विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus Lockdown in UP Live Updates: 15 जिलों के हॉटस्पॉट आज रात 12 बजे से होंगे सील, जानिए उनके नाम

यूपी में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने की अटकलों के बीच प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रदेश के 15 जिलों को रात 12 बजे से सील करने का निर्णय लिया है।

8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

वाराणसी

बुधवार, 8 अप्रैल 2020

कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए आईएमएस बीएचयू में 1000 जांच किट पहुंची

कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य महकमा अलर्ट हो गया है। जैसे-जैसे मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, वैसे ही जांच, भर्ती संबंधी तैयारियां भी तेज कर दी गई हैं, जिससे कि किसी तरह की कोई परेशानी न हो। इसको देखते हुए आईएमएस बीएचयू माइक्रोबायोलॉजी लैब में एक हजार से अधिक जांच किट पहुंच गई है, जिससे अब बनारस समेत पूर्वांचल के 13 जिलों में जांच के लिए कोई परेशानी नहीं होगी।

बीएचयू के माइक्रोबायोलॉजी लैब में वाराणसी, प्रयागराज, आजमगढ़ और मिर्जापुर मंडल के 13 जिलों के कोरोना वायरस के सैंपल के जांच की जिम्मेदारी है। इन जिलों से अब तक 300 से अधिक सैंपलों की जांच हो चुकी है। लॉकडाउन की वजह से पिछले दिनों जांच किट की डिलिवरी समय से नहीं हो पा रही थी।

कमिश्नर और जिलाधिकारी ने भी दो दिन पहले पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया था और सोमवार को कुलपति ने भी बीएचयू अधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना से निपटने के लिए किसी तरह की कोई कमी न होने की बात कही थी। सूत्रों के अनुसार एक साथ 1000 से अधिक जांच किट केमिकल सहित मिल गए है, जिससे कि अब महीने भर तक जांच की कोई परेशानी ना हो।
बीएचयू में चल रही जांच, इलाज में किसी तरह की कोई रुकावट ना इसको लेकर पूरी समीक्षा की जा रही है। फिलहाल पर्याप्त मात्रा में जांच किट और केमिकल उपलब्ध है। लगातार बीएचयू अधिकारियों से भी बातचीत जारी है।
डॉ. वीबी सिंह, सीएमओ
... और पढ़ें

केंद्र सरकार से बातचीत करने के बाद लॉकडाउन में दी जाएगी ढील: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 

21 दिनों के लिए लागू लॉक डाउन को फिलहाल खोले जाने की गुंजाइश नहीं दिख रही है। कोरोना संक्रमण का एक भी केस न मिलने के बावजूद भदोही जिले में भी लॉकडाउन खुलने के आसार कम ही हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को पत्रकारों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान ऐसे ही संकेत दिए। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से वार्ता के बाद लॉकडाउन खोलने पर कोई निर्णय लिया जाएगा।

कलेक्ट्रेट के एनआईसी कक्ष में डीएम राजेंद्र प्रसाद और पुलिस कप्तान रामबदन सिंह की मौजूदगी में हुई वीडियो कांफ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री प्रदेश के सभी 75 जिलों के प्रमुख मीडिया कर्मियों से मुखातिब हुए। लगभग एक घंटे के संबोधन में मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर सरकार की ओर से किए जा रहे उपायों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इसके लिए 11 टीमें बनाई गईं हैं, जो विभिन्न जिम्मेदारियां निभा रहीं हैं।

उन्होंने सर्विलांस, क्वारंटीन और आइसोलेशन वार्ड में रखे गए लोगों के आंकड़े भी मीडिया के सामने रखे। उन्होंने मीडियाकर्मियों से कोरोना से लड़ने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के प्रति लोगों को जागरूक करने की भूमिका निभाने की अपील की। कहा कि आप के संपर्क दूर-दूर तक हैं। लोगों को बताएं कि वे आत्म अनुशासन का पालन करें और जहां हैं, वहीं रहें। इससे इस बीमारी से लड़ने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि जनता को इस बात के लिए प्रेरित करने की जरूरत है कि वह कॉटन के कपड़े का मास्क खुद बनाकर उपयोग करें। मेडिकल स्टॉफ के लिए उपयोग में लाए जाने वाले मास्क का प्रयोग का खास मतलब नहीं है। कहा कि प्रत्येक जिले में एक कलेक्शन सेंटर बनाने की तैयारी की जा रही है, जिसमें कोरोना से जुड़े लोगों और रिकॉर्ड को एकत्र किया जाएगा।

