विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सावन के सोमवार पर कराएं शिव का सहस्राचन, मिलेगी समस्त आकस्मिक परेशानियों से मुक्ति
SAWAN Special

सावन के सोमवार पर कराएं शिव का सहस्राचन, मिलेगी समस्त आकस्मिक परेशानियों से मुक्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

उत्तराखंड: मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट, आठ जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश के आसार

देहरादून समेत प्रदेश के आठ जिलों में कई स्थानों पर मंगलवार को भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। इसको देखते हुए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। वहीं, प्रदेश के अन्य स्थानों पर भी हल्की से मध्यम बारिश होने की होने का अनुमान है।

मौसम केंद्र के अनुसार मंगलवार को राजधानी देहरादून, पौड़ी, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, चमोली, नैनीताल, पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। साथ ही कई स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने का भी अनुमान है। इसके अलावा इसके अलावा अन्य स्थानों पर भी हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। 

मौसम के निर्देशक विक्रम सिंह ने बताया कि प्रदेश में फिलहाल इसी तरह का मौसम बना रहेगा अगले एक हफ्ते तक ज्यादातर जगह भारी या बहुत भारी बारिश होने का अनुमान है।
... और पढ़ें

अमर उजाला एक्सक्लूसिव: केंद्रीय विद्यालयों में 9वीं और 11वीं के फेल छात्र बिना परीक्षा दिए होंगे पास

केंद्रीय विद्यालयों में 9वीं और 11वीं में पढ़ने वाले जो छात्र फेल हो गए हैं, उन्हें दोबारा परीक्षा देने की जरूरत नहीं है। केंद्रीय विद्यालय संगठन ने ऐसे छात्रों को प्रोजेक्ट वर्क के आधार पर अगली कक्षा में प्रमोट करने का फैसला लिया है। इसके तहत सभी केंद्रीय विद्यालयों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

केंद्रीय विद्यालय संगठन देहरादून के उपायुक्त विनोद कुमार ने बताया कि केविएस ने कोरोना संक्रमण के प्रकोप के बीच छात्रों के लिए यह निर्देश जारी किए हैं। अभी तक के नियमों के हिसाब से 9वीं, 11वीं में अधिकतम दो विषयों में फेल होने वाले छात्रों को अगली कक्षा में जाने के लिए सप्लीमेंट्री परीक्षा देनी होती है। सप्लीमेंट्री में पास होने पर ही अगली कक्षा में प्रमोट किया जाता है, लेकिन इस बार ये परीक्षा नहीं ली जाएगी। 

संगठन ने कोरोना महामारी के मद्देनजर ये फैसला सिर्फ इस साल के लिए लिया है। केविएस की ओर से जारी पत्र के मुताबिक, अगर कोई छात्र इन दो कक्षाओं में सभी पांच विषयों में भी फेल होता है तो उसे उसके स्कूल द्वारा प्रोजेक्ट वर्क के आधार पर जांचा जाएगा और अंक दिए जाएंगे। फिर उसी अंक के आधार पर उस छात्र को अगली कक्षा में प्रमोट भी किया जाएगा। 
... और पढ़ें

Coronavirus: जांच के लिए लैब बढ़ने के बाद भी सैंपलिंग में नहीं आई तेजी, 6000 तक पहुंची वेटिंग

उत्तराखंड सरकार की तमाम कोशिशों के बाद भी कोरोना सैंपलों की जांच में तेजी नहीं आई है। हालांकि प्रदेश सरकार ने सैंपलों की जांच के लिए लैबों की संख्या बढ़ाई है लेकिन प्रतिदिन हजार से 1200 सैंपलों की जांच हो रही है। ऐसे में सैंपलों की वेटिंग छह हजार से अधिक हो गई है। 

प्रदेश में कोरोना संक्रमण का पहला मामला 15 मार्च को मिला था। शुरूआत में कोरोना सैंपल की जांच के लिए कोई सुविधा नहीं थी। वर्तमान में पांच सरकारी और दो निजी लैब में कोविड सैंपलों की जांच हो रही है। वहीं एनसीडीसी दिल्ली और पीजीआई चंडीगढ़ भी सैंपल जांच के लिए भेजे जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: 
Coronavirus in Uttarakhand : प्रदेश में सर्विलांस का पहला चरण पूरा, सरकार पूरी तरह से सतर्क

स्वास्थ्य विभाग की ओर रिपोर्ट के अनुसार 21 से 27 जून तक 10277 सैंपलों की जांच की गई है। वहीं 28 जून से चार जुलाई तक 10185 सैंपल की जांच की गई। सरकार का दावा है कि सभी जिलों को सैंपल जांच के लिए ट्रूू नेट मशीनें और तीन मेडिकल कॉलेजों में स्थापित लैब की क्षमता बढ़ाने के लिए आधुनिक मशीनों और उपकरणों की खरीद के लिए 11.25 करोड़ की राशि जारी की गई है। 
... और पढ़ें

Coronavirus: उत्तराखंड में सोमवार को 37 नए संक्रमित मिले, 3161 पहुंची मरीजों की संख्या

उत्तराखंड में सोमवार को 37 नए मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही अब प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 3161 पार पहुंच गई है। आज 62 मरीज ठीक होकर घर लौटे हैं। अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने इसकी पुष्टि की है

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, ऊधमसिंह नगर में सबसे ज्यादा 20 (एक प्राईवेट लैब से ) मामले सामने आए हैं। वहीं, अल्मोड़ा में तीन, देहरादून में चार (दो प्राईवेट लैब से ), हरिद्वार में पांच, नैनीताल में चार और पौड़ी में एक संक्रमित मरीज सामने आया है।

यह भी पढ़ें: 
Coronavirus in Uttarakhand : प्रदेश में सर्विलांस का पहला चरण पूरा, सरकार पूरी तरह से सतर्क

बता दें कि अब तक प्रदेश में 2586 संक्रमित मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। अभी भी 505 एक्टिव केस हैं। जबकि अब तक 42 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है।
... और पढ़ें

मां की गोद से ढाई साल के मासूम को उठा ले गया तेंदुआ, इकलौते बेटे का शव देख घर में मचा कोहराम, तस्वीरें...

कानपुर एनकाउंटर: विकास दुबे के उत्तराखंड में घुसने की चर्चा से मचा हड़कंप, हरिद्वार-नैनीताल में अलर्ट

उत्तर प्रदेश के कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या कर फरार हुए मुख्य आरोपी ढाई लाख के इनामी विकास दुबे के उत्तराखंड में घुसने की चर्चा से सोमवार देर रात खलबली मच गई। चर्चा रही कि हरिद्वार के पड़ोसी जनपद बिजनौर में विकास दुबे को काले रंग की स्कॉर्पियो में देखा गया था, लेकिन वह बिजनौर पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। इधर, विकास दुबे के उत्तराखंड में घुसने को लेकर पुलिस अंदरखाने तो अलर्ट रही, लेकिन किसी पुलिस अफसर ने इसे खुलकर स्वीकार नहीं किया।

कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मामला कुछ दिनों से देशभर में सुर्खियों में है। मुख्य आरोपी विकास दुबे की तलाश में उत्तर प्रदेश पुलिस की 50 से अधिक टीमें दिनरात लगी हुई हैं, लेकिन वह पकड़ में नहीं आ सका है।


यह भी पढ़ें: 
Kanpur Encounter: कानपुर में हुई घटना के बाद उत्तराखंड पुलिस सतर्क, किया हथियार चलाने का अभ्यास 

सोमवार रात को उत्तराखंड में उस समय विकास दुबे के घुसपैठ करने की चर्चाएं तेज हो गईं, जब पड़ोसी जनपद बिजनौर में उसे काले रंग की स्कॉर्पियो में साथियों के साथ देखे जाने का हल्ला मचा। हालांकि, बिजनौर पुलिस को काले रंग की स्कॉर्पियो नहीं मिल पाई।

आशंका जताई गई की विकास दुबे उत्तराखंड में प्रवेश कर गया है। इस तरह की चर्चा सामने आने पर अंदरखाने तो उत्तराखंड पुलिस सक्रिय हुई, लेकिन किसी पुलिस अधिकारी ने इसकी पुष्टि नहीं की। डीजी (अपराध) अशोक कुमार से जब इस बारे में पूछा गया तो उनका कहना था कि किसी तरह की घुसपैठ की बात अभी सामने नहीं आई है।
... और पढ़ें

स्कूल फीस: याचिका खारिज, उत्तराखंड हाईकोर्ट के आदेश में दखल नहीं देगा सुप्रीम कोर्ट

Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन