Patna flood: बिहार में बाढ़ और जलवायु परिवर्तन के खतरनाक संकेत, क्या बदल रहा है भारत का मौसमी चक्र?

Amalendu Upadhyayअमलेंदु उपाध्याय Updated Tue, 01 Oct 2019 03:41 PM IST
विज्ञापन
बारिश से बिहार और विशेष रूप से पटना शहर को खास नुकसान पहुंचा है।
बारिश से बिहार और विशेष रूप से पटना शहर को खास नुकसान पहुंचा है। - फोटो : Amar Ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

उत्तर भारत के राज्य खासकर बिहार, उत्तर प्रदेश इस समय असामान्य रूप से भारी मानसून की वर्षा के चलते भारी बाढ़ की चपेट में है। सितंबर 2019 के अंतिम सप्ताह में, प्रायद्वीपीय भारत (हैदराबाद और पुणे), तटीय क्षेत्र (कोलकाता, गुजरात, गोवा, मछलीपट्टनम और विजाग) और उप-हिमालयी क्षेत्र (असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिज़ोरम, त्रिपुरा, के कई हिस्से) बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश) में भारी तबाही मची है।

विज्ञापन

इन क्षेत्रों में हाल के इतिहास में अभूतपूर्व बारिश हुई है। भारी बारिश के चलते बिहार में सरकार लाचार है और खुद उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी तीन दिन बाद अपने घर से रेस्क्यू किए गए। सरकारी बचाव और राहत कार्य नाकाफी साबित हो रहे हैं और जब राजधानी पटना में ही जल कर्फ्यू की स्थिति है तो समझा जा सकता है कि राज्य के दूर-दराज के ग्रामीण अंचल की क्या स्थिति होगी।
राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जहां इसे प्रकृतिक आपदा कहकर मौसम विज्ञान के ऊपर ठीकरा फोड़ रहे हैं कि उसने तो भविष्यवाणी की थी कि 26 सितंबर को मानसून चला जाएगा, तो केंद्र सरकार में मंत्री अश्विनी चौबे इसके लिए हथिनी नक्षत्र को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप से अलग भारत की जलवायु और ऊर्जा संबंधित समाचारों की एक संस्था कार्बन कॉपी, जो वैश्विक जलवायु नीति, ऊर्जा और जलवायु परिवर्तन के मुद्दों पर एक भारतीय दृष्टिकोण के माध्यम से कार्य करती है ने इस भारी वर्षा और जलवायु परिवर्तन का संबंध स्थापित करते हुए एक शॉर्ट नोट जारी किया है।

इस नोट के मुताबिक सामान्य तौर पर, जलवायु परिवर्तन इस अत्यधिक वर्षा को और अधिक सामान्य बना देता है। इसका एक महत्वपूर्ण कारण यह है कि एक वायुमंडल जो अपेक्षाकृत गर्म है वह अधिक जल वाष्प धारण कर सकता है। पूर्व-औद्योगिक समय से दुनिया अब तक लगभग 1° C गर्म हो चुकी है और दुनिया भर में, भारी वर्षा में वृद्धि हुई है।

विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us