विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विनायक चतुर्थी पर कराएं मुंबई के सिद्धि विनायक में पूजा विघ्नहर्ता हरेंगे सारे विघ्न : 27-फरवरी-2020
Astrology Services

विनायक चतुर्थी पर कराएं मुंबई के सिद्धि विनायक में पूजा विघ्नहर्ता हरेंगे सारे विघ्न : 27-फरवरी-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

उत्तराखंड: फिर बदला मौसम, बदरीनाथ-हेमकुंड समेत कई जगह बर्फबारी, निचले इलाकों में बढ़ी ठंड

उत्तराखंड में रविवार को फिर मौसम ने करवट बदली। मैदानी इलाकों में जहां हल्की धूप खिली है वहीं, पहाड़ में मौसम फिर खराब हो गया। सुबह से ही ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी शुरू हो गई। 

23 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

रुड़की

रविवार, 23 फरवरी 2020

चोरियों का खुलासा करने पर पुलिस सम्मानित

रोटरी क्लब ने कारोबारी के घर लूट और अन्य घटनाओं का खुलासा करने पर पुलिस के अधिकारियों और कर्मचारियों को सम्मानित किया। रोटरी क्लब के सदस्यों ने लोगों से आह्वान किया कि पुलिस कर्मियों की आलोचना करने के बजाय उन्हें सम्मान और सहयोग देना चाहिए।
बृहस्पतिवार को देहरादून रोड के एक होटल में आयोजित सम्मान समारोह में रोटरी क्लब रुड़की के अध्यक्ष डॉ. संजीव सैनी ने कहा कि पिछले दिनों नगर में हुई आपराधिक घटनाओं में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा। कारोबारी प्रेम मोहन के घर हुई लूट के खुलासे में भी पुलिस का कार्य सराहनीय रहा। इस मौके पर एसपी देहात एसके सिंह ने कहा कि किसी भी अधिकारी या कर्मचारी को सम्मान और स्नेह मिलता है तो उसकी कार्य करने की क्षमता और बढ़ जाती है। इसका सीधा फायदा समाज को मिलता है। कार्यक्रम का संचालन रोटरी क्लब के सुभाष सरीन ने किया।
कार्यक्रम में एसपी देहात एसके सिंह, सीओ चंदन सिंह बिष्ट, सिविल लाइंस कोतवाली प्रभारी अमरजीत सिंह, गंगनहर कोतवाली प्रभारी राजेश शाह, एसएसआई देवराज शर्मा, एसआई अंकुर शर्मा, रवींद्र कुमार, नीतीश शर्मा, प्रमोद कुमार, विनोद गोला, विनोद भट्ट, विनय द्विवेदी, नवीन पुरोहित, यशवंत खत्री, कांस्टेबल संजीव कुमार, देवेंद्र भारती, जाकिर हुसैन, मुकेश जोशी, बृजपाल सिंह, सुमित कुमार, राकेश प्रजापति, धीरज कुमार, चेतन सिंह, संदीप बहुखंडी, महिपाल तोमर, रवींद्र खत्री, सुरेश रमोला, अशोक कुमार को रोटरी क्लब की ओर से उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया। इस अवसर पर राजीव सैनी, प्रेम सरीन, एचपी काला, एसके चड्ढा, पीके शर्मा, जावेद इकबाल, प्रमोद अग्रवाल, राजेश चंद्रा, कमलेश चंद्रा, प्रेम मोहन, मदन मोहन, सुरेश सैनी, गैबरियल लॉरेंस आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

