विज्ञापन

सेक्स से जुड़ी सभी भ्रातिंयों को कर लें दूर

टीम डिजिटल/अमर उजाला Updated Sat, 05 Mar 2016 05:53 PM IST
विज्ञापन
Abstinence Pros and Cons
- फोटो : getty images
ख़बर सुनें

सार

  • सेक्स करने से यूं तो बहुत फायदे हैं
  •  
  • कई तरीकों से ले सकते हैं यौन-आनंद

विस्तार

आम तौर पर संभोग से विरत रहने का अर्थ, यौन संभोग, यानी योनि में लिंग को प्रवेश करने वाला सेक्स न करना है। आप बिना यौन-संभोग किए भी यौन आनंद और नज़दीकी बनाए रख सकते हैं।
विज्ञापन

उदाहरण के तौर पर अपने साथी के साथ चुंबन, हस्तमैथुन, छेड़छाड़, हल्के से या ज़ोर से सहला कर, कल्पनाएं कर, सेक्स खिलौनों का प्रयोग कर, मुख मैथुन या गुदा मैथुन कर यौन आनंद का अनुभव ले सकते हैं।
खूबियाँ और खामियाँ
खूबियाँ: इसे कभी भी बंद कर सकते हैं और आसानी से इसे पलटा जा सकता है, किसी डाक्टर या स्वास्थ्य कर्मी की ज़रूरत नहीं होती, किसी नुस्खे की ज़रूरत नहीं होती। यह मुफ़्त है और गर्भधारण से बचने के लिए 100 प्रतिशत प्रभावी है।

खामियाँ: गर्भधारण और यौनसंचारित रोगों से बचने के लिए आपको इसे 100 प्रतिशत अपनाना होता है, प्रभावी होने तथा संभोग से विरत रहने में होने वाली कठिनाइयों के कारण अनचाहे गर्भधारण की उच्च दर से बचने के लिए आप और आपके साथी, दोनों को इसके लिए राज़ी होना चाहिए।

कुछ लोग कहते हैं कि संभोग से विरत रहने का अर्थ, अपने साथी के साथ यौन-संभोग या कोई यौन छेड़छाड़ भी नहीं करना है। उनके द्वारा संभोग से विरत रहना कहने का यही अर्थ होता है।

दूसरे लोगों का कहना है कि संभोग से विरत रहने का अर्थ, अपने साथी के साथ यौन-संभोग नहीं करना है किंतु दूसरे तरह की यौन क्रिया, जैसे कि मुख मैथुन या गुदा मैथुन किया जा सकता है जिससे गर्भधारण नहीं होता।

इसमें दूसरे तरह की यौन क्रिया़ भी शामिल हो सकती है, जैसे कि चुंबन लेना, हस्तमैथुन करना या सेक्स खिलौनों का प्रयोग करना।

कुछ दूसरे लोग कह सकते हैं कि संभोग से विरत रहने का मतलब है महिला के साथ उस समय संभोग न करना जब वह गर्भवती हो सकती है (उनके डिंब उत्पन्न होने के दौरान)।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

कुछ सवाल और उनके जवाब

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us