... और पढ़ें

जांच रिपोर्ट आने से पहले मिर्जापुर में कोरोना संदिग्ध मरीज की मौत, कोरोना पॉजिटिव झोलाछाप डॉक्टर ने किया था इलाज

मिर्जापुर जिले के जमालपुर इलाके की कोरोना की संदिग्ध मरीज वृद्ध महिला की जांच रिपोर्ट आने से पहले ही मंगलवार दोपहर मंडलीय अस्पताल के क्वारंटीन कक्ष में मौत हो गई। महिला का क्षेत्र के कोरोना पॉजिटिव झोलाछाप ने उपचार किया था।  

जनपद में दो जमाती कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें जमालपुर क्षेत्र निवासी एक झोलाछाप भी है। वह 19 मार्च को निजामुद्दीन मरकज में शामिल होने के बाद 22 मार्च को घर आया था। इसके बाद उसने जमालपुर और चकिया, चंदौली के 34 लोगों का इलाज किया था।

झोलाछाप से इलाके की एक वृद्ध महिला (70) ने भी इलाज कराया था। पांच अप्रैल की सुबह सर्दी-जुकाम के चलते वृद्धा की तबीयत खराब हुई तो परिजन उसे चकिया, चंदौली ले गए। इसी बीच किसी ने ट्वीट कर सीएम से शिकायत कर दी कि कोरोना पॉजिटिव झोलाछाप से इलाज कराने वाली वृद्धा के इलाज में लापरवाही की जा रही है।

इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम वृद्धा और उसके परिवार के दो सदस्यों को रविवार की देर रात मंडलीय अस्पताल के निर्माणाधीन ट्रामा सेंटर के क्वारंटीन सेंटर ले गई। सोमवार की शाम को वृद्धा और उसके परिवार के दो लोगों का सैंपल लेकर जांच के लिए भेज गया गया। अभी जांच रिपोर्ट नहीं आई है।

इसी बीच, मंगलवार की दोपहर वृद्धा की मौत हो गई। उधर, दोनों कोरोना पॉजिटिव जमातियों के परिवारों के 17 लोगों की जांच रिपोर्ट मंगलवार शाम आ गई। सभी की रिपोर्ट निगेटिव हैं। सीएमओ डॉ. ओपी तिवारी ने बताया कि वृद्धा को सर्दी-जुकाम था। उसका इलाज पाजिटिव मिले जमाती ने किया था। वृद्धा की मंगलवार की दोपहर मौत हुई है। अभी उसकी कोरोना जांच रिपोर्ट नहीं आई है। रिपोर्ट आने पर मौत के कारण का पता चलेगा। 
 

... और पढ़ें

न रहे भ्रम में, लॉक डाउन में वाराणसी में नहीं हुआ है बदलाव

कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए लॉक डाउन लागू होने के बाद भी कुछ लोग इस गंभीर बीमारी से बचाव को लेकर लापरवाही कर रहे हैं। ऐसे में जिले को सील करने की अफवाह तेजी से कई दिनों से चल रही है और लोग इस अफवाह को सच मानकर सामानों की खरीदारी में जल्दबाजी कर रहे हैं। पर सच्चाई यह है कि जिले को सील करने की बात बस कोरी अफवाह ही है, यह हम नहीं बल्कि जिले के मुखिया वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा की बानगी है।

जिलाधिकारी कैशलराज शर्मा ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों के मोहल्ले हॉटस्पॉट बनाकर सील किये गए हैं। बनारस के गंगापुर, लोहता, मदनपुरा और बजरडीहा में अगले आदेश तक कर्फ्यू जैसे हालात रहेंगे। बाकी शहर में लॉक डाउन के आदेश में कोई बदलाव नहीं है। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए बनारस सहित प्रदेश के 15 जिलों के हॉटस्पॉट सील किये गए हैं।

