बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
साप्ताहिक लव राशिफल 16 से 22 मई : क्या इस सप्ताह आपको मिलेगा अपना जीवन साथी, जानें साप्ताहिक भाग्यफल से
Myjyotish

साप्ताहिक लव राशिफल 16 से 22 मई : क्या इस सप्ताह आपको मिलेगा अपना जीवन साथी, जानें साप्ताहिक भाग्यफल से

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

गर्व : चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण बनीं ग्लोबल एंबेसडर, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मिला सम्मान

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर चंडीगढ़ की शूटर गौरी श्योराण को इंटरनेशनल वुमन क्लब ने 2021 का ग्लोबल एंबेसडर नियुक्त किया है। एक ऑनलाइन कार्यक्रम में चेक...

18 अप्रैल 2021

विज्ञापन
Digital Edition

मोगा में हैवानियत: एक माह 10 दिन तक महिला से दुष्कर्म, कनाडा भेजने के नाम पर की वारदात

कनाडा में अपनी बहन के घर पर बतौर मेड भेजने का झांसा देकर 28 वर्षीय एक महिला का पहले अपहरण किया गया और फिर करीब सवा माह तक किराए के मकान में रखकर दुष्कर्म करता रहा। आरोपी के चंगुल से निकलकर भागी पीड़िता ने पुलिस के पास शिकायत की तो पुलिस ने आरोपी समेत वारदात में शामिल उसकी पत्नी और एक बिचौलिये के खिलाफ केस दर्जकर लिया है। मामला पंजाब के मोगा का है।

थाना सिटी साउथ की इंस्पेक्टर कर्मजीत कौर ने बताया कि शिकायतकर्ता महिला ने पुलिस के पास दर्ज करवाए बयान में कहा कि गांव भलूर में रहने वाला संत राम उर्फ शेरी ने उसके मायके वालों को झांसा दिया कि वह महिला को अपने खर्च पर कनाडा भेज सकता है। इसी दौरान आरोपी संत राम शेरी ने महिला और उसके मायके परिवार को रंजीत सिंह निवासी उपला (जालंधर) से मिलवाया। 

रंजीत सिंह उनके घर आया और कहने लगा कि कनाडा में उसकी बहन रहती है और वह शिकायतकर्ता महिला को उसकी बहन के घर रसोई का काम करने के लिए बतौर मेड अपने खर्च पर भेज देगा। पीड़ित महिला के अनुसार वह गरीब परिवार से संबंधित है और घर का गुजारा मुश्किल से होता है। जिसके चलते वह आरोपियों के झांसे में आ गई। 
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

सर्वे में खुलासा: पंजाब में 58 फीसदी ग्रामीणों ने हल्के लक्षणों को किया नजरअंदाज, इसी वजह से हुईं ज्यादा मौतें

पंजाब के ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ती मृत्यु दर को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग के सर्वे में यह बात सामने आई है कि हल्के लक्षणों में बरती गई लापरवाही के कारण 58 प्रतिशत संक्रमित ग्रामीण गंभीर हालत में पहुंच गए, जिससे उनकी मौत हो गई। चिकित्सकीय विशेषज्ञ ने कहा कि संक्रमण में यह लापरवाही चिंताजनक है। उन्होंने सरकार को गांवों पर फोकस करने की सलाह दी है। अभी भी देर नहीं हुई है।

ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ते संक्रमण के दायरे को देखते हुए पंजाब सरकार अब तक कई सर्वे कर चुकी है। सभी में यह बात सामने आई है कि संक्रमण के दौरान ग्रामीण इलाज में लापरवाही बरत रहे हैं। हाल ही में एक सर्वे हुआ है जिसमें यह खुलासा हुआ कि 58 प्रतिशत ग्रामीण ऐसे थे जिनको संक्रमण के हल्के लक्षण दिखाई दिए लेकिन सही इलाज नहीं लेने और समय से टेस्टिंग नहीं कराने के कारण ग्रामीणों में संक्रमण बिगड़ा और उनकी मौत हो गई। 

सर्वे में यह भी खुलासा हुआ है कि पंजाब भर के ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे ज्यादा मालवा क्षेत्र में संक्रमण के केस सामने आए हैं। ऐसे में सरकार अब ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक टेस्टिंग कराने का फैसला कर चुकी है। साथ ही अन्य बिंदुओं पर भी कार्ययोजना बनाने की तैयारी कर रही है।
... और पढ़ें

