विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus in Uttarakhand: बुखार से किशोरी की मौत, परिजन समेत अंत्येष्टि में शामिल लोगों को किया क्वारंटीन

कोरोना वायरस के खौफ के बीच हरिद्वार में बुखार से एक किशोरी की मौत का मामला सामने आया है। पुलिस ने किशोरी के परिजनों समेत अंत्येष्टि में शामिल लोगों को होम क्वारंटीन में रहने के लिए कहा है।

30 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

टिहरी

मंगलवार, 31 मार्च 2020

मंदिर के दानपात्र का ताला तोड़ नकदी ले उड़े चोर

कोरोना वाइरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए जहां लोग अपने घरों में कैद हैं, वहीं कुछ शरारती तत्व मौके का फायदा उठाकर चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं।
सोमवार रात को सभी लोग जल्दी अपने घरों में कैद हो गए थे। वहीं रात के समय किसी अज्ञात ने ब्लाक मुख्यालय कंडी गांव में स्थित शिवालय मंदिर का ताला तोड़कर दानपात्र में रखी नकदी ले गए। मंदिर समिति के अध्यक्ष पुलम सिंह गुसाईं और कोषाध्यक्ष नंदन सिंह गुसाईं ने बताया कि मंगलवार सुबह घटना का पता चलने पर मंदिर में गए, तो मंदिर के मुख्य गेट के साथ ही दानपात्र का ताला तोड़कर उसमें दस माह से एकत्र नकदी गायब थी। अध्यक्ष ने कहा कि क्षेत्र में लंबे समय से पुलिस चौकी खोलने की मांग की जा रही है, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने तहसील प्रशासन से बाजार में होमगार्ड की गश्त बढ़ाने मांग करते हुए कहा कि अज्ञात चोर के खिलाफ राजस्व पुलिस को तहरीर दी गई है। संवाद
... और पढ़ें

ट्रक अनलोड करने को लेकर प्रशासन-व्यापारियों में तनातनी

लॉकडाउन के दूसरे दिन बाजार में ट्रकों से सामान न उतरने देने को लेकर व्यापारियों और प्रशासन के बीच तकरार बढ़ गई है। ऋषिकेश, देहरादून से सब्जी, राशन और दूध लेकर ट्रक जिला मुख्यालय नई टिहरी पहुंच चुके हैं, लेकिन प्रशासन ने व्यापारियों को माल उतारने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। एसडीएम सदर फिंचाराम चौहान का कहना है कि सुबह 7 से 10 बजे के बीच ही व्यापारी ट्रकों से सामान उतारे। व्यापारियों का कहना है कि सुबह 7 से 10 बजे वे ट्रकों से सामान उतारे या फिर ग्राहकों को सामान दे। प्रशासन और व्यापारियों के बीच तकरार बढ़ने का खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ सकता है। बाजार में ट्रकों से सामान न उतरने पर बाजार में खाद्यन्न और सब्जियों की भारी किल्लत हो सकती है।
लॉकडाउन के दूसरे दिन मंगलवार को जिला मुख्यालय नई टिहरी, लंबगांव, घनसाली और चमियाला बाजार में सुबह-सुबह ही सब्जियों की भारी किल्लत देखने को मिली। आलू, प्याज के अलावा बाजार में अन्य कोई भी सब्जियां उपलब्ध नहीं थी। अपराह्न बाद ऋषिकेश, देहरादून से ट्रक सब्जी, दूध और खाद्यान्न सामग्री लेकर पहुंचे, लेकिन प्रशासन ने 10 बजे बाद व्यापारियों को ट्रकों से सामान अनलोड करने की अनुमति नहीं दी। शाम तीन बजे व्यापार मंडल अध्यक्ष राजेश डियूंडी, उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश संगठन मंत्री अब्दुल अतीक, जिला महामंत्री करम सिंह तोपवाल एसडीएम सदर फिंचाराम चौहान से मिले। एसडीएम ने ट्रकों से सामान अनलोड करने की अनुमति नहीं दी।
व्यापार मंडल अध्यक्ष डियूंडी का कहना है कि यदि रात को ट्रक रुकते हैं, तो उन्हेें 5000 अतिरिक्त भुगतान ट्रांसपोर्ट को करना होगा। ऐसी स्थिति में सब्जी, दूध, आटा, चावल और अन्य आवश्यक वस्तुओं के दाम बढ़ जाएंगे। इस बाबत डीएम डा. वी षणमुगम का कहना है कि व्यापारियों और ट्रांसपोर्टर के बीच तालमेल होना आवश्यक है। शासन की ओर से निर्धारित समय पर ही व्यापारी ट्रकों से माल उतारे।
... और पढ़ें

जीरो जोन में तब्दील हुई सड़कें, चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात

लॉकडाउन के दूसरे दिन मंगलवार को सुबह-सुबह बाजार में जरूरी सामान की खरीदारी करने को लेकर लोगों में होड़ मची रही। बाजारों में सब्जी नहीं होने पर कई लोगों को निराश लौटना पड़ा। हालांकि 10 बजे बाद ऋषिकेश, देहरादून से सब्जी के ट्रक पहुंचे, लेकिन तब तक बाजार बंद हो चुका था। बैंक पहुंचकर लोगों ने जरूरी कामकाज निपटाए। उसके बाद बाजार और सड़कों पर कर्फ्यू जैसी स्थिति बनी रही। मंगलवार को निजी वाहनों का संचालन भी पूरी तरह से ठप रहा। जिला मुख्यालय नई टिहरी में एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने खुद मोर्चा संभाला। जगह-जगह बैरियर लगाकर नगर की सभी सड़कें जीरो जोन में तब्दील कर दी गई है।
नई टिहरी, बौराड़ी, चंबा, खाड़ी, आगराखाल, नरेंद्रनगर, नैनबाग, थत्यूड़, कंडीसौड़, कमांद, लंबगांव, प्रतापनगर, घनसाली, चमियाला बाजार में पुलिस ने बाजार में एलाउंसमेंट कर सभी दुकानें बंद करवाई। निजी वाहनों का संचालन बंद कराने के लिए एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत को खुद नगर क्षेत्र में मोर्चा संभालना पड़ा। एसएसपी ने सभी थानाध्यक्षों को अपने-अपने क्षेत्रों में सड़कें जीरो जोन में तब्दील करने को कहा। प्रत्येक चौराहों पर पुलिस कर्मियों ने बैरियर लगाकर बाइक और प्राइवेट वाहनों का संचालन बंद करवाया।
... और पढ़ें

ुलिस के आश्वासन पर पलायन करने से थमे मजूदरों के पैर

नई टिहरी। पर्वतीय क्षेत्र के अलग-अलग हिस्सों से लॉकडाउन के दौरान उत्तर प्रदेश, बिहार और नेपाल के मजदूरों का पलायन रोकने के लिए पुलिस प्रशासन ने कमर कस ली है। पुलिस मजदूरों को उनके निवास स्थलों पर ही जरूरी संसाधन देने का भरोसा देकर गांव लौटने से रोक रही है।
मजदूरों का कहना है कि वह नई टिहरी-बौराड़ी में ठेकेदार बबलू के साथ काम करते हैं। वर्तमान में पिपली गांव में रहते हैं। हालांकि उनके पास अभी खाने-पीने का जरूरी सामान और एक-एक हजार कैश है, लेकिन वह घर जाना चाहते हैं। सलमान के दो छोटे-छोटे बच्चे गांव में है। परिवार के सदस्य उन्हें घर बुला रहे है। मजदूरों ने बताया कि पुलिस ने उनका मोबाइल नंबर नोट किया है। थाने का फोन नंबर भी उन्हें लिखकर दिया है। पुलिस ने आश्वासन दिया है कि यदि उन्हें आटा, चावल और अन्य किसी जरूरी सामान की आवश्यकता होगी फोन करना। पुलिस की ओर से मदद का भरोसा मिलने पर तीनों मजदूर पिपली गांव कमरे पर लौट गए हैं।
... और पढ़ें

लॉकडाउन से प्रभावित परिवारों की मदद को बढ़े हाथ

कोरोना संक्रमण को चलते हुए लॉकडाउन से प्रभावित हुए मजदूरों और असहाय लोगों की मदद के लिए विभिन्न संगठनों ने हाथ बढ़ाए हैं। संगठनों ने नगरक्षेत्र में रहने वाले मजदूरों को भोजन कराकर राशन भी बांटा।
बौराड़ी में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की श्रीदेव सुमन शाखा ने निर्बल वर्ग के 30 परिवारों को 15-15 दिन का राशन दिया। इस मौके पर नगर संघ संचालक सतीश थपलियाल, जगतमणी पैन्यूली, संजीव भट्ट, दौलत बिजल्वाण, बेणी माधव शाह, राहुल जखमोला, कैलाश रमोला आदि मौजूद थे। डिप्लोमा इंजीनियर महासंघ के अध्यक्ष प्रमोद नेगी, पालिका के शिव सिंह सजवाण, सतीश चमोली समेत कई विभागों से जुड़े कर्मचारियों ने अपने संसाधनों से 30 मजदूरों, स्थानीय गरीब परिवारों को राशन बांटा। नगर के लक्ष्मी प्रसाद भट्ट, शीशराम थपलियाल, खुशी लाल, बिन्नी पंवार, संजय रावत, प्रवीन भट्ट, अमरीश पाल, पूर्व सैनिक रमेश रतूड़ी आदि ने बौराड़ी बस अड्डे में मजदूरों को भोजन करवाया। बीबीएस पब्लिक स्कूल बौराड़ी और नागरिक मंच के सहयोग से नगर क्षेत्र के ढुंगीधार, पिपली, केमसारी टिन शेड में रहने वाले 40 गरीब परिवारों को राशन बांटा। इस मौके पर बीबीएस स्कूल की प्रबंधक विनीता बिष्ट, नागरिक मंच के अध्यक्ष सुंदरलाल उनियाल, केएस महर, कर्म सिंह तोपवाल, भगवान चंद रमोला, महिपाल सिंह नेगी आदि मौजूद थे।
गोपेश्वर। नगर पंचायत नंदप्रयाग ने बदरीनाथ हाईवे से लगो बिरही गांव में बारह परिवारों को खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध करवाई। पंचायत अध्यक्ष डा. हिमानी वैष्णव को ग्रामीणों ने फोन कर खाद्यान्न न होने की बात कही, जिस पर अध्यक्ष ने नगर पंचायत के कर्मचारियों के साथ ग्रामीणों को खाद्यान्न मुहैया कराया साथ ही ग्रामीणों को जरूरी वस्तुएं भी उपलब्ध कराई गई। वहीं, नंदप्रयाग में सब्जी व खाद्यान्न लेकर पहुंच रहे ट्रक चालकों को भी नगर पंचायत की ओर से लंच पैकेट वितरित किए जा रहे हैं।
दुगड्डा। दुगड्डा पुलिस ने दुगड्डा क्षेत्र में बिहार के 10 भूखे परिवारों को राशन सामग्री वितरित की। दुगड्डा चौकी इंचार्ज ओमप्रकाश ने बताया कि ये परिवार कहीं बाहर से मजदूरी करके आ रहे थे, यातायात साधन न मिलने पर ये परिवार दुगड्डा क्षेत्र में ही रुके हैं। उधर, राजस्व उपनिरीक्षक संगीता राज ने लोनिवि के सहयोग से दुगड्डा में लॉकडाउन के तहत घरों में कैद लोगों को जरूरी सामान पहुंचाया।
डिप्टी कलक्टर ने दिया एक माह का वेतन
रुद्रप्रयाग। कोरोना महामारी के चलते जनपद रुद्रप्रयाग में डिप्टी कलक्टर के पद पर तैनात दिनेश प्रताप सिंह ने प्रधानमंत्री राहत कोष में अपने एक माह की वेतन दिया। वहीं, ऊखीमठ विकासखंड के ग्राम पंचायत दैड़ा मस्तूरा के प्रधान योगेंद्र सिंह नेगी ने अपने पांच माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा किया है।
कर्मियों ने राहत कोष में जमा किए 2.30 लाख
पौड़ी। उत्तराखंड जनरल ओबीसी इंप्लाइज एसोसिएशन कोरोना महामारी से जीवन सुरक्षा की लड़ाई में सरकार के साथ खड़ा है। एसोसिएशन से जुड़े कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 2.30 लाख जमा कर दिए हैं। एसोसिएशन के मुख्य संयोजक सीताराम पोखरियाल व कोषाध्यक्ष जसपाल सिंह रावत का कहना है कि एसोसिएशन का जनपद पौड़ी से मुख्यमंत्री राहत कोष में 10 से अधिक धनराशि जमा किए जाने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि आपदा की इस घड़ी में प्रत्येक कर्मचारी प्रदेश सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।
बाहरी राज्यों के मजदूरों एवं निराश्रितों को भोजन एवं खाद्यान्न वितरण का कार्य हुआ शुरू
उत्तरकाशी/पुरोला/चिन्यालीसौड़/बड़कोट। जनपद में विभिन्न स्थानों पर रहे बाहरी स्थानों के मजदूरों तथा निराश्रितों की मदद के लिए प्रशासन के साथ ही विभिन्न जनसंगठनों ने मदद के हाथ बढ़ाए हैं। जिले में जगह-जगह इस तरह के लोगों को चिन्हित कर उन्हें पके हुए भोजन के साथ ही खाद्यान्न के पैकेट भी मुहैया कराए जा रहे हैं। ताकि लॉक डाउन की अवधि में उन्हें भुखमरी का सामना न करना पड़े। इसके साथ ही सभी लोगों से लॉक डाउन में अपने स्थान पर ही बने रहने की अपील की जा रही है।
कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए जो जहां है उसे वहीं रोकने के उद्देश्य से पूरे देश में लॉक डाउन किया गया है। बीते कुछ दिनों से जिले में बाहरी जनपदों एवं राज्यों के फंसे हुए मजदूरों के साथ ही निराश्रितों के समक्ष दो वक्त की रोटी का संकट खड़ा हो गया था। इसे देखते हुए प्रशासन द्वारा इस तरह के लोगों को चिन्हित कर इन्हें पके हुए भोजन के साथ ही खाद्यान्न के पैकेट मुहैया कराए जा रहे हैं। इस कार्य में विभिन्न स्वयंसेवी संगठन भी आगे आए हैं। जिला मुख्यालय पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों ने करीब 200 मजदूरों को 20-20 दिन का राशन वितरित किया। आरएसएस के पूर्णानंद भट्ट, राजपुष्प, पूर्ण सिंह रावत, चंद्रवीर राणा, हरीश डंगवाल, मनोज वर्मा, चंदन आदि ने सभी लोगों से लॉक डाउन अवधि में अपने स्थान पर ही बने रहने की अपील की। बाड़ाहाट के वन क्षेत्राधिकारी रविंद्र पुंडीर के नेतृत्व में भी मजदूरों एवं निराश्रितों को भोजन पैकेट वितरित किए गए।
बड़कोट में पुलिस प्रशासन ने जय हो ग्रुप की मदद से 319 लोगों को भोजन एवं खाद्यान्न के पैकेट वितरित किए। चिन्यालीसौड़ में प्रशासन की ओर से नगर में 573 तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 93 बाहरी मजदूरों को चिहिन्त कर उन्हें राशन किट वितरित किए। इस मौके पर नोडल अधिकारी सुरेश तोमर, बीडीओ श्रुति वत्स, तहसीलदार बीएस रावत, ईओ एचएस रौतेला, विनोद जगूड़ी, चंद्रविकास आदि मौजूद रहे। पुरोला में नगर पंचायत अध्यक्ष हरिमोहन नेगी ने मजदूरों एवं निराश्रितों को भोजन के पैकेट बांटे। जबकि स्थानीय प्रशासन ने मजदूरों को खाद्यान्न किट वितरित की। एसडीएम मनीष कुमार सिंह ने कहा कि लॉक डाउन के दौरान किसी को भी भूखा नहीं रहने दिया जाएगा। उन्होंने सभी लोगों से इसमें सहयोग की अपील की।
उत्तरकाशी से पंकज गुप्ता।
... और पढ़ें

कोरोना से निपटने को सभी जरूरी कदम उठाएं: उनियाल

नरेंद्रनगर (टिहरी)। कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने महामारी के रूप से ले रही कोरोना से निपटने के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए। उन्होंने श्रीदेव सुमन चिकित्सालय का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने सीएमओ को अस्पताल में आईसीयू वार्ड बनाने, मास्क, सैनिटाइजर, पीपीई किट समेत अन्य व्यवस्थाएं तत्काल जुटाने के भी निर्देश दिए।
मंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस का संक्रमण विदेशों से लेकर भारत में लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में चिकित्सकों से लेकर आम जनता की जिम्मेदारी बनती है, वह इस महामारी से निपटने के लिए सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करें। उन्होंने एसडीएम को क्षेत्र में खाद्य सामग्री की कमी न हो, इसके लिए दुकानों पर मूल्य सूची भी चस्पा करने के निर्देश दिए। इस मौके पर नगर पालिका अध्यक्ष राजेंद्र विक्रम सिंह पंवार, एसडीएम युक्ता मिश्रा आदि मौजूद थे।
फोटो
कोरोना को रोकने में दें योगदान: डा. हरक सिंह
कोटद्वार। शुक्रवार देर शाम कोतवाली में वन मंत्री डा. हरक सिंह रावत ने बेस अस्पताल के चिकित्सकों, नगर निगम और पुलिस कर्मियों को एंटी वायरस प्रोटेक्टिव सूट, 5000 मास्क, 2500 सैनिटाइजर और ग्लब्स बांटे। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी महामारी को रोकने के लिए सभी को आगे आना होगा, तभी इससे निपटा जा सकता है। कहा कि कोरोना की रोकथाम में संसाधनों में कमी नहीं आने दी जाएगी। इसके लिए प्रदेश सरकार वचनबद्ध है। इस अवसर पर एसडीएम योगेश मेहरा, राजकीय बेस अस्पताल के पीएस वीसी काला, प्रबंधक बलवीर सिंह रावत, एएसपी प्रदीप राय, सीओ अनिल जोशी, कोतवाल मनोज रतूड़ी, एसएसआई प्रदीप नेगी, सहायक नगर आयुक्त राजेश नैथानी, सफाई निरीक्षक सुनील कुमार सिंह आदि मौजूद थे।
विधायक ने दिया अपना एक माह का वेतन
उत्तरकाशी। गंगोत्री विधायक गोपाल रावत ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए प्रशासन द्वारा किए गए इंतजामों का जायजा लिया। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को लॉक डाउन के दौरान दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों तक आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बहाल रखने के निर्देश दिए।
विधायक ने बाहरी राज्यों के मजदूरों तथा बेघर एवं बेसहारा 107 लोगों की सूची तैयार कर प्रशासन को उपलब्ध कराई। साथ ही स्वास्थ्य विभाग को 15 लाख देने के साथ ही मुख्यमंत्री राहत कोष में अपना एक माह का वेतन जमा कराने की घोषणा की। इस मौके पर डीएम डा.आशीष चौहान, एसपी पंकज भट्ट, सीडीओ पीसी डंडरियाल, एडीएम तीर्थपाल सिंह, एसडीएम देवेंद्र नेगी, आकाश जोशी, चतर चौहान, आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

2475 श्रमिकों के खातों में भेजे एक-एक हजार रुपये

सरकार के निर्देश पर भवन एवं अन्य सन्ननिर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड भी संगठित व असंगठित क्षेत्र के कामगारों की मदद को आगे आया है। बोर्ड ने लॉकडाउन को देखते हुए अभी पंजीकृत 2475 श्रमिकों के खातों में एक-एक हजार रुपये की धनराशि भेज दी है।
कोरोना महामारी के चलते विभिन्न निर्माण कार्यो में लगे पंजीकृत श्रमिकों का रोजगार ठप हो गया है। श्रमिकों को काम नहीं मिलने के कारण उनके सामने रोजी रोटी का संकट हो गया है। इसको देखते हुए सरकार ने पंजीकृत श्रमिकों को एक-एक हजार रुपये की धनराशि भरण पोषण को देने की घोषणा की थी। सहायक श्रम आयुक्त केके गुप्ता ने बताया कि जिले में 7500 पंजीकृत मजदूर पात्रता की श्रेणी में हैं। इनमें से 2475 के खातों में एक-एक हजार रुपये की धनराशि डीबीटी के माध्यम से भेजी गई है, जबकि अन्य के खातों में धनराशि भेजने का काम जारी है। संवाद।
... और पढ़ें

फंसे लोगों के लिए की भोजन व्यवस्था

डीएम डा. वी षणमुगम ने बताया कि जिले में संगठित/असंगठित क्षेत्र के कामगारों, बेसहारा लोगों को ड्राई फूड पैकेट, कुकड फूड समेत अन्य आवश्यक सामग्री का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिले की विभिन्न सीमाओं पर फंसे लोगों के लिए भी भोजन और ठहरने की व्यवस्था की जा रही है।
यहां जारी बयान में डीएम ने बताया कि एसडीएम नरेंद्रनगर ने 40 कामगारों को ऋषिकेश के होटल में ठहराने की व्यवस्था की है। इसके साथ ही कामगारों को भोजन के पैकेट दिए जा जा रहे हैं। 2000 ड्राई फूड के पैकेट तैयार करने का ऑर्डर दे दिया गया है। उन्होंने बताया कि एसडीएम को कुकड भोजन खिलाने, ड्राई फूड पैकेट तैयार रखने, जिले के विभिन्न स्थानों पर फंसे लोगों के ठहरने व भोजन की समुचित व्यवस्था के भी निर्देश दिए गए हैं। वहीं हेल्पिंग हैंड यूथ फाउंडेशन रानीचौरी ने साबली में जागरूकता अभियान चलाकर ग्रामीणों को कोरोना से बचाव की जानकारी दी गई। इसके साथ ही जिले के विभिन्न गांवों में जिला प्रशासन के सहयोग से छिड़काव किया गया। जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष शांति प्रसाद भट्ट ने मीडिया कर्मियों को सैनिटाइजर व मास्क वितरित किए।
... और पढ़ें

ऑनलाइन जमा कर सकते हैं बिजली के बिल

Coronavirus in Uttarakhand: 18000 से ज्यादा लोग देश-विदेश से लौटे पहाड़, ग्रामीणों में दहशत का माहौल

कोरोना वायरस संक्रमण के इस दौर में प्रवासी पहाड़ सबसे सुरक्षित मान रहे हैं। भारत सहित दुनिया के तमाम देशों में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने पर मार्च के दूसरे पखवाड़े में ही अब तक 18 हजार से अधिक प्रवासी पहाड़ पहुंच चुके हैं। टिहरी जिले के विदेशों में कार्यरत 256 लोग अपने घर लौट आए हैं। इतनी बड़ी संख्या में प्रवासियों के पहाड़ का रुख करने से ग्रामीणों में भय का माहौल बना है। कई हिस्सों में ग्रामीणों ने खुलकर उनकी वापसी का विरोध किया, जबकि कई स्थानों पर ग्रामीणों ने ऐसे लोगों से दूरी बनाते हुए प्रशासन से उनके मेडिकल परीक्षण की मांग उठाई है।

टिहरी जिले में 14 मार्च से अब तक चीन, जापान सहित अन्य देशों में कार्यरत जिले के 256 लोग अपने घर पहुंच चुके हैं, जबकि देश के विभिन्न राज्यों में कार्य करने वाले जिले के 6268 लोग भी अपने गांव पहुंचे हैं। प्रशासन के मुताबिक एयरपोर्ट के अलावा जिले की चेक पोस्टों पर भी ऐसे लोगों की स्क्रीनिंग की गई है। ग्राम प्रधानों से भी बाहर से आने वाले लोगों की सूची मांगी गई है।

टिहरी के डीएम डॉ वी षणमुगम का कहना है कि विदेशों से लौटे जिले के किसी भी व्यक्ति में कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं पाए गए हैं। बाहर से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग के लिए जिले में अलग-अलग स्थानों पर आठ चेक पोस्ट बनाए गई हैं, जहां स्वास्थ्य विभाग की टीम बाहर से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग कर रही है। पौड़ी जिले में 6897 प्रवासी अपने गांव पहुंचे हैं। इनमें तीन लोग दूसरे देशों से लौट आए हैं।

रुद्रप्रयाग जिले में लगभग 1800 प्रवासी गांव आए हैं। इन लोगों के लिए गांवों में क्वारंटीन केंद्र बनाए गए हैं। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि सभी प्रधानों को अपने-अपनी ग्राम पंचायतों में लौट रहे प्रवासियों की सूचना हर दिन प्रशासन को देने के निर्देश दिए गए हैं।
... और पढ़ें

ज्यादा दामों पर सामान बेचा तो होगी जेल : डीएसओ

जिला पूर्ति और खाद्य सुरक्षा विभाग ने लॉकडाउन के चौथे दिन नई टिहरी व बौराड़ी बाजार का निरीक्षण कर खाद्य पदार्थों, सब्जी, दूध व फल आदि की दुकानों का निरीक्षण किया। इस दौरान सभी प्रतिष्ठानों पर रेट लिस्ट चस्पा मिली। दुकानदारों को सख्त हिदायत दी गई कि रेट से अधिक दामों पर सामान बेचने की शिकायत मिली तो ऐसे व्यापारियों को जेल भेजा जाएगा। खाद्यान्न सामग्री लेकर आने वाले ट्रकों की आवाजाही पर कोई रोक नहीं है। दुकानों में सब्जी पर्याप्त मात्रा में है। इस दौरान डीएसओ मुकेश पाल, खाद्य सुरक्षा विभाग के जिला अभिहित अधिकारी एमएन जोशी व ड्रग इंस्पेक्टर चंद्रप्रकाश नेगी, इंद्रेश नौटियाल व उद्योग व्यापारी अब्दुल अतीक आदि मौजूद थे।
खाद्यान्न सामग्री की रेट लिस्ट जारी
कोटद्वार/श्रीनगर। एसडीएम योगेश मेहरा और मंडी समिति के सचिव ने कोटद्वार में खाद्यान्न सामग्री, फल और सब्जियों की रेट लिस्ट जारी कर दी है। रेट लिस्ट से अधिक मूल्य वसूलने वाले व्यापारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। एसडीएम योगेश मेहरा ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान दुुकानदारों और फल, सब्जी विक्रेताओं की ओर से मनमाने दाम वसूलने की लगातार शिकायतें मिल रही थीं। इसके तहत राशन, फल और सब्जियों के थोक और फुटकर रेट लिस्ट जारी कर दी गई है। श्रीनगर में सब्जीमंडी अब नगर के जीआईएंडटीआई मैदान में ही संचालित होगी। सब्जीमंडी के संचालन और मूल्य को लेकर पूर्ति विभाग और सब्जी विक्रेताओं में सहमति बन गई है। पूर्ति विभाग ने सब्जी व फल विक्रेताओं को निर्धारित मूल्य पर ही सब्जी और फल बेचने को कहा है। चेतावनी दी कि अगर ग्राहकों से अधिक मूल्य वसूला गया तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। संवाद
... और पढ़ें

जरूरत पड़ी तो जरूरी समान की करेंगे होम डिलीवरी : एसएसपी

लॉकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेंस बनाने के लिए टिहरी जिले की पुलिस ने अच्छी पहल की है। लोगों को खाद्य पदार्थों, दूध, फल, सब्जी की आपूर्ति के लिए पुलिस प्रशासन ने एक्शन प्लॉन तैयार किया है। पुलिस ने दुकानदारों को ऋषिकेश, देहरादून, हरिद्वार आदि जगह से आने वाले माल के ट्रकों को तड़के दो से चार बजे के बीच अनलोड करने को कहा है। साथ ही सुबह चार से छह बजे तक दैनिक उपयोग में आने वाले सामान के पैकेट बनाने और सात से 10 बजे तक उनकी बिक्री करने के निर्देश दिए हैं।
पत्रकार वार्ता में एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने कहा कि केबल और समाचार पत्र बांटने वालों को भी पुलिस पास निर्गत करेगी। गांव और कस्बों में सामान आपूर्ति कराने वाले ट्रकों को भी किसी भी समय पर अनलोड कराया जाएगा। इस दौरान ट्रक में पुलिस कर्मी भी रहेगा। पशु आहार और दवा की दुकानें में भी निर्धारित समय पर खुली रहेंगी। लोगों की समस्या के समाधान के लिए पुलिस कंट्रोल रूम बनाया गया है। इसके लिए 9411112975 और 8954732975 मोबाइल नंबर जारी किए गए हैं। पत्रकार वार्ता में सीओ सदर जूही मनराल, विपिन कुमार, थानाध्यक्ष चंदन सिंह चौहान, एलआईयू निरीक्षक रमेश सजवाण भी उपस्थित रहे। उधर, टिहरी विधायक धन सिंह नेगी ने जिलाधिकारी को पत्र भेजकर जरूरी वस्तुओं की रेट लिस्ट दुकानों पर चस्पा करने को कहा। ग्रामीण क्षेत्रों में बाहर से आ रहे लोगों के लिए एडवाइजरी जारी कर उन्हें घरों में ही रखा जाए।
... और पढ़ें

कोरोना से निपटने के लिए नहीं है जरूरी सामान

उत्तराखंड सरकार ने कोरोना को 14 मार्च को महामारी घोषित कर इससे निपटने के लिए अधिकारियों को जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए थे, लेकिन जिले में अभी तक स्वास्थ्य विभाग कोरोना से बचाव को धरातल पर खास कदम नहीं कर पाया है। स्वास्थ्य केंद्रों में दो सप्ताह बाद भी इंफ्रारेड थर्मामीटर, पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट (पीपीई किट), मास्क, सैनिटाइजर, ग्लब्स पर्याप्त मात्रा में नहीं है।
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नंदगांव को छोड़कर अन्य केंद्रों पर इंफ्रारेड थर्मामीटर नहीं है, जिसके चलते कर्मी पुराने किस्म के थर्मामीटर से ही लोगों की जांच कर रहे हैं। वर्तमान विभाग के इंफ्रारेड थर्मामीटर उपलब्ध नहीं है। दो हजार मास्क, 50 फीस सैनिटाइजर, 165 पीपीई किट ही उपलब्ध है। विभाग को 20 हजार मास्क, पांच हजार पीपीई किट, 100 इंफ्रारेड थर्मामीटर आदि की जरूरत है। इस संबंध में अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एलडी सेमवाल का कहना है कि सामग्री की आपूर्ति के लिए डिमांड की गई है। उम्मीद है कि एक-दो दिन के अंदर आपूर्ति हो जाएगी।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us