सानिया मिर्जा: भारतीय टेनिस की वह पोस्टर गर्ल, जो चुनौतियों के इंतजार में रहतीं हैं

Vimal Kumarविमल कुमार Updated Sun, 19 Jan 2020 08:30 AM IST
विज्ञापन
सानिया मिर्जा
सानिया मिर्जा - फोटो : ट्विटर

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा का यूक्रेन की नादिया किचेनोक के साथ होबार्ट इंटरनेशनल महिला युगल का खिताब जीतना भारतीय खेलों और खासकर भारतीय टेनिस के लिए एक बेहद उम्दा खबर है। मां बनने के बाद टेनिस कोर्ट पर लौटने वाली सानिया के लिए ये वापसी किसी फिल्मी स्किप्ट की तरह ही है। सानिया मां बनने के बाद दो साल टेनिस से दूर थीं। पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक से निकाह करने वाली सानिया ने 2018 में इजहान को जन्म दिया। उन्होंने अक्तूबर 2017 में आखिरी टूर्नामेंट खेला था।
विज्ञापन

दरअसल, 34 साल की सानिया की पूरी जिंदगी की कहानी असल होने की बजाए काल्पनिक ही लगती है। करीब एक साल पहले सानिया ने एलान किया कि उनकी जिंदगी पर भी फिल्म बनने का काम शुरु हो चुका है और इसके लिए उनका करार रॉनी स्क्रूवाला के साथ भी हो चुका है।
भारत में मिल्खा सिंह, मैरी कॉम और महेंद्र सिंह धोनी समेत कई खिलाडियों के जीवन पर फिल्में बन चुकी हैं और साइना नेहवाल समेत कपिल देव और कई तमाम खिलाड़ियों के जीवन पर फिल्में बन भी रहीं हैं। लेकिन, सानिया मिर्जा के करीब डेढ़ दशक के करियर को देखें तो कोर्ट के अंदर से ज्यादा उन्होंने कोर्ट के बाहर सुर्खियां बटोरीं और उनके जीवन में कई ऐसे मोड़ आए, जिन्हें कोई भी निर्देशक रुपहले पर्दे पर बहुत पहले ही शानदार तरीके से उतार सकता था।
2016 में रियो ओलंपिक्स के दौरान सानिया और रोहन बोप्पना का मैच देखने के लिए स्टेडियम में हजारों की संख्या में भारतीय पहुंचे थे। मैं भी प्रेस बॉक्स में मौजूद था। उम्मीद थी कि ये जोड़ी भारत को एक पदक दिला सकती है। पूरे मैच के दौरान सानिया-सानिया का शोर ऐसे मच रहा था मानो वानखेडे स्टेडियम में सचिन-सचिन का नारा गूंज रहा हो। सानिया मिर्जा भले ही क्रिकेटर नहीं है, लेकिन भारत में उनकी हस्ती किसी क्रिकेटर से कम भी नहीं है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us