आखिर क्यों वाकई में 'असली पठान' थे इरफान?

Vimal Kumarविमल कुमार Updated Wed, 08 Jan 2020 08:07 AM IST
विज्ञापन
इरफान पठान
इरफान पठान - फोटो : ट्विटर

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
1 जनवरी 2020 को सुबह-सुबह मेरे फोन पर घंटी बजती है इरफान पठान के फोन की। मैनें हैलो की बजाए हैप्पी न्यू ईयर पठान साब तपाक से बोला। पठान ने भी नए वर्ष की शुभकामनाए दी। लेकिन, उसके बाद उन्होंने कहा कि आज मैंने फोन आपको एक खास मकसद से किया है। 4 जनवरी को मैं आधिकारिक तौर पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह रहा हूं। मैं कुछ खास लोगों को पहले बता रहां हूं ताकि आप ये ना कहें कि मैंने चौंका दिया।
विज्ञापन

दरअसल, पठान ये फैसला करीब 5 महीने पहले ही ले चुके थे और मुझे इस बारे में बताया भी था। बस तारीख तय नहीं कर पा रहे थे। पठान को जरूरत नहीं था कि वो मुझे फोन करते और बताते लेकिन ये उनकी शख्सियत का हिस्सा है। अगर आप किसी बात पर उनसे ईमानदारी से नाराजगी जताए तो वो उसे याद रखते हैं। मुझे उनकी शादी की खबर देर से मिली थी, जिस पर मैंने हैरानी जताई थी तब वो थोड़े बैकफुट पर चले गए थे।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

नॉनवेज को टक्कर देता आलू

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us