पैसे कमाने का शानदार मौका, अगले महीने छह कंपनियां ला रही हैं IPO

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 25 Nov 2020 04:34 PM IST
विज्ञापन
आईपीओ
आईपीओ - फोटो : pixabay

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO) मार्केट में एक बार फिर हलचल देखने को मिल रही है। वैश्विक बाजारों में आई तेजी से सेंसेक्स-निफ्टी रिकॉर्ड ऊंचाइयों पर पहुंच गए हैं। शेयर बाजार में आई तेजी के चलते कंपनियां दिसंबर 2020 में आईपीओ के लिए उत्साहित हैं। अगले महीने छह से ज्यादा कंपनियां अपने आईपीओ ला रही हैं। आईपीओ में पैसा लगाकर निवेशक अच्छे पैसे कमा सकते हैं और। मालूम हो कि इस साल अब तक 12 से ज्यादा कंपनियों ने अपने आईपीओ पेश किए हैं और इसके जरिए उन्होंने करीब 25,000 करोड़ रुपये कमाए हैं। 
विज्ञापन


कल्याण ज्वेलर्स पेश कर सकता है आईपीओ
सूत्रों के अनुसार, अगले महीने कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ पेश कर सकती है। कंपनी को स्टॉक एक्सचेंज रेगुलेटर सेबी (SEBI) से हरी झंडी मिल गई है। कल्याण ज्वेलर्स ने इस आईपीओ के जरिए 1750 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है। इस आईपीओ में 1,000 करोड़ रुपये का फ्रेश इश्यू हो सकता है और 750 करोड़ रुपये की ऑफर फॉर सेल के कर सकते हैं। कंपनी फ्रेश इश्यू के जरिए जुटाई रकम का उपयोग वर्किंग कैपिटल की जरूरतों के लिए करेगी। कल्याण ज्वैलर्स में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 76 फीसदी है, जबकि 24 फीसदी हिस्सेदारी वारबर्ग पिनकस के पास है। 


ये कंपनियां भी ला सकती हैं अपना आईपीओ
सूर्योदय और ईएसएएफ स्मॉल फाइनेंस बैंक की भी आईपीओ के जरिए एक-एक हजार करोड़ रुपये की राशि जुटाने की योजना है। साथ ही दिग्गज निवेश राकेश झुनझुनवाला के निवेश वाली नजारा टेक्नोलॉजी प्राइमेरी मार्केट से करीब 950 करोड़ रुपये जुटाएगी। इसके अतिरिक्त रेलटेन कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया की बाजार में 700 करोड़ रुपये की राशि जुटाने की योजना है। फ्रेश इश्यू के जरिए बर्गर किंग 542 करोड़ रुपये और ऑफर फॉर सेल के जरिए 400 करोड़ रुपये जुटाएगी। 

मालूम हो कि कोरोना काल में कई कंपनियों ने आईपीओ पेश किया है। इस दौरान रूट मोबाइल कंपनी का शेयर इश्यू प्राइस से 179 फीसदी की तेजी के साथ कारोबार कर रहा है। इसके साथ ही हैपियेस्ट माइंड टेक्नोलॉजी का शेयर ऑफर प्राइस पर 92 फीसदी, रोसरी बायोटेक का 86 फीसदी, ग्लैंड फार्मा का 40 फीसदी और मझगांव डॉक का 25 फीसदी के प्रीमियम पर है। इससे निवेशकों को काफी पायदा हुआ है।

क्या है आईपीओ?
जब भी कोई कंपनी या सरकार पहली बार आम लोगों के सामने कुछ शेयर बेचने का प्रस्ताव रखती है तो इस प्रक्रिया को प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) कहा जाता है। मतलब एलआईसी के आईपीओ को सरकार आम लोगों के लिए बाजार में रखेगी। इसके बाद लोग एलआईसी में शेयर के जरिए हिस्सेदारी खरीद सकेंगे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X