जालंधर: चार साल पहले किया था प्रेम विवाह, अब पति-पत्नी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

जालंधर की रामा मंडी के उपकार नगर में सैलून मालिक सागर और उसकी पत्नी राधा की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। हालांकि लड़के के परिजन हत्या का आरोप लगा रहे हैं। सूचना मिलने पर पुलिस ने दोनों शव पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिए हैं। दोनों पक्षों के बयान दर्जकर मामले की जांच की जा रही है।

उपकार नगर का रहने वाला सागर मकसूदां में सैलून चलाता था। करीब 4 साल पहले उसकी शादी राधा से हुई थी। दोनों की लव मैरिज थी। सागर की मां सुनीता ने बताया कि शादी के बाद सागर व राधा उनसे अलग रह रहे थे। करीब एक माह पहले सागर व राधा वापस घर आ गए और मकान के ऊपरी हिस्से में रहने लगे। 

कुछ दिन पहले राधा से अनबन होने के बाद वह मायके चली गई और इसके बाद सागर भी वहीं चला गया। शुक्रवार को रात उन्हें सागर का फोन आया था कि उस पर बहुत कर्ज हो गया है। उसका सैलून बिकने वाला है। इसके बाद शनिवार सुबह उसके साले गोरी ने फोन कर बताया कि सागर की हालत गंभीर है। वहां पहुंचे तो राधा का शव जमीन पर पड़ा था।

सागर तड़प रहा था। उसकी कलाइयां कटी हुईं थीं और गर्दन पर भी कट के निशान थे। उनके सामने ही सागर के ससुराल वाले उसे पीट रहे थे। इसके बाद अस्पताल ले जाते वक्त सागर ने उन्हें बताया कि उसे जबरन सल्फास की गोलियां खिलाई गई हैं और पूरी रात उसके साथ मारपीट की गई है। 

अस्पताल जाकर उसने दम तोड़ दिया। सागर की मां ने आरोप लगाया कि बेटे की हत्या की गई है और इसे खुदकुशी का रूप देने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं राधा के भाई गोरी ने कहा कि सुबह करीब साढ़े 4 बजे राधा ने कहा कि उसके पेट में दर्द हो रहा है। अस्पताल ले जाने पर राधा की मौत हो गई। गोरी ने आरोप लगाया कि सागर के माता-पिता उसे तंग करते थे। वह लड़की से एक लाख रुपये लाने को कह रहे थे। सागर व राधा के बीच क्या हुआ, इसकी जानकारी उसे नहीं है। डीसीपी जगमोहन सिंह का कहना है कि पुलिस जांच में जुटी है।
... और पढ़ें

45 लाख की लूट: बैंक का डिप्टी मैनेजर ही निकला मास्टरमाइंड, नकदी, रिवाल्वर व कारतूस बरामद

पुलिस ने 12 मई को कोटक महिंद्रा बैंक के 45 लाख रुपये लूटने वाले दो शातिरों को गिरफ्तार करने का दावा किया है, जबकि एक शातिर फरार है। इस लूटपाट का मास्टरमाइंड बैंक का डिप्टी मैनेजर गुरप्रताप सिंह निवासी गांव आलमके का निकला। उसी ने दो दोस्तों को लूट की साजिश में शामिल किया था।

पुलिस ने बैंक के डिप्टी मैनेजर और उसके दोस्त डॉ. परमजीत सिंह निवासी प्रभात सिंह वाला उताड़ को काबू किया है और 45 लाख रुपये की नकदी, वारदात में इस्तेमाल रिवाल्वर व कारतूस बरामद कर लिया है। इनका तीसरा साथी गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी निवासी हस्तेके थाना सदर फरार है।

उधर, थाना अमीर खास पुलिस ने बैंक के डिप्टी मैनेजर समेत तीन आरोपियों के खिलाफ मामला दर्जकर आगे की जांच शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है कि 12 मई को बैंक का डिप्टी मैनेजर गुरप्रताप सिंह व बैंक मुलाजिम लवप्रीत सिंह कार में मुक्तसर बैंक से 45 लाख रुपये की नकदी जलालाबाद बैंक की ब्रांच की ओर से ला रहे थे कि जलालाबाद-मुक्तसर रोड स्थित गांव सैदोका के नजदीक दो बाइक सवार शातिरों ने रिवाल्वर के बल पर नकदी लूट ली।
... और पढ़ें