हंगामे के बीच बोर्ड की पहली बैठक में 62 प्रस्ताव पास

नगर निगम बोर्ड की पहली बैठक बृहस्पतिवार को हुई। इसमें शहरवासियों को राहत देते हुए हाउस टैक्स की बढ़ी हुईं दरें वापस लिए जाने संबंधी प्रस्ताव पास हो गया। अब यह प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा। इसके अलावा बैठक में 231 कर्मचारियों को नियमित किए जाने को भी हरी झंडी दे दी गई। जैसी कि आशंका थी, बैठक हंगामेदार रही। इस बीच 67 में से 62 प्रस्तावों पर मुहर लगा दी गई।
इस बीच 12 प्रस्तावों पर पार्षदों की ओर से आपत्ति दर्ज कराई गई, जिन्हें क्लियर किया गया। वहीं, 15 प्रस्तावों के लिए समितियों का गठन किया गया है। निगम का हॉल बृहस्पतिवार सुबह से ही खचाखच भरा था। करीब सवा 11 बजे जैसे ही बैठक शुरू हुई, हंगामा भी शुरू हो गया। आलम यह था कि करीब एक घंटे तक अव्यवस्थाओं के बीच महज चार पांच प्रस्ताव ही पास हो पाए।
इस बीच झबरेड़ा विधायक देशराज कर्णवाल के बोलने पर मेयर के अलावा पार्षदों ने भी विरोध जता दिया। हंगामा बढ़ा तो शहर विधायक प्रदीप बत्रा ने कहा कि बोर्ड में बोलने का ज्यादा अधिकार पार्षदों का है। इसलिए अब विधायक नहीं, बल्कि पार्षदों की बात सुनी जाएगी। इसके बाद एक-एक कर प्रस्तावों ने गति पकड़ी।
बीच-बीच में पार्षदों की गुस्से, टकराव और हंगामे का सिलसिला चलता रहा। करीब पांच घंटे की लंबी बैठक के बाद कुल 67 प्रस्तावों में से 62 पर मुहर लगा दी गई। इस दौरान कुल 99 करोड़ 50 लाख 445 रुपये का बजट पेश हुआ। जिसमें वर्तमान सत्र का करीब 47 करोड़ और इससे पहले की अवशेष धनराशि 51 करोड़ 63 लाख शामिल है।
बोर्ड बैठक में पास हुए मुख्य प्रस्ताव:
- नगर निगम में डिस्पेंसरी स्थापित करने, कैंटीन बनाने, नेहरू स्टेडियम के सौंदर्यीकरण समेत 12 अन्य कार्य होंगे।
- नगर निगम की दुकानों और क्वार्टर्स में नाम बदलने के लिए प्रीमियम और किराए में वृद्धि कम करने।
- नगर निगम में आउटसोर्स एवं स्वच्छता समिति के माध्यम से कार्यरत कर्मचारियों और विभिन्न अनुभागों में कार्यरत 231 कर्मचारियों के पदों को वन टाइम ओनली के अंतर्गत नियमित पदों में परिवर्तित किया जाएगा।
- नगर निगम में आउटसोर्स में रखे गए कर्मचारियों के ऊपर होने वाले खर्च हो रहा है, बावजूद इसके वह कोई काम नहीं कर रहे हैं। ऐसे में उनकी जांच कर हटाए जाया। साथ ही बायोमीट्रिक मशीन भी लगाई जाएगी।
- नगर निगम में पेंशनधारियों के लिए सेल बनाकर एक टोल फ्री नंबर जारी किया जाएगा। जिससे वह घर बैठे कार्य कर सकें।
- प्रत्येक वार्ड में स्ट्रीट लाइट और बिजली के खंभे लगेंगे।
- नगर निगम में स्वास्थ्य अनुभाव का विस्तार और अधिक कर्मचारियों की होगी तैनाती।
- नगर निगम में वरिष्ठ नागरिकों के लिए बनेगा कक्ष।
- कृष्णानगर, राजेंद्रनगर और शास्त्रीनगर को जोड़ने वाले मुख्य मार्ग का नाम शहीद तुषार धीमान के नाम पर होगा।
- मछली बाजार के लिए मल्टीस्टोरी बिल्डिंग बनेगी।
- रुड़की नगर निगम सभागार के जीर्णोद्धार और निगम के संसाधनों से ऑडिटोरियम का निर्माण किया जाएगा।
----------------
ये हुए रदद-
-नगर निगम में किन्नरों के लिए बधाई शुल्क निर्धारित न किए जाने का प्रस्ताव।
-सभी पार्षदों के इंदौर घूमने जाने का प्रस्ताव।
-सोलानीपुरम के दो मोहल्लों प्रेम कुंज और सोलानीपुरम को मलकपुर से अलग करने का प्रस्ताव।
-समितियों, बोर्ड और संस्थाओं की ओर से कार्यालय खोलने के लिए निगम की भूमि मांगने का प्रस्ताव रद्द।
-अस्पतालों के मेडिकल वेस्ट और कूड़े डालने के लिए नगर निगम के ट्रेंचिंग ग्राउंड की मांग रद्द।
... और पढ़ें

26 फरवरी तक भुगतान नहीं होने पर होगा विशाल प्रदर्शन

गन्ना भुगतान की मांग को लेकर भारतीय किसान यूनियन (तोमर) ने लिब्बरहेड़ी में उत्तम शुगर मिल के गेट के सामने धरना प्रदर्शन किया। शाम को किसानों ने 26 फरवरी तक भुगतान की चेतावनी देकर धरना समाप्त कर दिया।
बृहस्पतिवार सुबह मिल गेट पर धरना प्रदर्शन के लिए भारी संख्या में किसान पहुंचे। धरने से पहले किसानों ने हवन पूजन किया। शाम करीब साढ़े चार बजे मिल प्रबंधन की ओर से एजीएम अनिल सिंह को किसानों के साथ वार्ता करने के लिए मिल गेट पर भेजा गया। कुछ देर वार्ता करने के बाद एजीएम के साथ किसानों की झड़प हो गई। किसानों ने एजीएम पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए वार्ता करने से इनकार कर दिया और धरना जारी रखा। यूनियन के जिला अध्यक्ष विकेश बालियान ने कहा किसानों का शोषण किया जा रहा है। देर शाम किसानों ने 26 फरवरी तक भुगतान नहीं होने पर विशाल प्रदर्शन की चेतावनी देकर धरना समाप्त कर दिया। इस दौरान जिलाध्यक्ष मुजफ्फरनगर अखिलेश, ऋषिपाल, अनिल, बॉबी, प्रवीण, प्रदीप, सोनवीर, संजीव,श्रवण, सतपाल, लीलू, पुष्पेंद्र, मांगेराम, समीर, निशांत, देशराज, जितेंद्र, सतपाल, गयूर, विक्की तोमर, शमशाद, पुनीत आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

भारत बंद: सीएए और एनआरसी के विरोध में सरकार के खिलाफ भीम आर्मी का हल्ला बोल, सड़कों प उतरकर किया प्रदर्शन

सीएए और एनआरसी के विरोध में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने हरिद्वार और रुड़की में जमकर प्रदर्शन किया। भारत बंद के ऐलान को देखते हुए शहर से लेकर देहात तक भारी सुरक्षा बल तैनात किया गया है। पुलिस की भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं पर पैनी नजर रही। 

कार्यकर्ताओं ने राजधानी देहरादून समेत रुड़की, मंगलौर, झबरेड़ा, कलियर, हरिद्वार और ज्वालापुर में जमकर प्रदर्शन किया। इस दौरान शहर से लेकर देहात तक पुलिस ने स्थिति को संभाला।

भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष महक सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार बनाए गए कानूनों को जबरन लोगों पर थोप रही है। लोगों के साथ ये जबरदस्ती बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अगर सरकार अपना फैसला नहीं बदलती तो कार्यकर्ता आंदोलन को तेज करेंगे।  

