रिलायंस की सालाना बैठक में फेसबुक जैसे नए भागीदारों के साथ नई पहल की घोषणा कर सकते हैं अंबानी

पीटीआई, नई दिल्ली Updated Tue, 14 Jul 2020 08:43 PM IST
विज्ञापन
मुकेश अंबानी (फाइल फोटो)
मुकेश अंबानी (फाइल फोटो) - फोटो : ट्विटर

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
देश के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी बुधवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) की वार्षिक आम बैठक (एजीएम) में फेसबुक जैसी प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनियों के साथ भागीदारी का लाभ उठाने से संबंधित घोषणाएं कर सकते हैं। अंबानी की अगुवाई वाली देश की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज की ये सालाना आम बैठक पहली बार ऑनलाइन होने जा रही है। 
विज्ञापन

माना जाता है कि इस बैठक में अंबानी शेयरधारकों को रिलायंस इंडस्ट्रीज में तेल को रसायन में बदलने की कड़ी के विस्तार के बारे में कंपनी की सोच के बारे में भी बताएंगे। इस बैठक में अंबानी मूल्यवर्धित उत्पादों के सृजन के लिए ऊर्जा कण को कॉर्बन मुक्त करने की अपनी सोच के बारे में भी बताएंगे। इस तरह के उत्पादों से कॉर्बन उत्सर्जन बिल्कुल नहीं होगा।
विश्लेषकों का कहना है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज की 43वीं एजीएम से कोविड-19 के बाद की रणनीतिक दिशा और संपत्तियों के मौद्रिकरण के बारे में जानकारी मिलेगी। 12 अगस्त, 2019 को हुई पिछली वार्षिक आम बैठक में अंबानी ने रिलायंस के प्रौद्योगिकी कारोबार और तेल से रसायन कारोबार में हिस्सेदारी बिक्री के जरिए मार्च, 2021 तक पूरी तरह कर्जमुक्त कंपनी बनने की योजना की घोषणा की थी।
मॉर्गन स्टेनली ने कहा है कि एजीएम में संपत्ति के मौद्रीकरण (इनविट और ओ2सी कारोबार में हिस्सेदारी बिक्री) की प्रगति की जानकारी दी जाएगी। इसके अलावा डिजिटल कारोबार में रणनीतिक भागीदारियों के बारे में और ब्योरा सामने आएगा। वित्तीय कारोबार की वृद्धि योजनाओं की जानकारी मिलेगी और तेल से रसायन एकीकरण प्रक्रिया व नई प्रौद्योगिकियों के बारे में बताया जाएगा।

तेल से लेकर दूरसंचार तक कई कारोबार करने वाला यह समूह पिछले महीने ही शुद्ध रूप से ऋणमुक्त हो चुका है। कंपनी ने अपनी डिजिटल इकाई जियो प्लेफॉर्म्स में 25.24 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचकर 1.18 लाख करोड़ रुपये की व्यवस्था कर ली है।

वहीं रिलायंस के मौजूदा शेयरधारकों को राइट इश्यू जारी कर 53,124 करोड़ रुपये भी जुटाने का भी इंतजाम किया है। इसके अलावा ईंधन की खुदरा बिक्री कारोबार में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचकर 7,000 करोड़ रुपये जुटाए हैं। कुल मिलाकर कंपनी ने 1.75 लाख करोड़ रुपये की पूंजी जुटाने की पक्की व्यवस्था कर ली है।
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us