विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान
Puja

एक माह तक वृंदावन बिहारी जी मंदिर में कराएं चन्दन तुलसी इत्र सेवा , मिलेगा नौकरी व व्यापार से जुड़े समस्याओं का समाधान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

कोरोना संक्रमित चार नए मरीज मिले, तीन स्वस्थ

फरीदाबाद। स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को कोरोना संक्रमण के चार नए मरीजों की पुष्टि की है। साथ ही तीन संक्रमित मरीजों के स्वस्थ होने की भी सूचना विभाग ने साझा की है। शहर में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 209 हो चुकी है, जबकि स्वस्थ होने वालों का आंकड़ा 118 पहुंच गया है।
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, स्वस्थ होने वालों में सीही गांव (सेक्टर-8) व ऑटोपिन झुग्गी निवासी दो महिलाएं हैं। ओल्ड फरीदाबाद के बाड़ मोहल्ला निवासी एक व्यक्ति भी संक्रमण को मात देने में कामयाब रहा। संक्रमण के नए मरीजों में ऑटोपिन झुुग्गी निवासी 35 वर्षीय व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिला है। शनिवार को इस व्यक्ति के भांजे में संक्रमण की पुष्टि विभाग ने की थी। भगत सिंह कॉलोनी निवासी 15 वर्षीय किशोरी में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। सेक्टर-23 निवासी 36 वर्षीय गर्भवती वायरस की चपेट में आ चुकी है। चावला कॉलोनी निवासी 55 वर्षीय व्यक्ति में संक्रमण मिला है। कोविड-19 नोडल अधिकारी डॉ. रामभगत ने बताया कि सात संक्रमित मरीजों का इलाज होम आइसोलेशन में जारी है, जबकि 71 संक्रमित मरीज कोविड-19 अस्पताल में भर्ती हैं। रविवार को संक्रमित मिली 15 वर्षीय किशोरी व गर्भवती को होम आइसोलेशन में रखा गया है।
इंग्लैंड से लौटी पंचकूला निवासी महिला मिली संक्रमित
इंग्लैंड से लौटी पंचकूला निवासी महिला में संक्रमण की पुष्टि हुई है। जिला अधिकारियों ने महिला को स्थानीय स्तर पर पाए गए संक्रमित मरीजों में शामिल नहीं किया है। महिला के संक्रमण की जानकारी पंचकूला को दे दी गई है। फिलहाल महिला को सूरजकुंड सिथत होटल में आइसोलेट किया गया है।
... और पढ़ें

मौसम का सबसे गर्म दिन रहा शनिवार, तापमान 45 डिग्री

फरीदाबाद। लॉकडाउन के कारण 50 दिन घर में रहने के बाद लोग अब अपने कामकाज के चक्कर में घरों से बाहर निकले, तो लू के थपेड़ों ने उन्हें वापस घरों में कैद कर दिया। शनिवार को शहर का अधिकतम तापमान 45 डिग्री पहुंच गया, जबकि न्यूनतम तापमान 29 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक, शनिवार का दिन इस मौसम का सबसे गर्म दिन रहा। अधिकारियों के मुताबिक, तापमान में यह बढ़ोतरी लगातार एक सप्ताह तक जारी रह सकती है। तापमान बढ़कर 46 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है।
शनिवार सुबह से सूरज ने अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए। सुबह 10 बजे से ही सूरज के तेवर इतने तल्ख हो गए थे कि बिना जरूरी काम में कोई घर से बाहर नहीं निकल रहा था। दिन में 11 बजे से ही शहर की सड़कों एक बार फिर सुनसान होने लगी। दिन में 12 बजे तक ऐसा लग रहा था मानो जैसे लॉकडाउन को सख्ती से लागू कर दिया गया हो और लोगों के घर बाहर निकलने पर भी पाबंदी हो।
मौसम वैज्ञानिक महेश पहलावत के अनुसार, जम्मू कश्मीर की तरफ से अभी भी पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता बनी हुई है। इस कारण गर्म हवाओं का असर यहां होने लगा है और ये हालात एक सप्ताह तक रहने वाले हैं। उन्होंने कहा कि अम्फान तूफान ने भी मौसम की नमी खींच ली है, जिसके कारण भी गर्मी बढ़ रही है।
शीतल पेय पदार्थों का किया सेवन
लू से बचने के लिए काम पर गए लोग शीतल पेय पदार्थों का सेवन करते दिखाई दिए। लोग नारियल पानी व जगह-जगह दुकानों पर शीतल पेय की बोतल हाथों में पकड़े दिखाई दिए। पैदल जा रहे लोगों के हाथों में भी पानी की बोतलें दिखी। एक तरफ जहां इंसान गर्मी से बेहाल हो रहा है, वहीं पशु-पक्षियों का भी गर्मी से बुरा हाल है। गर्मी से परेशान हो चुके परिंदे सड़क व छत पर प्याले में भरकर रखे पानी से अपनी गर्मी दूर करते दिखाई दिए।
दोपहर में कुछ देर के लिए छाए बादल
दिनभर चिलचिलाती धूप के बीच दोपहर को करीब दो बजे अचानक आसमान में बादल छा गए। इससे लोगों ने राहत की सांस ली, मगर यह राहत बहुत देर तक नहीं रही। थोड़ी देर बाद बादल छटे तो फिर से सूर्य देव की तीखी किरणें लोगों को झुलसाती दिखाई दीं।
... और पढ़ें