हालांकि बनारस में चार दिनों से यह आदेश प्रभावी था, ऎसे में यहां कोई नया नियम नहीं लागू होगा। जिले तो पहले से ही सभी लॉक डाउन हैं। यह कार्रवाई वाराणसी में 4 दिन से ही चल रही है। जिन जिलों में ये हॉटस्पॉट चिन्हित कर एरिया वाइज सीलिंग नही की जा रहीं थी वही के लिए नए निर्देश हुए हैं। वाराणसी में डिस्ट्रिक्ट लॉक डाउन और हॉटस्पॉट लॉक डाउन दोनो व्यवस्था शासन के कहने से पहले ही लागू की गई हैं।


 

... और पढ़ें
जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा। जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा।

सल्फास खाकर जिंदा बच गए युवक ने फांसी लगाकर दी जान

सल्फास खाने के बाद भी युवक की जान बच गई तो उसने हफ्ते भर के भीतर ही फांसी लगा कर जान दे दी। घटना चौबेपुर थाना के नरायनपुर कसिहर गांव की है। बुधवार की सुबह विकास चौबे (21) को उसके घर के समीप स्थित बगीचे में पेड़ की डाल से लटके देख ग्रामीणों ने शोर मचाया तो पुलिस आई और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

रामायण मंडली संचालित करने वाला विकास और एक गांव की कक्षा 10 की किशोरी एक-दूसरे से प्रेम करते थे। एक हफ्ते पहले रात में किशोरी के घर में वह और विकास संदिग्ध हाल में सल्फास खाए हुए मिले थे। उपचार के दौरान किशोरी की मौत हो गई थी और विकास स्वस्थ हो गया था।

विकास के पिता की तहरीर के आधार पर किशोरी के पिता और चाचा को चौबेपुर थाने की पुलिस ने हत्या और हत्या के प्रयास के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेजा था। बताया जाता है कि प्रेमिका की मौत, उसके पिता-चाचा के जेल चले जाने और खुद जीवित बच जाने से विकास खासा परेशान था। मंगलवार की रात वह घर से साड़ी लेकर निकला और थोड़ी दूर स्थित बगीचे में कटहल के पेड़ के सहारे फंदे से झूल गया।
... और पढ़ें

देवबंद मदरसा का छात्र मिला कोरोना वायरस पॉजिटिव, जौनपुर में चार हुई मरीजों की संख्या

उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में बुधवार को एक और कोरोना वायरस का मरीज मिला है। जिले में अब तक कोरोना के चार मरीज मिल चुके हैं। इसमें एक युवक को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। अब तीन का इलाज किया जा रहा है।

जौनपुर जिले के बदलापुर तहसील क्षेत्र का 21 वर्षीय युवक कोरोना पॉजिटिव मिला है। वह सहारनपुर के देवबंद मदरसे का छात्र है। 28 मार्च को वह घर आया था। इस युवक के साथ आए वाराणसी के दो युवकों के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद पांच अप्रैल को उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराते हुए सैंपल जांच के लिए भेजा गया था।

बुधवार दोपहर में रिपोर्ट आने के बाद आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर उपचार शुरू कर दिया गया है। उसके परिवार के अन्य सदस्यों के भी सैंपल जांच के लिए भेजे जा रहे हैं। करीब एक सप्ताह तक गांव में रहने के दौरान युवक किन-किन लोगों के संपर्क में आया है, इसकी पहचान कर उनकी भी जांच की जाएगी।
... और पढ़ें

पूर्वांचल में मिले कोरोना मरीजों में से आधे से ज्यादा जमाती, 9 स्थानीय लोग

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को रोकने के लिए देश में लॉकडाउन है। इस दौरान लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी गई है। वाराणसी समेत आसपास के जिलों में कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं। अब तक कोरोना मरीजों की संख्या 23 पहुंच चुकी है।

23 में से तीन लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। जिनमें दो वाराणसी और एक जौनपुर का है। तो वहीं एक की मौत हो चुकी है। मृतक की बहू और पत्नी की भी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। बनारस में कोरोना मामलों की संख्या 9 पहुंच गई है।

जानकारी के अनुसार, पूर्वांचल में मिले 23 मरीजों में से 14 जमाती कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। वाराणसी में अब तक दो जमाती मिले हैं। तो वहीं गाजीपुर में पांच, आजमगढ़ में तीन, जौनपुर में दो और मिर्जापुर में दो जमाती मिले हैं। ये सभी दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज के तब्लीगी जमात में शामिल हुए थे।
... और पढ़ें

