विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

महाशिवरात्रि 2020: 117 साल बाद ग्रहों का दुर्लभ संयोग, ऐसा करने से होगी मनोकामना पूरी

महाशिवरात्रि का व्रत इस बार 21 फरवरी यानी शुक्रवार को रखा जाएगा।

19 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

पौड़ी

बुधवार, 19 फरवरी 2020

30 साल बाद जागा जल संस्थान, मृतकों के नाम पर काटी आरसी

जल संस्थान की ओर से बिल भुगतान के लिए शुरू की गई कार्रवाई पर कीर्तिनगर व देवप्रयाग के ग्रामीणों ने कड़ा आक्रोश जताया है। ग्रामीणों ने कहा कि 20 से 30 वर्ष बाद उनसे पानी के बिलों की वसूली की जा रही है। जबकि आज तक उन्हें विभाग की ओर से कोई भी बिल नहीं दिया गया है। हैरानी की बात यह है कि जिन लोगों को मौत हो चुकी है, विभाग ने उनके नाम पर की भी आरसी काटी है।
विकासखंड कीर्तिनगर व देवप्रयाग के उपभोक्ताओं ने जल संस्थान पर अवैध वसूली का आरोप लगाया है। धारपंयाकोटी के ग्रामीण शैलेंद्र पंवार ने कहा कि उनके गांव में बनी पेयजल योजना का ग्रामीण स्वयं रखरखाव करते है, लेकिन गांव के कई लोगों पर वर्ष 2009 व इससे पूर्व के पानी के बिलों का बकाया दिखाया गया है। साथ ही जिन लोगों की आरसी काटी गई है उनमें कई लोगों की मृत्यु हो चुकी है। बताया कि धारपंयाकोटी के बादर सिंह व धारकोट के मदन सिंह की कई वर्ष पूर्व मृत्यु हो चुकी है। जल संस्थान ने उनके नाम की भी आरसी काटी है। बिलों की वसूली जल संस्थान की ओर से राजस्व विभाग से करवाई जा रही है। पंवार ने जल संस्थान की इस कार्रवाई का विरोध कर धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है। पूर्व जिला पंचायत सदस्य रंजन रतूड़ी ने भी विभाग की इस कार्रवाई को ग्रामीणों का आर्थिक उत्पीड़न बताया है। कहा कि अचानक इस प्रकार की कार्रवाई शुरू किया जाना गरीबों का शोषण है। उन्होंने विभाग की कार्रवाई का विरोध कर सरकार से बिल माफी की मांग की है। दूसरी ओर जल संस्थान के सहायक अभियंता अनीष पिल्लई ने बताया कि देवप्रयाग, कीर्तिनगर व कुछ गांव जाखणीधार व नरेंद्रनगर ब्लाक के मिलाकर करीब 700 उपभोक्ताओं पर लगभग 22 लाख पानी के बिलों की बकाया है। कई उपभोक्ताओं ने वर्ष 1990 के बाद पानी के बिलों का भुगतान नहीं किया है। इसलिए बिलों की वसूली राजस्व विभाग को सौंपी गई है। साथ ही जिन उपभोक्ताओं की मृत्यु हो चुकी है। राजस्व विभाग की रिर्पोट पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

बढ़ती महंगाई के खिलाफ कांग्रेस ने फूंका केंद्र सरकार का पुतला

श्रीनगर। बढ़ती महंगाई के खिलाफ कांग्रेस ने यहां प्रदर्शन कर केंद्र सरकार का पुतला फूंका। इस मौके पर कांग्रेस ने सरकार पर गरीब आदमी के हितों पर कुठाराघात करने का आरोप लगाया।
शनिवार को यहां गोला बाजार मेें कांग्रेसजनों ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस मौके पर कहा गया कि सरकार लगातार रसोई गैस की कीमत बढ़ाती जा रही है। महंगाई बेलगाम हो रही है। रसोई गैस और खाद्य पदार्थ आम आदमी की पहुंच से दूर हो रहे हैं। प्रदर्शन के पश्चात उन्होंने केंद्र सरकार के पुतले का दहन किया। इस मौके पर भूपेंद्र पुंडीर, उम्मेद सिंह मेहरा, हीरा लाल जैन, वीरेंद्र नेगी, सौरभ जैन व अभिषेक घिल्डियाल आदि मौजूद थे। (ब्यूरो)
... और पढ़ें

