2000 रुपये तक के ऑनलाइन ट्रांजेक्शन पर नहीं पड़ेगी ओटीपी की जरूरत, RBI ने दी सुविधा

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 14 Jan 2020 01:42 PM IST
विज्ञापन
भारतीय रिजर्व बैंक
भारतीय रिजर्व बैंक
ख़बर सुनें
कई ई-कॉमर्स कंपनियों और मोबाइल एप्स ने दो हजार रुपये तक के ऑनलाइन ट्रांजेक्शन पर वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) लेने की बाध्यता को खत्म कर दिया है। इससे अब ऐसे ट्रांजेक्शन करना बहुत जल्दी हो जाएगा। फ्लिपकार्ट ने इसको शुरू कर दिया है। वहीं स्विगी और कैब सेवा प्रदाता कंपनियां भी अपने यहां जल्द ऐसा करने वाली हैं। 

आरबीआई ने दी थी ढील

भारतीय रिजर्व बैंक ने पिछले हफ्ते ही अपने नियमों में ढील दी थी। केंद्रीय बैंक ने कहा था कि छोटे ट्रांजेक्शन करने में ओटीपी की जरूरत तब तक नहीं है, जब तक कंपनियां अपने ग्राहकों को वेरिफाई कर रही हैं। पेटीएम जैसी कंपनियां भी जल्द क्रेडिट कार्ड पर बिना ओटीपी के ट्रांजेक्शन करने की सुविधा को लॉन्च करने जा रही हैं। 
विज्ञापन

बार-बार बिल भुगतान करना हुआ आसान

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार अब आरबीआई ने ग्राहकों की सुविधा के लिए हर महीने होने वाले भुगतान के लिए यूपीआई पर भी सेवा को शुरू कर दिया है। पेटीएम की इस तरह के बाजार में 40 फीसदी हिस्सेदारी है। कंपनी आईआरसीटीसी समेत कई फूड डिलिवरी और लाइफस्टाइल एप्स पर सबसे बड़ा पेमेंट गेटवे है। 
डेबिट व क्रेडिट कार्ड जारी करने वाली कंपनी वीजा ने बिना ओटीपी के चेकआउट करने की सुविधा दे दी है। उबर समेत कई कंपनियां पहले से इस सुविधा का इस्तेमाल कर रही थीं। अब इस सुविधा के आरबीआई द्वारा शुरू करने से अमेजन, पेटीएम, फोनपे, फ्रीचार्ज, मोबिक्विक जैसी क्यूआर कोड के जरिए पेमेंट लेने वाली कंपनियों को फायदा होगा। 
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us