बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
ये हैं सप्ताह की चार भाग्यशाली राशियां, धनलाभ के बनेंगे प्रबल योग
Myjyotish

ये हैं सप्ताह की चार भाग्यशाली राशियां, धनलाभ के बनेंगे प्रबल योग

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

ग्राम समाज की जमीन पर कब्जे को लेकर बवाल, पथराव के बाद पुलिस ने की हवाई फायरिंग, तीन पुलिसकर्मी घायल

ग्राम समाज की जमीन पर कब्जे के विवाद में मारपीट के दौरान जमकर ईंट-पत्थर चले। बीचबचाव में पहुंची पुलिस को भी लोगों ने घेर लिया। स्थिति पर नियंत्रण करने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। सूचना पर शाहगंज एसडीएम, सीओ ने भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचकर लोगों को शांत कराया। घटना उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के सरपतहां थाना क्षेत्र के गैरवाह गांव में रविवार की शाम घटी। 

गांव निवासी निनकू यादव, नरसिंह यादव और जमींदार राजभर के बीच जमीन को लेकर वर्षों से विवाद चल रहा है। विवादित जमीन पर कब्जे को लेकर दो जून को भी नरसिंह यादव और निनकू यादव के बीच विवाद हुआ था। ग्रामीणों के हस्तक्षेप से मामला शांत हुआ। रविवार की शाम फिर इसी बात को लेकर ये लोग आमने-सामने हो गए।

जानकारी होने पर सरपतहां थाने के एसआई राम विलास हमराहियों के साथ मौके पर पहुंचे। आरोप है कि सुलह-समझौता कराने के दौरान एसआई ने सविता राजभर को थप्पड़ जड़ दिया, जिससे वो कुछ देर के लिए अचेत हो गईं। इसे लेकर ग्रामीण पुलिस पर पैसे लेकर एक-दूसरे की मदद का आरोप लगाते हुए ईंट-पत्थर फेंकने लगे। भगदड़ में तीन पुलिस कर्मी घायल हो गए।
... और पढ़ें

यूपी विधानसभा चुनाव: वाराणसी में प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह बोले, देश में मोदी और प्रदेश में योगी भाजपा का चेहरा

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव रविवार को वाराणसी पहुंचे। कोरोना की दूसरी लहर में जान गंवाने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं, बुद्धिजीवियों के घर पहुंचकर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्रद्धांजलि दी। पीड़ित परिजनों से मुलाकात के दौरान उन्होंने कहा कि सरकार आप लोगों के साथ खड़ी है। आगामी विधानसभा चुनाव पर बोले, पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ ही भाजपा का चेहरा है। देश में मोदी और प्रदेश में योगी पार्टी का चेहरा हैं।

काशी प्रवास पर आए भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने विपक्षी दलों पर निशाना साधा और बोले, कोरोना संकट के समय विपक्षी दल सिर्फ अफवाह फैलाकर लोगों को गुमराह करते रहे, जिसके कारण समस्या और बढ़ गयी। प्रधानमंत्री मोदी की दूरदर्शिता और मुख्यमंत्री योगी के मजबूत प्रबंधन से कोरोना पर नियंत्रण पाकर एक मिसाल कायम की।

सबका साथ सबका विकास की मूल धारणा के साथ आगे बढ़ने वाली भाजपा के कार्यकाल में प्रदेश का सबसे ज्यादा विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि 2022 के विधान सभा चुनाव के लिए पार्टी का हर कार्यकर्ता तैयार है। उन्होंने कहा, भाजपा कार्यकर्ता आधारित पार्टी है तथा पार्टी का प्रत्येक कार्यकर्ता अनमोल एवं अभिन्न अंग है।
... और पढ़ें

सोनभद्रः महिला रेलकर्मी पर नकाबपोश युवकों ने फेंका तेजाब, पुलिस ने दर्ज किया छेड़खानी का केस