हल्द्वानी को हराकर चमोली बना वॉलीबाल का चैंपियन

पुलिस लाइन में आयोजित राज्य स्तरीय वॉलीबाल प्रतियोगिता में चमोली जिले की टीम हल्द्वानी को हराकर चैंपियन बनी। प्रतियोगिता की विजेता और उपविजेता टीम को मुख्य अतिथि ने सम्मानित किया।
शनिवार को राज्य स्तरीय वॉलीबाल प्रतियोगिता का शुभारंभ मुख्य अतिथि मुख्य कृषि अधिकारी डीएस राणा ने किया। उन्होंने खिलाड़ियों को जीत के लिए लगन और मेहनत से खेलने के लिए प्रोत्साहित किया। प्रतियोगिता का पहला सेमीफाइनल ऊधमसिंहनगर और चमोली के बीच हुआ, जिसमें चमोली ने ऊधमसिंहनगर को 25-21, 19-25, 23-25 से हराया। दूसरे सेमीफाइनल में हल्द्वानी की टीम ने हरिद्वार की टीम को 19-25, 25-23, 22-25 से हराया। इसके बाद प्रतियोगिता का फाइनल मुकाबला हल्द्वानी और चमोली की टीम के बीच खेला गया। रोमांचक मुकाबले में चमोली की टीम ने हल्द्वानी को 22-25, 25-18, 25-22, 25-20 से हराया और चैंपियन बना। प्रतियोगिता में योगेंद्र बर्तवाल, रमेश पंखाली अनूप रावत, सूरज रमोला व प्रमोद रावत निर्णायक रहे। इस मौके पर विशिष्ट अतिथि डीएचओ डा. नरेंद्र कुमार, आरआई पूरण सिंह तोमर, जिला युवा कल्याण अधिकारी गणेश थपलियाल, उप-क्रीड़ा अधिकारी अरुण, मालिनी, उमा रौथाण और रेशमा रावत आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

‘पैसा नहीं रोजगार दो’ के नारों के साथ श्रीनगर में गरजीं महिलाएं

‘पैसा नहीं रोजगार दो’ के नारे लगाते हुए नैथाणा व रानीहाट की महिलाओं ने श्रीनगर बाजार में प्रदर्शन किया। आरवीएनएल (रेल विकास निगम लि) के रोजगार के बजाय पैसे देने के लालच को ठुकराते हुए महिलाओं ने अपना आक्रोश दिखाया। कहा कि आंदोलन को 40 दिन हो गए है, लेकिन आरवीएनएल (रेल विकास निगम लि) और प्रशासन उनकी मांगों को अनसुना कर रहा है।
मंगलवार को टिहरी जिले के नैथाणा व रानीहाट की महिलाओं ने पीपलचौरी से श्रीनगर गोला पार्क तक जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया। जुलूस के पश्चात गोला पार्क मेें आयोजित सभा में प्रदर्शनकारियों ने कहा कि ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल मार्ग परियोजना के लिए रानीहाट व नैथाणा की खेती लायक जमीन अधिग्रहीत कर ली गई। अब उनके पास नाममात्र की जमीन बची है। जमीन अधिग्रहीत करते वक्त उनको रोजगार का आश्वासन दिया गया था, लेकिन प्रभावितों को रोजगार नहीं मिला। उन्होंने कहा कि प्रभावित स्थायी रोजगार व निर्माण कार्य में भागीदारी सहित अन्य मांगों के लिए 11 जनवरी से आंदोलनरत हैं, लेकिन उनकी जायज मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। हिमालय बचाओ आंदोलन के संयोजक समीर रतूड़ी ने कहा कि किसी भी परियोजना में भूमि अधिग्रहीत करने पर नौकरी का प्रावधान है। आरवीएनएल इसको लागू नहीं रहा है। इसलिए ग्रामीणों को आंदोलन करना पड़ रहा है। प्रदर्शन में प्रधान नैथाणा आशा देवी, रोशनी, भारती, संगीता, पूनम, गोदांबरी, विमला, थापा देवी, वीरा देवी, कमला, कल्पू देवी, भीम सिंह, प्रदीप राणा, राजेंद्र व विक्रम सिंह आदि शामिल थे।
... और पढ़ें
श्रीनगर गोला पार्क मे जुलूस प्रदर्शन करते  नैथाणा के ग्रामीण                                                             फोटो-----संवाद श्रीनगर गोला पार्क मे जुलूस प्रदर्शन करते नैथाणा के ग्रामीण फोटो-----संवाद

