छह व्यावसायिक भूखंडों की बिक्री से जीडीए को हुई 11 करोड़ की आय

Amarujala Local Bureauअमर उजाला लोकल ब्यूरो Updated Fri, 25 Sep 2020 07:19 PM IST
विज्ञापन
हिंदी भवन में जीडीए की नीलामी प्रक्रिया में भाग लेते अधिकारी व खरीदार
हिंदी भवन में जीडीए की नीलामी प्रक्रिया में भाग लेते अधिकारी व खरीदार - फोटो : Amar Ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
सबहेडः हिंदी भवन में हुई नीलामी प्रक्रिया, जीडीए की इंद्रप्रस्थ योजना में दो और कोयल एंक्लेव योजना में चार व्यावसायिक भूखंड बिके माई सिटी रिपोर्टर गाजियाबाद। जीडीए की व्यावसायिक और औद्योगिक संपत्तियों की खरीदारी में लोगों का रुझान देखने को मिल रहा है। शुक्रवार को लोहिया नगर स्थित हिंदी भवन में जीडीए की संपत्तियों की नीलामी प्रक्रिया आयोजित हुई। नीलामी प्रक्रिया में 11 करोड़ की छह व्यावसायिक संपत्तियों की बिक्री हुई। नीलामी में दो व्यावसायिक भूखंड इंद्रप्रस्थ योजना और चार व्यावसायिक भूखंड कोयल एन्क्लेव योजना में बिके। हिंदी भवन में हुई नीलामी प्रक्रिया में जीडीए ने 279 व्यावसायिक, औद्योगिक और आवासीय भूखंड शामिल किए थे। नीलामी प्रक्रिया में शुक्रवार को नतीजे प्राधिकरण अधिकारियों की उम्मीद के मुताबिक आए। नीलामी में शामिल हुए खरीदारों ने इंद्रप्रस्थ योजना में दो व्यवसायिक भूखंड खरीदे। कोयल एंक्लेव में चार व्यावसायिक भूखंडों की बिक्री से प्राधिकरण को करीब आठ करोड़ की आय हुई। जीडीए अधिकारियों के मुताबिक प्राधिकरण की व्यावसायिक और औद्योगिक संपत्तियां खरीदने के लिए लोग आगे आ रहे हैं। नियमित रूप से नीलामी प्रक्रिया आयोजित कर लोगों को बेहतर संपत्तियों के विकल्प मुहैया कराए जाएंगे। बता दें कि शुक्रवार की नीलामी में जीडीए ने मधुबन बापूधाम योजना में सबसे ज्यादा 158 औद्योगिक भूखंड, इंद्रप्रस्थ योजना में 47 व्यवसायिक भूखंड, इंदिरापुरम आवासीय योजना में 40 भूखंड, नंदग्राम आवासीय योजना में 14, गोविंदपुरम आवासीय योजना में 20 भूखंड को शामिल किया गया था। जीडीए सचिव संतोष कुमार राय ने बताया कि नियमित रूप से प्रत्येक शुक्रवार को अवकाश को छोड़कर नीलामी प्रक्रिया आयोजित की जाएगी। ---------
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X