विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा
Astrology Services

नवरात्र में कराएं कामाख्या बगलामुखी कवच का पाठ व हवन, पाएं कर्ज मुक्ति एवं शत्रुओं से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

चंडीगढ़

शनिवार, 28 मार्च 2020

जुआ खेलते समय बेटी को दांव पर लगाने की बात कहने वाले पिता को चार साल की सजा

पोक्सो एक्ट के मामलों की स्पेशल कोर्ट ने बेटी से अश्लील हरकत करने और जुआ खेलते समय बेटी को दांव पर लगाने की बात कहने वाले पिता को चार साल की सजा और 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। जुर्माना न देने पर दोषी को अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। छप्पर पुलिस को एक महिला ने शिकायत दी थी कि उसका पति शराब पीने का आदी है। 

शराब पीकर वह उसे और उसके बच्चों को मारता-पीटता है। उसकी बेटी नौंवी क्लास में पढ़ती है। 27 फरवरी 2019 को वह बाहर गई हुई थी। जब वह वापस आई तो बेटी रो रही थी। उसने बेटी को रोने का कारण पूछा तो उसने बताया कि पापा ने उसके साथ छेड़छाड़ की और उससे पहले भी कई बार पापा आपके घर से जाने के बाद अपने पास सोने के लिए बुलाता है। 

एक दिन उसका पिता उसे जगाधरी ले गया था। वहां पर जुआ खेलने लगा। जब पैसे खत्म हुए तो पापा ने वहां पर बैठे लोगों को कहा कि वह अपनी बेटी बेच देता है। इस सुनकर वह वहां से भाग आई थी। इस शिकायत पर छप्पर पुलिस ने 28 फरवरी 2019 को आठ पोक्सो एक्ट, धारा-323 और 506 में केस दर्ज कर लिया था। तब से मामले कोर्ट में चल रहा था। बीती 16 मार्च को कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई पूरी कर ली थी। बुधवार को कोर्ट ने लड़की के पिता को दोषी ठहराते हुए सजा सुनाई।
... और पढ़ें

विजिलेंस ने रिश्वत लेते दो एएसआई दबोचे, आरोपी को छोड़ने के लिए मांगे थे 15 हजार

विजिलेंस ब्यूरो ने एंटी नारकोटिक्स सेल में तैनात दो एएसआई को एक व्यक्ति से 15 हजार की रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान तिलक सिंह व परगट सिंह के रूप में हुई है। विजिलेंस ब्यूरो ने इन दोनों थानेदारों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरदित सिंह को नशीले पदार्थों की खेप के साथ आरोपी दोनों एएसआई ने कुछ समय पहले गिरफ्तार किया था। 

पुलिस ने उससे 200 नशीली गोलियां बरामद की थी। गुरिंदर सिंह पर एंटी नारकोटिक्स सेल ने मामला दर्ज किया था। गुरिंदर की गिरफ्तारी के बाद उसका दोस्त राजेश बब्बर और भाई गुरप्रीत सिंह एंटी नारकोटिक्स सेल में केस के सिलसिले में जाते थे।

यहीं पर उनकी मुलाकात एएसआई तिलक सिंह व परगट सिंह से हुई। दोनों एएसआई ने बब्बर को धमकी दी की वह अदालत से गुरिंदर का रिमांड लेकर उस पर नशे की और बड़ी खेप डाल देंगे। इसके बाद राजेश व गुरप्रीत ने दोनों एएसआई के साथ बातचीत कर 15 हजार रुपये की रिश्वत तय की। इसी दौरान राजेश ने विजिलेंस ब्यूरो के साथ संपर्क स्थापित कर पूरे मामले की जानकारी दी। बुधवार की सुबह जब बब्बर इन दोनों को तय रिश्वत की राशि देने के लिए गया तो विजिलेंस अधिकारियों ने उन्हें अरेस्ट कर लिया।
... और पढ़ें

पंजाब: गुरदासपुर में पोल्ट्री फार्म मालिक की हत्या, सुबह खून से लथपथ मिली लाश

कस्बा धारीवाल के गांव सिधवां में अज्ञात हमलावरों ने तेजधार हथियारों से हमलाकर कर पोल्ट्री फार्म के मालिक की हत्या कर दी। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पारिवारिक सदस्यों के बयान पर मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार अजैब सिंह (65) पुत्र मूला सिंह निवासी गांव सिधवां मंगलवार रात पोल्ट्री फार्म में अकेले सोए थे। 

