पंजाब में जहरीली शराब पीने से दो दिन में 48 लोगों की मौत, 40 जगह छापे और आठ गिरफ्तार

अमर उजाला/संवाद न्यूज एजेंसी, अमृतसर/तरनतारन/बटाला (पंजाब) Updated Fri, 31 Jul 2020 03:26 PM IST
विज्ञापन
पंजाब में जहरीली शराब से अब तक 28 लोगों की मौत।
पंजाब में जहरीली शराब से अब तक 28 लोगों की मौत।

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

सार

  • 40 स्थानों पर छापा मारकर आठ को किया गिरफ्तार, बड़ी मात्रा में नकली शराब भी बरामद
  • तरनतारन में 30, अमृतसर में 10 और बटाला में आठ की मौत
  • मुख्यमंत्री ने जालंधर डिवीजन के कमिश्नर को सौंपा जांच का जिम्मा

विस्तार

नशे की समस्या से जूझ रहे पंजाब में जहरीली शराब पीने से दो दिन में 48 लोगों की मौत हो गई। इनमें शुक्रवार को 30 मौतें तरनतारन, आठ बटाला और चार अमृतसर में हुईं। अमृतसर में गुरुवार रात को भी जहरीली शराब पीकर छह लोगों ने दम तोड़ दिया था। वहीं, पुलिस 38 लोगों के मरने की पुष्टि कर रही है। इसका कारण यह है कि कई लोगों ने पुलिस को सूचना दिए बिना मृतकों का अंतिम संस्कार कर दिया। 
विज्ञापन

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस मामले में जालंधर डिवीजन के कमिश्नर को न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। वहीं तरनतारन, अमृतसर और बटाला में वरिष्ठ अफसरों की पांच टीमों ने 40 स्थानों पर छापा मारकर आठ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। अमृतसर से बलविंदर कौर व मिट्ठू, बटाला से दर्शन रानी व रंजन और तरनतारन से कश्मीर सिंह, अंग्रेज सिंह, अमरजीत और बलजीत को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों ने पूछताछ में जहरीली शराब बेचने की बात कबूली है।
डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि इन छापों में बड़ी मात्रा में जहरीली शराब और इसे बनाने का सामान भी बरामद किया गया है। सरकारी प्रवक्ता के अनुसार यह जांच डिवीजनल कमिश्नर जालंधर की तरफ से संयुक्त आबकारी एवं कर कमिश्नर पंजाब और संबंधित जिलों के एसपी (इन्वेस्टिगेशन) के साथ मिलकर की जाएगी। मुख्यमंत्री ने जांच को तेजी से पूरा करने के लिए डिवीजनल कमिश्नर जालंधर को कोई भी सिविल अफसर, पुलिस अफसर या किसी भी विशेषज्ञ की सेवाएं लेने के अधिकार दिए हैं।
उन्होंने वादा किया कि इस मामले में दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। घटना को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने पुलिस को आदेश दिए कि सूबे में नकली शराब बनाने के काम पर शिकंजा कसते हुए तलाशी मुहिम शुरू की जाए।

एसएचओ निलंबित, एसएसपी दुग्गल ने ट्रांसफर से पहले चार सदस्यीय एसआईटी बनाई
जहरीली शराब से मौतों की घटना के बाद अमृतसर (देहाती) एसएसपी विक्रमजीत सिंह दुग्गल ने ट्रांसफर से पहले थाना तरसिका के एसचओ बिक्रमजीत सिंह को सस्पेंड कर दिया। मामले की जांच के लिए एसपी (डी) गौरव तुर्रा की अध्यक्षता में चार सदस्यीय विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन कर दिया गया है। सब इंस्पेक्टर अनूप सिंह ने बताया कि पुलिस पीड़ितों के बयान दर्ज कर रही है। वहीं, मृतकों के परिवारों ने आरोप लगाया कि गांव में अवैध शराब का धंधा पुलिस की मिलीभगत से चल रहा है। मरने वाले चार व्यक्तियों जसविंदर सिंह, कश्मीर सिंह, किरपाल सिंह और जसवंत सिंह का शुक्रवार को पोस्टमार्टम किया गया।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

तरनतारन में जहरीली शराब से 30 की जान गई

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X