विज्ञापन

कश्मीर में खुद की बुलाई मुसीबत, विदेशी नेताओं को इस मामलों से रखा गया दूर

Ramchandra Guhaरामचंद्र गुहा Updated Sun, 03 Nov 2019 12:48 AM IST
विज्ञापन
अनुच्छेद 370
अनुच्छेद 370 - फोटो : Amar Ujala
ख़बर सुनें
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 22 जुलाई को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान से वाशिंगटन में मुलाकात की थी। उस मुलाकात के बाद हुए संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में राष्ट्रपति ट्रंप ने कश्मीर विवाद के समाधान के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता करने की पेशकश की।
विज्ञापन
उन्होंने कहा, 'यदि मैं मदद कर सकता हूं, तो मुझे मध्यस्थ बनना अच्छा लगेगा।' ट्रंप ने यह दावा भी किया कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे मदद के लिए आगे आने को कहा है। उन्होंने कहा, 'दो हफ्ते पहले मैं प्रधानमंत्री मोदी के साथ था। और हमने इस विषय (कश्मीर) पर बात की थी। और उन्होंने वास्तव में कहा, 'क्या आप मध्यस्थ या पंच बनना पसंद करेंगे?' मैंने कहा, 'कहां?' (मोदी ने कहा) 'कश्मीर'।'

राष्ट्रपति ट्रंप के दावों को हमारे विदेश मंत्रालय ने तुरंत खारिज कर दिया। इसके तीन हफ्ते बाद पांच अगस्त को भारत सरकार ने अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी कर दिया, जम्मू और कश्मीर का दर्जा पूर्ण राज्य से घटाकर सिर्फ केंद्र शासित कर दिया, हजारों कश्मीरियों को जेल में डाल दिया गया, इंटरनेट और फोन लाइनें बंद कर दी गईं, पहले से भारी-भरकम सैन्यीकृत घाटी में हजारों अतिरिक्त बल भेजे गए, और इसकी बेबस आबादी पर रात और दिन का कर्फ्यू लाद दिया गया।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

अनुच्छेद 370 को खत्म करना सत्तारूढ़ दल के चुनावी घोषणा पत्र का हिस्सा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us