#LadengeCoronaSe : पानीपत और हिसार में आज शुरू होंगे 500 बेड के अस्पताल

सांकेतिक तस्वीर
कोविड-19 महामारी पर नियंत्रण के लिए पानीपत और हिसार में 500-500 बेड के अस्थायी कोविड अस्पताल बनकर तैयार हो गए हैं। गुरुग्राम में भी दो अस्पताल (100 बेड का फील्ड अस्पताल और 300 बेड का कोविड केयर सेंटर) तैयार हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल आज इनकी विधिवत शुरुआत करेंगे।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि पानीपत में रिफाइनरी के पास गांव बाल जाटान में स्थापित अस्थायी कोविड अस्पताल का नाम गुरु तेग बहादुर संजीवनी कोविड अस्पताल रखा गया है। अस्पताल के उद्घाटन अवसर पर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज मौजूद रहेंगे। गुरु तेग बहादुर संजीवनी अस्पताल के संचालन के लिए 25 डॉक्टर और 150 पैरा-मैडिकल स्टाफ नियुक्त किया गया है।

वहीं हिसार अस्पताल का नाम पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल संजीवनी अस्पताल रखा गया है। इस अस्पताल में ऑक्सीजन की आपूर्ति 7.1 लीटर प्रति बेड प्रति मिनट फ्लो के हिसाब से रहेगी। इसकी आपूर्ति जिंदल स्टील इंडस्ट्रीज के ऑक्सीजन प्लांट से होगी।

अस्पताल के पास ही बनाई पुलिस चौकी
पानीपत में रिफाइनरी के पास बनाया गया अस्पताल शहर से काफी दूर है। इसलिए इसके साथ ही पुलिस चौकी की व्यवस्था भी की गई है। अस्पताल के ब्लॉक को जोड़ने के लिए सड़क बनाई है। अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग की एंबुलेंस के अलावा हरियाणा रोडवेज की तरफ से 5 मिनी बस एंबुलेंस एवं रिफाइनरी की तरफ से दो एंबुलेंस भी कोविड अस्पताल में मरीजों को आने-जाने के लिए अपना सहयोग देंगी। पुलिस विभाग की तरफ से भी 5 एंबुलेंस इस अस्पताल के लिए मौजूद रहेंगी।

चार ब्लॉक में बांटा गया हिसार कोविड अस्पताल
हिसार के जिंदल मॉडर्न स्कूल में स्थापित किये गए अस्पताल को 4 ब्लॉक में बांटा गया है। सभी बेड को ऑक्सीजन पाइंट जोड़ना है। चिकित्सकों के अलावा पैरामेडिकल स्टाफ के साथ ही मेडिकल इंटर्न की भी यहां ड्यूटी लगाई गई है। अस्पताल में पांच एंबुलेंस तैनात रहेंगी।

गुरुग्राम में भी दो कोविड अस्पताल तैयार
गुरुग्राम में ताऊ देवीलाल स्टेडियम में 100 बेड का कोविड फील्ड अस्पताल वेदांता ने स्थापित किया है। इसमें 20 आईसीयू और 80 ऑक्सीजन बेड हैं। वेदांता कोविड मरीजों के इलाज के लिए सभी आवश्यक चिकित्सा उपकरण मुहैया कराएगी। इसके अलावा गुरुग्राम के सेक्टर 67 में  एमथ्रीएम, सीआईआई एयर फोर्स और डॉक्टर्स फॉर यू एनजीओ के सामूहिक सहयोग से 300 बेड का कोविड केयर सेंटर तैयार किया गया है।
... और पढ़ें

सिद्धू पर शिकंजा : विजिलेंस ब्यूरो ने खोली फाइल, सियासी हलकों में जवाबी हमले की चर्चा

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ लगातार हमलावर हुए विधायक नवजोत सिंह सिद्दू और उनके करीबियों पर शिकंजा कसने की तैयारी कर ली गई है। पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने भ्रष्टाचार के उन मामलों की फाइल खोल ली है, जो कथित तौर पर नवजोत सिद्धू के स्थानीय निकाय विभाग के मंत्री पद पर रहने के दौरान हुए थे। हालांकि सियासी हलकों में इस घटनाक्रम को कैप्टन का सिद्धू पर जवाबी हमला भी माना जा रहा है।

