विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Uttarakhand Lockdown update Live: होम क्वारंटीन का उल्लंघन करने पर तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज 

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमित मामलों के बीच गुरुवार का दिन स्वास्थ्य विभाग के लिए राहत लेकर आया। मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी और एम्स ऋषिकेश से आई सैंपल जांच रिपोर्ट में कोई कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला। 

10 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

रुड़की

शुक्रवार, 10 अप्रैल 2020

कोरोना: फेस शील्ड की सप्लाई से आईआईटी ने खड़े किए हाथ

इन दिनों कोरोना वायरस से बचाव के लिए आईआईटी रुड़की ने कई नई तकनीकी विकसित की है, लेकिन इन तकनीकियों का लाभ आम आदमी के स्तर तक पहुंचने में कितना समय लगेगा, यह अभी नहीं कहा जा सकता। संस्थान ने हाल ही में विकसित किए गए फेश शील्ड को नगर निगम को देने से हाथ खड़े कर दिए हैं। संस्थान का तर्क है कि उनके पास उद्योग के रूप में इसे विकसित करने के पर्याप्त संसाधन नहीं है, फिलहाल जो भी फेश शील्ड तैयार किए जा रहे हैं, उन्हें एम्स ऋषिकेश को दिया जा रहा है।
नगर निगम रुड़की ने हाल ही में आईआईटी संस्थान प्रबंधक को पत्र भेजकर अपने सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए फेश शील्ड की डिमांड की थी। यह फेश शील्ड पूरे मुंह को कवर करती है और इससे कोरोना जैसे संक्रमण का अटैक करने का खतरा कम हो जाता है। मुख्य नगर आयुक्त नूपुर वर्मा ने इस बाबत संस्थान उपनिदेशक को पत्र भेजा था, लेकिन आईआईटी ने निगम को यह शील्ड उपलब्ध कराने में असमर्थता जताई है। इससे निगम को निराशा हाथ लगी है। आईआईटी के उपनिदेशक प्रो. एम परीदा का कहना है कि संस्थान ने तकनीक विकसित की है, लेकिन संस्थान में उद्योग के स्तर पर इसका निर्माण संभव नहीं है। उद्योग स्तर पर निर्माण के लिए कई स्तरों पर वार्ता जारी है। फिलहाल जो भी फेश शील्ड तैयार किए हैं, उन्हें एम्स ऋषिकेश को सप्लाई किया गया है।
... और पढ़ें

अस्पताल नहीं पहुंचा कोई संदिग्ध, राहत

सिविल अस्पताल में मंगवार को कोरोना संदिग्ध कोई मरीज न पहुंचने पर अस्पताल प्रबंधन ने राहत की सांस ली है। जबकि अस्पताल में पहले से ही 36 कोरोना संदिग्ध आइसोलेशन वार्ड में भर्ती है। इन पर स्वास्थ्य विभाग नजर बनाए रखे है और रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है।
रुड़की के पनियाला गांव में कोरोना पीड़ित युवक मिलने के बाद आमजन से लेकर सिविल अस्पताल प्रबंधन की चिंता बढ़ गई है। सिविल अस्पताल में पहले से ही कोरोना संदिग्ध 36 लोग आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं। इनकी जांच के लिए टीम ने सैंपल लेकर भेज दिए हैं। अब अस्पताल प्रबंधन को इनकी रिपोर्ट आने का इंतजार है। वहीं, अस्पताल में रोजाना कोरोना संदिग्ध पहुंचने से भी अस्पताल प्रबंधन चिंता में था, लेकिन मंगलवार को अस्पताल प्रबंधन ने राहत की सांस ली है। मंगलवार को एक भी कोरोना संदिग्ध मरीज अस्पताल नहीं पहुंचा है। सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि मंगलवार को राहत भरी खबर रही कि कोई कोरोना संदिग्ध अस्पताल नहीं पहुंचा। जो लोग पहले से भर्ती हैं, उनकी रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।
... और पढ़ें

मुस्लिम धर्म गुरुओं ने घर में रहने की दी सलाह

पनियाला गांव में कोरोना पॉजीटिव युवक के मिलने के बाद पुलिस ने मुस्लिम धर्म गुरुओं को साथ लेकर एनाउंसमेंट करवाया। धर्म गुरुओं ने ग्रामीणों से घर में रहने की अपील की। साथ ही नमाज और शब-ए-बारात का पर्व घर में ही मनाने की भी अपील की। वहीं, प्रशासन ने गांव में घर-घर राशन सामग्री पहुंचाई।
पनियाला गांव में कोरोना पीड़ित पाए जाने के बाद पूरे गांव को होम क्वारंटीन कर दिया है। पूरे गांव के रास्तों पर बैरिकेडिंग लगाकर बंद कर दिया है। गांव में सिर्फ पुलिस के साथ ही राशन वितरण वाहनों के जाने की अनुमति है। मंगलवार को पुलिस ने मुफ्ती सलीम व अफजल मंगलौरी को साथ लेकर गांव में एनाउंसमेंट करवाया। साथ ही लोगों से घरों में रहकर होम क्वारंटीन का पालन करने की अपील की। वहीं शब-ए-बरात पर्व घर में ही मनाने की सलाह दी। वहीं, प्रशासन की टीम ने घर-घर पहुंचकर ग्रामीणों को राशन वितरण किया। गंगनहर कोतवाली प्रभारी राजेश साह ने बताया कि गांव में मुस्लिम धर्म गुरुओं के साथ एनाउंसमेंट करवाकर घर में ही रहने की अपील की गई है। लॉकडाउन का पालन न करने वालों पर सख्ती से कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

बिना पीपीई किट सफाईकर्मियों ने काम करने में जताई असमर्थता

मुंबई के कुछ पर्यावरण मित्रों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद रुड़की नगर निगम के सफाई कर्मचारियों ने बिना सुरक्षा किट के काम करने से हाथ खड़े कर दिए हैं। इस संबंध में उन्होंने मुख्य नगर आयुक्त के माध्यम से डीएम को पत्र भेजा है। वहीं, नगर निगम के पास एक भी पीपीई किट नहीं होने के कारण आने वाले दिनों में मुश्किलें बढ़ सकती हैं।
डीएम के नाम से मुख्य नगर आयुक्त नूपुर वर्मा को सौंपे गए ज्ञापन में सफाईकर्मियों ने कहा है कि मुंबई में सफाईकर्मी भी संक्रमित हुए हैं। ऐसे में बिना पीपीई किट के कूड़ा कचरा उठाना और सड़कों पर उतरना उनके लिए भी खतरे से खानी नहीं है। लिहाजा सफाईकर्मियों को भी पीपीई किट उपलब्ध कराई जाए। मुख्य नगर आयुक्त ने जल्द किट उपलब्ध कराने का भरोसा दिया है। दूसरी ओर, डीएम के निर्देश पर बृहस्पतिवार को नगर निगम की टीम ने पनियाला में डीप सैनिटाइजेशन किया। नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर विक्रांत सिरोही ने कुछ पीपीई किट उपलब्ध कराई। इसके बाद सफाई निरीक्षक अमित कुमार, मृदुल कुमार, मनसा नेगी के साथ चालक राजू और मनोज को किट पहनाकर गांव भेजा गया और सैनिटाइजेशन का काम पूरा कराया गया।
900 जरूरतमंदों को बांटे भोजन के पैकेट
नगर निगम ने बृहस्पतिवार को 900 जरूरतमंदों केे भोजन के पैकेट वितरित किए। मुख्य नगर आयुक्त नुपुर वर्मा ने बताया कि विभिन्न संस्थाओं की ओर से यह मदद दी जा रही है। इसमें राधा स्वामी सत्संग, सेंटर प्वाइंट होटल, पुरानी तहसील स्थित राधा स्वामी मंदिर, समर सिंह पुंडीर, समीक्षा जैन, भोला आटा चक्की, डॉ. एएस मौर्या, सीबीआरआई और सुबोध गुप्ता आदि शामिल हैं।
... और पढ़ें

गन्ना विकास समिति पर नहीं हो रहा सोशल डिस्टेंसिंग

गन्ना विकास समिति लक्सर पर किसान सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं कर रहे हैं। इसके चलते दो दिनों से कोतवाली पुलिस को मौके पर आकर व्यवस्था बनानी पड़ रही है।
इस गन्ना विकास समिति के गोदाम से किसानों को खाद वितरित की जा रही है। गोदाम पर खाद लेने आने वाले किसान सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं कर रहे हैं। स्थिति यह है कि किसानों की भीड़ सुबह सात बजे से पहले ही समिति के गोदाम पर उमड़नी शुरू हो जाती है। इस दौरान गोदाम पर मौजूद कर्मचारी किसानों से सोशल डिस्टेंस का पालन करने की अपील करते रहते हैं, लेकिन किसान सुनने को तैयार नहीं होते हैं। ऐस में दो दिन से कस्बा चौकी के पुलिसकर्मियों को गन्ना समिति पहुंचकर व्यवस्था करवानी पड़ रही है।
... और पढ़ें

शिक्षकों ने दिया एक-एक दिन का वेतन

भगवानपुर ब्लॉक के सभी शिक्षकों ने एक-एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का फैसला लिया है, जो करीब 17 लाख रुपये होगा। इस बाबत शिक्षकों ने एक ज्ञापन खंड शिक्षाधिकारी भिक्कम सिंह व उप शिक्षाधिकारी कुंदन सिंह को दिया है। उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष मुकेश चौहान, राजू गौतम, सतेंद्र कुमार, महेंद्र सिंह व रचना चौहान आदि ने खंड शिक्षा अधिकारी भिक्कम सिंह व उप शिक्षाधिकारी कुंदन सिंह को ज्ञापन देकर बताया कि ब्लॉक के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत करीब 650 शिक्षकों ने फैसला लिया है कि उनके मार्च के वेतन से एक-एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में दिया जाए। उप शिक्षाधिकारी कुंदन सिंह ने इसकी पुष्टि की है। ... और पढ़ें

Lockdown: गाड़ी पर स्वास्थ्य विभाग का पर्चा लगाकर तीन बार की यूपी से उत्तराखंड में घुसने की कोशिश, पुलिस ने रोका तो हुए फरार

भगवानपुर ब्लाक के शिक्षकों द्वारा एक दिन का वेतन दिए जाने के बाबत अधिकारी को ज्ञापन देते शिक्षक।
कार पर स्वास्थ्य विभाग का पर्चा लगाकर यूपी से उत्तराखंड में घुसने की कोशिश कर रहे दो युवकों को पुलिस ने खानपुर-पुरकाजी बॉर्डर पर रोक लिया। पुलिस ने पूछताछ की तो दोनों हड़बड़ा गए और कार लेकर भाग निकले।

उन्होंने सिकंदरपुर-पुरकाजी और दल्लावाला-मोरना बॉर्डर पार करने की कोशिश की, लेकिन कामयाब नहीं हो सके। लॉकडाउन के चलते पुलिस ने खानपुर-पुरकाजी, सिकंदरपुर-पुरकाजी, दल्लावाला-मोरना और बालावाली-मंडावर बॉर्डर को पूरी तरह सील किया हुआ है।

खानपुर-पुरकाजी बॉर्डर पर तैनात उपनिरीक्षक भानू पंवार ने बताया कि बृहस्पतिवार सुबह लगभग 11 बजे पुरकाजी की ओर से एक कार आती दिखी। उस पर स्वास्थ्य विभाग की नेम प्लेट लगी थी। जब पुलिसकर्मियों ने कार सवारों से नीचे उतरकर कागजात दिखाने को कहा तो वे हड़बड़ा उठे और कार लेकर फरार हो गए।

उन्होंने बताया कि इसके बाद कार सवार युवक उत्तराखंड में प्रवेश करने के लिए सिकंदरपुर-पुरकाजी और दल्लावाला-मोरना बॉर्डर पर भी पहुंचे, लेकिन उन्होंने आसपास के बॉर्डर पर तैनात पुलिसकर्मियों को इस बारे में सूचना दे दी। लिहाजा कार सवार सफल नहीं हो सके।
... और पढ़ें

रुड़की: बछड़े के हरा धनिया खाने का विरोध करने पर दो पक्षों में खूनी संघर्ष, एक युवक की मौत

उत्तराखंड के रुड़की में भगवान थाना क्षेत्र के सिसौना गांव में बछड़े के हरा धनिया खाने के बाद दो पक्षों में विवाद हो गया। देखते ही देखते विवाद इतना बढ़ा कि दोनों पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। अभी तक मामले में तहरीर नहीं आई है। पुलिस का कहना है कि तहरीर आने पर कार्रवाई की जाएगी। भगवानपुर थानाध्यक्ष संजीव थपलियाल ने बताया कि ईश्वर सैनी पुत्र मुल्कीराम सैनी (45) मूल रूप से यूपी के जिला सहारनपुर के रामपुर मनिहारान निवासी हैं।

पांच साल से ईश्वर सैनी अपने परिवार के साथ भगवानपुर के सिसौना में रह रहे थे। फिलहाल वह क्षेत्र की फैक्टरियों में खाने के टिफिन की सप्लाई करते थे। थानाध्यक्ष ने बताया कि बुधवार रात करीब नौ बजे ईश्वर सैनी के पड़ोस में रहने वाले एक व्यक्ति का बछड़ा उनके अहाते में आ गया। उसने वहां बोई गई हरी धनिया को खा लिया। 
... और पढ़ें

मंगलौर में मारपीट पर उतारू हुए लोग, उड़ी सोशल डिस्टेंस की धज्जियां

मंगलौर में मिनी बैंक के बाहर जनधन खाते से पैसे निकालने के लिए बुधवार को महिलाओं की भारी भीड़ जुट गई। लोग एक दूसरे के साथ मारपीट पर उतारू हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने डांट फटकार किसी तरह महिलाओं को शांत किया। वहीं झबरेड़ा में भी लोगों के आग्रह पर खोली गई दुकानों के बाहर लोगों ने सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाई।
सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होने से लोगों में कोरोना वायरस के फैलने का भय बना हुआ है। बावजूद इसके लोग इस चीज को समझने को तैयार नहीं है। बुधवार को मंगलौर मिनी बैंक के बाहर सुबह से ही पैसे निकालने के लिए लोगों की लंबी लाइन लग गई। कुछ ही देर में लोग एक-दूसरे से सटकर लाइन में खड़े हो गए। इसमें महिलाओं की संख्या ज्यादा थी। इस बीच पहले पैसे निकालने की होड़ में लोगों में धक्कामुक्की के बाद मारपीट शुरू हो गई। किसी ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह लाठियां फटकारकर लोगों के बीच दूरी बनानी चाही। मगर महिलाएं नहीं मानी। ऐसे में पुलिस को करीब आधे घंटे तक बैंक को बंद करवाना पड़ा। वहीं झबरेड़ा क्षेत्र के दुकानदारों तथा कस्बेवासियों के निवेदन पर बुधवार को परचून की दुकान खोली गई। लेकिन दुकानों पर ग्राहकों की भारी से सोशल डिस्टेंस का पालन नही किया गया। जिस पर नगर पंचायत ने दोबारा से परचून की दुकान बंद रखने की चेतावनी दी है। नगर पंचायत अध्यक्ष चौधरी मानवेंद्र ने कहा कि व्यापारियों तथा नगर की जनता के निवेदन पर परचून आदि की ही दुकानें कुछ समय के लिए खोलने की अनुमति दी गई है, अगर दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया जाता तो पूरी तरह बाजार को बंद कर दिया जाएगा।
... और पढ़ें

Coronavirus in Uttarakhand : आज सामने आए चार और कोरोना पॉजिटिव केस, प्रदेश में संक्रमितों की संख्या पहुंची 35

उत्तराखंड में जमात से लौटे लोगों ने मुश्किलें बढ़ा दी हैं। बुधवार को चार और लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें हरिद्वार और हल्द्वानी में कोरोना संक्रमित के दो-दो मामले सामने आए हैं। हरिद्वार में पॉजिटिव मिले दोनों लोग जमात से लौटे थे।

जबकि हल्द्वानी में एक जमाती और एक उसके संपर्क में आया व्यक्ति संक्रमित पाया गया है। अब प्रदेश में कोरोना संक्रमित के कुल 35 मामले हो गए हैं। कोरोना पॉजिटिव के मामले बढ़ने से प्रदेश में संक्रमण दूसरी स्टेज में पहुंच गया है।

बुधवार को मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी और एम्स ऋषिकेश से 101 सैंपलों की जांच रिपोर्ट आई। इनमें से चार में कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है। तीन संक्रमित मरीज जमाती हैं।

जबकि हल्द्वानी में संपर्क में आने से संक्रमित होने का एक मामला सामने आया है। जबकि 97 सैंपल नेगेटिव पाए गए हैं। प्रभारी सचिव स्वास्थ्य डॉ.पंकज कुमार पांडेय ने बताया कि हरिद्वार व हल्द्वानी से कोरोना पॉजिटिव के दो-दो मामले पाए गए। संक्रमित चारों मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया गया। इनके संपर्क में आने वाले सभी लोगों को चिन्हित कर क्वारंटीन किया जाएगा।

जिला            संक्रमित
देहरादून             18
हरिद्वार           03
नैनीताल           08
यूएस नगर       04
पौड़ी                01
अल्मोड़ा          01

बफर जोन घोषित

वहीं देहरादून के भगत सिंह कॉलोनी और कारगी ग्रांट क्षेत्र के सात किमी की परिधि में आने वाले क्षेत्र बफर जोन घोषित कर दिए गए हैं। यहां जमातियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद जिलाधिकारी द्वारा यह आदेश जारी किया गया है।
... और पढ़ें

आईआईटी ने जारी की किसानों के एडवाइजरी

आईआईटी स्थित ग्रामीण कृषि-मौसम सेवा परियोजना के नोडल अधिकारी प्रो. आशीष पांडेय, तकनीकी अधिकारी डॉ. अरविंद कुमार श्रीवास्तव समेत टीम के सदस्य लॉकडाउन अवधि में कृषि और मौसम से जुड़ी एडवाइजरी किसानों तक समय से पहुंचा रहे हैं। टीम किसानों को व्हाट्सएप, मोबाइल एप और वेबसाइट के अलावा फोन पर भी सुरक्षित तरीके से खेती-किसानी के टिप्स दे रही हैं। नोडल अधिकारी प्रो. आशीष पांडेय ने बताया कि किसानों को कोरोना से बचाव के लिए सुरक्षित तरीके से रबी की फसलों की कटाई और मड़ाई करने की सलाह दी जा रही है। इससे किसान संक्रमण से खुद के साथ परिवार और समाज को सुरक्षित रखकर कृषि कार्य पूरा कर सकते हैं।
--
फसलों की कटाई के दौरान रखें ध्यान
- फसलों की कटाई और आलू की खोदाई के दौरान मुंह व नाक को मास्क या गमछे से ढककर रखें।
- सरकार के तय नियम के मुताबिक कंबाइन, थ्रेशर के साथ तीन से अधिक श्रमिक एक साथ न रहें।
- किसान और श्रमिक आपस में कम से कम तीन मीटर की निर्धारित दूरी बनाकर रखें।
- श्रमिकों को थ्रेसिंग कार्य पूरा होने तक खेत-खलिहान में ही रहना चाहिए, बार-बार घर नहीं जाना चाहिए।
- श्रमिकों को नियमित रूप से बीच-बीच में सैनिटाइजर का उपयोग करना चाहिए या हाथ धोते रहें।
- खेत में काम कर रहे किसानों के लिए पीने का पानी, खाद्य सामग्री अलग-अलग बर्तनों में ही देना चाहिए।
- कृषि उपकरणों को समय-समय पर सैनिटाइज करें, कोशिश करें कि उपकरण का प्रयोग दूसरा किसान न करे।
- कृषि उपकरणों को सैनिटाइज करने के लिए साबुन अथवा डिटर्जेंट के घोल का प्रयोग कर सकते हैं।
- जहां तक संभव हो किसी दूसरे गांव के श्रमिकों को कृषि कार्य के लिए नहीं बुलाना चाहिए।
--
व्यक्तिगत स्वच्छता का भी रखें ध्यान
- खेत-खलिहान में काम करने के दौरान एक कपड़े को एक बार ही पहनें।
- दोबारा उन कपड़ों अच्छी प्रकार धोकर और ठीक से सुखाकर ही पहनें।
- घर से खेत-खलिहान आने जाने के लिए व्यक्तिगत वाहन का प्रयोग करें।
- एक ट्रैक्टर या कंबाइन पर ज्यादा लोग एक साथ न बैठें।
- काम करने के दौरान किसान अपने पानी का अलग-अलग बर्तन ले जाएं।
- खाने में ताजा गर्म भोजन, हरी सब्जियों व उचित मात्रा में फलों का सेवन करें।
- खाने के बर्तन को बर्तन धोने के साबुन से अच्छी तरह साफ करना न भूलें।
... और पढ़ें

पुरानी रंजिश को लेकर दो समुदाय में मारपीट, पथराव

पुहाना में पुरानी रंजिश को लेकर दो समुदायों के कुछ लोगों में मारपीट हो गई। दोनों पक्षों के लोगों ने एक-दूसरे पर पथराव भी किया। इसमें कुल सात लोग घायल हुए हैं। अभी तक पुलिस को किसी भी पक्ष की ओर से तहरीर नहीं मिली है। पुलिस तहरीर मिलने के बाद कार्रवाई का भरोसा दे रही है।
मिली जानकारी के अनुसार, पुहाना में दो समुदायों के बीच श्मशान घाट की भूमि को लेकर विवाद चल रहा है। बताया जा रहा है कि बुधवार को एक पक्ष का एक युवक खेत से आ रहा था। इस दौरान उसकी दूसरी पक्ष युवक के साथ किसी बात को लेकर कहा सुनी हो गई। इसके बाद दोनों में मारपीट होने लगी। हालांकि इस दौरान कुछ लोगों ने बीच बचाव करा दिया। इस घटना के कुछ देर बार दोनों समुदायों के दर्जनों लोग लाठी-डंडे लेकर मौके पर आ गए। वहीं दोनों समुदायों के लोगों में जमकर लाठी-डंडे चले। इसके बाद दोनों पक्षों के बीच पथराव भी हुआ। मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने किसी तरह मामला शांत कराया। मारपीट में दोनों पक्षों के सात लोग घायल हो गए। इसके बाद दोनों पक्षों के लोग भगवानपुर व रुड़की में अपना इलाज करा रहे हैं। थानाध्यक्ष संजीव थपलियाल ने बताया कि अभी तक किसी भी पक्ष की ओर से तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us