देहरादून में भी पुलिस ने शहर को जोन और सेक्टरों में बांटकर संवेदनशील इलाकों में पुलिस गश्त बढ़ा दी। पुलिस को हिदायत दी गई है कि जबरन बंद कराने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।
... और पढ़ें
भीम आर्मी का प्रदर्शन भीम आर्मी का प्रदर्शन

नगर निगम: दो मकान स्वामियों के बनाए फर्जी दस्तावेज -

नगर निगम कर्मचारियों की ओर से मिलीभगत कर दो संपत्ति मालिकों के फर्जी दस्तावेज बनाने की शिकायत पुलिस के पास पहुंची है। दोनों मकान मालिकों ने आरोप लगाया है कि फर्जी दस्तावेज बनाकर उनकी संपत्ति बेच दी गई है। शिकायत के आधार पर पुलिस दोनों मामलों की गंभीरता से जांच कर रही है। साथ ही सभी दस्तावेजों को कब्जे में लेने की तैयारी कर रही है।
मकान मालिकों के फर्जी दस्तावेज बनाने का प्रकरण नगर निगम का पीछा नहीं छोड़ रहा है। लगातार ऐसे मामले सामने आने से नगर निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों की खूब फजीहत हो रही है। ऐसे ही दो और मामले शुक्रवार को सिविल लाइंस कोतवाली पुलिस के पास पहुंचे हैं, जिनमें नगर निगम कर्मचारियों पर मिलीभगत कर भवन के फर्जी दस्तावेज बनाने का आरोप लगाया गया है। आरोप है कि कुछ लोगों ने नगर निगम के कर्मचारियों से मिलकर उनके नाम के फर्जी दस्तावेज बनाए और संपत्ति किसी को बेच दी है। वहीं, पुलिस ने दोनों शिकायतकर्ताओं से असली दस्तावेजों की सूची मांगी है। दोनों मामलों में पुलिस जल्द ही नगर निगम के कर्मचारियों से पूछताछ कर सकती है।
साथ ही दस्तावेजों की कॉपी कब्जे में लेने की तैयारी कर रही है। हालांकि, पुलिस जांच पूरी होने तक शिकायचकर्ताओं के नाम का खुलासा करने से बच रही है। क्योंकि, हाल ही में इसी तरह के एक मामले में नगर निगम के क्लर्क को गिरफ्तार कर जेल भेजने को लेकर नगर निगम के कर्मचारियों और पूर्व मेयर यशपाल राणा ने विरोध किया था। इसके बाद पुलिस को अन्य कर्मचारियों की गिरफ्तारी को लेकर बैकफुट पर आना पड़ा था। बताया जा रहा है कि एक शिकायकर्ता मोहल्ला सोत और दूसरा चाव मंडी निवासी है। मामले की जांच कर रहे एसआई बारू सिंह चौहान ने बताया कि शिकायत पर जांच चल रही है। जांच में जो भी सामने आएगा, उसी के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
--
पहले भी हो चुका है केस दर्ज
रुड़की के मोहल्ला कानून गोयान निवासी पंकज सिंघल ने पिछले साल जून में पुलिस को तहरीर देकर बताया था कि नगर निगम के रिकॉर्ड क्लर्क शिव कुमार ने कूटरचना कर उनकी दादी के नाम मकान के फर्जी हाउस टैक्स बिल, जन्म प्रमाणपत्र समेत अन्य दस्तावेज बनाए थे। इन दस्तावेजों के आधार पर किराएदार ने मकान बेच दिया था। शिकायत सही पाए जाने पर सिविल लाइंस कोतवाली पुलिस ने क्लर्क शिव कुमार निवासी मकतूलपुरी के खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया था। साथ ही कई अन्य कर्मचारियों के नाम भी सामने आए थे। इन कर्मचारियों के संलिप्तता की जांच चल रही है।
... और पढ़ें

तहसीलदार- विधायक मामले ने पकड़ा तूल

तहसीलदार और विधायक के बीच हुई नोकझोंक का मामला तूल पकड़ता नजर आ रहा है। किसान कांग्रेस के पदाधिकारियों ने तहसीलदार का पुतला फूंककर उनके ट्रांसफर की मांग की है।
पिछले दिनों तहसीलदार कार्यालय में तहसीलदार भगवानपुर सुशीला कोठियाल और विधायक ममता राकेश के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। तब तहसीलदार और विधायक के बीच जमकर नोकझोंक हुई थी। शनिवार को किसान कांग्रेस कमेटी रुड़की ग्रामीण के जिलाध्यक्ष सेठपाल सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने भगवानपुर तहसील गेट पर तहसीलदार का पुतला फूंका। पदाधिकारियों का आरोप था कि तहसीलदार मनमाना रवैया अपनातीं हैं। यदि विधायक ने जनता के पक्ष में आवाज उठाई तो तहसीलदार ने उनके साथ निंदनीय व्यवहार किया। पदाधिकारियों ने प्रदेश सरकार से तहसीलदार का ट्रांसफर किए जाने की मांग की है। इस दौरान बृजपाल प्रधान, उदय त्यागी, आबाद, नूरहसन, अमित त्यागी, मदन, शुभम शर्मा, महेंद्र सिंह, मिंटू परमार व हुकम सिंह सैनी आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

