विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in Uttarakhand: बुखार से किशोरी की मौत, परिजन समेत अंत्येष्टि में शामिल लोगों को किया क्वारंटीन

कोरोना वायरस के खौफ के बीच हरिद्वार में बुखार से एक किशोरी की मौत का मामला सामने आया है। पुलिस ने किशोरी के परिजनों समेत अंत्येष्टि में शामिल लोगों को होम क्वारंटीन में रहने के लिए कहा है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

हरिद्वार

मंगलवार, 31 मार्च 2020

हरिद्वार: 100 कैदियों को मिलेगी छह माह की पैरोल

कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने के डर से हरिद्वार जेल में कैद सौ कैदियों को छह माह की पैरोल मिलने जा रही है। जेल प्रशासन ने सीजेएम को कैदियों की सूची सौंप दी है, यह सभी वह कैदी है जो सात साल से कम की सजा के आरोप में कैद हैं। जेल प्रशासन अब पैरोल की हरी झंडी मिलने का इंतजार कर रहा है।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर उच्च न्यायालय नैनीताल ने राज्य भर में सात साल से कम की सजा वाले कैदियों को पैरोल पर रिहा कर देने का आदेश जारी किया था। जेल प्रशासन से इस संबंध में सूची मांगी गई थी।

जेल अधीक्षक अशोक कुमार ने सीजेएम को सौ कैदियों की सूची सौंपी है, इस सूची में 88 कैदी विचाराधीन एवं 12 कैदी सिद्धदोष है। जेल अधीक्षक ने बताया कि पैरोल के आदेश होने पर सभी का पहले मेडिकल परीक्षण होगा।

इस बाबत सीएमओ को पत्र लिखा जा चुका है। फिर जिला प्रशासन और पुलिस की निगरानी में इन कैदियों को इनके परिजन की सुपुर्दगी में पहुंचाया जाएगा। बताया कि पैरोल की अवधि छह माह की होगी। जैसे ही पैरोल के आदेश मिलेंगे, उसका अनुपालन कराया जाएगा।
... और पढ़ें

हरिद्वार: सात को आईसोलेट तो 31 को किया क्वारंटीन

कोरोना वायरस के प्राथमिक लक्षणों के आधार पर सात लोगों को आइसोलेशन वार्डों में भर्ती किया है तो 31 लोगों का क्वारंटीन किया गया। दस लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई।

शनिवार को 55 लोगों की स्क्रीनिंग जांच की गई। सूचना मिलने वाले स्थानों पर टीमें गई और लोगों की जांच करते हुए उन्हें संतुष्ट किया। कोरोना वायरस के प्रति स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अलर्ट है। सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी ने बताया कि विदेशों से यात्रा कर आने वालों के साथ जुकाम और बुखार की शिकायत पर 31 लोगों को 14 दिन के लिए क्वारंटीन किया।

इसके अलावा उन्होंने जनपद के कई निजी अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड बनाने, वेंटीलेटर की व्यवस्था के साथ आईसीयू की जांच की। उन्होंने निजी अस्पतालों के प्रबंधकों को अलर्ट होकर काम करने के साथ प्राथमिक लक्षण वाले मरीज की तत्काल सूचना देने के लिए निर्देश दिए।

कोरोना वायरस के प्रति जानकारी
कितने मरीजों की जांच की गई - 55
कितनों का किया आइसोलेशन - 07
कितने क्वारंटीन ----------31
सैंपल भेजे - 7
निगेटिव रिपोर्ट - 10
... और पढ़ें

वाहन पास बनवाने उमड़ी लोगों की भीड़

बाजारों में खाद्यान्न के साथ ही मूलभूत सुविधाओं की सप्लाई के लिए फर्म के लोग वाहनों के पास बनवाने के लिए भारी संख्या में थाना, कोतवाली के साथ प्रशासनिक कार्यालयों पर पहुंचे। सबसे ज्यादा मेडिकल स्टोरों पर काम करने वाले लोग रहे। कई लोग दूर दराज जाने की स्वीकृति के लिए भी पहुंचे।
प्रदेश में लॉकडाउन के दौरान बड़ी संख्या में वाहन इधर से उधर भागते नजर आ रहे हैं। अधिकतर लोग लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे हैं। पूछे जाने पर हर वाहन चालक कुछ न कुछ बहाना बनाकर निकल जा रहा है। ऐसे में प्रशासन ने ऐसे वाहन चालकों पर कंट्रोल करने के लिए पास की व्यवस्था की है। इसके तहत अब जरूरी सामान की सप्लाई करने वाले लोगों के लिए वाहन पास बनाने की अनिवार्यता कर दी गई है। शनिवार को बड़ी संख्या में खाद्यान के साथ ही दूध, सब्जी, अनाज आदि की सप्लाई करने वालों की संख्या रही। दवा के थोक विक्रेता सप्लायर अनिल अरोड़ा, अनिल झांब, अमित गर्ग आदि के साथ दवा बनाने वाली कंपनी के लोग भी पास बनवाने के लिए पहुंचे।
बाजारों में सामान्य, राशन की दुकानों पर भीड़
हरिद्वार। दोपहर एक बजे तक की छूट मिलने पर शहर के बाजारों में भीड़ औसतन रही। सामाजिक दूरी का पालन भी होता मिला, लेकिन सस्ते गल्ले की दुकानों पर लाइनें लगी रही। सब्जी मंडी में सब्जी की आवक कम रही। लोकल सब्जियां भी कम आई। आलू के भाव 32 रुपये तक रहे। वहीं, बाजार में आटे की कमी बरकरार रही। ग्रामीण क्षेत्रों की चक्कियों पर शहर के लोग पहुंचे। शनिवार को बाजारों में अन्य दिनों की अपेक्षा भीड़ कम रही। किरानों की दुकानों पर तो मात्र एक दो ही ग्राहक नजर आए। दूध, सब्जी की दुकानों पर भी औसतन भीड़ रही। फलों के फड़ों भी यही हाल रहा। सब्जी और फल विक्रेता गलियों में बेचते रहे। प्रमुख किरानों की दुकान पर आटा सुबह दस बजे के बाद नहीं मिल सका। लोग आटा चक्कियों पर भी पहुंचे, लेकिन वहां पर केवल लोगों के द्वारा गेहूं को ही पीसते मिले। डीएसओ केके अग्रवाल ने बताया कि टीमें बाजार में गई और किसी भी स्थान पर कालाबाजारी या महंगे रेट पर सामान बेचता नहीं मिला।
... और पढ़ें

Coronavirus in Uttarakhand: बुखार से किशोरी की मौत, परिजन समेत अंत्येष्टि में शामिल लोगों को किया क्वारंटीन

कोरोना वायरस के खौफ के बीच हरिद्वार में बुखार से एक किशोरी की मौत का मामला सामने आया है। पुलिस ने किशोरी के परिजनों समेत अंत्येष्टि में शामिल लोगों को होम क्वारंटीन में रहने के लिए कहा है।

जानकारी के अनुसार, ज्वालापुर में एक किशोरी पिछले कई दिनों से बीमार चल रही थी। उसे बुखार के साथ ही गले में भी कुछ समस्या बताई गई थी। रविवार शाम को तबीयत बिगड़ने पर पहले किशोरी को एक निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां से उसे जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया गया। वहीं इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। 

सोमवार की दोपहर बाद लड़की का अंतिम संस्कार किया गया। अंत्येष्टि में परिजनों के अलावा कई रिश्तेदार भी शामिल हुए। अंतिम संस्कार में शामिल हुए लोगों ने इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी। अधिकारियों ने तुरंत वहां पहुंचकर परिजनों से बात की और ब्लड सैंपल भी लिए गए।

इसके साथ ही जो रिश्तेदार अंतिम संस्कार में शामिल हुए थे उनसे भी घरों में जाकर पूछताछ की। वहीं सभी को क्वारंटीन में रहने की सलाह दी। सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी ने बताया कि इस मामले में जांच पड़ताल की जा रही है। अस्पताल को भी नोटिस देकर जवाब तलब किया जाएगा कि समय से इस मामले में समुचित जानकारी विभाग को क्यों नहीं दी गई।
... और पढ़ें

फर्जी तरीके से मजदूरों को ले जा रही बसें पकड़ी

फर्जी पास चस्पा कर सिडकुल के कामगारों को ले जा रही दो बसों को डीएम एवं एसएसपी ने खुद छापा मारकर पकड़ लिया। सामने आया है कि हर एक मजदूर से सात सौ रुपये के हिसाब से किराया तय किया गया था। एसएसपी के निर्देश पर हरिद्वार कोतवाली पुलिस ने बस स्वामी ट्रैवल्स व्यवसायी के खिलाफ धोखाधड़ी समेत प्रभावी धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए गिरफ्तार कर लिया। वहीं बसों में सवार कामगारों के ठहरने व खाने पीने की व्यवस्था कराई गई है।
राज्य में इस समय लॉकडाउन की व्यवस्था जारी है। रविवार की दोपहर तक जिला प्रशासन की तरफ से दूसरे जिले में वाहन के लिए रवाना होने को पास जारी किए जा रहे थे, लेकिन शाम को केंद्र सरकार की एडवाइजरी जारी होने पर हर किसी को जहां के तहां रोक देने के निर्देश जारी किए गए थे। इसके बाद सिडकुल के औद्योगिक इकाईयों में कार्यरत कर्मचारी भी पैदल रवाना होने शुरू हो गए। रविवार की शाम जिलाधिकारी सी रविशंकर, एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस को सूचना मिली की सिडकुल के करीब सौ मजदूरों को दो बस लेकर यूपी की तरफ जा रही है। सूचना मिलने पर जिले के शीर्ष अधिकारियों ने चंडीघाट चौक पर पहुंचकर बसों को रुकवा लिया। सामने आया कि बस के अगले शीशे पर जिला प्रशासन द्वारा फर्जी पास चस्पा किए गए थे। बस में सवार सभी कामगारों को डैंसो चौक से बरेली, उत्तर प्रदेश ले जा रहे थे। मजदूरों से पूछताछ में उन्होंने बताया कि प्रत्येक व्यक्ति से सात सौ रुपये किराया तय किया गया था। कामगारों को ले जा रही बसें चौधरी ट्रैवल्स सेक्टर दो भेल के स्वामी अजय चौधरी पुत्र वीरेंद्र सिंह संचालक चौधरी बस सर्विस निवासी गली नंबर 8 टिहरी विस्थापित कॉलोनी रानीपुर की थी। एसएसपी के निर्देश पर रोड़ी बेलवाला चौकी प्रभारी पवन डिमरी की तरफ से धोखाधड़ी समेत प्रभावी धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए ट्रैवल्स व्यवसायी को गिरफ्तार कर लिया गया।
पश्चिम बंगाल जा रही बस सीज, केस दर्ज
जिला प्रशासन से बनवाया हुआ था आवश्यक सामग्री ले जाने का पास
संवाद न्यूज एजेंसी
हरिद्वार। आवश्यक सामग्री के पास पर पश्चिम बंगाल के 55 यात्रियों को छोड़ने के लिए रवाना हुई एक बस हरिद्वार कोतवाली पुलिस ने पकड़ ली। एसएसपी के निर्देश पर बस चालक के खिलाफ संबंधित धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।
रविवार की शाम पुलिस को सूचना मिली की पश्चिम बंगाल के लिए यात्रियों से भरी एक बस रवाना हो रही है। सूचना मिलने पर पुलिस फोर्स ने बस को चंडीघाट पर रोक लिया। बस चालक नरेंद्र पुत्र ब्रह्मपाल निवासी थाना बवाना जिला मुजफ्फरनगर से जब पास मांगा गया तो उसने जिला प्रशासन की तरफ से आवश्यक सामग्री लाने के लिए जारी पास दिखाया। पुलिस ने चालक को फटकार लगाई। पूछताछ में पता चला कि पश्चिम बंगाल के करीब 55 यात्रियों को छोड़ने के लिए डेढ़ लाख की रकम ली गई थी। कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि बस को सीज कर दिया गया। यात्रियों को उनकी रकम वापस दिला दी गई है। यात्रियों के ठहरने खाने पीने की व्यवस्था कर दी गई है। बताया कि बस चालक के खिलाफ लॉकडाउन का उल्लंघन करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।
... और पढ़ें

विभाजन की याद दिला रही मजदूरों की लंबी कतारें

कोरोना के प्रकोप से बचाने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन के बीच हाईवे पर पैदल ही बच्चों और महिलाओं के साथ चले जा रहे मजदूरों की लंबी कतारों ने भारत पाक के विभाजन के समय की याद ताजा कर दी है। उम्र दराज लोग बताते हैं कि आजाद भारत में कभी भी इस तरह के हालात नहीं देखे। केंद्र सरकार से बुजुर्ग लोगों ने इस स्थिति को व्यवस्थित करने के लिए प्रभावी इंतजाम करने की अपील भी की है।
शिक्षाविद प्रोफेसर पीएस चौहान ने बताया कि 1947 में आजादी के समय जब देश का विभाजन हुआ तो आज भी उन्हें याद है लोगों की लंबी कतारें इसी तरह सड़कों पर दिखाई दे रही थी। अपना सब कुछ छोड़कर लोग अपने परिवारों, बच्चों महिलाओं के साथ इसी तरह भारत से पाकिस्तान और पाकिस्तान से भारत की ओर जाते दिखाई दे रहे थे। उनका दर्द भी देखा नहीं जा रहा था। तब से आजाद भारत में कभी ऐसे हालात दिखाई नहीं दिए। अब फिर ऐसी ही स्थिति दिखाई दे रही है। उनका मानना है कि सरकार को तुरंत लॉकडाउन करने से पहले इस तरह के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने के लिए कुछ समय देना चाहिए था। या फिर सख्ती से लॉकडाउन का पालन कराकर उनकी जरूरतों की पूर्ति का सामान मुहैया कराया जाना चाहिए। आधी अधूरी तैयारी के बीच ऐसे लाखों लोगों का सड़क पर उतर जाना इस बात को दिखाता है कि लोग अपने जीवन को लेकर भयभीत हैं। इस स्थिति से जनता को बचाने की जरूरत है। कनखल के बुजुर्ग धर्मपाल धीमान ने भी आजादी के समय का दौर देखा है। उन्होंने बताया कि इस तरह की परिस्थिति आजाद भारत में कभी नहीं दिखाई थी। आज जिस तरह से लोग भयभीत होकर अपने घरों को लौट रहे हैं, बंटवारे के समय पलायन का ऐसा ही नजारा दिखाई दिया था। उस समय भी भारत और पाकिस्तान के बीच अपना जीवन सुरक्षित करने के लिए लोग जा रहे थे।
... और पढ़ें

सिडकुल की औद्योगिक इकाईयों के लेबर कांट्रेक्टरों पर मुकदमें दर्ज

केंद्र सरकार के सख्त रुख के बाद रविवार शाम जिलाधिकारी और एसएसपी के सक्रिय होने पर सिडकुल से रवाना हो रहे कर्मचारियों के कदम ठिठक गए। औद्योगिक इकाइयों के कर्मचारियों को वेतन एवं उनके खाने पीने का इंतजाम न करने के आरोप में पुलिस ने पचास से अधिक ठेकेदारों पर लॉकडाउन एवं आपदा प्रबंधन के उल्लंघन के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
लॉकडाउन लागू होने के बाद से हरिद्वार से सिडकुल के कर्मचारियों का पलायन लगातार जारी है। रविवार की शाम तक भी पलायन जारी था, लेकिन शाम को केंद्र सरकार के हर नागरिक को जहां है वहां रोक दिए जाने के निर्देश के बाद जिलाधिकारी और एसएसपी हरकत में आ गए। अधिकारियों ने जब रवाना हो रहे कर्मचारियों से पूछताछ की तो सामने आया कि उन्हें वेतन तक नहीं दिया गया है। यही नहीं लेबर ठेकेदार उल्टा उन्हें ही डरा धमका रहे हैं। ठेकेदारों ने उनके खाने पीने और रहने का भी कोई इंतजाम नहीं किया जा रहा है। देर शाम एसआई दिलबर सिंह कंडारी की तरफ से इस संबंध में सिडकुल थाने में मुकदमे दर्ज कराए गए। नगर पुलिस अधीक्षक कमलेश उपाध्याय ने बताया कि पचास से अधिक औद्योगिक इकाइयों लेबर ठेकेदारों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमे दर्ज किए गए हैं। कामगारों ने ही पूछताछ में यह जानकारी दी थी। बताया कि कामगारों के रहने और खाने पीने की व्यवस्था की गई है।
... और पढ़ें

आपदा का समय, अधिकारी न बरते लापरवाही : सतपाल

हरिद्वार जिले के प्रभारी मंत्री बनाए गए पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने अधिकारियों की बैठक के दौरान कहा कि जिले में कोरोना से निपटने के लिए प्रशासन ने प्रभावी इंतजाम किए हुए हैं। उन्होंने आपदा के समय में अधिकारियों को किसी भी स्थिति में लापरवाही न बरतने की हिदायत दी है। इस दौरान विधायकों ने प्रशासनिक अधिकारियों पर फोन नहीं उठाए जाने के आरोप लगाए।
सोमवार को जिले के प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज ने प्रेमनगर आश्रम में कोरोना से निपटने के लिए की जा रही तैयारियों को लेकर बैठक की। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए प्रभावी प्रबंध करें। लोगों की हरसंभव मदद की जाए। किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बैठक में उन्होंने जिलाधिकारी और सीएमओ से जिले में की गई सारी व्यवस्थाओं की जानकारी ली। जिलाधिकारी सी रविशंकर ने बताया कि आइसोलनेशन वार्ड की सुविधा जल्दी ही बढ़ाकर एक हजार की जा रही है। जांच के लिए प्रतिदिन 100 सैंपल लेने का लक्ष्य रखा गया है।
उन्होंने बताया कि निगमों और पंचायत विभाग के माध्यम से नगर और गांवों में सैनिटाइजेशन, सोडियम हाइपोक्लोराइड का छिड़काव कराया जा रहा है। गांवों में स्थापित आवश्यक सेवा और उत्पाद, जिनमें खाद्य सामग्री उत्पादक, सैनिटाइजर निर्माता आदि इकाइयों को सोशल डिसटेंसिंग व हाइजीन का पालन कराते हुए सामान तैयार कराने की अनुमति दी गई है। प्रभारी मंत्री ने जिला प्रशासन की ओर से बांटी जा रही राहत सामग्री व राशि के लिए दुरुस्त प्रणाली और रिकॉर्ड मेंटेन करने के निर्देश दिए। उन्होंने ऐसी आपदा की घड़ी में फोन बंद रखने वाले अधिकारियों को भी चेतावनी दी।
बैठक में विधायक आदेश चौहान, सुरेश राठौर और स्वामी यतीश्वरानंद ने अपने क्षेत्रों की समस्याओं की जानकारी दी। आरोप लगाया कि प्रशासन के अधिकारी बैठकों में दावे तो बड़े बड़े कर रहे हैं, लेकिन हकीकत यह है कि लोगों के फोन भी नहीं उठाते। सभी विधायकों ने किसानों के सामने पशुओं के लिए समुचित चारा, तैयार खड़ी गेहूं की फसल काटने के लिए जाने वालों के पास की व्यवस्थाएं खेतों में सिंचाई आदि की समस्या के निदान की मांग रखी। इस अवसर पर पशु कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष विनोद आर्य, भाजपा के जिलाध्यक्ष जयपाल चौहान महामंत्री विकास तिवारी, सुशांत पाल सहित बढ़र संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।
राहत कोष में दिए 51000
हरिद्वार। राष्ट्रीय धर्मशाला सुरक्षा समिति के तत्वावधान में गणेश बहावलपुर ट्रस्ट के प्रबंधक रमेश नारंग और राष्ट्रीय धर्मशाला सुरक्षा समिति के महामंत्री विकास तिवारी ने कोरोना वायरस संक्रमण रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष में 51000 हजार का चेक प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज को जिलाधिकारी के माध्यम से सौंपा।
... और पढ़ें

पतंजलि ने की 25 करोड़ देने की घोषणा

कोरोना संकट से निपटने के लिए पतंजलि योगपीठ ने पीएम राहत कोष में 25 करोड़ रुपये की मदद देने की घोषणा की है। साथ ही पतंजलि के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों का एक दिन का वेतन (करीब डेढ़ करोड़) भी दिया जाएगा। वहीं, सोमवार दोपहर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामी रामदेव से फोन पर बातचीत की। इस दौरान रामदेव ने हरसंभव मदद की बात कही।
सोमवार को कनखल स्थित दिव्य योग मंदिर में प्रेसवार्ता कर योग गुरु स्वामी रामदेव ने पतंजलि योगपीठ की ओर से कोरोना से निपटने के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष में 25 करोड़ रुपये देने की घोषणा की। साथ ही उन्होंने देशभर के पांच पतंजलि संस्थानों में डेढ़ हजार आइसोलेशन बेड की व्यवस्था करने का प्रस्ताव भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया। कहा कि कोरोना प्रभावितों के लिए भोजन और आवास की व्यवस्था भी की जाएगी। देशभर में फैले पतंजलि के लाखों स्वयंसेवी इस आपात स्थिति में सहायता करने को तत्पर हैं। स्वामी रामदेव ने कहा कि कोरोना के इलाज के लिए आयुर्वेदिक दवा खोजने का प्रयास भी किया जा रहा है। इसके लिए रिसर्च जारी है।
उन्होंने दावा किया कि योग, प्राणायाम और आयुर्वेदिक उपचार के जरिये कोरोना पॉजीटिव एक मरीज को ठीक भी किया गया है। उपचार के बाद उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कहा कि लॉकडाउन के दौरान अकेलापन और निराशा को अपने ऊपर हावी न होने दें। घर पर रहकर ही योग, प्राणायाम के अभ्यास के जरिये अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाएं। देश-दुनिया पर आए संकट को समाप्त करने के लिए पतंजलि योगपीठ के महामंत्री बालकृष्ण यज्ञ कर रहे हैं। पूर्णतया वैज्ञानिक और ऋषि पद्धति से किए गए यज्ञ अनुष्ठान आदि से वातावरण को शुद्ध रखने में मदद मिलती है। इससे पहले प्रधानमंत्री ने रविवार शाम बालकृष्ण से भी वीडियो कॉल के माध्यम से बात की थी।
--
पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से डॉ. पंड्या से की बात
गायत्री परिवार प्रमुख ने हर संभव सहयोग करने का दिया आश्वासन
हरिद्वार। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार दोपहर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से गायत्री परिवार के प्रमुख डॉ. प्रणव पंड्या से चर्चा की। करीब दस मिनट चली बातचीत में डॉ. पंड्या ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हरसंभव सहयोग करने का अपना वादा दोहराया। प्रधानमंत्री ने डॉ. पंड्या से कहा कि आप स्वयं भी एक फिजीशियन हैं। वैज्ञानिक होने के नाते इस बीमारी से बचने के लिए वैज्ञानिक तरीके से जनमानस को बताएं। इस दौरान डॉ. पंड्या ने अपने मनोचिकित्सा एवं आध्यात्मिक चिकित्सा के प्रयोगों से लोगों के मन में संचारित उत्साह की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस से लड़ने में गायत्री परिवार से सहयोग मांगा। प्रधानमंत्री मोदी ने गायत्री परिवार के निस्वार्थ भाव की प्रशंसा करते हुए संपूर्ण समाज के लिए एक प्रेरणास्रोत बताया।
... और पढ़ें

Uttarakhand Lockdown : शेव बनाता मिला हज्जाम, कोई बेचते मिला बीड़ी सिगरेट

लॉकडाउन लागू होने के बाद भी कई दुकानदार बाज नहीं आ रहे हैं। हरिद्वार कोतवाली पुलिस ने दुकान खोलकर शेव बना रहे एक हजाम को पकड़ लिया। ई रिक्शा दौड़ा रहे कई चालक भी पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

नगर कोतवाली पुलिस ने सूचना पर ब्रह्मपुरी में रेडीमेड कपड़े की दुकान खोलकर बैठे फूल सिंह को पकड़ लिया। यही नहीं मानसरोवर होटल पर नाई की दुकान खोलने पर अशरफ के खिलाफ भी कार्रवाई की गई। वहीं दूसरी तरफ ऋषिकुल तिराहे के पास बीड़ी सिगरेट बेचते मिले पूरण सिंह को पुलिस ने सबक सिखाया। उधर ऋषिकुल में ही दुकान खोल कर बैठे चाय विक्रेता लाल सिंह के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया।

ज्वालापुर पुलिस ने आर्य नगर चौक के पास बिना वजह बाहर घूमने पर संजीत, अंकुर, राजकुमार, राजेंद्र ठाकुर, घनश्याम गुप्ता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। उधर कई लोग बिना वजह अपनी बाइक और कार लेकर घूमते दिखाई दिए। ज्वालापुर पुलिस ने पांच, कनखल पुलिस ने तीन, नगर कोतवाली पुलिस ने पांच और रानीपुर पुलिस ने दो वाहनों को सीज किया।
... और पढ़ें

#Ladengecoronase: बाबा रामदेव ने केंद्र सरकार को दिए 25 करोड़ रुपए, पूर्व फौजी समेत कई दिग्गजों ने भी बढ़ाया मदद का हाथ

स्वामी रामदेव ने पतंजलि योगपीठ की ओर से केंद्र सरकार को कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए 25 करोड़ रुपए दिए हैं। शाम को प्रेस कांफ्रेंस कर वह इस बारे में विस्तार से बताएंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो क्रांफ्रेंसिंग से की डॉ. पण्ड्या से की बात 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज दोपहर में वीडियो क्रांफ्रेंसिंग से गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या से चर्चा की। करीब दस मिनट चली इस चर्चा के दौरान डॉ. पण्ड्या ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हरसंभव सहयोग करने का अपना वादा दोहराया।

प्रधानमंत्री मोदी ने डॉ. पण्ड्या से आग्रह करते हुए कहा कि एक वैज्ञानिक होने के नाते वह इस बीमारी से बचने के लिए वैज्ञानिक तरीके से जनमानस को अवगत कराये। इस अवसर पर डॉ. पण्ड्या ने अपने मनोचिकित्सा एवं आध्यात्मिक चिकित्सा के प्रयोगों पर द्वारा लोगों के मन में संचारित उत्साह की जानकारी भी दी।
... और पढ़ें

हरिद्वार: स्वामी शिवानंद और साध्वी पद्मावती ने आमरण अनशन किया स्थगित

देशभर में कोरोना वायरस फैलने के बाद मातृ सदन के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद सरस्वती ने अपना आमरण अनशन स्थगित कर लिया है। उन्होंने साध्वी पद्मावती का अनशन भी समाप्त करवा दिया। साध्वी कुछ दिन पहले ही एम्स दिल्ली से हरिद्वार पहुंची थी।

स्वामी शिवानंद सरस्वती ने 10 मार्च को आमरण अनशन यह कहते हुए शुरू किया था की सरकार गंगा की रक्षा करने के लिए संघर्ष करने वाले संतों की आवाज को नहीं सुन रही। उनका कहना था कि मातृ सदन के ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद, साध्वी पद्मावती और ब्रह्मलीन स्वामी सानंद की मांगों को आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने अनशन शुरू किया था।

स्वामी शिवानंद का कहना है कि उन्होंने अपने चिंतकों के आग्रह अनशन स्थगित किया है। स्वामी शिवानंद सरस्वती ने दोहराया कि गंगा के लिए मातृ सदन का संघर्ष किसी भी रूप में कम होने वाला नहीं है।
... और पढ़ें

सिर पर परिवार की जिम्मेदारी लेकर रवाना हो रहे लोग

सिर पर परिवार की जिम्मेदारी और दिल में ‘पेट’ की मजबूरी लेकर पहाड़ी इलाकों से बड़ी संख्या में मजदूरों का मजबूरी में पलायन हो रहा है। रास्ते में समाजसेवियों की मदद मिल गई तो पेट भर गया, नहीं तो खाली पेट चलते जा रहे हैं। रास्ते में हर आने-जाने वाले वाहनों को एक उम्मीद के साथ हाथ देते हैं कि वह उन्हें गंतव्य तक छोड़ दे, लेकिन हर कोशिश नाकाम हो रही है। इन मजदूरों के दिल में अपनों के लिए दर्द है तो सरकार के लिए गुस्सा भरा है।
गढ़वाल क्षेत्रों में मेहनत मजदूरी करने वाले लोग प्रदेश में लॉकडाउन के बाद अपने गंतव्य को रवाना हो गए हैं। यह जानते हुए भी कि अब कोई वाहन उन्हें नहीं मिलेगा, इसके बावजूद परिवार संग एक उम्मीद में चल पड़े हैं। ऐसे मजदूरों की बड़ी तादात इस समय हरिद्वार से होकर गुजर रही है। चंडीपुल से हजारों की तादात में लोग अपने परिवारों के साथ रवाना हो रहे हैं। लोग अपने छोटे-छोटे बच्चों को कंधे पर बैठाकर और सिर पर पोटली लेकर आगे बढ़ रहे हैं। हाईवे पर अधिकांश लोग बलिया, सुल्तानपुर, भदोही, मिर्जापुर, गाजीपुर, देवरिया, गोरखपुर आदि के क्षेत्रों के हैं। मुरादाबाद के दिव्यांग सुरेश ने बताया कि ऋषिकेश में अपनी गुजर बसर कर रहा था, लेकिन 5 दिन से दूसरों पर आश्रित था, लेकिन अब कब तक लोगों पर आश्रित रहता तो अपने परिजनों के बीच में रहने को चल दिया। हाईवे पर बलिया के कई परिवार मिले। वीरवती, प्रकाशो, महर सिंह, भूपेंद्र आदि ने बताया कि टिहरी डैम के आसपास रहकर काम करते थे, लेकिन अब कोई आस नहीं दिखाई दी तो बलिया जाने को विवश हैं। बताया कि जितना भी सामान वे ला सकते थे, लेकर आए हैं बाकी वहीं छोड़ आए हैं।
महाराष्ट्र के सोल्हापुर के 68 लोग फंसे
महाराष्ट्र की विधानसभा सोल्हापुर क्षेत्र के 68 लोग हरिद्वार में पूजा अर्चना के लिए 20 मार्च को आए थे। वे उत्तरी हरिद्वार में कमल दास आश्रम में ठहरे हुए थे। वे लॉकडाउन होने के बाद से महाराष्ट्र जाने के लिए प्रयास कर रहे हैं, लेकिन उन्हें कोई माध्यम नहीं मिल सका है। उन्हें अपने विधायक प्रनीति सिंदे से गुहार लगाई। विधायक ने अपने स्तर से प्रयास किया, लेकिन कोई मदद नहीं हो सकी है। भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष विदित शर्मा उनकी सेवा में जुटे हैं। रविवार को विदित शर्मा उन्हें महाराष्ट्र भिजवाने के लिए एडीएम से मिले, लेकिन उन्हें वहां पर कोई आश्वासन नहीं मिला। विदित ने बताया कि उन लोगों भोजन की व्यवस्था में जुटे हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us