विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

उत्तराखंड: उत्तराखंड में रक्षा उद्योग लगाने पर बंपर रियायतें, जानिए कैबिनेट के अन्य फैसले...

उत्तराखंड मंत्रिमंडल की शनिवार को प्रस्तावित बैठक में नई आबकारी नीति पर मुहर लग गई है।

22 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

पिथौरागढ़

शनिवार, 22 फरवरी 2020

पिथौरागढ़ : बदहाल स्वास्थ्य सुविधाओं ने ली युवक की जान, डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप

पिथौरागढ़ में बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्थाओं ने एक और युवक की जान ले ली। परिजनों का आरोप है कि बेहतर स्वास्थ्य सुविधा नहीं मिलने और डॉक्टरों की लापरवाही के कारण युवक की मौत हुई है।

बुधवार देर रात जाखनी निवासी एलएम भट्ट (39) को सीने में तेज दर्द उठने पर परिजन जिला अस्पताल लाए थे। प्राथमिक उपचार के बाद भट्ट की स्थिति में थोड़ा सुधार हो गया था। परिजनों का आरोप है कि रात को डॉक्टरों ने क्रिटिकल केस बताया था और सुबह रेफर करने की बात कही थी। परिजनों का कहना है कि अगर रात को रेफर कर दिया होता तो उनकी जान बचाई जा सकती थी। 

परिजनों का आरोप है कि जिला अस्पताल में मरीजों को सही सुविधा नहीं मिल पा रही है। उनका कहना है कि रात के वक्त अस्पताल पहुंचने के बाद उन्हें ब्लड, शुगर, यूरीन के टेस्ट, ईसीजी सब निजी अस्पतालों में कराना पड़ा। उनका कहना है कि अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही के कारण उनकी जान गई है। 

कुमाऊंनी संस्कृति के संरक्षण के लिए काम करते थे एलएम भट्ट 

एलएम भट्ट कुमाऊंनी संस्कृति प्रचार-प्रसार के लिए काम करते थे। कुछ समय पहले उन्होंने कुमाऊंनी फिल्म ‘शुभ घड़ी’ बनाई थी। उनकी इस फिल्म को लोगों ने काफी सराहना की थी। इसके अलावा वह सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी बढ़ चढ़कर भागीदारी करते थे। उनके निधन पर सांस्कृतिक संगठनों से जुड़े लोगों ने गहरा दुख व्यक्त किया है।

हार्ट अटैक के कारण एलएम भट्ट की मौत हुई है। डॉ. ने परिजनों को रात में ही हायर सेंटर ले जाने को कह दिया था, लेकिन परिजन नहीं ले गए। सुबह दूसरा अटैक आने पर उनकी मौत हो गई। 
-डॉ. एचएस खड़ायत, पीएमएस जिला अस्पताल पिथौरागढ़
... और पढ़ें

पिथौरागढ़ में 364 गेस्ट प्रवक्ता और 61 सहायक अध्यापक की तैनाती

पिथौरागढ़। जिले के आठों विकास खंडों में गेस्ट शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया पूरी हो गई है। विभाग ने आठों विकास खंडों के लिए 364 प्रवक्ता और 61 सहायक अध्यापकों का चयन पूरा कर लिया है। सीईओ ने उन्हें शीघ्र विद्यालयों में तैनाती लेने के आदेश जारी कर दिए हैं।
लंबे से सीमांत जिले के स्कूल अध्यापकों की कमी से जूझ रहे थे। विभाग ने विण विकासखंड के लिए 27 प्रवक्ता, 3 सहायक अध्यापक, मूनाकोट ब्लॉक के लिए 45 प्रवक्ता, 5 सहायक अध्यापक, कनालीछीना विकासखंड के लिए 40 प्रवक्ता, 7 सहायक अध्यापक, धारचूला के लिए 49 प्रवक्ता और 11 सहायक अध्यापक, मुनस्यारी के लिए 46 प्रवक्ता और 2 सहायक अध्यापक, बेड़ीनाग के लिए 26 प्रवक्ता और 15 सहायक अध्यापक, गंगोलीहाट के लिए 115 प्रवक्ता और 12 सहायक अध्यापकों का चयन किया है। विभाग ने चयन प्रक्रिया संपन्न होने के बाद सभी चयनित अध्यापकों को स्कूल आवंटित कर दिए हैं।
सीईओ अशोक कुमार जुकरिया ने सभी गेस्ट अध्यापकों से शीघ्र ही स्कूलों में तैनात लेने के निर्देश जारी किए हैं। चयन प्रक्रिया सुनील चंद्र, ज्योती प्रसाद पांडे, सुरेश चंद्र उपाध्याय और सौरव चंद ने संपन्न कराने में सहयोग किया।
शिक्षकों की कमी से जूझ रहे विद्यालयों को मिलेगी राहत
पिथौरागढ़। लंबे समय से सीमांत जिले के स्कूल शिक्षकों की कमी से जूझ रहे हैं। स्कूलों में शिक्षकों की कमी के कारण विभाग को शिक्षण कार्य संपन्न कराने में दिक्कत हो रही थी। गेस्ट टीचरों की नियुक्ति से स्कूलों को राहत मिल पाएगी।
... और पढ़ें

बांज के पेड़ में अटके सफेद-हरे गुब्बारे बने चर्चा का विषय 19-57-52

नाचनी/पिथौरागढ़। मुनस्यारी के कोट्यूड़ा में एक पेड़ में अटके बैलून लोगों को हैरत में डाल रहे हैं। हरे और सफेद रंग के इन बैलूनों के साथ एक चिट लगी मिली है, जिसमें सर्किल स्टाइल कबड्डी वर्ल्ड कप 2020 लिखा हुआ है। गुब्बारों की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक ने जांच टीम मौके पर भेज दी है।
मुनस्यारी निवासी जगदीश बोथयाल ने कोट्यूड़ा के खुनखुनिया तोक में एक बांज के पेड़ में गुब्बारे अटके होने की जानकारी दी। लगभग एक सौ की संख्या में हरे और सफेद रंग के गुब्बारों के साथ एक चिट लगी हुई थी। इसमें सर्किल स्टाइल कबड्डी वर्ल्ड कप 2020 लिखा हुआ है। इतनी बड़ी संख्या मोटी रस्सी से बंधे गुब्बारों को देखकर लोग आशंकित हैं। कई लोगों ने इन गुब्बारों के पाकिस्तान से उड़कर यहां पहुंचने की आशंका जताई। ग्रामीणों के अनुसार पेड़ में अटके कई गुब्बारे फूट चुके हैं।
लोगों की आशंका के मद्देनजर पुलिस का खुफिया तंत्र भी सक्रिय हो गया है। पुलिस के अनुसार गुब्बारों के साथ जो चिट लगी हुई है वह एक एडवर्टाइजमेंट कंपनी की है। यह कंपनी नेपाल सहित तमाम देशों में खेल प्रायोजित करती है। हो सकता है अपने प्रचार-प्रसार के लिए कंपनी ने गुब्बारे उड़ाए हों। पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल के निर्देश पर एक जांच टीम मौके के लिए रवाना हो गई है।
मुनस्यारी के एक गांव में पेड़ में गुब्बारे देखे जाने की सूचना मिली है। एक जांच टीम को मौके पर भेजा गया है। पाकिस्तान या नेपाल से बैलून यहां पहुंचना संभव नहीं है। तत्परता से जांच के निर्देश दिए गए हैं। जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।
- आयुष अग्रवाल, एसपी पिथौरागढ़।
... और पढ़ें

पिथौरागढ़: गधेरे में मिला शिवरात्रि का मेला देखने गए युवक का शव, हत्या की आशंका

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में बोरा गांव से शिवरात्रि का मेला देखने आए युवक की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। उसका शव गधेरे में मिला। परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। दूनाकोट क्षेत्र के बोरागांव के छनपट्टा तोक निवासी प्रकाश कुमार (18) पुत्र स्व. विशनराम शुक्रवार को शिवरात्रि का मेला देखने डीडीहाट आया था।