सूत्रों के अनुसार, राज्य सरकार ने सिद्धू के खिलाफ जांच शुरु करवा दी है और यह ऐसे मामले हैं, जिनमें न केवल नवजोत सिंह सिद्धू बल्कि उनकी पत्नी नवजोत कौर सिद्धू के भी फंसने के आसार हैं। नवजोत सिद्धू पर स्थानीय निकाय मंत्री रहते हुए कई बड़े बिल्डरों को नियमों के खिलाफ लाभ पहुंचाने, टेक्स चोरी के जरिए नगर पालिका को चूना लगाने, बड़े प्रोजैक्टों को नियम विरुद्ध क्लीयरिंग देने और जमीन की सीएलयू के मामलों में गड़बड़ी जैसे गंभीर आरोप लगाते हुए विजिलेंस ब्यूरो ने जांच शुरु की है।

पता चला है कि विजिलेंस ने नवजोत सिद्धू के कार्यकाल के दौरान बड़े बिल्डरों को दी गई क्लीयरिंग संबंधी फाइलें अपने कब्जे में ले ली है। इस मामले में नवजोत सिद्धू के अलावा उनकी पत्नी, ओएसडी और पीए भी विजिलेंस के रेडार पर हैं।

यह है मामला
विजिलेंस ब्यूरो ने जिन आरोपों के आधार पर नवजोत सिद्धू के खिलाफ जांच शुरु की है, वह मामला मोहाली जिले के जीरकपुर से संबंधित है। जीरकपुर के एक बिल्डर द्वारा धोखाधड़ी करके सीएलयू कराए जाने का मामला 2017 में हुआ था।आरोप है कि सीएलयू के एवज में जो करोड़ों रुपये की फीस जीरकपुर नगरपरिषद को मिलनी थी, उसके लिए 50-50 लाख रुपये के दो चैक नवजोत कौर सिद्धू द्वारा अपने नाम पर काटकर जमा कराए गए थे। लेकिन यह दोनों चैक जीरकपुर नगर परिषद ने बैंक से कैश नहीं कराए, जिससे सीधे तौर पर बिल्डर का पैसा बच गया। 

लेकिन जब विजिलेंस ने उक्त बिल्डर पर शिकंजा कसा तो बिल्डर ने धारा 164 के तहत विजिलेंस के समक्ष बयान दर्ज कराए कि नवजोत सिंह सिद्धू और नवजोत कौर सिद्धू उसके मार्फत प्रापर्टी में पैसा लगाते हैं। इसके बाद पेंच वहां फंस गया जब जमीन के बड़े टुकड़े के लिए सीएलयू नियमों के खिलाफ और बिना कोई फीस जमा कराए ही कर दिया गया।

सीएलयू के ढेरों मामलों को साइड करते हुए एक मामलों को इतनी तेजी के क्लीयर करना चर्चा का विषय बन गया और आरोप लगा कि संबंधित बिल्डर को फायदा पहुंचाने के लिए नियमों का उल्लंघन किया गया। इसके बाद जब नवजोत सिद्धू स्थानीय निकाय विभाग के मंत्री पद से हटाए गए, तब से ही इस मामले की जांच विजिलेंस के पास लंबित थी। 

सिद्धू ने दिया जवाब
अपने खिलाफ विजिलेंस ब्यूरो की कार्यवाही शुरू होने की खबरों के तुरंत बाद नवजोत सिद्धू ने ट्वीट कर कैप्टन अमरिंदर सिंह को फिर से चुनौती दे डाली। सिद्धू ने लिखा- आपका स्वागत है, प्लीज डू यूअर बेस्ट...
... और पढ़ें

लुधियाना में बड़ी वारदात: नशा तस्करों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, दो एएसआई की हत्या

पंजाब के लुधियाना में शनिवार दोपहर नशा तस्करों ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। जगरांव की अनाज मंडी में हुई इस वारदात में सीआईए स्टाफ में तैनात दो एएसआई की मौत हो गई है। मृतकों की पहचान एएसआई भगवान सिंह और एएसआई दलविंदर सिंह के तौर पर हुई है। 

वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी नशा तस्कर मौके से फरार हो गए। सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस आरोपी नशा तस्करों की तलाश कर रही है। मृतकों का साथी राजविंदर सिंह फायरिंग में बाल बाल बच गया। 