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में महिला रेल कर्मी पर ड्यूटी से घर आते समय एसिड अटैक का मामला प्रकाश में आया है। सोनभद्र रेलवे स्टेशन पर क्लर्क पद पर तैनात एक युवती पर शुक्रवार की रात 11 बजे नकाबपोश दो युवकों ने तेजाब फेंक दिया। यह घटना ड्यूटी से लौटते समय हुई। संयोग था कि स्कूटी की गति तेज होने पर महिला के चेहरे पर तेजाब नहीं पड़ा।

इस मामले में पुलिस ने छेड़खानी का मुकदमा दर्ज किया है। पीड़िता चोपन थाना क्षेत्र की रहने वाली है। पुलिस अधीक्षक को दिए गए प्रार्थनापत्र में उसने कहा है कि वह शुक्रवार की रात 11 बजे ड्यूटी से स्कूटी से लौट रही थी तो नकाबपोश दो युवकों ने उसके ऊपर तेजाब फेंका।

उस वक्त वह दुपट्टे से मुंह बांधी थी, स्कूटी की गति तेज थी, इसलिए उसका चेहरा बच गया लेकिन तेजाब के छींटे पड़ने से उसके कपड़े कई जगह जल गए। पीड़िता का आरोप है कि स्थानीय पुलिस से शिकायत की गई लेकिन पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया गया और एसिड अटैक के मामले में मुकदमा दर्ज न करके छेड़खानी की धाराओं में केस दर्ज किया गया है।  
... और पढ़ें

वाराणसीः हत्या के आरोप में डेढ़ साल से कैद मिट्ठू हाथी को मिली आजादी, दुधवा नेशनल पार्क भेजा गया

एक व्यापारी की हत्या के आरोप में वाराणसी के रामनगर स्थित वन्य जीव विभाग में पिछले डेढ़ वर्ष से कैद हाथी मिट्ठू को रविवार की देर शाम लखीमपुर खीरी स्थित दुधवा नेशनल पार्क भेज दिया गया। धूप, गर्मी और बरसात में एक ही जगह खड़े होकर सजा भुगत रहे बेजुबान हाथी की खबर अमर उजाला ने सात मई को ‘जंजीर में जकड़ा बेजुबान, कोई नहीं दे रहा ध्यान’ शीर्षक से प्रमुखता से प्रकाशित की थी। खबर का संज्ञान लेकर वाराणसी पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने हाथी को दुधवा भेजने की पहल की। जिसके बाद रविवार को दुधवा की टीम एक विशेष वैन से हाथी को दुधवा ले गई।

चंदौली जिले के बबुरी मेले में 26 अक्टूबर 2019 को इस हाथी मिट्ठू ने रमाशंकर सिंह नाम के व्यक्ति की पटक कर हत्या कर दी थी। जिसके बाद से वन विभाग ने हाथी को कब्जे में लेकर वन्य विभाग रामनगर में जंजीर से बांध दिया। तब से अब तक यह हाथी वहीं एक जगह पर ही था।

मिट्ठू हाथी के जौनपुर निवासी मालिक प्रेमशंकर तिवारी ने हाईकोर्ट में अपील भी की। मगर, लॉकडाउन की वजह से मामले की सुनवाई नहीं हो पा रही है। हाथी को जून 2020 में वन विभाग की ओर से एक बार दुधवा नेशनल पार्क भेजे जाने का प्रयास किया गया। मगर उस दिन हाथी मतवाला हो गया और उसने गुस्से में विभाग की चारदिवारी तोड़ दी।
... और पढ़ें
दुधवा नेशनल पार्क भेजा गया मिट्ठू दुधवा नेशनल पार्क भेजा गया मिट्ठू

शर्मनाक: भारत रत्न उस्ताद बिस्मिल्लाह खां का भी नहीं रखा मान, निठल्लेपन के लिए जगजाहिर वाराणसी नगर निगम के अधिकारी बेपरवाह

