विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

अमेरिकी राष्ट्रपति के स्वागत के लिए खास तैयारी, ताजनगरी इस अंदाज में बोलेगी- 'नमस्ते ट्रंप'

ताजनगरी में अमेरिकी राष्ट्रपति का स्वागत खास अंदाज में होगा। हवाई अड्डे से ताजमहल तक रास्ते में ट्रंप-मोदी के कटआउट लगेंगे।

17 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

उन्नाव

सोमवार, 17 फरवरी 2020

किसान की हत्या में तीन लोगों को भेजा जेल

उन्नाव। बारासगवर थाना क्षेत्र में मेड़ काटने को लेकर हुए विवाद में गुरुवार रात हुई किसान की हत्या के मामले में पुलिस ने मृतक के भाई की तहरीर पर पड़ोस में रहने वाले तीन लोगों पर रिपोर्ट दर्ज करने के बाद शनिवार को जेल भेज दिया।
बारासगवर थाना क्षेत्र के पुरौना गांव निवासी किसान शिवशंकर (50) दस बिस्वा जमीन के सहारे परिवार का गुजारा चलाता था। गुरुवार रात लगभग 10 बजे वह मवेशियों से फसल की रखवाली के लिए खेत को निकला था। भोर पहर 3 बजे वह मरणासन्न हालत में पड़ोसी श्रीपाल के घर के पास पड़ा मिला था। मृतक के बेटे अनिल ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि एक माह पहले मेड़ काटने को लेकर उसके पिता शिवशंकर व पड़ोसी श्रीपाल के बीच विवाद हुआ था। श्रीपाल ने पिता को जान से मारने की धमकी दी थी। बताया कि गुरुवार रात पिता के खेत जाते समय घर से लगभग डेढ़ सौ मीटर दूरी पर श्रीपाल कुरील ने अपने बेटे सर्वेश, राजन के साथ मिलकर पिता को दबोच लिया और घसीटकर अपने दरवाजेे पर लाकर अन्य परिवार के लोगों के साथ मिलकर लाठी-डंडों से पीटकर मरणासन्न कर दिया। भोर पहर उसकी मौत हो गई।
बेटे अनिल की तहरीर पर पुलिस ने श्रीपाल, उसकी पत्नी मालती, बेटे सर्वेश व राजन के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर श्रीपाल को छोड़ अन्य सभी को गिरफ्तार किया था। शनिवार को पकड़े गए सभी आरोपियों को पुलिस ने जेल भेज दिया। एसओ मुकेश वर्मा ने बताया कि आरोपियों ने अपना गुनाह भी स्वीकार कर लिया है। उनकी निशानदेही पर किसान को पीटने में प्रयोग किए गए डंडों को भी बरामद किया गया है।
... और पढ़ें