लॉकडाउन: भाजपा की ये पहल आएगी आपके काम, स्वास्थ्य संबंधी समस्या खत्म होगी मोबाइल पर

कोरोना वायरस
वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन किया गया है। जिससे कि लोग घर से बाहर न निकल सकें। लेकिन इस कारण बीमार लोगों की ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसको लेकर भारतीय जनता पार्टी ने शारीरिक रूप से अस्वस्थ, बीमार, पीड़ित लोगों की सहायता के लिए विधानसभा स्तर पर नगर के प्रसिद्ध चिकित्सकों का हेल्पलाइन नंबर जारी किया है।

महानगर अध्यक्ष विद्या सागर राय के अनुसार  21 दिनो के लॉकडाउन की अवधि में बीमार एवं गंभीर रोगों के मरीजों को काफी दिक्कत हो रही है। इस समस्या को गंभीरता से लेते हुए भाजपा, चिकित्सा प्रकोष्ठ, काशी क्षेत्र द्वारा वाराणसी के अनुभवी चिकित्सकों का हेल्पलाइन नंबर जारी किया जा रहा है ताकि बीमार, पीड़ित मरीज घर बैठे इसका लाभ ले सकें।

भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ(काशी क्षेत्र) के संयोजक डॉ अशोक कुमार राय ने बताया कि शहर में रहने वाला कोई भी व्यक्ति स्वास्थ्य संबंधी परेशानी होने पर विधानसभा स्तर पर वरिष्ठ एवं अनुभवी चिकित्सकों से सहायता ले सकता है। इन सभी डाक्टरों का हेल्पलाइन नंबर जारी किया जा रहा है, जो इस प्रकार है।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: बलिया में भर्ती हुए चार संदिग्ध, एक ने की नर्स और स्टाफ से बदतमीजी 

बलिया जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक कोरोना संदिग्ध भर्ती मरीज ने बुधवार की सुबह ड्यूटी पर तैनात नर्स व उनके स्टाफ से बदतमीजी की। इसके अलावा अपने लिए अलग से गर्म पानी व नास्ता मांगने लगा। जबकि उसके साथ तीन और कोरोना के संदिग्ध मरीज भर्ती हैं। सूचना पर पहुंचे सीएमएस व पुलिस ने उसे समझाकर शांत कराया। वहीं चारों मरीजों का सैंपल जांच के लिए वाराणसी भेज दिया।

मंगलवार को जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रों के गांवों से चार कोरोना संदिग्ध मरीजों को पुलिस और स्वास्थ्य टीम ने संयुक्त रूप से पकड़कर जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया। बाद में चारों का सैंपल वाराणसी जांच के लिए भेजा।

दिल्ली से 28 मार्च को उभाव थाना क्षेत्र के एक गांव में आए युवक को पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम ने पकड़कर जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया। इसके अलावा इसी थाने के एक ही गांव के दो और युवकों को भी आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया।
... और पढ़ें

यूपी: पूजा करते समय निकली चिंगारी, कई झोपड़ियां जलकर हुईं राख

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में पूजा करते समय एक झोपड़ी में आग गई। देखते ही देखते इस आग ने अन्य छह झोपड़ियों को भी अपनी जद में ले लिया और आग की तेज लपटें उठने लगीं। मौके पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने ग्रामीणों की मदद से काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। इस घटना में खाद्यान्न सहित हजारों की गृहस्थी का सामान जलकर राख हो गया।

गाजीपुर जिले के करंडा थाना क्षेत्र के बड़सरा गांव निवासी सरोज गुप्ता के घर पूजा हो रही थी। इसके लिए अंगीठी पर दूध उबाला जा रहा था। इसी दौरान करीब डेढ़ बजे अंगीठी से निकली चिंगारी से झोपड़ी में आग लग गई। अंदर मौजूद लोग दौड़कर बाहर भागे और का शोर मचाने लगे।

जब तक लोग आग पर काबू पाना शुरू करते, तब तक एक के बाद बगल की अन्य छह झोपड़ियों को भी आग ने अपनी जद में ले लिया और ऊंची लपटें उठने लगीं। ग्रामीण दमकल विभाग को सूचना देने के बाद आग बुझाने में जुट गए।
... और पढ़ें

