विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

IMA POP 2019: अंतिम पग पार कर देश रक्षा में समर्पित हुए 306 जांबाज, गौरवान्वित कर देंगी ये तस्वीरें

भारतीय सैन्य अकादमी में पासिंग आउट परेड के बाद आज भारतीय सेना को 306 जांबाज अफसर मिल गए हैं।

7 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

पौड़ी

शनिवार, 7 दिसंबर 2019

मुख्यालय पौड़ी में गरजी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता

मंडल मुख्यालय पौड़ी में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता जमकर गरजे। उन्होंने केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। उन्होंने न्यूनतम मानेदय 18 हजार रुपए किए जाने सहित
विभिन्न मांगों के समाधान की मांग की। कहा कि वे वर्षों से मांगों के निराकरण की गुहार लगा रहे हैं लेकिन अभी तक कोई ठोस कार्रवाई अमल नहीं लाई गई है।
सोमवार को मुख्यालय पौड़ी में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सेविका, मिनी कर्मचारी संगठन के आह्वान पर रैली निकाली गई। जिसमें जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सेविकाएं व मिनी कर्मचारियों ने शिरकत की। रैली बस अड्डे से शुरु हुई। जो माल रोड़, एजेंसी चौक, अपर बाजार होते हुए जिलाधिकारी कार्यालय पहुचीं। कार्यकर्ताओं ने सांकेतिक प्रदर्शन करते हुए केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सेविका एवं मिनी कर्मचारी संगठन की प्रदेश संगठन मंत्री मीनाक्षी रावत ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार लगातार आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की मांगों की अनदेखी करती आ रही है। जिससे कार्यकर्ताओं को भारी परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा दिए गए मोबाइल फोन भी परेशानी का सबब बने हुए हैं। कार्यकर्ताओं ने न्यूनतम मानदेय 18 हजार रुपए करने, मोबाइल फोन वापस लिए जाने, यात्रा भत्ता देने के अलावा आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को ग्रीष्मकालीन व शीतकालीन अवकाश दिए जाने की मांग की। इस मौके पर अर्चना रमोला, मीना नेगी, विमला
पोखरियाल, गंगोत्री, अनीता, गीता गुसांई, रेखा, हेमलता, ऊषा देवी, शशि नेगी, लक्ष्मी देवी, रेखा उनियाल आदि शामिल थे।
... और पढ़ें

श्रीनगर, पौड़ी व श्रीकोटवासी नहीं झेलेंगे पानी की समस्या

अगले वर्ष जनवरी माह में दो बहुप्रतिक्षित पेयजल योजनाओं से जनता को पानी मिलने लगेगा। 110 बस्तियों को आच्छादित करने वाली ढिक्वालगांव-खिर्सू पेयजल योजना का लोकार्पण आगामी एक जनवरी को प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत करेंगे। जबकि एएचपीसीएल वित्त पोषित श्रीनगर-पौड़ी वैकल्पिक स्रोत पेयजल योजना से गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) से पेयजल आपूर्ति का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना से श्रीनगर, पौड़ी व श्रीकोट को पानी मिलेगा।
पेयजल योजनाओं की प्रगति के संबंध में राज्य मंत्री व क्षेत्रीय विधायक डा. धन सिंह रावत ने प्रशासन, पुलिस और पेयजल विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पूर्व में श्रीनगरवासियों ने पानी के मीटरों में गड़बड़ी की शिकायत की थी। बिल ज्यादा आ रहे हैं। वहीं श्रीनगर के मॉडल को सफल मानते हुए पूरे प्रदेश में मीटर आधारित बिल प्रणाली शुरू की जा रही है। उन्होंने जल संस्थान के अधिकारियों को पालिका के साथ मिलकर प्रत्येक वार्ड में जाकर उपभोक्ताओं को मीटर की जानकारी देने के निर्देश दिए। ताकि उनके मन से भ्रांति दूर हो सके। जल संस्थान के ईई एसएन गुप्ता ने बताया कि प्रत्येक माह उपभोक्ता को 10 हजार लीटर मुफ्त पानी दिया जा रहा है। इससे ऊपर की रीडिंग में पानी का मूल्य लिया जाता है। साथ ही जिस उपभोक्ताओं की शिकायत है, तो उसको प्रतिदिन की खपत दिखाई जाती है। पेयजल निगम देवप्रयाग के ईई आरएस बिष्ट ने बताया कि यदि सुपाणा का विवाद सुलझ जाए तो, विभाग 30 दिसंबर तक पाइप लाइन बिछा दी जाएगी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश के बावजूद एएचपीसीएल डीएसबी (डी सिल्ट बेसिन) से कनेक्शन नहीं दे रहा है। इससे नाराज धन सिंह ने कहा कि यदि कंपनी नहीं मानती है, तो दोनों जिलों की पुलिस फोर्स भेजी जाएगी। एएचपीसीएल के अधिकारी ने बताया कि 15 से 20 जनवरी के बीच डीएसबी में कनेक्शन के लिए छेद कर दिया जाएगा। जिस पर मंत्री ने 26 जनवरी तक पाइप लाइन पर पानी चालू करने के निर्देश दिए।
... और पढ़ें

