विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

उत्तर प्रदेश

बुधवार, 8 अप्रैल 2020

बरेलीः निजामुद्दीन से लौटे शख्स पर कोरोना संदिग्ध होने का शक, कराई गई जांच, पूरा परिवार क्वारंटीन

मंगलवार को बरेली में निजामुद्दीन से लौटे शख्स को कोरोना संक्रमित होने के शक में जिला अस्पताल लाकर जांच कराई गई। युवक को आइसोलेशन सेंटर में रखा गया है।

परिवार के 11 लोग घर में ही क्वारन्टीन कर दिए गए हैं। बांस मंडी इलाका निवासी जुबैर 17 मार्च को निजामुद्दीन गया था। वहां से उसी दिन अजमेर शरीफ दरगाह गया था और 20 मार्च को घर आ गया। 

तब से वह घर पर ही था, निजामुद्दीन के टावर में उसकी लोकेशन मिलने के बाद पुलिस ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को उसका नाम पता सौंप दिया था। स्वास्थ्य टीम ने पुलिस की मदद से उसे जिला अस्पताल लाकर सैंपल कराया।

शक में उसे आइसोलेशन में रखा गया है। उसकी माँ, चार भाई, एक भाभी और भाई के पांच बच्चों को घर में क्वारन्टीन किया है।
... और पढ़ें

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर अनियंत्रित बाइक फिसली, लॉकडाउन में घर आ रहे दो युवक गंभीर

दिल्ली से छिबरामऊ जा रहे युवकों की बाइक अनियंत्रित होकर रैलिंग से टकराकर फिसल गई। हादसे में बाइक सवार दो युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को एंबुलेंस के माध्यम से अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उन्हें सैफई पीजीआई अस्पताल रेफर कर दिया गया।

कन्नौज के छिबरामऊ निवासी विकास पुत्र करन सिंह और बिधूना निवासी संजय पुत्र राजेंद्र दिल्ली में नौकरी करते हैं। लॉकडाउन के कारण दोनों दिल्ली में ही फंसे थे। मंगलवार अलसुबह दोनों अपनी बाइक से छिबरामऊ रवाना हुए। बुधवार सुबह साढ़े पांच बजे लखनऊ एक्सप्रेसवे पर मटसेना क्षेत्र अंतर्गत खड़ेरिया गांव के समीप यकायक बाइक अनियंत्रित होकर रैलिंग से टकराकर फिसल गई। 

हादसे में बाइक सवार दोनों युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसे की जानकारी पर एक्सप्रेसवे पर तैनात सुरक्षा कर्मचारी मौके पर पहुंच गए और घायलों को एंबुलेंस से संयुक्त चिकित्सालय शिकोहाबाद में भर्ती कराया। 

यहां प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को सैफई पीजीआई हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया। चिकित्सकों के अनुसार दोनों युवकों को गंभीर चोटें हैं। दोनों की हालत नाजुक बनी हुई है।
... और पढ़ें

लखनऊ चिड़िया घर में भी आइसोलेशन वार्ड तैयार, सीसीटीवी की निगरानी में रहेंगे वन्यजीव

कोरोना से बचाव की एडवाइजरी जारी होने के बाद लखनऊ जू के आइसोलेशन वार्ड में इलाज की तैयारी पूरी हो गई है। वार्ड बन चुके हैं और उनकी निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे से की जाएगी।

वार्ड में लगाए गए सीसीटीवी के दो लिंक चिकित्सक कक्ष और निदेशक कक्ष में हैं। कोई जानवर संदिग्ध दिखा तो उसे आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया जाएगा। यह कवायद शुरू हो चुकी है। 

निदेशक जू आरके सिंह के मुताबिक, जू का 50 फीसदी से अधिक स्टाफ  वन्यजीवों की देखरेख में लगा हुआ है। वन्यजीवों के बाडे़ में जाने वाले स्टाफ  कीपर, सफाई कर्मी, सपोर्ट स्टाफ व चिकित्सक दल को सैनिटाइज किया जा रहा है।

वार्डों में जाने वाले स्टाफ  गमबूट, मास्क, ग्लव्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। बाडे़ में जीवों को खाना डिसइंफेक्ट करके खिलाया जा रहा है। यह प्रक्रिया बीते कई वर्षों से अपनाई जा रही है। सीजेडए से जो एडवाइजरी जारी की गई है, उस पर काम चल रहा है।
... और पढ़ें

Coronavirus Lockdown in UP Live Updates: 15 जिलों के हॉटस्पॉट आज रात 12 बजे से होंगे सील, जानिए उनके नाम

coronavirus coronavirus

यूपी कैबिनेट का बड़ा फैसला, मंत्रियों-विधायकों के वेतन में 30 फीसदी कटौती, विधायक निधि एक साल के लिए खत्म

उत्तर प्रदेश सरकार ने मंत्रियों व विधायकों के वेतन में 30 फीसदी कटौती करने के साथ ही अगले एक वर्ष के लिए विधायक निधि खत्म करने का फैसला लिया है। 2020-21 की विधायक निधि का इस्तेमाल कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने में किया जाएगा।

बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में चार प्रस्तावों पर मुहर लगी:

- विधायक निधि को एक साल के लिए खत्म कर दिया गया है। 2020-21 की विधायक निधि का इस्तेमाल कोरोना से लड़ने में किया जाएगा।

- मंत्रियों के वेतन में 30 फीसदी की कटौती के प्रस्ताव पर मुहर लगी है।

- विधायकों के वेतन में भी 30 फीसदी कटौती के प्रस्ताव पर कैबिनेट ने सहमति दे दी।

- आपदा निधि 1951 में बदलाव किया गया। अब तक आपदा निधि में 600 करोड़ की राशि थी जिसे अब बढ़ा कर 1200 करोड़ किया गया है।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस के कारण आगरा में पहली मौत, एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती महिला ने तोड़ा दम

उत्तर प्रदेश के आगरा जनपद में कोरोना वायरस से पहली मौत हुई है। एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती 76 साल की बुजुर्ग महिला ने बुधवार को दम तोड़ दिया है। बुजुर्ग महिला का पौत्र नीदरलैंड से यात्रा कर लौटा था।  
 

बता दें कि विगत दिवस कमला नगर में 76 वर्षीय महिला कोरोना संक्रमित मिली थीं। उनका पौत्र 15 मार्च को नीदरलैंड से लौटा था। वह 14 दिन होम क्वारंटीन में रहा। स्क्रीनिंग हुई तो संक्रमण नहीं मिला लेकिन घर में उसके संपर्क में आने के कारण दादी को कोरोना हो गया।

दादी को अस्थमा था। 10 दिन मुगल रोड स्थित दो अस्पतालों में अस्थमा का ही उपचार चला। तबीयत बिगड़ने पर नमूने लिए गए तो कोरोना निकला। इसके बाद एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया।
... और पढ़ें

सीतापुर में मां-बाप के साथ क्वारंटीन चार साल के बच्चे की मौत

मां-बाप के साथ स्कूल में क्वारंटीन चार वर्षीय बच्चे की मंगलवार रात मौत हो गई। बच्चे को उल्टी-दस्त की शिकायत थी। सदरपुर के गांव मोतीलाल पुरवा मजरा लछीपुर निवासी संबारी का चार वर्ष का बेटा पवन कुमार अपने परिजनों के साथ अपने ही गांव की प्राइमरी पाठशाला में एक अप्रैल से क्वारंटीन था।

मंगलवार रात संदिग्ध हालात में पवन की मौत हो गई। परिवारीजन और प्रधान उसकी मौत का कारण डायरिया बता रहे हैं। गांव की आशा बहू रमा देवी व अन्य ग्रामीणों ने बताया कि इस स्कूल में कन्नौज, लखनऊ और हरदोई से मजदूरी कर वापस लौटे कुल सात लोगों को रखा गया था। इसमें यह बच्चा भी शामिल था।

परिवार वालों ने बच्चे का अंतिम संस्कार कर दिया। थानाध्यक्ष सदरपुर दिनेश सिंह और महमूदाबाद सीएचसी के अधीक्षक डॉ. अजय वर्मा ने बताया कि सेंटर में क्वारंटीन सभी लोगों का कई बार परीक्षण किया जा चुका है। किसी भी व्यक्ति में कोविड 19 के लक्षण नहीं पाए गये।

प्रधान प्रतिनिधि ने बताया कि खुद परिजन अंतिम संस्कार करना चाहते इसलिए हम उन्हें रोक नहीं पाए और उन्होंने अंतिम संस्कार कर दिया।
... और पढ़ें

कोरोना वायरस: आज रात 12 बजे से सील हो जाएंगे मेरठ और शामली के हॉटस्पॉट, घर पहुंचेगा जरूरत का सामान

सांकेतिक तस्वीर
उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यूपी में कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 350 हो गई है। वहीं कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रदेश सरकार ने सूबे के 15 जिलों के हॉटस्पॉट को सील करने का फैसला किया है जिनमें पश्चिमी यूपी का मेरठ और शामली जिला भी शामिल है। 


गौरतलब है कि मेरठ में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 35 है, जबकि शामली में 17 लोगों में कोराना की पुष्टि हो चुकी है। इसके अतिरिक्त सहारनपुर में भी 14 लोग कोरोना संक्रमित है जिनमें सबसे ज्यादा संख्या निजामुद्दीन मरकज से लौटे जमातियों की है।

अब योगी सरकार के फैसले के बाद मेरठ और शामली जनपद के कोरोना वायरस की दृष्टि से संवेदनशील माने जा रहे क्षेत्रों पर पूरी तरह सील लगा दी जाएगी। ऐसे में क्षेत्र में सब्जी, राशन और दूध की दुकानें भी बंद रहेंगी। केवल मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे। वहीं जरूरी काम के लिए लोग बिना पास के सड़क पर नहीं निकल पाएंगें। 
... और पढ़ें

यूपी: कोरोना महामारी के दौरान तैनात पुलिसकर्मियों का योगी सरकार कराएगी 50 लाख का बीमा

उत्तर प्रदेश के पुलिस कर्मियों का सरकार बीमा कराएगी। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि पुलिसकर्मियों का 50 लाख रुपये का बीमा कराया जाए। जल्द ही इस संबंध में आदेश जारी किए जाएंगे। शासन की ओर से इस संबंध में जानकारी दी गई है।

वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को दिशा-निर्देश जारी किए। इसमें कहा गया कि प्रदेश के सभी जिलों में कोविड-19 की जांच के लिए कलेक्शन सेंटर स्थापित किए जाएंगे। जिन छह मंडलों में सरकारी मेडिकल कॉलेज नहीं है, उन सभी के मुख्यालयों पर टेस्टिंग लैब स्थापित की जाएंगी। 



इस समय देवीपाटन (गोंडा), मिर्जापुर, बरेली, मुरादाबाद, अलीगढ़ और वाराणसी के बीएचयू अस्पताल में एक-एक लैब बनाने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 130 करोड़ भारतीय पूरी तत्परता के साथ कोरोना वायरस को समाप्त करने में जुटे हुए हैं। उत्तर प्रदेश में पिछले 4-5 दिनों में कोरोना पॉजिटिव लोगों की संख्या बढ़ी है। 
 
... और पढ़ें

आइसोलेशन वार्ड में दूसरे दिन भी एक शख्स की मौत, नहीं हुई जांच, अब लोगों को सता रहा ये डर

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मंगलवार की रात कुशीनगर के अहिरौली क्षेत्र के पूर्व प्रधान की आइसोलेशन वार्ड में मौत हो गई। इस बार भी कॉलेज प्रशासन ने मरीज का सैंपल नहीं लिया। दो दिनों में आइसोलेशन वार्ड में दूसरी मौत है। दोनों मरीजों का सैंपल नहीं लिया गया है। ऐसे में परिजन और इलाज कराने आए लोग इस डरे हुए है।

जानकारी के अनुसार कुशीनगर के अहिरौली क्षेत्र के भगवानपुर खुर्द के पूर्व प्रधान सिराजुद्दीन अंसारी की तबीयत शनिवार से ही खराब थी। परिजनों के मुताबिक उन्हें सांस लेने में तकलीफ थी और उल्टी भी हो रही थी। अचानक सीने में दर्द की शिकायत बढ़ी तो परिजन सुकरौली व हाटा में इलाज के लिए ले गए। 

जहां पर प्राथमिक इलाज के बाद मंगलवार की रात नौ बजे के करीब परिजन कुशीनगर जिला अस्पताल लेकर गए। वहां से डॉक्टरों ने मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। मेडिकल कॉलेज पहुंचने पर डॉक्टरों को प्रारंभिक जांच में कोरोना संक्रमण के संदिग्ध लक्षण दिखने पर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया।
... और पढ़ें

मात्र 20 रुपये में रेलवे इंजीनियरों ने कोरोना से बचने के लिए तैयार किया ये हथियार, जानें क्या है इसमें खास

गोरखपुर के रेलवे वर्कशॉप के इंजीनियरों ने कोरोना संक्रमण से चेहरे को बचाने के लिए फेस शील्ड तैयार किया है। इसे तैयार करने में महज 20 रुपये ही लागत आई है। अभी तक 200 फेस शील्ड तैयार कर लिए गए हैं। इसे रेलवे के डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ को दिया जाएगा। इसके बाद रेलवे के फ्रंट लाइन के कर्मचारियों में इसका वितरण होगा।

फेस शील्ड पूरे चेहरे को कोरोना के संक्रमण की चपेट में आने से रोकता है। मंगलवार को रेलवे अस्पताल के कई डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ को फेस शील्ड उपलब्ध कराया गया। इसे तैयार करने में महज 10 मिनट लगे। इसके लिए न तो अलग से कोई सामान मंगाना पड़ा और न ही इसके लिए किसी बजट की व्यवस्था करनी पड़ी।

कारखाने में पड़े रेल मैटेरियल से ही फेस शील्ड बना दिया गया। पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह ने बताया कि रेलवे अस्पताल के मेडिकल स्टाफ के लिए इसे बनाया गया है। वे हमेशा मरीजों के संपर्क में रहते हैं इसलिए उनके लिए बहुत कारगार होगा।
... और पढ़ें

कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के बाद सील हुआ था घाटमपुर व बरीपाल, पुलिस ने ड्रोन कैमरे से कराई निगरानी

कानपुर के घाटमपुर और सजेती के बरीपाल कस्बे को रेड जोन घोषित करने के बाद सील कर दिया गया है। प्रशासन ने बुधवार को दोपहर बाद ड्रोन कैमरे से इलाके की निगरानी कराई। इससे पूर्व पुलिस-प्रशासन और पालिका कर्मचारियों ने कस्बे में घूमकर माइक से लोगों को घरों में रहने और लॉकडाउन का पालन करने के निर्देश दिए। बिना वजह घूमते मिले लोगों को पुलिस ने खदेड़कर घरों के अंदर कर कराया।

एसडीएम वरुण कुमार की अगुवाई में ड्रोन कैमरे की टीम ने रेड जोन घोषित इलाके कटरा, हाफिजपुर, कजियाना, आछी मोहाल और शेखवाड़ा सहित अन्य मोहल्लों की निगरानी की। कई मकानों की छतों पर ईंट-पत्थर दिखने पर इन्हें तत्काल हटाने के लिए कहा गया। टीम ने बरीपाल और सजेती कस्बे का भी जायजा लिया।

आपको बताते चलें कि कानपुर में तब्लीगी जमात के छह लोग कोरोना पॉजीटिव मिले थे। इनमें चार लोग दिल्ली और गुजरात के रहने वाले हैं, एक ईरान और एक अफगानिस्तान का रहने वाला है। ये सजेती के बरीपाल, कानपुर देहात के गजनेर और सैंथा और बाबूपुरवा समेत अन्य क्षेत्रों की मस्जिदों में रहे थे। कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के बाद इन इलाकों को पूरी तरह से सील कर दिया गया था।
... और पढ़ें

पूर्व सैनिकों की कोरोना से जंग: 'मैं घर की सीमा में किसी को आने नहीं दूंगा'

चीन से लड़े, पाक सैनिकों के दांत खट्टे किए और आतंकियों को भी धूल चटाई है, अब इनकी जंग कोरोना से है। मोर्चा जुदा है, दुश्मन अलग है, लेकिन जज्बा वही है। पूर्व सैनिक हैं जो लॉकडाउन का सख्ती से पालन करा रहे हैं।

कोई सामाजिक दूरी का पालन करा रहा है तो कोई घर के दरवाजे पर सुबह ही चारपाई डालकर बैठ जाता है ताकि न कोई बाहर जाए न ही अंदर आए। कहते हैं, मैं घर की सीमा में किसी को आने नहीं दूंगा, इस जंग को जीतने की यही रणनीति है।

खेड़ा राठौर के रानीपुरा गांव के 85 साल के सुघरसिंह ने 1962 में चीन के खिलाफ, 1965 और 1971 में पाक के खिलाफ जंग लड़ी थी। अब इनके बेटे सुरेंद्र सिंह, मुकेश जम्मू-कश्मीर में मोर्चा संभाले हैं जबकि नाती अनुज पंजाब के लुधियाना बार्डर पर तैनात है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन