विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

उत्तर प्रदेश

मंगलवार, 10 दिसंबर 2019

अब धोखाधड़ी में फंसे शहाबुद्दीन, ठेके दिलाने के झांसे में साढ़े आठ लाख हड़पने का आरोप

ठेकेदार ने कोतवाली में दर्ज कराई एफआईआर- अमेठी के ठेकेदार को सी एंड डीएस का अफसर बताकर की गई धोखाधड़ी
घर पर बुलाकर मुलाकात कराने और असलियत छिपाने का आरोप

बरेली। तंजीम उलमा इस्लाम के महासचिव मौलाना शहाबुद्दीन मकान कब्जाने का आरोप लगने के बाद धोखाधड़ी के एक और मामले में फंस गए हैं। अब एक ठेकेदार ने उन पर अमेठी के ठेकेदार के साथ ठेके दिलवाने का झांसा देकर साढ़े आठ लाख रुपये हड़प लेने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई है। एफआईआर में कहा गया है कि मौलाना शहाबुद्दीन की मध्यस्थता में हुई बातचीत में अमेठी के ठेकेदार ने खुद को सी एंड डीएस के प्रोजेक्ट मैनेजर का सहायक बताकर ठेके दिलवाने की बात कही थी। मौलाना के कहने पर उन्होंने उसे साढ़े आठ लाख रुपये दे दिए जिसके बाद वह फरार हो गया है।
प्रेमनगर के नरकुलागंज इलाके में रहने वाले मोहम्मद शाजेब ने कोतवाली में सोमवार को यह एफआईआर दर्ज कराई। इसमें कहा गया है कि मौलानगर में रहने वाले ठेकेदार दिलीप श्रीवास्तव का बिहारीपुर में मौलाना शहाबुद्दीन के घर पर आना-जाना था। दिलीप मूलरूप से लाला का पुरवा, थाना जगदीशपुर जिला अमेठी का निवासी है। मौलाना के घर पर ही उनकी दिलीप से मुलाकात हुई। बातचीत में दिलीप ने खुद को सी एंड डीएस बरेली के प्रोजेक्ट मैनेजर आरएस पांडेय का सहायक बताया। यह भी जताया कि विभाग में उसकी अच्छी पकड़ है। मौलाना शहाबुद्दीन भी अक्सर दिलीप की तारीफ करते थे। शाजेब का कहना है कि ठेके दिलाने की बात हुई तो मौलाना के कहने पर ही वह पांच मार्च 2018 को पांच लाख रुपये लेकर दिलीप के साथ दिल्ली गए।
शाजेब का कहना है कि दिल्ली के नेहरू प्लेस में दिलीप उन्हें बाहर छोड़कर एक ऑफिस में गया जहां से लौटकर उन्हें कुछ कागज दिखाए। फिर मौलाना से बात कराकर पांच लाख रुपये की रकम ले ली। कुछ दिन बाद दिलीप ने साढ़े तीन लाख रुपये और ले लिए। मगर इसके बाद उन्हें न कोई ठेका मिला न रकम वापस हुई। उन्होंने मौलाना से कहा तो उन्होंने सप्ताह भर में रकम वापस दिलाने का आश्वासन दिया मगर बाद में कहने लगे कि दिलीप से उनका संपर्क ही नहीं हो पा रहा है। मौलानगर के जिस मकान में वह रहता था, वह भी उसने खाली कर दिया है। शाजेब का कहना है कि उन्होंने पुलिस में शिकायत की धमकी की तो मौलाना ने दो बार में उन्हें 95 हजार रुपये दे दिए लेकिन बकाया रकम नहीं मिली। शाजेब ने इस मामले में एसएसपी कार्यालय में शिकायत की थी। सोमवार को कोतवाली में दिलीप श्रीवास्तव और मौलाना शहाबुद्दीन के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई।

मुझे बदनाम करने के लिए यह विरोधियों की साजिश है। जिसने रिपोर्ट लिखाई है या जिस ठेकेदार पर रकम लेने का आरोप है, मैं उन दोनों में से किसी को नहीं जानता हूं। पुलिस की जांच में सच सामने आ जाएगा। - मौलाना शहाबुद्दीन
शाजेब की तहरीर पर मौलाना शहाबुद्दीन और कांट्रेक्टर दिलीप के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। मामले की जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। - अशोक कुमार सिंह, सीओ फर्स्ट
... और पढ़ें

फसल की देखरेख करने गए किसान का शव बिजली के तार पर झूलता मिला, परिवार में मचा कोहराम

संघ के पदाधिकारी ने कहा, देश में रामराज तभी आएगा जब नारी का सम्मान होगा

आगरा में विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने रविवार को गीता जयंती के अवसर पर राममंदिर से जुड़े कारसेवकों का सम्मान किया। जयपुर हाउस स्थित महाजन भवन में आयोजित समारोह के दौरान राममंदिर आंदोलन के दौरान अयोध्या में कारसेवा के लिए आगरा से पहुंचे 93 कारसेवक शामिल हुए।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राष्ट्र स्वयंसेवक संघ के प्रांत व्यवस्था प्रमुख भवेंद्र ने कहा कि राममंदिर आंदोलन के समय पूरा देश राममय हो गया था। रामलला तो अयोध्या में शीघ्र स्थापित होने वाले हैं लेकिन इस देश में पूर्ण रूप से रामराज तभी आएगा जब हम नारी का सम्मान करेंगे। 

मुख्य वक्ता आरएसएस के प्रांत विशेष संपर्क प्रमुख अशोक कुलश्रेष्ठ ने कहा कि राम मंदिर आंदोलन सिर्फ एक मंदिर की लड़ाई नहीं थी, वो एक सांस्कृतिक और देश के असंख्य हिंदुओं के स्वाभिमान की लड़ाई थी। सुनील कुमार, राकेश त्यागी, रीना, धर्मेंद्र शर्मा, केशो मेहरा, दीपक अग्रवाल, मदन वर्मा, अनूप वर्मा, अनुपम पंडित आदि मौजूद थे। 
... और पढ़ें

अनोखा विरोध: कलक्ट्रेट के बाहर 25 रुपये प्रति किलो बेचा प्याज, खरीदारों की उमड़ी भीड़

सस्ती कीमत पर प्याज बेचते समिति के सदस्य सस्ती कीमत पर प्याज बेचते समिति के सदस्य

बीएचयू : डॉ. फिरोज का समर्थक मानकर छात्रों ने असिस्टेंट प्रोफेसर को दौड़ाया

बीएचयू संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय (एसवीडीवी) में छात्रों ने साहित्य विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. शांति लाल सालवी को डॉ. फिरोज खान का समर्थक समझकर दौड़ा लिया। घटना सोमवार दोपहर करीब 12 बजे हुई। डॉ. सालवी का आरोप है कि उन्हें पत्थर फेंककर मारने की कोशिश की गई। खुद को दलित शिक्षक बताते हुए डॉ. सालवी ने चीफ प्रॉक्टर से मामले की शिकायत की है।

चीफ प्रॉक्टर से की गई शिकायत में डॉ. सालवी ने बताया है कि घटना उस समय हुई जब वह छात्रों के कहने पर अपने कमरे से बाहर आए। इसी दौरान धरना दे रहे एक पूर्व छात्र समेत कुछ वर्तमान छात्रों ने जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए नारेबाजी की और मारने के लिए दौड़े। वह आगे-आगे जा रहे थे और भीड़ उनके पीछे चल रही थी। 

इसी बीच एक छात्र ने पत्थर से हमला किया। शुक्र रहा कि पत्थर लगा नहीं। किसी तरह जान बचाकर वह संकाय से बाहर आए और एक बाइक सवार की मदद से सेंट्रल ऑफिस पहुंचे। अगर वह सही समय पर संकाय से नहीं भागते तो उनकी जान चली जाती। डॉ. सालवी ने घटना को पूर्व नियोजित साजिश बताते हुए संकाय के एक प्रोफेसर पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है। 

उधर, चीफ प्रॉक्टर प्रो. ओपी राय ने डॉ. सालवी की शिकायत को लंका थाने भेज दिया है लेकिन समाचार लिखे जाने तक केस दर्ज नहीं हुआ था। उधर, विश्वविद्यालय के कई अन्य शिक्षकों ने भी घटना का विरोध करते हुए कुलपति से इसकी शिकायत की है। 

वहीं, डॉ. सालवी का कहना है कि उनका असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. फिरोज खान से कोई संबंध नहीं है। दूसरी ओर संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के पूर्व छात्र डॉ. मुनीश मिश्रा ने डॉ. सालवी के आरोपों को गलत बताया है। 
... और पढ़ें

उन्नाव में मूकबधिर महिला के साथ रिश्तेदार ने किया दुष्कर्म का प्रयास, मामला दर्ज

सदर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में मूकबधिर महिला के साथ उसके दूर के रिश्तेदार ने घर में घुसकर दुष्कर्म का प्रयास किया। पीडि़ता के शोर मचाने पर उसके भाई ने आरोपी को पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया। कोतवाली पहुंचे डीएम और एसपी ने आरोपी व पीडि़त के परिजनों से पूछताछ की है।

सदर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव निवासी 28 वर्षीय मूकबधिर महिला चार साल से पति से अलग अपने मायके में कई साल से रह रही है। सोमवार सुबह उसका दूर का रिश्तेदार सफीपुर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव का युवती के पड़ोस में रहने वाले नाना के घर आया था। सोमवार रात करीब 9 बजे वह नशे की हालत में महिला के घर में घुस गया और दुष्कर्म का प्रयास किया। 

महिला के चीखने पर उसका बड़ा भाई पहुंचा और आरोपी को पकड़कर पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को कोतवाली ले आई। पीछे से पीडि़ता को लेकर उसके परिजन भी कोतवाली पहुंच गए। इसी बीच डीएम देवेंद्र कुमार पांडेय व एसपी विक्रांतवीर अन्य पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कोतवाली पहुंचे और कोतवाल के केबिन में दोनों पक्षों से पूछताछ की। 

कोतवाल दिनेश चंद्र मिश्र ने बताया कि आरोपी से पूछताछ की जा रही है। छेड़छाड़ का मामला अभी तक सामने आया है। परिजनों की तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

कानपुर देहात में फिर छात्रा से दुष्कर्म, स्कूल बस चालक ने की हैवानियत

कानपुर देहात में सामूहिक दुष्कर्म के बाद छात्रा के फांसी लगाकर जान देने के मामले पर लोगों का गुस्सा अभी थमा भी नहीं था, इसी बीच एक और छात्रा से दुष्कर्म की घटना हो गई। एक गांव में बस चालक ने कक्षा 10 की छात्रा के साथ रविवार रात दुष्कर्म किया।

हैरान करने वाली बात है कि बस चालक ने अपने साथ हर रोज ड्यूटी करने वाले हेल्पर की बेटी के साथ ही हैवानियत की। पुलिस ने आरोपी बस चालक को गिरफ्तार कर लिया है। राजपुर के वैना गांव का अजय सिंह औरैया के एक कालेज की बस चलाता है। डेरापुर क्षेत्र के एक गांव में आकर बस खड़ी करके बस में ही सोता था।

आरोप है कि रविवार रात वह बस के अंदर कक्षा दस की छात्रा से दुष्कर्म कर रहा था। तभी छात्रा का पिता मौके पर पहुंच गया। उसने शोर मचाकर उसे पकड़ लिया। इसके बाद मोहल्ले के लोग जमा हो गए। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर आरोपी बस चालक को गिरफ्तार कर लिया।
... और पढ़ें

थाने में बंद पिता को खाना देने गए किशोर से कुकर्म की कोशिश, आरोपी पुलिसकर्मी निलंबित

प्रतीकात्मक तस्वीर
कासगंज जिले में शर्मनाक मामला सामने आया है। पटियाली सर्किल के थाना सिकंदरपुर वैश्य में तैनात मुंशी पर एक किशोर से कुकर्म की कोशिश का आरोप लगा है। सोमवार पीड़ित बालक के पिता की तहरीर पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है, वहीं एसपी सुशील घुले ने आरोपी मुंशी को निलंबित कर दिया है। 

थाना सिकंदरपुर वैश्य के एक गांव निवासी व्यक्ति पर किसी जमीन पर कब्जा करने का आरोप था। बीते छह दिसंबर को पुलिस उसे पकड़कर थाने ले आई थी। दोपहर दो बजे 13 वर्षीय किशोर अपने पिता को खाना देकर थाने आया था। 

आरोप है कि तभी मुंशी त्रिभुवन सिंह ने किशोर को कोई सामान रखने के बहाने कमरे में भेज दिया। इसके बाद पीछे से मुंशी भी आ गया। पहले मुंशी ने खाना खाया, फिर किशोर को भी खिलाया। बाद में उसके साथ कुकर्म करने की कोशिश की। 
... और पढ़ें

दुष्कर्म कांड: सपा नेता के बेटे सहित पांच के खिलाफ चार्जशीट दाखिल, पुलिस ने साक्ष्य भी जुटाए

आगरा के जगदीशपुरा के एक स्कूल में 11वीं की छात्रा के साथ दुष्कर्म के मामले में आरोपी पांचों युवकों के खिलाफ पुलिस ने कोर्ट में आरोप पत्र (चार्जशीट) दाखिल दिया है। जेल में बंद पांचों आरोपियों में सपा नेता महाराज सिंह धनगर का बेटा दीपक धनगर शामिल है। पुलिस का कहना है कि उनके खिलाफ साक्ष्य जुटा लिए गए हैं। गवाहों की सूची भी तैयार हो गई है।

छात्रा के साथ पांचों ने अलग-अलग दुष्कर्म किया था। घटना सितंबर में हुई थी। छात्रा के वीडियो भी बना लिए गए थे। छात्रा को ब्लैकमेल करने की कोशिश की गई। इस पर उसने परिवार को बताया। तब जाकर तहरीर दी गई लेकिन पुलिस ने खेल कर दिया। 

मामला दुष्कर्म में नहीं, छेड़छाड़ में दर्ज किया। आरोपियों को पूछताछ के बाद छोड़ दिया। इसकी शिकायत आईजी रेंज ए सतीश गणेश से किए जाने पर रिपोर्ट दर्ज की गई। इंस्पेक्टर और चौकी इंचार्ज को सस्पेंड किया गया।
... और पढ़ें

एकेटीयू की सेमेस्टर परीक्षाएं आज से, 119 केंद्रों पर दो पालियों में होगी परीक्षा

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) की सेमेस्टर परीक्षाएं मंगलवार को शुरू हो रही हैं। पहले दिन बीटेक द्वितीय वर्ष समेत अन्य कोर्सों की परीक्षा होगी। प्रदेश भर में 119 केंद्रों पर दो पालियों में परीक्षा होगी। इसमें लगभग ढाई लाख विद्यार्थी शिरकत करेंगे।

परीक्षा नियंत्रक डॉ. राजीव कुमार ने बताया कि परीक्षा संबंधी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी लगाने के निर्देश दिए गए हैं। नकलविहीन परीक्षा के निर्देश सेंटर सुपरिटेंडेंट व पर्यवेक्षकों को दिए गए हैं। किसी केंद्र में अगर कोई शिकायत होती है तो वह सीधे संपर्क कर सकता है।

इसके लिए मोबाइल नंबर भी दिए गए हैं। परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण किया जाएगा। विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्र पर 30 मिनट पहले पहुंचने का निर्देश दिया गया है। प्रवेश पत्र के साथ एक आईडी प्रूफ भी लाना जरूरी है।
... और पढ़ें

एएमयू में नागरिकता संशोधन बिल की प्रतियां फूंकी, छात्र नेताओं ने की नारेबाजी

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में सोमवार रात एएमयू छात्रों ने विश्वविद्यालय कैंटीन पर सभा कर बिल की सांकेतिक प्रतियों को फूंक दिया। छात्र नेताओं ने इसे बंटवारा करने वाला और असंवैधानिक बिल बताते हुए इसकी निंदा की। 

