पहली बार कनाडा ने खालिस्तान को माना खतरा, कहा- हिंसा के लिए नहीं हो कोई जगह

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Thu, 13 Dec 2018 09:50 AM IST
विज्ञापन
जस्टिन ट्रूडो
जस्टिन ट्रूडो - फोटो : Instagram

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
पहली बार कनाडा की जस्टिस ट्रुडो सरकार ने खालीस्तान अतिवाद को उन आतंकी खतरों में से एक माना है जिसका सामना देश कर रहा है। 2018 की पब्लिक रिपोर्ट ऑन टेररिज्म थ्रेट टू कनाडा में इसे चिंता के तौर पर वर्णित किया गया था। इस रिपोर्ट को सार्वजनिक सुरक्षा मंत्री राल्फ गूडाले ने जमा करवाया है। गूडाले ने कट्टरपंथी से हिंसा तक के लिए राष्ट्रीय रणनीति लांच की थी।
विज्ञापन

रिपोर्ट में कहा गया है कि जहां कनाडा खतरे वाले वातावरण में स्थिर बना हुआ है वहीं मुख्य चुनौती उन व्यक्तियों और समूहों से है जो सुन्नी चरमपंथी समूहों द्वारा प्रस्तावित हिंसक विचारधारा प्रेरित हैं जैसे कि दाएश (इस्लामिक स्टेट) या अल कायदा। इसके अलावा शिया और सिख (खालिस्तान) भी चिंता का विषय हैं क्योंकि कनाडा में बेशक उनके द्वारा किए जाने वाले हमले सीमित हैं लेकिन कुछ कनाडा के नागरिक लगातार उनका समर्थन कर रहे हैं जिसमें आर्थिक मदद देना भी शामिल है।
2013 में स्थापना के बाद यह पहली बार है जब खालिस्तान को पब्लिक रिपोर्ट में अतिवाद के तौर पर उल्लिखित किया गया है। रिपोर्ट में गूडाले ने कहा, 'कनाडा अतंरराष्ट्रीय स्तर पर स्वागत करने वाला और शांतिपू्र्ण देश के तौर पर जाना जाता है। मगर हम सभी रूपों में हिंसक अतिवाद को अस्वीकार करने और उससे मुकाबला करने के प्रति दृढ़ संकल्प हैं। कनाडा के समुदाय में हिंसा और हिंसा के खतरे के लिए कोई स्थान नहीं है। इसे रोकना और खत्म करना सरकार की पहली प्राथमिकता है।'
खालिस्तान अतिवाद के संदर्भ में रिपोर्ट में कहा गया है, 'कनाडा के कुछ व्यक्ति लगातार सिख (खालिस्तान) अतिवाद की अवधारण और आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं।' रिपोर्ट में बताया गया है कि खलीस्तान के समर्थन में हिंसक गतिविधियों में अब कमी आई है। साल 1982-1993 की अवधि के दौरान यह गतिविधियां अपने चरम पर थीं तब व्यक्तियों और समूहों ने बहुत से आतंकी हमलों को अंजाम दिया था। इसमें 1985 में एयर इंडिया की फ्लाइट कनिष्का 182 में आतंकी धमाका का उल्लेख किया गया है जिसमें 331 लोगों की जिंदगी चली गई थी। इसे कनाडा में की गई अब तक की सबसे घातक आतंकवादी साजिश बताया गया है। 
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us