गढ़वाल विवि दीक्षांत समारोह: 418 छात्र-छात्राओं को मिली डिग्री, बेटियों ने जीते सबसे ज्यादा गोल्ड मेडल

एचएनबी गढ़वाल विवि के दीक्षांत समारोह में स्वर्ण पदक हासिल करने में इस बार भी बेटियां आगे रहीं। 45 स्वर्ण पदकों में से 39 स्वर्ण पदक बेटियों को मिले। गत वर्ष के दीक्षांत समारोह में भी बेटियां सोना झटकने में आगे रही थीं।

गत वर्ष 57 में से 44 स्वर्ण पदक बेटियों ने हासिल किए थे। बेटियों की सफलता पर मानव संसाधन विकास मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी प्रफुल्लित नजर आए। उन्होंने बेटियों को बधाई देते हुए देश-प्रदेश का नाम रोशन करने का आह्वान किया। 

रविवार को स्वामी मनमंथन प्रेक्षागृह में संपन्न गढ़वाल विवि के सातवें दीक्षांत समारोह में छात्राएं स्वर्ण पदक लेने में आगे रही। जहां विवि के 45 में से 39 स्वर्ण पदक छात्राओं के हिस्से में गए, वहीं दानदाताओं की ओर से दिए गए 15 में से 14 स्वर्ण पदक भी छात्राओं को मिले।
... और पढ़ें

शहर में समस्याओं का लगा अंबार, कुछ तो करो सरकार

पौड़ी। प्रगतिशील जनमंच ने श्रीनगर शहर में चिकित्सा, पेयजल, रोडवेज बस डिपो जैसी विभिन्न समस्याओं का समाधान नहीं किए जाने पर कड़ा आक्रोश जताया है। मुख्यालय पौड़ी में सांकेतिक प्रदर्शन कर जनमंच ने जल्द समस्याओं का समाधान नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।
शुक्रवार को जनमंच के कार्यकर्ता, पदाधिकारी व श्रीनगर निवासी बड़ी संख्या में मुख्यालय पौड़ी पहुंचे। उन्होंने जिलाधिकारी कार्यालय परिसर में सांकेतिक प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि श्रीनगर शहर के लोग विभिन्न समस्याओं से जूझ रहे हैं, लेकिन प्रदेश सरकार व प्रशासन इन समस्याओं को गंभीरता से नहीं ले रहा है। जनमंच के अध्यक्ष अनिल स्वामी ने कहा कि श्रीनगर में जल संस्थान ने पेयजल कनेक्शनों पर 24 घंटे जलापूर्ति के नाम पर मीटर लगाए हैं, लेकिन इनकी गुणवत्ता खराब होने के चलते पानी निर्धारित समय में आता है और बिलों में बेतहाशा वृद्धि हुई है। स्वामी ने कहा कि इन मीटरों की गुणवत्ता की जांच की जाए। मंच की महिला संयोजक रेखा अग्रवाल ने कहा कि श्रीनगर शहर के लोग वर्षों से गंदा पानी पीने को मजबूर हैं। परिवहन विभाग का बस डिपो कर्मचारियों व अधिकारियों की कमी से जूझ रहा है। सामाजिक कार्यकर्ता अरुण कुकसाल ने कहा कि मेडिकल कालेज श्रीनगर से संबद्ध बेस अस्पताल में अव्यवस्थाएं हावी हैं। यहां चिकित्सकों की कमी बनी हुई है। प्रगतिशील जनमंच के कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल को ज्ञापन सौंप समस्याओं के समाधान की मांग की। इस अवसर पर मुकेश अग्रवाल, अतुल सती, कूपर सिंह, हृदयराम कोटनाला, बसना कुमार, रामेश्वरी भंडारी, भरोसा सिंह गुसाईं, कमला देवी, बीरा देवी, यशोदा खंडूड़ी, सुनीता कोटियाल व अनीता रावत आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

देश व प्रदेश में भाजपा के कुशासन से त्रस्त है जनता: शर्मा

पौड़ी। गढ़वाल मंडल मुख्यालय पौड़ी में महंगाई के खिलाफ कांग्रेसियों ने धरना दिया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि व बिहार कांग्रेस कमेटी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा ने केंद्र व प्रदेश सरकार पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि देश व प्रदेश भाजपा के कुशासन से त्रस्त है। जनता 2022 के उत्तराखंड विधानसभा और 2024 के लोस चुनावों में भाजपा को करारा जवाब देगी। उन्होंने कार्यकर्ताओं से 14 दिसंबर को दिल्ली में आयोजित भारत बचाओ आंदोलन में बड़ी संख्या में शिरकत करने का आह्वान किया।
शुक्रवार को मुख्यालय पौड़ी में जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर कांग्रेसियों ने धरना दिया। उन्होंने महंगाई व बेरोजगारी पर केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। कार्यक्रम में वरिष्ठ कांग्रेस नेता मनीष खंडूड़ी ने कहा कि उत्तराखंड में चिकित्सा व शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह पटरी से उतर चुकी है। मंडल मुख्यालय पौड़ी में भी चिकित्सा व्यवस्था बदहाल है। पूर्व विधायक गणेश गोदियाल ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने जनभावनाओं पर कुठाराघात करने का काम किया है। अब महंगाई, बेरोजगारी, महिला सुरक्षा सरकार के लिए मुद्दे नहीं रहे। इस दौरान जिपं सदस्य संजय डबराल, कुलदीप रावत, मुकेश बिष्ट, पूर्व प्रमुख कोट नवल किशोर, प्रमुख पाबौ डा. रजनी रावत, जिला प्रवक्ता उमा चरण बड़थ्वाल, रघुवीर बिष्ट, कविंद्र ईष्टवाल व प्रदेश प्रवक्ता अद्वैत बहुगुणा ने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन हुकुम सिंह कठैत ने किया। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष कामेश्वर राणा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष केशर सिंह नेगी, सरिता नेगी, गोदांबरी रावत, नीलम रावत, राजेंद्र शाह, मनोहर लाल, छात्रसंघ अध्यक्ष आस्कर रावत, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष गौरव सागर, नगर अध्यक्ष विनोद बिष्ट व प्रमुख पौड़ी दीपक कुकसाल आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

दुष्कर्म के खिलाफ मुहीम में खड़ी हुई जीजीआईसी की छात्राएं

पौड़ी। बीजीआर परिसर पौड़ी के छात्रों की डेथ पेनल्टी फॉर रेप मुहिम जोर पकड़ने लगी है। बीजीआर परिसर से शुरू किए अभियान को जीजीआईसी की छात्राओं का साथ मिल गया है। छात्रों का कहना है कि सरकार को दुष्कर्म के दोषियों को कड़ी सजा दिए जाने के लिए कठोर कानून बनाने होंगे।
बीजीआर परिसर के छात्रों ने जीजीआईसी पौड़ी में डेथ पेनल्टी फॉर रेप अभियान चलाया। अभियान में विद्यालय की 50 से अधिक छात्राएं जुड़ीं। छात्राओं ने कहा कि सरकार को महिला सुरक्षा के लिए ठोस कानून बनाना होगा। छात्रा साक्षी, रिया, गुंजन, मनीषा व निधि ने कहा कि सरकार एक ओर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे लोकलुभावन नारे दे रही है, वहीं दूसरी ओर समाज को हैदराबाद, कठुवा जैसी दुष्कर्म की घटनाएं खोखला बना रही हैं। कहा कि हमारे देश का कानून मजबूत होता तो ऐसी घटनाएं नहीं दोहराई जातीं। बीजीआर के छात्र मोहित सिंह, अंकित सुंदरियाल, आकाश रावत, आशीष नेगी व जगमोहन ने कहा कि अभियान में छात्राओं को जोड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि अभियान के प्रत्येक दिन का पत्र प्रधानमंत्री मोदी को भी भेजा जा रहा है।
... और पढ़ें

जीडीपी व्यवस्था नहीं बताती किसानों का योगदान

पर्यावरणविद पद्मश्री डा. अनिल जोशी का कहना है कि वह जीडीपी प्रणाली को पसंद नहीं करते हैं। क्योंकि जीडीपी देश के चुनिंदा उद्योपतियों की प्रगति रिपोर्ट को प्रदर्शित करती है। यह व्यवस्था किसानों की बात नहीं करती है। यदि खेती नहीं रहेगी, तो रुपये-पैंसों का क्या करना है।
डा. जोशी पंडित मदन मोहन मालवीय राष्ट्रीय मिशन शिक्षक एवं शिक्षण योजना के तहत शिक्षा संकाय की ओर से शिक्षकों के लिए आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि गोष्ठियों के बजाय फील्ड में जाकर विकास की बात करनी चाहिए। हमारे देश में ऐसा होता है कि विदेश से फतवा जारी होता है और उस पर काम करने को कहा जाता है। यह परिपाटी रुकनी चाहिए। जोशी ने कहा कि पहाड़ में बहुत कुछ होता है, लेकिन पहाड़वासियों को इसका लाभ नहीं मिल पाता है। पानी हो या मिट्टी, सबका फायदा कोई और उठा रहा है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुलपति प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल ने कहा कि क्षेत्रीय विकास क्षेत्रीय लोगों से ही संभव है। पर्यावरण संसाधनों के अति दोहन से भविष्य में विश्व स्तर पर संकट पैदा होना तय है। शिक्षा विभागाध्यक्ष प्रो. पीके जोशी ने कहा कि भारत ऐसा देश है, जहां पृथ्वी को पूजा जाता है। संयोजक प्रो. रमा मैखुरी ने कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। संचालन डा. आशु रौलेट ने किया।
... और पढ़ें

हिमालय क्षेत्र में मछलियों की उन्नत प्रजाति करेंगे पैदा

एचएनबी गढ़वाल विवि के जंतु एवं जैव प्रौद्योगिकी विभाग और भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईसीएआर) के एनबीएफजीआर (राष्ट्रीय मत्स्य अनुवांशिक संसाधन ब्यूरो) लखनऊ के बीच शोध कार्यों के लिए एमओयू (अनुबंध) हो गया है। दोनों संस्थान हिमालय क्षेत्र में मछलियों की उन्नत प्रजाति विकसित करने के साथ ही मत्स्य पालन को रोजगार का साधन बनाने के लिए एक साथ काम करेंगे।
बृहस्पतिवार को गढ़वाल विवि और एनबीएफजीआर के बीच एमओयू हुआ। इस दौरान हुई गोष्ठ का शुभारंभ मुख्य अतिथि एनबीएफजीआर के निदेशक डा. कुलदीप के लाल, गढ़वाल विवि की कुलपति प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल और डीन लाइफ साइंस प्रो. आरपी भट्ट ने किया। डा. लाल ने एनबीएफजीआर उन्नत प्रजाति की मछलियों के बीज तैयार करने के साथ ही मछलियों के संवर्धन और संरक्षण के लिए काम कर रहा है। पहाड़ के क्षेत्र में गढ़वाल विवि के साथ मिलकर काम को आगे बढ़ाया जाएगा।
कुलपति प्रो. नौटियाल ने कहा कि एनबीएफजीआर के साथ एमओयू होना बड़ी उपलब्धि है। उम्मीद है कि दोनों संस्थान साथ मिलकर जनता के हित के लिए काम करेंगे। कार्यक्रम संयोजक प्रो. प्रकाश नौटियाल ने एमओयू के तहत होने वाले कार्यों से अवगत कराया। प्रो. मंजू गुसाईं ने विभाग के इतिहास पर प्रकाश डाला। एमओयू पर गढ़वाल विवि की कुलपति प्रो. नौटियाल व विभागाध्यक्ष प्रो. बीएस बिष्ट और एनबीएफजीआर की ओर से निदेशक डा. लाल व वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. गौरव राठौड़ ने हस्ताक्षर किए।
... और पढ़ें

