100 लोगों के धर्म परिवर्तन की अफवाह पर बखेड़ा, केस दर्ज

Ghaziabad Bureauगाजियाबाद ब्यूरो Updated Tue, 27 Oct 2020 12:36 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
100 लोगों के धर्म परिवर्तन की अफवाह पर बखेड़ा, केस दर्ज
विज्ञापन

गाजियाबाद। करहेड़ा में वाल्मीकि समाज के 50 परिवारों द्वारा धर्म परिवर्तन का मामला अभी शांत नहीं हुआ कि अब पटेल नगर के शिब्बनपुरा में अनुसूचित जाति के 100 लोगों द्वारा धर्म परिवर्तन की अफवाह ने प्रशासन के माथे पर पसीना ला दिया। सोमवार को सोशल मीडिया पर धर्म परिवर्तन की सूचना वायरल होने पर पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी बुद्ध विहार कॉलोनी, गौतमनगर, शिब्बनपुरा पहुंचे। हालांकि, जांच में धर्म परिवर्तन का मामला गलत निकला। इसके बाद द बुद्धिस्ट सोसायटी ऑफ इंडिया के जिलाध्यक्ष गंगाशरण एडवोकेट की तहरीर पर सिहानी गेट पुलिस ने अफवाह फैलाने का केस दर्ज किया है। उनका कहना है कि फरवरी में हुए पुरस्कार वितरण कार्यक्रम में कुछ लोग प्रमाणपत्र से वंचित रह गए थे। विजयदशमी पर उन्हें प्रमाणपत्र देने के लिए बुलाया गया था।
बीते दिनों करहेड़ा गांव में वाल्मीकि समाज के 50 परिवारों द्वारा धर्म परिवर्तन कर बौद्ध धर्म अपनाने के मामले में तूल पकड़ा था। स्थानीय निवासी की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धार्मिक भावना भड़काकर जातीय हिंसा फैलाने की कोशिश का केस दर्ज किया था। मामला हाथरस कांड से जुड़ने के कारण लखनऊ तक अफरातफरी मची थी। पुलिस-प्रशासन अभी इस मामले से उबर नहीं पाया कि सोमवार को सोशल मीडिया पर एक सूचना वायरल हुई। मैसेज में बुद्ध विहार कॉलोनी गौतम नगर शिब्बनपुरा में अनुसूचित जाति के 100 लोगों द्वारा धर्म परिवर्तन कर बौद्ध धर्म अपनाने की बात कही गई थी। देखते ही देखते मामला लखनऊ तक जा पहुंचा, इसके बाद अधिकारियों के फोन घनघनाने शुरू हो गए। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी मौके पर दौड़ पड़े। सीओ सेकेंड अवनीश कुमार, एसएचओ सिहानी गेट कृष्ण गोपाल शर्मा फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। इसके अलावा एलआईयू सीओ ने भी अपनी टीम के साथ जानकारी जुटाई।
माहौल बिगाड़ने की कोशिश नाकाम
एसपी सिटी अभिषेक वर्मा ने बताया कि द बुद्धिस्ट सोसायटी ऑफ इंडिया द्वारा फरवरी में कालकागढ़ी चौक के पास स्थित भगवान बुद्ध पार्क में बौद्ध संस्कृति कार्यक्रम व पुरस्कार वितरण समारोह किया गया था। कुछ लोगों को प्रमाणपत्र नहीं मिल सके थे। ऐसे लोगों को प्रमाणपत्र वितरित करने के लिए सोसायटी द्वारा शिब्बनपुरा में कार्यक्रम किया गया था। बुद्ध वंदना के दौरान दिए गए प्रमाणपत्रों को धर्म परिवर्तन बताकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई। एसपी सिटी ने बताया कि मामले में सोसायटी के जिलाध्यक्ष गंगाशरण एडवोकेट की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।
डीएम-एसएसपी से मांगी गई पल-पल की रिपोर्ट
100 लोगों द्वारा धर्म परिवर्तन की सूचना सोशल मीडिया पर वायरल होते ही प्रदेश की राजधानी में बैठे अफसर भी हरकत में आ गए। डीएम-एसएसपी से पल-पल की रिपोर्ट तलब की गई। आयोजकों व स्थानीय लोगों द्वारा धर्म परिवर्तन की घटना से इनकार करने पर पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने राहत की सांस ली। वहीं, आईजी व एडीजी ने भी अपने स्तर से शासन को सच्चाई से अवगत कराया।
तनाव भरे माहौल में हुआ कार्यक्रम, खुफिया विभाग बेखबर
करहेड़ा में धर्म परिवर्तन के प्रकरण ने खुफिया विभाग की सतर्कता पर सवालिया निशान लगाए थे। उसके बाद भी संबंधित अधिकारियों ने सबक नहीं लिया। तनाव भरे माहौल में कार्यक्रम का आयोजन हो गया और खुफिया विभाग को इसकी भनक तक नहीं लग सकी। चंद दिनों में दूसरी बार फेल होने पर खुफिया विभाग एक बार फिर सवालों के घेरे में है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X