बुखार और खांसी से पीड़ित मिले 336 बुजुर्ग

फरीदाबाद। कोरोना संक्रमण के मरीज बढ़ने शुरू हुए, तो जिले में वृद्ध आबादी के स्वास्थ्य पर नजर रखने के लिए दो दिन का डोर-टू-डोर सर्वे कराया गया। इस सर्वे में 93704 बुजुर्गों का स्वास्थ्य जांचा गया। सर्वे के दौरान मालूम चला कि जिले के 336 बुजुर्ग घरों में बुखार और खांसी से पीड़ित हैं। इन बुजुर्गों को चिह्नित कर स्वास्थ्य विभाग ने अपनी निगरानी में रखा है। सप्ताह के अंत में दोबारा जांच कर स्वास्थ्य सुधार का जायजा लिया जाएगा।
स्वास्थ्य विभाग के दो दिवसीय डोर-टू-डोर सर्वे का शुक्रवार को अंतिम दिन था। विभाग की 2100 टीमों ने पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर चलाए गए दो दिनों के सर्वे में 20.26 प्रतिशत लोगों का जायजा लिया गया है। अप्रैल की शुरुआत में ही स्वास्थ्य विभाग ने डोर-टू-डोर सर्वे की शुरुआत की थी। इसके बाद जिले में छिपे हुए खांसी और जुकाम के पीड़ितों की पहचान की गई। इसमें से कई कोरोना पीड़ित मिले। इस रणनीति के साथ जिला कोरोना के मामलों को नियंत्रित करने में सफल रहा।
दिल्ली व सब्जी मंडी के जरिये कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े, तो एक बार फिर डोर टू डोर सर्वे का सहारा लिया गया। इसमें बुजुर्ग आबादी को केंद्रित किया गया। हाल ही में 21 व 22 मई को सर्वे किया गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने 21 मई को दो लाख 40 हजार 821 घरों का सर्वे किया। इसमें 10 लाख 47 हजार 243 लोगों को शामिल किया गया। इस दौरान 191 बुखार, खांसी एवं जुकाम के मरीज मिले, जबकि 611 लोग ऐसे मिले, जो अन्य राज्यों से लौटे थे।
इसी तरह 22 मई को 36 हजार 73 घरों के नौ लाख 76 हजार 982 लोगों को शामिल किया गया। इस दौरान 145 बुखार, खांसी व जुकाम के मरीज मिले, जबकि 649 लोग अन्य राज्यों से लौटे थे। बाहर से लौटे लोगों की स्क्रीनिंग करके उन्हें होम क्वारंटीन किया गया है। सर्वे के दौरान बुखार, खांसी व जुकाम से पीड़ित मरीजों की एक सप्ताह बाद कोरोना जांच की जाएगी।
दो दिनों के सर्वे में चार लाख 73 हजार 76 घरों की पहचान की गई। इनमें 93704 बुजुर्ग मिले हैं, जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक हैं। इसमें से 336 बुखार, खांसी एवं जुकाम के मरीज मिले हैं। इन सब पर स्वास्थ्य विभाग की टीम निगरानी रखेगी और एक सप्ताह बाद दोबारा से जांच की जाएगी।
- डॉ. कृष्ण कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी
... और पढ़ें

Delhi-NCR Live: बॉर्डर सील होने के चलते दिल्ली से सटी यूपी की सीमाओं पर आज फिर लगा जाम