बेस अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में दवाइयों का टोटा

राजकीय मेडिकल कॉलेज श्रीनगर के बेस अस्पताल में दवाइयों का टोटा हो गया है। लोगों का आरोप है कि अस्पताल के आपातकालीन विभाग में ग्लूकोज तक की बोतल बाहर से मंगवाई जा रही है। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक प्रो. केपी सिंह का कहना हैं कि आपातकालीन विभाग में एलपी (लोकल पर्चेचिंग) से दवाइयां खरीदी जा रही हैं।
बेस अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में अक्सर अव्यवस्थाओं की शिकायत मिलती रहती है। इस बार आपातकालीन वार्ड में मरीजों को दवा और कंबल न मिलने का मामला उठा है। वार्ड सभासद विभोर बहुुुगुणा ने बताया कि वार्ड में ग्लूकोज, दवा और सीरिंज तक बाहर से मंगवाई जा रही है। उन्होंने बताया कि गत शाम वह एक मरीज को लेकर वार्ड में गए, वहां मौजूद ने मरीज को कंबल भी नहीं दिया। जब इसकी शिकायत चिकित्सा अधीक्षक से की, तब सभी मरीजों को कंबल मिले।
इधर, बेस अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक प्रो. सिंह ने आपातकालीन वार्ड में दवाइयों की कमी की बात नकारी हैं। उन्होंने कहा कि शिकायत मिलने पर कंबल दे दी गई थी। उन्होंने कहा कि अस्पताल में ग्लूकोज का स्टॉक खत्म हो गया है, लेकिन इसका असर आपातकालीन वार्ड पर नहीं पड़ रहा है। वार्ड में बाजार से खरीदकर दवाइयां उपलब्ध कराई जा रही है।
... और पढ़ें

बलिदान पर आधारित नाटक नागानंदनम का मंचन

उत्तराखंड संस्कृत अकादमी की ओर से संस्कृत भाषा के प्रचार प्रसार एवं संस्कृत नाट्य विधा के संवर्द्धन के लिए महाकवि हर्ष द्वारा रचित नागानंदनम नाटक का शानदार मंचन किया गया।
बुधवार को उत्तराखंड अकादमी की ओर से नागानंदनम नाटक का उद्घाटन पालिकाध्यक्ष पूनम तिवाड़ी ने किया। नाटक के कथानक के अनुसार वृद्ध विद्याधर राजा जीमूतकेतु अपने युवा पुत्र जीमूतवाहन को राज्य सौंप कर तपोवन चले जाते हैं, जबकि जीमूतवाहन को राजपाट की अपेक्षा पितृसेवा में ही अधिक आनंद मिलता है। पितृ सेवा के लिए स्थान की खोज में वह अपने मित्र आत्रेय के साथ मलयांचल पर्वत पहुंचता है, जहां गौरी मंदिर में आई सिद्धराज की पुत्री मलयवती से मुलाकात के बाद मलयवती और जीमूतवाहन का विवाह हो जाता है। विवाह के बाद जब वह भ्रमण के लिए जाते हैं, तो देखते है कि शंखचूड़ नामक नाग की माता रो रही है। पूछे जाने पर उसने बताया कि हर दिन गरूड़ के भोजन के लिए एक नाग को भेजा जाता है। इसी क्रम में आज उसके इकलौते पुत्र की बारी है। जीमूतवाहन उसे बचाने के लिए अपना बलिदान करने को वधशिला पर बैठ जाता है। गरूड़ उसका वध कर देता है, लेकिन गरूड़ को जब पता चलता है कि जीमूतवाहन ने शंखचूड़ को बचाने के लिए अपना बलिदान दिया है, तो वह सभी नागों को जीवित करने के लिए स्वर्ग जाता है और सभी नाग जीवित हो जाते हैं। इस मौके पर कार्यक्रम अध्यक्ष दिनेश प्रसाद जोशी, पूर्व पालिकाध्यक्ष कृष्णानंद मैठाणी, हिमांशु अग्रवाल, रामचंद्र भट्ट, सहायक निदेशक संस्कृत शिक्षा वाजश्रवा आर्य, जगदीश प्रसाद सकलानी, गिरधर सिंह भाकुनी आदि मौजूद थे।
पात्रों की भूमिका में
अवनीश डिमरी, हर्षित भट्ट, यथार्थ पांडे, सुधांशु पंत, यशस्वी कौशिक, पंकज सेमवाल, सुमित भट्ट, सनी चौधरी व महिला पात्रों में श्वेता रावत, लक्ष्मी कनेरी, प्रीति रावत, खुशी बिष्ट, शीला सेमवाल व पूजा कुंवर शामिल थे।
... और पढ़ें