गन्ना भुगतान को तीनों शुगर मिलों को नोटिस जारी

गन्ना एवं चीनी आयुक्त ने हरिद्वार जिले के तीनों शुगर मिलों को भुगतान के संबंध में नोटिस जारी किए हैं। शुगर मिलों को छह फरवरी तक का भुगतान करने के आदेश दिए गए हैं। यदि ऐसा नहीं होता है तो तीनों शुगर मिलों को वसूली प्रमाण पत्र जारी करने की चेतावनी दी गई है।
जिले की तीनों शुगर मिलों पर वर्तमान पेराई सत्र का करीब 250 से अधिक बकाया चल रहा है। भुगतान को लेकर किसान आए दिन आंदोलन कर रहे हैं। किसानों का कहना है कि भुगतान की बेहद धीमी गति के कारण बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। किसानों की समस्याओं को देखते हुए गन्ना एवं चीनी आयुक्त ललित मोहन रयाल ने तीनों शुगर मिलों को भुगतान के संबंध में नोटिस जारी कर दिए हैं। तीनों शुगर मिलों को जारी अलग-अलग नोटिस में बताया गया है कि 21 फरवरी तक पेराई करने के साथ ही छह फरवरी तक का भुगतान किया जाना चाहिए था। क्योंकि गन्ना एक्ट के अनुसार पंद्रह दिन में भुगतान करना होता है, लेकिन तीन शुगर मिल इससे कहीं पीछे हैं। गन्ना आयुक्त ने तीनों शुगर मिलों को तुरंत छह फरवरी तक का भुगतान करने के आदेश दिए हैं। चेतावनी दी है कि यदि भुगतान नहीं किया जाता है तो तीनों शुगर मिलों की आरसी जारी की जाएगी। नोटिस जारी होने की खबर पता लगने के बाद किसानों में खुशी की लहर है। किसान मानकर चल रहे हैं कि अब उन्हें जल्द ही भुगतान मिल जाएगा।
गन्ना आयुक्त के तीनों शुगर मिलों को नोटिस जारी करने के बाद बकाया भुगतान की आस जगी है। भुगतान मिलेगा तो किसान होली का त्योहार अच्छे से मना सकते हैं। भुगतान न होने पर नोटिस का सख्ताई से पालन भी होना चाहिए।
- महकार सिंह, जिलाध्यक्ष, उकिमो
शुगर मिलें वर्तमान पेराई सत्र का 250 करोड़ से अधिक का भुगतान दबाएं बैठी है। नोटिस जारी होने के बाद किसानों को राहत मिलेगी। प्रदेश सरकार इकबालपुर शुगर मिल का पिछले दो साल का बकाया भुगतान भी जारी कराएं।
- राकेश अग्रवाल, राष्ट्रीय अध्यक्ष, राष्ट्रीय किसान-मजदूर संगठन सोसायटी
शुगर मिलों पर जब तक दबाव नहीं पड़ता है, तब तक भुगतान नहीं करती है। किसानों की समस्याओं से शुगर मिलों को कोई सरोकार नहीं है। नोटिस जारी होने के बाद भुगतान जल्द मिलने की उम्मीद जगी है।
- विकेश चौधरी, जिला अध्यक्ष, भाकियू तोमर
... और पढ़ें

आईआईटी की छात्रा के पुलिस ने दर्ज किए बयान

छेड़छाड़ के मामले में आईआईटी से पीएचडी कर रही छात्रा के पुलिस ने बयान दर्ज किए। साथ ही आईआईटी की कमेटी से भी मामले में जानकारी ली। वहीं, छात्रा की तहरीर के आधार पर देर रात पुलिस ने संस्थान के आरोपी छात्र नितिन ढाका निवासी बागपत के खिलाफ छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कर लिया।
आईआईटी रुड़की से पीएचडी कर रही एक छात्रा ने शुक्रवार शाम कोतवाली पहुंचकर जूनियर सहपाठी पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। आरोप था कि वह पिछले करीब दो साल से उसे परेशान करता आ रहा है। कई बार समझाने के बाद भी वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आया। आरोप लगाया था कि शुक्रवार को उसने फिर छेड़छाड़ कर दी थी। मामला आईआईटी की छात्रा से जुड़ा होने पर पुलिस ने गंभीरता से जांच शुरू कर दी थी। साथ ऐसे मामलों की जांच के लिए गठित आईआईटी की कमेटी से भी जानकारी ली थी। शनिवार को पुलिस ने आईआईटी स्थित छात्रावास पहुंचकर छात्रा के बयान दर्ज किए। साथ ही कई बिंदुओं पर जानकारी ली। वहीं, पुलिस छात्रा के सहपाठी से भी पूछताछ कर रही है। इतना ही नहीं आईआईटी परिसर के सीसीटीवी कैमरे खंगालने के साथ ही अन्य छात्र-छात्राओं से भी जानकारी ले रही है। कोतवाली प्रभारी अमरजीत सिंह ने बताया कि छात्रा के बयान दर्ज किए गए हैं।
... और पढ़ें

लाहौरी और उत्कल एक्सप्रेस में चीनी पर्यटक समेत तीन महिलाओं से लूटपाट, आरोपी फरार

अलग-अलग ट्रेनों से हरिद्वार आ रही चीनी महिला पर्यटक समेत तीन महिलाओं से बदमाशों ने लूटपाट की वारदात को अंजाम दे डाला। चीनी महिला पर्यटक से बदमाशों ने लाहौरी एक्सप्रेस में सहारनपुर के पास बैग लूट लिया तो वहीं उत्कल एक्सप्रेस में टपरी स्टेशन के पास दो महिलाओं से नकाबपोश बदमाशों ने मोबाइल लूट लिया और फरार हो गए।

महिलाएं मदद के लिए चिल्लाती रहीं और बदमाश चलती ट्रेन से कूदकर फरार हो गए। चीनी महिला की तहरीर पर रुड़की जीआरपी ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं, दूसरी ट्रेन में लूट की शिकार एक अन्य महिला ने भी तहरीर दी है।

चीन की यूयांग शोकन कुछ दिन पहले अमृतसर घूमने आई थीं। गुरुवार सुबह करीब पांच बजे वह अमृतसर से देहरादून जाने वाली लाहौरी एक्सप्रेस से हरिद्वार घूमने आ रही थीं। जैसे ही ट्रेन सहारनपुर से निकली तो कोच में सवार नकाबपोश बदमाश ने झपट्टा मारकर यूयांग के हाथ से पर्स छीन लिया और ट्रेन से कूदकर फरार हो गया। महिला पर्यटक ने शोर मचाया, लेकिन तब तक ट्रेन ने रफ्तार पकड़ ली थी।

अन्य यात्रियों ने कोच में चलने वाली गारद की तलाश की, लेकिन कोई सिपाही नहीं मिला। विदेशी महिला ने रुड़की रेलवे स्टेशन पहुंचकर जीआरपी चौकी में शिकायत की। साथ ही स्थानीय लोगों की मदद से तहरीर देकर बताया कि बैग में इंडियन करेंसी के दस हजार रुपये, मोबाइल, पहचान पत्र, पासपोर्ट था। चौकी इंचार्ज अमित कुमार ने बताया कि केस दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

हर हर महादेव की गूंज के साथ किया जलाभिषेक

महाशिवरात्रि पर शहर और देहात के मंदिरों में जलाभिषेक करने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। मंदिरों के बाहर जलाभिषेक करने वालों की लंबी लाइनें लगी रही। कई मंदिरों में शाम पांच बजे तक जलाभिषेक होता रहा। सुरक्षा के मद्देनजर मंदिरों के बाहर पुलिस तैनात रही। जलाभिषेक के लिए मंदिरों को फूलों से सजाया गया था।
शुक्रवार को शिवरात्रि पर जलाभिषेक करने के लिए सिविल लाइंस स्थित शिव मंदिर के बाहर सुबह पांच बजे से ही श्रद्धालुओं की लाइनें लगनी शुरू हो गई थी। मंदिर के बाहर से कोतवाली के आगे तक करीब तीन सौ मीटर लंबी लाइन लगी रहीं। सुरक्षा के मद्देनजर मंदिर के बाहर सुबह ही पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। पुलिस ने बेरिकेडिंग लगाकर ई-रिक्शा और अन्य वाहनों की आवाजाही रोक रखी थी। मंदिर में दोपहर ढाई बजे तक जलाभिषेक होता रहा। इस मौके पर श्री सनातन धर्म रक्षणि सभा रुड़की के मंत्री सौरभ भूषण शर्मा ने कहा कि महाशिवरात्रि पर मंदिर में भव्य साज सज्जा की गई। भक्तों को किसी प्रकार की समस्या पैदा न हो इसके लिए मंदिर में मुख्य पुजारी के अलावा दो अन्य पंडितों की व्यवस्था की गई। इस मौके पर सभा के प्रधान चंद्र प्रकाश अग्रवाल, नवीन अग्रवाल, अनुज शर्मा, रोहित शांडिल्य, सावित्री मंगला आदि मौजूद रहे। वहीं रामनगर में भी शिवरात्रि पर राम मंदिर में सुबह पांच से ही जलाभिषेक शुरू हो गया था। मंदिर के पुजारी पंडित कैलाश शास्त्री ने बताया कि दोपहर दो बजे तक मंदिर के अंदर से प्रांगण में लंबी लाइन लगी थी। मंदिर में शाम चार बजे तक जलाभिषेक होता रहा। सनातन धर्म मंदिर समिति के अध्यक्ष जगदीश मेंदीरत्ता सहित सभी सदस्य उपस्थित रहे। उधर, सिविल लाइंस स्थित प्रेम मंदिर में भी सुबह से ही जलाभिषेक करने के लिए लंबी लाइन लगी थी। तहसील स्थित शिवमंदिर में भी अधिवक्ताओं और अन्य लोगों ने जलाभिषेक किया। ढंडेरा स्थित शिव मंदिर, पनियाला रोड स्थित संतोषी माता मंदिर, शिवपुरम स्थित शिवमंदिर, सुभाष नगर स्थित शिव मंदिर, कृष्णानगर स्थित शिव मंदिर में लोगों ने जलाभिषेक किया। कई मंदिरों में प्रसाद बांटा गया।
भगवानपुर क्षेत्र में भी किया जलाभिषेक
भगवानपुर। शिवरात्रि को लेकर भगवानपुर में भी सुबह पांच बजे से ही लोग जलाभिषेक करते दिखे। कई गांवों में सुबह 11 बजे तक लंबी लाइन लगी रही। वहीं नन्हेड़ा अनंतपुर के प्राचीन शिव मंदिर में लोग सुबह से ही जलाभिषेक करने के लिए लाइन में लग गए थे। गांव में बालाजी महाराज युवा कमेटी के सदस्य राजेश धीमान, मोहित धीमान, विक्की त्यागी, सिमरन, कमलेश में पूरी व्यवस्था बनाए रखी। वहीं खानपुर, खुब्बनपुर, मक्खनपुुर, भगवानपुर, शाहपुर, सिकरोढ़ा, सिकंदरपुर, मंडावर, सिसौना, रायपुर, रुहालकी दयालपुर, धीरमजरा, डाडा जलालपुर, मानक मजरा, अकबरपुर कालसो, हालूमजरा आदि गांवों में शिवरात्रि के अवसर मंदिरों में जलाभिषेक किया गया। वहीं चौली शहाबुद्दीनपुर स्थित प्राचीन शिव मंदिर में जलाभिषेक किया गया। मंदिर परिसर में मेले का आयोजन किया गया।
महाशिवरात्रि पर दो दिवसीय मेले का आयोजन
लक्सर। महाशिवरात्रि पर कस्बे में स्थित प्राचीन शिव मंदिर पर दो दिवसीय विशाल मेले का आयोजन किया गया। मेले में क्षेत्र के दर्जनों गांव के अलावा सहारनपुर व मुजफ्फरनगर के शिव भक्त भी पहुंचे। ग्रामीण शेखर चौधरी, रजत शर्मा व सुरेश शर्मा आदि ने बताया कि मंदिर को लेकर बहुत पुरानी कथा प्रचलित है। बताते हैं कि वर्षों पहले एक ब्राह्मण परिवार को जमीन पर शिव पिंडी दिखाई दी थी। इसके बाद उन्होंने वहां पर मंदिर का निर्माण करा दिया गया था। तभी से यह स्थल आस्था का केंद्र बना हुआ है। मंदिर के पुजारी अरविंद शर्मा ने बताया कि शिवरात्रि पर मंदिर के आस पास विशाल मेले का आयोजन किया जाता है। इसमें कुआं खेड़ा, भुरनी खतीरपुर, मथाना, न्यामतपुर, गनौली, खेड़ीकलां, प्रह्लादपुर, करणपुर, दाबकी, सेठपुर, मुंडाखेड़ा, जैतपुर, सुल्तानपुर, नगला, सैदाबाद व रायसी आदि गांव के अलावा सहारनपुर से मुजफ्फरनगर क्षेत्र के श्रद्धालु भी प्रसाद चढ़ाने के लिए आते हैं।
जलाभिषेक कर मांगी मन्नतें
खानपुर। जटाशंकर महादेव मंदिर पर क्षेत्र के प्रहलादपुर गांव के ग्यारह शिवभक्तों ने हरिद्वार से गंगा जल लेकर सबसे पहले जलाभिषेक किया। महाशिवरात्रि पर क्षेत्र के सैकड़ों श्रद्धालु हरिद्वार से गंगाजल और कांवड़ लेकर खानपुर पहुंचे, जहां उन्होंने जटाशंकर महादेव मंदिर परिसर में स्थित शिवलिंग का जलाभिषेक किया। क्षेत्र के प्रहलादपुर गांव निवासी 11 शिवभक्तों ने हरिद्वार से सबसे कम समय में खानपुर जटाशंकर महादेव मंदिर पहुंचकर जलाभिषेक किया। शिवभक्तों में गोलू गुर्जर, विकास, सचिन खटाणा, नितेश कुमार, आकाश कर्णवाल, विश्वजीत, पुनीत, देवेश, सचिन आदि शामिल रहे। वहीं जटाशंकर महादेव मंदिर परिसर में तीन दिवसीय मेले का आयोजन किया गया।
पंचलेश्वर और पथरेश्वर महादेव में किया जलाभिषेक
सुल्तानपुर। क्षेत्र के पंचलेश्वर और पथरेश्वर महादेव मंदिर में शिव भक्तों ने बेल पत्र, धूप-दीप, पंचामृत इत्यादि से पूजा-अर्चना कर मन्नतें मांगी। इन मंदिरों में रात्रि के समय से ही बम-बम के जयकारों के साथ शिव भक्तों की भीड़ लगी रही। यहां जलाभिषेक करने के लिए सुबह से ही शिव भक्तों की भीड़ लगी रही। शिव भक्त बम-बम के जयकारों के साथ पूजा-अर्चना करते रहे। वहीं झबरेड़ा, चुड़ियाला, मंगलौर, इमलीखेड़ा के मंदिरों में जलाभिषेक किया गया। यहां भी मंदिरों के बाहर पुलिस की ओर से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे।
जलाभिषेक के साथ हुआ हवन पूजन और भंडारा
नारसन/झबरेड़ा। नारसन के गांव बह्मपुर जट, मोहमदपुर, सकौती आदि गांव के ग्रामीणों ने सुबह चार बजे से ही शिवालयों में जलाभिषेक कर हवन पूजन कर भंडारे का आयोजन किया। बह्मपुर जट में हरिद्वार से पहुंचे संतों ने जलाभिषेक कर एक यज्ञ किया। इसमें सभी ग्रामीणों ने व कांवड़ लेकर आ रहे ग्रामीणों के सैकड़ों मेहमानों ने अपनी मनोकामना के लिए बोली गई कांवड़ चढ़ाकर हवन पूजन किया। इसके बाद जलाभिषेक कर भंडारे में प्रसाद ग्रहण किया। इस मौके पर जितेंद्र, कंवरपाल, शिवकुमार, संदीप धीमान, महाराज सिंह, चांदवीर मलिक, अनीश मलिक, सुधीर मलिक,सुदेशपाल मलिक, धर्मवीर कौरी आदि मौजूद रहे। उधर, झबरेड़ा के इकबालपुर, कुंजाबहादुरपुर, सुनेहटी, बेहडेकी, लाठरदेवा, झबरेड़ा में नंदा वाला बाग में शिवमंदिर पर व लखनौता आदि गांव में जलाभिषेक करने वालों की मंदिरों में कतारें लगी रही।
जलाभिषेक के लिए उमड़े श्रद्धालु
पिरान कलियर। शुक्रवार को महाशिवरात्रि के मौके पर कलियर के महमूदपुर गाव में स्थित प्राचीन शिव मंदिर में शिवभक्तों ने जलाभिषेक, हवन पूजन कर भंडारे का आयोजन किया। इसके अलावा देहात क्षेत्र के सभी शिवमंदिरों में शिवभक्तों की भारी भीड़ लगी रही। लंबी कतारों में लगकर शिव भक्तों ने बेल पत्र दूध दही व शहद से भी शिवलिंग नहलाया व चंदन से तिलक किया। क्षेत्र के इमलीखेड़ा मेहवड़ कलां बाजूहेड़ी, मेहवड़ खुर्द, बेलड़ा, मोहम्मदपुर, गुम्मावाला माजरी आदि गांवों में भी जलाभिषेक किया गया। इस दौरान जय भगवान सैनी, नरेंद्र पूरी, महेश भारद्वाज, विपिन कुमार, सूर्यकांत, पप्पू कश्यप, अभिषेक सैनी, संजय सैनी, श्याम सिंह, राकेश, देशबंधु, परवीन सिंधु, सन्धु, अजय, सोनू, संजय सैनी, अंकित सैनी, राजेश सैनी, प्रताप, मुकेश, रवि, सत्तू, राजेंद्र, अंकित शर्मा, अनूप, धर्मपाल, संदीप सैनी, सुमित, पीयूष, अनिल पाल, सुंदर आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

फायर ब्रिगेड को मिलेंगे हाईटेक संसाधन: आईजी फायर

आईजी फायर अमित सिन्हा ने कहा कि रुड़की फायर स्टेशन को हाईटेक संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे। पुराने वाहनों की जगह नए वाहन उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके अलावा मैन पावर भी बढ़ाई जाएगी। कहा कि कुंभ को देखते हुए जिले के सभी फायर स्टेशनों को पर्याप्त संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे।
शुक्रवार को आईजी फायर अमित सिन्हा ने सिविल लाइंस कोतवाली परिसर स्थित फायर ब्रिगेड स्टेशन का निरीक्षण किया। साथ ही फायर स्टेशन में उपलब्ध वाहनों और आग बुझाने वाले संसाधनों की जानकारी ली। इस दौरान आईजी ने कहा कि कुंभ को देखते हुए मैन पावर बढ़ाने के लिए शासन की ओर से जल्द ही भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इसके अलावा जहां-जहां जिले में मैन पावर की कमी है, वहां मैन पावर बढ़ाई जाएगी। जिले में जहां-जहां पर फायर स्टेशनों पर संसाधनों की कमी है, वहां पर पर्याप्त संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे। जहां पर पुराने वाहन हैं, वहां पर नए वाहन उपलब्ध कराए जाएंगे। रुड़की में फायर स्टेशन शहर के बीच में है और जगह भी पर्याप्त नहीं है। जल्द ही फायर स्टेशन को स्थानांतरण करने के लिए शहर के आसपास जगह चिह्नित कराई जाएगी। इसके बाद फायर स्टेशन को यहां से शिफ्ट कर दिया जाएगा।
आग बुझाने वालों को लगता है ‘पानी से डर’
रुड़की। बड़े से बड़े अग्निकांड पर काबू पाने वालों को जब खुद ही पानी का डर सताए तो यह जरूर हैरत की बात होगी। जी हां! ऐसा ही आलम है रुड़की फायर ब्रिगेड स्टेशन का। भवन की दीवारें और छत जर्जर हो चुकी है। थोड़ी सी बारिश होते ही छतों से पानी टपकता है। पता नहीं कब छत का प्लास्टर गिर जाए। फायर स्टेशन पर तैनात कर्मचारी डर के साए में दफ्तर और बैरक में रहते हैं। बारिश की आहट से ही फायर कर्मचारी सहम जाते हैं।
रुड़की फायर स्टेशन पर बड़ी से बड़ी आग बुझाने की जिम्मेदारी है। चाहे वह रुड़की क्षेत्र में हो या फिर मंगलौर, भगवानपुर, झबरेड़ा, लक्सर, बुग्गावाला हो। फायर कर्मचारी अपनी जान पर खेलकर बड़ी से बड़ी आग को शांत कर देते हैं। कई बार फायर कर्मचारियों के साहस ने कई जान भी बचाई है तो बड़ा नुकसान होने से भी बचाया है। फायर कर्मचारी फायर ब्रिगेड की गाड़ियों में भरे पानी से पाइप के जरिये आग से खेलते हैं और निडर होकर डटे रहते हैं। लेकिन जब बात फायर स्टेशन और बारिश की हो तो वह सहम जाते हैं। जी हां! फायर कर्मचारियों को बारिश के पानी से डर लगता है। दरअसल, फायर स्टेशन की छत कई जगहों से जर्जर हो चुके हैं तो दीवारों में दरारें आ गई हैं। आलम यह है कि कई बार तो बारिश में छत का प्लास्टर टूटकर गिर चुका है। इतना ही नहीं छत से बारिश का पानी टपकता है। ऐसे में बरसात के मौसम में फायर कर्मचारी बैरक और दफ्तर में डर के साए में रहते हैं। पता नहीं कब छत से प्लास्टर टूटकर गिर जाए और छत से पानी टपक जाए।
रुड़की फायर स्टेशन को शिफ्ट करने की योजना है। इसके लिए प्रस्ताव तैयार कराया जा रहा है। रुड़की फायर स्टेशन को पुरानी बिल्डिंग की जगह नए स्थान पर शिफ्ट किया जाएगा। जल्द ही जगह चिह्नित कर उपलब्ध कराई जाएगी।
- अमित सिन्हा, आईजी फायर
... और पढ़ें