वह देर रात तक घर नहीं पहुंचा। इस पर परिजन चिंतित हो उठे। शनिवार सुबह गधेरे में युवक को बेसुध पड़ा देखा। उसने ग्रामीणों को सूचित किया। ग्रामीण दीवानी राम, भीमराम और अन्य युवक को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे, जहां डॉक्टर बीएस मेहरा ने प्राथमिक जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। 

मृतक के भाई दीवानी राम ने प्रकाश की हत्या की आशंका जताई है। राजस्व पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल पिथौरागढ़ भेज दिया है। डॉ. मेहरा ने बताया कि मौत के कारणों का पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही चल पाएगा। अभी परिजनों ने तहरीर नहीं दी है। एसडीएम केएन गोस्वामी का कहना है कि घटना की जानकारी मिलते ही कानूनगो धनीराम के नेतृत्व में राजस्व पुलिस की टीम जांच के लिए मौके पर गई है।
... और पढ़ें

बर्फबारी से थल-मुनस्यारी मार्ग पर फंसे कई वाहन, आधी रात को 14 किमी पैदल चलकर पहुंचे 16 यात्री

उत्तराखंड में थल-मुनस्यारी मार्ग पर बर्फ जमी होने के कारण वाहनों की आवाजाही ठप है। थल से मुनस्यारी की ओर जा रहे यात्रियों के वाहन शुक्रवार रात कालामुनि में फंस गए। फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए पहुंची जेसीबी की हेडलाइट खराब होने से वाहनों को नहीं निकाला जा सका। यात्रियों को माइनस दो डिग्री तापमान में कालामुनि मंदिर में खिचड़ी खाकर रात गुजारनी पड़ी। 

जानकारी के मुताबिक लगभग 16 यात्री जानजोखिम में डालकर शुक्रवार की रात को ही 14 किमी पैदल चलकर मुनस्यारी पहुंचे।  शुक्रवार को मुनस्यारी के कालामुनि क्षेत्र में दिन भर हिमपात हुआ। हिमपात के कारण शाम के समय मुनस्यारी की ओर जा रहीं दो सूमो, एक मैक्स, चार बोलेरो, दो कारें और दो ट्वेरा मार्ग में फंस गई।

 शनिवार सुबह भी कुछ वाहन चालक खतरा उठाकर वाहनों को मुनस्यारी की ओर ले गए। बर्फ के जम जाने से वाहनों के फिसलने का खतरा बना हुआ है। पिथौरागढ़ नगर में शुक्रवार देर रात तक मूसलाधार बारिश का क्रम जारी रहा। शनिवार सुबह धूप निकलने से कुछ राहत मिली।  
... और पढ़ें

हर-हर महादेव के उद्घोष से गूंजे शिवालय

शिवालयों में महाशिवरात्रि का पर्व श्रद्धापूर्वक मनाया गया। इस दौरान श्रद्धालुओं ने भगवान भोलेनाथ का दूध और जल से अभिषेक किया। कई जगहों पर बारिश के बीच दिनभर मंदिर भजन-कीर्तनों से गूंजते रहे।
जिला मुख्यालय के पुरानी बाजार स्थित शिवालय, घंटाकरण, पांडेय गांव, महादेव, रई गुफा, सेरादेवल, चटकेश्वर, नाकोट शिव मंदिर, कपिलेश्वर और ध्वज मंदिर में सुबह से ही पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ लगनी शुरू हो गई।
घंटाकरण मंदिर में सुबह पांच बजे से ही महिलाएं जलाभिषेक के बाद भजन-कीर्तन में जुटी रहीं। शिवालयों में भगवान शिव को बेलपत्र, धतूरे के फूल, बेर चढ़ाए गए। हुड़ेती के महादेव मंदिर में श्रद्धालुओं की सुबह से ही भीड़भाड़ रही।
सामाजिक कार्यकर्ता प्रकाश जोशी की ओर से भक्तों के लिए बेर, तौड़ सहित अन्य फलाहार की व्यवस्था की थी। बड़ाबे के लटेश्वर महादेव मंदिर में पुजारी लीलाधर भट्ट ने भक्तों को पूजा कराई। श्रद्धालुओं के लिए युवा संगठन की ओर से फलाहार की व्यवस्था की गई। इस मौके पर जनार्दन जोशी, धनंजय जोशी, दीपक जोशी, सागर, संजय, किशोर, जगदीश, जनक, गिरीश, अमित, त्रिभुवन, रंजन आदि मौजूद रहे।
उधर झूलाघाट के तालेश्वर में भक्तों ने ताल में स्नान के बाद पूजा-अर्चना की। बृहस्पतिवार रात भक्तों ने मंदिर में भजन-कीर्तन किए। बारिश के चलते मंदिर में श्रद्धालुुओं की भीड़ कम रही। प्रधान देवकी देवी ने बताया कि इस बार खराब मौसम के चलते श्रद्धालु कम पहुंचे। मंदिर में शंकर भट्ट, ललित रावल, किशन थापा, सक्षम थापा, मनोज गड़कोटी, प्रकाश आदि लोगों ने पूजा-अर्चना की। अस्कोट के मल्लिकार्जुन मंदिर में पूजा-अर्चना के बाद भजन-कीर्तन और होली गायन हुआ।
... और पढ़ें

बर्फबारी से थल-मुनस्यारी सड़क बंद

शुक्रवार को मौसम ने फिर करवट बदली। मुनस्यारी सहित जिले की ऊंची चोटियों में हिमपात और निचले इलाकों में मूसलाधार बारिश हुई। कालामुनि में हिमपात होने से थल-मुनस्यारी मार्ग वाहनों के लिए बंद हो गया है। इस बार मुनस्यारी में 15 से अधिक बार हिमपात हो चुका है।
शुक्रवार को सुबह से ही मूसलाधार बारिश शुरू हो गई थी। बारिश का क्रम पूरे दिन जारी रहा। मुनस्यारी के कालामुनि में 4 इंच, बेटुलीधार में 3 इंच, बलाती में 3 इंच बर्फ गिरी। पंचाचूली, राजरंभा की चोटियां हिमपात से एकबार फिर लकदक हो गई। कालामुनि में चार इंच बर्फ गिरने से वाहनों का संचालन ठप हो गया। मुनस्यारी की ओर जा रहे ज्यादातर वाहन कालामुनि से लौट आए। मुनस्यारी से थल की ओर आ रहे वाहनों को भी वापस मुनस्यारी के लिए लौटना पड़ा।
बर्फबारी और बारिश से एक बार फिर तापमान में गिरावट आ गई है। शुक्रवार को मुनस्यारी का न्यूनतम तापमान 1 डिग्री, जबकि अधिकतम तापमान 5 डिग्री रिकार्ड किया गया। कड़ाके की ठंड के कारण लोग दिन भर घरों में दुबके रहे। लोगों ने ठंड से बचने के लिए अलाव भी जलाए। ठंड के चलते शाम होने से पहले ही बाजार की अधिकांश दुकानें बंद हो गई थी। नगरीय क्षेत्रों में भी सुनसानी रही। लगातार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा।
हिमपात के कारण थल-मुनस्यारी सड़क में कालामुनि के समीप फंसी जी।  संवाद
हिमपात के कारण थल-मुनस्यारी सड़क में कालामुनि के समीप फंसी जी। संवाद- फोटो : PITHORAGARH
... और पढ़ें

