विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

खांसी, जुकाम, बुखार के इस सिरप से हो रही बच्चों की मौत, सरकार ने लगाई रोक

बच्चों के खांसी, जुकाम, बुखार के सिरप ‘कोल्ड बेस्ट पीसी सिरप’ की खरीद और बिक्री पर उत्तराखंड में रोक लगा दी गई है।

19 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

कोटद्वार

बुधवार, 19 फरवरी 2020

सोशल मीडिया में छाया 100 साल पुराना मोरपंखी पेड़

सिनेमा हाल के पास स्थित मोरपंखी का पेड़ अपनी 100 साल की आयु पूरी करने पर इन दिनों सोशल मीडिया में छाया हुआ है। लैंसडौन के देश-विदेश में रहने वाले प्रवासी पेड़ से जुड़ी अपनी बचपन की यादों को फेसबुक और व्हाट्स एप पर शेयर कर रहे हैं।
गढ़वाल विवि के प्रौढ़ शिक्षा के विभागाध्यक्ष डा. संपूर्ण सिंह रावत बताते हैं कि बचपन मेें वे इस पेड़ के नीचे रोज खेलते थे। फेस बुक में अपनी यादें ताजा करते हुए जेपी शाह कहते हैं कि चार पीढ़ियों के बच्चे इसमें खेल में घुड़सवारी, बैलगाड़ी, झूला की सवारी करते आ रहे हैं। देहरादून के भरत बिष्ट ने कहते हैं कि यह पेड़ अब भी इतने समय बाद अपनी शान शौकत से खड़ा है। जर्मनी से हर्ष अग्रवाल ने ट्वीट कर बताया कि पेड़ ने उन्हें अपना बचपन याद दिलाया है। कोलकाता से सूचना प्रौद्योगिकी के पूर्व निदेशक डा. विजय खंडेलवाल, हल्द्वानी से विनय कालेश्वरी, कोटद्वार से आशुतोष वर्मा, मुम्बई से इंजीनियर दिव्या अग्रवाल, मुरादाबाद से संतोष ने इस पेड़ के 100 साल पूरे करने पर अपनी यादें ताजा की है।
... और पढ़ें

