विज्ञापन
विज्ञापन
नवमी तिथि पर जरूर करें इन चीज़ों का सेवन, पूर्ण होती है समस्त कामनाएं
Navratri Special

नवमी तिथि पर जरूर करें इन चीज़ों का सेवन, पूर्ण होती है समस्त कामनाएं

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

NEET 2020 Result: सामान्य परिवारों के बच्चों ने मचाया धमाल, हालातों से लड़कर अब बनेंगे डॉक्टर

हालात कैसे भी हों, मन में डॉक्टर बनने की ख्वाहिश हुई। इस सपने को पूरा करने के लिए जी जान से जुट गए। शुक्रवार को नीट के नतीजे आए तो यह होनहार भी अगली ज...

17 अक्टूबर 2020

विज्ञापन
Digital Edition

Unlock 5.0 : वीकेंड से पहले ही नैनीताल में सैलानियों की चहल पहल, नैनी झील में नौका विहार का लिया आनंद

इस बार कड़ाके की सर्दी लाएगा ला नीना, वैज्ञानिक लगा रहे अनुमान, तीन-चार दिन में मौसम लेगा करवट

इस बार मौसम पर ला नीना का प्रभाव रहेगा और कड़ाके की ठंड होगी। हालांकि अभी तापमान सामान्य से अधिक है। मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि सप्ताह भर बाद मौसम में बदलाव होना शुरू हो जाएगा।

शुष्क मौसम के कारण पिछले चार पांच साल के बाद इस बार अक्तूबर में दिन का तापमान नार्मल से एक से तीन डिग्री ज्यादा चल रहा है। रात का तापमान एक दो दिन से कम हुआ है। मौसम वैज्ञानिकों का मानना है कि तीन-चार साल में ऐसा होता है।

मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के वैज्ञानिक रोहित थपलियाल ने बताया कि एक सप्ताह बाद न्यूनतम तापमान दो डिग्री नीचे जा सकता है। पर्वतीय जनपदों में तीन-चार दिन में हल्की बारिश और ऊंचाई वाली जगहों पर बर्फबारी भी हो सकती है। 
 
... और पढ़ें

अमर उजाला एक्सक्लूसिव: उत्तराखंड में अब सिंगल यूज प्लास्टिक पर शिकंजे की तैयारी

कोरोना काल के ठहराव के बाद अब उत्तराखंड सरकार सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग पर सख्त कदम उठाने की तैयारी में है। पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने इसकी नियमावली करीब-करीब तय कर ली है। यह प्रस्ताव जल्द ही कैबिनेट में आएगा।

बोर्ड से मिली जानकारी के मुताबिक सिंगल यूज प्लास्टिक की रोकथाम के लिए विस्तृत दिशा निर्देेश तैयार किए गए हैं। मौजूद व्यवस्था में खासे झोल हैं। अपील की व्यवस्था नहीं है और यह भी स्पष्ट नहीं है कि किस प्लास्टिक को किस तरह से प्रतिबंधित किया जाएगा।

इसी तरह जुर्माने की व्यवस्था पर भी तस्वीर साफ नहीं है। बोर्ड ने इन सब मामलों को देखते हुए व्यापक स्तर पर तैयारी की है। बोर्ड के सूत्रों के मुताबिक मामला कैबिनेट में आएगा और उसमें जुर्माने की दर से लेकर अधिकारियों की जिम्मेदारी, अधिकार आदि तय किया जा सकता है। बोर्ड के सचिव एसपी सुबुद्धि ने नियमावली तैयार किए जाने की पुष्टि की है।
... और पढ़ें

Corona in Uttarakhand: 288 नए संक्रमित मिले, 14 की मौत, 60 हजार के करीब पहुंची मरीजों की संख्या

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 288 नए संक्रमित मिले हैं। तीन दिन के बाद संक्रमित मामलों की संख्या तीन सौ से नीचे रही है। वहीं, 518 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद घर भेजा गया है। कुल संक्रमितों की संख्या 60 हजार के करीब पहुंच गई है। वहीं, 53718 मरीज ठीक हो चुके हैं। 

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, शुक्रवार को 12363 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव मिली है। ऊधमसिंह नगर जिले में सबसे अधिक 62 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। देहरादून में 44, पौड़ी में 41, नैनीताल में 33, रुद्रप्रयाग में 26, हरिद्वार में 17, उत्तरकाशी में 14, बागेश्वर में 13, चमोली में 10, टिहरी में 12, चंपावत में सात, अल्मोड़ा में पांच और पिथौरागढ़ जिले में चार कोरोना संक्रमित मामले सामने आए हैं। संक्रमित मरीजों की संख्या 59796 हो गई है। 


यह भी पढ़ें: 
हरिद्वार : अब 235 बेड का होगा जिला महिला अस्पताल, एनएचएम ने दी स्वीकृति

प्रदेश में आज 11 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। इसमें एम्स ऋषिकेश में दो, दून मेडिकल कॉलेज में एक, हिमालयन हॉस्पिटल में एक, महंत इंदिरेश हॉस्पिटल में दो, जिला अस्पताल ऊधमसिंह नगर में एक, जिला अस्पताल बागेश्वर में एक, सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में दो और एचएनबी बेस हॉस्पिटल श्रीनगर में एक मरीज ने दमतोड़ा है। इन्हें मिला कर मौत का आंकड़ा 979 पहुंच गया है। 
... और पढ़ें

नेपाल से भारत आने के लिए लगी भीड़, पुलिस ने भांजी लाठियां, बंद किए झूला पुल के गेट, तस्वीरें...

उत्तराखंड: कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत का बड़ा बयान, 2022 में नहीं लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

भवन एवं कर्मकार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष पद से बाहर होने से नाराज श्रम मंत्री और कोटद्वार के विधायक हरक सिंह ने 2022 का चुनाव नहीं लड़ने का एलान किया है। अध्यक्ष पद के विवाद पर हरक ने सिर्फ यही कहा कि यह मुख्यमंत्री के अधिकार क्षेत्र में है, मुख्यमंत्री से बात करने के बाद ही इस पर कुछ कह पाएंगे।

भवन एवं कर्मकार कल्याण बोर्ड के पुनर्गठन के बाद से गरमाई सियासत को हरक सिंह रावत ने शुक्रवार को और गरमा दिया। हरक सिंह ने मीडिया कर्मियों से दून में अपने आवास पर कुछ देर के लिए बात की।

उत्तराखंड: भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड का पुनर्गठन, अध्यक्ष पद से वन मंत्री हरक सिंह बाहर

हरक बोर्ड के अध्यक्ष पद के विवाद पर तो नया कुछ नहीं बोले लेकिन उन्होंने यह साफ कह दिया कि वे 2022 का चुनाव नहीं लड़ेंगे। बकौल हरक भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष और संगठन मंत्री को भी वे यह बता चुके हैं।

हरक के मुताबिक वे कई बार विधायक रह चुके हैं और अब उनकी इच्छा नहीं रह गई है। इतना कहने के बाद हरक ने यह भी साफ कर दिया कि इसका मतलब यह नहीं है कि वे सक्रिय राजनीति से दूर हो जाएंगे।

दूसरी ओर, अध्यक्ष पद के विवाद पर हरक ने अब साफ-साफ दोहराया कि वे मुख्यमंत्री से बात करने के बाद ही कुछ कहेंगे। हरक के मुताबिक अध्यक्ष पद पर किसी को रखना या न रखना मुख्यमंत्री का अधिकार है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: सीएम त्रिवेंद्र ने की घोषणा, तीन लाख किसानों को बगैर ब्याज दिया जाएगा ऋण 

उत्तराखंड में कुमाऊं दौरे पर बागेश्वर पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेश के तीन लाख किसानों के लिए ब्याज मुक्त ऋण देने की घोषणा की। उन्होंने 28 अक्तूबर को होने वाली कैबिनेट बैठक में खेल नीति पर मुहर लगाने की बात भी कही। उन्होंने कहा कि इससे खिलाड़ियों को सरकारी नौकरियों में मौका मिलेगा।

सीएम ने बागेश्वर में 1.11 अरब रुपये लागत की योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण भी किया। पिथौरागढ़ में सीएम ने कहा कि हर घर नल के तहत प्रदेश में 14 लाख में से 10 लाख पेयजल संयोजन इसी वर्ष दिए जाएंगे।  सीएम ने शुक्रवार को बागेश्वर और पिथौरागढ़ में भाजपा के नवनिर्मित कार्यालयों का उद्घाटन किया।  


शुक्रवार को बागेश्वर भ्रमण पर आए सीएम ने कहा कि राज्य गठन की वर्षगांठ पर नौ नवंबर को किसानों के लिए नई योजना लांच की जा रही है। इसके तहत किसानों के लिए ब्याजमुक्त ऋण और सौभाग्यवती योजना लागू की जाएगी। सौभाग्यवती योजना के तहत पहली बार मां बनने पर जच्चा-बच्चा के लिए किट दिए जाएंगे। यह योजना सभी वर्गों की महिलाओं के लिए होगी।

यह भी पढ़ें: 
उत्तराखंड: कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत का बड़ा बयान, 2022 में नहीं लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

उन्होंने कहा कि भाजपा राज में प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर हुईं और इन्हें और बेहतर करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। जल्द ही प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में 700 डॉक्टरों की तैनाती की जाएगी। सरकार ने पिथौरागढ़, हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में मेडिकल कॉलेज को मंजूरी दिलाई है। कोरोना के कारण अल्मोड़ा के मेडिकल कॉलेज में कक्षाओं का संचालन नहीं हो पाया। अगले वर्ष से कॉलेज में पढ़ाई शुरू हो जाएगी।
... और पढ़ें

पंतनगर विवि प्रवेश परीक्षा का परिणाम घोषित, मास्टर्स में नेहा और एमसीए में सूरज रहे अव्वल   

गोविंद बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय के मार्स्ट्स, पीएचडी और एमसीए के प्रवेश परीक्षा परिणाम शुक्रवार को घोषित कर दिए गए। प्रवेश समिति की बैठक में परीक्षा परिणाम घोषित करने की संस्तुति के बाद कुलपति डॉ. तेज प्रताप ने प्रवेश परीक्षा परिणामों की घोषणा की। मास्टर्स में फूड टेक्नोलॉजी की नेहा चौबे ने 600 में से 436 अंक प्राप्त कर टॉप किया। एमसीए में सूरज बोरा ने 317 अंक प्राप्त किए। 

संयोजक प्रवेश परीक्षा डॉ. विनोद कुमार ने बताया कि मास्टर्स (फूड टेक्नोलॉजी) में पहले स्थान पर छड़ायल सुयाल (हल्द्वानी) की नेहा चौबे रहीं। नोएडा के विनय बलौदी 417 अंकों के साथ दूसरे और देहरादून की मनीषा भंडारी 407 अंकों के साथ तीसरे स्थान रहीं। 


मास्टर्स (लाइफ साइंस) में दमुआढूंगा (हल्द्वानी) के देवेश कुमार गौतम ने 381 और जबलपुर मध्यप्रदेश की आस्था बलौदी ने 371 अंक प्राप्त किए। इसी तरह एमसीए में हल्द्वानी के सूरज बोरा ने सर्वाधिक 317 अंक हासिल किए।

बेड़ीनाग के रोहित कार्की ने 311, काठगोदाम (नैनीताल) के हेम चंद्र सुयाल ने 288 और रामनगर के हर्षित पांडे ने 263 एवं पीलीभीत के ईशान शंखधर ने 257 अंक हासिल किए। पंतनगर और देहरादून केंद्रों पर आयोजित मास्टर्स प्रवेश परीक्षा में 1234 अभ्यर्थी में से 849, एमसीए में 199 में से 111 और पीएचडी के लिए 1106 में से 632 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी।
... और पढ़ें

केदारनाथ में सीसीटीवी कैमरा से हो रही हेलीकॉप्टर सेवा की निगरानी, गड़बड़ी पर लाइसेंस होगा रद्द 

केदारनाथ यात्रा में हेलीकॉप्टर की उड़ान पर पैनी नजर रखी जा रही है। प्रशासन द्वारा धाम में सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है, जिसमें हेलीकॉप्टर की प्रत्येक शटल की रिकार्डिंग की जा रही है। किसी भी प्रकार की गड़बड़ी पर लाइसेंस रद्द करने के साथ ही आगामी केदारनाथ यात्रा के लिए भी हेली कंपनी को बैन कर दिया जाएगा।

केदारनाथ में 9 अक्तूबर से 8 हेली कंपनियों द्वारा सेवा संचालित की जा रही है। बीते 14 दिन में हेलीकॉप्टर से इस दौरान ब्लैक टिकटिंग और वेटिंग को लेकर कई शिकायतें सामने आई हैं। कुछ हेली कंपनियों द्वारा हेलीकॉप्टर की शटल (चक्कर) की सही जानकारी न देने की सूचना भी प्रशासन को मिली है, जिसे देखते हुए केदारनाथ में सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है।


यह भी पढ़ें: 
Char dham Yatra: गौरीकुंड-केदारनाथ मार्ग पर बाबा केदार की महिमा से रूबरू होंगे तीर्थयात्री

डीएम वंदना सिंह ने बताया कि गुप्तकाशी, मैखंडा, शेरसी, फाटा से धाम के लिए उड़ान भर रहे प्रत्येक हेलीकॉप्टर पर नजर रखी जा रही है। साथ ही उनकी एक-एक शटल को रिकार्ड किया जा रहा है। किसी भी गड़बड़ी पर तत्काल प्रभाव से संबंधित हेली कंपनी का लाइसेंस रद्द किया जाएगा। साथ ही अगली बार के लिए भी बैन कर दिया जाएगा। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X