विज्ञापन
विज्ञापन
जन्मतिथि से बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें नौकरी में प्रमोशन के शुभ योग
Kundali

जन्मतिथि से बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें नौकरी में प्रमोशन के शुभ योग

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

वृंदावनः आज से खुलेंगे ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर के पट, बिना मास्क नहीं मिलेगा प्रवेश, रजिस्ट्रेशन जरूरी

बांकेबिहारी मंदिर वृंदावन बांकेबिहारी मंदिर वृंदावन

झांसीः खेतों तक पानी पहुंचाने के नाम पर तीन साल में पचास करोड़ हजम कर गए सिंचाई अफसर

बुंदेलखंड के प्यासे खेतों तक पानी पहुंचाने के  लिए सरकार ने सिंचाई के लिए कई योजनाएं शुरू कीं। लेकिन अफसरों ने इनका इस्तेमाल सिर्फ अपनी जेब भरने में अधिक किया। वर्ष 2017 से लेकर अब तक पिछले तीन साल के भीतर ही कई सिंचाई योजनाएं भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गईं। अब तक करीब पचास करोड़ रुपये के घोटाले की पुष्टि हो चुकी है। 

घोटालों के आरोप में एक सहायक अभियंता, चार अधिशासी अभियंता, नौ अवर अभियंता, छह जूनियर अभियंता निलंबित हो चुके हैं। कृषि विभाग के तीन अफसर भी लपेटे में आ चुके हैं। छह फर्म के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जानी है। लेकिन इन सबके बावजूद अफसरों की कार्यशैली में कोई सुधार नहीं आ रहा। सिंचाई विभाग में फैले भ्रष्टाचार की खबरें रोजाना सामने आ रही हैं। 

केस एक
एरच बांध परियोजना में साढ़े सोलह करोड़ का घपला

एक एसई, दो एक्सईएन, सात एई एवं छह जेई पर आरोप तय
गरौठा में करीब 610 करोड़ की लागत से प्रस्तावित एरच बांध परियोजना घपलों में दबकर रह गई। इस बांध परियोजना पर 401 करोड़ की मोटी धनराशि खर्च हो चुकी। लेकिन पिछले दो साल से यहां काम बंद है। यहां हुए घपलों की जांच ईडब्ल्यूएस से कराई गई। इसमें बांध निर्माण के दौरान नीचे से निकले पत्थरों को बिना टेंडर कराए बेचे जाने की पुष्टि हुई। जांच रिपोर्ट में माना गया कि खोदाई में निकले पत्थरों की नीलामी नहीं हुई। अभियंताओं ने मिलीभगत से इस खनिज को खुद बेच दिया। जिस खनिज की कीमत उस समय करीब सवा दो सौ रुपये थी उसे आधी से कम कीमत पर चहेतों ठेकेदारों को दे दिया गया। ईडब्ल्यूएस ने दूसरी गड़बड़ियां भी पकड़ीं। यहां करीब साढ़े सोलह करोड़ रुपये के घपले की पुष्टि हुई है। इसमें एक एसई, दो एक्सईएन, सात एई एवं छह जेई के अनियमितता में शामिल होना पाया गया।

केस दो
लघु सिंचाई: चहेतों में बांट दिए तीस करोड़ के काम

एक्सईएन समेत दो अवर अभियंता निलंबित, एजेंसियां ब्लैकलिस्ट
 चेकडैम एवं तालाब के माध्यम से सिंचाई के लिए लघु सिंचाई विभाग को बुंदेलखंड पैकेज के तीस करोड़ रुपये दिए गए। इसके जरिए 40 चेकडैम एवं 44 तालाबों को गहरा किया जाना था। इसके लिए गांव चयनित हो गए। लेकिन, तत्कालीन अधिशासी अभियंता ने मिलीभगत से यह सारा काम अपने चहेते ठेकेदारों के बीच बांट दिया। शिकायत मिलने पर इसकी जांच कराई गई, जिसमें आरोपों की पुष्टि हो गई। इस मामले में अधिशासी अभियंता, दो अवर अभियंता को शासन ने निलंबित कर दिया जबकि तीन दर्जन से अधिक कार्यदायी एजेंसियों को गड़बड़ी के आरोप में ब्लैक लिस्ट कर दिया गया।

