सेबी ने होटल लीला को संपत्तियां बेचने पर लगाई रोक, 18 जून को होगी सुनवाई

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 24 Apr 2019 05:59 PM IST
विज्ञापन
sebi barred leela hotels to sell its property, nclt to hear plea on 18 june

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

सार

  • आईटीसी ने होटल लीलावेंचर पर लगाया आरोप, एनसीएलटी में दायर की याचिका
  • -3,950 करोड़ में ब्रुकफील्ड को बेचने की घोषणा की थी एचएलवीएल ने 

विस्तार

वित्तीय संकट से जूझ रही होटल लीलावेंचर लिमिटेड (एचएलवीएल) ने बुधवार को बताया कि बाजार नियामक सेबी ने उसके चार होटलों और अन्य संपत्तियों को कनाडा के निवेश कोष ब्रुकफील्ड एसेट मैनेजमेंट को बेचने पर रोक लगा दी है।
विज्ञापन

होटल लीलावेंचर ने 18 मार्च को बंगलूरू, चेन्नई, दिल्ली और उदयपुर में स्थित अपने चार होटलों और एक अन्य संपत्ति को ब्रुकफील्ड को 3,950 करोड़ में बेचने की घोषणा की थी। इसके लिए उसने शेयरधारकों से मंजूरी मांगी थी, जिसके लिए वोटिंग की आखिरी तारीख 24 अप्रैल है। 
सेबी ने होटल लीलावेंचर को लिखे पत्र में कहा कि उसे आईटीसी समूह और अल्पांश शेयरधारक जीवन बीमा निगम से विरोध पत्र मिला है। उसने होटल लीलावेंचर पर ‘उत्पीड़न और कुप्रबंधन’ का आरोप लगाते हुए राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) में याचिका दायर की है।
पत्र में कहा गया है कि आईटीसी समूह ने होटल लीलावेंचर, उसके प्रमोटरों और जेएस फाइनेंशियल एसेट रिंकंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड के खिलाफ कुछ आरोप लगाए हैं। आरोप में कहा गया है कि इनलोगों ने संपत्तियों की बिक्री के लिए पोस्टल बैलेट नोटिस के संबंध में शेयरधारकों से मंजूरी मांगी है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X