बढ़ते प्रदूषण पर सख्त हुआ नियंत्रण बोर्ड, रात में भी कर रहा कार्रवाई

Ghaziabad Bureauगाजियाबाद ब्यूरो Updated Mon, 26 Oct 2020 12:48 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
दशहरा के दिन देश में तीसरा प्रदूषित शहर रहा गाजियाबाद
विज्ञापन

साहिबाबाद। गाजियाबाद की हवा लगातार खराब होती जा रहा है। रविवार को दशहरा के दिन गाजियाबाद शहर देश में प्रदूषित शहरों की सूची में तीसरे नंबर पर रहा। शहर का एक्यूआई 379 दर्ज किया गया। गाजियाबाद शहर में लोनी की हवा सबसे खराब रही। यहां पर एक्यूआई 418 दर्ज किया गया। जो कि चिंताजनक स्थिति में है। यहां पर पीएम दस का स्तर 502 और पीएम 2.5 का स्तर 290 दर्ज किया गया।
इंदिरापुरम का एक्यूआई 376 दर्ज किया गया। यहां पर पीएम दस का स्तर 388 दर्ज किया गया, जबकि पीएम 2.5 का स्तर 214 रहा। संजयनगर का एक्यूआई 357 रहा। यहां पर पीएम दस और पीएम 2.5 का स्तर 368 और 207 दर्ज किया गया। वसुंधरा की हवा गाजियाबाद में सबसे साफ रही। यहां पर एक्यूआई 341 रहा। यहां पर पीएम दस का स्तर 361 और 218 रही। आंकड़ों के अनुसार कलबुर्गी देश में सबसे प्रदूषित रहा। यहां पर एक्यूआई 453 दर्ज किया गया। जबकि ग्रेटर नोएडा देश में दूसरा सबसे प्रदूषित शहर रहा। यहां पर एक्यूआई 392 रहा।
सुबह की हवा में नहीं हो रहा सुधार
सुबह के समय प्रदूषण स्तर में कमी देखने को नहीं मिल रही है। शहर में पीएम दस और पीएम 2.5 का स्तर सात से आठ गुना अधिक बना हुआ है। लोनी में सुबह के समय पीएम दस का स्तर साढ़े सात गुना अधिक 757 दर्ज किया गया। जबकि पीएम 2.5 का स्तर आठ गुना अधिक दर्ज किया गया। इंदिरापुरम में भी सुबह के समय पीएम दस और पीएम 2.5 का स्तर मानकों से साढ़े पांच गुना अधिक रहा। यहां पर पीएम दस 592 और पीएम 2.5 का स्तर 376 रहा। संजय नगर में भी पीएम दस 604 रहा। जबकि पीएम 2.5 का स्तर 330 दर्ज किया गया। वसुंधरा में हवा अन्य तीनों मॉनिटरिंग स्टेशन से साफ रही। यहां पर पीएम दस का स्तर 275 और पीएम 2.5 का स्तर 261 दर्ज किया गया।
बढ़ते प्रदूषण पर सख्त हुआ नियंत्रण बोर्ड, रात में भी कर रहा कार्रवाई
साहिबाबाद। ग्रैप लागू होने के बाद भी प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ रहा है। इसे देखते हुए प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड (पीसीबी) भी सख्त हो गया है। पीसीबी की तरफ से रात को भी औद्योगिक क्षेत्र में निगरानी रखी जा रही है। पीसीबी की चार टीमें रात को निगरानी रख रही है। अभी तक रात में दो प्रदूषण फैलाने वाली फैक्टरियों को पकड़ा है। जिनपर कार्रवाई के लिए मुख्यालय पत्र भेजा गया है।
प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी उत्सव शर्मा ने बताया कि प्रदूषण की रोकथाम के लिए विभाग की तरफ से सख्त कदम उठाए जा रहे है। खुले में निर्माण सामग्री रखने वाले और प्रदूषण फैलाने वाली फैक्टरियों पर कार्रवाई की जा रही है। अब तक प्रदूषण फैलाने वालों पर 23 लाख रुपये का जुर्माना लगाया जा चुका है। इसके साथ ही लोनी में सौ से अधिक फैक्टरियों पर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि अब रात में भी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम निगरानी रख रही है। औद्योगिक क्षेत्र में रात के समय प्रदूषण फैलाने वालों को चिन्हित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अभी तक दो फैक्टरियों को चिन्हित किया गया है। जिनपर कार्रवाई के लिए मुख्यालय रिपोर्ट भेजी गई है। उन्होंने बताया कि अभी चार टीमें लगी हुई हैं, आने वाले दिनों में इन टीमों को बढ़ाया जाएगा। इसके साथ ही निर्माणाधीन प्रोजेक्ट पर लगातार निरीक्षण किया जा रहा है। जहां भी धूल ज्यादा उड़ती मिल रही है उन पर भी कार्रवाई की जा रही है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X