केस तीन
बिना काम कराए कर दिया 77.35 लाख का भुगतान

एक्सईएन, कैशियर एवं खंड लेखाधिकारी निलंबित
 बेतवा प्रखंड के तत्कालीन अधिशासी अभियंता संजय कुमार ने सिल्ट सफाई, मरम्मत समेत अन्य कार्यों को कराए बिना ही छह ठेकेदारों को एडवांस के तौर पर 77.35 लाख रुपये का भुगतान कर दिया। मामला उजागर होने के बाद शासन स्तर से जांच शुरू हुई। इसमें अभियंता की ओर से अनियमित तरीके से भुगतान करने की पुष्टि हुई। शासन स्तर से अधिशासी अभियंता समेत कैशियर, सहायक लेखाधिकारी को निलंबित कर दिया। इसी तरह सपरार प्रखंड के एक्सईएन ने भी बिना टेंडर कराए करीब 22 लाख रुपये का काम ठेकेदारों के बीच बांट दिया। इस मामले की शासन से भी शिकायत की गई है।

केस चार
तालाब बंधी बनाने पर 90 लाख का घपला

तत्कालीन भूमि संरक्षण अधिकारी समेत तकनीकी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति
बुंदेलखंड में कम बारिश की वजह से सरकार ने खेतों में तालाब के जरिए बंधी बनाकर सिंचाई योजना आरंभ की लेकिन, इस योजना में भी जमकर खेल हुआ। इसको अमली जामा पहनाने की जिम्मेदारी कृषि विभाग के जलागम को दी गई। लेकिन अफसरों ने मनमाने तरीके से बिना काम कराए अधिकांश पैसा चहेतों में बांटकर पूरे पैसों को बंदरबांट कर दिया। उपनिदेशक भूमि संरक्षण अजीत सचान ने जांच में गड़बड़ी पकड़ी। जांच रिपोर्ट में उन्होंने तत्कालीन बीएसए (भूमि संरक्षण अधिकारी) समेत अन्य के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की लेकिन, अभी तक आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई है।
... और पढ़ें

प्रयागराजः अतीक के 11 बैंक खाते होंगे कुर्क, लेनदेन पर भी लगेगी रोक, कार्रवाई शुरू

demo pic...
अहमदाबाद जेल में बंद माफिया अतीक अहमद की करोड़ों की संपत्ति पर कार्रवाई के बाद पुलिस उसके बैंक खातों को भी कुर्क करने जा रही है। उसके 11 खातों को चिह्नित किया गया है, जिन्हें सीज कराया जाएगा। जिलाधिकारी की अनुमति मिलने के बाद कैंट पुलिस ने इस संबंध में संबंधित बैंकों से संपर्क करना शुरू कर दिया है।

अतीक पर यह कार्रवाई धूमनगंज थाने में उस पर दर्ज गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में धारा 14(1) के तहत की जाएगी। मुकदमे के विवेचनाधिकारी इंस्पेक्टर नीरज वालिया की ओर से उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट भेजकर बताया गया था कि अतीक के 13 ऐसे बैंक खातों की जानकारी मिली है जो उसके अपराध जगत मेें आने के बाद खोले गए। इनमें से सात प्रयागराज, तीन नई दिल्ली, एक लखनऊ  व दो बलरामपुर स्थित बैंकों में खुलवाए गए।

एसएसपी ने रिपोर्ट के आधार पर खातों को कुर्क करने की संस्तुति करते हुए जिला प्रशासन को पत्र भेजा था। रिपोर्ट व संबंधित साक्ष्यों के अवलोकन के बाद जिलाधिकारी ने खातों को कुर्क करने का आदेश जारी कर दिया है, जिसमें कुल 11 खातों को कुर्क करने की अनुमति प्रदान की गई है। आदेश में कहा गया है कि दो खाते पूर्व में ही कुर्क किए जाने की वजह से कुल 11 खातों पर कार्रवाई की अनुमति दी जा रही है। उधर अनुमति मिलने के बाद कैंट पुलिस ने खाते कुर्क करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। 

बैंकों को भेजा जाएगा पत्र, सीज होंगे खाते

पुलिस सूत्रों का कहना है कि खातों पर कुर्की की कार्रवाई के तहत बैंकों को पत्र भेजकर संबंधित खातों को सीज कराया जाएगा। इसके तहत इन खातों में पड़ी रकम फ्रीज कराकर लेनदेन बंद कराया जाएगा। जिलाधिकारी की ओर से कार्रवाई के लिए पुलिस को 30 अक्तूबर तक की मोहलत दी गई है। 
... और पढ़ें

फतेहपुर: तमंचा फैक्टरी का भंडाफोड़, शातिर गिरफ्तार, आठ तमंचे और उपकरण बरामद

फतेहपुर जिले में मलवां थाना क्षेत्र के उमरगहना गांव में शुक्रवार को तमंचा फैक्टरी का भंडाफोड़ कर पुलिस ने एक शातिर को दबोचा। आठ तमंचे और तमंचे बनाने के उपकरण बरामद किए गए हैं।

एसपी की ओर से टीम को 15 हजार का इनाम दिया गया है। मलवां थाने में अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने बताया कि स्वॉट टीम को उमरगहना में टीम को तमंचा फैक्टरी की सूचना मिली थी।

थाना प्रभारी शेर सिंह और स्वॉट प्रभारी विनोद मिश्रा की संयुक्त टीम ने रात को जंगल में छापा मारा। तालाब के पास संतोष विश्वकर्मा निवासी उमरगहना को गिरफ्तार किया। कुछ दूरी पर बांस की कोठी के बीच में छिपाकर रखे शस्त्रों और उपकरणों को बरामद किया।

अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आठ तमंचे निर्मित एक अधबना तमंचा बरामद किया है। आरोपी जिले में शातिर अपराधियों और पड़ोसी जिलों बांदा, रायबरेली, कौशांबी में तमंचे की सप्लाई देता है।
... और पढ़ें

‘बालिग हूं, न तो मेडिकल कराऊंगी न ही अपने घर जाऊंगी’

यूपी में भीषण सड़क हादसा, अनियंत्रित बाइक खाई में गिरी, दो दोस्तों की मौत

उन्नाव जिले में जाजमऊ पुलिस चौकी अंतर्गत त्रिभुवनखेड़ा पुलिया के निकट एक बाइक अनियंत्रित होकर बीस फि ट गहरी खाई में गिर गई । बाइक सवार दोनों दोस्तों की मौत हो गई। कानपुर के सफीपुर हरजेंदर नगर निवासी ओंकार सिंह (36) पुत्र जगतार सिंह अपने दोस्त जेके कालोनी जाजमऊ निवासी रमेंद्र श्रेष्ठ (21) पुत्र योगेंद्र प्रसाद के साथ बाइक से शुक्रवार सुबह रायबरेली गए थे।

रायबरेली में ओंकार की बहन रहती है। दोनों दोस्त रात आठ बजे एक बाइक से कानपुर के लिए निकले। रात एक बजे त्रिभुवनखेड़ा पुलिया के निकट बाइक अनियंत्रित होकर पुलिया के नीचे खाई में गिर गई।

पुलिस ने प्राइवेट वाहन से दोनों को जिला अस्पताल भेजा। डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। दोनों के पास से मिले ड्राइविंग लाइसेंस से शिनाख्त कर परिजनों को जानकारी दी गई। बाइक ओंकार चला रहा था। वह हेलमेट पहने था।

आशंका है कि ओंकार को झपकी लगने से बाइक अनियंत्रित हो गई। ओंकार के भाई चरनजीत ने बताया कि किसी वाहन की टक्कर लगने से बाइक अनियंत्रित हो गई होगी। इससे बाइक खाई में गिर गई। कोतवाली पुलिस ने बताया कि तहरीर मिलने पर रिपोर्ट दर्ज की जाएगी।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X