देश के सर्वोच्च सम्मान से नवाजे गए उस्ताद बिस्मिल्लाह खां के सम्मान में वाराणसी नगर निगम पूरी तरह से बट्टा लगा रहा है। शहनाई के जादूगर के घर की ओर जाने वाली सड़क कई दिनों से सीवर के पानी में डूबी है। मगर अपने निठल्लेपन के लिए जगजाहिर नगर निगम के अधिकारी बेपरवाह हैं। दुनिया भर में बनारस की ख्याति को बढ़ाने वाले बिस्मिल्लाह खां के नाम पर बनी सड़क पर इस कदर लापरवाही की कल्पना भी नहीं की जा सकती।

उस्ताद बिस्मिल्लाह खां के सम्मान में कई साल पहले नगर निगम ने उन्हें समर्पित करते हुए उस रास्ते का नाम ही उस्ताद बिस्मिल्लाह खां मार्ग किया था। मगर, इस सड़क की वर्तमान स्थिति शर्मसार करने वाली है। नगर निगम की लापरवाही के चलते पूरी सड़क के चारों ओर सीवर का पानी भर गया है।

इस महान हस्ती के नाम पर बना मार्ग कई दिनों से सीवर में डूबा है और ऐसा नहीं है कि नगर निगम के अधिकारियों को इसकी जानकारी नहीं है। मगर, नगर निगम की टालू कार्यशैली से शहर के महान विभूतियों के सम्मान पर बट्टा लग रहा है। लेकिन, किसी को चिंता नहीं है। इस समय भारतरत्न बिस्मिल्लाह खां मार्ग से गुजरने वाला हर कोई यही कहेगा वाह रे स्मार्ट सिटी बनारस...।
... और पढ़ें

आदेश जारी: वाराणसी कैंट स्टेशन पर आज से बिना प्लेटफॉर्म टिकट के नहीं कर सकेंगे प्रवेश , देना होगा ज्यादा दाम

वाराणसी कैंट स्टेशन सहित उत्तर रेलवे के सभी स्टेशनों पर आज से बिना प्लेटफार्म टिकट के आम लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। उत्तर रेलवे की तरफ से प्लेटफॉर्म टिकट के लिए रविवार देर रात आदेश जारी किया गया है। जिसे अब आम लोग स्टेशनों के टिकट काउंटर से 30 रुपए में ले सकेंगे।

 कोरोना संक्रमण की रफ्तार में कमी और अनलॉक में स्टेशनों पर बढ़ रहे यात्रियों और आम लोगों के दबाव को देखते हुए प्लेटफॉर्म टिकट लागू किया गया है। स्टेशनों के टिकट काउंटर पर लोग 30 रुपए में प्लेटफार्म टिकट ले सकेंगे। एडीआरएम रवि चतुर्वेदी ने बताया कि एक सप्ताह से यात्रियों और आम लोगों की संख्या से स्टेशनों पर दबाव बढ़ रहे थे जिसे देखते हुए रविवार देर रात प्लेटफॉर्म टिकट के लिए आदेश जारी किए गए हैं। इससे स्टेशनों पर बेवजह भीड़ नही होगी।

बता दें कि कोरोना से जुड़ी पाबंदियों में ढील के साथ रेलवे ने भी ट्रेनों की संख्या में बढ़ोतरी करना शुरू कर दी है। गर्मियों की छुट्टियों को ध्यान में रखते हुए भी अतिरिक्त ट्रेनें चलाई जा रही हैं। 
... और पढ़ें

वाराणसी: कागजों में घूम रही विकास योजनाएं, करोड़ों रुपये खर्च होने के बाद नई काशी से लेकर टीपी नगर में वीडीए खाली हाथ

वाराणसी शहर के विकास के लिए बनी कई परियोजनाएं अब भी कागजों से बाहर नहीं निकल पाई हैं। कई परियोजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए करोड़ों रुपये खर्च भी कर दिए गए, मगर विकास प्राधिकरण खाली हाथ है। आलम यह है कि विकास प्राधिकरण अपनी अटकी परियोजनाओें के लिए कोई प्रयास भी नहीं कर रहा है।

तीन साल पहले नई काशी की परिकल्पना की गई और अब तक उसका स्थान तक चयन नहीं किया जा सका। ऐसे ही वर्षों से अटके ट्रांसपोर्ट की जमीन के विवाद को भी सुलझाया नहीं जा सका है। मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने कहा कि जिन परियोजनाओं और योजनाओं पर काम आगे नहीं बढ़ा है उसकी समीक्षा कराई जाएगी। तकनीकी दिक्कतों को दूर कर परियोजनाओं को शुरू कराया जाएगा।


18 साल बाद भी टीपी नगर पर निर्णय नहीं
विकास प्राधिकरण ने मोहन सराय के पास बैरवन, सरायमोहन, कंकनाडाडी और मिल्कीचक में 45 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित की। मगर विरोध के चलते अब तक उस पर कब्जा नहीं मिल पाया। उस समय 82 करोड़ रुपये में 89 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित की जानी थी। शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने के लिए बनी यह योजना करोड़ों रुपये खर्च होने के बाद अधर में लटकी है।

करीब तीन साल पहले तत्कालीन उपाध्यक्ष राजेश कुमार ने शासन को पत्र लिखकर किसानों की जमीन वापस करने, उनसे मुआवजा वापस लेने और इस योजना को दूसरी जगह करने का प्रस्ताव दिया था। इसके बाद वीडीए वीसी राहुल पांडेय ने भी कुछ प्रयास किए, मगर सफलता नहीं मिली।
... और पढ़ें

नई शिक्षा नीतिः परिषदीय विद्यालयों में दिखाई देगी गुरुकुल पद्धति की झलक, अलग ही होगा नजारा

वाराणसी
बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में अब गुरुकुल पद्धति की झलक दिखाई देगी। नई शिक्षा नीति के तहत सदियों पुरानी शिक्षा पद्धति को एक बार फिर से परिषदीय विद्यालयों में शुरू करने की कवायद शुरू होने जा रही है। इसके तहत छात्र छात्राओं को मौलिक अधिकार, नागरिकता कौशल, जल एवं पर्यावरण संरक्षण, स्वच्छता, जलवायु परिवर्तन और अपशिष्ट प्रबंधन आदि विषयों पर जागरूक करने का प्रावधान है।

गुरुकुल शिक्षा पद्धति के तहत विद्यार्थियों को अपने विद्यालय, कक्षाओं की साफ सफाई का कमान भी संभालने की जिम्मेदारी दी जाएगी। ताकि बच्चों का विद्यालय और वहां के संसाधनों से उनका लगाव बढ़े और वह सीमित संसाधनों का बेहतर उपयोग कर सामूहिकता व परोपकार की भावना भी सीख सकें। वाराणसी जिले में 1144 विद्यालय है, जिसमें दो लाख छात्र पढ़ाई करते हैं।

यह है तैयारी
नई शिक्षा नीति के तहत शुरू होने वाली गुरुकुल पद्धति वर्तमान शैक्षिक सत्र में  छठवीं से आठवीं तक के कक्षाओं में अनिवार्य रूप से शुरू किया जाएगा। इसमें परिषदीय विद्यालयों में हर विद्यार्थी को रोजाना 15 से 20 मिनट खुद साफ-सफाई करनी होगी। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राकेश सिंह ने बताया कि नई शिक्षा नीति में विद्यार्थियों को उनके मौलिक अधिकार, स्वच्छता, संस्कार, नैतिक शिक्षा आदि के बारे में परिपक्व बनाया जाएगा।
... और पढ़ें

मानसून ने दी दस्तक: वाराणसी में सुहाना हुआ मौसम, घाटों पर मस्ती में सामाजिक दूरी भी भूले लोग, तस्वीरें

दो दिन पहले ही प्री मानसून के आने के बाद अब मानसून ने भी रविवार को दस्तक दे दी है। ऐसा लंबे समय बाद हुआ है जब मानसून समय से पहले पूर्वांचल में आया हो। मौसम वैज्ञानिक के अनुसार, इस बार समय से पहले मानसून तो आया ही है, अच्छी बारिश भी देखने को मिल सकती है। इधर, दो दिन से रुक-रुक कर बारिश हो रही है और मौसम विभाग ने 44 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड किया है।  बादलों की आवाजाही और बारिश से मौसम सुहाना हुआ तो साप्ताहिक बंदी के नियम के बाद भी लोग गंगा घाटों की ओर निकल पड़े।

इस दौरान कई घाटों पर सैलानी और स्थानीय लोग सामाजिक दूरी का पालन करते नजर नहीं आए। लोगों ने मानसून की पहली बारिश का दिल खोलकर स्वगत किया और खूब मस्ती भी की।  मौसम विज्ञानियों के मुताबिक, आने वाले दिनों में भी बादलों की सक्रियता का दौर बना रहेगा और बादल बारिश कराएंगे तो उमस और गर्मी से भी राहत मिलेगी। 
... और पढ़ें

नागरी प्रचारिणी सभा: किसी को नहीं पता, कहां हैं डिजिटल पांडुलिपियां, 93 लाख की लागत से हुआ था 17 हजार हस्तलेखों का डिजिटलाइजेशन

नागरी प्रचारिणी सभा के चुनाव की घोषणा होने के बाद कई सारे रहस्यों से अब धीरे-धीरे परदा हटने लगा है। बौद्धिक संपदा को बचाने के साथ ही 128 साल पुरानी धरोहर को संजोने के लिए साहित्यकार समाज ने भी पहल की है। वहीं नागरी के 17 हजार हस्तलेखों का डिजिटलाइजेशन अभी तक आम जन को उपलब्ध नहीं हो सका है। 

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सेंटर फार डेवलपमेंट आफ एडवांस कंप्यूटिंग को 1998 में हस्तलेखों को डिजिटल करने की जिम्मेदारी दी गई। सीडेस्को ने नागरी प्रचारिणी सभा की 19वीं शताब्दी से लेकर 1950 तक उपलब्ध दुर्लभ पांडुलिपियों, पुरानी पत्रिकाओं, दुर्लभ हिंदी पुस्तकों का डिजिटल आर्काइव तैयार किया। इस आर्काइव में 35 लाख पृष्ठों को शामिल किया गया।

सीडेस्को को इस कार्य के लिए सरकार की तरफ से 93 लाख का अनुदान दिया गया था। इस मामले में व्योमेश शुक्ला ने यह सवाल उठाया है कि 23 साल बीतने के बाद भी डिजिटल हस्तलेख कहां हैं, इसका किसी को पता ही नहीं है। सभा के अपर सचिव सभाजीत शुक्ला ने बताया कि उन्होंने राष्ट्रीय पांडुलिपि मिशन के निदेशक को 17 हजार हस्तलेखों के संरक्षित किए जाने की जानकारी पत्र द्वारा उपलब्ध करा दी है। 
... और पढ़ें

यूपी बोर्ड परीक्षा: परिणाम से पहले विद्यार्थियों के नाम में गड़बड़ी सुधारने का मौका, आज और कल खुलेगा पोर्टल

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा का परिणाम जारी करने से पहले माध्यमिक शिक्षा परिषद हर एक पहलू पर गंभीरता से विचार कर रहा है। छात्रों, प्रधानाचार्यों, अभिभावकों से फीडबैक लेने के बाद अब परीक्षा फार्मों में विद्यार्थियों के नाम में गड़बड़ी सुधारने का मौका दिया गया है।

इसके लिए 14 और 15 जून को परिषद की ओर से पोर्टल खोला जाएगा, जिसके माध्यम से प्रधानाचार्य नाम में गड़बड़ी को सही कर सकेंगे। परिषद की इस पहल से परिणाम से पहले वर्तनी संबंधी समस्या को दूर कराया जा सकेगा। जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. विजय प्रकाश सिंह ने बताया कि सभी प्रधानाचार्य को इसके लिए निर्देशित किया जा चुका है।

इसमें विद्यालय में मौजूद अभिलेखों के आधार पर ही छात्र और उनके माता-पिता के नाम की वर्तनी लिखी जाएगी। गौरतलब है कि इस बार वाराणसी जिले में हाईस्कूल में 52,873 जबकि इंटर में 51,873 परीक्षार्थी हैं। इस तरह प्रदेश के कुल 56 लाख से अधिक विद्यार्थी इससे लाभान्वित होंगे। सीबीएसई बोर्ड की तर्ज पर यूपी बोर्ड ने भी छात्रों को बड़ी राहत दी है।
... और पढ़ें

बाल-बाल बची जान: वाराणसी में जूता-चप्पल के गोदाम में लगी भीषण आग, महिला और बच्चों का रेस्क्यू ऑपरेशन, तस्वीरों में देखें

वाराणसी के अंधरापुल स्थित एक जूता-चप्पल के दुकान व गोदाम में रविवार शाम शार्ट सर्किट से आग लग गई। सूचना पर पहुंची पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन  चलाकर घर के अंदर फंसे महिलाओं, बच्चों समेत आठ लोगों  सुरक्षित बाहर निकाला। आग पर काबू पाने में फायर ब्रिगेड की टीम को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

चेतगंज थाना अंतर्गत अंधरापुल जूता बाजार में जूता-चप्पल कारोबारी संजीव कुमार गंभीर की दुकान व गोदाम है। मकान के उपरी तल्ले पर उनका  परिवार रहता है।  शाम पांच बजे वह किसी काम से नीचे दरवाजे तक गए थे। जहां देखा कि दुकान के अंदर से धुआं उठ रहा था। परिजनों को आग की सूचना देते हुए फायर ब्रिगेड को सूचित किया।

तब तक आसपास के लोग भी राहत बचाव को लेकर पहुंच गए। मौके पर फायर अफसर अनिमेष सिंह टीम संग पहुंचे और दुकान खोलकर देखा तो अंदर गोदाम में आग की लपटे उठ रहीं थीं। हादसे में लकड़ी की अलमारी, फर्नीचर, उसमें रखे जूते, चप्पल और सारा सामान जल रहा था।
... और पढ़ें

वाराणसी: पीएनबी बैंक मैनेजर हत्याकांड का पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा, छह गिरफ्तार, सामने आई ये बड़ी बात

वाराणसी के करखियांव स्थित पीएनबी शाखा प्रबंधक की गोली मारकर हत्या और लूट की वारदात का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। शाखा प्रबंधक फूलचंद राम की हत्या चलती गाड़ी में लूट का विरोध करने पर की गई थी। हत्याकांड में शामिल दो गैंग के 11 बदमाशों ने वारदात को अंजाम देने के लिए बैंक प्रबंधक को सीएसआर फंड ट्रांजेक्शन के नाम पर पैसे को दोगुना करने का लालच दिया था।

एडीजी बृजभूषण ने रविवार को इस घटना का खुलासा किया और इसमें शामिल टीम को एक लाख रुपये के इनाम की घोषणा की। उधर, इस मामले में करखियांव शाखा के कैशियर को निलंबित कर दिया गया। वारदात में शामिल छह बदमाश गिरफ्तार किए गए हैं और मुख्य आरोपी सहित पांच फरार हैं।

एडीजी जोन बृजभूषण ने बताया कि पीएनबी के शाखा प्रबंधक फूलचंद राम को वारदात में शामिल गैंग के सदस्यों ने एक कंपनी के सीएसआर फंड ट्रांजेक्शन के नाम पर रकम दोगुना करने का लालच दिया था।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us