आकाशीय बिजली गिरने से छात्र की मौत

मुनस्यारी में शुक्रवार को हुआ हिमपात। संवाद
शिवरात्रि पर्व पर असुरचूला पहाड़ी पर स्थित मंदिर में पूजा-अर्चना करने गए छात्र की बिजली की चपेट में आने से मौत हो गई।
मूल रूप से बुंगाछीना के धुरौली गांव निवासी राजेंद्र सिंह का परिवार वर्तमान में पंडा में रहता है।
शुक्रवार को शिवरात्रि पर्व पर राजेंद्र सिंह का पुत्र सुमित (16) अपने साथियों के साथ असुरचूला मंदिर गया था। मंदिर में दर्शन के बाद वह मंदिर परिसर में कुछ आगे को गया। इसी बीच करीब दो बजे बिजली की चपेट में आने से वह बेहोश हो गया। इससे साथियों में अफरातफरी मच गई। सुमित के साथी उसे लेकर सड़क तक पहुंचे। वहां से आपातकालीन 108 सेवा को सूचना दी गई। सूचना पर पहुंची एंबुलेंस सुमित को लेकर अस्पताल पहुंची। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
सुमित मानस एकेडमी में कक्षा 11वीं का छात्र था। अस्पताल के वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. एसएस कुंवर ने बताया कि आकाशीय बिजली से सुमित का शरीर जल गया था। सुमित के ताऊ उमेद सिंह ने बताया कि सुमित दो भाइयों में छोटा था। वह सबका लाड़ला था। सुमित की मौत से उसके साथी भी सदमे में हैं। शिवरात्रि पर्व पर हुए इस हादसे से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।
... और पढ़ें

पिथौरागढ़ में 700व्यापारियों के जीएसटी रजिस्ट्रेशन रद्द

पिथौरागढ़ में समय से रिटर्न दाखिल न करने पर 700 से अधिक व्यापारियों के रिजिस्ट्रेशन रद्द हो गए हैं। विभाग ने समय से रिटर्न दाखिल न करने वाले 50 व्यापारियों को नोटिस भी जारी किए हैं। विभाग इन व्यापारियों के खिलाफ भी शीघ्र कार्रवाई कर सकता है।
जिले में राज्य क्षेत्राधिकार में 2150 व्यापारी पंजीकृत हैं। राज्य कर विभाग लंबे समय से जीएसटी रिटर्न दाखिल करने के लिए इन व्यापारियों को लगातार नोटिस जारी कर रहा था। तीन नोटिस मिलने के बाद भी इन व्यापारियों ने रिटर्न दाखिल नहीं किया। विभाग ने ऐसे 700 व्यापारियों के रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिए हैं।
विभाग ने समय से रिर्टन दाखिल न करने वाले 50 व्यापारियों को निरस्तीकरण के नोटिस भी जारी कर दिए हैं। विभाग इन व्यापारियों पर भी कार्रवाई करेगा। राज्य कर विभाग की कार्रवाई के बाद व्यापारियों में हड़कंप मचा हुआ है। विभाग की कार्रवाई के बाद जिले में 83 प्रतिशत व्यापारियों ने कर का विवरण दाखिल कर दिया है।
पिथौरागढ़ में स्पॉट वेरिफिकेशन शुरू
जीएसटी सहायक विपिन चंद्र जोशी ने बताया कि जिले भर में जीएसटी अधिकारियों ने कर चोरी को रोकने के लिए स्पॉट वेरिफिकेशन शुरू कर दिए हैं। अभी तक 350 से अधिक फर्म का सर्वे पूरा हो गया है। सहायक आयुक्त राज्य कर विभाग अनिल कुमार सिन्हा ने कहा कि राज्य कर विभाग पंजीकृत स्थानों में फर्म के नहीं मिलने पर फर्म रजिस्ट्रेशन रद्द कर देगा।
जो ठेकेदार संबंधित विभागों से भुगतान प्राप्त करने के बाद भी टैक्स जमा नहीं कर रहा हैं। ऐसे ठेकेदारों की जानकारी भी जुटाई जा रही है। ऐसे ठेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। - अनिल कुमार सिन्हा, सहायक आयुक्त राज्य कर विभाग पिथौरागढ़।
समय से रिटर्न दाखिल न करने वाले व्यापारियों के रजिस्ट्रेशन रद्द किए जा रहे हैं। ऐसे व्यापारियों के खिलाफ धारा 125 के तहत कार्रवाई की जा रही है। भूपेंद्र सिंह रावत, राज्य कर अधिकारी पिथौरागढ़।
... और पढ़ें

