विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Uttarakhand Lockdown: 31 मार्च को दूसरे जिलों में आवाजाही की छूट, चलेंगी रोडवेज बस और प्राइवेट वाहन

राज्य सरकार लॉकडाउन में 31 मार्च को जनता को बड़ी राहत देने जा रही है।

28 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

चमोली

रविवार, 29 मार्च 2020

गांव तक नहीं पहुंचा राशन, बना संकट

लॉकडाउन के कारण वाहन नहीं चलने के कारण देवाल क्षेत्र के गांवों में मार्च माह का सरकारी राशन नहीं पहुंच पा रहा है। वहीं कई क्षेत्रों में राशन का संकट भी होने लगा है, जिससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने जल्द राशन उपलब्ध कराने की मांग की।
देवाल ब्लॉक के खेता, मानमती, मिलखेत, नलधूरा, मुंदोली, बेराधार, अठूठ सहित कई गांवों में मार्च महीने का राशन नहीं पहुंच पाया है। ग्रामीणों का कहना है कि गांवों की दुकानों में सामान समाप्त होने से सभी लोग राशन के लिए देवाल बाजार पर निर्भर हो गए हैं। लोगों को सब्जी सहित कई जरूरी सामान नहीं मिल पा रहा है। वहीं मुंदोली, नंदकेशरी, ल्वाणी, बोरागाड़, खेता, मेलखेत, हरिपुर, कांडेई आदि गांवों में रसोई गैस सिलिंडर की सप्लाई न होने से लोग परेशान रहे। कुंवर सिंह, राजेंद्र सिंह, वीरेंद्र सिंह ने गांव में जरूरी सामान की आपूर्ति की मांग की।
वहीं गैरसैंण के घंडियाल गांव के प्रधान बलवंत सिंह ने कहा कि गांवों में लोगों के घरों में राशन समाप्त हो गया है। उन्होंने गांव में राशन पहुंचाने की मांग की। दूरस्थ गांवों की समस्या को देखते हुए कर्णप्रयाग व्यापार संघ अध्यक्ष बृजेश बिष्ट ने तहसीलदार से ग्रामीण क्षेत्रों में राशन के ट्रक पहुंचाने की मांग की। खाद्यान्न विभाग के सहायक निरीक्षक मुकेश सिंह नेगी ने बताया कि मार्च माह का राशन गोदाम में पहुंच गया है, लेकिन गाड़ियां उपलब्ध न होने से डीलरों तक राशन नहीं पहुंच पाया है। दो दिन में राशन पहुंचा दिया जाएगा। गैरसैंण एसडीएम कौस्तुभ मिश्र ने कहा कि आपूर्ति विभाग को ग्रामीण क्षेत्रों में राशन पहुंचाने के आदेश दे दिए हैं। खाद्यान्न सहित आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में कोई कमी नहीं होने दी जाएगी।
अधिकांश दुकानों पर आटा चावल खत्म
गोपेश्वर। प्रशासन बार-बार कह रहा है कि जरूरत के सामान की कमी नहीं होगी, लेकिन ज्यादातर लोगों में आगामी दिनों को लेकर आशंका बनी है। इस कारण लोग जरूरत से ज्यादा सामान घर में स्टॉक कर रहे हैं। ऐसे में गोपेश्वर में कई दुकानों में आटा, चावल ही खत्म हो गया है, जबकि कुछ दुकानों में सीमित स्टॉक ही बचा है। उपभोक्ता विमल ने बताया कि सुबह राशन की दुकानों से आटा, चावल लेने गया लेकिन कई दुकानों पर नहीं मिला। वहीं सब्जी और रसोई गैस सिलिंडर भरवाने के लिए लोगों की लाइन ज्यादा लंबी रही।
चंबा और नागणी बाजार में आटे की किल्लत
चंबा (टिहरी)। लॉकडाउन के चौथे दिन ही कई दुकानों पर खाद्यान्न की किल्लत होने लगी है। बृहस्पतिवार को चंबा और नागणी क्षेत्र में कई लोगों को आटा नहीं मिल पाया और लोगों को खाली हाथ लौटना पड़ा। राजेश्वर बड़ोनी ने बताया कि बाजार में आटा लेने गए थे, लेकिन दुकानदार ने आटा खत्म होने की बात कही। नगर में लोगों को दस बजे के बाद रसोई गैस नहीं मिल पा रही है। विजय जड़धारी ने बताया कि नागणी बाजार में लोगों को आटा नहीं मिल पा रहा है। जड़धार गांव में भी दुकानदारों के पास आटा सीमित मात्रा में ही है। दुकानदारों ने जब ऋषिकेश के थोक व्यापारी से आटे की डिमांड की तो, उन्हें फिलहाल गोदाम में आटे का स्टॉक न होने की बात कही गई। उन्होंने जिला प्रशासन से क्षेत्र में पर्याप्त मात्रा में खाद्यान्न उपलब्ध कराने की मांग की। इस बाबत डीएसओ मुकेशपाल ने कहा कि मामले क पूरी जानकारी ली जाएगी। हालांकि अब दिनभर आटा चक्की खुली रहेगी। संबंधित एजेंसियों को रसोई गैस वितरण को कहा जाएगा। संवाद
... और पढ़ें

सार्वजनिक रास्तों पर कीटनाशक दवाइयों का छिड़काव दवाई का किया छिड़काव

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीणों ने स्वच्छता अभियान चलाया। ग्राम पंचायत रामणी में आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और ग्राम प्रधान ने ग्रामीणों के साथ मिलकर गांव के सार्वजनिक रास्तों की साफ-सफाई की और रास्तों पर कीटनाशक दवाइयों का छिड़काव किया। ग्राम प्रधान सूरज पंवार ने बताया कि ग्रामीणों को कोरोना वायरस के प्रति जागरूक किया जा रहा है और उन्हें घरों में ही रहने के लिए कहा जा रहा है। संवाद
सैनिटाइजेशन के लिए चलाया अभियान
नई टिहरी। नगर निकायों के कर्मियों ने सैनिटाइजेशन अभियान चलाया। पालिका टिहरी और चंबा ने विभिन्न वार्ड की नालियों की सफाई कर वहां ब्लीचिंग पाउडर और मोहल्लों में सोडियम हाइपो क्लोराइड का छिड़काव किया। ईओ राजेंद्र सजवाण, सफाई निरीक्षक प्रीतम नेगी के नेतृत्व में पालिका की टीम ने ढुंगीधार, निर्बल वर्ग आवास, पुलिस कालोनी, सेक्टर 8डी, एम ब्लॉक में कीटनाशक का छिड़काव किया। लंबगांव, घनसाली, चमियाला, गजा, नरेंद्रनगर निकायों में भी सैनिटाइजेशन किया गया। जिला पंचायत ने कर अधिकारी सतीश चंद्र बिजल्वाण के नेतृत्व में रजाखेत, खांड क्षेत्रों में भी कीटनाशक दवाइयों का छिड़काव किया गया।
... और पढ़ें

