विज्ञापन

पश्चिम बंगाल में कोरोना पर जोर पकड़ती राजनीति

Prabhakar Mani Tewariप्रभाकर मणि तिवारी Updated Sat, 04 Apr 2020 04:54 PM IST
विज्ञापन
कोरोना वायरस से लड़ती ममता की एक तस्वीर जारी की गई है, जिसमें कहा गया है कि बंगाल की परहेदार ममता के रहते लोग-बाग अपने घरों में सुरक्षित हैं
कोरोना वायरस से लड़ती ममता की एक तस्वीर जारी की गई है, जिसमें कहा गया है कि बंगाल की परहेदार ममता के रहते लोग-बाग अपने घरों में सुरक्षित हैं - फोटो : Twitter
ख़बर सुनें
कोरोना वायरस की वजह से जारी देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान पश्चिम बंगाल में कोरोना पर राजनीति तेज होने लगी है। दरअसल, तृणमूल कांग्रेस ने पार्टी प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की छवि चमकाने के लिए लॉकडाउन के दौरान उनकी सक्रियता को भुनाने के प्रयास में एक तीर से दो शिकार करने की तर्ज पर सोशल मीडिया पर एक अभियान शुरू किया है।
विज्ञापन

इसके तहत कोरोना वायरस से लड़ती ममता की एक तस्वीर जारी की गई है, जिसमें कहा गया है कि बंगाल की परहेदार ममता के रहते लोग-बाग अपने घरों में सुरक्षित हैं। इस अभियान को चुनावी रणनीतिकार प्रशांसक किशोर के दिमाग की उपज माना जा रहा है।
राज्य में तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख प्रतिद्वंद्वी भाजपा ने जब इसकी काट के लिए राहत सामग्री के साथ सड़कों पर उतरने का फैसला किया तो पुलिस ने उसके कई नेताओं को रोक दिया। उसके बाद बयानबाजी का सिलसिला लगातार तेज हो रहा है।
यहां इस बात का जिक्र जरूरी है कि कोविड-19 का संक्रमण फैलने के साथ ही ममता बनर्जी ने जिस तरह की सक्रियता दिखाई है वह अपने आप में एक मिसाल है। जहां देश भर के बाकी तमाम नेता अपने घरों में सिमटे हुए हैं वहीं ममता बार-बार महानगर के विभिन्न इलाकों का दौरा कर तमाम व्यवस्था खुद देख रही हैं।

कभी वे बाजारों में घूमती नजर आती हैं तो कभी अस्पताल जाकर स्वास्थ्य कर्मचारियों का हौसला बढ़ाते और कभी गरीबों में खाने-पीने का सामान बांटते। राज्य के तमाम लोगों ने उनकी सराहना की है। बीते महीने आयोजित सर्वदलीय बैठक में तमाम विपक्षी नेताओं ने भी उनकी औऱ सरकार की ओर से किए जानेवाले उपायों की सराहना की थी।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us