धारचूला में नाबालिग की तस्करी में दो दबोचे

नेपाल की किशोरी को हरियाणा ले जा रहे दो लोगों को एसएसबी ने पकड़ लिया। इनमें एक हरियाणा निवासी है, जबकि दूसरा नेपाल का है। शुक्रवार को संस्था की अध्यक्ष सुमन, कोआर्डिनेटर उमेद वर्मा, कंचन धामी ने पुलिस और एसएसबी के अधिकारियों की मौजूदगी में नाबालिग को उसके पिता को सौंप दिया।
बृहस्पतिवार शाम छह बजे मुखबिर की सूचना पर एसएसबी की टीम ने धारचूला और गोठी में वाहनों की चेकिंग की। इस बीच, विजय कुमार निवासी बेगमपुर, यमुनानगर (हरियाणा) और नरेश धामी निवासी मल्लिकार्जुन वार्ड-आठ, जिला दार्चुला (नेपाल) को नाबालिग किशोरी को तस्करी कर लाते हुए पकड़ लिया। दोनों उसे हरियाणा ले जा रहे थे। पकड़े गए हरियाणा निवासी विजय कुमार ने पुलिस को बताया कि उसकी अपनी पत्नी से अनबन चल रही है, इसलिए वह शादी के लिए यहां आया था।
सीमांत धारचूला से मानव तस्करी की यह तीसरी घटना है। इससे पूर्व दो मामले पकड़ में आए थे, जिनमें वरदान सेवा संस्था ने नाबालिग किशोरी को उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया था। वरदान सेवा संस्था की अध्यक्षा सुमन वर्मा का कहना है कि किशोरियों को यहां से बहला फुसलाकर ले जाया जाता है। उन्होंने पुलिस से नाबालिगों की तस्करी में लिप्त तत्वों का पता लगाकर दंडित करने की मांग की है।
नेपाल से एक नाबालिग को हरियाणा ले जाते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। अरोपी विजय कुमार और नरेश धामी के खिलाफ आईपीसी की धारा 370 ए के तहत मामला पंजीकृत किया गया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।
-विजेंद्र साह, थानाध्यक्ष धारचूला कोतवाली।
... और पढ़ें

उत्तराखंड के जंगल में पहली बार नजर आई रूफस बैकड रेडस्टार्ट बर्ड

पक्षियों की दुनिया में उत्तराखंड के साथ एक नई उपलब्धि जुड़ गई है। उत्तराखंड में पक्षियों पर अध्ययन करने वाले दल को पहली बार रूफोस बैक्ड रेडस्टार्ट बर्ड नजर आई है। पिछले 132 वर्षों में इस पक्षी के राज्य के जंगलों में होने का कोई प्रमाण नहीं मिला है।
उत्तराखंड के पारिस्थितिकी विज्ञान शास्त्री के रामनारायण ने बताया कि 17 फरवरी को सीईडीएआर एवं टिटली ट्रस्ट के नेचर गाइड ट्रेनिंग के दौरान मुक्तेश्वर के जंगल में बर्ड वॉचर दल को कुछ दुर्लभ पक्षी नजर आए। इन्हीं पक्षियों के साथ रूफोस बैक्ड रेडस्टार्ट नजर आया। पास ही एक मादा ब्लू फ्रंटेड रेडस्टार्ट भी देखी गई। पहली बार इस नर पक्षी को देखा तो इसका व्यवहार रेडस्टार्ट के विपरीत लग रहा था।
गहनता से उसका अध्ययन किया तो इस पक्षी के रूफोस बैक्ड रेडस्टार्ट होने का पुख्ता प्रमाण मिला। उन्होंने बताया कि दुर्लभ प्रजाति की यह चिड़िया पिछले 132 सालों में उत्तराखंड में कभी नहीं देखी गई। उन्होंने बताया कि इस चिड़िया को दुनिया भर में 536 बार देखा गया था। भारत में केवल लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में ही 22 बार यह पक्षी देखा गया है। यह पहला मौका है जब उत्तराखंड में यह पक्षी नजर आया है। ट्रैकिंग टीम में जगदीश नेगी, बची डंगवाल, विजय दीक्षित रेड्डी, बबीता गलिया, जेनीफर, गोपाल नायल, हरीश गौड़, कमल बिष्ट भी शामिल थे।
यह है पक्षी की पहचान
पीठ और पंखों पर व्यापक सफेद रेखा, सिर पर चांदी या चमकीला स्लेटी टोपी जैसा नजर आता है। यह पक्षी पेड़ से जमीन की तरफ तेजी से उड़ान भरता है और फिर उसी स्थान पर वापस आ जाता है।
... और पढ़ें

