विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

खांसी, जुकाम, बुखार के इस सिरप से हो रही बच्चों की मौत, सरकार ने लगाई रोक

बच्चों के खांसी, जुकाम, बुखार के सिरप ‘कोल्ड बेस्ट पीसी सिरप’ की खरीद और बिक्री पर उत्तराखंड में रोक लगा दी गई है।

19 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

हरिद्वार

बुधवार, 19 फरवरी 2020

साध्वी पद्मावती की तबीयत खराब होने पर शिवानंद ने लगाया आरोप, कहा - सरकार रच रही साजिश

मातृसदन के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद सरस्वती ने प्रदेश सरकार पर अनशनकारी संतों के खिलाफ गहरी साजिश करने का आरोप लगाया है। उन्होंने मुख्यमंत्री और हरिद्वार के डीएम व एसएसपी को हटाने की मांग की है।

उन्होंने कहा कि साध्वी पद्मावती पूरी तरह स्वस्थ थीं। 30 जनवरी को उन्हें जबरन उठाकर दून अस्पताल ले जाने के बाद कोई ऐसा पदार्थ खिलाया गया जिससे उनका स्वास्थ्य खराब हुआ। साथ ही मातृसदन के गेट पर उनके नाम से नोटिस चस्पा करने से भी वे सदमे में चली गई। 

सोमवार की देर शाम मातृ सदन परिसर में पत्रकार वार्ता में स्वामी शिवानंद सरस्वती ने कहा कि हरिद्वार की सीएमओ, एसडीएम और चिकित्सक सब आपस में मिले हुए हैं। उन्होंने कहा कि वे उत्तराखंड के किसी भी अस्पताल में अपने आश्रम के किसी भी संत का इलाज नहीं कराएंगे। उन्होंने कहा कि उनका किसी पर भरोसा नहीं। इसकी वजह यह है कि सरकार खुद ही साजिश रचने में लगी हुई है। उन्होंने कहा कि इससे पहले ब्रह्मचारी निगमानंद और स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद को इलाज के नाम पर उठा कर उनकी हत्या कर दी गई है।
... और पढ़ें

मंत्री मदन कौशिक के घर के बाहर कांग्रेसियों का हंगामा, पुलिस के साथ धक्का मुक्की, हिरासत में 20 लोग

गंगा की अविरलता को लेकर 65 दिन से अनशन पर बैठीं साध्वी पद्मावती की हालत बिगड़ी, दिल्ली एम्स रेफर

गंगा की रक्षा सहित कई मांगों को लेकर आमरण अनशन कर रही मातृ सदन की अनुयायी साध्वी पद्मावती की तबीयत सोमवार सुबह को बिगड़ गई। साध्वी को अचेत अवस्था में उपचार के लिए कनखल स्थित रामकृष्ण मिशन अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मिशन अस्पताल के डॉक्टरों ने हायर सेंटर ले जाने की सलाह दी। मातृ सदन के संत उनको एंबुलेंस से दिल्ली एम्स ले जा रहे थे। इस बात की सूचना मिलते ही प्रशासन ने दिल्ली हाईवे पर शांतरशाह पुलिस चौकी के पास रोक दिया गया।

सरकारी एंबुलेंस से एम्स ऋषिकेश के लिए भेजा। सरकारी एंबुलेंस ज्वालापुर पहुंची ही थी कि उच्च अधिकारियों के निर्देश के बाद तुरंत ही वापस एम्स दिल्ली के लिए भेज दिया गया। साध्वी पद्मावती पिछले साल 15 दिसंबर से गंगा रक्षा के लिए मातृ सदन में अनशन कर रही हैं।
... और पढ़ें

मातृसदन के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद की सुरक्षा हटाई तो बह्मचारी आत्मबोधानंद ने त्यागा जल

दिल्ली के एम्स अस्पताल में गंभीर हालत के चलते उपचाराधीन साध्वी पद्मावती का मामला अभी शांत नहीं हुआ है, लेकिन पुलिस प्रशासन और मातृसदन में एक बार फिर ठन गई है। वजह है कि पुलिस प्रशासन ने मातृसदन के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद सरस्वती की सुरक्षा के लिए दिए गए दोनों पुलिसकर्मियों को बुधवार की शाम अचानक हटा लिया।

