विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

उत्तर प्रदेश

मंगलवार, 31 मार्च 2020

लॉकडाउन में इंसानियत की मिसाल: खुद मांगकर खाने वाली 'राजकुमारी' गरीबों को बांट रहीं आटा-तेल

लॉकडाउन का फायदा उठाने में जुटा 'माफियातंत्र', यूरिया से मिलावटी शराब बनाते तीन पकड़े

लॉकडाउन में शराब माफिया सक्रिय हो गए है। पुलिस ने ऐसे लोगों पर शिकंजा कसा है। अगर ये मिलावटी शराब लोग पीते तो जान जोखिम में पड़ सकती थी। पुलिस ने बड़ी मात्रा में शराब बनाने का सामान भी बरामद किया है।

आगरा के थाना फतेहाबाद क्षेत्र में पुलिस ने शनिवार की रात एक घर से देसी शराब में यूरिया मिलाकर अंग्रेजी शराब बनाते तीन लोगों को पकड़ा जबकि एक युवक भाग निकला। मौके से खाली तथा भरी बोतलें, ढक्कन आदि सामान भी मिला है। 

पुलिस के मुताबिक क्षेत्र के ग्राम हुसैनपुरा में एक मकान में देसी शराब में यूरिया मिलाकर अंग्रेजी शराब बनाने की सूचना मिली थी। इस पर दबिश दी गई। छापे के दौरान पुलिस को 74 भरे, 59 खाली बीतलें, 224 ढक्कन, 560 ग्राम यूरिया, 3 पाउच इनो मिला। 

पकड़े गए आरोपियों में जितेंद्र, शेर सिंह पुत्रगण भगवान सिंह निवासी हुसैनपुरा, वीरेंद्र पुत्र मुन्नालाल निवासी शमसाबाद हैं। जबकि मलखान निवासी काकरपुरा भाग निकला।
 
... और पढ़ें

पंद्रह दिनों के लिए शहर, गांव वेंटिलेटर पर, मुंबई दिल्ली से बड़ी संख्या में लोग पहुंचे गांव, ग्रामीण परेशान

उत्तर प्रदेश में कोरोना के 15 नए मरीज मिले, तीन हुए ठीक, 96 पहुंची कुल संख्या

नोवेल कोराना वायरस के प्रकोप के बीच सोमवार को एक अच्छी खबर आई। पहले से अस्पतालों में भर्ती तीन पॉजिटिव मरीज पूरी तरह से स्वस्थ होने के कारण डिस्चार्ज कर दिए गए। इनमें से दो नोएडा और एक आगरा का मरीज है। इनमें से 17 को स्वास्थ्य लाभ लेने के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है। 

वहीं बुरी खबर यह रही कि सोमवार को 15 नए नोवेल कोरोना वायरस पॉजिटिव सामने आए गए हैं। इनमें से 07 नोएडा, 05 मेरठ और 1-1 आगरा, लखनऊ और बुलंदशहर का है। इस तरह कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब 96 हो गई है। इस तरह नोएडा अब 38 पॉजिटिव हो गए हैं। 

दूसरे नंबर पर 19 मरीजों के साथ मेरठ है और तीसरे नंबर पर 11 पॉजिटिव मरीजों के साथ आगरा है। लखनऊ में नौ, गाजियाबाद में सात, पीलीभीत-वाराणसी में दो-दो, लखीमपुर खीरी, मुरादाबाद, कानपुर, जौनपुर, शामली बागपत, बरेली, बुलंदशहर में एक-एक पॉजिटिव व्यक्ति मिल चुका है। 

संयुक्त निदेशक संक्रामक रोग डॉ. विकासेंदु अग्रवाल ने बताया कि मेरठ में 35 लोगों को क्वारंटीन किया गया है। गाजियाबाद में 28 लोगों को क्वारंटीन किया गया है। गाजियाबाद में एक सोसाइटी को पूरी तरह से लॉक डाउन किया गया है। साथ ही इस सोसाइटी के पांच किलोमीटर के पूरे क्षेत्र को सील कर दिया गया है। मेरठ के कई इलाके पूरी तरह सील कर दिए गए हैं। मेरठ और नोएडा में स्वास्थ्य विभाग के एक-एक उच्चाधिकारी को निगरानी के लिए लगाया गया है।
... और पढ़ें
कोरोना जांच करता सुरक्षाकर्मी कोरोना जांच करता सुरक्षाकर्मी

नोएडा में बढ़ते कोरोना पर लगाम लगाने के लिए डीएम सुहास को मिली जिम्मेदारी, दमदार है इनका प्रोफाइल

नोएडा में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या प्रदेश सरकार के लिए चिंता का सबब बन चुका है। इस बीच नोएडा को कोरोना से बचाने के लिए आईएएस अधिकारी सुहास लालिनाकेरे यथिराज को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है। दरअसल यूपी सरकार ने उन्हें गौतमबुद्ध नगर जिले का नया जिलाधिकारी नियुक्त किया गया है। 

वर्ष 2007 बैच के आईएएस अफसर सुहास एलवाई शटलर के रूप में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तमाम उपलब्धियां प्राप्त करके पैरालंपिक गेम्स खेलने के करीब पहुंच चुके हैं। वे बचपन से ही शौकिया तौर पर बैडमिंटन खेलते थे। आईएएस बनने के बाद भी उन्होंने इस शौक को फिटनेस बरकरार रखने के लिए जारी रखा। वर्ष 2016 में बीजिंग एशियन चैंपियनशिप में पहली बार एलएल-4 (लोअर स्टैंडिंग) में हिस्सा लिया और स्वर्ण पर कब्जा जमाया।

पैरालंपिक खेलने से महज 100 अंक दूर
सुहास के वर्तमान प्रदर्शन को देखा जाए तो वे पैरालंपिक गेम्स खेलने से महज 100 पाइंट की दूरी पर हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते गत आठ से 15 मार्च को होने वाली स्पेनिश ओपन पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप रद्द कर दी गई, जिसके कारण सुहास के ओलंपिक में खेलने की संभावनाएं धूमिल पड़ गई थीं। अब पैरालंपिक के अगले साल होने के कारण इनकी उम्मीदें फिर परवान चढ़ती दिख रही हैं। अगर वे अगले साल टोक्यो पैरालंपिक गेम्स के लिए क्वालीफाई करते हैं तो ऐसा कारनामा करने वाले वे देश के इकलौते आईएएस अफसर हो जाएंगे। 

बतौर पैरा शटलर सुहास एलवाई के प्रदर्शन पर एक नजर
वर्ष 2016 बीजिंग एशियन चैंपियनशिप में स्वर्ण 
वर्ष 2017 तुर्किश ओपन में रजत
वर्ष 2018 जकार्ता एशियन पैरा गेम्स में कांस्य
वर्ष 2018 नेशनल पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप में स्वर्ण
वर्ष 2019 आयरलैंड ओपन में रजत
वर्ष 2019 तुर्किश ओपन में स्वर्ण
वर्ष 2020 ब्राजील ओपन में स्वर्ण
वर्ष 2020 पेरू ओपन में स्वर्ण
... और पढ़ें

यूपी में प्रत्येक व्यक्ति को रोजमर्रा की वस्तुओं की डोरस्टेप डिलीवरी: योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिहार और दिल्ली समेत 20 राज्यों के  मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर आश्वस्त किया है कि यूपी में रह रहे उनके राज्यों के प्रत्येक व्यक्ति की हर संभव मदद की जाएगी और उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखा जाएगा। उन्होंने भरोसा जताया है कि वे दिल्ली व बिहार में रहे यूपी के लोगों के स्वास्थ्य, सुरक्षा व मूलभूत जरूरतों की देखभाल अपने स्तर से सुनिश्चित करेंगे।

सीएम योगी ने पत्र में कहा है कि प्रदेश सरकार ने कोविड-19 की महामारी से निपटने के लिए प्रभावी कदम उठाते हुए अनेक निर्णय लिए हैं। राज्य की सरकारी मशीनरी पूर्ण निष्ठा व प्रतिबद्धता के साथ जनता की समस्याओं के निदान के लिए काम कर रही है। वरिष्ठ अधिकारियों की 11 समितियां गठित करके सभी पहलुओं पर कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री हेल्प लाइन व सभी जिलों में 24 घंटे कंट्रोल रूम के माध्यम से प्रत्येक व्यक्ति की समस्या का निवारण किया जा रहा है। प्रदेश के प्रत्येक व्यक्ति को प्रशासन के माध्यम से रोजमर्रा की वस्तुओं की डोर स्टेप डिलीवरी सुनिश्चित की जा रही है।

प्रदेश सरकार देश के विभिन्न राज्यों में बसे उत्तर प्रदेश मूल के व्यक्तियों की सहायता के लिए राज्यवार वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गई है। यही अधिकारी संबंधित राज्य के ऐसे निवासियों को यूपी में रहते या लॉकडाउन के कारण वापस नहीं जा पा रहे हैं, उनकी भी सहायता कर रही है। उन्होंने उम्मीद जताई है कि हम सभी मिलकर आपसी सद्भाव व सम्मलित प्रयास से इस महामारी पर अवश्य विजय प्राप्त करेंगे। उन्होंने सभी राज्यों के लिए नियुक्त किए गए नोडल अधिकारियों के नाम और फोन नंबर भी पत्र में दिए हैं। कहा है कि इन अधिकारियों से आपकी सरकार किसी भी समन्वय के लिए संपर्क कर सकती है।

19 मुख्यमंत्रियों व एक उपमुख्यमंत्री को भेजा पत्र
पश्चिमी बंगाल, उत्तराखंड, तेलंगाना, तमिलनाडु, राजस्थान, पंजाब, उड़ीसा, नागालैंड, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, केरल, कर्नाटक, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, हरियाणा, दिल्ली, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट।

दिल्ली-बिहार के लिए तैनात किए ये अधिकारी
सीएम योगी ने कहा है कि दिल्ली प्रदेश के लिए राज्य सरकार ने आईएएस नरेन्द्र भूषण और आईपीएस राजीव कृष्ण को तैनात किया है। इसी तरह बिहार के लिए आईएएस मनोज कुमार और आईपीएस अशोक कुमार सिंह की तैनाती की गई है। 

मोबाइल नंबर
नरेन्द्र भूषण: 8920827174 और 011-26110151-55
राजीव कृष्ण: 9454400114 और 0591-2435733
मनोज कुमार: 9899022060, 9621650062 और 9621650067
... और पढ़ें

निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात में शामिल थे यूपी के 100 लोग, सभी की हुई पहचान

दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए जिस इज्तेमा में शामिल तब्लीगी जमात के लोग कोरोना के संदिग्ध मिले हैं, उसमें लगभग 100 लोग यूपी के शामिल हैं। इन सभी की शिनाख्त हो गई है और सब दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में क्वारंटीन किए गए हैं। 

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यूपी के जो लोग शामिल थे, उनके परिजनों से भी संपर्क किया गया तो इसकी पुष्टि हुई कि तब्लीगी जमात में शामिल सभी लोग अभी दिली में ही हैं। 

उक्त अधिकारी ने बताया कि सबसे अधिक पश्चिमी यूपी के लोग इस जमात में शामिल थे। इसके अलावा वाराणसी के भी तीन लोगों के बारे में जानकारी मिली है, जो निजामुद्दीन में आयोजित कार्यक्रम में थे। उक्त अधिकारी ने दावा किया कि सूचना मिलने के बाद तत्काल इसकी जांच कराई गई। ऐसा एक भी व्यक्ति नहीं मिला है जो जमात में शामिल होकर वापस यूपी आया हो।

वहीं, उत्तर प्रदेश पुलिस मुख्यालय ने 18 जिलों के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को एक आदेश जारी किया है कि वे निजामुद्दीन मरकज से भाग लेकर लौटने वाले लोगों का कोरोना टेस्ट करें और संक्रमित लोगों को अस्पताल में भर्ती कराएं।
... और पढ़ें

राममंदिर के भूमि पूजन पर कोरोना का साया, ट्रस्ट के महामंत्री बोले, मंदिर निर्माण के लिए करना होगा इंतजार

निजामुद्दीन में कोरोना का कहर
श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम अप्रैल के अंत में आयोजित होना था, लेकिन इस पर भी कोरोना ने ग्रहण लगा दिया है। ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने कहा कि अब भूमि पूजन कार्यक्रम कोरोना के नियंत्रण पर निर्भर करेगा।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महामंत्री चंपत राय ने कहा कि उनकी तैयारी थी कि अप्रैल के अंत में मंदिर के भूमि पूजन का कार्यक्रम आयोजित किया जाए। लेकिन आज देश में जो रोग फैला है, उस पर नियंत्रण कैसा है, कार्यक्रम का आयोजन इस पर निर्भर करेगा। उन्होंने कहा, ‘हम इसकी अनदेखी नहीं कर सकते। समाज और जनसामान्य का जीवन बहुत महत्वपूर्ण है।’ 

भूमि पूजन के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक के भी मौजूद रहने की संभावना है लेकिन, इस बारे में अंतिम निर्णय कोरोना महामारी की स्थिति को ध्यान में रख कर लिया जाएगा। 

चंपत राय ने कहा कि किसी भी कार्यक्रम के बारे में सोचना उचित नहीं है। देश प्राणघातक महामारी से जूझ रहा है। इस पर विजय प्राप्त करना पहली प्राथमिकता है। इस पर विजय प्राप्त कर लिया तो दुनिया के लिए भारत आइडियल होगा। 

उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कोविड-19 के खिलाफ भारत के एक्शन की दुनिया तारीफ करेगी। पीएम मोदी ने जिस तरह इस महामारी पर हल्ला बोला है। यदि दुनिया के बड़े महाशक्ति देश व अमेरिका प्रारंभ से ऐसा करते तो वह अपने लोगो की रक्षा ठीक से कर पाते। पीएम मोदी ने अपने समाज की रक्षा योग्य नीति से की है।
... और पढ़ें

Coronavirus in UP Live Updates: प्रदेश में कोरोना के 15 नए मरीज मिले, 96 पहुंची कुल संख्या

लॉकडाउन में खूंखार हुए कुत्ते, लोगों को बना रहे शिकार

लॉकडाउन के दौरान खाना न मिलने से भूख से बेहाल हुए कुते खूंखार हो गए हैं। जरूरत पर घर से बाहर निकले लोगों को ऐसे आवारा कुते दौड़ाकर काट रहे हैं। वहीं जिन लोगों को आवारा कुतों ने काटा है, उनके लिए एंटी रैबीज इंजेक्शन का न मिलना भी बड़ी मुसीबत बनी हुई है। होटल रेस्टोरेंट आदि बंद होने से कुतों को खाना नहीं मिल रहा है नतीजा सामने है।

गलियों में झुंड में घूम रहे कुते हमलावर होकर लोगों को काट रहे हैं। नगर निगम क्षेत्र में आवारा कुतों की संख्या 5000 से अधिक आंकी गई है। गायों को चारा खिलाने और उन्हें सुरक्षित रखने के प्रयास में नगर निगम का पशुधन विभाग, आवारा कुतों को इंजेक्शन लगवाने और उनको हटाने के  प्रति लापरवाह बना हुआ है।

जानकारों का मानना है कि भूख से कुते हमलावर हुए हैं। यदि इन्हें खाना खिलाया जाए तो वे शांत हो सकते हैं। बैरहना की नीरू सलोरी के चंदू और राजरूपपुर के राजेश सिंह के साथ करेलाबाग के इरशाद अली को कुतों ने तब काटा जब वह अस्पताल ही जा रहे थे। ऐसे लोगों ने निजी अस्पतालों में एंटी रेबीज इंजेक्शन लगवाया है। 

आठ दिन में दोगुने हुए कुते काटने के मामले  

बेली और काल्विन अस्पतालों में एंटी रेबीज इंजेक्शन लगाने की नि:शुल्क व्यवस्था है। 22 मार्च को जनता कर्फ्यू और उसके बाद लॉक डाउन यानी तकरीबन आठ दिनों के दौरान कुते काटने की घटनाएं दोगुनी हो गई है। अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों की संख्या से इसकी पुष्टि होती है।

अस्पताल सूत्रों के मुताबिक पहले सौ से डेढ़ सौ लोग आते थे, अब कुता काटने का इंजेक्शन लगवाने के लिए 300 से अधिक लोग पहुंचते हैं।अस्पतालों में अब इसकी मांग करने वाले 300 से अधिक मरीज पहुंच रहे हैं। अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि इंजेक्शन की कमी नहीं है जबकि लोगों को इंजेक्शन नहीं लगाए जा रहे हैं। ओपीडी बंद होने की बात कहकर लोगों को लौटाया जा रहा है। बेली अस्पताल की प्रमुख अधीक्षक सुषमा श्रीवास्तव का कहना है कि कुते काटे जाने के मामले बढ़े हैं। 