जब उसकी पत्नी जसबीर कौर सुबह पांच बजे उठाने आई तो वह खून से लथपथ पड़े थे। उनकी पत्नी ने शोर मचाना शुरू कर दिया था। शोर सुनकर बड़ी संख्या में ग्रामीण इकट्ठा हो गए। सूचना पर डीएसपी पीआर-1 मनजीत सिंह, एसएचओ मनजीत सिंह, सीआईए गुरदासपुर मुखी अमलोक सिंह बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।

डीएसपी मनजीत सिंह ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया गया है। जांच में पाया गया कि मृतक के सिर पर तेजधार हथियार से हमला किया गया है। इस कारण उसकी मौत हो गई है। मामले की गहनता से जांच शुरू कर दी है। जल्द ही हत्यारे पुलिस की गिरफ्त में होंगे।
... और पढ़ें

पानीपतः पत्नी और दो बच्चों को लाइसेंसी पिस्तौल से गोली मारकर राशन डिपो होल्डर ने की खुदकुशी

पानीपत मॉडल टाउन के राज नगर में राशन डिपो चालक ने शुक्रवार रात अपनी पत्नी व दो बच्चों की गोली मारकर हत्या कर दी। उसके बाद खुद अपनी कनपटी पर गोली मारकर खुदखुशी कर ली। सूचना मिलते ही मॉडल टाउन पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को सामान्य अस्पताल में रखवाया।

मिली जानकारी के अनुसार, अनिल उर्फ काला उम्र 36 साल डिपो होल्डर पुत्र नफे सिंह निवासी राजनगर, थाना मॉडल टाउन पानीपत ने अज्ञात कारणों से अपनी पत्नी पूनम व दो बच्चों लड़की प्राची (8) व लड़का अंशु (5) को गोली मार दी। खुद को भी गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

शनिवार को स्थानीय लोगों ने पुलिस कंट्रोल रूम में घटना की सूचना दी। मॉडल टाउन पुलिस व एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने लाइसेंसी पिस्तौल को अपने कब्जे में लेकर शवों को सामान्य अस्पताल पहुंचाया और पोस्टमार्टम के लिए शव गृह में रखवाया। पुलिस द्वारा आगामी कार्रवाई की जा रही है।
... और पढ़ें
पत्नी और बच्चों की हत्या के बाद खुदकुशी, मृत परिवार पत्नी और बच्चों की हत्या के बाद खुदकुशी, मृत परिवार

लुधियानाः कर्फ्यू के बीच दीवार फांदकर फरार हो गए चार कैदी, पुलिस अफसरों के हाथ-पैर फूले

फरीदकोटः पत्नी की हत्या करके बुजुर्ग ने की खुदकुशी, सुसाइड नोट में दो लोगों के ठहराया जिम्मेदार

एक बुजुर्ग ने तेजधार हथियार से पहले अपनी पत्नी की हत्या कर दी और बाद में आत्महत्या कर ली। घटना पंजाब के फरीदकोट में स्थानीय फिरोजपुर रोड स्थित सुंदर नगर की है। मृतकों की पहचान बलदेव सिंह और उसकी पत्नी गुरदेव कौर के रूप में हुई। थाना कोतवाली पुलिस ने मृतक की पुत्रवधू के बयान पर मृतक बलदेव सिंह के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है।

सूत्रों के अनुसार पुलिस को घटनास्थल से मृतक बलदेव सिंह का एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है जिसमें उसने इस घटनाक्रम के लिए दो लोगों को जिम्मेदार ठहराया है जिसके संबंध में पुलिस पड़ताल कर रही है। पुलिस को दिए ब्यान में स्थानीय गुरु तेग बहादुर नगर निवासी परमजीत कौर पत्नी लखवीर सिंह ने बताया कि उसका ससुर बलदेव सिंह व सास गुरदेव कौर पिछले तीन साल से सुंदर नगर स्थित अपने मकान में उनसे अलग रह रहे थे।

