इस मार्ग पर बसों का संचालन भी होता है। इसके बावजूद मार्ग का हाल खराब है। अंटा तिराहे से राजपुर मोड़ तक मार्ग की दोनों पटरियां पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हैं। वहीं केन नाले पर बना पुल भी नीचा होने के कारण बरसात में कई दिनों तक डूबा रहता है। इस मार्ग की प्रतिवर्ष कई बार मरम्मत भी कराई जाती है, जिस पर करोड़ों रुपये खर्च भी होते हैं, लेकिन यह कार्य सिर्फ खानापूर्ति ही रहता है।
इसके चलते मरम्मत के कुछ दिन बाद ही मार्ग बदहाल हो जाता है। करीब 25 वर्ष पूर्व बनी इस सड़क का उच्चीकरण न कर ठेकेदार सिर्फ गड्ढे में गिट्टी व तारकोल डालकर लीपापोती कर जिम्मेदारी से मुक्ति ले रहे हैं। इससे मार्ग पर जहां वाहनों का आवागमन प्रभावित होता है, वहीं आय दिन दुर्घटनाएं भी हो रहती हैं। सीमा सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण मार्ग होने के बावजूद न तो जनप्रतिनिधि ध्यान दे रहे हैं, और न ही अधिकारी।
भिनगा लक्ष्मनपुर मार्ग रेहली विशुनपुर के निकट बाढ़ के दौरान अक्सर कट जाता है। इस पर निरंतर मांग व आश्वासन के बाद भी पुल का निर्माण नहीं कराया जा रहा है, और न ही जगह जगह जर्जर हो चुके इस मार्ग की मरम्मत ही हो रही है। फोरलेन की पटरियां पुलिस लाइंस से लक्ष्मननगर के मध्य कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त है। इसकी भी मरम्मत नहीं हो रही है।
भिनगा सेमरी मार्ग, खरगौरा सेमरी मार्ग पूरी तरह से जर्जर है। इसकी पटरियां पूरी तरह क्षतिग्रस्त हैं। मार्ग पर बनी पुलिया व डिप भी जर्जर हो चुकी है। ऐसा ही हाल सिसवा भंगहा मार्ग, तिलकपुर बनघुसरा मोड़ मार्ग, भिनगा परसा मार्ग, जमुनहा कानीबोझी सहित अन्य मार्ग का भी हैं। जिन्हें गड्ढा मुक्त न कराए जाने से आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं।
अपर जिलाधिकारी योगानंद पांडेय ने बताया कि क्षतिग्रस्त व जर्जर मार्गों की मरम्मत के लिए अधिशासी अभियंता लोक निर्माण को स्टीमेट तैयार कर शासन को भेजने के लिए निर्देशित किया गया था। शासन से पैसा मिलते ही मरम्मत कराई जाएगी। रही बात गुणवत्ता की तो उसकी जांच कराई जाएगी।
... और पढ़ें

एसएसबी व नेपाल एपीएफ ने की कांबिंग

जमुनहा (श्रावस्ती)। भारत नेपाल सीमा क्षेत्र पर अपराधियों की निगहबानी के लिए रविवार को एसएसबी के जवानों ने नेपाल एपीएफ के साथ कांबिंग की। इस दौरान संयुक्त टीम ने सीमा स्तंभों की स्थिति जांची। इसके साथ ही कोरोना वायरस को लेकर चर्चा की गई।
सशस्त्र सीमा बल 42वीं वाहिनी नानपारा स्थित अगईया बीओपी के प्रभारी कमांडेंट शैलेश कुमार के निर्देश पर कोदिया ई कंपनी प्रभारी सहायक कमांडेंट एलके गरबा के नेतृत्व में जवानों ने रविवार को सीमा पर कांबिंग की। इस दौरान नेपाल के बांके जिला बार्डर एपीएफ गंगापुर प्रभारी इंस्पेक्टर सुरेंद्र जीसी ने ककरदरी गांव से कोदिया तक पिलर संख्या 641 से 644 तक संयुक्त गश्त की। सीमा सुरक्षा के साथ संयुक्त टीम ने सीमा स्तंभ की स्थिति भी जांची।
इस दौरान उन्हें कई सीमा स्तंभ राप्ती में समाहित होने की जानकारी मिली। जिसकी सूचना दोनों देशों की फोर्स ने उच्चाधिकारियों को देने की बात कही गई। इस दौरान एपीएफ नेपाल व एसएसबी के अधिकारियों ने कोरोना वायरस को लेकर भारत व नेपाल सीमा पर एहतियात बरतने के बारे में चर्चा की।
इस दौरान गंगापुर एपीएफ के उपनिरीक्षक संजीव श्रेष्ठ, हेड कांस्टेबल भारत माही दखल, हेड कांस्टेबल नीम बहादुर खत्री, कांस्टेबल तारा पांडेय, गजेंद्र, ओम भूम, विक्रम पांड्याल, दुर्गा सिंह, एसएसबी के उपनिरीक्षक भुवनेश चंद्र, सहायक उपनिरीक्षक मोंटू ओरन, हेड कांस्टेबल मोहम्मद काजिम, कांस्टेबल मनीष कुमार व कुंदन कुमार आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

नैक मूल्यांकन से उच्चशिक्षा की गुणवत्ता में आता निखार

श्रावस्ती। स्वर्गीय श्यामता प्रसाद चौधरी महिला महाविद्यालय खरगौरा बस्ती में आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ व आंतरिक गुणवत्ता प्रमाणन प्रकोष्ठ की ओर से एक गोष्ठी का आयोजन हुआ। उच्च शिक्षा की गुणवत्ता में राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद मूल्यांकन की भूमिका विषय पर गोष्ठी की शुरुआत अपर सचिव उच्च शिक्षा परिषद डॉ. आरके चतुर्वेदी ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर की।
इस दौरान विशिष्ट अतिथि डॉ. भानुप्रताप सिंह ने कहा कि नैक मूल्यांकन कराना कोई बड़ी चुनौती नहीं है। हम अगर आज से ठान लें तो अगले दो वर्षों में अपने अपने महाविद्यालय का नैक मूल्यांकन करा सकते हैं। डॉ. दीपक बाबू ने कहा कि नैक मूल्यांकन से उच्च शिक्षा की गुणवत्ता में निखार आता है। सभी महाविद्यालय नैक मूल्यांकन कराने की तैयारी करे। विश्व विद्यालय स्तर से हम सभी आप सबका सहयोग करेंगे।
डॉ. अश्वनी कुमार मिश्र ने प्रोजेक्टर पर पावर प्वाइंट के माध्यम से समस्त महाविद्यालयों के प्रबंधकों, प्राचार्यों व शिक्षकों को नैक मूल्यांकन कराने की प्रक्रिया के बारे में बताया। साथ ही शासन स्तर से हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया। कार्यक्रम का संचालन नरेंद्र जायसवाल व वेद प्रकाश द्विवेदी ने किया। इस मौके पर बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच के कई कॉलेजों के प्रबंधक, प्राचार्य व शिक्षक सहित शोध छात्र व छात्राएं मौजूद रहीं। इस दौरान महाविद्यालय की छात्राओं ने कत्थक नृत्य, वसंत गीत, लोकगीत व सरस्वती वंदना आदि प्रस्तुत की।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us