कोट्यूड़ा में सफेद-हरे गुब्बारे मिलने की जांच शुरू

मुनस्यारी के कोट्यूड़ा में एक पेड़ में अटके हरे-सफेद बैलून और चिट मिलने के बाद सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। एसपी ने मामले की जांच के लिए दो टीमों का गठन कर दिया है। इधर, दूसरी सुरक्षा एजेंसियां भी मामले की जांच कर रही है।
मुनस्यारी के कोट्यूड़ा गांव एक बांज के पेड़ में हरे-सफेद गुब्बारे और चिट मिलने के बाद सनसनी फैल गई। गुब्बारे और बैनर मिलने के बाद सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। पुलिस ने गुब्बारों को अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। एसपी आयुष अग्रवाल ने मामले की जांच के लिए पुलिस और एलआईयू टीम का गठन कर दिया है। एसपी का कहना है कि जांच चल रही है। जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।
बुधवार को कोट्यूड़ा के जंगल में मिले गुब्बारे के साथ एक चिट में में सर्किल स्टाइल कबड्डी वर्ल्ड कप 2020 लिखा था। ग्रामीणों ने इन गुब्बारों के पाकिस्तान से उड़कर यहां आने की आशंका जताई थी। सोशल मीडिया में भी इन गुब्बारों की खासी चर्चा रही। लोगों की आशंका के बाद पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं।
इधर पुलिस ने कहा है कि मामले की जांच की जा रही है। इन गुब्बारों के नेपाल से उड़कर यहां पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। पुलिस ने लोगों से अफवाहें न फैलाने को कहा है।
... और पढ़ें

फॉरेस्ट गार्ड भर्ती मामले में एनएसयूआई ने किया प्रदर्शन

फारेस्ट गार्ड भर्ती मामले में सरकार पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इस अवसर पर वन मंत्री हरक सिंह रावत से इस्तीफा देने की मांग की गई।
बृहस्पतिवार को एनएसयूआई जिलाध्यक्ष ऋषभ कल्पासी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष ने कहा कि फारेस्ट गार्ड की भर्ती में लापरवाही बरती गई है। युवाओं के हितों के साथ खिलवाड़ किया गया है। इस मामले में कार्यकर्ताओं ने वन मंत्री हरक सिंह रावत से इस्तीफा देने और उत्तराखंड चयन आयोग के अध्यक्ष को भी तत्काल हटाने की मांग उठाई।
कार्यकर्ताओं ने 16 फरवरी को आयोजित भर्ती परीक्षा को तत्काल निरस्त करने और पेपर लीक मामले की उच्च स्तरीय जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। कहा कि यदि उनकी मांगों पर कार्रवाई नहीं की गई तो एनएसयूआई उग्र आंदोलन करेगी। प्रदर्शन करने वालों में जिला उपाध्यक्ष रोहित बोनाल, योगेश धामी, योगेश सौन, अजय वल्दिया, शुभम कापड़ी, विकास कार्की आदि शामिल थे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us