मकान के निचले हिस्से में उसकी बहन छिंदरपाल कौर अपने बच्चों के साथ रहती है। वीरवार सुबह करीब 7 बजे उसके ससुर ने उसे फोन करके बताया कि उन्होंने उसकी सास की हत्या कर दी। फोन सुनने के बाद परमजीत कौर ने इसकी जानकारी अपने बेटे गुरजीत सिंह और पति लखवीर सिंह को दी। उसके बेटे ने उसी मकान में रहती अपनी मौसी के बेटे सतनाम सिंह को फोन किया जिसने ऊपर वाले हिस्से में जाकर देखा। वह भी तुरन्त घर पहुंचे तो पाया कि उसकी सास खून से लथपथ बैड पर पड़ी थी जबकि ससुर पंखे से फंदे पर लटका था।

परमजीत कौर का आरोप है कि उसके ससुर बलदेव सिंह ने किसी तेजधार हथियार से उसकी सास गुरदेव कौर की हत्या करके बाद में आत्महत्या कर ली। थाना कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने बताया कि फिलहाल पुलिस ने मृतक बलदेव सिंह के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। बलदेव सिंह के सुसाइड नोट की पड़ताल की जा रही है और यदि पड़ताल में कोई सच्चाई सामने आई तो उसमें उल्लेखित व्यक्तियों को आत्महत्या के मजबूर करने की धारा के तहत नामजद किया जाएगा।
... और पढ़ें

जींदः रिश्ता हुआ कंलकित, दोस्त पीट रहे कह बुजुर्ग मां को गोदाम ले जाकर बेटे ने किया दुष्कर्म

मां-बेटे का रिश्ता ममता की डोर से जुड़ा होता और ये ममता पानीपत में शर्मसार हो गई। चार दिन पहले जेल से छूटकर आए 22 वर्षीय बेटे ने 50 वर्षीय मां को गोदाम में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म कर घिनौना अपराध अंजाम दिया। मां ने बेटे के चंगुल से यह कहकर निकली कि वह किसी को नहीं बताएगी।

मां रोते-रोते घर पहुंची और अपने छोटे बेटे के सामने फूट पड़ी। उसे आपबीती बताई, जिस पर छोटा बेटा मां को सेक्टर 13-17 थाना पुलिस के पास लेकर गया और बड़े भाई के खिलाफ शिकायत दी। पुलिस ने मामले में रिपोर्ट दर्ज कर ली है। आरोपी बेटा फरार चल रहा है। पुलिस उसकी धरपकड़ के प्रयास कर रही है।

पुलिस को दी शिकायत में सेक्टर 13-17 क्षेत्र की एक कॉलोनी में रहने वाले युवक ने बताया कि वह सात बहन भाई हैं, उनके पिता की 12 साल पहले मौत चुकी है, मां कूड़ा बीनने का काम कर घर का गुजारा चलाती है। युवक ने बताया कि उसका पांचवें नंबर का भाई मर्डर के आरोप में जेल गया था और 20 मार्च को ही जेल से बाहर आया था। वहीं 24 मार्च को भाई अपनी मां को यह कहकर घर से ले गया कि उसके कुछ दोस्त उसे पीट रहे हैं।

मां आनन-फानन में बेटे के साथ उसके पीछे-पीछे घर से निकल पड़ी। वहीं आरोपी मां को एक फैक्टरी के पास ले गया और बेहोश कर दिया। आरोपी ने मां को दीवार से दूसरी तरफ धकेला और फैक्टरी के कमरे में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। वहीं मां ने बेटे को इसके बारे में किसी को नहीं बताने की बात कही, जिसके बाद उसने मां को छोड़ा।

पुलिस के सामने दुपट्टा फैलाकर बेटे पर कार्रवाई की लगाई गुहार
पीड़ित मां ने पुलिस से सामने अपना दुपट्टा फैलाकर बेटे के खिलाफ कार्रवाई की गुहार लगाई। पुलिस स्टेशन में फूट-फूटकर रोई। किसी तरह पुलिस कर्मियों ने उन्हें संभाला और शांत कराया। बड़े बेटे के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई और पड़कने का भरोसा दिलाया।

जिसे नौ माह गर्भ में रखा, नहीं पता था ममता का गला घोंट देगा
पुलिस स्टेशन में मां ने कहा कि नहीं पता था, जिसे नौ माह तक गर्भ में पाला, नहीं पता था कि ममता का गला घोंट देगा। उन्होंने बताया कि जब आरोपी बेटा आया तो वह खाना बना रही थी। उसे उसके दोस्तों से बचाने गई थी, क्या पता था कि ममता ही शर्मसार हो जाएगी।

