2004-2015 के दौरान नई FDI परियोजनाओं के लिए भारत रहा चौथा सबसे बड़ा देश

Dimple Alawadhi पीटीआई, नई दिल्ली Published by: ‌डिंपल अलवधी
Updated Thu, 26 Nov 2020 01:33 PM IST
विज्ञापन
एफडीआई
एफडीआई - फोटो : pixabay

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
भारत 2004 से 2015 के बीच नई प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) परियोजनाओं को आकर्षित करने वाला चौथा प्रमुख देश रहा है। इस दौरान दूसरे देशों में विलय एवं अधिग्रहण करने में भी भारत आठवें स्थान पर रहा। इस संदर्भ में 'फ्यूचर ऑफ रीजनल को-ऑपरेशन इन एशिया एंड पैसेफिक' शीर्षक वाला एक शोध पत्र जारी किया गया है। 
विज्ञापन


शीर्ष पर रहा अमेरिका 
एशियाई विकास बैंक की वेबसाइट पर उपलब्ध इस रिपोर्ट के अनुसार, 2004 से 2015 के बीच भारत को 8,004 नई एफडीआई परियोजनाएं हासिल हुईं। वहीं विलय और अधिग्रहण की संख्या भी 4,918 रही। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस अवधि में नई एफडीआई परियोजनाएं हासिल करने में अमेरिका शीर्ष पर रहा। जबकि चीन दूसरे और ब्रिटेन तीसरे स्थान पर रहा। इस दौरान अमेरिका को 13,308 नई एफडीआई परियोजनाएं हासिल हुईं।


एटीसी के एफडीआई को मिली मंजूरी
दूरसंचार क्षेत्र की कंपनी एटीसी इंडिया ने कहा कि 2,480 करोड़ रुपये का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) भारत को लेकर उसकी दीर्घकालिक प्रतिबद्धता और डिजिटल इंडिया मिशन के लिए भरोसे को दर्शाता है। उल्लेखनीय है कि सरकार ने बुधवार को एटीसी टेलीकॉम इंफ्रास्ट्रक्चर में 12 फीसदी हिस्सेदारी के लिए एटीसी एशिया पैसेफिक लिमिटेड के 2,480 करोड़ रुपये के एफडीआई को मंजूरी प्रदान कर दी। 

एटीसी के कार्यकारी उपाध्यक्ष अनिल शर्मा ने एक बयान में कहा कि वर्ष 2007 से अब तक देश में डिजिटल दूरसंचार बुनियादी ढांचे के निर्माण और विकास पर कंपनी 24,000 करोड़ रुपये निवेश कर चुकी है। अब कंपनी के देशभर में करीब 75,000 मोबाइल टावर हैं, जो सभी दूरसंचार कंपनियों के लिए सहायक हैं। एटीसी इंडिया, अमेरिकन टावर की भारतीय अनुषंगी है। यह निवेश सरकार के डिजिटल इंडिया मिशन और भारत को लेकर उसकी दीर्घकालिक प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X