विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Uttarakhand Lockdown: 31 मार्च को दूसरे जिलों में आवाजाही की छूट, चलेंगी रोडवेज बस और प्राइवेट वाहन

राज्य सरकार लॉकडाउन में 31 मार्च को जनता को बड़ी राहत देने जा रही है।

28 मार्च 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

ऊधम सिंह नगर

रविवार, 29 मार्च 2020

Coronavirus in Uttarakhand: एक ही परिवार के छह लोगों समेत सात संदिग्ध मिले, कोरोना पॉजिटिव महिला से मिलकर लौटे थे दो लोग

उत्तराखंड के रुद्रपुर में एक ही परिवार के छह और एक पड़ोसी के कोरोना संदिग्ध मिलने पर स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। बुखार, सर्दी जुकाम आदि की शिकायत के साथ ही यह बात सामने आई कि इनमें से दो लोग बीते दिनों पीलीभीत में एक महिला से मिलकर लौटे थे।

महिला सऊदी अरब से लौटी थी और कोरोना पॉजिटिव है। प्रशासन ने सातों संदिग्धों को क्वारंटीन किया है और इनके सैंपल लेकर हल्द्वानी स्थित राजकीय मेडिकल कॉलेज भेजे हैं।

नागरिक चिकित्सालय के नोडल अधिकारी डॉ. वीपी सिंह ने बताया कि बृहस्पतिवार की शाम तक रिपोर्ट आ जाएगी। बुधवार को नगर क्षेत्र में एक परिवार के छह और पड़ोसी एक अन्य व्यक्ति को बुखार और जुकाम की शिकायत सामने आई। सूचना पर एसडीएम निर्मला बिष्ट, कोतवाल संजय पाठक आदि मौके पर पहुंचे और उस गली के लोगों को एहतियातन होम क्वारंटीन के लिए कहा।

टीम ने सभी सातों को सरकारी अस्पताल पहुंचाया। नोडल अधिकारी डॉ. सिंह ने बताया कि एक परिवार के छह लोगों में से दो लोग बीते दिनों पीलीभीत गए थे, जो वहां एक सऊदी अरब से लौटी महिला के मिले थे। कहा कि सातों में बुखार और जुकाम की शिकायत मिली है।

इन्हें आईटीआई में बनाए गए क्वारंटीन वार्ड में भेजा जा रहा है। इधर, रुद्रपुर से सीएमओ डॉ. शैलजा भट्ट और एसीएमओ डॉ. ऊषा जंगपांगी ने भी खटीमा पहुंचकर मरीजों के बारे में जानकारी जुटाई।
... और पढ़ें

कोरोना से निपटने को एसडीएम ने मांगा पार्षदों से सहयोग

कोरोना संक्रमण के चलते लॉक डाउन के कारण उत्पन्न होने वाली समस्याओं के समाधान के लिए एसडीएम ने नगरायुक्त, मेयर और पार्षदों के साथ चर्चा की। बैठक में शासन से प्राप्त होने वाले निर्देशों के अनुपालन में पार्षदों का सहयोग लेने के लिए परस्पर समन्वय बनाए रखने पर सहमति बनी।
नगर निगम सभागार में हुई बैठक में कहा गया कि पार्षद अपने-अपने वार्डों में सामाजिक दूरी बनाए रखने के संबंध में लोगों को जागरूक करें। व्यापार मंडल के पदाधिकारियों से अपेक्षा की गई कि रोजमर्रा की जरूरतों की किट तैयार कराकर निर्धारित मूल्यों पर होम डिलवरी कराने की व्यवस्था करें ताकि लोग अपने घरों से कम निकले।
तय किया गया कि प्रतिदिन दोपहर 12 बजे निगम में परिस्थितियों की समीक्षा की जाए। इस दौरान होने वाले निर्णयों से पार्षद गुर विंदर सिंह चंडोक अन्य पार्षदों से साझा करेंगे।
पार्षद फिरोज अहमद ने लॉकडाउन के चलते आपात सेवाओं में सहयोग के लिए पार्षदों को कर्फ्यू पास भी जारी किए जाने की मांग रखी। बैठक में एसडीएम सुंदर सिंह, मेयर ऊषा चौधरी, नगरायुक्त प्रकाश चंद्र आर्य, पार्षद अनिल कुमार, अनीता कांबोज आदि थे।
इधर, जसपुर में एसडीएम सुंदर सिंह ने पालिका सभागार में सभासदों उद्योग व्यापार मंडल के सदस्यों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि कालाबाजारी करने वालों और अफवाह फैलाने वालों की सूचना प्रशासन को दें। बताया कि जनता को निर्धारित शुल्क पर राशन आवश्यक वस्तुओं को उनके घर पर ही उपलब्ध कराया जाएगा। इधर, सुल्तानपुर पट्टी में कोरोना वायरस को लेकर नगर पंचायत कार्यालय पर नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी और व्यापार मंडल की बैठक हुई।
तहसील में स्थापित होगा कंट्रोल रूम
काशीपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति पर नजर रखने के लिए तहसील में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। यहीं से आपात ड्यूटियां लगाई जाएंगी। किसी भी तरह की आपात सूचना मिलने पर संबंधित विभाग के कर्मियों को अलर्ट किया जाएगा। एसडीएम सुंदर सिंह ने बताया कि श्रमिकों के खानपान आदि का जिम्मा उन फैक्ट्रियों के प्रबंधकों को उठाना होगा, जहां वह काम कर रहे हैं।
नवनियुक्त एमएनए ने संभाला पदभार
काशीपुर। बाजपुर चीनी मिल के महाप्रबंधक प्रकाश चंद्र आर्य ने काशीपुर नगर निगम के आयुक्त का पदभार ग्रहण कर लिया है। नवांगतुक एमएनए ने कहा कि पर्यावरण मित्रों को सुरक्षा के सभी संसाधन उपलब्ध कराए जा रहे हैं। उनके लिए पीपीके किट भी मंगाई जा रही है। निगम के हर क्षेत्र को सैनिटाइज करने के साथ सफाई का कार्य युद्धस्तर पर चलाया जाएगा। कीटनाशक के छिड़काव के लिए निगम के पास 10 टैंकर और 10 मशीनें उपलब्ध हैं।
बंदी में दुकानें खोलने पर पांच दुकानदार गिरफ्तार
काशीपुर। लॉक डाउन की अवधि में छूट के बाद बाजार खाली कराने के लिए पुलिस को सख्ती दिखानी पड़ी। समय पर दुकानें बंद न करने पर पुलिस ने पांच दुकानदारों को गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में लिखित माफी मांगने पर पुलिस ने जुर्माना वसूलकर उन्हें छोड़ दिया। वहीं, अल्ली खां में लोगों को घरों में भेजने के लिए पुलिस को लाठी फटकारनी पड़ी।
अघोषित कर्फ्यू का उल्लंघन करने पर आईटीआई पुलिस ने पांच बड़े वाहनों समेत 40 से अधिक वाहनों का चालान किया। सीपीयू की टीम ने 26 वाहनों का चालान किया जबकि दो वाहन सीज किए गए। वहीं, काशीपुर पुलिस ने 6 वाहनो के चालान काटे। लॉक डाउन में छूट की मियाद गुजर जाने के बाद भी दुकानें खुली रखने पर आईटीआई थाना पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया। वहीं, काशीपुर पुलिस ने भी एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। इन सभी से जुर्माना वसूल कर उन्हें छोड़ दिया गया। इधर, बाजपुर में चार व्यापारियों का पुलिस एक्ट में चालान किया। संवाद
नौ परिवारों को किया क्वांरटीन
काशीपुर। कोरोना नोडल अधिकारी डॉ. अमरजीत ने बताया कि सऊदी अरब, दुबई और कनाडा से आए बांसखेड़ा, मानपुर रोड, रजपुरा रानी में नौ परिवारों को क्वांरटीन किया गया है। दो से तीन अप्रैल तक का नोटिस चस्पा कर घर से बाहर नहीं निकलने की हिदायत दी गई है। केरल से पहुंचे पैगा निवासी तीन लोगों की स्क्रीनिंग की गई।
बाजपुर में फल खरीदते लोग।
बाजपुर में फल खरीदते लोग।- फोटो : BAZPUR
बाजपुर व्यापार मंडल की ओर से घरेलू सामान से भरे दो वाहन।
बाजपुर व्यापार मंडल की ओर से घरेलू सामान से भरे दो वाहन।- फोटो : BAZPUR
काशीपुर नगर निगम में पार्षदों की बैठक लेते एसडीएम। संवाद न्यूज एजेंसी
काशीपुर नगर निगम में पार्षदों की बैठक लेते एसडीएम। संवाद न्यूज एजेंसी- फोटो : KASHIPUR
... और पढ़ें

जेल में बना 11 बेड का आइसोलेशन वार्ड

कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर संपूर्णानंद सेंट्रल जेल में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। जेल प्रशासन ने किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए जेल में ही 11 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाया है। कैदियों की पेशी व मुलाकात पर पूर्णत: रोक लगा दी है। इसके अलावा जेल के प्रशासनिक दफ्तर व बैरकों को दिन में चार बार सैनिटाइज किया जा रहा है।
जेल अधीक्षक दधिराम मौर्या ने बताया कि संपूर्णानंद शिविर (खुली जेल) में 45 बंदी हैं और सेंट्रल जेल में करीब 650 कैदी विभिन्न अपराधों में सजा काट रहे हैं। इनमें दोष सिद्ध उम्र कैदी, टर्मिनल व हवालाती कैदी शामिल हैं।
कैदियों की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। जेल के सभी अधिकारी व कर्मचारियों और समस्त कैदियों को मास्क अनिवार्य कर दिए गए हैं। खुली जेल के करीब 22 बंदी झोपड़ियों में रह रहे हैं। अन्य को सेंट्रल जेल में ही रखा गया है।
उन्होंने बताया कि जेल परिसर, दफ्तर व बैरिकों को भी सैनिटाइज किया जाता है। दिन भर में चार बार दवाई का छिड़काव होता है। दरवाजों के लॉक, टेबल व अन्य उपयोगी वस्तुओं की भी ब्लीचिंग की जा रही है।
16 बीमार कैदियों के लिए बनाया अलग बैरक
सितारगंज। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जेल प्रशासन पूरी तरह एहतियात बरत रहा है। जेल में सजा काटने वाले कैदियों में से 16 उम्रदराज व गंभीर रोगों से पीड़ित कैदियों को स्वस्थ कैदियों से अलग कर एक बैरक में रखा गया है। अस्वस्थ व स्वस्थ कैदियों का प्रतिदिन फार्मासिस्ट हेल्थ चेकअप भी कर रहे हैं। संवाद
सितारगंज सेंट्रल जेल के 23 कैदियों को मिलेगा पेरोल
सितारगंज। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए उच्चतम न्यायालय की ओर से कम सजा वाले कैदियों को पेरोल या अंतरिम जमानत के आदेश जारी होने के बाद जेल प्रशासन ने सात साल या उससे कम सजा वाले कैदियों को चिन्हित कर लिया है। सेंट्रल जेल में करीब 23 कैदी ऐसे हैं जो सात साल या फिर उससे कम सजा वाले हैं। जेल प्रशासन ने इन कैदियों की सूची तैयार कर कारागार मुख्यालय को भेजी है। इससे इन कैदियों में खुशी का माहौल है।
सोमवार को उच्चतम न्यायालय ने देश की भीड़ भाड़ वाली जेलों में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सात साल या उससे कम सजा वाले कैदियों को पेरोल या अंतरिम जमानत देने के आदेश जारी किए गए। मंगलवार को जेल प्रशासन ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर जेल में सात साल या इससे कम सजा में दोष सिद्ध कैदियों को चिन्हित किया।
सेंट्रल जेल में करीब 650 कैदियों में 23 कैदी चिन्हित किए गए। ये कैदी 22 से 50 साल तक की आयु के हैं और उत्तराखंड के देहरादून, टिहरी, अल्मोड़ा, बागेश्वर, नैनीताल व ऊधम सिंह नगर जिलों के निवासी हैं।
ये सभी कैदी साल 2015 से लेकर नवंबर 2019 तक के हैं जो सेेंट्रल जेल में सजा काट रहे हैं। इन कैदियों को अपहरण, पॉक्सो, दुष्कर्म, धोखाधड़ी व दहेज जैसे मामलों में सजा हुई थी। जेल प्रशासन ने चयनित कैदियों की सूची बनाकर कारागार मुख्यालय को भेजी है। इससे इन कैदियों में खुशी का माहौल है। ये कैदी पेरोल या अंतरिम जमानत पर घर जाने के लिए शासन के आदेश का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद शासन से सात साल या उससे कम सजा वाले कैदियों की सूची मांगी थी जिन्हें चिन्हित कर कारागार मुख्यालय को सूची भेजी है। इन कैदियों को छह सप्ताह के पेरोल या अंतरिम जमानत देने के लिए शासन की उच्च स्तरीय समिति फैसला लेगी। -दधिराम मौर्या, जेल अधीक्षक सेंट्रल जेल सितारगंज।
... और पढ़ें

कैंटर चालक ने टनकपुर से खटीमा तक के वसूल लिए 400 रुपये

खटीमा। लॉकडाउन में लोग जहां कई लोग लोगों की मदद को आगे आ रहे हैं वहीं कई लोग मजबूरी का फायदा भी उठा रहे हैं। ऐसा ही एक उदाहरण नगर में देखने को मिला। चंपावत से पैदल आ रहे यूपी के लखीमपुर खीरी जाने वाले श्रमिकों को एक कैंटर चालक टनकपुर से खटीमा ले आया। नगर में पहुंचने पर जब श्रमिकों ने किराया पूछा तो उनके होश उड़ गए। चालक ने उक्त लोगों से प्रति सवारी 400 रुपये वसूले और किराया न होने पर एक युवक का मोबाइल ले लिया।
शनिवार को खीरी के रहने वाले अनिल कुमार ने बताया कि मजदूरी का काम बंद होने पर वह 25 मार्च को अन्य साथियों के साथ चंपावत से पैदल चले और 28 मार्च की सुबह टनकपुर पहुंचे। यहां से एक कैंटर चालक उन्हें खटीमा ले आया। 12 लोग हमारे साथ थे। चालक ने प्रत्येक सवारी से 400 रुपये वसूल किए और अनिल के पास किराया न होने पर उसका मोबाइल लेकर चला गया। अनिल ने बताया कि उन्होंने गुरुद्वारे में भोजन किया और पूर्ति निरीक्षक हयात सिंह बुंगला को आपबीती बताई। बुंगला ने बताया कि उक्त लोगों ने वाहन का नंबर बताया है तथा इसकी जांच की जाएगी।
... और पढ़ें
खटीमा होकर यूपी के लखीमपुर खीरी जाते लोग। खटीमा होकर यूपी के लखीमपुर खीरी जाते लोग।

आग से जली 12 झोपड़ियां

सुल्तानपुर पट्टी। कोसी नदी खनन में कार्य में लगे निर्धन परिवारों की एक दर्जन झोपड़ियां जलकर राख हो गईं। राजस्व और पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना कर पीड़ितों को राहत सामग्री दी।
कोसी नदी के सुरेंद्र जीत घाट पर लॉकडाउन के चलते श्रमिक अपनी झोपड़ियों में रहे थे। शनिवार की दोपहर एकाएक 12 झोपड़ियों में आग लग गई। आग में बाइक, राशन, हजारों की नकदी, कपड़े, सिलाई मशीन, बर्तन, सिलेंडर और अन्य सामान जल गया। शोर सुनकर लोगों ने झोपड़ियों से निकलकर अपनी जान बचाई। पीड़ितों ने बताया सभी लोगों का करीब तीन लाख से अधिक का नुकसान हुआ है। फायर ब्रिग्रेड के पहुंचने से पूर्व सामान जलकर राख हो गया। कानूनगो चंद्रपाल और हल्का पटवारी नरेंद्र कुमार ने घटनास्थल का मौका मुआयना किया। उन्होंने पीड़ित परिवार को राशन के साथ 7900 रुपये की आर्थिक सहायता दी। साथ ही समाजसेवियों ने गरीब परिवारों के लिये खाना और कपड़ों की व्यवस्था कराई। उधर, बाजपुर कोतवाल एनबी भट्ट और चौकी प्रभारी अनिल जोशी ने घटनास्थल पर पहुंचकर जानकारी ली।
... और पढ़ें

सैन्य सम्मान के साथ हुई गुरबाज की अंत्येष्टि

बाजपुर। सड़क हादसे में मारे गए सैनिक की शुक्रवार को गांव डलपुरा में सैन्य सम्मान के साथ अंत्येष्टि की गई। चिता को मुखाग्नि पिता रजवंत सिंह संधू ने दी। सैैनिकों ने पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।
गदरपुर के गांव डलपुरा निवासी गुरबाज सिंह संधू (29) पुत्र रजवंत सिंह संधू भारतीय सेना का जवान था। गुरबाज चंडीगढ़ के आर्मी अस्पताल में तैनात था। सप्ताह भर पहले चंडीगढ़ में सेना के ट्रक से उतरते समय गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया था। उसे चंडीगढ़ के आर्मी अस्पताल में भर्ती कराया गया। बुधवार को गुरबाज ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। सूचना पर परिजन गुरबाज का शव लेकर बृहस्पतिवार देर शाम घर पहुंचे। शव पहुंचते ही पूरा गांव शोक में डूब गया। शुक्रवार को गांव डलपुरा में गुरबाज सिंह की सैन्य सम्मान के साथ अंत्येष्टि की गई। इस दौरान सेना केे सूबेदार सतनाम सिंह, सुनील सिंह, गुरजीत सिंह ने पुष्पचक्र अर्पित कर सलामी दी। वहां पर पालिकाध्यक्ष गुरजीत सिंह गित्ते, वासुदेव सोयायटी अध्यक्ष रघुवीर सिंह संधू, बेअंत सिंह, दया सिंह, गुरमेल सिंह, संदीप सिंह आदि थे। परिजनों के अनुसार गुरबाज सिंह संधू वर्ष 2013 में सेना में भर्ती हुआ था। 22 फरवरी को गुरबाज सिंह की शादी हुई थी। 13 मार्च को घर से वापस ड्यूटी पर गया था।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: जंगल में शहद निकालने गए युवकों पर मधुमक्खियों के झुंड ने किया हमला, एक की मौत

उत्तराखंड के रुद्रपुर में तराई केंद्रीय वन प्रभाग के टांडा जंगल में शहद निकलने गए चार युवकों पर मधुमक्खियों के झुंड ने हमला कर दिया। इस दौरान तीन युवकों ने भागकर अपनी जान बचाई, जबकि एक युवक गम्भीर होने पर मौके पर ही बेसुध हो गया। सूचना के बाद परिजन उसे जंगल से उठाकर अस्पताल लाए। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

 शुक्रवार को दिनेशपुर के जयनगर वार्ड नम्बर-तीन निवासी राजेंद्र प्रसाद, सलीम, हीरालाल व प्रीतम सिंह टांडा जंगल में मधुमक्खियों के छत्ते से शहद निकलने के लिए गए थे। पेड़ पर शहद का छत्ता काटने के लिए राजेंद्र चढ़ गया। जबकि तीन युवक नीचे खड़े थे।

इसी बीच मधुमक्खियों के झुंड ने राजेंद्र व तीनों युवकों पर हमला बोल दिया। मधुमक्खियों का हमला करते ही सलीम, हीरालाल व प्रीतम सिंह भागकर घर आ गए लेकिन राजेंद्र पड़े से नीचे उतरते ही बेसुध हो गया।
... और पढ़ें

Uttarakhand Lockdown: लॉकडाउन तोड़ बरात लेकर दुल्हन लेने गए दूल्हे राजा समेत आठ लोग गिरफ्तार

मधुमक्खी

तीन साल के बच्चे में कोरोना लक्षण की संभावना पर स्क्रीनिंग

सितारगंज। सशस्त्र सीमा सुरक्षा बल के एक कर्मी के तीन साल का बच्चा पिछले दो दिन से एसएसबी के अस्पताल में आइसुलेट था। बच्चे में कोरोना के लक्षण की संभावना से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया। आनन फानन में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बच्चे की स्क्रीनिंग की। स्वास्थ्य परीक्षण के बाद बच्चे में कोरोना के लक्षण नहीं मिले और डॉक्टर ने सामान्य वायरल बुखार व खांसी होने की पुष्टि की है।   स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शुक्रवार को एसएसबी के डॉक्टर द्वारा तीन साल के बच्चे में कोरोना के लक्षण की संभावना जताने से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया। एसीएमओ डॉ. ऊषा जंगपांगी ने तुरंत ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्साधीक्षक डॉ. राजेश आर्या को एसएसबी कैंप के अस्पताल में भर्ती बच्चे की कोरोना जांच के आदेश दिए। चिकित्साधीक्षक डॉ. आर्या ने चिकित्साधिकारी डॉ. आरपी सिंह के नेतृत्व में स्वास्थ्य टीम को सिडकुल स्थित एसएसबी मुख्यालय के अस्पताल भेजा। यहां टीम ने अस्पताल मेें आइसोलेट एक कर्मचारी के तीन वर्षीय बेटे की कोरोना स्क्रीनिंग की।   स्वास्थ्य परीक्षण के बाद डॉ. सिंह ने बच्चे में सामान्य वायरल बुखार व खांसी होने की पुष्टि की। इससे एसएसबी कैंपस और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने राहत की सांस ली।चिकित्साधीक्षक डॉ. आर्या ने बताया कि बच्चे में कोरोना से संबंधित कोई भी लक्षण नहीं पाए गए। जिसकी रिपोर्ट मुख्य चिकित्साधिकारी को भेज दी है। इनसेट शुक्रवार को 26 लोगों को किया होम क्वारंटाइन सितारगंज। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शुक्रवार को आगरा से घरों को लौटे नानकमत्ता क्षेत्र के १७ लोगों के दल और मुंबई, चेन्नई, हैदराबाद व अन्य शहरों से घर लौटे करीब नौ लोगों की कोरोना स्क्रीनिंग की। सभी जांच में स्वस्थ्य मिले। टीम ने सभी को होम क्वारंटाइन कर दिया और १४ दिन तक घर के भीतर ही रहने की सलाह दी। ----- ... और पढ़ें

खाद्यान्न की वस्तुओं की होम डिलीवरी की अनुमति को लगी भीड़

सितारगंज (ऊधमसिंह नगर)। लॉकडाउन की वजह से दुकानें पूरी तरह बंद होने से अब ठेला, फड़ व्यवसायी अपनी आजीविका चलाने के लिए प्रशासन से वाहनों की अनुमति लेने पहुंच रहे हैं। लॉकडाउन से घरों में रह रहे गरीब परिवारों में अब रोजगार का संकट दिखाई दे रहा है। लोग अब दुकानों को छोड़ वाहन से खाद्यान्न व सब्जी दूध बेचने को मजबूर हो गए हैं। प्रशासन के पिछले 3 दिन से होम डिलीवरी वैन चालू करने से अब छोटे छोटे व्यवसायियों का रूझान होम डिलीवरी की तरफ हो गया है। शुक्रवार को एसडीएम दफ्तर पर दर्जनभर लोग अनुमति के लिए आवेदन करने पहुंचे । हालांकि, एसडीएम गौरव कुमार ने ज्यादा लोगों को अनुमति देने पर रोक लगा दी है। ... और पढ़ें

दो सौ किलोमीटर पैदल चलकर काशीपुर पहुंचे अल्मोड़ा के कई युवक

काशीपुर। कुरुक्षेत्र में होटलों व अन्य जगहों पर काम कर रहे हैं अल्मोड़ा के कुछ युवक पैदल ही 300 किलोमीटर चलकर काशीपुर पहुंचे। पुलिस ने उन्हें रोककर उनके खाने की व्यवस्था कराई। कोरोना वायरस के चलते विभिन्न राज्यों से लोग अपने अपने घरों को लौटने लगे हैं। कुरुक्षेत्र में काम कर रहे अल्मोड़ा के दनया और जैती गांव के 100 से अधिक युवक शुक्रवार को पैदल 200 किलोमीटर पैदल चलकर काशीपुर पहुंचे। 10 लोगों के ग्रुप में बंटे इन युवकों को पुलिस ने मेन चौराहे पर रोक लिया। पुलिस के पूछने पर युवकों ने बताया कि वह कुरुक्षेत्र में होटलों व अन्य जगहों पर काम करते हैं। मालिकों ने बिना पेमेंट दिए उन्हें निकाल दिया है, जिससे वहां से वह 200 किलोमीटर पैदल चलकर काशीपुर पहुंचे। वे भूखे और प्यासे हैं। उनके पास खाने तक के पैसे नहीं है। पुलिस ने सभी लोगों के खाने की व्यवस्था कराई। ... और पढ़ें

निगम प्रशासन ने बढ़ाई सप्लाई वाहनों की संख्या

आम लोगों तक राशन की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए वाहनों की संख्या तीन से बढ़ाकर पांच कर दी गई है। इसके अलावा प्रत्येक वार्ड में एक जनरल स्टोर स्वामी को डोर टू डोर सप्लाई के लिए अधिकृत किया जाएगा। उधर, दुग्ध उत्पादन सहकारी संघ ने भी काशीपुर और जसपुर में दूध की सप्लाई के लिए 10 वाहनों को पास जारी किए हैं। इधर निगम की बैठक में 60 हाथ ठेलों को पास जारी किए गए।
बृहस्पतिवार को भी शहर में खाद्यान्न की भारी मारामारी रही। ऐसी स्थिति में आवश्यक वस्तुओं के दाम बढ़ गए हैं। गेहूं की सप्लाई न होने के कारण कई चक्कियां बंद हैं। लोगों तक खाद्य पदार्थों की पहुंचाने के लिए बृहस्पतिवार को वार्ड नंबर 1, 2 व 3 में वाहन भेजे गए। इन वाहनों के माध्यम से लोगों को बाजार मूल्य पर आटा, चावल, दाल और मसाले वितरित किए गए।
नागरिक आपूर्ति को आसान बनाने के लिए पार्षदों के लिए भी अपने-अपने वार्डों के लिए पास जारी किए गए। निगम सभागार में हुई बैठक में एमएनए प्रकाश चंद्र आर्य ने बताया कि वार्डों में सप्लाई संबंधी कोई दिक्कत होने पर पार्षद निगम प्रशासन को सूचित करेंगे। बैठक में मेयर ऊषा चौधरी, एएसपी राजेश भट्ट आदि थे।
लॉक डाउन का उल्लंघन करने पर चार और गिरफ्तार
काशीपुर। एसआई दीपक जोशी ने लॉक डाउन का उल्लंघन करने पर ढेला बस्ती निवासी मो. मुस्तफा और फुरकान पर केस दर्ज कराया। वहीं, एसआई अमित शर्मा ने नई बस्ती निवासी राशिद और जैद पर धारा 188/269 का मुकदमा दर्ज कराया है। इधर, काशीपुर और आईटीआई पुलिस अब तक 44 लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर चुकी है।
मुसलमान घरों में ही अदा करें जौहर की नमाज
काशीपुर। शहर इमाम मुफ्ती मुनाजिर हुसैन सलामी ने मुस्लिमों से अपील की है कि वे जुम्मे की नमाज के लिए मस्जिदों में न आएं। मुस्लमान अपने घरों में ही जौहर की नमाज अदा करें और इस महामारी (बबा) के खात्मे के लिए दुआ करें।
मदद करें साहब, मालिक ने काम से हटा दिया, बेटी घर आई है
काशीपुर। जोशी मझरा निवासी एक महिला ने आईटीआई थाना प्रभारी कुलदीप अधिकारी को फोन कर मदद की गुहार लगाई। उसने बताया कि वह एक व्यक्ति के घर में खाना बनाने व झाड़ू का कार्य करती थी। लेकिन लॉक डाउन के बाद उसे काम से हटा दिया गया। इस दौरान उसकी बेटी व नातिन भी उसके घर पहुंच गए हैं।
उसके पास खाने की कोई व्यवस्था नहीं है। जसपुर खुर्द से एक व्यक्ति ने 112 पर फोन कर खाने के लिए मदद की गुहार लगाई। वहीं कचनालगाजी निवासी एक महिला ने फोन कर कहा कि उसका पति काम पर नहीं जा पा रहा है। घर में खाने का कोई इंतजाम नहीं है। पुलिस ने तीनों व्यक्तियों के घरो पर पहुंचकर खाद्य सामग्री पहुंचाई। एसओ कुलदीप अधिकारी ने बताया कि कुछ औद्योगिक इकाईयो की ओर से गरीब लोगों के लिए खाद्य सामग्री व आवश्यक चीजें पहुंचाने की पेशकश की गई है। ग्रामवार पात्र लोगों को चिह्नित कर उन तक मदद पहुंचाई जाएगी।
बृहस्पतिवार को भी बंद रहा बाजार
बाजपुर। लॉक डाउन के चलते बृहस्पतिवार को भी बाजार बंद रहा। जिससे शहर में सन्नाटा रहा। सब्जी मंडी और मेडिकलों स्टोरों पर लोगों की भीड़ लगी। पुलिस ने सड़क पर घूम रहे बाइक सहित अन्य वाहनों पर सवार लोगों को लाठियां फटकार खदेड़ा। बृहस्पतिवार को सब्जी मंडी में विक्रेताओं ने तिरपाल डालकर बंद कर चोरी से सब्जियां बेची।
इस दौरान खरीददारों की भीड़ लग गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर खदेड़ दिया। व्यापार मंडल की ओर से नगरीय क्षेत्र में परचून का सामान की होम डिलीवरी की जा रही है। शुक्रवार से गांव-गांव मेें वस्तुओं की होम डिलीवरी शुरू होगी। एसडीएम एपी वाजपेयी ने बताया कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत राहत और बचाव केे लिए बाजपुर तहसील में कंट्रोल रुम बनाया गया है। जिसका नंबर 0594981002 है।
सुरक्षा किट उपलब्ध कराने की मांग
जसपुर। नगर पालिका के सफाई कर्मियों ने ईओ का घेराव कर कोरोना से बचाव के लिए सुरक्षा किट उपलब्ध कराए जाने की मांग की है। बृहस्पतिवार को सफाई कर्मियों ने कहा कि नगर पालिका प्रशासन ने उन्हें मास्क दस्ताने, जैकेट, वर्दी, सैनिटाइजर, जूते आदि उपलब्ध नहीं कराए हैं। जिसके कारण उनके और उनके परिवार के सदस्यों के जीवन को खतरा बना हुआ है। ईओ नजर अली ने बताया कि सफाई कर्मियों को मास्क सैनिटाइजर उपलब्ध करा दिया गया था। अन्य सामान भी शीघ्र उपलब्ध करा दिया जाएगा। वहीं पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर सीसीटीवी और ड्रोन कैमरों से नजर रखनी शुरू कर दी है।
शिक्षक देंगे एक दिन का वेतन
जसपुर। उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ की ब्लॉक इकाई के सदस्यों ने एक दिन का वेतन कोरोना की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष में देने का निर्णय लिया है। वहां पर अमित त्यागी, पंकज कुमार, भूपेंद्र सिंह आदि थे।
गैस सिलिंडर की गाड़ी लौटाई
सुल्तानपुर पट्टी। कोरोना वायरस को लेकर 21 दिन के लिए लॉक डाउन में फंसे मजदूरों के राशन, पानी में मदद करने के लिए चौकी इंचार्ज अनिल जोशी ने खनन क्षेत्र स्थित घाटों पर पहुंचकर रहे 401 मजदूरों की सूची बनाकर एसडीएम को सौंपी। वहीं बृहस्पतिवार को उपभोक्ताओं के अशांति भंग करने के आरोप में सिलिंडर से भरी गाड़ी को वापस भेज दिया।
सुल्तानपुर पट्टी में गैस सिलिंडर के लिए लगी कतार।
सुल्तानपुर पट्टी में गैस सिलिंडर के लिए लगी कतार।- फोटो : KASHIPUR
काशीपुर में लोगों से उठक बैठक कराती पुलिस।
काशीपुर में लोगों से उठक बैठक कराती पुलिस।- फोटो : KASHIPUR
मुफ्ती मुनाजिर हुसैन।
मुफ्ती मुनाजिर हुसैन।- फोटो : KASHIPUR
काशीपुर में गरीब परिवार को खाद्य सामग्री देते पुलिस कर्मी।
काशीपुर में गरीब परिवार को खाद्य सामग्री देते पुलिस कर्मी।- फोटो : KASHIPUR
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us