शिविर लगाकर बनाए जाएंगे अटल आयुष्मान कार्ड

जिले के विकासखंडों में 5 से 11 दिसंबर तक अटल आयुष्मान योजना के कार्ड शिविर लगाकर बनाए जाएंगे। जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने बताया कि अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना के तहत तहसीलों में 11 दिसम्बर, 2019 तक शिविर लगा योजना के कार्ड बनाए जाएंगे। कहा कि कार्ड बनाने के लिए राशन कार्ड, आधार कार्ड, एमएसबीवाई कार्ड, प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री द्वारा जारी पत्र की प्रति लानी आवश्यक है। पांच दिसंबर को तहसील चौबट्टाखाल के गडरी, धरासूं व किमगढ़ी गवाणी, तहसील धुमाकोट के बिलकोट, कण्डा तल्ला, पटोटिया व पिपली, तहसील कोटद्वार के काशीरामपुर(सीटी), कोटद्वार (एनपीपी) व पदमपुर में शिविर लगाए जाएंगे। 6 दिसंबर को तहसील लैंसडौन के काण्डा, लैंसडौन (सीबी), जयहरी व तकोली, तहसील पौड़ी में नगर पालिका पौड़ी, बुरांसी, जितोली, गहर व काण्डा, तहसील कोटद्वार के डाडामण्डी व कोटद्वार मानपुन, तहसील धुमाकोट के कुण्डा तल्ला व कुण्डा मल्ला, तहसील थलीसैंण के मरोड़ा, स्यूंसी, 7 दिसंबर को तहसील सतपुली के बनडन, संगलाकोटी, सतपुली मल्ली, कफल्डी, सतपुली सगैंण व कोटामल्ला, तहसील श्रीनगर के श्रीकोट गंगानाली, श्रीनगर व उफल्डा, तहसील थलीसैंण के बड़ेथ, कैन्यूर, नौंडी, तैला व थापला, आठ दिसम्बर को तहसील कोटद्वार के डाडामण्डी, तहसील यमकेश्वर के जौंक, कुठार, गंगाभोगपुर मल्ला, तल्ला, मराल व उमरोली में शिविर लगाए जाएंगे। 9 दिसंबर को तहसील चौबट्टाखाल के कोला, पोखड़ा, मसौन, पंचूर, तहसील धुमाकोट के बाड़ाडांडा, धुनकापड़ी, घोड़ापाला मल्ला, जुडाल्यू, ल्वींठा मल्ला, मण्डोली व श्रीकोट, तहसील कोटद्वार के झण्डीचौड़, शिब्बूनगर, पदमपुर सुखरौं, रतनपुर, शिवपुर, 10 दिसंबर को तहसील लेंसडौन के बमोली, करतिया, सुरारी, तहसील पौड़ी के केवर्स, नौगांव, निसनी, पैडुल, पाली व सैंजी, 11 दिसंबर को तहसील सतपुली के बडोली, कांडई, बयाली, पोखरी, गोली, खैरा, खरखौली, तहसील श्रीनगर के देल, सुमाड़ी, कण्डोली, नकोट, स्वीत में शिविर लगाया जाएगा। ... और पढ़ें