सोमवार रात एएमयू छात्र लाइब्रेरी के पीछे कैंटीन पर इकट्ठा हुए। छात्रों ने यहां पर एक सभा की। साथ ही केंद्र सरकार विरोधी नारे लगाए। छात्र नेता फैजुल हसन ने कहा कि जो नागरिकता संशोधन बिल अमित शाह ने संसद में प्रस्तुत किया है, वह वैसा ही है जैसे सन 1947 में देश का बंटवारा हुआ था।

भाजपा चाहती है कि फिर से हिंदू और मुसलमानों का बंटवारा हो जाए। यह देश का दुर्भाग्य है कि गृहमंत्री अमित शाह मुसलमानों का नाम नहीं लेकर सीधे सीधे अन्य सभी का नाम ले रहे हैं। इससे साफ है कि गृहमंत्री मुसलमानों के खिलाफ हैं। इसलिए इस बिल को अस्वीकार करते हैं। 

एएयमू में छात्रों ने इस बिल की सांकेतिक प्रतियों को जलाया। नारे लगाए गए कि यह देश विरोधी है। संविधान विरोधी है। छात्रों ने कहा कि जिन लोगों ने अखंड भारत का, संवैधानिक समानता का सपना देखा था, बाबा साहेब ने जिस भारत की बुनियाद रखी थी, यह उसके खिलाफ है। 

राज्यसभा में जो भी विपक्षी पार्टियां हैं, उनसे अपील है कि इसे राज्यसभा में पास नहीं होने दिया जाए। इस बिल के मध्यम से मुसलमानों को दोयम दर्जे का नागरिक बनाने का षड्यंत्र किया जा रहा है। इसके बाद बिल के विरोध में नारेबाजी करते हुए बिल की सांकेतिक प्रतियां जला दीं। इस अवसर पर सैकड़ों छात्र मौजूद थे।
... और पढ़ें

तौल लिपिकों को मिलेंगे यूनिक कोड, ईआरपी से होंगे तबादले

गन्ना एवं चीनी आयुक्त संजय आर भूसरेड्डी ने चालू पेराई सत्र 2019-20 की शुरुआत से ही घटतौली पर रोक लगाने की कवायद शुरू कर दी। उन्होंने कहा कि है कि तौल लिपिकों को यूनिक कोड आवंटित किए जाएंगे। क्रय केंद्रों पर उनके लिए लाइसेंस व पहचान पत्र प्रदर्शित करना अनवार्य होगा। घटतौली पकड़ी जाने पर एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

भूसरेड्डी ने बताया कि गन्ना क्रय केंद्रों पर घटतौली रोकने के लिए जिला प्रशासन और विभागीय अधिकारियों को व्यापक दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। पेराई सत्र 2019-20 के लिए जिन तौल लिपिकों को
लाइसेंस लाइसेंस दिए गए हैं वे सभी क्रय केंद्रों पर लाइसेंस के साथ पहचान-पत्र अनिवार्य रूप से प्रदर्शित करेंगे।

इससे उनकी पहचान आसानी से हो सकेगी। जिन तौल लिपिकों के लाइसेंस जारी होने की प्रक्रिया में है, संबंधित जिलाधिकारी उनके लाइसेंस शीघ्र जारी कर दें। उन्होंने बताया कि तौल लिपिको के पाक्षिक स्थानांतरण को पारदर्शी बनाने के लिए लिपिक को एक यूनिक कोड आवंटित किया जाएगा।

तबादले ईआरपी सिस्टम से लाटरी के जरिये किए जाएंगे। किसी भी तौल लिपिक को उसके गांव के क्रय केंद्र पर तैनाती नहीं किया जाएगा। उन्होंने घटतौली पाए जाने पर संबंधित चीनी मिल के साथ-साथ तौल यंत्र निर्माता कंपनी के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के निर्देश दिए हैं।
 

मोबाइल नंबर बोर्ड पर लिखने होंगे:

गन्ना आयुक्त ने बताया कि प्रत्येक क्रय केंद्र पर फ्लैक्स या आयरन बोर्ड पर क्षेत्रीय अधिकारियों के मोबाइल नंबर, गन्ना आयुक्त कार्यालय के कंट्रोल रूम का टोल-फ्री नंबर 1800-121-3203 और गन्ना पर्ची संबंधी जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर 1800-103-5283 अनिवार्य रूप से उचित स्थान पर प्रदर्शित किया जाएगा। इससे किसी प्रकार की अव्यवस्था की स्थिति में किसान विभाग को अपनी समस्याओं से अवगत करा सकेंगे।
... और पढ़ें

अब ओपन टेंडर से होगा सरकारी भवनों के निर्माण के लिए एजेंसी का चयन

प्रदेश कैबिनेट ने भवन निर्माण के लिए चुनिंदा निर्माण एजेंसियों में से किसी भी एक को नामित करने की मौजूदा व्यवस्था समाप्त कर ओपन टेंडर के जरिए एजेंसी चयन की नई व्यवस्था को मंजूरी दे दी है। ओपन टेंडर में सभी सरकारी व निजी एजेंसियां भाग ले पाएंगी लेकिन लोक निर्माण विभाग इसमें हिस्सा नहीं ले सकेगा।

राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि सरकारी भवनों के निर्माण के लिए पांच कार्यदायी संस्थाएं तय हैं। इनमें से किसी को भी कार्यदायी संस्था के रूप में चुना जा सकता है। मौजूदा प्रक्रिया में संबंधित प्रोजेक्ट के डीपीआर बनाने की व्यवस्था में कई खामियां हैं जिसका असर कास्ट ओवर रन के रूप में सामने आता है।

प्रदेश कैबिनेट ने इस व्यवस्था में सुधार के साथ पूर्ण पारदर्शी प्रक्रिया में एजेंसी चयन की प्रक्रिया तय कर दी है। सिंह ने बताया कि लोक निर्माण विभाग के पास भवन निर्माण के क्षेत्र में विशेषज्ञता तथा उपलब्ध संसाधनों के समुचित उपयोग के लिए यह निर्णय हुआ है।

अब समस्त विभागों के 50 करोड़ से अधिक लागत वाले सरकारी भवनों के निर्माण कार्यों के डीपीआर बनाने की जिम्मेदारी लोक निर्माण विभाग की होगी। इस काम में आने वाले खर्च की व्यवस्था लोक निर्माण विभाग के बजट में की जाएगी।

डीपीआर बन जाने के बाद प्रशासकीय विभाग परियोजना पर व्यय वित्त समिति की संस्तुति तथा सक्षम स्तर पर अनुमोदन प्राप्त करेगा। लोक निर्माण विभाग भवन निर्माण के कार्यों के लिए कार्यदायी संस्था के चयन के लिए ईपीसी (इंजीनियरिंग प्रोक्योरमेन्ट एंड कंस्ट्रक्शन) मोड में ओपन टेंडर आमंत्रित करेगा। इसमें राज्य व केंद्र सरकार की निर्माण एजेन्सियां तथा निजी क्षेत्र की तकनीकी दृष्टि से सक्षम प्रतिष्ठित निर्माण एजेन्सियां भाग ले सकेंगी।

मंत्री ने बताया कि इस प्रक्रिया से विभिन्न निर्माण एजेंसियों के मध्य प्रतिस्पर्धा बढे़गी। भवन निर्माण कार्यों के लिए प्रतिस्पर्धात्मक दरों पर काम कराने के लिए विकल्प उपलब्ध होंगे तथा कार्य की गुणवत्ता मानकों के अनुरूप रहेगी। परियोजना के निर्माण में टाइम-ओवर रन तथा कॉस्ट-ओवर रन की संभावना कम हो जाएगी।

इससे जन सामान्य को परियोजना का लाभ समय से प्राप्त हो सकेगा। परियोजना की लागत में पुनरीक्षण की संभावनाएं कम होगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
विज्ञापन