जानकारी के अनुसार, पुलिस को शनिवार दोपहर सूचना मिली थी कि नई अनाज मंडी में नशा तस्कर एकत्र हुए हैं। सीआईए स्टाफ में तैनात एएसआई भगवान सिंह और दलविंदर सिंह मौके पर पहुंचे। मौके पर नशा तस्कर एक ट्रक से कुछ सामान नीचे उतार कर कार में डाल रहे थे। मौके पर नशा तस्करों और एएसआई में किसी बात को लेकर झड़प हो गई। 

इसके बाद नशा तस्करों ने एएसआई पर फायरिंग कर दी। दलविंदर सिंह जब मौके से भागने लगा तो उसे भी गोली मार दी गई। एएसआई भगवान सिंह की मौके पर मौत हो गई, जबकि घायल दलविंदर सिंह ने अस्पताल में दम तोड़ा। उनका साथी राजविंदर सिंह फायरिंग में बाल बाल बच गया। इस वारदात के समय कुछ युवा वहीं क्रिकेट खेल रहे थे, जब उन्होंने घटना को अपने मोबाइल में कैद करना चाहा तो नशा तस्करों ने उन पर  भी गोली चला दी। संयोग से गोली किसी युवा को नहीं लगी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
... और पढ़ें

पंजाब: मालेरकोटला पर योगी के ट्वीट से भड़के कैप्टन अमरिंदर सिंह, यूपी के सीएम को दी ये नसीहत 

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मालेरकोटला को जिला घोषित करने पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा किए गए ट्वीट को पंजाब में सांप्रदायिक बवाल खड़ा करने की शर्मनाक कोशिश करार दिया है। योगी के ट्वीट की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कैप्टन ने कहा कि योगी को पंजाब के मामलों से दूर ही रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की भाजपा की विभाजनकारी और विनाशकारी सरकार के मुकाबले पंजाब में बहुत बढ़िया माहौल है। 

कैप्टन ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बीते चार सालों से भाजपा सरकार ने सांप्रदायिक विवादों को ही आगे बढ़ाया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक ट्वीट कर मालेरकोटला को जिले का दर्जा देने को कांग्रेस की विभाजनकारी नीति का प्रतीक बताया था। इस पर भड़के कैप्टन ने सवाल किया कि वह (योगी) क्या जानता है पंजाब के सिद्धांतों या मालेरकोटला के इतिहास के बारे में। मालेरकोटला का सिख धर्म और गुरु साहिबान के साथ रिश्ता प्रत्येक पंजाबी जानता है। वह (योगी) भारतीय संविधान को क्या समझता है, जिसे उत्तर प्रदेश में उसकी ही सरकार द्वारा रोज बेरहमी से कुचला जाता है। 
... और पढ़ें

इंसानियत शर्मसार: बेटी के शव को किसी ने हाथ नहीं लगाया, बेबस पिता कंधे पर लादकर ले गया, वीडियो वायरल 

पंजाब के जालंधर में इंसानियत को शर्मसार करने वाली एक बड़ी घटना सामने आई है, जिसने प्रशासन के दावों की पोल खोलकर रख दी है। जिले के एक गरीब मजदूर की 11 साल की बेटी की मौत हो गई। बच्ची में कोरोना जैसे लक्षण थे इसलिए इलाके के लोगों ने उसकी अर्थी को कंधा तक देने से इनकार कर दिया। मजबूर पिता बेटी की लाश को कंधे पर रखकर श्मशान घाट ले गया जहां उसका अंतिम संस्कार किया गया। हालांकि घटना 10 मई की है लेकिन बेटी को कंधे पर लेकर जाते पिता का वीडियो शनिवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ।

वीडियो में जालंधर के रामनगर में लाचार व्यक्ति अपने कंधों पर एक शव लेकर जाता दिख रहा है। बुजुर्ग के साथ एक बच्चा भी था जो बार-बार नीचे गिर रहे लाश के ऊपर रखे कपड़े को उठा रहा था। 34 सेकेंड की इस दर्दनाक वीडियो ने प्रशासनिक व्यवस्थाओं की पोल खोल दी और लोगों को झकझोर कर रख दिया। दिलीप के मुताबिक, अमृतसर के गुरु नानक मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों ने उसकी बेटी के कोरोना संक्रमित होने की बात कही लेकिन कोई रिपोर्ट उन्हें नहीं सौंपी। दिलीप को इस बात का भी मलाल है कि किसी ने उसकी बेटी के शव को कंधा नहीं दिया बल्कि रास्ते में लोगों ने उसकी वीडियो जरूर बनाते रहे।  
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us