जीआईसी सांकरसैंण का नाम हुआ शहीद राकेश चंद्र रतूड़ी

प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री ने विधान सभा क्षेत्र श्रीनगर में विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न गांवों का भ्रमण कर ग्रामीणों की समस्याएं सुनकर उनके समाधान का भरोसा दिया। इस दौरान जीआईसी सांकरसैंण का नामकरण शहीद राकेश चंद्र रतूड़ी के नाम से किया गया।
उच्च शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत ने विधान सभा क्षेत्र श्रीनगर के ग्राम सभा घण्डियाली में काण्डा घण्डियाली बरतोली मार्ग, राप्रावि चुठाणी के भवन का शिलान्यास किया। उन्होंने पैठाणी में टैक्सी स्टैंड का लोकार्पण भी किया। डा. रावत ने ग्राम सभा पज्याणा, पैठाणी, स्योली मल्ली, जितोली व खंडूली में जिला सहकारी बैंक/नाबार्ड की ओर से आयोजित डिजिटल गोष्ठी में शिरकत की। कनाकोट, धौलाण, खण्डगांव, बहेड़ी, डांग सेरा (पैठाणी गांव), बगड़बरसीला, सिमल्थ, बूंगा, जवाड़ी, डुंगरी तथा नयगढ़ ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों की समस्याएं सुनकर समाधान का भरोसा दिया। उन्होंने पैठाणी में निर्माणाधीन व्यवसायिक महाविद्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान जीआईसी सांकरसैंण का नामकरण शहीद राकेश चंद्र रतूड़ी के नाम से किया गया। डा. रावत ने जीआईसी मौजखाल, टीला व खंड मल्ला में फर्नीचर वितरण, नौला व भैंसोड़ा में ग्रामीणों से जनसंपर्क भी किया। इस अवसर पर जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष नरेंद्र सिंह रावत, राज्य सहकारिता संघ के उपाध्यक्ष मातबर सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष संपत सिंह रावत, जिला सहायक निबंधक एमएल टम्टा, मंडल अध्यक्ष पैठाणी वीरेंद्र रावत और महाप्रबंधक डीसीबी मनोज कुमार आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

एनआईटी उत्तराखंड के अस्थायी परिसर के विस्तार का रास्ता साफ

आखिरकार चार माह बाद एनआईटी (राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान) उत्तराखंड के अस्थायी परिसर के विस्तार का रास्ता साफ हो गया है। संस्थान के अस्थायी परिसर का विस्तार आईटीआई और रेशम फार्म की भूमि पर होना है। शासन ने यह भूमि तकनीकी शिक्षा विभाग को हस्तांतरित कर दी है। तकनीकी शिक्षा विभाग के माध्यम से यह भूमि एनआईटी को हस्तांतरित होगी। सूत्रों के अनुसार, शासन की ओर से उक्त भूमि का स्थायी हस्तांतरण न होने की वजह से निर्माण कार्य अटका हुआ है। 

 वर्तमान में एनआईटी उत्तराखंड का अस्थायी परिसर श्रीनगर में पॉलीटेक्निक व आईटीआई और एनआईटी जयपुर मेें बनाए गए सेटेलाइट परिसर में संचालित हो रहा है। स्थायी परिसर सुमाड़ी में बनना है। गत वर्ष अक्तूबर माह में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत व एचआरडी मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक इसका शिलान्यास कर चुके हैं।