शिकायत मिलते ही पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है, आरोपी बेटे की धरपकड़ जारी है, जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
- कमलजीत, प्रभारी, सेक्टर 13-17 थाना
... और पढ़ें

मोहालीः हादसे में नर्स की मौत, परिजन बोले- जहां करती थी काम, एंबुलेंस तक नहीं दी उस अस्पताल ने

सांकेतिक तस्वीर
गत सोमवार को ड्यूटी से एक्टिवा पर अपने घर लौट रही एक प्राइवेट अस्पताल में ऑपरेशन थियेटर की 28 साल की नर्स की एक तेज रफ्तार महिंद्रा एक्सयूवी चालक ने जान ले ली और इसके बाद वह मौके से फरार हो गया। इसके बाद घायल नर्स सड़क किनारे तड़फती रही।

वहीं पास से गुजर रहे एक राहगीर ने नर्स को अस्पताल पहुंचाया। जहां पर डॉक्टरों ने जांच के बाद नर्स को मृत घोषित कर दिया। मृतका की पहचान अदिति सूद के रूप में हुई है। अदिति हिमाचल प्रदेश के गांव कंडवाड़ी पालमपुर की रहने वाली थी और वह अपने माता-पिता की इकलौती बेटी थी।

मटौर थाने की पुलिस ने अज्ञात एक्सयूवी चालक के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस की ओर से इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग देखी जा रही है। मटौर थाने के एसएचओ राजीव कुमार ने कहा कि आरोपी को जल्दी काबू कर लिया जाएगा।

मिली जानकारी के मुताबिक मृतका अदिति सूद सोहाना स्थित एक निजी अस्पताल में ओटी नर्स के पद पर तैनात थी। सोमवार को वह अपनी ड्यूटी खत्म होने के बाद शाम 4 बजे अपने रूम के लिए निकली थी। उसने मटौर में कमरा किराये पर लिया हुआ था। जब वह सेक्टर-70 की लाइटों पर पहुंची तो एक तेज रफ्तार काले रंग की एक्सयूवी कार ने उसे अपनी चपेट में लिया।

इस दौरान कार वाला काफी दूर तक उसे घसीटता ले गया और इसके बाद मौके से फरार हो गया। इसी बीच वहां से गुजर रहे एक राहगीर ने उसे सोहाना स्थित एक निजी अस्पताल में पहुंचाया। जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
... और पढ़ें

खौफनाक: पंजाब के मोगा में 11 साल के बच्चे को अगवा कर किया दुष्कर्म फिर जिंदा जला दिया

जिले के एक गांव में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। एक व्यक्ति ने 11 वर्षीय लड़के को अगवा करने के बाद गांव के स्कूल में ले जाकर उसके साथ पहले कुकर्म किया और फिर बाद में उसे जिंदा जला दिया। घटना के अगले ही दिन पुलिस ने कत्ल की गुत्थी को सुलझाते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। बता दें कि इस कत्ल की गुत्थी स्कूल में लगे सीसीटीवी फुटेज की हवाले से सुलझ पाई है। आरोपी की पहचान भी हो गई है।

एसएसपी हरमनबीर सिंह गिल ने मंगलवार को प्रेस वार्ता में बताया कि एक की गांव की महिला ने पुलिस के पास शिकायत दर्ज करवाई थी कि करीब ढाई साल पहले उसके पति की मौत हो चुकी है और उसके तीन बेटे है। महिला के अनुसार वह मेहनत मजदूरी करके अपने बच्चों का पालन कर रही है।

बीची 22 मार्च को वह अपने घर का कचरा फेंकने के लिए गांववासी एक व्यक्ति के घर से रेहड़ी लेकर आई थी। इस दौरान दोपहर करीब 12 बजे उसका 11 वर्षीय बेटा  रेहड़ी लौटाने गया था। वह देर शाम तक घर नहीं लौटा। इसके बाद उसने अपने स्तर पर बेटे की तलाश शुरू की तो उसी के देवर व देवरानी ने उसे बताया कि 22 मार्च की शाम को वह किसी के घर से काम करके लौट रहे थे तो गांव के हाईस्कूल के पास उन्होंने किसी बच्चे के चिल्लाने की आवाज सुनी थी। यहीं से शक बढ़ा और उसने पुलिस को सूचित करने समेत अपनी गली में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को भी खंगालना शुरू कर दिया।

