विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

IMA POP 2019: आज बने सैन्य अफसर, एक दिन बाद होगी सगाई

प्रेमनगर (देहरादून) निवासी जयविंग नेगी के जीवन में शनिवार को दो खुशियों की मिलीं। जयविंग शनिवार को सेना में अफसर बने साथ ही रविवार को उनकी सगाई की खबर है।

7 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

कोटद्वार

शनिवार, 7 दिसंबर 2019

जरूरतमंद छात्रों की सहायता को तत्पर रहते है दिव्यांग शिक्षक संतोष नेगी

दूसरे की पीड़ा को वही व्यक्ति समझ सकता हैं, जिसने अपने जीवन में उतार-चढ़ाव देखे हों। हम ऐसे ही शख्सियत के की बात कर रहे हैं, जिन्होंने दिव्यांग होते एक मुकाम हासिल किया। वे यही नहीं रुके, उन्होंने गरीब तबके और जरूरतमंद छात्र-छात्रओं की सहायता करने को अपने जीवन का मकसद बना लिया है। जीआईसी कोटद्वार में गणित शिक्षक के पद पर कार्यरत शिक्षक संतोष नेगी जनसहभागिता से अभी तक दो लाख रुपये की साइकिलें जरूरतमंद बच्चों को वितरित कर चुके हैं। उन्होंने हाल ही में हुए अपने विवाह समारोह पर छात्रों को 50 हजार की साइकिलें वितरित की। वह समय-समय पर जरूरतमंद छात्र-छात्राओं को सोलर लालटेन, ड्रेस, जूते सहित स्टेशनरी भी वितरित करते रहते हैं।
संतोष नेगी जन्म से ही दिव्यांग है। बचपन में उनकी माता बीमारी के चलते और बाद में पिता का भी स्वर्गवास हो गया। माता-पिता की असमय मृत्यु के पश्चात संतोष नेगी ने घर का सारी जिम्मेदारियां उठाई। संतोष सिंह नेगी 2013 में उत्तराखंड सरकार की ओर से श्रेष्ठ दिव्यांग कर्मी, 2015 में श्रेष्ठ विज्ञान शिक्षक, 2012 में माइंड ऑफ स्टील अवार्ड, 2013 में गोडफे फिलिप अवार्ड से सम्मानित हो चुके हैं। 26 जून 2016 को मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संतोष नेगी के जल संरक्षण के लिए किए जा रहे प्रयासों की तारीफ भी की थी। इसके अलावा वह दो बार प्रधानमंत्री से मुलाकात कर चुके हैं।
संतोष नेगी बताते हैं कि भारत में नवरात्रों में कन्या को अन्न, धन देने की परंपरा रही है। इसी परंपरा में नया आयाम जोड़ते हुए वह अपने विद्यालय की एक मेधावी और जरूरतमंद छात्रा को साइकिल प्रदान करते हैं। बताया कि मात्र दो साल में जीआईसी कोटद्वार के अलावा, आर्य कन्या इंटर कालेज, इंटर कालेज मोटाढांक, जीआईसी सुखरो की जरूरतमंद छात्राओं को दो लाख की साइकिलें प्रदान कर चुके हैं।
... और पढ़ें

नाथूखाल के संदीप गुसाईं नौसेना में बने आफीसर

पौड़ी जिले के दुगड्डा ब्लाक में स्थित नाथूखाल गांव के बेटे संदीप गुसाईं ने भारतीय नौसेना में कमीशन अधिकारी बनकर अपने गांव, जिले और राज्य का नाम रोशन किया है। संदीप गुसाईं भारतीय नौसेना की एग्जिक्यूटिव शाखा में सब लेफ्टिनेंट के पद पर कमीशन अधिकारी बने हैं।
गत शनिवार को नौसेना अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी एडिमाला, केरल में हुई पासिंग आउट परेड (पीओपी) में उनके हवलदार पिता दिगपाल सिंह गुसाईं और मां संतोषी देवी ने बेटे के कंधे पर स्टार सजाए। संदीप के पिता दिगपाल सिंह असम राइफल्स में हवलदार के पद पर सेवारत हैं। गांव के बेटे की उपलब्धि से पूरे क्षेत्र में खुशी का माहौल है। पीओपी में शामिल होने केरल पहुंचे संदीप के पिता दिगपाल सिंह और मां संतोषी देवी ने जब अपने हाथों से बेटे के कंधों पर स्टार सजाए तो वे खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे थे। संदीप के चचेरे भाई टीएस गुसाईं भी भारतीय सेना में सेवारत हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में संदीप का परिवार कोटद्वार के लालपुर में निवास कर रहा है और बराबर गांव आना जाना रहता है। संदीप की इंटर तक की पढ़ाई कोटद्वार के एसजीआरआर पब्लिक स्कूल पदमपुर सुखरो से हुई। संदीप पढ़ाई के समय से ही पिता की तरह सेना में जाना चाहता था, इसके लिए वह इंटर करने के बाद से ही एनडीए परीक्षा की तैयारी में जुट गया था।
... और पढ़ें

रिखणीखाल ब्लाक के दो बीएसएनएल टावर बने हैं शोपीस

सूचना क्रांति के इस दौर में रिखणीखाल ब्लाक के 17 गांवों के लोग आज भी मोबाइल सेवा से वंचित हैं। क्षेत्र में बीएसएनएल ने सात साल पहले दो टावर तो स्थापित किए, लेकिन उनमें सिगनल की व्यवस्था नहीं होने के कारण वे शोपीस बने हुए हैं। वर्ष 2012 में बीएसएनएल ने रिखणीखाल ब्लाक के सुदूर पर्वतीय क्षेत्र के कर्तिया और चपड़ैत में बीएसएनएल के टावर स्थापित किए थे। लेकिन, टावरों में बार-बार खराबी आने के कारण क्षेत्र वासियों को इन टावरों का लाभ नहीं मिल पा रहा है। क्षेत्र के चपड़ैत , कर्तिया, बसड़ा, बडोदा, तिमलसैंण, बराई, धूरा, डोबरिया, कुमाल्डी, झर्त, रथुवाढाब, ढिकोलिया, जुई पापड़ी, बंजादेवी, नौदानू, कांडानाला, दियोद सहित कई गांव के लोग मोबाइल सेवा से वंचित हैं। जिपं सदस्य कर्तिया विनयपाल सिंह नेगी, प्रधान बृजमोहन सिंह, दीपा देवी, प्रभुदयाल असवाल, शर्मीला देवी, महेंद्र सिंह, क्षेपं सदस्य नीलम रावत, विनीता ध्यानी, शबनम देवी, अशोक कुमार ने बीएसएनएल पर क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप लगाया। उन्होंने क्षेत्र में मोबाइल सेवा बहाल करने की मांग की। ऐसा नहीं होने पर आंदोलन करने की चेतावनी दी। उधर, बीएसएनएल के एसडीओ आरके कुकरेती ने बताया कि कर्तिया और चपड़ेत के टावरों में कुछ खामियां थी, उन्हें ठीक कर लिया गया है। कुछ गांव घाटी में होने के कारण वहां सिगनल नहीं पहुंचने की शिकायत मिली है, उसे जल्द ठीक कर दिया जाएगा। ... और पढ़ें

सावधान: कोटद्वार स्टेशन पर में रेलवे ट्रेक से गुजरना खतरे से खाली नहीं

कोटद्वार। लंबे रूट से बचने के लिए कोटद्वार रेलवे स्टेशन के ट्रैक से शार्टकट गुजरना क्षेत्र के लोगों के लिए जोखिम भरा हो सकता है। रेलवे की ओर से स्टेशन पर इलेक्ट्रिक ट्रेन के संचालन को ट्रैक पर खींची गई विद्युत लाइन में 25000 वोल्ट का करंट छोड़ दिया गया है। तारों में दौड़ रहा यह करंट ट्रैक पर दो मीटर दूर से लोहे का सामान या कोई अन्य विद्युत संचालक वस्तु को अपनी चपेट में ले सकता है। इससे लोगों को जान-माल दोनों का नुकसान हो सकता है।
स्टेशन अधीक्षक की ओर से लाउड स्पीकर पर अलाउंस कराकर क्षेत्रवासियों को इस बात की चेतावनी दी जा रही है। रेलवे ने ट्रैक से किसी भी व्यक्ति के न गुजरने की अपील की है। स्टेशन अधीक्षक मनोज रावत ने बताया कि जल्द ही कोटद्वार और नजीबाबाद के बीच इलेक्ट्रिक ट्रेन का संचालन शुरू होने वाला है। उन्होंने बताया कि करीब एक साल से नजीबाबाद-कोटद्वार के बीच रेलवे ट्रैक पर विद्युतीकरण कार्य शुरू किया गया था, जो अब पूरा हो चुका है। रेलवे की ओर से ट्रैक पर खींची गई बिजली लाइन में 25000 वोल्ट का करंट छोड़ दिया गया है। लंबे रूट से बचने के लिए लकड़ीपड़ाव व काशीरामपुर समेत अन्य क्षेत्र के लोग और स्कूली बच्चे पैदल आवाजाही करने को रेलवे ट्रैक का शॉर्टकट लेकर स्टेशन से गुजरते हैं, लेकिन अब कोटद्वार रेलवे ट्रक से गुजरना खतरे से खाली नहीं है। ट्रैक की बिजली लाइन में प्रवाहित हो रहा करंट दो मीटर की दूरी से लोहे व विद्युत सुचालक वस्तुओं को अपनी चपेट में ले सकता है। उन्होंने बताया कि स्टेशन पर लाउडस्पीकर के जरिए लोगों को चेतावनी दी गई है।
कोटद्वार तक जल्द दौड़ेगी इलेक्ट्रिक ट्रेन
नजीबाबाद-कोटद्वार रेलवे ट्रैक पर विद्युतीकरण कार्य पूरा हो चुका है। रेलवे ने इस ट्रैक की लाइन में विद्युत प्रवाह का संचालन भी कर दिया है। अब रेलवे ट्रैक का निरीक्षण और इलेक्ट्रिक ट्रेन संचालन के लिए सुरक्षा संबंधी औपचारिकताएं पूरी करने की कवायद चल रही है। जल्द ही गढ़वाल के यात्रियों को कोटद्वार रेलवे स्टेशन से इलेक्ट्रिक ट्रेन की सुविधा मिल जाएगी।
रेलवे स्टेशन पर ओवर ब्रिज की दरकार
कोटद्वार रेलवे स्टेशन से गुजरने वाले लकड़ीपड़ाव, काशीरामपुर तल्ला समेत अन्य क्षेत्र के लोग लंबे समय से स्टेशन पर ओवर ब्रिज की मांग करते आ रहे हैं। उनका कहना है कि वे वर्षों से रेलवे ट्रैक से आवाजाही कर रहे हैं। स्टेशन के एकदम सामने उनके घर पड़ते हैं। अचानक शार्टकट छोड़कर लंबे रूट से जाना उन्हें खलेगा, जिसमें उन्हें कम से कम एक किमी की पैदल दूरी तय करनी पड़ेगी, जिसमें उन्हें काफी समय लगेगा।
-फोटो
... और पढ़ें

चुंडाई गांव के नाम रही शिव-द्वारिका मेमोरियल वालीबॉल चैंपियनशिप ट्रॉफी

जयहरीखाल। जयहरीखाल के डोबा गांव में शिव-द्वारिका मेमोरियल वॉलीबाल चैंपियनशिप ट्रॉफी-2019 का आयोजन किया गया। इसमें चुंडाई गांव ने कंदोली की टीम को पराजित किया। समापन समारोह के मुख्य अतिथि जयहरीखाल ब्लाक प्रमुख दीपक भंडारी ने विजेता टीम को 15 हजार रुपये और विजेता ट्रॉफी, जबकि उपविजेता टीम को 10 हजार रुपये और उपविजेता ट्रॉफी देकर पुरस्कृत किया। आयोजकों ने प्रतियोगिता में प्रतिभाग कर रही 13 बालिका खिलाड़ियों को 500 रुपये, प्रमाणपत्र और स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया। इस अवसर पर जूनियर हाईस्कूल पीड़ा के छात्र-छात्राओं ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति देकर समा बांधा।
समापन समारोह में प्रतियोगिता का फाइनल मैच चुंडाई और कंदोली के बीच खेला गया। इसमें शुरुआत में दोनों टीमों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए दर्शकों को वॉलीबाल के खेल से रोमांचित किया। अंतिम समय में चुंडाई गांव की टीम ने प्रतियोगिता अपने नाम कर ली।
इस अवसर पर प्रतियोगिता के आयोजक ले. कर्नल बुद्धिबल्लभ ध्यानी, कर्नल यशवंत सिंह रावत (सेनि), मेजर महावीर सिंह नेगी (सेनि), हीरा सिंह बिष्ट, प्रभु दयाल जखमोला, उमा रावत, दिनेश चंद्र, जनार्दन प्रसाद, आनंदी खंतवाल, सुशीला ध्यानी, सुषमा जखमोला, मनोज रावत, दिनेश ध्यानी, किरण बौंठियाल, सुरेंद्र रावत, जगदंबा ध्यानी, रमेश कोटनाला, श्रीधर प्रसाद ध्यानी, बलबीर सिंह बिष्ट व जनार्दन ध्यानी आदि मौजूद थे।
-फोटो
... और पढ़ें

पांचवी गढ़वाल राइफल्स गौरव सेनानियों ने धूमधाम से मनाया हिल्ली डे

कोटद्वार। पांचवीं गढ़वाल राइफल्स के गौरव सेनानियों ने बृहस्पतिवार को हिल्ली दिवस मनाया। इस मौके पर बटालियन के शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस दैरान पूर्व सैनिकों ने बटालियन के गौरवशाली इतिहास पर चर्चा की।
नजीबाबाद रोड स्थित एक होटल में कार्यक्रम का शुभारंभ संगठन के अध्यक्ष ऑनरेरी कैप्टन रणजीत सिंह रावत (रिटा.) ने किया। इस मौके पर बटालियन के शहीद सैनिकों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। संगठन के संरक्षक ऑनरेरी कैप्टन बलवंत सिंह रावत (रिटा.) ने हिल्ली डे पर प्रकाश डाला। कहा कि तीन नवंबर 1951 को बटालियन के कर्नल सुभाष चंद्र और सूबेदार मेजर भाग सिंह चौधरी ने कमान संभाली थी। 1971 में बटालियन मुक्ति वाहिनी का हिस्सा बनी और ऑपरेशन केक्टस हिल्ली को अंजाम देने के लिए हिल्ली पहुंची। यहां दुश्मनों के साथ घमासान युद्ध हुआ। इस दौरान दुश्मनों ने दमदमा ब्रिज तोड़कर डिफेंस जमा दिया, लेकिन बटालियन ने दुश्मनों पर चारों ओर से दबाव बनाकर 16 दिसंबर 1971 को उन्हें आत्मसमर्पण करने के लिए मजबूर कर दिया। इस दौरान दुश्मनों के 15 ऑफिसर, 12 जेसीओ, 322 ओआर ने आत्मसमर्पण किया। बटालियन को बहादुरी के लिए हिल्ली बैटल डे अवार्ड से नवाजा गया।
कार्यक्रम में संगठन के उपाध्यक्ष आलम सिंह, सचिव जगत सिंह रावत, मदन सिंह, सुरेशानंद, मनमोहन, मदन नेगी, दलवीर सिंह, दिगंबर सिंह, भुवनेश्वर खर्कवाल, सुरेंद्र सिंह रावत, बलवंत सिंह व अर्जुन सिंह आदि मौजूद रहे।
-फोटो
... और पढ़ें

नाटक के माध्यम से दिखाई माधो सिंह भंडारी की वीर गाथा

किशनपुर। भाबर के जीआईसी कण्वघाटी मेें संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार और सेंटर फॉर रूरल एंड इकोलॉजिकल डेवलपमेंट (क्रेडा ) देहरादून के संयुक्त तत्वाधान में हिमालय की सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिए गढ़वाल की वीर गाथाओं पर 15 दिवसीय प्रशिक्षण के तहत कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में कलाकारों ने वीर माधो सिंह भंडारी का नाट्य मंचन किया। माधो सिंह भंडारी का किरदार निभाने वाले कलाकार नितिन कुमार के अभिनय ने दर्शकों की खूब तालियां बटोरीं।
क्रेडा की कार्यक्रम निर्देशिका डा. माधुरी बड़थ्वाल ने बताया कि कार्यक्रम का उद्देश्य जनमानस एवं स्कूली छात्र-छात्राओं को गढ़वाल की सांस्कृतिक विरासत से परिचित कराना है। इससे जहां लोक संस्कृति के संवर्द्धन को बढ़ावा मिलेगा, वहीं नवोदित कलाकारों को मंच मिलेगा। उन्होंने सभी को गढ़वाल की वीर गाथाओं से संबधित जानकारी और अभिनय की बारीकियां बताईं। क्रेडा के अध्यक्ष एसके सिंह ने गढ़वाल की समृद्ध संस्कृति पर प्रकाश डालते हुए स्वच्छता की महता पर चर्चा की। प्रधानाचार्य सिद्धार्थ रावत ने कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रमों के आयोजन से जनता और छात्र-छात्राओं को अपनी सांस्कृतिक विरासत के बारे में जानकारी मिलती है। इस अवसर पर हंस फाउंडेशन के उत्तराखंड प्रभारी पदमेंद्र सिंह बिष्ट, राकेश मोहन ध्यानी, कुलदीप नेगी, डा. अलका सिंह, केशव प्रसाद, मनीष दुबे, गबर सिंह रावत, पूर्व ब्लाक प्रमुख गीता नेगी, गिरीश नैथानी व मंजू नेगी आदि मौजूद रहे।
-फोटो
... और पढ़ें

नगर निगम बनाया है तो बजट और संसाधन भी दे सरकार: हेमलता नेगी

कोटद्वार। कोटद्वार नगर निगम को पर्याप्त बजट और संसाधन उपलब्ध कराने की मांग को लेकर मेयर हेमलता नेगी और पार्षदों का क्रमिक धरना बृहस्पतिवार को चौथे दिन भी जारी रहा। मेयर ने भाजपा सरकार से सवाल किया है कि जब नगर निगम बनाया है तो बजट और संसाधन भी उपलब्ध कराना उसकी जिम्मेदारी है। कहा कि नवसृजित नगर निगम पूर्ववर्ती नगर पालिका के ढांचे पर चल रहा है, जिसमें क्षेत्र का विस्तार तो हो गया, लेकिन संसाधन पहले से ही कम हैं। ऐसे में भाजपा सरकार के सबका साथ, सबका विकास वाले नारे पर कोटद्वार भाबर की जनता सवाल खड़ी कर रही है।
नगर निगम बोर्ड में पारित प्रस्ताव के अनुरूप बजट उपलब्ध कराने, कूड़ा निस्तारण के लिए भूमि दिए जाने, लावारिस पशुओं के रखरखाव सहित 12 सूत्री मांग को लेकर नगर निगम की मेयर और पार्षदों के चौथे दिन के धरने में कांग्रेस एवं निर्दलीय पार्षदों सहित बड़ी संख्या में महिलाएं जुटीं। इस मौके पर आयोजित सभा में डीएन भट्ट, कृष्णा बहुगुणा, धीरेंद्र सिंह बिष्ट, भानु प्रकाश बलोधी, रूपन नेगी, सुखपाल शाह, शकुंतला चौहान व महेंद्र अग्रवाल ने कहा कि भाजपा ने कोटद्वार भाबर पर नगर निगम थोपा है तो बजट और संसाधन उपलब्ध कराना भी सरकार की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि सरकार को कोटद्वार के साथ सौतेला व्यवहार नहीं करना चाहिए। इस मौके पर गोपाल सिंह, जितेंद्र सिंह, विनोद सिंह, बृजमोहन सिंह, कमला शाह, जीवन कोहली, हर्षिता, मदन सिंह, गिंदीदास, शहनाज शम्सी, हेमचंद्र पंवार, उपेंद्र सिंह, कृपाल सिंह, गीता नेगी, कुलदीप काम्बोज, अनिल रावत, विपिन डोबरियाल, बीना देवी, अंजुम सबा, आशा चौहान, कविता मित्तल, नईम अहमद, सतेंद्र सिंह, विजय माहेश्वरी व शंकेश्वर प्रसाद सेमवाल सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन पार्षद प्रवेंद्र सिंह रावत ने किया।
-फोटो
... और पढ़ें

हैदराबाद कांड के दरिंदों को फांसी दो, या जनता के हवाले करो

कोटद्वार। अमर उजाला के अपराजिता कार्यक्रम के तहत गिवईंस्रोत के पंचायत घर में आयोजित गोष्ठी में हैदराबाद कांड को लेकर लोगों में आक्रोश नजर आया। महिलाओं ने हैदराबाद कांड के दरिंदों को जल्द फांसी की सजा देने की मांग उठाई। कहा कि डा. बिटिया के दोषी दरिंदों को जनता के हवाले कर देना चाहिए। इस दौरान महिलाओं को बाल अपराध और महिला हिंसा के प्रति जागरूक करते हुए उन्हें कोतवाली, सीओ कार्यालय के सीयूजी नंबर और एकल एमरजेंसी हेल्पलाइन नंबर 112 नोट कराए गए।
अपराजिता कार्यक्रम में स्व. विष्णु सिंह रावत स्मृति संस्था की संयोजक रंजना रावत ने कहा कि दिल्ली के निर्भया कांड के बाद अब हैदराबाद की डा. बिटिया के साथ हुए जघन्य अपराध ने एक बार फिर से देश की जनता को झकझोर दिया है। देश की जनता ऐसे अपराधियों को सिर्फ फांसी की सजा देने की मांग कर रही है। उन्होंने कहा कि महिलाओं और बेटियों को स्वयं सशक्त और जागरूक होना होगा। कहा कि कोटद्वार में ऐसी घटनाएं न हों, इसके लिए सभी महिलाओं और बेटियों को जागरूक रहने की आवश्यकता है। रंजना रावत ने कहा कि यदि क्षेत्र में संदिग्ध लोग घूमते दिखाई दें या किसी नशेे के कारोबार की भनक लगे तो तुरंत पुलिस को सूचना दें। समाज सेवी सुधा असवाल ने हैदराबाद में महिला पशु चिकित्सक के साथ हुई दरिंदगी को मानवता पर कलंक बताया। उन्होंने कहा कि इन दरिंदों का केस फाइलों में नहीं ऑनस्पाट निपटाने की जरूरत है। उन्हें सजा ऐसी मिलनी चाहिए कि हैवानियत करने की सोचने वालों की रूह तक कांप उठे। प्रीति सिंह ने कहा कि जिस दिन ऐसे दरिंदों को सड़क पर गोली मारी जाएगी, उस दिन ऐसे मामले अपने आप कम हो जाएंगे। उन्होेंने कहा कि ऐसे मामलों के लिए न्यायिक प्रक्रिया में बदलाव होना चाहिए ताकि ऐसे मामले लंबे समय तक अदालत में न पड़े रहें। गोष्ठी में विमलेश नेगी, गंगा देवी व कमला देवी समेत 87 प्रतिभागी शामिल रहे।
-फोटो
... और पढ़ें

राज्य निर्माण सेनानी मोर्चा ने तहसील में किया धरना-प्रदर्शन

उत्तराखंड राज्य निर्माण सेनानी मोर्चा के बैनर तले राज्य निर्माण आंदोलनकारियों ने अपनी चार सूत्री मांगों के निराकरण को लेकर तहसील में धरना-प्रदर्शन किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित कर मांगों के निराकरण की मांग की गई।
बुधवार को बड़ी संख्या में आंदोलनकारी ने तहसील में एकत्र होकर अपनी चार सूत्री मांगों के निराकरण को लेकर धरना-प्रदर्शन किया। धरना स्थल पर हुई सभा में वक्ताओं ने आज (बृहस्पतिवार) को सूबे के सभी आंदोलनकारी संगठनों की आहूत स्वाभिमान रैली और विधानसभा घेराव कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील की। इस मौके पर एसडीएम योगेश मेहरा के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित कर चार सूत्री मांगों के निराकरण की मांग की गई। मोर्चा की प्रमुख मांगों में 31 दिसंबर 2017 से पूर्व के जिलाधिकारी कार्यालयों में चिह्नीकरण के लिए लंबित आवेदनों के निस्तारण के लिए तहसील स्तर पर एलआईयू जांच कराकर एक निश्चित अवधि के भीतर निस्तारण करने, पेंशनधारी राज्य आंदोलनकारियों का आंदोलनकारियों की भांति सुविधा प्रदान करने, समस्त आंदोलनकारियों को एक समान पेंशन की सुविधा प्रदान करने, राज्य आंदोलनकारियों को 10 फीसदी क्षैतिज आरक्षण पर पुन: विधेयक लाने, मुजफ्फरनगर कांड से संबंधित यूपी और सीबीआई कोर्ट में लंबित मुकदमों को उत्तराखंड में स्थानांतरित करने की मांग की गई।
धरना देने वालों में मोर्चा के अध्यक्ष महेंद्र सिंह रावत, गोपाल कृष्ण बड़थ्वाल, गायत्री भट्ट, कमला शाह, कमला चौहान, गुलाब सिंह, राजकुमार गुप्ता, मुन्नी कंडवाल, अर्जुन सिंह, इकरामुद्दीन, अनिल जोशी, हयात सिंह गुसाईं, मंजू कोटनाला, राकेश चंद्र लखेड़ा, मंजू जखमोला, संगीता रावत, दिनेश चंद्र मंजेड़ा, कल्पेश्वरी रावत, लक्ष्मी रावत, शशि किरण कंडवाल, पितृशरण जोशी, राम सिंह सैनी, बसंती रावत, भागीरथी रावत, पार्वती अधिकारी, आनंदी देवी सहित बड़ी संख्या में मौजूद रहे।
... और पढ़ें

डा. बिटिया के साथ न्याय तभी, जब दरिंदों को मिले सजा-ए-मौत

हैदराबाद में महिला पशु चिकित्सक का दुष्कर्म करने के बाद जलाने वाली घटना पर छात्र-छात्राओं और शिक्षक-शिक्षिकाओं में भारी आक्रोश दिखा। छात्राओं और शिक्षिकाओं ने अब और सख्त कानून बनाकर जल्द से जल्द अपराधियों को सजा दिलाने की मांग की है। कहा कि कानून इतना सख्त हो कि अपराध की प्रमाणिक पुष्टि होने के बाद अपराधी को सजा-ए-मौत मिले और इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो सके। यह बात राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय ग्रास्टनगंज में आयोजित अमर उजाला के अपराजिता 100 मिलियन स्माइल्स कार्यक्रम में शामिल शिक्षकों, बीएड प्रशिक्षुओं और छात्र-छात्राओं ने कही है।
बुधवार को राउमावि ग्रास्टनगंज में अपराजिता कार्यक्रम के तहत आयोजित गोष्ठी में शिक्षक-शिक्षिकाओं के अलावा छात्र-छात्राओं ने भी अपना रोष व्यक्त कर सभी ने एक स्वर में कहा कि हैदाराबाद कांड के दोषियों को जल्द सजा-ए-मौत मिले, ताकि डॉ बिटिया को न्याय मिल सके। कहा कि अपराधियों को जल्द सजा मिलने से महिलाओं-किशोरियों में सुरक्षा का भाव पैदा होगा। शिक्षकों ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा को लेकर केंद्र सरकार द्वारा को ठोस कानून बनाने जाएं।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की पैरा लीगल वालंटियर राखीपाल ने कहा कि जब तक महिलाओं की सुरक्षा के लिए कठोर कानून नहीं बनेंगे, तब तक इस तरह की घटनाएं होती रहेंगी। महिलाएं हर क्षेत्र में काम कर रही हैं। उनको कभी ड्यूटी पर दिन में तो कभी रात में जाना पड़ता है। सरकार उनकी सुरक्षा पर ठोस कदम उठाना चाहिए।
प्रधानाध्यापक रामतीर्थ यादव ने कहा कि हैदराबाद जैसे जघन्य अपराध को रोकने की पहल की जानी चाहिए। दोषी जब तक ऐसे कांड दोहराते रहेंगे, तब तक महिलाएं सुरक्षित नहीं रह पाएगी। शिक्षक भारत सिंह बिष्ट ने कहा कि हैदराबाद जैसी घटना के आरोपियों को जल्द सजा मिलने का प्रावधान किया जाना चाहिए।
शिक्षिका लक्ष्मी देवी, नेहा अग्रवाल, अनिता कंडारी ने कहा कि बेटियां को पढ़ाई के लिए दूसरे शहरों में जाना पड़ता है। ऐसे में इस प्रकार की घटनाओं से माता-पिता में भी बेटियों के प्रति चिंता बनी रहती है। बीएड प्रशिक्षु पूजा रावत, जैसमीन,अनुजा रावत, कंचनलता ने कहा ऐसे अपराध करने वाले लोगों को खुलेआम फांसी देनी चाहिए, ताकि ऐसे अपराध करने की सोचने से पहले ही अपराधी खौफजदा रहे। तभी बेटियां सुरक्षित रह सकेंगी।
छात्राओं ने कहा कि हैदराबाद में महिला चिकित्सक के साथ जो हुआ, वह इंसानियत नहीं, बल्कि हैवानियत है। इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम देने वाले लोगों को सरेआम चौराहों पर फांसी देने की जरूरत है। कार्यक्रम में शिक्षक त्रिलोचन प्रसाद पांथरी, राजेश थपलियाल, बृजेश कुमार साहनी, मोहम्मद तय्यब, अभिषेक नेगी आदि शामिल रहे।
... और पढ़ें

कोटद्वार के पाखरो गेट से शाही दंपति करेंगे कार्बेट नेशनल पार्क की सैर

पहली बार उत्तराखंड पहुंच रहे स्वीडन के 16वें नरेश कार्ल गुस्ताफ और रानी सिल्विया कोटद्वार के पाखरो गेट के रास्ते कार्बेट नेशनल पार्क की सैर कर वन्य जीवों का दीदार करेंगे। पुलिस प्रशासन एवं वन विभाग सड़क मार्ग से कोटद्वार पहुंच रहे शाही दंपति के स्वागत की तैयारियों में जुटा है।
बृहस्पतिवार को शाही दंपति हरिद्वार से लालढांग-चिलरखाल मार्ग, भाबर से देवी रोड और शहर के झंडाचौक होते हुए लैंसडौन वन प्रभाग के पनियाली गेस्ट हाउस पहुंचेंगे। पनियाली गेस्ट हाउस में भोजन करने के बाद पाखरो गेट होते हुए कार्बेट नेशनल पार्क की सैर के लिए रवाना होंगे। एसडीएम योगेश मेहरा ने बताया कि शाही दंपति के स्वागत की तैयारियां पूरी कर ली गई है। नगर निगम क्षेत्र में सफाई व्यवस्था चाक चौबंद करने के साथ चिलरखाल से पनियाली तक उनके स्वागत के लिए स्वीडिश भाषा में तोरण द्वार, होर्डिंग और बैनर लगाए जाएंगे। सड़कों की सफाई के लिए निगम, पनियाली गेस्ट हाउस में व्यवस्थाएं देखने के लिए वन विभाग, टेंट, भोजन की व्यवस्था के लिए लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए गए हैं।
लैंसडौन वन प्रभाग के रेंज अधिकारी बीबी शर्मा ने बताया कि शादी दंपति के स्वागत के लिए पनियाली विश्रामगृह को सजाया गया है। यहां सफाई व्यवस्था के साथ नए सोफे कवर, बेड सीट और नये पर्दे लगाए गए हैं। भोजन के लिए नई क्राकरी मंगाई गई है। रंगरोगन का कार्य किया गया है।
सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस मुस्तैद
एसएसपी दिलीप कुंवर ने स्वीडन के शाही दंपति की सुरक्षा व्यवस्था के लिए कोटद्वार कोतवाली में पुलिस कर्मियों की बैठक ली। उन्होंने सभी कर्मियों और अधिकारियों को शाही दंपति की सुरक्षा को लेकर अलर्ट रहने के सख्त निर्देश दिए। उन्होंने नगर निगम को शाही दंपति के गुजरने वाले मार्ग पर लावारिश पशुओं को रोकने के निर्देश दिए। पत्रकारों से वार्ता में एसएसपी ने बताया कि कोटद्वार क्षेत्र में राजा-रानी का 70 किमी का भ्रमण है, जिसमें से 67 किमी जंगल का क्षेत्र है। सुरक्षा के लिए पुलिस ने राजस्व, नगर निगम और वन विभाग के साथ तैयारी की है।
... और पढ़ें

मेयर और कांग्रेसी पार्षदों का उपवास क्रमिक धरने में तब्दील

नगर निगम की उपेक्षा का आरोप लगाते मेयर हेमलता नेगी और कांग्रेसी पार्षदों ने उपवास को क्रमिक धरने में तब्दील कर दिया है। कांग्रेस ने भाजपा के आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि उपवास कार्यक्रम राजनीतिक स्टंट नहीं, बल्कि कोटद्वार की जनता के हक की लड़ाई है। कहा कि राज्य सरकार नगर निगम के बजट आवंटन में सौतेला व्यवहार कर रही है।
नगर निगम परिसर में मंगलवार को धरना देने वालों में पूर्व मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी, पार्षद कविता मित्तल, पूर्व प्रमुख व पार्षद गीता नेगी, सूरज कांति, मीनाक्षी कोटनाला, बीना नेगी, पिंकी नेगी, नईम अहमद, कुलदीप कांबोज, आशा चौहान, विजेता रावत, रोहणी देवी, अनिता मल्होत्रा, अनिल रावत, हरीश नेगी, विपिन डोबरियाल, सरला रावत, गिंदी दास, प्रमेंद्र सिंह रावत, कांग्रेस नेता विजय माहेश्वरी, सुनीता बिष्ट, डा. रणवीर चौहान, हेमचंद पंवार, पूर्व प्रधानाचार्य बलबीर सिंह रावत, शंकेश्वर प्रसाद सेमवाल समेत कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल रहे। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि भाजपा के ढाई साल के कार्यकाल में कोटद्वार भाबर में विकास की एक ईंट भी नहीं रखी गयी है। जनभावनाओं के विपरीत नगर निगम बनाने वाली भाजपा सरकार अब निगम क्षेत्र में शामिल जनता के साथ विश्वासघात कर रही है। चुनाव में किए गए वायदे भी भुला दिए गए हैं।
मेयर हेमलता नेगी ने कहा कि कोटद्वार की जनता को आवारा पशुओं से निजात दिलाने, नगर निगम को ट्रंचिंग ग्राउंड के लिए भूमि उपलब्ध कराने समेत 12 सूत्री मांगों के समाधान होने तक संघर्ष जारी रखेंगी । उन्होंने कहा कि उनकी लड़ाई समूचे क्षेत्र के विकास के लिए है। इसमें राजनीति से ऊपर उठकर निगम के सभी निर्वाचित पार्षदों को साथ लेकर संघर्ष करेंगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election