इस दौरान सरकार ने घोषणा की थी कि जब तक स्थायी परिसर का निर्माण होता है, तब तक अस्थायी परिसर का विस्तार रेशम विभाग और आईटीआई की खाली भूमि में किया जाएगा, लेकिन जमीन हस्तांतरित नहीं हो पाई। इसके चलते अभी यहां निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया। शासन ने 17 फरवरी को रेशम विभाग और आईटीआई की भूमि को तकनीकी शिक्षा विभाग को हस्तांतरित करने का आदेश जारी कर दिए हैं। 

सरकार की हो चुकी है किरकिरी

एनआईटी उत्तराखंड के स्थायी परिसर के निर्माण और सुविधाओं के मामले में प्रदेश और केंद्र सरकार की काफी किरकिरी हो चुकी है। इस मामले में एनआईटी के एक पूर्व छात्र ने नैनीताल उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर की है। गत 12 फरवरी को न्यायालय ने केंद्र सरकार से इस संबंध में एक हफ्ते में जवाब देने के आदेश दिए थे। कोर्ट ने स्थायी कैंपस की स्थापना और छात्रों को मूलभूत सुविधाओं के संबंध में सवाल पूछे हैं। मामले में बृहस्पतिवार (20 फरवरी) को सुनवाई होनी है। माना जा रहा है कि कोर्ट के आदेश के बाद शासन में यह तेजी आई है। 
... और पढ़ें

प्राधिकरण अपना रहा दोहरे मापदंड, लोगों में आक्रोश

निकिता ढौंडियाल
पौड़ी। मुख्यालय पौड़ी की समस्याओं को लेकर शहरवासी मुखर हो गए हैं। जिलाधिकारी ने पौड़ी बचाओ संघर्ष समिति की पहल पर शहर की समस्याओं को लेकर बैठक का आयोजन किया। इसमें जिला विकास प्राधिकरण की कार्यशैली पर दोहरे मापदंड अपनाए जाने के आरोप लगाए गए। साथ ही पालिका व जल संस्थान की कार्यप्रणाली पर भी लोगों ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की।
सोमवार को जिलाधिकारी कार्यालय सभागार में शहर की समस्याओं को लेकर बैठक आयोजित की गई। इस मौके पर पौड़ी बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक नमन चंदोला ने कहा कि शहर में पेयजल के बिलों में बेतहाशा बढ़ोतरी की गई है, जिससे उपभोक्ता लगातार परेशान हैं। जल संस्थान के अधिकारियों से कई बार शिकायत करने के बावजूद भी समस्याओं को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है। चंदोला ने कहा कि शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर पालिका लापरवाह बनी हुई है। आंदोलन करने के बावजूद अभी तक ट्रंचिंग ग्राउंड नहीं बन पाया है। महेंद्र नेगी ने कहा कि विकास प्राधिकरण दोहरे मापदंडों के तहत कार्य कर रहा है। गरीब लोगों को भवनों के नक्शे के नाम पर चालान, सील व ध्वस्तीकरण की कार्रवाई कर परेशान किया जा रहा है। कांग्रेस की प्रदेश सचिव सरिता नेगी ने कहा कि प्राधिकरण सुविधाओं के अनुरूप शुल्क नहीं ले रहा है, जिससे लोग उत्पीड़न झेलने को मजबूर हैं। डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल ने समस्याओं के संबंध लिखित शिकायत देने को कहा। साथ ही संबंधित अधिकारियों को बैठक में उठी समस्याओं का निस्तारण किए जाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर एडीएम डा. एसके बरनवाल, जल संस्थान के ईई एसके गुप्ता, पालिका के अधिशासी अधिकारी प्रदीप बिष्ट व एई संजय कुमार आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

एआरओ हुए नियुक्त, 17 को प्रकाशित होगी नामावली

पौड़ी। जिला निर्वाचन विभाग ने जिला योजना समिति के सदस्यों के निर्वाचन को लेकर तैयारी शुरू कर ली है। जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी ने पांच सहायक निर्वाचन अधिकारी नियुक्त कर दिए हैं, जबकि निर्वाचक नामावली 17 फरवरी को प्रकाशित होगी। निर्वाचन विभाग ने 19 फरवरी तक नामावली पर दावा/आपत्तियां आमंत्रित की हैं। इनका निस्तारण 20 फरवरी को किया जाएगा।
सोमवार को जिला मुख्यालय पौड़ी में जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने जिला योजना समिति के सदस्यों की निर्वाचन को लेकर बैठक ली। इस मौके पर उन्होंने बताया कि जनपद में जिला योजना समिति के कुल 20 सदस्य हैं। इनमें जिला पंचायत से 13 और निकायों से 7 सदस्यों का निर्वाचन होना है। डीएम ने बताया कि जिला योजना समिति के निर्वाचन को लेकर पांच सहायक निर्वाचन अधिकारी नियुक्त कर दिए गए हैं। इनमें जिला पंचायत के लिए एपीडी सुनील कुमार, नगर पालिका पौड़ी व नगर पंचायत स्वर्गाश्रम जोंक के लिए जिला सहायक निबंधक एलएम टम्टा, नगर पालिका श्रीनगर के लिए जिला उद्यान अधिकारी डा. नरेंद्र कुमार, नगर निगम कोटद्वार, नगर पालिका दुगड्डा व नगर पंचायत सतपुली के लिए मुख्य कृषि अधिकारी देवेंद्र राणा को सहायक निर्वाचन अधिकारी बनाया गया है, जबकि जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी पौड़ी संजय शर्मा एवं नगर सेवायोजन अधिकारी पौड़ी मुकेश रयाल को आरक्षित एआरओ बनाया गया है।
... और पढ़ें

एसडीएम और जल संस्थान कार्यालय पर की नारेबाजी

विकास खंड कीर्तिनगर के धारीढुंडसिर के ग्रामीणों ने जल संस्थान की ओर से जारी किए गए वर्षों पुराने पानी के बिलों के भुगतान का विरोध किया है। ग्रामीणों ने इस संबंध में एसडीएम और जल संस्थान के कार्यालय के सम्मुख नारेबाजी कर ज्ञापन सौंपा।
सोमवार को धारकोट, पारकोट, धारपंयाकोटी व कोटी आदि गांवों के ग्रामीण पहले जल संस्थान कार्यालय पहुंचे। उन्होंने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि उनके खिलाफ आरसी काटी गई है। पानी के बिलों की वसूली राजस्व विभाग को सौंपी गई है, जबकि आज तक उन्हें विभाग की ओर से पानी के बिल नहीं दिए गए हैं। प्रधान गबर सिंह ने कहा कि उनके गांव में स्वजल योजना के तहत करीब 20 वर्षों से पेयजल आपूर्ति की जा रही है। इससे पूर्व भले ही जल संस्थान की पेयजल योजना थी, लेकिन उसका रखरखाव ग्रामीण स्वयं करते थे। अब जल संस्थान की ओर से बिलों के भुगतान के लिए आरसी काट कर लोगों को परेशान किया जा रहा है। कहा कि बिलों की वसूली करने गांव पहुंच रहे कर्मी भी लोगों को डरा धमका रहे हैं। समाजिक कार्यकर्ता चंद्रमोहन सिंह चौहान ने जल संस्थान की इस कार्रवाई का विरोध करते हुए कहा क्षेत्र के पारकोट, धारकोट, कोटी, धारपंयाकोटी व थापली में विभाग ने ऐसे लोगों की आरसी काटी है, जिन्हें मरे सालों बीत गए हैं। ग्राम पंचायत धारकोट के मतबल सिंह की मृत्यु हुए करीब 30 वर्ष हो चुके हैं। उनके नाम की भी आरसी काटी गई है। गोर सिंह व नेत्र सिंह चौहान ने कहा कि कई गांवों में चंद लोगों से वसूली की जा रही है, जोकि ग्रामीणों के साथ अन्याय एवं आर्थिक उत्पीड़न है। इसके बाद ग्रामीण तहसील मुख्यालय पहुंचे और जमकर नारेबाजी की, लेकिन एसडीएम और तहसीलदार मौजूद न रहने पर ज्ञापन कार्यालय कर्मी को दिया गया। ज्ञापन सौंपने वालों में नरेंद्र सिंह, भगत सिंह, विजय सिंह, राजेंद्र सिंह, उम्मेद सिंह, उदय सिंह व उमेश सिंह आदि शामिल थे।
... और पढ़ें

लोनिवि कार्यालय के सम्मुख क्रमिक अनशन पर बैठे ग्रामीण

विकास खंड कीर्तिनगर के बीरखाल-बरसिल्ला-मंजूली मोटर मार्ग निर्माण की मांग के लिए क्षेत्रीय ग्रामीणों ने लोक निर्माण विभाग कार्यालय के सम्मुख क्रमिक अनशन शुरू कर दिया है। ग्रामीणों ने कहा कि चार वर्ष पूर्व स्वीकृत मोटर मार्ग पर आज तक निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया है। इस कारण ग्रामीणों को समस्याओं से जूझना पड़ रहा है।
सोमवार को मंजूली और बरसिल्ला के ग्रामीणों ने मोटर मार्ग की वित्तीय स्वीकृति और निर्माण कार्य शुरू किए जाने की मांग के लिए कीर्तिनगर बाजार में ढोल-दमाऊं के साथ जुलूस निकाला। इसके बाद गुस्साए ग्रामीण लोक निर्माण विभाग कार्यालय पहुंचे। उन्होंने सड़क की मांग के लिए कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर नारेबाजी की। इसके बाद वे क्रमिक अनशन पर बैठ गए। इस मौके पर जिला पंचायत सदस्य संगीता जयाड़ा व प्रधान पवित्रा देवी ने कहा कि स्वीकृति के चार वर्ष बीत जाने के बाद भी उनके गांव को मोटर मार्ग से नहीं जोड़ा गया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2017-18 में बीरखाल से ग्राम पंचायत मंजूली, बरसिल्ला, कुलेड़ी व पोथ आदि गांवों के लिए चार किमी मोटर मार्ग स्वीकृत हुआ था, लेकिन आज तक इस मोटर मार्ग पर निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया है। इससे क्षेत्रीय जनता को अनेक समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। पूर्व जिला पंचायत सदस्य महिपाल बुटोला ने कहा कि लोक निर्माण विभाग की सुस्त कार्यप्रणाली के कारण क्षेत्र के कई मोटर मार्ग अधर में लटके हैं। इस मौके पर पहले दिन गंभीर सिंह जयाड़ा, बलदेव सिंह, भरत सिंह, कमल सिंह, कुंदन सिंह, मुकम सिंह, शिव सिंह रावत, सुरती देवी, पन्ना देवी, विमला देवी, राजेश्वरी, शीतल, चंद्रमोहन चौहान, प्रधान सुनय कुकसाल क्रमिक अनशन पर बैठे, जबकि उनके समर्थन में बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।
... और पढ़ें

ग्राम पंचायत भडोली को राष्ट्रीय पुरस्कार

केंद्र सरकार के पंचायत राज विभाग की ओर से हर वर्ष स्वच्छता, नागरिक सेवा, सामुदायिक संपत्तियों के रख रखाव, आय सृजन, ई-गवर्नेंस, प्राकृतिक ऊर्जा संरक्षण, महिला एवं अनुसूचित जाति जनजाति सशक्तीकरण, दिव्यांग एवं वरिष्ठ नागरिक सेवा जैसे क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य कर रही ग्राम पंचायतों को पंडित दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तीकरण राष्ट्रीय पुरस्कार दिया जाता है। इस वर्ष यह पुरस्कार टिहरी जिले से देवप्रयाग ब्लॉक की भडोली ग्राम पंचायत को मिला है। ग्राम पंचायत को पुरस्कार मिलने पर ग्रामीणों ने खुशी जताई है। पिछले वर्ष प्रदेश के देहरादून, पिथौरागढ़, उत्तरकाशी जिले की चार ग्राम पंचायतों को यह पुरस्कार दिया गया था।
देवप्रयाग ब्लॉक की भल्लेगांव क्षेत्र पंचायत सदस्य सुमन भट्ट की पहल पर ग्राम पंचायत भडोली को इस बार यह पुरस्कार मिला है। सुमन ने बताया कि केंद्र सरकार की ओर से प्रायोजित इस पुरस्कार के प्रदेश के 13 जिलों से कुल 53 आवेदन आए थे, जिसमें राज्य की 16 ग्राम पंचायतों का ही चयन हुआ है। टिहरी जिले की 1036 ग्रामपंचायतों में से भडोली ग्राम पंचायत को पुरस्कार के लिए जिला स्तर पर चयनित किया गया है। प्रधान हेमलता देवी ने प्रतियोगिता के लिए ग्राम स्तर पर एक समिति का भी गठन किया गया है। ग्राम पंचायत विकास अधिकारी वीरेंद्र चौहान ने बताया कि ग्राम पंचायत भड़ोली के स्थलीय निरीक्षण के लिए अगले माह पंचायती राज विभाग की टीम गांव में जांच पर आएगी। पुरस्कार के लिए गांव का जिलास्तर पर चयन होने पर ग्रामीण धर्म सिंह चौहान, खुशाल सिंह कंडारी, बलवंत सिंह लिंगवाल, पान सिंह, राम सिंह पयाल, गणेश भट्ट, मंगल रौथाण, नीलम देवी, गीता देवी, माहेश्वरी देवी, अनीता देवी, रजनी पयाल आदि ने खुशी जताई।
... और पढ़ें

रात को यातायात बंद करने के लिए अभी और इंतजार

कौड़ियाला से साकनीधार के बीच तोताघाटी में बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग के चौड़ीकरण के लिए रात के वक्त यातायात बंद (क्लोजर) करने के लिए कार्यदायी संस्था लोनिवि राष्ट्रीय राजमार्ग खंड को अभी और इंतजार करना पड़ेगा। वैकल्पिक मार्गों पर आवाजाही के लिए लोनिवि को तीन अन्य संस्थाओं से एनओसी (अनापत्ति प्रमाणपत्र) लेना होगा। एनओसी मिलने के बाद ही रात के समय उक्त पैच में यातायात बंद हो पाएगा।
वर्तमान में ऑल वेदर रोड परियोजना के तहत बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग कई स्थानों पर चौड़ा हो चुका है, जबकि कुछ में काम चल रहा है, लेकिन तोताघाटी जैसे कठिन भौगोलिक परिस्थिति वाले क्षेत्र में चौड़ीकरण शेष रह गया है। यहां करीब चार किलोमीटर का पैच काफी खतरनाक है। संकरे मार्ग, तीव्र ढलान व अंधे मोड़ की वजह से यहां हिल कटिंग के दौरान यातायात बहाल रखना मुश्किल है।
इसी वजह से लोनिवि राष्ट्रीय राजमार्ग खंड ने गत वर्ष दिसंबर में जिला प्रशासन टिहरी से रात 10 से सुबह चार बजे तक यातायात बंद रखने की अनुमति मांगी थी। लोनिवि का प्लान है कि रात में यायायात बंद रखने या किसी वजह यातायात बहाल न होने पर वाहनों को देवप्रयाग-टिहरी-ऋषिकेश और मलेथा-टिहरी-ऋषिकेश से गुजारा जाए।
लोनिवि राष्ट्रीय राजमार्ग खंड के अधिशासी अभियंता दिनेश बिजल्वाण ने बताया कि डीएम टिहरी ने पहले बीआरओ, एनएच कार्यालय और लोनिवि से एनओसी लेने के निर्देश दिए हैं, क्योंकि वैकल्पिक मार्गों पर वाहनों का दबाव बढ़ेगा, इसलिए संबधित एजेंसी इसके लिए तैयार रहे। उन्होंने बताया कि एनएच के क्षेत्रीय कार्यालय से एनओसी मिल गई है। अन्य दोनों विभागों में कार्रवाई चल रही है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us