बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

प्रेमी ने युवती की हत्या कर दफनाया था शव

Kanpur	 Bureau कानपुर ब्यूरो
Updated Fri, 23 Oct 2020 12:27 AM IST
विज्ञापन
माखी थानाक्षेत्र में हत्या कर दफनाई गई युवती के शव को निकलवाती पुलिस।
माखी थानाक्षेत्र में हत्या कर दफनाई गई युवती के शव को निकलवाती पुलिस। - फोटो : UNNAO

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
नवाबगंज/चकलवंशी। 21 माह से लापता जिस युवती की तलाश में पुलिस ने चंडीगढ़ तक के चक्कर लगाए उसकी हत्या उसी दिन कर दी गई थी जिस दिन वह घर से लापता हुई थी। हत्या करने वाला कोई और नहीं उसका ही प्रेमी था। पूछताछ में प्रेमी ने बताया कि बिना शादी किए युवती उससे अलग घर लेकर साथ रहने का दबाव बना रही थी। ऐसा न करने पर गलत तरीके से फंसाकर जेल भिजवाने की धमकी दी थी। जिस पर उसने उसी रात उसकी हत्या कर शव को घर से एक किमी दूर जमीन में दबा दिया। हत्यारोपी की निशानदेही पर गुरुवार को पुलिस ने मिट्टी में दबे युवती के कंकाल को बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
विज्ञापन

अजगैन कस्बा के मोहल्ला झकरी निवासी 25 वर्षीय शालू पुत्री रमेश 2 अप्रैल 2019 को लापता हो गई थी। मां रानी देवी ने 14 अप्रैल 2019 को अजगैन कोतवाली में माखी थाना क्षेत्र के पंडितखेड़ा गांव निवासी सूरज पुत्र पुत्तनलाल के खिलाफ बेटी को अगवा करने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। घटना के बाद शालू की तलाश में पुलिस ने सूरज की गिरफ्तारी के प्रयास शुरू किए। मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस उसे ढूंढते हुए चंडीगढ़ तक पहुंची पर वह हाथ नहीं लगा। इसी बीच सूरज ने उच्चन्यायालय लखनऊ से स्टे ले लिया। इससे पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर पाई। 21 माह बाद स्टे अवधि समाप्त होने पर नवाबगंज चौकी प्रभारी जितेंद्र यादव व स्वॉट टीम के उपनिरीक्षक गौरव कुमार ने आरोपी को उसके गांव से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पहले तो उसने गुमराह करने की कोशिश की लेकिन जब पुलिस ने घटना के दिन उसके मोबाइल की लोकेशन व युवती से हुई बातचीत की कॉल डिटेल का हवाला दिया तो उसने सच उगल दिया।

सूरज ने बताया कि कई साल से उसका युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों के परिजन शादी के लिए भी राजी हो गए थे। 2 अप्रैल 2019 को युवती उसके घर पहुंच गई और शहर में अलग मकान लेकर माता-पिता से दूर एक साथ रहने की जिद की। आरोपी के अनुसार ,जब उसने शादी के बाद साथ रहने की बात कही तो युवती ने उसे मुकदमा दर्ज करा जेल भिजवाने की धमकी देने लगी। इसी विवाद में उसकी गला दबाकर हत्या के बाद शव घर से एक किमी दूर गांव की नहर के पास अनिल मिश्रा के खेत में चार फिट का गड्ढा खोदकर दबा दिया। आरोपी के बयान और निशानदेही पर गुरुवार को माखी एसओ संतोष सिंह, स्वॉट टीम के गौरव, नवाबगंज चौकी प्रभारी जितेंद्र यादव ने सदर के नायब तहसीलदार रजनीश की मौजूदगी में युवती के कंकाल को निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। एसओ माखी पवन कुमार ने बताया कि सूरज के साथ दो अन्य लोगों के नाम प्रकाश में आए है। उनकी तलाश की जा रही है।
जमीन से कंकाल निकाले जाने के बाद पुलिस ने युवती के पिता को पहचान के लिए बुलाया। पिता ने कंकाल से लिपटा काला दुपट्टा, बैगनी रंग का कुर्ता, भूरे रंग की लैगी के अलावा मोती की माला में ओम का सोने का लॉकेट देख कंकाल की पहचान बेटी के रूप में की। कंकाल के पास से पुलिस ने नवाबगंज सदर के एक गारमेंटस व्यापारी के दुकान की नाम की खाली पॉलिथीन भी बरामद की। बरामद सामग्री को पुलिस ने कब्जे में लिया है।
बेटी की हत्या व उसका कंकाल बाहर निकाले जाने के बाद युवती के माता-पिता के अलावा अन्य परिजन बिलख उठे। पिता ने पुलिस को बताया कि जब भी वह आरोपी रमेश से बेटी के बारे पूछता वह कोर्ट मैरिज कर उसके साथ चंडीगढ़ में रहने की बात कह फोन काट देता। पिता ने बताया कि वह अब तक यही सोच रहा था कि उसकी बेटी रमेश के साथ सुरक्षित है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us