इस दौरान पता चला कि उन्हीं के पड़ोस में रहने वाला एक युवक उनके बेटे को अपने साथ लेकर जा रहा है। इसके बाद उसी रास्ते के कैमरे चेक करने पर पता चला कि आरोपी उसके लड़के को अपने साथ गांव के सरकारी हाईस्कूल में ले गया और वहां पर उसके साथ कुकर्म करने के बाद सबूत न छोड़ने की मंशा से उसे जिंदा जला दिया। पुलिस को मदद से उक्त महिला ने स्कूल से लड़के का जला हुआ शव बरामद किया, और इसके बाद पुलिस ने आरोपी को भी काबू कर लिया।

आरोपी ने पुलिस की पूछताछ दौरान अपना गुनाह भी कबूल कर लिया, जिसके बाद पुलिस वे आरोपी को अदालत में पेश कर दो दिन का पुलिस रिमांड हासिल कर पूछताछ शुरू कर दी है। एसएसपी के अनुसार आरोपी 12वीं कक्षा पास है और कुंवारा है। वहीं प्राथमिक जांच में सामने आया है कि करीब एक माह पहले भी आरोपी ने अपने पड़ोस में रहने वाले एक किशोर के साथ कुकर्म का प्रयास किया था। मामला गर्माने पर गांव की पंचायत ने दोनों पक्षों में समझौता करवाकर मामले को ठंडा कर दिया था।
... और पढ़ें

फिरोजपुरः बीएसएफ जवान ने शादी का झांसा देकर किया दुष्कर्म, गर्भपात कराया, शादी से भी इंकार

बीएसएफ सिपाही एक युवती (20) को शादी का झांसा देकर उससे संबंध बनाता रहा। गर्भ ठहरने पर जबरन उसका गर्भपात करवा दिया गया। यही नहीं अब शादी करने से भी मना कर दिया। जान से मारने की धमकी दी जा रही है। उक्त मामला थाना सदर के अंतर्गत एक गांव की बस्ती का है। उधर, थाना सदर फिरोजपुर पुलिस ने शनिवार को पीड़िता के बयान पर आरोपी बीएसएफ जवान समेत चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

पीड़िता ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि आरोपी कुलवंत सिंह बीएसएफ में सिपाही के पद पर कार्यरत है। कुलवंत के साथ उसके संबंध बन गए। ये सिलसिला दो साल से चलता आ रहा था। कुलवंत उसे शादी कराने की बात कहकर उससे संबंध बनाता रहा। कुलवंत वर्ष 2019 में छुट्टी लेकर फिरोजपुर आया था और उससे संबंध बनाए। इससे वह गर्भवती हो गई। इस बात की जानकारी उसने कुलवंत को दी।

कुलवंत के परिवार को भी उसके गर्भवती होने का पता चल गया। कुलवंत और उसके परिजनों ने पीड़िता को गर्भपात कराने को कहा। पीड़िता के मुताबिक कुलवंत ने कहा कि शादी तभी करेगा जब गर्भपात करवा लेगी। आरोपियों ने पीड़िता को गर्भपात की दवा देकर उसका गर्भपात करवा दिया। उसके बाद आरोपियों ने शादी से मना कर दिया। कुलवंत ने भी शादी रचाने से मना कर दिया। इस संबंधी पीड़िता ने अपने परिजनों को आपबीती सुनाई और पुलिस को शिकायत दी।

उधर, पीड़िता ने कहा कि कुलवंत सिंह उसे शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म करता रहा है। इस बात का कुलवंत के पिता फूम्मन सिंह, मां पंजो बीबी व भाई गुरमेज सिंह को पता था। सभी ने मिलकर उसे धोखा दिया और उसका गर्भपात करवा दिया। पीड़िता का कहना है कि मामला दर्ज होने के बाद आरोपी उसे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं।

दूसरी तरफ, उक्त मामले की तफ्तीश कर रही सब-इंस्पेक्टर अमनदीप कौर के मुताबिक पीड़िता का सरकारी अस्पताल में मेडिकल कराने के बाद उसके बयान पर कुलवंत सिंह, पंजो बीबी, फुम्मन सिंह व गुरमेज सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। आरोपियों की तलाश के लिए छापामारी की जा रही है।
... और पढ़ें

फिरोजपुरः सरहद से गश्त करते बीएसएफ जवानों को प्लास्टिक के लिफाफे में मिले दो पाक कारतूस

बीएसएफ की बीओपी संतोख सिंह वाला के पास गश्त के दौरान बीएसएफ जवानों को फेंसिंग के पास प्लास्टिक का एक लिफाफा मिला। इसमें दो पाकिस्तानी कारतूस थे। बीएसएफ अधिकारियों की शिकायत पर थाना सदर पुलिस ने शनिवार को मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है।

इंस्पेक्टर जसवंत सिंह ने बताया कि बीएसएफ के जवान बीओपी संतोख सिंह वाला के पास गश्त कर रहे थे। उन्हें एक प्लास्टिक का लिफाफा फेंसिंग के पास मिला। उसमें दो पाकिस्तानी कारतूस थे। एक कारतूस पर शाहीन और दूसरे पर सुपर हिना लिखा था। उक्त दोनों कारतूसों को चंडीगढ़ स्थित फोरेंसिक लैब में भेज दिया गया है।

थाना सदर पुलिस ने बीएसएफ के एसआई बाबू और डीके तिवारी की शिकायत पर मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।
 
... और पढ़ें

हरियाणा: वर्दी पर लगा दाग! पति को छुड़ाने का झांसा दे पुलिसवाले ने महिला से किया दुष्कर्म

सेवा, सुरक्षा और सहयोग का नारा लगाने वाली खाकी पर महिला के साथ दुष्कर्म के दाग लगे हैं। दुष्कर्म का आरोपित हरियाणा पुलिस का एक जवान है। पीड़िता का आरोप है कि पुलिस कर्मचारी ने जेल में बंद उसके पति को छुड़वाने का झांसा देकर उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया और उसकी अश्लील वीडियो बनाई।

आरोपित ने महिला का वीडियो इंटरनेट पर वायरल करने और उसके पति या बच्चों को जान से मारने की धमकी दी। इतना ही नहीं आरोपित ने महिला को झूठे मुकदमों में फंसाने तक की धमकियां दी। इंटरनेट पर वीडियो वायरल करने के नाम पर आरोपित महिला के साथ लगभग चार साल तक दुष्कर्म करता था। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपित हवलदार के खिलाफ मामला दर्जकर छानबीन शुरू कर दी है।

पीड़िता की शिकायत के मुताबिक, अप्रैल-2016 में उसका पति मुकदमों में जेल में बंद हो गया था। महिला ने अपने जीवनयापन के लिए शहर में जनरल स्टोर खोला हुआ था। आरोपित पुलिसकर्मी उसके पति का जानकार था, जिस कारण उसका पीड़िता के घर आना जाना था। आरोपित ने उसके पति को जेल से बाहर निकालने का झांसा दिया और पीड़िता का मोबाइल नंबर ले लिया और उसके साथ बातचीत करने लगा।
... और पढ़ें

हरियाणाः फतेहाबाद में रेलवे ट्रैक पर मिले दो युवकों के शव, एक होमगार्ड दूजा सेना का जवान

उपमंडल के गांव अमानी और ललौदा फाटक के बीच 17/5 फाटक के नजदीक गांव फतेहपुरी के दो करीबी दोस्तों की ट्रेन से कटने से मौत हो गई। मृतकों की पहचान टोहाना के गांव फतेहपुरी निवासी निर्मल (21) व हरप्रीत (23) के रूप में हुई है। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची जाखल रेलवे पुलिस ने परिजनों के बयान पर 174 की कार्रवाई कर पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए। 

मृतक हरप्रीत भारतीय सेना में था और इन दिनों लेह-लद्दाख में तैनात था। वह एक माह की छुट्टी लेकर पिछले माह ही अपने गांव आया था और 23 मार्च को ही उसे अपने बेस पर लौटना था। जबकि दूसरा मृतक निर्मल सिंह होमगार्ड के पद पर तैनात था। इस घटनाक्रम में एक बात किसी को समझ नहीं आ रही है कि मृतकों ने अपनी-अपनी शर्ट की बजाये एक-दूसरे की शर्ट पहन रखी थी। 
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन