जेट एयरवेज की मुश्किलें बढ़ी, केवल 15 विमानों के जरिए दे रहा सेवा, विदेशी उड़ानों पर असर

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 03 Apr 2019 03:01 PM IST
विज्ञापन
jet airways has now only 15 planes for operation, will bar international flights

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
देश की सबसे पुरानी निजी विमानन कंपनी जेट एयरवेज के हालात बंद होने के कगार पर आ गए हैं। फिलहाल कंपनी के केवल 15 विमान ही सेवा में हैं। इसके चलते अब यह नियमों के हिसाब से विदेशी जाने वाली उड़ानों का परिचालन नहीं कर सकेगी।

घरेलू परिचालन के लिए केवल 12 विमान

कंपनी के पास घरेलू सेक्टर पर उड़ानों के लिए केवल 12 विमान बचे हैं। इससे पहले मंगलवार को जेट के करीब 29 विमान उड़ रहे थे। इनमें 10 737 एनजी, सात एटीआर और 12 एयरबस 330 व बोइंग 777 शामिल हैं।
विज्ञापन

कंपनी ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को सूचना दी है कि उसने 15 और विमानों को खड़ा कर दिया है। भारतीय नियमों के हिसाब से किसी भी विमान कंपनी के पास 20 विमान और रोजाना 120 देशी उड़ानें होनी चाहिए, जिससे वो अपनी विदेशी उड़ानों को जारी रख सके। 
पहले विदेशी पायलटों को जबरन छुट्टी पर भेजने के बाद कंपनी ने अब बोइंग 737 उड़ा रहे पायलटों को भी सितंबर तक छुट्टी पर रहने का आदेश दिया है। इस दौरान इन पायलटों को किसी तरह का वेतन भी नहीं मिलेगा। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X