कब होगा कण्वाश्रम-सिमलना मार्ग निर्माण का सपना साकार

आजादी के सात दशक और उत्तराखंड राज्य गठन के 19 साल बाद भी कोटद्वार भाबर से सटी अजमीर पट्टी के वाशिंदों का कण्वाश्रम-पौखाल मोटर मार्ग निर्माण का सपना साकार नहीं हो सका है। यदि सड़क का निर्माण हो जाता तो अजमीर पट्टी के दर्जनों गांवों को यातायात की सुविधा मिलती, वहीं इसका लाभ ऐतिहासिक स्थल कण्वाश्रम को भी मिलता।
आजादी के पहले और इसके काफी साल बाद अस्सी के दशक तक सड़क सुविधा न होने के कारण कण्वाश्रम के चौकीघाटा से पौखाल तक बने पैदल मार्ग पर खूब चहल-पहल हुआ करती थी। पूरे अजमीर पट्टी में कोटद्वार-कलालघाटी-कण्वाश्रम होते हुए आवाजाही और व्यापारिक गतिविधियां चलती थी। इसकी महत्ता को देखते पौड़ी जिला पंचायत ने कण्वाश्रम से मरणखेत-सिमलना होते हुए पौखाल तक छह फुटी पैदल और अश्व मार्ग का निर्माण कराया। आजादी के 70 साल और उत्तराखंड बनने के 19 साल बीत गए, लेकिन क्षेत्रवासियों की इस पैदल मार्ग को मोटर मार्ग में तब्दील करने की मांग पूरी न हो सकी। कण्वाश्रम से सिमलना को जोड़ते हुए करीब दस किमी मोटर मार्ग निर्माण की यह मांग मुख्यमंत्री की घोषणा में भी शामिल है, लेकिन सड़क पर संयुक्त सर्वे से आगे बात नहीं बढ़ सकी।
कण्वाश्रम-पौखाल पैदल मार्ग भी बदहाल
शिक्षाविद् जीएल केष्टवाल, अशोक गौड़, दिनेश गौड़, चंद्रमोहन बिंजोला, श्यामसुंदर कंडवाल का कहना है कि अस्सी के दशक में तत्कालीन पर्वतीय विकास मंत्री चंद्रमोहन सिंह नेगी ने इस संपर्क मार्ग को मोटर मार्ग में तब्दील करने के लिए आधारशिला रखी थी। उत्तराखंड बनने के बाद सरकार ने इस मार्ग की सुध तो ली, लेकिन इसे कण्वाश्रम से शुरू करने के बजाय पौखाल से नीचे की ओर बनाना शुरू कर दिया गया। जिसमें करीब 13 किमी सड़क चूना महेड़ा तक बनकर तैयार हो चुकी है, लेकिन इससे आगे यह कण्वाश्रम तक पहुंचेंगी भी या नहीं कुछ पता नहीं। आज भी क्षेत्रवासी जान जोखिम में डालकर इस मार्ग से आवाजाही कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि सड़क बन जाती तो अजमीर और लंगूर पट्टी के कई गांवों की गढ़वाल के प्रवेश द्वार कोटद्वार और भाबर से सड़क दूरी एक तिहाई से भी कम हो जाएगी।
पौखाल-कण्वाश्रम मार्ग ऊपर से नीचे की ओर करीब साढ़े तेरह किमी बन चुका है। अब कण्वाश्रम से मथाणा की ओर दस किमी मार्ग का संयुक्त सर्वे किया जा रहा है। करीब साढ़े किमी क्षेत्र लैंसडौन वन प्रभाग में जबकि इससे आगे का क्षेत्र सिविल वन में पड़ता है। वन विभाग के साथ संयुक्त सर्वे हो चुका है, अब आगे के लिए राजस्व विभाग के साथ सर्वे प्रस्तावित है। इसके बाद ही वन भूमि हस्तांतरण की पत्रावलियां तैयार की जाएंगी।
-निर्भय सिंह, ईई लोनिवि दुगड्डा।
... और पढ़ें

घाड़ और पौखाल क्षेत्र में वन विभाग बनाएगा 610 मीटर सुअर रोधी दीवार

लैंसडौन वन प्रभाग के अंतर्गत दुगड्डा ब्लॉक के घाड़ और पौखाल क्षेत्र के काश्तकारों को जल्द ही जंगली सुअरों से निजात मिलेगी। लैंसडौन वन प्रभाग ने काश्तकारों की फसलों को बचाने और पर्वतीय क्षेत्रों में खेतों में धमक रहे जंगली जानवरों पर अंकुश लगाने के लिए सुरक्षा दीवार बनाने की योजना तैयार की है। शुरुआत में सात गांवों में करीब डेढ़ लाख रुपये की लागत से सुरक्षा दीवार का निर्माण कराया जा रहा है।
लैंसडौन वन प्रभाग से सटे घाड़ क्षेत्र के पुलिंडा, गोजटा, बल्ली, कांडई और पौखाल क्षेत्र के अंतर्गत केष्टा, सिमलना, कोटड़ीधार आदि ग्रामीण क्षेत्रों में जंगली सुअरों से काश्तकार परेशान हैं। जंगली सुअर खेतों में घुसकर फसल चौपट कर रहे हैं। लैंसडौन वन प्रभाग ने खेती से विमुख हो रहे किसानों की मांग पर जंगल के नजदीक खेतों की सुरक्षा के लिए योजना बनाई है। विभाग की ओर से पुलिंडा और गोजटा में 210 मीटर, बल्ली और कांडई में 210 मीटर और पौखाल क्षेत्र के अंतर्गत केष्टा, सिमलना और कोटड़ीधार में 210 मीटर कुल 630 मीटर सुरक्षा दीवार बनाने के लिए कार्य योजना तैयार की गई है। वन विभाग की ओर से सुअर रोधी सुरक्षा दीवार के निर्माण के लिए टेंडर की प्रक्रिया भी पूरी कर ली गई है।
काश्तकार रोशन सिंह, भरत सिंह, मनोज सिंह, विक्रम सिंह, धीरज सिंह ने बताया कि पूर्व में घाड़ और पौखाल क्षेत्र सब्जी और उत्पादन का हब हुआ करता था। गांव के खेतों में चौतरफा फसल लहलहाती थी। लेकिन, कुछ सालों से जंगली सुअर और बंदर उनकी खेती को तबाह कर रहे हैं। जंगली जानवरों के चलते काश्तकार पारंपरिक खेती से भी विमुख होने लगे थे। यह योजना काश्तकारों के लिए उपयोगी सिद्ध होगी।
करीब डेढ़ लाख रुपये की लागत से 610 मीटर सुअर रोधी दीवार के निर्माण के लिए टेंडर हो चुके हैं। कार्यदायी संस्थाओं को कार्य पूरा करने के लिए 45 दिन का समय दिया गया है। शीघ्र ही कार्य शुरू कर दिया जाएगा।
- जीसी बेलवाल, एसीएफ लैंसडौन वन प्रभाग
... और पढ़ें