पुलिस की एक यह भी तस्वीर, जरूरतमंदों को खुद बनाकर खिला रहे खाना

लॉकडाउन में पुलिस किस तरह लोगों की मदद कर रही है, इसकी तारीफ हर कोई कर रहा है। पुलिस ने एक तरफ कानून-व्यवस्था बनाए रखी है, तो दूसरी तरफ जरूरतमंदों की सहायता कर रही है। पुलिसकर्मी किसी को राशन, किसी को दवाई तो किसी को भोजन उपलब्ध करा रहे हैं।

वाराणसी में भी कुछ ऐसा ही पुलिस कर रही है। वह हर दिन जरूरतमंदों को खाना-राशन उपलब्ध करा रहे हैं। वहीं अब एक ऐसी तस्वीर सामने आई है, जहां पुलिसकर्मी खुद खाना बना रहे हैं। एक पुलिसकर्मी खुद ही पूड़ियां तल रहे हैं।

वाराणसी के सारनाथ में बुधवार को प्रभारी निरीक्षक विजय बहादुर सिंह की अध्यक्षता में पुलिस ने लगभग एक सप्ताह तक लोगों को भोजन कराने का जिम्मा लिया है। यदि स्थिति सामान्य नहीं होगी तो आम लोगों को भोजन की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी आगे भी निभाएगी।
... और पढ़ें

पूर्वांचल में 23 हुई कोरोना मरीज की संख्या, कोरोना वायरस से मरने वाले की बहू और पत्नी पॉजिटिव

पूर्वांचल में कोरोना वायरस के अब तक 23 मामले सामने आ चुके हैं। मंगलवार को वाराणसी में दो और आजमगढ़ में एक नया मामला सामने आया। वाराणसी में अब तक 9 कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं, जिसमें एक की मौत हो गई, जबकि दो को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। 

आजमगढ़ में कोरोना मरीजों की संख्या चार हो गई है। गाजीपुर में भी पांच मामले सामने आ चुके हैं। मिर्जापुर में दो, जौनपुर में तीन मामले सामने आ चुके हैं। जौनपुर के एक कोरोना मरीज को भी सोमवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

गंगापुर की महिलाओं में कोरोना की पुष्टि :
वाराणसी जिले के गंगापुर की दो महिलाओं में मंगलवार को कोरोना की पुष्टि होने के बाद स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। यह दोनों तीन अप्रैल को बीएचयू अस्पताल में मृत उस कपड़ा व्यापारी की पत्नी और बहू हैं, जिसकी मौत के बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।
... और पढ़ें

Covid-19 कंट्रोल रूम में ज्यादा आ रही ऐसी शिकायतें, अधिकारी करा रहे समाधान

कोरोना वायरस से बचाव के लिए खुले कोविड-19 वार रूम में खाने से जुड़ी अधिक शिकायतें आ रही हैं। ज्यादातर शिकायतें कच्चा और पका खाना से जुड़ी हैं। कुछ लोग पका-पकाया भोजन मांग रहे हैं तो वहीं कुछ लोग राशन की मांग कर रहे हैं। प्रतिदिन 50 से 60 शिकायतें आ रही हैं। इनमें से 25 शिकायतें खाने से जुड़ी हैं।

1077 कंट्रोल रूम में लहरतारा के वाल्मीकि सोनकर ने शिकायत दर्ज कराई कि राशन नहीं मिल रहा है। कृपया खाने का प्रबंध करें। इसी प्रकार सुंदरपुर के हरिदास ने फोन कर कहा कि राशन की समस्या है। वहां पहुंचकर अधिकारियों ने राशन का प्रबंध कराया।

पांडेयपुर की प्रियंका ने फोन कर डॉक्टर से कहा कि दो दिनों से बुखार आ रहा है। डॉक्टर ने दवा बताई और 3 दिन बाद उन्हें संपर्क करने को कहा। सिगरा के कौशल ने फोनकर डॉक्टर से कहा कि पेट में काफी दर्द है। डॉक्टर ने उन्हें दवा बताई। रथयात्रा के विनोद ने कंट्रोल रूम में पुलिस को फोन पर कहा कि खाना बांटने को लेकर कुछ लोग आपस में ही झगड़ा कर रहे हैं। मौके पर पहुंची पुलिस ने झगड़ा करने वालों को पकड़ा।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us