बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

मंगल ग्रह पर 'इंद्रधनुष': नासा के पर्सिवियरेंस रोवर द्वारा खींची तस्वीर हो रही वायरल, जानें क्या है इसका सच

वर्ल्ड डेस्क, अमर अजाला, वॉशिंगटन Published by: देव कश्यप Updated Thu, 08 Apr 2021 07:12 AM IST

सार

  • पर्सिवियरेंस रोवर द्वारा खींची फोटो को नासा ने किया पोस्ट, वायरल हुई तस्वीर
  • कई लोगों ने पूछा- क्या ये लाल ग्रह (Red Planet) पर इंद्रधनुष दिखाई दे रहा है
विज्ञापन
Mars pic captured by Perseverance rover
Mars pic captured by Perseverance rover - फोटो : NASA

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

मंगल ग्रह पर भेजे गए नासा के मार्स पर्सिवियरेंस रोवर ने वहां की एक गजब तस्वीर खींची है। इस तस्वीर में मंगल ग्रह के आसमान में इंद्रधनुष बना दिखाई दे रहा है। ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी रोवर ने धरती से इतनी दूरी पर कुछ कैमरे में कैद किया है। 
विज्ञापन


पर्सिवियरेंस रोवर द्वारा खींची फोटो को जब नासा ने पोस्ट किया तो यह तस्वीर वायरल हो गई। लोग पूछने लगें- क्या मंगल ग्रह पर इंद्रधनुष दिखाई दिया? इस बात की जानकारी नासा ने ट्विटर पर दी है। नासा ने बताया कि बहुत लोगों इसे देख पूछ रहे हैं कि क्या ये लाल ग्रह (Red Planet) पर इंद्रधनुष दिखाई दे रहा है। जवाब में नासा ने कहा, नहीं... यह इंद्रधनुष नहीं है। नासा के मुताबिक, मंगल ग्रह पर इंद्रधनुष हो ही नहीं सकता।


नासा ने बताया कि इंद्रधनुष रोशनी के परावर्तन और पानी की छोटी-छोटी बूंदों से बनता है, लेकिन, मंगल ग्रह पर न तो इतना पानी है और यहां पर वातावरण में तरल पानी के लिहाज से यहां काफी ठंडा है। नासा ने कहा, कि मंगल ग्रह के आसमान में दिखाई देने वाली ये इंद्रधनुषी छटा दरअसल, रोवर के कैमरे में लगे लैंस की एक रोशनी है।
 

बता दें कि नासा का वातावरण काफी सूखा है, जहां वातावरण में करीब 95 फीसदी तक टॉक्सिक कार्बनडाईऑक्साइड मौजूद है। इसके अलावा चार फीसदी में नाइट्रोजन और ऑर्गन है और एक फीसदी ऑक्सीजन और वाटर वेपर है। इस तरह से रासायनिक और भौतिक रूप से  मंगल ग्रह धरती से काफी अलग है।





 
नासा के मार्स रोवर द्वारा ली गई इस तस्वीर की बात करें, तो यह 18 फरवरी को तब ली गई थी जब रोवर ने मंगल ग्रह की सतह को छुआ था। इस बात की जानकारी नासा की तरफ से एक बयान जारी कर दी गई है। गौरतलब है कि नासा का पर्सिवियरेंस रोवर फरवरी में लाल ग्रह के जेजीरो क्रेटर में उतरा था। इसका काम यहां जीवन की तलाश करना है। मंगल ग्रह पर भेजा गया नासा का ये पांचवां रोवर है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X