विज्ञापन
Home ›   Video ›   India News ›   Hospital neglect patient when DM on round leads two to death

डीएम इमरजेंसी वार्ड का दौरा करते रहे, बाहर दो लोग तड़प तड़प कर मर गए

वीडियो डेस्क/अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sat, 03 Sep 2016 05:25 PM IST

डीएम मेडिकल कॉलेज का दौरा करते रहे और इमरजेंसी वार्ड के बाहर दो लोग तड़प-तड़प कर मर गए। मामला मेरठ मेडिकल कॉलेज का है। इलाज में कथित देरी के चलते मरने वालों के नाम हैं, बागपत जिले के मऊ निवासी अमरपाल और मेरठ जिले के लिसाड़ी निवासी एहसान। चिकित्सकों का कहना है कि वे वेंटिलेटर न होने की वजह से एहसान को भर्ती करने से पहले ही मना कर चुके थे। मेडिकल कॉलेज की दुर्दशा का आलम यह था क‌ि अंदर और बाहर मरीज तड़प रहे थे, लेक‌िन इन मरीजों को देखने वाला कोई नहीं था। एक मरीज की हालत गंभीर देख खुद डीएम जगतराज त्रिपाठी ने स्ट्रेचर मंगाकर उसे भर्ती कराया। इसके अलावा मेरठ जिले के दौराला थाने निवासी गांव कैली की 22 वर्षीय प्रीति को लेकर उसका भाई राहुल जब ओपीडी पहुंचा तब डॉक्टरों ने उसकी हालत गंभीर बताते हुए उसे इमरजेंसी ले जाने को कहा। ओपीडी से इमरजेंसी तक की 800 मीटर की दूरी के दौरान वह चीखता-चिल्लाता रहा, लेकिन स्ट्रेचर तक की सुविधा नहीं मिली। वह चीखता-चिल्लाता बहन को गोद में लेकर ओपीडी से इमरजेंसी तक पहुंचा। 

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Latest

Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X