समस्याएं गंभीरता से करें हल करें अधिकारी: विधायक

तहसील में आयोजित बहुउद्देशीय शिविर में फरियादियों ने 174 शिकायतें दर्ज कराई। सीएमओ और मनोचिकित्सक के शिविर में नहीं पहुंचने पर लोगों के प्रमाणपत्र नहीं बन सके।
मंगलवार को जिलाधिकारी पौड़ी धीराज सिंह गर्ब्याल की अध्यक्षता में आयोजित बहुउद्देशीय शिविर का विधायक ऋतु खंडूड़ी भूषण ने शुभारंभ किया। उन्होंने अधिकारियों को समस्याएं गंभीरता से हल करने के निर्देश दिए। शिविर में में एसबीआई भृगुखाल की 25 किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) के फार्म, अलकनंदा ग्रामीण बैंक यमकेश्वर की 185 केसीसी फार्म , होम स्टे के अन्तर्गत 26 रजिस्टेशन फार्म भरे गए। उद्योग विभाग ने 69 फार्म वितरित किए गए। सहकारिता विभाग की और से प. दीनदयाल योजना के बारे में लोगों को जानकारी दी गई। कृषि विभाग की ओर से 175 केसीसी की गई। श्रम विभाग के अंतर्गत 44 आवेदन फार्म वितरित किए गए। आयुर्वेदिक स्वास्थ्य विभाग के द्वारा 120 और स्वास्थ्य विभाग यमकेश्वर के द्वारा 22 मरीजों के स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। समाज कल्याण विभाग के अंतर्गत दो शिकायतें दर्ज की गई। साथ ही पेंशनों के 33 आवेदन पत्र वितरित किए गए। आयुष्मान योजना के 7 गोल्डन कार्ड बनाए गए। इसके अलावा परिवार रजिस्टर के 53, आय प्रमाण पत्र के 19, स्थाई निवास प्रमाण पत्र के 15, और 05 चरित्र प्रमाण पत्र बनाए गए। 225 लोगों के द्वारा खाता खतोनी की नकल निकाली गई। इस अवसर पर ब्लाक प्रमुख आशा भट्ट, डीडीओ पौड़ी वेद प्रकाश, उपजिलाधिकारी श्याम सिंह राणा, तहसीलदार कैलाश चंद्र बिडालिया आदि उपस्थित थे।
... और पढ़ें

विद्यार्थी से समन्वय करें स्थापित, कठोर व्यवहार से बचें

पीजी कालेज, कोटद्वार में सीटीई कोटद्वार की ओर से उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल के माध्यमिक स्तर के अध्यापकों के लिए ‘कक्षा शिक्षण प्रबंधन’ विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में विद्यार्थी से समन्वय स्थापित करने, कक्षा शिक्षण के दौरान कठोर व्यवहार से बचने, विषय की तैयारी के साथ संप्रेषण पर भी ध्यान देने पर जोर दिया गया।
महाविद्यालय में आयोजित तीन दिवसीय कार्यशाला का शुभारंभ प्राचार्या डा. जानकी पंवार, बीएड विभाग के विभागाध्यक्ष, वरिष्ठ प्राध्यापक डा. डीएम शर्मा ने किया। प्राचार्या डा. जानकी पंवार ने कहा कि कक्षा प्रबंधन के साथ ही अध्यापकों को अपनी गरिमा बनाई रखनी जरूरी है। उन्होंने शिक्षकों से विद्यार्थियों के साथ मृदुल व्यवहार करने और सरलता से कक्षा शिक्षण में आने का आह्वान किया। बीएड विभाग की छात्राओं ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की। सीटीई के समन्वयक डा. अमित कुमार जायसवाल ने कार्यशाला की रूपरेखा प्रस्तुत की। इस मौके पर रिसोर्स पर्सन डा. निरंजना शर्मा, डा. स्वाति नेगी, डा. सुषमा थलेड़ी, डा. हितेंद्र कुमार आदि मौजूद रहे। प्रथम तकनीकी सत्र में डा. अमित कुमार जायसवाल ने कक्षा शिक्षण प्रबंधन के अर्थ, परिभाषा, नियम एवं विस्तार के विषय पर चर्चा की और प्रबंधन की आवश्यकता व प्रबंधन के 20 सिद्धांतों पर प्रकाश डाला। उन्होंने विद्यार्थी से समन्वय स्थापित करने, कक्षा शिक्षण के दौरान कठोर व्यवहार से बचने, विषय की तैयारी के साथ संप्रेषण पर भी ध्यान देने पर जोर दिया। द्वितीय सत्र में डा. स्वाति नेगी ने ‘कक्षा प्रबंधन व विद्यालय परिवेश’ विषय पर जानकारी दी। तृतीय सत्र में डा. डीएम शर्मा ने प्रबंधन के सिद्धांत, नियोजन, संगठन, स्टाफिंग, समन्वयन, निर्देशन एवं बजटिंग के बारे में बताया। सभी सत्रों के दौरान प्रतिभागियों की सभी शंकाओं व प्रश्नों पर चर्चा कर संतोषजनक उत्तर दिए गए। कार्यशाला में गढ़वाल मंडल के सात जिलों के माध्यमिक शिक्षक के साथ ही साथ बीएड के प्रथम वर्ष के प्रशिक्षणार्थी शिरकत कर रहे हैं।
... और पढ़ें

खूनीबड़ और जीवानंदपुर में तीन दिन से नहीं आया पानी

ट्यूबवेल फुुंक जाने से नगर निगम के खूनीबड़ और जीवानंदपुर क्षेत्र में तीन दिनों से पेयजल आपूर्ति ठप है। लोगों को दूरस्थ क्षेत्रों से पानी ढोकर लाना पड़ रहा है।
भाबर क्षेत्र के जीवानंदपुर में सिंचाई विभाग के ट्यूबवेल से जीवानंदपुर और खूनीबड़ क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति की जाती है। रविवार को ट्यूबवेल की मोटर फुंक जाने से क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति ठप हो गई है। लोग तीन दिनों से पानी के लिए अन्य क्षेत्रों में भटक रहे हैं। कुलदीप सिंह रावत, सपना नेेगी, जय भट्ट, राकेश कुमार ने कहा कि सिंचाई विभाग ने अभी तक ट्यूबवेल की मरम्मत नहीं कराई है। पेयजल आपूर्ति के लिए जलसंस्थान के अधिकारियों को पानी के टैंकरों के लिए कहा जा रहा है, लेकिन क्षेत्र में पेयजल की वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की जा रही है। सैकड़ों की आबादी पानी के लिए दुर्गापुरी और उमरावनगर आदि दूर दराज के क्षेत्रों से पानी ढोने को मजबूर है। उधर, जलसंस्थान की जेई प्रीति ले बताया कि जीवानंदपुर स्थित ट्यूबवेल सिंचाई विभाग का है। सिंचाई विभाग के अधिकारियों को ट्यूबवेल की मरम्मत शीघ्र शुरू करने के लिए कहा गया है। क्षेत्र में टैंकरों से पेयजल सप्लाई कराने के निर्देश दिए गए हैं।
... और पढ़ें

जागरूक रहें व हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनें महिलाएं: विजया बड़थ्वाल

द्वारीखाल/कोटद्वार। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विजया बड़थ्वाल ने सोमवार को द्वारीखाल ब्लॉक सभागार में विभागीय अधिकारियों, महिला जनप्रतिनिधियों, आंगनबाड़ी व आशा कार्यकर्ताओं की बैठक ली। इस मौके पर उन्होंने महिलाओं का आह्वान किया कि वे हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनें और जागरूक रहें। उन्होंने महिलाओं से स्वरोजगार अपनाने और अपनी आर्थिकी को सुदृढ़ बनाने पर जोर दिया।
राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विजया बड़थ्वाल ने कहा कि महिलाएं पहाड़ की रीढ़ हैं। उन पर ही परिवार की सभी जिम्मेदारियां हैं। ऐसे में उन्हें स्वयं अपने पैरों पर खड़ा होने के लिए अपनी आर्थिकी सुदृढ़ करने की जरूरत है। कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार की ओर से महिला सशक्तीकरण के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं, जिनका लाभ उन्हें उठाना चाहिए। उन्होंने महिलाओं से अपने अधिकारों के प्रति सजग रहने और उत्पीड़न होने पर चुप्पी साधने के बजाय इसकी सूचना पुलिस को देने की अपील की।
एसडीएम अपर्णा ढौंडियाल ने महिलाओं को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहने का आह्वान किया। बीडीओ अतिया परवेज ने महिला स्वयं सहायता समूहों के बारे में जानकारी दी। उपखंड शिक्षा अधिकारी सुमेर सिंह कैंतुरा ने प्राथमिक और जूनियर हाईस्कूलों के बारे में अवगत कराया। सीओ अनिल जोशी ने महिला उत्पीड़न के मामलों की जानकारी दी। जिला बाल विकास परियोजना अधिकारी जितेंद्र कुमार ने विभाग के माध्यम से संचालित प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना, नंदा व गौरा योजना आदि के बारे में जानकारी दी। परियोजना निदेशक एसएम शर्मा ने विभाग से संबंधित जानकारियां दीं।
इससे पूर्व ब्लॉक प्रमुख महेंद्र सिंह राणा ने ब्लाक सभागार में पहुंचने पर उन्हें शॉल ओढ़ाकर और स्मृति चिह्न प्रदान कर सम्मानित किया। अध्यक्ष ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चैलूसैंण का भी निरीक्षण किया। प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. अभिलाष धारीवाल ने उन्हें चिकित्सालय की समस्याएं बताईं।
-फोटो
... और पढ़ें

रिखणीखाल और धुमाकोट के 15 हजार उपभोक्ताओं को मिलेगा लाभ: दलीप रावत

रिखणीखाल/कोटद्वार। ऊर्जा निगम के विद्युत वितरण खंड कोटद्वार की ओर से रिखणीखाल को नया विद्युत उपखंड बनाते हुए सोमवार को विद्युत सब स्टेशन भवन का शिलान्यास कर दिया गया। इस मौके पर लैंसडौन के विधायक दलीप रावत ने कहा कि अब रिखणीखाल और धुमाकोट के लोगों को स्यूंसी और जयहरीखाल के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। नए उपखंड से करीब 15 हजार उपभोक्ताओं को लाभ मिलेगा।
रिखणीखाल ब्लॉक के कोटा गांव में बतौर मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक दलीप रावत ने विद्युत सब स्टेशन और उपखंड कार्यालय का शिलान्यास के बाद शिलापट्ट का अनावरण किया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में विद्युत वितरण उपखंड कार्यालय खुलने से क्षेत्र के लोगों की विद्युत संबंधी समस्याओं का यहीं पर निस्तारण होगा। उन्हें जयहरीखाल और स्यूंसी कार्यालय के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार गांवों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए जहां लोगों को आर्थिकी बढ़ाने के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही हैं, वहीं मूलभूत स़ुविधाएं भी जुटाई जा रही हैं। विद्युत वितरण खंड कोटद्वार के अधिशासी अभियंता रघुराज सिंह ने बताया कि सब-स्टेशन और उपखंड कार्यालय के निर्माण के लिए 45 लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं। अप्रैल से रिखणीखाल में अलग एसडीओ की तैनाती कर दी जाएगी। जयहरीखाल के एसडीओ को वहां का अतिरिक्त कार्यभार दिया गया है, जो वहां पर सप्ताह में दो दिन बैठेंगे।
ग्राम पंचायत कोटा की प्रधान मीनाक्षी देवी की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में मंडल अध्यक्ष गिरीश देवरानी, पूर्व जिला पंचायत सदस्य संपत सिंह नेगी, जिला महामंत्री जंग बहादुर सिंह रावत, राकेश देवरानी, सतेंद्र सिंह रावत, विधायक प्रतिनिधि गोपाल रावत, अनिल हेमदानी, गोविंद सिंह बिष्ट, पुष्पा देवी, नागेंद्र सिंह, महेंद्र सिंह, चंद्रशेखर, जेपी ध्यानी, कमलेश कोटनाला व दिनेश रावत आदि मौजूद रहे।
-फोटो
... और पढ़ें

हमलावर खननकारियों पर कार्रवाई न होने से भड़की समिति और पूर्व सैनिक

कोटद्वार। भाबर के गोरखपुर निवासी पूर्व सैनिक व कण्व योग समिति के अध्यक्ष नीरज नेगी पर गत पांच फरवरी की शाम खननकारियों के हमले में नामजद रिपोर्ट किए जाने के बाद कोई कार्रवाई न होने से समिति और पूर्व सैनिक भड़के हुए हैं। समिति और पूर्व सैनिक संगठनों की यहां हुई बैठक में पौड़ी जिला एवं पुलिस प्रशासन केे हमलावर खननकारियों पर जल्द कार्रवाई न करने पर कोटद्वार में जुलूस, धरना और प्रदर्शन की चेतावनी दी गई है।
गोरखपुर में महर्षि कण्व योग समिति, पूर्व सैनिक संगठन और सामाजिक संस्थाओं की संयुक्त बैठक में पदाधिकारियों ने कहा कि गत पांच फरवरी की शाम को अवैध खननकारियों ने पूर्व सैनिक नीरज नेगी का पीछा किया और उनकी कार में तोड़फोड़ की। इस मामले की छह फरवरी को एफआईआर की गई। हमलावरों में पहचाने गए एक व्यक्ति को नामजद किया गया। घटना के 10 दिन बाद कोतवाली पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई, जिससे पूर्व सैनिकों और समिति के सदस्यों ने गहरा रोष जताया। चेतावनी दी गई कि जल्द पूरे क्षेत्र के पूर्व सैनिक और योग समिति के लोग कोटद्वार की सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करेंगे।
बैठक में पूर्व सैनिक संगठन के उपाध्यक्ष प्रमोद रावत, बृजमोहन सिंह नेगी, ओमप्रकाश जखमोला, सुरेंद्र दत्त डबराल, डीएन जोशी, शांति थापा, शिब्बी नेगी, विजय सिंह रावत, दिनेश थापा, राजीव घिल्डियाल, अनिता रावत, भारत सिंह रावत, टीएन भट्ट, जगमोहन सिंह राणा, राकेश बिड़ला, सोहनलाल भारद्वाज, देवेंद्र सिंह बिष्ट, रश्मि नेगी, सीमा नेगी व किरन गौड़ आदि मौजूद रहे।
फोटो समाचार
घराट रोड पर 12 फरवरी को रेंजर पर किया था हमला
कोटद्वार। कोटद्वार क्षेत्र में अवैध खननकारियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि वे वन अधिकारियों और कर्मचारियों को भी नहीं बख्श रहे हैं। गत 12 फरवरी की रात जब कोटद्वार के रेंज अधिकारी बीबी शर्मा वन आरक्षी महेंद्र सिंह, वन आरक्षी भूपेंद्र सिंह और चालक राकेश सिंह के साथ पनियाली से रात्रि गश्त कर रहे थे, तभी घराट रोड पर सुखरौ नदी क्षेत्र में कार सवार खननकारियों ने उनके वाहन में पत्थर बरसा दिए। वन कर्मियों की तहरीर पर एक के खिलाफ नामजद रिपोर्ट की गई, लेकिन इस मामले में भी पुलिस के हाथ खाली हैं। इससे वन कर्मियों में आक्रोश है।
... और पढ़ें

गेहूं के खेत सूखने की कगार पर

सिंचाई विभाग की लापरवाही ने नगर निगम के चार वार्डों के किसानों के माथे पर चिंता की लकीर खींच दी है। दो माह से दाईं खोह सिंचाई नहर क्षतिग्रस्त होने के कारण क्षेत्र के खेतों में पानी नहीं आ रहा है, जिससे गेहूं की फसल सूखने की कगार पर है।
सिद्धबली के पास से आने वाली दाई खोह नहर से नगर निगम क्षेत्र के बालासौड़, हरिसिंहपुर, कौड़िया, बलभद्रपुर आदि क्षेत्रों के खेतों में सिंचाई होती है। गत दिसंबर में गाड़ीघाट के पास दाईं खोह नहर का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त होने के कारण क्षेत्र में सिंचाई व्यवस्था ठप हो गई है।
किसान नेता पातीराम ध्यानी, विद्यादत्त गौड़, मदन रावत, विजय ध्यानी, संजय रावत ने सिंचाई विभाग पर खेतों के लिए पानी उपलब्ध नहीं कराने का आरोप लगाया। कहा कि दो महीने से नहर क्षतिग्रस्त हो रखी है, लेकिन सिंचाई विभाग हाथ पर हाथ धरे बैठा है। कहा कि खेतों में गेहूं की बाली निकलने वाली है,ऐसे में अगर खेतों को पानी नहीं मिला तो फसल खराब हो सकती है। उधर, सिंचाई विभाग के जेई केके राज ने बताया कि नहर का पुश्ता टूट गया था, जिसकी मरम्मत कराई जा रही है।
... और पढ़ें

लैंसडौन व घाड़ क्षेत्र के कई गांव होंगे डीडीए में शामिल

नगर निगम सहित पूरे जिले में जहां एक ओर जिला विकास प्राधिकरण (डीडीए) का विरोध हो रहा है, वहीं जिला प्रशासन की ओर फतेहपुर से लैंसडौन तक के 11 राजस्व ग्राम, कोटद्वार तहसील के अंतर्गत घाड़ क्षेत्र के गोजटा, पुलिंडा, रामड़ी, चरेख और यमकेश्वर तहसील में नीलकंठ, गंगाभोगपुर और धुमाकोट को इसमें शामिल करने की योजना बनाई जा रही है। लैंसडौन में एक अतिरिक्त क्षेत्रीय कार्यालय भी खोला जा रहा है।
जनवरी 2018 में जिला मुख्यालय में जिला विकास प्राधिकरण ने कार्य करना प्रारंभ कर दिया। साथ ही जनपद के शहरों व ग्रामीण क्षेत्रों के विकास की महायोजना भी तैयार की गई। साथ ही कोटद्वार, थलीसैंण व यमकेश्वर तहसील में जिला विकास प्राधिकरण के क्षेत्रीय कार्यालय स्थापित किए गए। पूर्व में जहां कोटद्वार नगर निगम, एनएच और स्टेट हाइवे के दो सौ मीटर का ही क्षेत्र जिला विकास प्राधिकरण के दायरे में है, वहीं अब डीडीए की नजर उन क्षेत्रों पर है जो तेजी से विकसित हो रहे हैं। घाड़ क्षेत्र, लैंसडौन, यमकेश्वर तहसील में नीलकंठ और धुमाकोट तहसील में इस दौरान कई होटल और ढाबे विकसित हुए हैं। डीडीए द्वारा इन क्षेत्रों को प्राधिकरण में शामिल कर सरकारी आमदनी को बढ़ाने के साथ ही अनियोजित विकास पर भी रोक लगाना है। संगठनों का आरोप है कि डीडीए में नक्शा पास कराने के लिए लोगों को जटिल प्रक्रिया से गुजरना पड़ रहा है। उधर, एसडीएम योगेश मेहरा ने बताया कि डीडीए बोर्ड बैठक में इस संबंध में प्रस्ताव पास हो चुका है। संबंधित क्षेत्रों में तत्काल प्रभाव से डीडीए लागू किया गया है।
... और पढ़ें

तबादलों में दोहरी नीति अपनाने पर आक्रोश

राजकीय शिक्षक संघ की बैठक में प्रतिनिधियों ने शिक्षकों के दांपत्य नीति के तहत तबादलों पर दोहरी नीति अपनाए जाने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने सरकार से सभी शिक्षकों के लिए एक समान मानक रखने की मांग की है।
रविवार को संगठन कार्यालय में आयोजित बैठक की अध्यक्षता जिलामंत्री मनमोहन सिंह चौहान ने की। उन्होंने कहा कि दांपत्य नीति के तहत पिछले माह बेसिक व जूनियर स्तर पर शिक्षकों के स्थानांतरण किए गए, लेकिन माध्यमिक स्तर पर पद रिक्त न होने का बहाना बनाकर अड़चन पैदा करना ठीक नहीं है। कहा कि विगत वर्ष एक्ट के अनुसार सीमांत जिलों में कार्यरत शिक्षकों के स्थानांतरण सुगम में किए गए थे, लेकिन इन जिलों में शिक्षकों में कमी के कारण उनको कार्यमुक्त नहीं किया गया था। बैठक में बोर्ड परीक्षाओं में शिक्षकों की नियुक्ति नजदीकी विद्यालयों में लगाने, प्रभारी प्रधानाचार्यों को आहरण वितरण का अधिकार देने, विभिन्न संवर्गों में पदोन्नति किए जाने समेत विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की गई।
बैठक में राजेंद्र कुमार भंडारी, मुकेश रावत, अब्बल सिंह, आशीष खर्कवाल, डब्बल सिंह, रवींद्र रावत, पंकज ध्यानी, रतन बिष्ट, जगदीश जोशी, अतुल कुकरेती, भारत सिंह नेगी, सुमनलता रावत, कांता रावत आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

विस चुनाव में महाविजय के लिए एकजुटता का आह्वान

भाजपा कोटद्वार नगर मंडल की बैठक में जिला कार्यकारिणी में शामिल पदाधिकारियों का स्वागत किया गया। बैठक में 2022 के विधानसभा चुनाव में पार्टी की महाविजय के लिए सभी से एकजुट होकर कार्य करने का आह्वान किया गया।
रविवार को व्यापार मंडल सभागार में नगर मंडल अध्यक्ष सुनील गोयल की अध्यक्षता में बैठक हुई। नवनिर्वाचित जिला मंत्री जंग बहादुर सिंह रावत, मंजू जखमोला और ममता देवरानी थपलियाल का स्वागत किया गया। जिला मंत्री जंग बहादुर रावत ने कहा कि प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर होने वाले कार्यक्रमों को सर्वस्पर्शी और सर्वव्यापी बनाया जाएगा। जिला मंत्री मंजू जखमोला और ममता देवरानी थपलियाल ने भी पार्टी संगठन को मजबूती प्रदान करने और हर मोर्चे पर ईमानदारी से कार्य करने की बात कही। पूर्व जिला महामंत्री वीरेंद्र रावत ने जिला मंत्री का दायित्व हस्तगत करते हुए पार्टी संगठन को पूरा सहयोग करने का भरोसा दिया। इस मौके पर पूर्व भाबर मंडल अध्यक्ष मुकेश नेगी, मानेश्वरी बिष्ट, पंकज भाटिया, पूनम थपलियाल, अनिल बहुगुणा, अर्चना शर्मा, शशि नैनवाल, मीनू खान, कुलदीप रावत, हरीश खर्कवाल, विनय शर्मा, कृष्णा नेगी, रामकुमार अग्रवाल, राकेश मित्तल, सुरेंद्र बिजल्वाण, जितेंद्र नेगी, राजेश चौधरी आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us