खाना खिलाएं तभी होंगे शांत

आवारा कुतों को खाना खिलाए जाने के बारे में मुख्य सचिव ने निर्देश जारी किए हैं। इसके बाद भी नगर निगम और अन्य किसी विभाग ने इसकी पहल नहीं की है। वहीं कई स्वयंसेवी संस्थाओं ने आवारा कुतों को खाना खिलाने का काम शुरू किया है। इस संबंध में सोशल मीडिया में कई तस्वीरें भी वायरल की गई हैं। पशुपालकों का मानना है कि भूखे कुतों को खाना खिलाएंगे तभी वे शांत होंगे।
... और पढ़ें

कानपुर: सात साल की अग्रिमा ने पुलिस को गुल्लक सौंप कहा, अंकल इससे जरूरतमंदों की मदद करिएगा

कोरोना वायरस के चलते पूरा देश ठहर गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोगों से जहां हैं वहीं पर रूकने की अपील कर रहे हैं। लोग एक-दूसरे की मदद में जुटे हुए हैं। ऐसे में देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के गांव परौंख से कुछ दूर स्थित झींझक कस्बे की एक बेटी ने कुछ ऐसा किया जिसकी चर्चा पूरे देश में हो रही है।

कस्बा निवासी शिक्षक विनय सिंह सिकरवार की सात साल की बेटी अग्रिमा ने जरूरतमंदों के लिए सोमवार को अपनी गुल्लक चौकी इंचार्ज अनिल कुमार को सौंप दी। बोली अंकल इससे जरूरतमंदों की मदद करिएगा। गोलक में 3500 रुपये निकले। चौकी इंचार्ज ने बताया कि रुपये आपदा कोष में जमा कराए जाएंगे। 

विनय सिंह ने बताया कि अग्रिमा कभी कभी बड़ी गंभीर बातें करती है, जिसे सुनकर वह अक्सर चौंक जाते हैं। आज ही उसने कहा पापा, कोरोना वायरस से लोगों को बचाने के लिए कुछ करना है। फिर बोली देश में सब लोग ठीक रहें किसी को कुछ न हो।

उन्होंने कहा कि अखबारों और टीवी चैनलों पर भूखे प्यासे लोगों को पैदल घर जाते देखकर वह दुखी हो जाती है। उनकी मदद करने के लिए भी कहती है। उसकी बातें सुनकर घर के सभी लोग उसे समझाते हैं। जब उसने टीवी पर देख कि कोरोना वायरस के लिए लोग करोड़ों की मदद कर रहे हैं तो उसने कहा हम कुछ क्यों नहीं दे सकते। सोमवार सुबह जब उसने अपनी गुल्लक देने की बात कही तो एकबारगी वह भी सोच में पड़ गए। खेलने कूदने की इस उम्र में वह इतना सोच रही है।
... और पढ़ें

लॉकडाउन हुए शहर में लूट की वारदात से सनसनी

लॉकडाउन हुए शहर मेंचंद्रलोक टॉकीज के पास स्कूटी सवार बदमाशों ने सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया। मेडिकल स्टोर जा रही दो युवतियों को चाकू दिखाकर पर्स छीनने का प्रयास किया। युवतियों की चीख सुनकर गैस एजेंसी कर्मचारी अविनाश यादव बदमाशों को पकड़ने दौड़ा तो वह उसे चाकू मार कर भाग निकले। घायल कर्मचारी को कॉल्विन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस का कहना है कि मुकदमा दर्ज कर जांच पड़ताल की जा रही है।  

पुलिस ने बताया कि कोतवाली थाना क्षेत्र में रहने वाली दो युवतियां साहित्य सम्मेलन के सामने स्थित होम्योपैथिक मेडिकल स्टोर में काम करती हैं। सोमवार सुबह लगभग 11 बजे दोनों साउथ मलाका सब्जी मंडी से होकर मेडिकल स्टोर जा रही थीं कि इसी दौरान पीछे से स्कूटी सवार दो युवक आ गए।  कोई कुछ समझ पाता इससे पहले ही पीछे बैठे युवक ने चाकू निकाल लिया और एक युवती से पर्स छीनने लगा। दहशत में आकर युवतियां चीखने लगीं। उधर युवतियों की चीखपुकार सुनकर करीबी स्थित संगम गैस एजेंसी में ड्राइवर अविनाश यादव बदमाशों को पकड़ने के लिए दौड़ा।

इसी दौरान एक युवक ने अविनाश पर चाकू से वार किया। बचने की कोशिश में अविनाश ने अपना हाथ आगे कर दिया, जिससे चाकू उसकी हथेली में लगा और वह लहूलुहान हो गया। यह देख आसपास के लोग भी दौड़े, लेकिन तब तक दोनों बदमाश चाकू लहराते हुए भाग निकले। कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और घायल अविनाश को कॉल्विन अस्पताल ले गई, जहां उसे भर्ती कर लिया गया। घायल अविनाश की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश की जा रही है।

वारदात से सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल

छावनी बने शहर में जिस तरह से बेखौफ होकर बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया, उससे चाक-चौबंद सुरक्षा के दावों पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि जिस जगह यह वारदात हुई है, वहां से कुछ दूरी पर ही पुलिसकर्मी बैरियर पर तैनात थे। इसके बावजूद बदमाशों का मौके से भाग निकलना कहीं ना कहीं पुलिस की भूमिका पर भी सवाल खड़े करता है। यही नहीं घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी कैमरे भी खराब मिले, जिससे देर शाम तक बदमाशों का कोई क्लू पुलिस को नहीं मिल सका। कोतवाली इंस्पेक्टर बच्चे लाल प्रसाद ने बताया कि बदमाशों की तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

एफआईआर पर भड़कीं ऋचा, पुलिस के कहने पर छात्रों को सूचना देने का किया दावा

सिविल बस अड्डे पर रविवार सुबह हजारों छात्रों की भीड़ इकट्ठा होने के मामले में पुलिस ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ की पूर्व अध्यक्ष एवं सपा नेता ऋचा सिंह समेत चार छात्र नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है लेकिन, ऋचा का दावा है कि पुलिस के कहने पर ही उन्होंने छात्रों को सोशल मीडिया के माध्यम से सूचना भेजी थी कि रविवार सुबह सिविल लाइंस बस अड्डे से कुछ शहरों के लिए बसें चलाई जाएंगी। ऋचा ने इस बाबत पुलिस महानिदेशक को पत्र भी भेजा है।

ऋचा ने डीजीपी को लिखे पत्र में कहा है कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय में 36 हजार विद्यार्थी हैं और इनमें से 12 हजार छात्राएं हैं। लॉक डाउन के कारण बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं प्रयागराज में फंसे हैं और घर वापसी का कोई साधन नहीं है। ऋचा ने पत्र के माध्यम से डीजीपी को बताया है कि 28-29 की मध्यरात्रि को उनके पास पुलिस के एक अधिकारी का फोन आया और उन्होंने  बताया कि सुबह चार से सात बजे के बीच सिविल लाइंस बस अड्डे से लखनऊ, रायबरेली, वाराणसी, गाजीपुर, आजमगढ़ के लिए कुछ बसें चलाई जाएंगी। वह अपने स्तर से छात्रों को सूचित कर दें। 

ऋचा का कहना है कि उस वक्त काफी राहत हो चुकी थी, सो उन्होंने छात्रों तक सूचना पहुंचाने के लिए फेसबुक का सहारा लिया और यह सूचना फेसबुक पर पोस्ट कर दी, लेकिन अगले ही दिन पुलिस ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। डीजीपी को लिखे गए पत्र में उस मोबाइल नंबर की जानकारी भी दी गई है, जिस नंबर से ऋचा के पास फोन आया था। पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष का कहना है कि पुलिस ने धाराएं भी ऐसी लगाई हैं, जो हास्यास्पद हैं। उसमें एक धारा ऐसी है, जिसके तहत कंप्यूटर से डाटा चुराना या डाटा से छेड़छाड़ का मामला बनता है, जबकि उन्होंने ऐसा कुछ किया ही नहीं। ऋचा ने डीजीपी से मांग की है कि वह अपने स्तर से इस मामले कोक देखें और उचित कार्रवाई करें।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन