विज्ञापन
विज्ञापन
वैवाहिक अड़चनें कैसे होंगी दूर ? आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें
Kundali

वैवाहिक अड़चनें कैसे होंगी दूर ? आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली और जानें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

मूंगफली बेचने वाले के बेटे का कमाल, एक मिनट 58 सेकेंड में बताए 196 देशों के नाम

एक मिनट 58 सेकेंड में संयुक्त राष्ट्र संघ में सूचीबद्ध सभी देशों का नाम बताने वाले उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर जिले में रंपुरा के 15 वर्षीय अभिषेक चंद्रा...

19 जनवरी 2021

आपकी आवाज़

अपने शहर के मुद्दे और शिकायतों को यहां शेयर करें
विज्ञापन
Digital Edition

Haridwar Kumbh 2021: हरिद्वार कुंभ के लिए चलेंगी 200 रोडवेज बसें, बनाए जा रहे छह अस्थायी बस स्टैंड

हरिद्वार महाकुंभ में विभिन्न राज्यों के लिए परिवहन निगम 200 बसें चलाएगा। इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। हरिद्वार कुंभ के सहायक महाप्रबंधक को भी व्यवस्थाएं दुरुस्त करने की जिम्मेदारी सौंप दी गई है। राज्यों से आने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या पर ही बसों के फेरे निर्भर करेंगे। माना जा रहा है कि लंबे समय से घाटे में चल रहे परिवहन निगम के लिए कुंभ संजीवनी लेकर आएगा।

महाप्रबंधक तकनीकी एवं संचालन दीपक जैन ने बताया कि कुंभ के लिए फिलहाल 200 रोडवेज बसें चलाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इन बसों के संचालन के लिए हरिद्वार में छह अस्थायी बस स्टैंड बनाए जाएंगे। इनमें ऋषिकुल में 2, दक्ष मंदिर के पास, धीरवाली, बैरागी कैंप और गौरी शंकर में एक-एक बस स्टैंड बनाया जाएगा। इनका काम 15 फरवरी तक पूरा हो जाएगा।

यह भी पढ़ें:
 Haridwar Kumbh 2021: शाही स्नान के दिन हरिद्वार में वीआईपी मेहमानों की एंट्री रहेगी बैन

उन्होंने बताया कि जैसे-जैसे भीड़ बढ़ती जाएगी, वैसे-वैसे बसों की संख्या बढ़ती जाएगी। महाकुंभ में उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश आदि राज्यों के लिए बसें चलाने की योजना है।

दिल्ली रूट पर बढ़ेंगी सीएनजी बसें
परिवहन निगम ने दून से दिल्ली रूट पर संचालन के लिए इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड से पांच बसें लीज पर ली हैं। इन बसों के संचालन से परिवहन निगम को प्रति किलोमीटर छह रुपये की बचत हो रही है। निगम के महाप्रबंधक संचालन दीपक जैन ने बताया कि इन बसों की संख्या बढ़ाने पर काम किया जा रहा है। जल्द ही कुछ और बसें लीज पर लेने की योजना है।

बसेगा महामंडलेश्वर नगर
आगामी कुंभ में गौरीशंकर द्वीप के निकट महामंडलेश्वर नगर बसाया जाएगा। मेला अधिकारी दीपक रावत ने मेला और विभागीय अधिकारियों के साथ गौरीशंकर द्वीप का निरीक्षण किया। मेलाधिकारी ने कहा कि गंगा तट पर महाकुंभ और माइथोलॉजी की थीम से संबंधित सैंड आर्ट की प्रतियोगिता कराई जाएंगी। 
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

एक्सक्लूसिव: सुरक्षा तंत्र होगा मजबूत, चीन सीमा से लगी आईटीबीपी की अग्रिम चौकी बेदांग में बनेगा हेलीपैड

भारत-चीन सीमा पर चीन की सक्रियता बढ़ने के बाद भारत ने भी सुरक्षा तंत्र मजबूत करने का काम शुरू कर दिया है। चीन सीमा से लगे बेदांग में आईटीबीपी हेलीपैड बनाने जा रही है। हेलीपैड बनने के बाद जवानों को खाद्य सामग्री समेत अन्य जरूरी चीजों की आसानी से आपूर्ति हो सकेगी। 

समुद्र तल से 15 हजार फीट की ऊंचाई पर दावे में भारत-चीन सीमा पर आईटीबीपी की अंतिम चौकी है। इससे पहले बेदांग नामक स्थान पर हेलीपैड का निर्माण किया जाएगा। वहां हेलीपैड बनने से आईटीबीपी समेत सभी भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को राहत मिलेगी।

यह भी पढ़ें: 
उत्तराखंड: डोर्नियर विमान के उड़ने लायक तैयार होगी गौचर हवाई पट्टी, केंद्र सरकार को भेजा जाएगा प्रस्ताव

अरुणाचल में भारत-चीन सीमा विवाद के बाद चीन ने सीमांत जिले पिथौरागढ़ से लगे क्षेत्रों में अपनी गतिविधियां बढ़ा दी हैं। चीन एचडी कैमरों की मदद से भारत की हर गतिविधि पर नजर रख रहा है।  

भारतीय जवान भी मुस्तैदी से सीमा पर सात से आठ फीट तक की बर्फबारी में गश्त कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक 36वीं वाहिनी आईटीबीपी ने बेदांग में हेलीपैड बनाने के लिए निविदा प्रक्रिया शुरू कर दी है। निविदा प्रक्रिया पूरी होने के बाद हेलीपैड का निर्माण कार्य जल्द शुरू किया जाएगा। 
... और पढ़ें

Corona In Uttarakhand: 162 नए संक्रमित मिले, चार की मौत, सक्रिय मरीजों की संख्या दो हजार से कम 

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित और मरीजों की मौत के मामले काबू में आए हैं। पांच महीने बाद सक्रिय मरीजों की संख्या दो हजार से कम हुई है। बीते 24 घंटे में चार संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। वहीं, 162 नए संक्रमित मिले हैं। कुल संक्रमितों की संख्या 95354 हो गई है। 

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, गुरुवार को 10637 सैंपल निगेटिव मिले। देहरादून जिले में 67 संक्रमित मरीज मिले हैं। वहीं, नैनीताल में 54, हरिद्वार में 21, ऊधमसिंह नगर में चार, अल्मोड़ा में चार, पिथौरागढ़ में तीन, उत्तरकाशी, टिहरी, चमोली जिले में दो-दो, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और चंपावत जिले में एक-एक संक्रमित मिला है। पौड़ी जिले में एक भी नया संक्रमित नहीं मिला है। 

यह भी पढ़ें: 
उत्तराखंड: साढ़े पांच महीने बाद सचिवालय में आगंतुकों और पत्रकारों को प्रवेश की अनुमति मिली 

बीते 24 घंटे में प्रदेश में पांच संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। इसमें एम्स ऋषिकेश में दो, सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में एक, कैलाश हॉस्पिटल में एक मरीज ने इलाज के दौरान दमतोड़ा है। प्रदेश में 1626 संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है।

वहीं, 283 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। इन्हें मिला कर 90547 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। संक्रमितों की तुलना में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या ज्यादा होने से प्रदेश की रिकवरी दर 95 प्रतिशत हो गई है। जबकि 1876 सक्रिय मरीजों को उपचार चल रहा है।
... और पढ़ें

Haridwar Kumbh 2021: शाही स्नान के दिन हरिद्वार में वीआईपी मेहमानों की एंट्री रहेगी बैन 

प्रतीकात्मक तस्वीर
महाकुंभ में शाही स्नान के दिन वीआईपी मेहमानों के आने पर रोक रहेगी। हालांकि, यदि वीआईपी आना चाहते हैं तो वे साधारण श्रद्धालुओं के तौर पर शामिल हो सकते हैं। ऐसा महाकुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए किया जा रहा है। 

बता दें कि इस बार महाकुंभ पर सुरक्षा व्यवस्था पहले से अधिक कड़ी रहेगी। श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए जमीन से लेकर आकाश में ड्रोन कैमरों से भी नजर रखी जाएगी। साथ ही श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो इसके लिए वीआईपी मूवमेंट पर शाही स्नान के दिन रोक लगाई जाएगी।

डीजीपी ने बताया कि इस संबंध में शाही स्नान से पहले ही कुंभ मेला प्रशासन को निर्देशित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि वीआईपी यदि कुंभ में आना चाहते हैं तो वे एक साधारण श्रद्धालु की भांति ही आ सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: 
Haridwar Kumbh 2021: नौ अप्रैल को निकलेगी पंचायती अखाड़े की पेशवाई, जोधपुर की पवनकली होगी मुख्य आकर्षण

वीआईपी के लिए अलग से पुलिस की व्यवस्था नहीं की जा सकेगी। क्योंकि, पूर्व में ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिनमें वीआईपी को सुरक्षा देने के चलते भीड़ नियंत्रण में परेशानी आई है। डीजीपी ने बताया कि इस दौरान लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी। समय-समय पर इस संबंध में बैठक आयोजित कर अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं।
... और पढ़ें

Forest Guard Recruitment: 10 नकलचियों की नहीं हुई पहचान, सात केंद्रों पर दोबारा होगी परीक्षा

उत्तराखंड में फॉरेस्ट गार्ड की भर्ती परीक्षा में नकल के मामले की जांच रिपोर्ट आने के बाद तय किया गया है कि सात केंद्रों पर 14 फरवरी को दोबारा परीक्षा होगी। अधीनस्थ सेवा चयन आयोग जल्द ही इनके एडमिट कार्ड जारी करेगा। इन केंद्रों पर 2946 उम्मीदवार परीक्षा में शामिल होंगे।

आयोग ने 16 फरवरी 2020 को फॉरेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षा आयोजित कराई थी। इस परीक्षा में नकल के मामले सामने आने के बाद एसआईटी ने इसकी जांच की थी। इस जांच प्रकरण के चलते परीक्षा के नतीजे लंबित हैं। इस बीच एसआईटी ने करीब 32 उम्मीदवारों की पहचान कर ली थी। बाकी बचे हुए उम्मीदवारों की भी पहचान की जा रही है। कुल 57 ऐसे उम्मीदवार हैं जो कि नकल में लिप्त पाए गए।

इनमें से 47 की पहचान तो कर ली गई, जिन्हें परीक्षा से डिबार किया जा रहा है। बाकी 10 उम्मीदवारों की पहचान नहीं हो पाई है। लिहाजा, आयोग ने तय किया है कि जिन परीक्षा केंद्रों पर जिस पाली में इन उम्मीदवारों ने परीक्षा दी थी, उन सभी पर दोबारा परीक्षा कराई जाएगी। ऐसे सात केंद्र तय किए गए हैं, जिन पर 2946 उम्मीदवार परीक्षा में बैठेंगे। 

यह भी पढ़ें: 
Dehradun News : क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय में रोजगार मेला आज, सात निजी कंपनियों में नौकरी का मौका

आयोग के सचिव संतोष बडोनी ने बताया कि इन उम्मीदवारों के एडमिट कार्ड जल्द ही जारी कर दिए जाएंगे। 14 फरवरी को पहली पाली में पांच और दूसरी पाली में चार केंद्रों पर परीक्षा आयोजित कराई जाएगी।
... और पढ़ें

Haridwar Kumbh 2021: पहली बार जूना अखाड़े के साथ निकलेगी किन्नर अखाड़े की पेशवाई

किन्नर अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने कहा कि 2021 के कुंभ में किन्नर अखाड़ा हरिद्वार में जूना अखाड़े के साथ प्रवेश करेगा और उसके साथ ही पेशवाई निकालेगा।

प्रयागराज में पिछले दिनों हुई अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की बैठक में किन्नर अखाड़े की पेशवाई और शाही स्नान पर रोक लगाने को लेकर मंथन हुआ था। मीडिया में खबरें आने के बाद जूना अखाड़े के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक हरीगिरि ने कड़ा ऐतराज जताते हुए किन्नर अखाड़े को जूना अखाड़े का अंग बताया था। उन्होंने कहा था कि किन्नर अखाड़े के साथ जूना अखाड़े का अनुबंध है और वह उनको नहीं छोड़ सकते। 

यह भी पढ़ें: 
Haridwar Kumbh 2021: शाही स्नान के दिन हरिद्वार में वीआईपी मेहमानों की एंट्री रहेगी बैन 

बृहस्पतिवार को प्रयागराज से किन्नर अखाड़ा की आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने जूना अखाड़े के साथ नगर प्रवेश और पेशवाई निकालने की वीडियो जारी कर घोषणा कर दी।

आचार्य महामंडलेश्वर ने कहा कि जूना अखाड़ा के साथ ही शाही स्नान भी करेंगे। जूना अखाड़ा के सभी कार्यक्रमों में भी शामिल होंगे। पेशवाई और स्नान में किन्नर अखाड़ा के सभी महामंडलेश्वर, पीठाधीश्वर, महंत और बड़ी संख्या में शिष्य शामिल होंगे। उन्हाेंने कहा कि किन्नर अखाड़ा सनातन धर्म को मजबूत करेगा। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड: भारतीय जनता युवा मोर्चा की जिला कार्यकारिणी और मंडल अध्यक्षों की घोषणा, यहां पढ़ें पूरी लिस्ट...

उत्तराखंड में भारतीय जनता युवा मोर्चा की सभी जिलों की कार्यकारिणी और मंडल अध्यक्षों की घोषणा कर दी गई। मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष कुंदन लटवाल और संबंधित भाजपा जिलाध्यक्षों की सिफारिश पर नामों की सूची तैयार की गई। 

भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान के मुताबिक, मोर्चा के जिलाध्यक्षों की घोषणा पहले ही कर दी गई थी। अब मोर्चा की कार्यकारिणी घोषित हुई है। देहरादून जिले में जिलाध्यक्ष प्रदीप नेगी को बनाया गया है। कार्यकारिणी में नरेंद्र शर्मा, हिमांशु राणा, बालम बिष्ट व अक्षय खैरवाल को जिला उपाध्यक्ष, संजय तोमर और चिराग गुलेरिया को जिला महामंत्री, अमन कुकरेती, शुभम गर्ग, प्रकाश कोठारी, गौरव जोशी व अंकित जोशी को जिला मंत्री, सुमित सेठी को कोषाध्यक्ष, रविंद्र सिंह तोमर को जिला मीडिया प्रभारी, विपिन कुकरेती को जिला सह मीडिया प्रभारी, शुभांकित रावत को जिला सोशल मीडिया प्रभारी और नेहा डोगरा व विक्रम शाह को सह सोशल मीडिया प्रभारी बनाया गया है। इसी तरह अन्य जिलों की कार्यकारिणी भी घोषित की गई है।

ये हैं देहरादून जिले के मंडल अध्यक्ष
डोईवाला में सोनू गोयल, रानीपोखरी में नरेश रावत, माजरी में गुरजीत सिंह, ऋषिकेश नगर नितिन सक्सेना, वीरभद्र में  विजय जुगलान, श्यामपुर में प्रिंस रावत, मसूरी में अमित पंवार, सुद्धोवाला में राहुल पुंडीर, हर्बटपुर में संदीप ठाकुर, सहसपुरमें रोहित नेगी, शिवालिक में शुभम कंडवाल, विकासनगर में मनीष रावत, विकासनगर ग्रामीण में रवि माणा,  चकराता में दिनेश चौहान, सहिया में अमित चौहान व त्यूणी में रमेश चंद्र डोभाल को मंडल अध्यक्ष बनाया गया है।

यहां पढ़ें अन्य जिलों की पूरी लिस्ट:

ऊधमसिंह नगर: 
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/udham-singh-nagar-yuva-morcha-karyakrni_6009a781c1c5e.pdf

हरिद्वार: 
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/haridwar-yuwa-morch3333_6009a7db13a5f.pdf

नैनीताल:
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/nainital-yuva-morcha-karyakrni-3_6009a80952380.pdf

पिथौरागढ़: 
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/pithoragar-yuva-morcha-karyakarni_6009a82ebf22d.pdf

उत्तरकाशी:
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/uttarkashi-yuva-morcha-karyakarni_6009a858496e8.pdf

बागेश्वर: 
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/bageswar-yuva-morcha-karyakarni_6009a8cfd7559.pdf

अल्मोड़ा: 
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/almora-yuva-morcha-karyakarni_6009a8f6766ac.pdf

चमोली: 
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/chamoli-yuva-morcha-karyakarni_6009a91fb2a81.pdf

चंपावत: 
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/chmapawat-yuva-morcha-karyakarni_6009a940cdc79.pdf

महानगर युवा मोर्चा: 
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/mahanagar-yuva-morcha-karyakarni_6009a96fd94cb.pdf

पौड़ी गढ़वाल:
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/pauri-yuva-morcha-kayrkarni_6009a99732cae.pdf

टिहरी  गढ़वाल: 
https://spiderimg.amarujala.com/assets/applications/2021/01/21/tehri-yuva-morcha-karyakarni_6009a9dedbc33.pdf
  ... और पढ़ें

उत्तराखंड: साढ़े पांच महीने बाद सचिवालय में आगंतुकों और पत्रकारों को प्रवेश की अनुमति मिली 

करीब साढ़े पांच महीने के बाद उत्तराखंड सरकार ने बाहरी आगंतुकों और मीडियाकर्मियों के लिए सचिवालय में प्रवेश से रोक हटा दी है। कोविड-19 संक्रमण के चलते प्रदेश सरकार ने सचिवालय में अधिकारियों व कर्मचारियों को छोड़कर बाकी सभी लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया था। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के निर्देश पर बृहस्पतिवार को सचिवालय प्रशासन विभाग ने बाहरी लोगों और मीडिया कर्मचारियों को प्रवेश की अनुमति दे दी है। 

बृहस्पतिवार को अपर मुख्य सचिव (एसएडी) राधा रतूड़ी ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। आदेश के मुताबिक, सचिवालय प्रशासन ने तीन सितंबर को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए प्रवेश को सीमित कर दिया था। महानुभावों, दर्जाधारियों, विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों को ही सचिवालय में प्रवेश की अनुमति दी गई। अब प्रदेश में कोरोना के कम होते प्रभाव को देखते हुए अपर मुख्य सचिव ने पूर्व में जारी आदेश को खत्म करते हुए बाहरी आगंतुकों और पत्रकारों को पूर्व की भांति प्रवेश की अनुमति दे दी गई।

बगैर मास्क प्रवेश की अनुमति नहीं 
सरकार ने आदेश कर दिय है कि बगैर मास्क या फेस कवर के किसी को भी सचिवालय परिसर में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। मुख्य सुरक्षा अधिकारी को निर्देश दिए गए हैं कि वे इस पर निगाह रखें। उन्हें यह भी देखना है कि बाहरी व्यक्ति ने जिस अधिकारी से मुलाकात के लिए प्रवेशपत्र प्राप्त किया है, वह उसी अधिकारी से ही मिले। बाहरी आगंतुकों को पास जारी होने के समय से दो घंटे तक ही सचिवालय में परिसर में रहने की अनुमति होगी।

हरीश रावत ने भी की थी पैरवी 
उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी सचिवालय में आगंतुकों के प्रवेश की अनुमति दिए जाने की पैरवी की थी। उन्होंने इसे लेकर धरना भी दिया था और मुख्यमंत्री से मांग की थी कि वह रोक हटवाएं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X