पुलिस पहरे के बीच हुई दवाई, सब्जी व जरूरी वस्तुओं की खरीदारी

गोपेश्वर। लॉकडाउन के तीसरे दिन भी बाजारों में सन्नाटा रहा। सुबह सात से दस बजे तक जरूरी वस्तुओं की दुकानें खुलने के बाद लोगों की भीड़ लगनी शुरू हो गई थी, लेकिन पुलिस पहरे के कारण लोगों ने लाइन लगाकर खरीदारी की। दस बजे के बाद बाजारों में सन्नाटा पसर गया। इस दौरान नगर पालिका के वाहनों से बाजारों में कीटनाशक दवाइयों का छिड़काव किया गया। गोपेश्वर के साथ ही जोशीमठ, पीपलकोटी, चमोली बाजार, नंदप्रयाग, पोखरी और घाट क्षेत्रों में भी लोग घरों में ही रहे। बाजारों में चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवान तैनात रहे। ब्यूरो
बाजार खुलते ही दुकानों में लगी लोगों की भीड़
कर्णप्रयाग/देवाल। लॉकडाउन के दौरान बुधवार को कर्णप्रयाग में दिनभर सन्नाटा पसरा रहा। कर्णप्रयाग, सिमली, लंगासू, आदिबदरी, नौली, बगोली कस्बों सहित ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों पर वाहन नहीं चले। कई लोगों को गांवों से सामान खरीदने के लिए पैदल बाजार आना पड़ा। कर्णप्रयाग में सुबह सात से 10 बजे तक राशन, सब्जी, दवाई सहित जरूरी सामान की दुकानें खुली। सामान खरीदने वालों की भीड़ लगी रही। एसडीएम वैभव गुप्ता और तहसीलदार सोहन सिंह रांगड़ ने बाजार में आकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। वहीं देवाल में भी सड़कों पर वाहन नहीं चले। बैंकों में सन्नाटा पसरा रहा।
... और पढ़ें

कर्णप्रयाग में गैस वितरण का रोस्टर तैयार

एसडीएम ने 10 अप्रैल तक का रोस्टर जारी कर इंडेन गैस एजेंसी कर्णप्रयाग को गैस वितरण के निर्देश दिए हैं। रोस्टर के तहत 29 मार्च को आईटीआई बहुगुणानगर, 30 को सेमी देवतोली, 31 को गौचर ताज पैलेस, एक अप्रैल को गौचर पनाई तल्ली एवं मल्ली, दो को बमोथ रानों व सारी, तीन को कमेड़ा धौली बैंड आईटीबीपी, चार को ईडाबधाणी रिठोली जाख, पांच को कुकड़ई कोली पुडियाणी कनोठ, छह को नौटी नैणी छांतोली, सात को नंदासैंण पुनगांव बिसौंणा, आठ को सिदोली मार्ग, नौ को नैनीसैंण मार्ग, 10 को देवकोट मार्ग पर गैस की सप्लाई की जाएगी। एसडीएम वैभव गुप्ता ने गैस एजेंसी को गैस वितरण के दौरान पांच से अधिक व्यक्ति एकत्र न होने के निर्देश दिए हैं।
दुकानों के बाहर लगाएं रेट लिस्ट
चंबा (टिहरी)। लॉकडाउन के दौरान खाद्यान्न सामग्री की कालाबाजारी रोकने और बढ़े हुए दाम पर सामान बेचे जाने की शिकायत पर खाद्य विभाग की टीम ने नगर की दुकानों का औचक निरीक्षण किया। टीम ने सभी दुकानों में वस्तुओं की मूल्य सूची की जांच भी की। टीम ने दुकानदारों से कहा कि सामान मूल्य से अधिक रेट पर बेचने की शिकायत पर कार्रवाई की जाएगी। खाद्य सुरक्षा अधिकारी शारदा शर्मा और पूर्ति निरीक्षक सुनील बडोनी ने बताया कि सभी दुकानदारों से दुकान के बाहर रेट लिस्ट चस्पा करने को कहा गया है।
... और पढ़ें

आटा, चावल, सब्जी की होने लगी किल्लत

लॉकडाउन के चलते देवाल बाजार में आटा, चावल, सब्जी आदि जरूरी वस्तुओं की कमी होने से लोग परेशान होने लगे हैं। स्थानीय छोटे बाजारों में हल्द्वानी से राशन की सप्लाई न आने से राशन की दुकानें बंद पड़ी हैं। ब्लाक के दस गांव में सस्ते गल्ले का राशन नहीं पहुंचा है। रसोई गैस सिलिंडर की मुंदोली, मेलखेत क्षेत्र में सप्लाई अभी तक नहीं हुई है।
शनिवार को राशन की दुकानें एक बजे तक खुली रहीं, लेकिन दुकानों में जरूरी वस्तुओं की कमी रही। देवाल बाजार के थोक विक्रेता हरीश रावत, कुंदन सिंह, प्रकाश सिंह ने बताया कि उनके पास जितनी खाद्य सामग्री थी, बंट चुकी है। हल्द्वानी से सब्जी और राशन की डिमांड भेजी है, लेकिन मंडी में मजदूर ने मिलने से राशन अभी तक नहीं पहुंचा है। पूर्ति अधिकारी मुकेश नेगी ने बताया कि ब्लाक के दस गांव में मार्च माह का राशन नहीं पहुंचा है। पूर्व प्रमुख डीडी कुनियाल ने एसडीएम से रसोई गैस की आपूर्ति की मांग की।
आटे की किल्लत ने बढ़ाई मुश्किलें
चंबा/कंडीसौड़। लॉकडाउन के चलते नगर और आसपास कस्बाई बाजारों में आटे की किल्लत देखी गई है। शनिवार को चंबा, नागणी, जड़धार गांव, इंडवाल गांव सहित कई गांवों की अधिकांश दुकानों में लोगों को आटा नहीं मिला। उपभोक्ता विजय जड़धारी, राजेंद्र प्रसाद, मदन सिंह ने बताया कि आटा नहीं मिलने से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उधर, कंडीसौड़ में व्यापारी जोत सिंह चौहान ने बताया कि अधिकतर दुकानों में आटा व अन्य खाद्य सामग्री का स्टाक समाप्त हो गया है। ऋषिकेश से माल सप्लाई नहीं हो पा रहा है। डीएसओ मुकेश पाल ने कहा कि सरकारी सस्ता गल्ला की दुकानों में राशन भेज दिया गया है।
... और पढ़ें

बाजार का निरीक्षण कर जांची व्यवस्थाएं

गोपेश्वर/कर्णप्रयाग/गैरसैंण/रुद्रप्रयाग। देश में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए गोपेश्वर सहित चमोली जिले के विभिन्न कस्बों में लोगों ने खुद ही सामाजिक दूरी बना ली है। जरूरी सामान लेने के लिए दोपहर एक बजे तक बाजार खोलने की छूट के दौरान शनिवार को सुबह से ही काफी कम लोग बाजार में दिखे। अपराह्न 11 बजे तक बाजार में सन्नाटा पसरने लगा था। ऐसे में न तो दुकानों के बाहर भीड़ इकट्ठा हो रही है और न ही अव्यवस्थाएं देखने को मिल रही हैं।
लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में दुकानों पर भारी भीड़ लग रही थी, लेकिन अब दुकानदारों को ग्राहकों का इंतजार करना पड़ रहा है। सब्जी की दुकानों पर भी कम ही लोग दिख रहे हैं। बाजार खुलने का समय बढ़ाने से लोग आश्वस्त नजर आए। दोपहर एक बजते ही सारी दुकानें बंद हो गईं। बाजार में दुपहिया वाहन भी कम ही नजर आए। वहीं शहर के गली मोहल्लों में सुबह से ही पुलिस तैनात थी। दुकान या अस्पताल आदि जगह पर कोई भी व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के नजदीक खड़ा नहीं हो रहा है। यदि कोई नजदीक पहुंच रहा है तो उसे तुरंत दूरी बनाने के लिए लोग खुद ही कह रहे हैं।
कर्णप्रयाग में लोगों ने सुबह दुकानों में आकर सामान की खरीदारी की और उसके बाद घरों में ही रहे। पुलिस कर्मियों ने लाउडस्पीकर से लोगों से घरों में रहने और कोरोना वायरस के बचाव के बारे में जानकारी दी। एसडीएम वैभव गुप्ता व तहसीलदार सोहन सिंह रांगड़ ने बाजार का निरीक्षण किया। उन्होंने सभी दुकानों में रेट लिस्ट लगाने के निर्देश दिए।
गैरसैंण में एसडीएम कौस्तुभ मिश्र ने आदिबदरी क्षेत्र का जायजा लेकर व्यवस्थाएं जांचीं। नायब तहसीलदार राकेश पल्लव ने कहा कि ब्लॉक में अभी दाल, चावल, मसाले, चायपत्ती आदि सामग्री के 600 आपातकालीन राहत पैकेज बनाए जा रहे हैैं, जिन्हें जरूरतमंद लोगों को दिया जाएगा। थानाध्यक्ष रविंद्र नेगी ने कहा कि गैरसैंण थाना की टीम माईथान, मेहलचौरी आदि सभी स्थानों पर मुस्तैदी के साथ सेवा दे रही है।
रुद्रप्रयाग जिले में बाजारों में भीड़ अन्य दिनों की अपेक्षा कम ही रही। सीमित संख्या में लोग घरों से बाजारों में निकले। दोपहर 1 बजे तक दुकानें खुली रहने सेे लोगों को काफी राहत मिली। न तो दुकानों के बाहर भीड़ इकट्ठा हो रही है और न ही अव्यवस्थाएं देखने को मिल रही हैं।
-----------------------------------------------------------
मालवाहक ट्रकों को किया सैनिटाइज
गैरसैंण/कर्णप्रयाग/गौचर। नगर पंचायत के कर्मचारियों ने रामनगर से आने वाले मालवाहक ट्रकों को सैनिटाइज किया। अधिशासी अधिकारी गुरुदीप आर्य ने कहा कि नगर के सभी वार्डों में ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव कराया जा रहा है। सीएचसी के प्रभारी अधीक्षक डॉ. फिरोजखान ने बताया कि शनिवार तक मेहलचौरी और पांडुवाखाल में कुल 457 लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। गैरसैंण में कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए पॉलीटेक्निक भवन और तीन होटलों क्वारंटीन के लिए निरीक्षण किया गया है। वहीं कर्णप्रयाग में नगर पालिका के कर्मचारियों ने भी बाजार व गली मोहल्लों में कीटनाशक दवाओं को छिड़काव किया। गौचर में व्यापार संघ लोगों को कोरोना वायरस को लेकर जागरूक कर रहा है। सफाई कर्मी घर-घर जाकर कूड़ा निस्तारण और फॉगिंग कर रहे हैं।
... और पढ़ें

जनता ने खुद बनाई सामाजिक दूरी

गोपेश्वर। देश में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए गोपेश्वर सहित चमोली जिले के विभिन्न कसबों में लोगों ने खुद ही सामाजिक दूरी बना ली है। जरूरी सामान लेने के लिए दोपहर एक बजे तक बाजार खोलने की छूट के दौरान शनिवार को सुबह से ही काफी कम लोग बाजार में दिखे। अपराह्न 11 बजे तक बाजार में सन्नाटा पसरने लगा था।
लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में दुकानों पर भारी भीड़ लग रही थी, लेकिन अब दुकानदारों को ग्राहकों का इंतजार करना पड़ रहा है। सब्जी की दुकानों पर भी कम ही लोग दिख रहे हैं। बाजार खुलने का समय बढ़ाने से लोग आश्वस्त नजर आए। दोपहर एक बजते ही सारी दुकानें बंद हो गईं। बाजार में दुपहिया वाहन भी कम ही नजर आए। वहीं शहर के गली मोहल्लों में सुबह से ही पुलिस तैनात थी। दुकान या अस्पताल आदि जगह पर कोई भी व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के नजदीक खड़ा नहीं हो रहा है। यदि कोई नजदीक पहुंच रहा है तो उसे तुरंत दूरी बनाने के लिए लोग खुद ही कह रहे हैं। संवाद
... और पढ़ें

12 किलोमीटर पैदल चलकर भीमतला पहुंचे दो दिन से भूखे-प्यासे मजदूर

गोपेश्वर। ऑलवेदर रोड परियोजना कार्य में लगे मजदूरों को खाने की दिक्कत हो गई है। पीपलकोटी के समीप टंगणी में दो दिन से भूखे-प्यासे मजदूर शनिवार को पैदल ही लगभग 12 किलोमीटर चलकर भीमतला पहुंचे। मजदूरों ने बताया कि लॉकडाउन के कारण वाहनों की आवाजाही न होने से ठेकेदार उन तक नहीं पहुंच पाया, जिसके बाद वे स्वयं पैदल चलकर भीमतला पहुंचे। भीमतला में ठेकेदार ने मजदूरों के खाने की व्यवस्था कराई। ये सभी आठ मजदूर सहारनपुर के हैं। मजदूरों का कहना है कि यदि खाने-पीने की व्यवस्था न हुई तो वे पैदल ही घरों के लिए रवाना होंगे। इधर, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंद किशोर जोशी का कहना है कि मजदूरों के लिए खाने के पैकेट वितरित किए जा रहे हैं। ऑलवेदर रोड परियोजना कार्य में लगे मजदूर ठेकेदार के हैं। यदि ऐसी स्थिति है तो संबंधित ठेकेदारों से बात की जाएगी। ब्यूरो
घर जाने को पैदल दूरी नाप रहे मजदूर
घनसाली (टिहरी)। पर्वतीय क्षेत्र से भी मजदूर लगातार घरों को पलायन कर रहे हैं। रुद्रप्रयाग से पैदल दूरी नापकर शनिवार को हिमाचल प्रदेश के 10 मजदूर भूखे-प्यासे घनसाली पहुंचे। घनसाली पहुंचने पर तहसील प्रशासन ने मजदूरों को भोजन करवाया। बालगंगा तहसील के तहसीलदार राजेंद्र सिंह रावत ने बताया कि पैदल चलने वाले मजदूरों को अलग-अलग स्थानों पर खाने के पैकेट बांटे गए। साथ ही उन्हें घर भेजने लिए वाहनों की व्यवस्था भी कराई जा रही है। संवाद
... और पढ़ें

उत्तराखंडः बदला मौसम, चारों धामों में हुई बर्फबारी

मौसम अचानक फिर बदला और शुक्रवार को चारों धामों में बारिश-बर्फबारी हुई। बदरीनाथ में दो फीट, केदारनाथ में एक फीट और हेमकुंड साहिब में करीब ढाई फीट ताजी बर्फ जमी है। बारिश-बर्फबारी के कारण ठंड फिर लौट आई है।
चमोली जिले में सुबह से ही बदरीनाथ धाम, हेमकुंड साहिब, रुद्रनाथ, फूलों की घाटी, लाल माटी, नंदा घुंघटी सहित माणा और नीती घाटी में बर्फबारी हुई। बदरीनाथ के मुख्य सिंहद्वार पर जमी बर्फ को मंदिर समिति के कर्मचारियों ने हटा लिया था, लेकिन फिर सिंहद्वार बर्फ से ढक गया है। बदरीनाथ परिक्रमा स्थल में लगभग नौ फीट बर्फ जमी है। वहीं हेमकुंड साहिब पूरी तरह बर्फ से ढक गया है। यहां लगभग बीस फीट बर्फ है। अटलाकुडी ग्लेशियर से हेमकुंड साहिब तक तीन किलोमीटर आस्था पथ पर करीब पंद्रह फीट बर्फ से ढका है। हेमकुंड साहिब यात्रा पथ पर घांघरिया से देश दर्शनी तक कई जगहों पर बड़े-बड़े हिमखंड पसरे हैं। गोविंदघाट गुरुद्वारे के वरिष्ठ प्रबंधक सरदार सेवा सिंह ने बताया कि यदि मौसम ने साथ दिया और कोरोना वायरस पर पूरी तरह से काबू पा लिया जाएगा, उसके बाद हेमकुंड यात्रा की तैयारियों पर चर्चा की जाएगी।
रुद्रप्रयाग जिले में केदारनाथ समेत ऊंचाई वाले क्षेत्रों मदमहेश्वर, तुंगनाथ, चोपता आदि स्थानों पर बर्फबारी शाम तक होती रही। केदारनाथ में लगभग एक फीट नई बर्फ जम चुकी है। खराब मौसम के कारण गौरीकुंड-केदारनाथ पैदल मार्ग पर बर्फ सफाई का काम भी प्रभावित हो गया है। वहीं, जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग, तिलवाड़ा, अगस्त्यमुनि, गुप्तकाशी, उखीमठ में दिनभर हल्की बारिश होती रही। मौसम के बदले मिजाज से रवि फसलों पर असर पड़ा है।
उत्तरकाशी जिले में स्थित यमुनोत्री एवं गंगोत्री धाम समेत ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हुई। बारिश और बर्फबारी के चलते तापमान में जबर्दस्त गिरावट आ गई है। शुक्रवार को जिला मुख्यालय समेत निचले क्षेत्रों में अधिकतम तापमान 13 डिग्री और न्यूनतम 8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि यमुनोत्री एवं गंगोत्री धाम समेत ऊंचाई वाले इलाकों में अधिकतम तापमान 7 डिग्री और न्यूनतम माइनस 1 डिग्री सेल्सियस रहा। ठंड बढ़ने से सेब आदि फल वृक्षों की फ्लावरिंग भी प्रभावित हो रही है।
बुग्यालों में बर्फबारी, चली शीतलहर
कर्णप्रयाग/देवाल। कर्णप्रयाग, थराली, नारायणबगड़, गौचर, लंगासू, सिमली, नौटी, नंदासैंण, आदिबदी, देवलकोट, गैरसैंण,कालेश्वर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश से ठंड बढ़ गई है। देवाल क्षेत्र में रूपकुंड, वेदनी, आली, ब्रह्मताल, बगजी बुग्याल में बर्फबारी हुई जबकि लोहाजंग, घेस, बलाण, हिमनी, पिनाऊं, वांण, कुलिंग, वांक, सौरीगाड़, रामपुर, तोरती सहित 24 से अधिक गांव में शीतलहर चल रही है। मुख्य पर्यटन स्थल रूपकुंड, बगुवावासा, आली, ब्रह्मताल, वेदनी, नवाली व बगजी बुग्याल में बर्फबारी हुई।
... और पढ़ें

व्यवस्थाएं बनाने को नोडल अधिकारी किए नियुक्त

लॉकडाउन के तहत सभी व्यवस्थाएं बनाने के लिए डीएम स्वाति एस भदौरिया ने नोडल अधिकारी नियुक्त किए। उन्होंने सभी को दायित्वों का पूरी तरह से अनुपालन करने को कहा।
कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए एसपी चमोली को नोडल और सभी उप जिलाधिकारियों को सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया। असंगठित क्षेत्रों के लोगों को खाद्य पैकेट की व्यवस्था और ग्रामीण क्षेत्रों में खाद्य सामग्री की सप्लाई के लिए एसडीओ हंसादत्त पांडे को नोडल और उप जिलाधिकारियों और जिला पूर्ति अधिकारी को सहायक नोडल अधिकारी बनाया गया। अंतरराज्यीय और जिला स्तरीय आवागमन के लिए एडीएम को नोडल और एसडीएमओ को सहायक नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी दी गई है। बाहर से आने वाले हर व्यक्ति को चिह्नित करने, लॉकडाउन में सभी व्यवस्थाओं को बनाने के लिए उपजिलाधिकारियों को नोडल अधिकारी और संबंधित थानाध्यक्ष, क्षेत्रीय प्रभारी चिकित्साधिकारी, राजस्व उप निरीक्षक और स्थानीय अधिसूचना निरीक्षकों को सहायक नोडल अधिकारी बनाया है। चिकित्सा संबंधी व्यवस्थाओं के लिए सीएमओ को नोडल अधिकारी और एसीएमओ को सहायक नोडल अधिकारी बनाया है। चिकित्सकीय ड्यूटी में तैनात कर्मियों को जरूरी उपकरण उपलब्ध कराने के लिए एसीएमओ को नोडल और सीएचसी व पीएचसी प्रभारियों को सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। कोरोना से संबंधित सूचनाएं शासन को भेजने के लिए आपदा प्रबंधन अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया गया। इसके अलावा अन्य सेवाओं के लिए भी अधिकारी तैनात किए गए हैं।
... और पढ़ें

चमोली जिले में रसाई गैस वितरण का रोस्टर जारी

उप जिला मजिस्ट्रेट चमोली ने तहसील चमोली में 10 अप्रैल तक रसोई गैस वितरण का रोस्टर जारी है। इसके तहत निर्धारित तिथि पर निर्धारित जगह पर रसोई गैस सिलिंडर का वाहन पहुंचेगा और उपभोक्ताओं को गैस दी जाएगी। सभी जगह गैस सर्विस गोपेश्वर की ओर से सिलिंडर वितरित किए जाएंगे।
रोस्टर के तहत शुक्रवार को मंदिर मार्ग, सिरोली और गंगोल गांव में गैस वितरित की गई। 28 मार्च को बसंत विहार बछेर, पठियालधार, 29 को कुंजौ मैकोट, कोंज पोखनी, बसंत विहार, 30 को छिनका और मंडल रोड, 31 को निजमुला, मायापुर, गडोरा, बिरही, एक अप्रैल को क्षेत्रपाल, मायापुर, गडोरा, कोठियालसैंण, दो अप्रैल को पीडब्ल्यूडी बैंड, कोठियालसैंण, पूल्ड हाउस, बैतरणी, तीन को पम्मी जनरल स्टोर, दोगड़ी कांडई और टंगसा, चार अप्रैल को एनसीसी चौक, लॉ कॉलेज के पास, पांच अप्रैल को सुभाषनगर, लॉ कॉलेज के पास, छह अप्रैल को सुभाष नगर और हल्दापानी, सात अप्रैल को हल्दापानी और तल्ला नैग्वाड़, आठ अप्रैल को तल्ला नैग्वाड़, मल्ला नैग्वाड़, जीरो बैंड, ब्रह्मसैंण, नौ अप्रैल को बमियाला, विवेकानंद कालोनी, मुर्गी फार्म और 10 अप्रैल को सर्वोदय और मंदिर मार्ग में रसोई गैस वितरित की जाएगी।
... और पढ़ें

गौचर पहुंचे 107 लोगों की हुई स्क्रीनिंग

गौचर पहुंचे 107 लोगों की हुई स्क्रीनिंग
कर्णप्रयाग। पहाड़ से मैदानों में रोजगार की तलाश में गए सैकड़ों युवा इन दिनों पैदल ही घरों को लौट रहे हैं। घर आने के लिए उनको न तो वाहन मिल रहे हैं और न खाने के लिए होटल खुले हैं। स्थानीय अविनाश, अरुण और ललिता लखेड़ा आदि ने कहा कि बाहर से लौटने वाले लोगों की मदद करना चाहते हैं, लेकिन लॉकडाउन के दौरान घरों में रहने की बाध्यता के कारण मदद नहीं कर पा रहे हैं। शुक्रवार को भी युवाओं का दिल्ली, देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश आदि शहरों से लौटने का सिलसिला जारी रहा। सीएचसी कर्णप्रयाग के चिकित्सक डॉ. वीपी पुरोहित ने बताया कि गौचर में शुक्रवार को 107 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। इनमें से किसी में भी कोरोना वायरस के लक्षण नहीं मिले। फिर भी लोगों को होम क्वारंटीन में रहने को कहा गया है।
रुद्रप्रयाग से बिहारीगढ़ निकले पैदल
श्रीनगर। लॉकडाउन के दौरान जगह-जगह फंसे मजदूरों और लोगों का पैदल घर लौटना जारी है। हालांकि पुलिस ट्रकों में बैठाकर उनको गंतव्य तक रवाना कर रही है। रुद्रप्रयाग के रतूड़ा से लौट रहे राशिद ने बताया कि वह सड़क निर्माण कार्य के लिए आए थे। काम बंद हो गया। सामान खरीदने के लिए रुपये भी नहीं हैं। ऐसे में वह पैदल ही अपने गांव बिहारीगढ़ की ओर चल दिए।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us