श्राइन बोर्ड के खिलाफ क्रमिक अनशन शुरू

चारधाम श्राइन बोर्ड के विरोध में संगम नगरी देवप्रयाग मेें तीर्थ पुरोहित क्रमिक अनशन पर बैठ गए हैं। तीर्थ पुरोहितों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए सरकार पर उपेक्षाओं व धार्मिक परंपराओं के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है।
बुधवार को तीर्थ पुरोहितों ने श्राइन बोर्ड के सरकार के फैसले के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कहा कि सरकार तीर्थ पुरोहितों के अधिकारों का हनन कर प्राचीन काल से आ रही धार्मिक परंपराओं को समाप्त कर रही है, जिसका विरोध किया जाएगा। पुरोहितों ने कहा कि भारी विरोध के बाद भी प्रदेश सरकार मामले पर चुप्पी साधे है। सरकार की इस दमनकारी नीति का जमकर विरोध किया जाएगा। इस दौरान पुरोहितों की ओर से बस अड्डे पर क्रमिक अनशन शुरू किया गया। पहले दिन पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष शुभांगी कोटियाल, राहुल, गोविंद सिंधी, अवलेश जागीरदार, अशोक जोशी, सौरभ, देव आशीष जोशी, ऋतिक बडोला, सूर्यकांत भट्ट व मनीष सयाना आदि क्रमिक अनशन पर बैठे रहे।
... और पढ़ें

गढ़वाल विवि ने कई परीक्षाओं की तिथि बदली, अब से होंगी नई तिथियां

एचएनबी गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय ने बीकॉम, एमए और एमएससी के कई पेपर की तिथि बदल दी है। अब यह परीक्षाएं नई तिथि पर आयोजित की जाएंगी। गढ़वाल विवि के परीक्षा नियंत्रक की ओर से जारी सूचना के मुताबिक, बीकॉम प्रथम सेमेस्टर की पांच दिसंबर को होने वाली परीक्षा अब 21 दिसंबर को होगी।

बीकॉम तृतीय सेमेस्टर की छह दिसंबर को होने वाली परीक्षा अब 20 दिसंबर को होगी। बीकॉम तृतीय सेमेस्टर स्किल एनहांसमेंट की दोनों वैकल्पिक प्रश्नपत्रों की परीक्षाएं 18 दिसंबर को होंगी। इसी प्रकार, एमए अंग्रेजी और संस्कृत तृतीय सेमेस्टर की छह दिसंबर को होने वाली परीक्षाएं अब 23 दिसंबर को होंगी।

एमए के छात्र छह दिसंबर को यूजीसी नेट परीक्षा होने की वजह से इसकी तिथि बदलने की मांग कर रहे थे। विवि के इस फैसले से उन्हें राहत मिली है। एमए चित्रकला तृतीय सेमेस्टर की छह दिसंबर को होने वाली परीक्षा भी अब 16 दिसंबर को होगी। एमएससी पर्यावरण विज्ञान और हिमालीय एक्वेटिक बायोडाइवर्सिटी तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा अब पांच दिसंबर के बजाए 17 दिसंबर को होगी।

एमएससी मानव विज्ञान तृतीय सेमेस्टर की परीक्षाएं 10, 12 और 14 दिसंबर को होगी। एमएससी और एमए सांख्यिकी तृतीय सेमेस्टर की लीनियर मॉडल्स एंड एनालिसिस की परीक्षा 19 दिसंबर को होगी। संशोधित परीक्षा कार्यक्रम सभी कॉलेजों को भेज दिया गया है। इन पाठ्यक्रमों से जुड़े छात्र अपने-अपने कॉलेज से भी संपर्क कर सकते हैं।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election