फिर लगा दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर जाम
गाजियाबाद के कौशांबी इलाके में चिलचिलाती धूप में दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर ट्रैफिक जाम में भारी संख्या में गाड़ियां फंस गई हैं। दरअसल गाजियाबाद प्रशासन ने शहर में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते एक बार फिर दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर सील कर दिया है। सील हुए बॉर्डर पर पुलिसकर्मी वाहनों की जांच कर रहे हैं। जो लोग जरूरी सेवाओं से जुड़े हैं और जिनके पास 'पास' है उन्हीं को आवाजाही की अनुमति है।


पुलिसकर्मियों ने लोगों से मास्क पहनने की अपील की
दिल्ली के लोधी गार्डन में पुलिसकर्मियों ने लोगों से मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की।

ओखला सब्जी मंडी खुली, पहुंची भीड़
दिल्ली में लॉकडाउन के बीच ओखला सब्जी मंडी में बड़ी संख्या में लोग खरीदारी करते दिखे।


  ... और पढ़ें
दिल्ली गाजियाबाद बॉर्डर सील, लगा जाम दिल्ली गाजियाबाद बॉर्डर सील, लगा जाम

चार दिन से कमरे में पड़ा था शव, दुर्गंध आने पर मकान मालिक ने पुलिस को बुलाया

फरीदाबाद। पल्ला थाना क्षेत्र के इस्मालपुर गांव के शिव दुर्गा विहार स्थित मकान की ऊपरी मंजिल से पुलिस ने एक युवक का शव बरामद किया। दुर्गंध फैलने के बाद मकान मालिक ने ही अपने किराएदार की मौत की सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची नवीन नगर चौकी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बीके सिविल अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया है।
नवीन नगर चौकी पुलिस ने बताया कि मंगलवार सुबह उन्हें शिव दुर्गा विहार में रहने वाले राजाराम ने फोन पर सूचना दी कि उनके मकान के सबसे ऊपर के कमरे में किराएदार का शव पड़ा हुआ है। मृतक की पहचान बुलंदशहर निवासी मनोज के रूप में हुई है। शव से काफी बदबू आ रही थी। जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि शव तीन-चार पुराना है। मकान मालिक ने बताया कि मनोज एक महिला के साथ मकान के सबसे ऊपरी मंजिल पर रहता था। तीन दिन से वह महिला भी गायब है। पुलिस मामले को संदिग्ध बता कर हत्या के भी एंगल से भी छानबीन कर रही है। युवक और महिला दोनों अधिकांश समय अपने कमरे से ही ऑनलाइन काम करते थे। पुलिस ने उसके परिजन को मामले की सूचना दे दी है। परिजनों के आने के बाद शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।
... और पढ़ें

फरीदाबाद : कोरोना संक्रमण से पीड़ित 23 नए मामले मिले

फरीदाबाद में मंगलवार को एक ही दिन में अब तक के सबसे अधिक 23 नए मामलों की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। साथ ही इंद्रा नगर निवासी 49 वर्षीय एक महिला की संक्रमण से मौत हो गई। जिले में संक्रमितों की कुल संख्या 234 हो गई है। जबकि मरने वालों की संख्या सात हो चुकी है।
स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को पंचशील कॉलोनी पार्ट-2 इस्माइलपुर निवासी 30 वर्षीय युवक, ओल्ड फरीदाबाद निवासी 34 वर्षीय महिला, गांव भसौला निवासी 24 वर्षीय युवती, एनआईटी 2 के जी ब्लॉक निवासी 64 वर्षीय व्यक्ति, 34 वर्षीय युवक व 6 साल के बच्चे, सेक्टर 31 की कंपनी में काम करने वाले 38 वर्षीय युवक, संजय कॉलोनी निवासी 28 वर्षीय युवती, गांव नरियाला निवासी 29 वर्षीय युवक, बसेलवा कॉलोनी निवासी 50 वर्षीय व्यक्ति, भारत कॉलोनी निवासी 11 वर्षीय बालक, बाटा मोड़ स्थित राम नगर निवासी 20 वर्षीय युवती, सेक्टर 28 निवासी 65 वर्षीय व्यक्ति, सेक्टर 39 निवासी 69 वर्षीय बुजुर्ग और ओल्ड फरीदाबाद स्थित भूड़ कॉलोनी निवासी 45 वर्षीय युवक के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि की है। एनआईटी-3 स्थित ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में सभी संक्रमितों को दाखिल कराया गया है।
कोविड-19 अस्पताल की 22 वर्षीय डॉक्टर में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है। सेक्टर-15 ए स्थित जज हाउस निवासी 27 वर्षीय युवक, गौंछी जीवन नगर निवासी 28 वर्षीय महिला में भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि की है। इस महिला की मंगलवार को ही बीके अस्पताल में डिलीवरी हुई है, जिसके बाद बच्चे सहित इसे ईएसआईसी अस्पताल में रेफर कर दिया गया था। स्वास्थ्य विभाग ने सेक्टर 34 अशोका एन्क्लेव निवासी 48 वर्षीय व्यक्ति, सेक्टर 82 की सोसायटी में रहने वाले 35 वर्षीय युवक और चावला कॉलोनी निवासी 29 वर्षीय युवक में भी संक्रमण की पुष्टि की है। तीनों संक्रमितों में कोरोना लक्षण न होने के कारण इन्हें होम आइसोलेशन में रखा गया है। इसके अलावा ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में पहले से ही दाखिल 23 वर्षीय और 20 वर्षीय युवती में कोरोना संक्रमण मिला है।
जिले में 23 नए केस आने के बाद कोरोना संक्रमितों की संख्या 234 हो गई है। इनमें से 118 स्वस्थ हो चुके हैं, 7 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि 98 मरीज उपचाराधीन हैं। वहीं 11 को होम आइसोलेशन में उपचाराधीन रखा गया है। जिले में 9751 लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं। इनमें से 9012 की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। अभी 505 सैंपल की रिपोर्ट आना बाकी है। - डॉ. रामभगत, कोविड-19 के नोडल अधिकारी
... और पढ़ें

1600 यात्रियों के साथ ट्रेन झारखंड के लिए रवाना

फरीदाबाद। जिला प्रशासन रेलवे की मदद से लॉकडाउन में फंसे मजदूरों को लगातार उनके घर भेजने में जुटा है। मंगलवार शाम को भी एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन को झारखंड के लिए रवाना की गई। इसमें कुल 1600 मजदूरों को अपने गृह जनपद भेजा गया।
जिला प्रशासन और रेलवे के बेहतर तालमेल के कारण फरीदाबाद में फंसे प्रवासी मजदूरों को लगातार ट्रेन एवं बस से उनके गृह जनपद भेजा रहा है। अभी तक बिहार के कटिहार, बरौनी, भागलपुर के लिए आधा दर्जन ट्रेनें फरीदाबाद सेे रवाना की जा चुकी है। इसके अलावा मध्यप्रदेश के दमोह के लिए भी एक ट्रेन चलाई गई।
मंगलवार शाम करीब 6.30 बजे रांची (झारखंड) के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन को रवाना किया गया। इसमें प्रवासी मजदूरों को भेजने के लिए जिला प्रशासन ने फरीदाबाद समेत आसपास के जनपदों से भी बसों से रेलवे स्टेशन तक लाया। यहां उनका स्वास्थ्य जांच के बाद ट्रेन में बैठाया गया। सामाजिक संस्थाओं द्वारा इन मजदूरों को खाने के पैकेट, पानी और शीतल पेय का वितरण किया गया। इस मौके पर एसडीएम अमित कुमार, स्टेशन अधीक्षक एके गोयल, टीआई घनश्याम सिंह, एरिया ऑफिसर मधुकांत कुमार समेत आरपीएफ व जीआरपी के जवान मौजूद रहे।
... और पढ़ें

अब एक बार में होगा 8 मरीजों का टेस्ट

फरीदाबाद। एनआईटी तीन स्थित ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में टीबी मशीन से कोविड टेस्ट शुरू हो गया है। टीबी के सीबी नेट मशीन में कोविड जांच से गंभीर अवस्था में मरीजों को मात्र 40-45 मिनट में रिपोर्ट मिल जाएगी। इससे ऑपरेशन, पोस्टमार्टम और डिलीवरी वाले केसों में काफी सहायता मिलेगी।
अस्पतालों में अभी तक कोरोना वायरस की जांच के लिए आरटीपीसीआर तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। इसे रियल टाइम पीसीआर कहा जाता है। इसमें पांच से सात घंटे लग जाते हैं, जबकि सीबी नेट में एक बार सैंपल लगाकर मशीन चला दें तो 40 से 45 मिनट में जांच पूरी हो जाती है। ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज के रजिस्ट्रार डॉ. अनिल पांडे ने बताया कि सीबी नेट में बहुत ही आसान और साधारण तरीके से जांच संभव है। किसी की सर्जरी होनी है, पोस्टमार्टम रुका हुआ है, डिलीवरी होनी है। ऐसे इमरजेंसी मामले में कोविड रिपोर्ट आने पर इलाज का फैसला निर्भर है। इस मशीन में चार, आठ और 16 सैंपल की जांच करने की क्षमता होती है। ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में जो मशीन है, उसमें केवल एक बार में आठ सैंपल की जांच संभव है। इसलिए हम इस तकनीक का इस्तेमाल इमरजेंसी के लिए कर रहे हैं।
सीबी नेट से अस्पताल में जांच शुरू की गई है। सीबी नेट मशीन से अभी तक चार मरीजों के सैंपलों की जांच की जा चुकी है। यह तकनीक आरटीपीसीआर से थोड़ी महंगी है। इसलिए सीबी नेट मशीन का इस्तेमाल इमरजेंसी केसों में किया जाएगा। - अनिल पांडे, रजिस्ट्रार, ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल
... और पढ़ें

Coronavirus in Delhi : 412 नए मामले आए सामने, कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 14465 हुई

दिल्ली में कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़ी
दीपक शिंदे, डीएम उत्तरी दिल्ली ने कहा कि नरेला इलाके के स्वतंत्र नगर की गली नंबर 3ए, 3बी, 4ए, 4बी, 5ए और 5बी को छह कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है।  

सीआरपीएफ का एक जवान संक्रमित 
पिछले 24 घंटों में सीआरपीएफ का एक जवान दिल्ली में संक्रमित पाया गया है। इसी के साथ सीआरपीएफ में  कोरोना संक्रमितों की संख्या 369 पहुंच गई है। इसमें 141 एक्टिव केस हैं, जबकि 226 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना वायरस से सीआरपीएफ के दो जवानों की मौत हो चुकी है।

गौतमबुद्धनगर में तीन नए मामले
गौतमबुद्धनगर में मंगलवार को कोरोना वायरस के तीन नए मामले सामने आए हैं। जबकि 9 मरीजों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। अबतक 244 लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। जिले में अभी 113 एक्टिव मामले हैं, जबकि पांच लोगों की मौत हो चुकी है। गौतमबुद्धनगर में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 362 हो गई है। 

गाजियाबाद में कोरोना से दो की मौत  
कोरोना संक्रमण की चपेट में आने से रिटायर्ड पुलिस कांस्टेबल और कैंसर पीड़ित महिला की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिसकर्मी का इलाज दिल्ली में चल रहा था, जबकि महिला को दिल्ली से लेवल 2 संजय नगर में रेफर किया गया था। वहां से मेरठ भेज दिया गया था, जहां देर रात उनकी मौत हो गई।

गौतमबुद्धनगर में ग्रामीण इलाकों के लिए कोरोना जांच वैन 



गौतमबुद्धनगर के ग्रामीण इलाकों में कोरोना जांच वैन लॉन्च की गई है। मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने कहा कि यह कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी के अंतर्गत एजिमुथ बिजनेस ऑन व्हील्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा यह वैन प्रदान की गई है और इससे हमें बहुत मदद मिलेगी।

एम्स में एक और मेस कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव 
एम्स का एक और मेस कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिला है। इससे पहले एक मेस कर्मचारी की मौत हो चुकी है।

196 ट्रेनों के माध्यम से 2,41,000 लोग दिल्ली से गृह राज्य भेजे गए : मनीष सिसोदिया 
दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर कोई दिल्ली में रह रहा है तो हम उसे दिल्ली का नागरिक मानते हैं। फिर भी कई लोग अपने गृह राज्य वापस जाना चाहते थे। 7 मई से अबतक 196 ट्रेनों के माध्यम से 2,41,000 लोगों को उनके गृह राज्य भेजा जा चुका है। 

दिल्ली में 412 नए मामले, कुल संक्रमितों की संख्या 14,465 हुई 
दिल्ली में मंगलवार को 412 नए मामले सामने आए हैं। इसी के साथ कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 14465 हो गई है। दिल्ली में अबतक कोरोना से 288 लोगों की मौत हो चुकी है। 

उपराज्यपाल ने की समीक्षा मीटिंग 
दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन, मुख्य सचिव, पुलिस आयुक्त और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ राज्य की स्थिति की समीक्षा करने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की।

उपराज्यपाल ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग, मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए सामान्य रुझानों और संभावित परिदृश्यों को ध्यान में रखते हुए अस्पताल में बेड और ऑक्सीजनेशन सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करे। कोरोना वायरस को रोकने के लिए प्रभावी आईईसी और निगरानी रखना रखना महत्वपूर्ण है।

एयरपोर्ट पर तैनात सीआईएसएफ के 18 जवान कोरोना संक्रमित
दिल्ली एयरपोर्ट पर पिछले 24 घंटे में सीआईएसएफ के 18 जवान कोरोना संक्रमित हो गए हैं। तैनात जवानों का लगातार टेस्ट हो रहा है।

गाजियाबाद: कोरोना संक्रमण के 7 नए मामलों की पुष्टि
भीषण गर्मी बढ़ने के साथ ही कोरोना संक्रमण के मामले भी तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। कौशांबी में एक ही परिवार में 5 लोगों में कोरोना की पुष्टि होने के साथ ही लोहिया नगर बी ब्लॉक और लोनी में 1- 1 मामले की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि अभी तक किसी भी मामले में प्राइवेट लैब से रिपोर्ट नहीं आई है।

दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर सील होने से लगा जाम 
गाजीपुर के पास दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर भारी ट्रैफिक जाम लगा है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर को फिर से सील किया गया है। पुलिस लोगों के 'पास' और 'पहचान पत्र' की जांच करने के बाद ही उन्हें गाजियाबाद की सीमा में प्रवेश दे रही है या उन्हें जाने दे रही है। मीडिया सहित आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वालों को 'पास' की आवश्यकता नहीं है, सिर्फ 'पहचान पत्र' पर्याप्त है।
... और पढ़ें

यौन उत्पीड़न मामले में डॉक्टर निलंबित

फरीदाबाद। सेक्टर-20 ए स्थित एक निजी अस्पताल के डॉक्टर पर यौन उत्पीड़न संबंधी आरोप के मामले में प्रबंधन ने अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि शिकायत मिलने पर आरोपी डॉक्टर को निलंबित कर दिया गया है।
अस्पताल के महाप्रबंधक ने बताया कि पीड़ित ने 20 मई को प्रबंधन से शिकायत की थी। इसकी जांच अस्पताल की आंतरिक शिकायत कमेटी से कराई जा रही है। जांच के दौरान शिकायतकर्ता को छुट्टी पर जाने या फिर अस्पताल की दूसरी यूनिट में काम करने की बात कही गई थी। पीड़ित ने दूसरी यूनिट में काम करने के बजाय छुुट्टी पर जाना स्वीकार किया, जिसे प्रबंधन ने मंजूर कर दिया। वहीं जब तक जांच जारी है, प्रबंधन ने आरोपी डॉक्टर को निलंबित कर दिया है, ताकि वह जांच प्रभावित न कर सके।
बता दें कि अस्पताल में कार्यरत एक स्टाफ ने ट्विटर पर यौन शोषण की शिकायत की थी, जिस पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने संज्ञान लेते हुए जांच की बात कही थी। राज्य महिला आयोग ने भी इस मामले की जांच शुरू की और आरोपी डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।
... और पढ़ें

तपती गर्मी में लोग बेहाल, तापमान 45 डिग्री

फरीदाबाद। उमस भरी गर्मी ने पिछले कई दिन से लोगों को बेहाल कर रखा है। तपती धूप और गर्म हवाओं के साथ उमस वाली चिपचिपी गर्मी से लोग परेशान हैं। झुलसाने वाली इस गर्मी से बच्चों, बुजुर्गों सहित युवाओं का भी बुरा हाल है। धूप में घर से बाहर निकलने वाले लोग कपड़े से मुंह ढंककर व छाता लेकर निकल रहे हैं। गर्मी से बचने के लिए हर चौक चौराहे पर लोग खड़े होकर शिकंजी, शरबत, खीरा आदि ठंडे पेय पदार्थ ले रहे हैं।
सोमवार को शहर का तापमान 45 डिग्री रहा, जबकि न्यूनतम तापमान 27 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक, तापमान में यह बढ़ोतरी लगातार एक सप्ताह तक जारी रह सकती है। तापमान बढ़कर 48 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है। सोमवार सुबह से ही सूरज ने अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए। सुबह 10 बजे सूरज के तेवर इतने तल्ख हो गए थे कि काम से बाहर निकलने लोगों को वापस घर जाना पड़ा। सुबह 11 बजे से शहर की सड़कें एक बार फिर सुनसान होने लगीं। 12 बजे तक ऐसा लग रहा था मानो जैसे लॉकडाउन को सख्ती से लागू कर दिया गया हो और लोगों के घर बाहर निकलने पर भी पाबंदी हो। हालांकि दोपहर करीब दो बजे मौसम ने करवट ली और आसमान में बादल छा गए। इस दौरान लोगों को बरसात होने की उम्मीद जरूर थी, मगर बादल बिन बरसे ही लौट गए। मौसम वैज्ञानिक महेश पहलावत ने बताया कि जम्मू कश्मीर की ओर से पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के कारण गर्मी बढ़ रही है। ये हालात एक सप्ताह तक रहने वाले हैं। लोगों को घर से बाहर निकलते समय सावधानी बरतनी चाहिए।
... और पढ़ें

दिल्ली में शुरू हुई परिवहन सेवा ने बढ़ाई फरीदाबाद पुलिस की परेशानी

फरीदाबाद। दिल्ली में परिवहन सेवा शुरू होने से बदरपुर बॉर्डर पर फरीदाबाद पुलिस की परेशानी बढ़ गई है। प्रवासी मजदूर बसों में सवार होकर बॉर्डर पर पहुंच रहे हैं, मगर हरियाणा बॉर्डर सील होने के कारण फरीदाबाद में दाखिल नहीं हो पाते हैं और वहीं डेरा डालकर बैठ जाते हैं। प्रवासी मजदूरों ने कई बार रात में जबरदस्ती बॉर्डर पार करने का भी प्रयास किया, जिससे पुलिस की परेशानी बढ़ गई। हालांकि अब दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर पर आने वाले प्रवासी मजदूरों को शेल्टर होम में भेजना शुरू कर दिया है।
कोरोना के मरीज बढ़ने के कारण राज्य सरकार ने दिल्ली से सटे हरियाणा के जिलों के बॉर्डर पूरी तरह सील कर रखे हैं। इस दौरान केवल जरूरी सामान लेकर आने वाले वाहनों, जरूरी सेवाओं से जुडे़े कर्मचारी व सरकारी कर्मचारियों और मूवमेंट पास धारकों को ही आने जाने की इजाजत है। लॉकडाउन के चौथे चरण में दिल्ली सरकार ने परिवहन सेवा भी पूरी तरह शुरू कर दी है। इस कारण अपने घरों को लौट रहे प्रवासी मजदूर दिल्ली परिवहन निगम की बसों में सवार होकर मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश या राजस्थान जाने के लिए दिल्ली-फरीदाबाद (बदरपुर) बॉर्डर पर पहुंच रहे हैं। बॉर्डर पर उतरने के बाद ये लोग हरियाणा में दाखिल होने का प्रयास करते हैं, मगर इजाजत नहीं होने के कारण पुलिस उन्हें वहीं रोक रही है। एक-दो बार तो मजदूरों ने रात को जबरदस्ती फरीदाबाद बॉर्डर पार करने का प्रयास किया, मगर पुलिस ने उन्हें रोक दिया।
पिछले कुछ दिनों से यही स्थिति बनी होने से फरीदाबाद पुलिस की परेशानी बढ़ गई है। ऐसे में पुलिस ने बॉर्डर पर कर्मचारियों की संख्या भी बढ़ा दी है। प्रवासी मजदूरों में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल होती हैं। इस कारण महिला पुलिसकर्मियों की संख्या भी बढ़ा दी गई है। बॉर्डर पर प्रवासी मजदूरों का जमावड़ा लगने के बाद अब दिल्ली पुलिस भी सक्रिय हो गई है। दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर पर बसें तैनात कर दी हैं और प्रवासी मजदूरों को वहां से शेल्टर होम में भेजा जा रहा है। बॉर्डर पर तैनात बदरपुर थाने के उपनिरीक्षक जगजीवन सिंह ने बताया कि मजदूरों को यहां से शेल्टर होम भेजा जा रहा है, जहां से सरकार उन्हें बसों व ट्रेनों के माध्यम से उनके राज्य में भिजवा रही है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us