10 हजार का ईनामी पुलिस के हत्थे चढ़ा

कूड़े की दुर्गंध से परेशान हैं जेल कर्मियों के परिवार

उन्नाव। जिला कारागार के पीछे हरदोई बाईपास मार्ग पर नगर पालिका द्वारा डंप किया जा रहा शहर का कचरा जेल बंदियों के साथ ही जेल कर्मियों व उनके परिवार के लिए भी मुसीबत बना है। बमुश्किल पच्चीस मीटर दूर पर डंप कचरा, मृत मवेशियों की सड़ांध व जलाए गए कूड़े के धुआं से सांस लेना दुश्वार रहता है। जेल कर्मियों के परिवार संक्रामक रोगों की चपेट में आ रहे हैं। कर्मियों ने बताया कि दिन-रात अगरबत्ती जलाकर दुर्गंध से बचाव करते हैं। वहीं, ठंड में धूप सेंकने छत पर नहीं जाते। गर्मियों में कूलर भी नहीं चलाते।
शहर में रोज करीब 50 टन कूड़ा निकलता है। डंपिंग ग्राउंड न होने से नगर पालिका कई साल से कूड़े को उन्नाव-हरदोई बाइपास मार्ग पर जिला जेल के पीछे चांदमारी मैदान में डंप करा रही है। नगर पालिका के इस अवैध कूड़ा डंपिंग स्थल से करीब 25 मीटर की दूरी पर जेल कर्मियों की नई आवासीय कॉलोनी अधिकारियों व कर्मियों के 16 परिवार और पुरानी कॉलोनी में 60 परिवार रहते हैं। यहां रहने वाले ब्रजभान, गौतम सिंह, जसवंत सिंह, अशोक, प्रमोद, भगवानदास, दामोदर दत्त आदि ने बताया कि कॉलोनी के पास ही डंप कूड़े की दुर्गंध से परेशान हैं। बचने के लिए दिनरात खिड़की दरवाजे बंद रखते हैं और घर में दिन-रात अगरबत्ती जलाकर दुर्गंध से बचने को कोशिश करते हैं। कर्मचारियों के परिवार की महिलाओं में मीन, रोली, शैल, सुमित्रा, देवकी, शालिनी ने बताया कि आए दिन परिवार के लोग संक्रामक रोगों की चपेट में आते हैं। सबसे ज्यादा चिंता बच्चों की है। वह न तो खुले में जा पाते हैं न खेलने। जेल कर्मियों के घरवालों का कहना है कि नगर पालिका को कई बार शिकायती पत्र लिखे लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।
चेस्ट रोग विशेषज्ञ डॉ. शोभित अग्निहोत्री ने बताया कि कूड़ा कचरे में पॉलिथीन और प्लास्टिक में रंजक (रंग देने वाला) होता है। इसमें कैडमियम होता है जो धुआं के जरिए सांसों से होते हुए रक्त में मिल जाता है। इसका हृदय पर बड़ा प्रभाव पड़ता है। यह दिल के आकार को बढ़ा सकता है। साथ ही मस्तिष्क को प्रभावित कर सकता है। धुएं में सल्फर, कार्बन, कार्बन मोनोआक्साइड, बेंजीन, क्लोराइड, विनायल, इथनॉल ऑक्साइड होता है। इनके लगातार असर से व्यक्ति को लीवर, किडनी, त्वचा कैंसर होने की आशंका रहती है।
प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी विमल कुमार ने बताया कि बस्तियों से निकलने वाले कूड़े-कचरे में फलों, अन्न व मांस के अवशेष के अलावा पॉलिथीन व ठोस अपशिष्ट भी होता है। कूड़ा सड़ने पर मीथेन व कार्बन डाई ऑक्साइड सहित कई हानिकारक गैसें निकलती हैं। जो फेफड़ों सहित शरीर के अन्य अंगों को नुकसानदेय हो सकता है। उन्होंने बताया कि कूड़े को खुले में जलाने पर एनजीटी (नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल) ने पूरी तरह पाबंदी लगा रखी है।
जेल अधीक्षक एके सिंह ने बताया कि जेल के पास कूड़ा डंप किए जाने से जेल बंदियों के साथ ही जेल कर्मियों के परिवार भी परेशान हैं। उन्होंने बताया कि नगर पालिका को कई बार पत्र भेजा गया लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया। प्रशासन के माध्यम से नगर पालिका को फिर लिखा जाएगा।
नगर पालिका ईओ आरपी श्रीवास्तव ने बताया कि कूड़ा डंपिंग ग्राउंड की व्यवस्था की जा रही है। जल्द से जल्द समस्या को हल करने का प्रयास किया जा रहा है।
... और पढ़ें

उन्नाव हादसा: वैन में फंसे लोगों को चीखने तक का मौका न मिला, भयावह नजारा देख सिहर उठे लोग

उन्नाव में सड़क हादसा उन्नाव में सड़क हादसा

हाईवे पर लोडर का टायर बदल रहे चालक व किसान को डंपर ने रौंदा

उन्नाव। लखनऊ- कानपुर हाईवे पर अजगैन कोतवाली के सोनिक मोड़ के निकट टमाटर लदे लोडर का पंचर टायर बदलने के दौरान रात करीब 12 बजे तेज रफ्तार गिट्टी लदे डंपर ने रौंद दिया। दोनों की घटना स्थल पर मौत हो गई। घटना के बाद चालक डंपर छोड़कर मौके से भाग निकला। मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतकों की जामा तलाशी ली। फोन मिलने पर घर वालों को घटना की जानकारी दी। मृतक लोडर चालक के भाई की तहरीर पर गाड़ी नंबर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। मृतकों में एक हमीरपुर जिले व दूसरा कानपुर के सिरसा का रहने वाला था।
हमीरपुर जिले के पुराना बेतवाघाट निवासी लोडर चालक व मालिक देवी प्रसाद (38) पुत्र स्व. भगवानदीन शनिवार रात कानपुर सिरसा के सजेती निवासी किसान रामबिहारी (55) पुत्र धुन्नी का टमाटर लोडर में लादकर शनिवार देर रात लखनऊ मंडी जा रहा था। लखनऊ- कानपुर राजमार्ग पर अजगैन कोतवाली के सोनिक मोड़ के निकट लोडर का टायर पंचर हो गया। देवी प्रसाद व रामबिहारी लोडर का पंचर टायर बदलने लगे। तभी पीछे से आ रहे तेज रफ्तार गिट्टी लदे डंपर ने दोनों को रौंद दिया। इससे घटना स्थल पर ही दोनों की मौत हो गई।
मृतक देवीप्रसाद के भाई देवीदयाल की तहरीर पर डंपर के नंबर के आधार पर रिपोर्ट कराई है। कोतवाल अरविंद सिंह ने बताया कि मृतक के भाई की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।
मृतक लोडर मालिक देवीप्रसाद तीन भाइयों में सबसे बड़ा था। वह लोडर चलाकर ही परिवार का पालन-पोषण करता था। मृतक की पत्नी रेनू के अलावा बच्चों में दो लड़के व एक लड़की है। वहीं, मृतक किसान रामबिहारी चार भाइयों में दूसरे नंबर का था। मृतक के भाई कमलेश कुमार ने बताया कि पत्नी रानी के अलावा तीन लड़के व एक लड़की है। लड़की की शादी हो चुकी है।
... और पढ़ें

किराना गोदाम में लगी आग, सामान राख

अचलगंज(उन्नाव)। कस्बा निवासी किराना व्यवसायी के गोदाम में शनिवार रात संदिग्ध हालात में आग लग गई। गोदाम के बगल में कमरे में लेटे चौकीदार के शोर मचाने पर आसपास के लोगों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की। आग की ऊंचे लपटें देख दमकल को सूचना दी गई। जब तक दमकल आग पर काबू पाती गोदाम में रखा लगभग सारा सामान जलकर राख हो गया। पीड़ित ने पुलिस को तहरीर दी है।
कस्बे के प्रमुख किराना व्यवसायी संदीप पुत्र गुड्डू गुप्ता का स्टेशन रोड पर परचून का गोदाम है। जिसमें खाद्य सामग्री समेत अन्य दैनिक उपयोग का सामान भरा हुआ था। शनिवार रात लगभग 11 बजे संदिग्ध हालात में गोदाम में आग लग गई। आग की ऊंची लपटें देख गोदाम के बगल में बने कमरे में सो रहे चौकीदार सोनी गुप्ता के होश उड़ गए। उसके शोर मचाने व गोदाम मालिक को सूचना देने पर हड़कंप मच गया। लोगों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की। आग भड़की देख दमकल को सूचना दी गई। लगभग एक घंटे पर सदर के अगिभनशमन केंद्र से पहुंची दमकल ने लगभग दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। हालांकि तब तक गोदाम में रखा सामान व बुलेट बाइक जलकर नष्ट हो गई। गोदाम मालिक संदीप गुप्ता ने 15 लाख के नुकसान की बात कह पुलिस को तहरीर दी है। उन्होंने आग लगने की वजह संदिग्ध बताई है। एसओ डीपी सिंह ने बताया कि जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

उन्नाव के विशाल को संगीत का फिल्मफेयर अवार्ड

अचलगंज कस्बा में किराना दुकान में आग से हुआ नुकसान देखता चौकीदार सोनी गुप्ता (नीली जैकेट में)।
उन्नाव। बॉलीवुड के ऑस्कर कहे जाने वाले फिल्म फेयर अवार्ड में उन्नाव शहर के मूल निवासी विशाल को फिल्म कबीर सिंह में संगीत देने के लिए फिल्म फेयर अवार्ड दिया गया है। शनिवार को असम में आयोजित कार्यक्रम में विशाल को अवार्ड मिला तो शहर व परिवार के लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।
शहर के सिविल लाइन निवासी अधिवक्ता शैलेंद्र मिश्रा के बेटे विशाल मिश्रा संगीत के क्षेत्र में बॉलीवुड में छाए हैं। बचपन से गाना गाने और संगीत कंपोज करने का शौक विशाल को फिल्मी दुनिया की ओर ले गया। उन्होंने तीन साल में सफलता के कई मुकाम हासिल किए। फिल्म वीरे दी वेडिंग, रेस-3, जबरिया जोड़ी, मुन्ना माइकल, सांड़ की आंख, नोटबुक में संगीत देने वाले विशाल फिल्मी दुनिया का संगीत के क्षेत्र में उभरता हुआ सितारा हैं।
असम में आयोजित फिल्म फेयर पुरस्कार जब विशाल को मिला तो उनके परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। पेशे से अधिवक्ता पिता शैलेंद्र मिश्रा ने बताया कि उन्हें बेटे पर नाज है। मां शैल कुमारी भी बेटे की सफलता से खासी खुश हैं। अवार्ड मिलने के बाद विशाल ने सबसे पहले अपने परिवार को फोन कर जानकारी दी। विशाल का छोटा भाई अभिनव भी बहुत खुश है। पिता शैलेंद्र मिश्रा ने बताया कि विशाल होली पर घर आएंगे। होली पर बेटे के घर आने का उन्हें इंतजार है।
... और पढ़ें

मनमाना जल दोहन व प्रदूषित करने पर होगी सजा, जुर्माना

उन्नाव। भूगर्भ जल का मनमाना दोहन और उसे प्रदूषित करने वालों पर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और सख्त कार्रवाई करेगा। शासन से इसके निर्देश मिलने के बाद बोर्ड अलग-अलग टीमें बनाने व रूट चार्ट तैयार करने में जुटा है।
प्रदेश सरकार ने भूगर्भ जल (प्रबंधन व विनियमन) विधेयक को मंजूरी दी है। शासन ने उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को बड़े पैमाने पर जल उपयोग व उत्प्रवाह करने वाले उद्योगों, निर्माण परियोजनाओं और टेनरियों पर सख्त निगरानी के आदेश दिए हैं। निर्देश हैं कि उन टेनरियों पर भी कड़ा पहरा रखा जाए जिनमें रिवर्स बोरिंग के जरिए दूषित जल को भूगर्भ में छोड़ा जा रहा है। जारी निर्देशों के अनुसार भूगर्भ जल को प्रदूषित करने या अंधाधुन दोहन की पुष्टि होने पर संबधित व्यक्ति या उद्योग संचालक के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। विधेयक में दिए गए प्रावधानों के अनुसार आरोप साबित होने पर 7 साल तक की कैद और 20 लाख रुपये तक जुर्माना हो सकता है। मालूम हो कि अबतक भूगर्भ जल के अनियमित जल दोहन व प्रदूषित करते पाए जाने पर दस से पचास हजार रुपये तक जुर्माना का ही प्रावधान था। शासनादेश के अनुसार किसी भी स्तर में लोगों को भूगर्भ जल प्रदूषित न करने दिया जाए। टेनरियों की निगरानी की जाए। यह तय किया जाए कि वह प्रदूषित जल को टैंकों व गड्ढों में डंप न करें। सभी फैक्टरियों व टेनरियों में रिवर्स बोरिंग के आरोपों की भी जांच की जाए।
शासनादेश में कहा गया है कि पानी की फिजूल खर्ची पर अंकुश लगाया जाए। बोरिंग की कैपिसिटी बढ़ाने व पानी साफ करने के नाम पर ट्यूबवेल व सबमर्सिबल पंप से फालतू पानी बहाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए। साथ ही जल बचत के प्रति लोगों को जागरूक किया जाए। धुलाई सेंटरों को भी मानकों के अनुसार संचालित कराया जाए।
भूगर्भ जल विभाग की रिपोर्ट के अनुसार उन्नाव जिले में जल दोहन के सापेक्ष भूगर्भ रिचार्ज नहीं हो पा रहा है। हर साल भूगर्भ जल औसतन 1 से 1.5 मीटर नीचे जा रहा है। जिले के ब्लॉक हिलौली, असोहा, सुमेरपुर, बीघापुर व पुरवा ब्लॉक में भूगर्भ जल प्रदूषण व फ्लोराइड की समस्या विकराल हो रही है।
प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी विमल कुमार ने बताया कि अवैध जल दोहन व भूगर्भ जल को और अवैध तरीके से संभरण करने वालों पर नजर रखी जाएगी, टीमें बनाकर जांच कराकर दोषी पाए जाने पर प्रभावी कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

नवाबगंज सीएचसी में नहीं मिलीं महिला डाक्टर

नवाबगंज(उन्नाव)। सीएमओ ने शनिवार देर रात नवाबगंज सीएचसी का निरीक्षण किया। उन्हें एक महिला डॉक्टर अनुपस्थित मिलीं। उपकरणों व दवाओं का रख-रखाव सही पाया। मरीजों ने बताया कि रात में महिला डॉक्टर नहीं रुकती। स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी ने बताया कि महिला डॉक्टर रात में खुद को असुरक्षित महसूस करती हैं। इसलिए चली जाती हैं। सीएमओ ने स्पष्टीकरण तलब किया है।
सीएमओ कैप्टन डॉ. आशुतोष कुमार शनिवार रात 9 बजे नवाबगंज सीएचसी पहुंचे। इमरजेंसी ड्यूटी कर रहे स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ. अरुण कुमार से जरूरी जानकारी ली। इसके बाद वह महिला वार्ड पहुंचे। यहां एतबारपुर निवासी गर्भवती नेहा के पति मंयक शुक्ला ने बातचीत में सीएमओ को बताया कि रात में महिला डॉक्टर रुची त्रिपाठी नहीं रुकतीं हैं। उपस्थिति रजिस्टर देखा तो वह नदारद थीं। तीन स्टाफ नर्स पर गर्भवती महिलाओं के इलाज की जिम्मेदारी है। सीएमओ ने महिला चिकित्सक से स्पष्टीकरण तलब करने के साथ ही, जच्चा-बच्चा वार्ड में भर्ती महिलाओं व उनके तीमारदारों से स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी ली।
सीएमओ ने बताया कि महिला चिकित्सक अनुपस्थित पाई गई हैं। स्पष्टीकरण तलब किया गया है। साथ ही महिला चिकित्सकाें के रात में रुकने के जरूरी इंतजाम किए जाएंगे।
... और पढ़ें

जेल में इंटरकॉम का पहरा, बंदियों पर नजर

उन्नाव। जेल में बंदियों की हर गतिविधि पर अभी सीसीटीवी से नजर रखी जा रही थी। अब सीसीटीवी के साथ इंटरकाम का पहरा भी बैठाया गया है। हर बैरक के अलावा, अस्पताल, व अधिकारियों के केबिन में इंटरकॉम की सुविधा दी गई है। कोई भी छोटी से छोटी या बड़ी समस्या होने पर इंटरकाम की मदद से किसी भी अधिकारी को तत्काल सूचना देकर हालत पर काबू पाया जा सकेगा। जेल में 33 इंटरकॉम सिस्टम लगाए गए हैं। जिनका कोड भी निर्धारित कर दिया गया है।
उन्नाव जिला कारागार में जैमर की व्यवस्था न होने से अक्सर जेल में बंदियों द्वारा मोबाइल का प्रयोग होने के कई मामले सामने आ चुके हैं। जिससे जेल प्रशासन को किरकिरी का भी सामना करना पड़ा। जेल अधीक्षक एके सिंह ने बताया कि जेल में मोबाइल के प्रयोग पर पूरी तरह रोक लगाई गई है। मोबाइल लेकर किसी भी कर्मी को जेल में प्रवेश की अनुमति नहीं है। जेल की संचार व्यवस्था व आंतरिक सुरक्षा मजबूत करने के लिए 33 इंटरकाम सिस्टम लगाए गए हैं। बताया कि इंटरकॉम सिस्टम वॉयस संचार प्रणाली है। यह सार्वजनिक टेलीफोन नेटवर्क से स्वतंत्र रूप से काम करता है। इंटरकॉम सिस्टम से 24 घंटे जेलकर्मी एक-दूसरे से कनेक्ट रहेंगे। बताया कि जेल में कोई भी समस्या होने या बंदी की संदिग्ध गतिविधि पर जेलकर्मी तत्काल जिस अधिकारी को चाहेगा, तुरंत इसकी जानकारी दे सकेगा। सभी टेलीकॉम सिस्टम का कोड भी जारी किया गया है। जिनका नंबर 200 से 233 है।
जेल में बैरक नंबर 2, 3, 4, 6 ए, 6 एच, 7, 8, 9, 10, 11, हाईसिक्योरिटी बैरक, बैरक नंबर 17, पाकशाला, अस्पताल, सिलाई कारखाना, गल्ला गोदाम कार्यालय, सिद्धदोष कार्यालय, एकाउंट कार्यालय, जेलर व जेल अधीक्षक कार्यालय व आवास के साथ फार्मासिस्ट आवास पर भी टेलीकॉम सिस्टम लगाए गए हैं।
जेल अधीक्षक एके सिंह ने बताया कि सीसीटीवी कैमरों के साथ जेल में इंटरकॉम सिस्टम होने से सुरक्षा व्यवस्था और मजबूत हुई है। इसके अलावा 14 वॉकी-टॉकी भी जेल में हैं। जिससे कहीं भी कोई समस्या होने पर तत्काल सुलझा लिया जाता है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us