कीचड़ से गुजरे वाहन, परेशान रहे लोग

पुहाना-छुटमलपुर के निर्माणाधीन फॉर लाइन हाईवे की सर्विस लेन को कच्चा छोड़ दिया गया है। इस कारण शुक्रवार को बारिश में कच्ची सर्विस लेन से राहगीरों के लिए निकलना मुसीबत भरा रहा। सर्विस लेन में हुए गड्ढों में गिरकर कई राहगीर घायल भी हो गए।
इन दिनों पुहाना से लेकर छुटमलपुर तक फॉर लेन हाईवे का निर्माण चल रहा है। हाईवे निर्माण का कार्य लगभग अंतिम चरण की ओर है। दावे किए जा रहे हैं कि 31 मार्च 2020 तक हाईवे निर्माण का काम पूरा कर लिया जाएगा। मगर आज तक भगवानपुर में सर्विस रोड नहीं बनाई गई है। इस कारण अति व्यस्त रुड़की-छुटमलपुर मार्ग से गुजरने वाले वाहनों को कच्ची सड़क से होकर गुजरना पड़ रहा है। वहीं शुक्रवार की रात हुई बारिश ने राहगीरों की समस्या और अधिक बढ़ा दी। बारिश से कच्ची सर्विस रोड के गड्ढों में पानी भर गया। इस कारण यहां से राहगीरों का निकलना दूभर हो गया। इसके साथ ही कई लोग सर्विस रोड के गड्ढों में गिरकर घायल भी हो गए। स्थानीय निवासी राजेश, योगराज, तजम्मूल, सलीम, जावेद, प्रमोद, विक्की, सुनील आदि का कहना है कि हाईवे बना रही कंपनी को पहले सर्विस रोड पक्की करनी चाहिए थी। वहीं दूसरी ओर कंपनी के अधिकारी मुकेश कुमार का कहना है कि भगवानपुर में ओवरब्रिज पर मिट्टी डालने का काम चल रहा है। उम्मीद है कि 31 मार्च तक काम पूरा हो जाए। इसके बाद ही सर्विस रोड का निर्माण संभव है।
आपस में भिड़े दो चालक
शुक्रवार को बारिश के बाद सर्विस रोड पर भरा पानी विवादों का भी कारण बना। दरअसल सर्विस लेन से गुजर रही एक टैक्सी के पहिये से उछला पानी बाइक सवार पर जा गिरा। इससे बाइक सवार ने ड्राइवर के साथ गाली गलौज कर दी। कुछ ही देर में मामला मारपीट तक जा पहुंचा। इससे फिर लंबा जाम लग गया। बाद में कुछ लोगों ने मामला शांत कराया।
... और पढ़ें

तीनों शुगर मिलों पर ढ़ाई सौ करोड़ के पार पहुंचा भुगतान

हरिद्वार जिले के तीनों शुगर मिल पेराई के सापेक्ष गन्ने का भुगतान नहीं कर रहे हैं। दिन प्रतिदिन शुगर मिलों पर गन्ना भुगतान बढ़ता जा रहा है। आलम यह है कि तीनों शुगर मिलों पर वर्तमान पेराई सत्र का ढाई सौ करोड़ से ज्यादा बकाया भुगतान पहुंच चुका है। किसान नेता शासन-प्रशासन से गन्ना भुगतान तुरंत जारी कराने की मांग कर रहे हैं। वहीं भुगतान न होने पर आंदोलन की चेतावनी दे रहे हैं।
हरिद्वार जिले के किसान लक्सर, लिब्बरहेड़ी व इकबालपुर शुगर मिल को गन्ने की आपूर्ति करते हैं। पेराई सत्र 2019-2020 शुरू हुए करीब चार माह का समय गुजर चुका है। पेराई सत्र की शुरुआत से ही तीनों शुगर मिलों द्वारा किसानों का गन्ना खरीदा जा रहा है। ऐसा नहीं है कि शुगर मिलों द्वारा भुगतान नहीं किया जा रहा है, लेकिन भुगतान की गति बेहद धीमी है। इस कारण शुगर मिलों पर किसानों का भुगतान दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। ऐसे में वर्तमान पेराई सत्र का करीब ढाई सौ करोड़ से ज्यादा तीनों शुगर मिलों पर बकाया हो गया है।
समय पर गन्ना भुगतान न होने से किसान परेशान हैं। उत्तराखंड किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष गुलशन रोड़, राष्ट्रीय किसान-मजदूर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश अग्रवाल, भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष विजय शास्त्री का कहना है कि यदि प्रशासन को किसानों से सरोकार है तो गन्ना भुगतान तुरंत जारी कराया जाना चाहिए। अन्यथा उनके सामने आंदोलन के सिवाय कोई रास्ता नहीं बचेगा। सहायक गन्ना आयुक्त शैलेंद्र सिंह ने बताया कि शुगर मिलों द्वारा धीरे-धीरे भुगतान किया जा रहा है। बकाया भुगतान को लेकर भी प्रयास चल रहे हैं।
--
यह है बकाया भुगतान की स्थिति (करोड़ में)
लक्सर - 106 करोड़
लिब्बरहेड़ी - 105 करोड़
इकबालपुर - 52 करोड़
--
डोईवाला शुगर मिल पर पांच करोड़ बकाया
तीनों शुगर मिलों के साथ-साथ ही जिले के कुछ किसान डोईवाला शुगर मिल को भी अपने गन्ने की आपूर्ति करते हैं। उस पर भी हरिद्वार जिले के किसानों का करीब पांच करोड़ रुपये बकाया है।
--
दो साल का 180 करोड़ भी है बकाया
लक्सर और लिब्बरहेड़ी शुगर मिल विगत पेराई सत्र का पूरा भुगतान कर चुके हैं, लेकिन इकबालपुर शुगर मिल पर विगत दो वर्षों का 180 करोड़ रुपये बकाया है। पिछले दिनों हाईकोर्ट ने चीनी की नीलामी करने के आदेश स्थानीय प्रशासन को दिए थे, लेकिन चीनी का खरीदार न मिलने के कारण नीलामी नहीं हो पाई थी। इसके बाद कोर्ट में मामला विचाराधीन है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us