विज्ञापन

बजट 2020: जीवन बीमा के दायरे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाए सरकार - एबीएसएल इंश्योरेंस

बजट डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 21 Jan 2020 08:51 PM IST
विज्ञापन
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
ख़बर सुनें
आगामी बजट में केंद्र सरकार को जीवन बीमा के दायरे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाने के लिए घोषणा करनी चाहिए। अमर उजाला से बातचीत करते हुए आदित्य बिड़ला सन लाइफ इंश्योरेंस के सीईओ व एमडी कमलेश राव ने कहा कि इसके साथ ही सरकार को लंबे समय के लिए लोगों के बीच बचत करने और पूंजी बढ़ाने पर अपना फोकस करना चाहिए। 

सोशल सिक्युरिटी के आभाव में बढ़े जीवन बीमा

राव ने कहा कि देश में अभी भी करोड़ों ऐसे नागरिक हैं, जिनके पास किसी तरह की कोई सोशल सिक्युरिटी नहीं है। ऐसे में जीवन बीमा से उनको जो सुरक्षा मिलती है, वो काफी होती है। लेकिन लोग अभी भी जीवन बीमा पॉलिसी लेने से कतराते हैं। ऐसे लोगों को जीवन बीमा पॉलिसी लेने के लिए सरकार इस बार के बजट में अलग से 50 हजार रुपये तक के डिडक्शन की घोषणा करे। इसके साथ ही 50 हजार रुपये की सीमा अलग से उन लोगों के लिए रखे, जो प्योर प्रोटेक्शन टर्म प्लान खरीदते हैं। 

महिलाओं को दें बढ़ावा

राव ने कहा कि सरकार महिलाओं को भी जीवन बीमा उत्पाद खरीदने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। इससे वो अपनी जमा पूंजी का इस्तेमाल अपने परिवार के लिए सही ढंग से कर सकेंगी। ऐसी महिलाओं को अलग से आयकर में छूट देने का प्रावधान भी किया जाना चाहिए। 

आयकर के इस सेक्शन में मिले छूट

सरकार को आयकर के सेक्शन 10(10)(D) में छूट का प्रावधान भी बढ़ाना चाहिए। इसके साथ ही बजट में कंपनियों द्वारा दिए जा रहे पेंशन प्लान और नेशनल पेंशन सिस्टम में एकरूपता लानी चाहिए। राव ने आगे कहा कि फिलहाल बीमा कंपनियों पर बहुत ज्यादा जीएसटी लगता है। इसको घटाकर के 12 फीसदी करना चाहिए और इनपुट टैक्स क्रेडिट का लाभ भी देने की घोषणा करनी चाहिए। ऐसा करने से कंपनियों और पॉलिसी होल्डर दोनों को फायदा होगा। 
विज्ञापन

अगर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आगामी बजट में इस बात की घोषणा करती हैं, तो फिर यह जीवन बीमा कंपनियों के लिए फायदे की बात होगी। वहीं इससे देश की ज्यादा से ज्यादा आबादी बहुत कम खर्च पर अपने और परिवार का जीवन सुरक्षित कर सकेंगे। 
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us