एक पुलिसकर्मी पहले ही हटा दिया गया था। अब मातृसदन में कोई भी सुरक्षाकर्मी नहीं है। जबकि वर्ष 1998 से स्वामी शिवानंद सरस्वती को सुरक्षा मिली हुई है। मातृसदन ने इसे साजिश में की गई कार्रवाई बताया और प्रतिक्रिया स्वरूप आमरण अनशन कर रहे ब्रह्मचारी आत्माबोधानंद ने शाम से ही जल भी छोड़ दिया है। आत्मबोधानंद ने एसएसपी को हटाने की मांग की है। 

मातृसदन के संत स्वामी शिवानंद की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाते हुए एसएसपी पर पहले से ही निशाना साधे हुए हैं। हालांकि पिछले कुछ दिनों से उन्होंने इस मुद्दे पर नर्मी बरती हुई थी।
... और पढ़ें
स्वामी शिवानंद स्वामी शिवानंद

टीबी के संभावित मरीजों की जांच करने गांव क्षेत्रों में जाएगी मोबाइल वैन

अब टीबी जांच के लिए अस्पताल या स्वास्थ्य केंद्रों के चक्कर काटने की जरूरत नहीं पड़ेगी। जांच के लिए सुविधा युक्त मेडिकल मोबाइल वैन अपने क्षेत्र या गांव में आएगी। जांच में सामने आए संभावित बीमार मरीज को वैन स्टाफ के माध्यम से अस्पताल के लिए रेफर कर दिया जाएगा, जिसका प्राथमिकता के तौर पर इलाज शुरू हो जाएगा।
मंगलवार को चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग जनपद हरिद्वार की ओर से सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी ने राष्ट्रीय क्षय निवारण कार्यक्रम के अंतर्गत मेडिकल मोबाइल सर्वे वैन का फ्लैग ऑफ किया। मोबाइल वैन के साथ केंद्र सरकार द्वारा एक टीम डॉ. अश्वनी यादव के नेतृत्व में क्षय रोग की व्यापकता सर्वेक्षण जनपद हरिद्वार के तीन ग्रामों सलेमपुर, भक्तनपुर एवं लंढौरा में करेगी। इसकी शुरुआत ब्लाक बहादराबाद के ग्राम सलेमपुर से की जाएगी। इस सर्वेक्षण में मेडिकल मोबाइल यूनिट बस में संभावित क्षय रोगियों का संपूर्ण परीक्षण किया जाएगा, जो उच्च तकनीकों जैसे सीबी नॉट, एक्सरे और ऑटो एनालाइजर से लैस है। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सरोज नैथानी ने कहा कि प्रदेश सरकार वर्ष-2024 तक टीबी उन्मूलन के लिए वचनबद्ध है और इस तरह के सर्वेक्षण भविष्य की कार्ययोजनाओं को बनाने में मील का पत्थर साबित होंगे। इस मौके पर जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. अजय कुमार, विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रतिनिधि डॉ. विकास सब्बरवाल, अधीक्षक डॉ. कोमल, आईएमए हरिद्वार के अध्यक्ष डॉ. दिनेश सिंह, डीएमओ डॉ. गुरनाम सिंह, बीके गुप्ता, अनिल नेगी, राकेश गिरि, मौ. सलीम, सुशील कुमार, सरोप सिंह पोखरियाल व दिनेश पंत आदि शामिल हुए।
... और पढ़ें

मोर का मांस और बंदूक बरामद

गांव नसीरपुर कलां में मंगलवार की सुबह पुलिस और वन विभाग की संयुक्त टीम ने छापा मारकर एक घर से राष्ट्रीय पक्षी मोर का मांस व शिकार में प्रयुक्त देसी बंदूक बरामद की है। टीम को देखकर आरोपी मौके से भाग निकले।
पथरी थानाध्यक्ष सुखपाल सिंह मान ने बताया कि मुखबिर से सूचना से मिली थी कि गांव के कुछ लोगों ने मोर का शिकार किया है। सूचना पर फेरुपुर चौकी प्रभारी उमेश कुमार और पथरी वन सेक्शन अधिकारी राजेश कुमार राठौर के नेतृत्व में संयुक्त टीम ने गांव नसीरपुर कलां में आरोपी सलीम के घर पर छापा मारा। छापा मारने की भनक लगते ही आरोपी को फरार हो गया। पथरी वन सेक्शन अधिकारी राजेश कुमार राठौर ने बताया कि आरोपी सलीम निवासी गांव नसीरपुर कलां के खिलाफ पहले भी जंगली जानवर के शिकार के मामले में मुकदमा दर्ज हो चुका है। उन्होंने बताया कि आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके उसकी तलाश शुरू कर दी है। टीम में फेरुपुर चौकी के एसआई सिद्धार्थ, कांस्टेबल दौलत सिंह चौहान, वन दरोगा गौतम कुमार राठौर, वनकर्मी विशाल कुमार आदि शामिल थे।
... और पढ़ें

बिजली के 3.50 लाख रुपये के 20 बकायेदारों के कनेक्शन काटे

मोर का मांस और देसी बंदूक बरामद करने वाली पुलिस व वन विभाग की टीम।
ऊर्जा निगम के उपखंड भूपतवाला ने बकायेदारों के खिलाफ वसूली अभियान शुरू कर दिया है। खड़खड़ी और भूपतवाला क्षेत्र में 5000 रुपये से अधिक के 20 बकायेदारों के बिजली कनेक्शन काट दिए गए हैं। विभाग के अधिकारियों ने वसूली अभियान के दौरान 15 बकायेदारों से 5 लाख रुपये की वसूली की है।

भूपतवाला उपखंड के अंतर्गत 22 हजार विद्युत उपभोक्ता हैं। 60 करोड़ रुपये की वसूली का लक्ष्य 31 मार्च तक का है। इस सब डिवीजन में सप्तऋषि, भूपतवाला, खड़खड़ी, लालजीवाला, चंडीघाट, चिड़ियापुर तथा लालढांग का क्षेत्र शामिल हैं।

इस डिवीजन में बड़े-बड़े होटल, आलीशान आश्रम, धर्मशालाएं और व्यवसायिक प्रतिष्ठान हैं। अधिकारी व कर्मचारी उपभोक्ताओं से व्यक्तिगत संपर्क कर बकाया वसूली का अभियान चला रहे हैं।

गलत बिलिंग से उपभोक्ता परेशान
वसूली अभियान में उपभोक्ताओं ने गलत बिलिंग की शिकायत भी की है। शिवनगर के उपभोक्ता राजेंद्र कंडवाल ने उपखंड अधिकारी को बताया कि उनके बिल की रीडिंग और मीटर की रीडिंग में एक हजार का अंतर है। बिल ठीक कराने के लिए उपभोक्ताओं को ठेकेदार के लोगों को ढूंढना पड़ रहा है।

चेक से भुगतान करने वाले 15 उपभोक्ताओं के चेकबाउंस हो गए हैं। चेक बाउंस होना विभाग के साथ धोखाधड़ी करना है। ऐसे उपभोक्ताओं से बकाया की वसूूली के लिए भू-राजस्व की भांति वसूली की कार्रवाई की जा रही है। इसके लिए नोटिस तैयार करने का काम भी चल रहा है।
- कमल मोहन नेगी उपखंड अधिकारी भूपतवाला
... और पढ़ें

बेकाबू कार की चपेट में आकर साइकिल सवार किशोर की मौत

भेल क्षेत्र में बेकाबू कार ने साइकिल सवार दो किशोरों को रौंद दिया। हादसे में एक किशोर की दुर्घटनास्थल पर मौत हो गई जबकि दूसरे को डॉक्टरों ने हायर सेंटर रेफर कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने चालक को हिरासत में लेकर कार भी कब्जे में ले ली है।

सोमवार को ज्वालापुर के मोहल्ला कड़च्छ निवासी मुकुल (14) पुत्र अजीत श्रीवास्तव और कमल (15) पुत्र गेंदा सिंह भेल के सेक्टर चार स्थित लूडो क्लब में आयोजित एक विवाह समारोह में कार्य करने गए थे। वे देर रात साइकिल पर सवार होकर लौट रहे थे।

फाउंड्री गेट के नजदीक आते ही पीछे से आ रही बेकाबू कार ने साइकिल को अपनी चपेट में ले लिया। हादसे में मुकुल और कमल घायल हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों को जिला अस्पताल ले गई, जहां डॉक्टरों ने मुकुल को मृत घोषित कर दिया।

वहीं, प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर रूप से घायल कमल को हायर सेंटर रेफर कर दिया। एसएसआई विक्रम सिंह धामी ने बताया कि कार कब्जे में लेकर चालक को भी हिरासत में ले लिया है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंप दिया गया है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड संस्कृत विवि का आठवां दीक्षांत समारोह, राज्यपाल ने कहा - सामाजिक मूल्य पर खरा उतरें छात्र

उत्तराखंड संस्कृत विवि के आठवें दीक्षांत समारोह में कुलाधिपति एवं राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने छात्र-छात्राओं को पीएचडी की उपाधि और सर्वाधिक अंक प्राप्त करने छात्रों को गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया। इस मौके पर छात्रों को संबोधित करते हुए राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि जीवन के उद्देश्य को पूर्ण करने में कई चुनौतियां आएंगी। सभी चुनौतियों का सामना करते हुए आप सबको सामाजिक मूल्य और मानकों पर खरा उतरना होगा।

मंगलवार को विवि परिसर में आयोजित कार्यक्रम में राज्यपाल ने सत्र 2017-18 और सत्र 2018-19 के 32 छात्र-छात्राओं को गोल्ड मेडल और दस छात्र-छात्राओं को पीएचडी की उपाधियों ने नवाजा। दीक्षांत समारोह में कुल 5336 उपाधियां प्रदान की गईं। राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि संस्कृत का साहित्य केवल धार्मिक गतिविधियों और कर्मकांड तक सीमित नहीं रहा है। संस्कृत ने ज्ञान की अनेक शाखाओं को आधार प्रदान किया है। इनमें वैदिक गणित से लेकर व्याकरण तक शामिल है। भारत ने दुनिया को शून्य दिया, जिस पर आधुनिक विज्ञान टिका है।

उन्होंने कहा कि संस्कृत को आमजन की भाषा बनाने के लिए लक्ष्य के साथ आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष हरिद्वार में महाकुंभ होने वाला है। कुंभ करोड़ों की संख्या में श्रद्धालु आएंगे। इस आयोजन की सफलता के लिए संस्कृत विवि और उसके छात्र क्या योगदान दे सकते हैं। किस प्रकार से सेवा कार्य कर सकते हैं। इस पर संस्कृत विवि को विचार कर एक कार्य योजना तैयार करनी चाहिए। 

पूर्व मुख्य सचिव डॉ. इंदु कुमार पांडेय ने कहा कि प्राचीन विद्याओं एवं संस्कृत के संरक्षण के लिए यह विवि बना है। विशिष्ट अतिथि संस्कृत शिक्षा सचिव विनोद रतूड़ी ने कहा कि संस्कृत की भाषा आदिकाल से ही ज्ञान का अद्भुत संगम रही है। 

ये लोग रहे मौजूद 

कुलसचिव गिरीश कुमार अवस्थी, डॉ. शैलेश कुमार तिवारी, उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सुनील जोशी, दून विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एके कर्नाटक, श्रीदेव सुमन विवि के कुलपति प्रो. पीपी ध्यानी, उत्तराखंड मुक्त विवि के कुलपति प्रो. ओमप्रकाश नेगी, प्रो. दिनेश चमोला, प्रो. मोहन चंद्र बलोनी, डॉ. मनोज किशोर पंत, डॉ. रकेश सिंह, डॉ. दमोदम परगांई, डॉ. रामरत्न खंडेलवाल, डॉ. रत्नलाल, डॉ. धीरज शुक्ला, डॉ. अरविंद्र नारायण मिश्र, डॉ. कामाख्या, छात्र संघ अध्यक्ष प्रभात पंवार आदि मौजूद थे। 
... और पढ़ें

हरिद्वार : पार्किंग कर्मियों ने कांवड़ियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, तोड़े कार के शीशे, मची अफरा-तफरी

पंतद्वीप पार्किंग कर्मियों ने पर्ची को लेकर हुए विवाद में आधा दर्जन कांवड़ियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीट दिया। इतना ही नहीं पार्किंग कर्मियों ने कांवड़ियों की एक कार के शीशे तक तोड़ डाले। घटना से क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गयी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन पार्किग कर्मी फरार होने में कामयाब रहे।

पुलिस कांवड़ियों को लेकर चौकी पहुंची। बताया जा रहा है कि दोनों पक्षों में समझौते के प्रयास शुरू हो गये हैं। जानकारी के अनुसार मंगलवार की शाम को होण्डा अमेज और स्वीफ्ट कार सवार बिजनौर यूपी के आधे दर्जन कांवड़ियों को खड़खड़ी जाना था, लेकिन गलती से वह पंतद्वीप पार्किंग में जा घुसे।

लेकिन जब उनको रास्ता गलत होने की जानकारी लगी तो वह पार्किंग से बाहर निकलने का प्रयास करने लगे। तब वहां मौजूद पार्किंग कर्मियों ने दोनों कार सवारों की पार्किंग पर्ची मांगी। बताया जा रहा है कि कार सवार कांवड़ियों ने पूरी बात की जानकारी देते हुए गलती से पार्किंग में प्रवेश करने की बात कही।

 
... और पढ़ें

हरिद्वार कुंभ 2021: गंगा घाटों पर दुर्घटनाओं से बचाव के लिए सेफ्टी ऑडिट कराने के निर्देश

हरिद्वार में साल 2021 में होने वाले महाकुंभ को लेकर अधिकारियों ने काम में तेजी लाई है। आज हुई बैठक में मेला नियंत्रण कक्ष में बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें कुंभ के दौरान होने वाले कार्यों व व्यवस्थाओं को लेकर आयुक्त रविनाथ रमन ने आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

मेलाधिकारी दीपक रावत ने कहा सभी कार्यों का औचित्य प्रस्तुत किया जाए और सभी होने वाले कामों की गुणवत्ता की जांच भी जल्द ही करा ली जाए। आईजी मेला संजय गुंज्याल ने कहा कि ट्रैफिक को निर्बाध रूप से चलाने के लिये ट्रैफिक मेला प्लान के अन्तर्गत हर 10-15 किमी पर जेसीबी आदि की व्यवस्था होनी चाहिए। साथ ही वहां वाहन का सेटअप रखा जाएगा। 
... और पढ़ें

हरिद्वार पहुंचे पाकिस्तानी हिंदूओं ने किया सीएए का समर्थन, सरकार के फैसले को बताया सही

तीर्थ यात्रा के मद्देनजर पाकिस्तान के सिंध प्रांत से सोमवार को पाकिस्तानी हिंदुओं का एक जत्था हरिद्वार पहुंचा। पाकिस्तानी हिंदुओं के जत्थे ने नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन करते हुए इसे सही कदम बताया है।

उनका कहना है कि इससे पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश आदि देशों के हिंदू, बौद्घ , सिख आदि शरणार्थियों को राहत मिलेगी। पाकिस्तान के लरकाना जनपद से आए कारोबारी अमृत लाल ने बताया कि नागरिकता संशोधन कानून से सालों पहले भारत आए पाकिस्तानी हिंदुओं को इसका फायदा होगा।

इस काननू के लागू हो जाने के बाद अब पाकिस्तानी हिन्दुओं को भारतीय नागरिता के साथ ही कारोबार करने में इसका लाभ प्राप्त मिलेंगा। लरकाना से ही आए आकाश ने बताया कि सीएए को सरकार किस तरह लागू करती है, ये देखने वाली बात होगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us