मिसालः लोन से इंजीनियरिंग करने वाले हेमवती ने पास की गेट परीक्षा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Updated Wed, 18 Mar 2020 11:00 AM IST
विज्ञापन
hemvati
hemvati - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

सार

  • पिथौरागढ़ के बलुवाकोट गांव के भट्ट परिवार में खुशी की लहर, पिता चलाते हैं परचून की दुकान

विस्तार

पिता परचून की दुकान चलाकर परिवार का गुजर बसर करते हैं। बेटे का सपना इंजीनियर बनने का था, जो कि लोन लेकर पूरा हो रहा है। अपनी मेहनत के दम पर हेमवती नंदन भट्ट ने ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट फॉर इंजीनियरिंग (गेट) परीक्षा पास कर ली है।
विज्ञापन

मूलरूप से पिथौरागढ़ के धारचूला ब्लॉक के बलुवाकोट गांव निवासी हेमवती नंदन भट्ट इन दिनों देहरादून की डीआईटी यूनिवर्सिटी से बीटेक कर रहे हैं। उनके पिता श्याम राज भट्ट गांव में ही परचून की दुकान चलाते हैं। उनकी मां विमला देवी पढ़ी-लिखी नहीं हैं। सुदूर गांव में हेमवती ने इंजीनियर बनने का सपना देखा।
डीआईटी यूनिवर्सिटी में एडमिशन मिला तो फीस के लिए पैसे नहीं थे। इसलिए एजुकेशन लोन लेकर पढ़ाई की। इंजीनियरिंग में शोध करने के मकसद से उन्होंने गेट की तैयारी शुरू की। सेल्फ स्टडी के दम पर उन्होंने गेट पास कर ली है। उनकी इस कामयाबी पर पूरे परिवार में खुशी की लहर है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us