चार साल के बेटे को दादी के पास छोड़ ढाई महीने से अस्पताल में डटा चिकित्सक दंपती

जीएस जस्सल, अमर उजाला नेटवर्क, बंगाणा (ऊना) Updated Thu, 28 May 2020 11:35 AM IST
विज्ञापन
Corona warrior couple Dr Atul and Dr Kanika in Una himachal Pradesh
- फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
सिविल अस्पताल बंगाणा में एक चिकित्सक दंपती 80 दिनों से लगातार 24 घंटे सेवाएं दे रहा है। चार साल के बेटे को घर में दादी के पास छोड़कर दंपती देश में संकट के समय सिविल अस्पताल में मरीजों का उपचार कर रहा है। अस्पताल में किए जा रहे इस कार्य से समूचे क्षेत्र में इन दोनों पति-पत्नी चिकित्सकों की सराहना की जा रही है। पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर और कई अन्य सामाजिक संस्थाएं इन दोनों चिकित्सकों को सम्मानित भी कर चुकी हैं।
विज्ञापन

उपमंडल बंगाणा के हटली गांव के निवासी डॉ. अतुल व डॉ. कनिका 80 दिनों से अपने घर नहीं जा सके हैं। सिविल अस्पताल बंगाणा में कोरोना वॉरियर्स के रूप में सेवाएं देते हुए लोगों को जागरूक कर रहे हैं। हालांकि सिविल अस्पताल बंगाणा में कोरोना वायरस से संक्रमित कोई भी मामला अभी तक सामने नहीं आया है।
चिकित्सक अस्पताल में प्रतिदिन आने वाले मरीजों को आपस में दो गज की दूरी रखना, हाथों को बार-बार धोना,  कहीं आने जाने के बाद हाथों को सैनिटाइज करना, मुंह नाक के ऊपर मास्क लगाए रखना और घर में बनी हुई चीजों को ही ज्यादा महत्व देना आदि के बारे में जागरूक कर रहे हैं। 
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us