साइबर एक्सपर्ट बनकर साइबर अपराध को रोकना चाहते हैं, तो इस क्षेत्र में रोजगार की कमी नहीं

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Updated Sun, 08 Sep 2019 11:47 AM IST
विज्ञापन
Career and scope in cyber crime, Know eligibility, courses and colleges for this job

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
आज के समय में लगभग हर कम्पनी में, स्कूल-कॉलेज में कंप्यूटर का इस्तेमाल होने लगा है। धीरे-धीरे इसके ऊपर लोग निर्भर होने लगे हैं। आज के समय में कोई भी काम इनके बिना आसानी से नहीं हो पाता है। ज्यादातर लोग इसका अच्छे कामों के लिए इस्तेमाल करते हैं, तो वहीं कई लोग इसका बुरे काम के लिए भी इस्तेमाल करते हैं। जो कम्प्यूटर का बुरे काम के लिए इस्तेमाल करते हैं, उन्हें हैकर्स के नाम से जाना जाता है। हैकर्स दूसरे व्यक्ति के अकाउंट से महत्वपूर्ण जानकारी और डाटा चुरा ले जाते हैं।

क्या है साइबर क्राइम :

ऑनलाइन किए जाने वाले अपराध को साइबर क्राइम कहा जाता है। पूरी दुनिया में साइबर स्पेस का अपना एक कानून है, जिसका मुख्य मकसद इंटरनेट के माध्यम से होने वाले अपराधों पर लगाम लगाना है। इंटरनेट के जरिए अंजाम दिए जाने वाले अपराधों के हाईटेक रूप से साइबर क्राइम कहा जाता है। इसके अंतर्गत इंटरनेट की मदद से क्रेडिट कार्ड चोरी, ब्लैकमेलिंग, स्टॉकिंग, पोर्नोग्राफी जैसे अपराधों को अंजाम दिया जाता है। 

साइबर लॉ विशेषज्ञ की मांग :

जैसे-जैसे लोगों की निर्भरता कंप्यूटर के ऊपर बढ़ती जा रही है, वैसे-वैसे साइबर क्राइम भी बढ़ रहा है। ऐसे में साइबर क्राइम पर रोक लगाने के लिए विशेषज्ञों की जरूरत पड़ रही है। सामान्य पुलिस और कानून ऐसे अपराधियों से निपटने में सक्षम नहीं है। इसलिए साइबर लॉ के जानकारों की जरूरत इस तरह के मामलों से निपटने के लिए पड़ती है।
विज्ञापन
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us